Full Site Search  
Sun May 28, 2017 20:05:20 IST
PostPostPost Trn TipPost Trn TipPost Stn TipPost Stn TipAdvanced Search
×
Forum Super Search
Blog Entry#:
Words:

HashTag:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Train Type:
Train:
Station:
ONLY with Pic/Vid:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    RailFan Club:    

Filters:
Blog Posts by Kuchh to log kahenge
Page#    195 Blog Entries  next>>
  
Rail News
0 Followers
1261 views
Other NewsNCR/North Central  -  
Apr 27 2017 (09:59)   अब तो मजबूरी में ही मगध एक्सप्रेस से सफर

Magadh Express NDLS IPR~   4 news posts
Entry# 2252413   News Entry# 300909         Tags   Past Edits
अब तो मजबूरी में ही मगध एक्सप्रेस से सफर
By Prabhat Khabar | Updated Date: Apr 20 2017 5:19AM
लेट-लतीफी : तीन माह में एक दिन भी समय पर जंकशन नहीं पहुंची डाउन ट्रेन, यात्रियों को होती है काफी परेशानी
पटना : रेलवