Full Site Search  
Sun Jun 25, 2017 07:31:39 IST
PostPostPost Trn TipPost Trn TipPost Stn TipPost Stn TipAdvanced Search
×
Forum Super Search
Blog Entry#:
Words:

HashTag:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Train Type:
Train:
Station:
ONLY with Pic/Vid:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    RailFan Club:    

Filters:
Blog Posts by dhirendra63
Page#    67 Blog Entries  next>>
  
Rail News
0 Followers
377 views
New Facilities/Technology
Jun 22 2017 (08:47)   थोड़ा और इंतजार, फिर ढाई घंटे में कानपुर से दिल्ली पहुंचेंगे

The Phenomenal One~   686 news posts
Entry# 2328631   News Entry# 306132         Tags   Past Edits
कानपुर . वक्त बेहद कम शेष है। जल्दी ही कानपुर से एक ट्रेन निकलने वाली है। यह ट्रेन गुजरेगी तो कानपुर कांपेगा और कनपुरियों का मजबूत कलेजा भी डोलेगा। यह अलग बात है कि ट्रेन के गुजरने के बाद कनपुरियों का भोकाल भी टाइट होगा। चलिए सस्पेंस खत्म करते हैं। देश में तेज रफ्तार वाली ट्रेनों को हरी झंडी मिल गई है। नीति आयोग से दिल्ली-हावड़ा ट्रैक पर 160 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से ट्रेन को दौड़ाने की रजामंदी मिल गई है। आयोग ने दिल्ली-मुंबई ट्रैक पर भी ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने का फैसला किया है। परियोजनापूरी होने के बाद कानपुर से दिल्ली पहुंचने में सिर्फ ढाई घंटे का वक्त लगेगा।
दोनों ट्रैक को दुरुस्त करने पर 18 हजार करोड़ रुपए
...
more...
आएगा खर्च
नीति आयोग ने दिल्ली-हावड़ा और दिल्ली-मुंबई ट्रैक को दुरुस्त करने के लिए 18 हजार करोड़ की परियोजना को मंजूर करते हुए जल्द से जल्द काम शुरू कराने को कहा है। नीति आयोग से मंजूरी के बाद प्रस्ताव को केंद्रीय कैबिनेट में मंजूरी के लिए अगले सत्र में रखा जाएगा। एनसीआर के पीआरओ अमित मालवीय के मुताबिक यह परियोजना देश में ट्रेनों के परिचालन में बड़ा बदलाव साबित होगी। परियोजना पूरी होने के बाद दोनों ट्रैक पर बगैर अवरोध रेलगाडिय़ां दौड़ेंगी।
दीवारों से कैद गलियारे में कोई रेल क्रासिंग नहीं होगी
इस योजना के तहत दिल्ली-हावड़ा ट्रैक पर पहले काम शुरू होगा, जबकि दिल्ली-मुंबई ट्रैक पर कुछ समय बाद। परियोजना के मुताबिक रेल ट्रैक को पांच फीट ऊंची दीवार की बाड़ से दोनों तरफ से घेरा जाएगा, जबकि सिग्नल प्रणाली और सुरक्षा इंतजाम भी दुरुस्त किए जाएंगे। दोनों ट्रैक पर समस्त रेल फाटकों को खत्म करने के साथ ही ट्रेन सुरक्षा चेतावनी प्रणाली (टीपीडब्ल्यूएस) को उच्चीकृत किया जाएगा। इस योजना में 1525 किलोमीटर लंबे दिल्ली-हावड़ा ट्रैक को उच्चीकृत करने पर 6974 करोड़ रुपए खर्च होंगे, जबकि 1483 किलोमीटर लंबे दिल्ली-मुंबई ट्रैक को दुरुस्त करने में 11189 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
दिल्ली से कानपुर पहुंचेंगे तीन घंटे में, जबकि दिल्ली से मुंबई ग्यारह घंटे
इस परियोजना के पूरी होने के बाद दिल्ली से कानपुर आने में सिर्फ तीन घंटे लगेंगे। इस मियाद में 160 मिनट ट्रेन दौड़ेगी, जबकि अन्य वक्त स्टेशन स्टॉपेज में लगेगा। इसी प्रकार दिल्ली से हावड़ा पहुंचने में बारह घंटे लगेंगे। इस अवधि में रास्ते का वक्त और स्टेशन स्टॉपेज का टाइम शामिल है। रेलवे नेटवर्क के मुताबिक मुंबई-दिल्ली ट्रैक दुरुस्त होने के बाद 160 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेन दौड़ेगी तो दिल्ली से मुंबई पहुंचने में ग्यारह घंटे का वक्त लगेगा। दिल्ली-हावड़ा ट्रैक की ट्रेन इटावा, कानपुर, इलाहाबाद, मुगलसराय होते हुए गुजरेगी, जबकि दिल्ली-मुंबई ट्रैक की ट्रेन बड़ौदा-अहमदाबाद के रास्ते सफर तय करेंगी।

7 posts are hidden.

  
689 views
Jun 22 2017 (11:00)
dhirendra63   79 blog posts
Re# 2328631-8            Tags   Past Edits
Currently Rajdhani running at 87kmph average speed to cover distance in 5hrs

3 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
1478 views
New/Special TrainsNCR/North Central  -  
Feb 08 2017 (18:17)   अब उधमपुर एक्सप्रेस कराएगी मां वैष्णों का दर्शन

Saurabh*^~   3091 news posts
Entry# 2156267   News Entry# 293417         Tags   Past Edits
कानपुर से चलने वाली express train को इलाहाबाद से चलाने का लिया गया निर्णय
ALLAHABAD: मां वैष्णो के लाखों भक्तों के लिए एक राहत भरी खबर है। अब उधमपुर एक्सप्रेस से भी माता के दरबार में पहुंच कर भक्तजन माथा टेक सकते हैं। क्योंकि अभी तक सप्ताह में दो दिन कानपुर से उधमपुर तक जाने वाली 14155- 14156 कानपुर - उधमपुर एक्सप्रेस अब कानपुर से ही नहीं, बल्कि इलाहाबाद से चलेगी और जम्मूतवी होते हुए उधमपुर तक जाएगी। अभी तक इलाहाबाद के लोग एक मात्र ट्रेन टाटानगर जम्मूतवी एक्सप्रेस से ही वैष्णो देवी धाम का सफर तय करते थे.
--special
...
more...
train की थी demand--
इलाहाबाद से जम्मू के लिए एक स्पेशल ट्रेन चलाने की डिमांड काफी दिनों चल रही थी। पिछले रेल बजट में कानपुर से जम्मूतवी जाने वाली स्पेशल ट्रेन को इलाहाबाद से चलाने की मांग की गई थी। इस बार रेल बजट के बाद रेल मंत्रालय ने इलाहाबादियों की इस मांग को हरी झंडी देते हुए जम्मू के लिए एक और ट्रेन दी। साथ ही इलाहाबाद को मेरठ, सहारनपुर से जोड़ने के लिए भी एक ट्रेन मिली। अभी तक केवल नौचंदी और संगम एक्सप्रेस ही इलाहाबाद से डायरेक्ट मेरठ जाती थीं।
--Number बदला, बढ़ाया गया फेरा--
इलाहाबाद के पैसेंजर्स की डिमांड को देखते हुए रेल मंत्रालय ने उधमपुर एक्सप्रेस का फेरा बढ़ा दिया है। यह ट्रेन अब इलाहाबाद जंक्शन से चलेगी। वहीं ट्रेन 14155- 14156 का नंबर बदल कर अब 24155 और 24156 कर दिया गया है। अप और डाउन ट्रेन की नई व्यवस्था 10 फरवरी से लागू होगी। 24155 इलाहाबाद- उधमपुर एक्सप्रेस मंगलवार और शनिवार को 14.45 बजे इलाहाबाद जंक्शन से रवाना होगी, जो फतेहपुर, कानपुर, इटावा, टुंडला, अलीगढ़, खुर्जा, बुलंदशहर, हापुड़, मेरठ सिटी, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, अम्बाला, लुधियाना, जालंधर कैंट, पठानकोट कैंट, जम्मूतवी होते हुए अगले दिन 13.30 बजे उधमपुर पहुंचेगी। वहीं बुधवार और रविवार को 24156 उधमपुर- इलाहाबाद एक्सप्रेस उधमपुर से 16.15 बजे रवाना होगी और गुरुवार व सोमवार को 15.00 बजे इलाहाबाद पहुंचेगी.

1 posts are hidden.

  
1618 views
Feb 08 2017 (18:27)
dhirendra63   79 blog posts
Re# 2156267-2            Tags   Past Edits
Official news abhi nahi ayi hai

7 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
2980 views
IR AffairsNCR/North Central  -  
Dec 26 2016 (11:15)   इटावा रूट पर 105 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाकर देखी गई ट्रेन । 4 जनवरी से सुशासन एक्स. में लगेगा विद्युत इंजन ।

When will I get chance to travel in LHB Sleeper~   30 news posts
Entry# 2105335   News Entry# 289662         Tags   Past Edits
रेलवे रिपोर्टर | ग्वालियर
ग्वालियर-भिंड-इटावा ट्रैक पर ट्रेनें सीधे गुजर सकें, इसके लिए रेलवे ने तैयारी शुरू कर दी है। प्रथम चरण में ग्वालियर-इटावा ट्रैक पर ट्रेनों की स्पीड बढ़ाई जाएगी। इसके बाद कानपुर व लखनऊ के लिए जाने वाली ट्रेनें इस रूट से निकलेंगी। इस रूट से नई ट्रेनें भी गुजर सकें, इसके लिए डीआरएम ने 105 किमी की स्पीड से ट्रेन चलवाकर देखी। इस बात के संकेत डीआरएम स्वयं भी दे गए कि इटावा रूट पर नई ट्रेनें चलाई जाएंगी।
ग्वालियर से भिंड होते हुए इटावा के लिए रेलवे ट्रैक
...
more...
तो चालू हो गया है लेकिन सिर्फ पैसेंजर, लिंक एक्सप्रेस ट्रेन ही इस पर चल रही हैं। रेलवे कानपुर की ओर जाने वाली सुशासन एक्सप्रेस, बरौनी एक्सप्रेस सहित करीब आधा दर्जन ट्रेनों को वाया इटावा होकर गुजारने की तैयारी कर रहा है। इनमें कुछ ट्रेनें झांसी से उरई होते हुए कानपुर जाती हैं। ये ट्रेनें ग्वालियर, इटावा होते हुए कानपुर ले जाने पर रेलवे विचार कर रहा है। वर्तमान में ग्वालियर-इटावा ट्रैक पर 55 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ही ट्रेनें चल रही हैं। बीते रोज डीआरएम एके मिश्र ने इटावा ट्रैक पर और ट्रेन चलाने के लिए विंडो निरीक्षण किया। इस दौरान डीआरएम की विशेष ट्रेन 105 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाकर देखी गई, जो काफी सफल रहा है। डीआरएम ने चर्चा के दौरान ये संकेत भी दिए थे कि जल्द ही इटावा होकर और ट्रेनें गुजारी जाएंगी।
चल सकती हैं बरौनी सहित आधा दर्जन ट्रेन
बरौनी मेल, सुशासन एक्सप्रेस, साबरमती एक्सप्रेस, गोरखपुर-अहमदाबाद एक्सप्रेस, सूरत-मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस सहित आधा दर्जन से अधिक ट्रेनें इस ट्रैक से गुजर सकती हैं।
सुशासन एक्स. में लगेगा एसी इंजन । 4 जनवरी से बढ़ेगी ट्रेन की रफ्तार ।
ग्वालियर | पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर दो साल पहले ग्वालियर से चलाई गई सुशासन एक्सप्रेस की रफ्तार बढ़ाने का रेलवे ने निर्णय लिया है। इसके लिए सुशासन एक्सप्रेस को अब डीजल इंजन की जगह एसी (इलेक्ट्रिक) इंजन से चलाया जाएगा। इस आशय के आदेश ग्वालियर रेलवे अधिकारियों के पास आ गए हैं। 4 जनवरी से सुशासन एक्सप्रेस एसी इंजन से चलेगी।सुशासन एक्सप्रेस ग्वालियर से हजरत निजामुद्दीन, बरेली व लखनऊ होते हुए बलरामपुर जाती है। यह ट्रेन अभी तक डीजल इंजन से संचालित होती है। डीजल इंजन के कारण डीजल की खपत अधिक होती है, साथ ही ट्रेन की स्पीड भी ज्यादा नहीं बढ़ पाती है। डीजल बचाने के साथ -साथ ट्रेन की रफ्तार बढ़ाने के उद्देश्य से रेलवे ने सुशासन एक्सप्रेस को एसी इंजन से चलाने का निर्णय लिया है। इलेक्ट्रिक इंजन लग जाने से ट्रेन की रफ्तार तो बढ़ेगी ही साथ ही स्टेशन से चलते ही ट्रेन जल्द रफ्तार पकड़ लेगी।

1 posts are hidden.

  
2180 views
Dec 26 2016 (12:01)
dhirendra63   79 blog posts
Re# 2105335-2            Tags   Past Edits
Naya Track hai... abhi 6 month or bhi lag sakte hai speed UP karne me

6 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
3491 views
Commentary/Human InterestNCR/North Central  -  
Dec 20 2016 (20:20)   संगम, जयपुर एक्सप्रेस में भी लगेंगे माडर्न कोच

Saurabh*^~   3091 news posts
Entry# 2097825   News Entry# 289206         Tags   Past Edits
प्रयागराज एक्सप्रेस के बाद उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) की कई अन्य ट्रेनों में भी एलएचबी (लिंक हॉफमैन बुश) कोच लगाए जाएंगे। इसकी तैयारी शुरू हो गई है। एनसीआर प्रशासन द्वारा जल्द ही मेरठ जाने वाली संगम एक्सप्रेस और इलाहाबाद-जयपुर एक्सप्रेस में इस तरह के माडर्न कोच लगाए जाएंगे। इसके लिए रेलवे बोर्ड को प्रस्ताव भेजा जा चुका है। उम्मीद है कि इसी वित्तीय सत्र में एनसीआर प्रशासन को बोर्ड से एलएचबी कोच मिल जाएगा।
बता दें कि अभी देश की चुनिंदा ट्रेनों में ही माडर्न कोच लगे हैं। रविवार को एनसीआर की वीआईपी ट्रेन प्रयागराज एक्सप्रेस में ये कोच लगाए गए। इलाहाबाद से गुजरने वाली पुरुषोत्तम, स्वतंत्रता सेनानी, कामायनी, शिवगंगा, पूर्वा, महाबोधि एक्सप्रेस ट्रेनों में एलएचबी कोच ही लगे हैं। अब
...
more...
उत्तर मध्य रेलवे प्रशासन की ओर से संगम एक्सप्रेस, इलाहाबाद-जयपुर एक्सप्रेस एवं कानपुर-नई दिल्ली श्रमशक्ति एक्सप्रेस में भी इस इस तरह के कोच लगाने की तैयारी की गई है। इसके लिए बोर्ड को प्रस्ताव भेजा जा चुका है। इस बारे में एनसीआर के पीआरओ अमित मालवीय का कहना है कि बोर्ड से मिलते ही चरणबद्ध तरीके से जोन की प्रमुख ट्रेनों में इस तरह के कोच लगाए जाएंगे।
सोमवार को प्रयागराज के दोनों रैक एलएचबी कोच से लैस हो गए। दरअसल रविवार को नई दिल्ली से इलाहाबाद के लिए चली प्रयागराज एक्सप्रेस में पुराने सीबीसी (सेंटर बफर कपलर) कोच ही लगे हुए थे। ऐसा इसलिए क्योंकि रविवार को दोनों ट्रेनों के एलएचबी कोच इलाहाबाद में ही थे। इलाहाबाद से एलएचबी का जो पहला रैक दिल्ली भेजा गया था वह सोमवार को वहां पहुंचा।
खास हैं एलएचबी कोच
0 पुराने सीबीसी कोचों से ज्यादा हल्के और लंबे।
0 बिजली की खपत कम होती है।
0 हर कोच में पहले से ज्यादा यात्री यात्रा कर सकते हैं।
0 स्टील की हल्की, लेकिन मजबूत बॉडी होती है।
0 तेज गति से चलने के दौरान आवाज और कंपन कम।
0 ट्रेन के रुकने एवं चलने पर यात्रियों को झटके भी कम।
0 160 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से भी दौड़ सकते हैं

1 posts are hidden.

  
805 views
Dec 20 2016 (20:44)
dhirendra63   79 blog posts
Re# 2097825-2            Tags   Past Edits
In sangam Not possible due to DDN Link Exp.

17 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
1319 views
Commentary/Human InterestNCR/North Central  -  
Dec 15 2016 (09:32)   All new Prayagraj express to ply from December 18

Saurabh*^~   3091 news posts
Entry# 2091353   News Entry# 288690         Tags   Past Edits
ALLAHABAD: Come December 18 and the passengers travelling to Delhi on Prayagraj express would get the comfort of Rajdhani express, with no extra cost, courtesy all new Prayagraj express that would start plying from the day.
At a time when the recent train accident at Pukhrayan, about 100 kms from Kanpur is fresh in memories, the new 'avatar' of this most popular and VIP train between Allahabad and Delhi would be fitted with the latest LHB (Linke Halffman Busch) coaches which would not overlap above each in case of accidents. These coaches are having the feature of anti-climbing system.
The
...
more...
longer, safer, and comfortable coaches of the new version of Prayagraj express are made of stainless steel. Moreover, the interiors would not be fitted with metallic fitting, considered as a major reason for injuries to the passengers after the mishap. The new interiors would be made of fiber.
Having the brail signage, for blind passengers, the air conditioner of new coaches of Prayagraj express will be far more effective as the train would have two power car which would run the AC's of the air-conditioned coaches.
The train would be having 22 coaches unlike the existing version which has 24 coaches. However, the proposal for two more sleeper coaches have been moved by the authorities. The seating capacity of the coaches would also be enhanced as new coaches of sleeper class would have 80 berths, an addition of 8 berth in each coaches, AC-III will also have 8 additional berth (72 from existing 64), AC-II will have 52 berth and AC-I will have 24 berths.
The coaches have been manufacture in the rail coach factory at Rai Bareilly and because of the lighter weight, they can run at a higher speed of upto 160 km/hr whereas it's existing speed is 110 km/hr. Along with the high speed, the new coaches will have more effective braking system; the coaches will have disk brakes as well.
Even on the high speed, the passengers would feel less jerk, both while stopping or starting and also while travelling.
The authorities have started the process for increasing the speed of the train upto 130 km/hr and the same could see the day of the light in the coming days.
Because of a decrease of two sleeper coaches in the new version, the total sitting capacity of sleeper coaches has come down by 64 berths despite the fact that these new sleeper coaches will have 8 more berths in each coaches.
The authorities have suggested that the passengers of sleeper coaches, travelling on or after December 18, should check the status of their reservation before starting their journey. "As the old coaches had 72 berths and there were 12 sleeper coaches, the total carrying capacity was 864 whereas now as we have 10 coaches (each having 80 berths) the total carrying capacity have come down to 800, a reduction of 64 seats", said railway PRO of Allahabad division, Sunil Kumar Gupta.

2 posts are hidden.

  
5608 views
Dec 15 2016 (10:23)
dhirendra63   79 blog posts
Re# 2091353-3            Tags   Past Edits
"As the old coaches had 72 berths and there were 12 sleeper coaches, the total carrying capacity was 864 whereas now as we have 10 coaches (each having 80 berths) the total carrying capacity have come down to 800, a reduction of 64 seats"
Means Loss of revenue and what about 64 passengers which has been reserved.

  
5525 views
Dec 15 2016 (10:33)
I M BACK^~   1230 blog posts   6423 correct pred (87% accurate)
Re# 2091353-4            Tags   Past Edits
But in 3A and 2A extra Passenger can travel so in profit of revenue

  
5414 views
Dec 15 2016 (11:17)
Guest: 82594c91   show all posts
Re# 2091353-5            Tags   Past Edits
They will be most probably upgraded
Page#    67 Blog Entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.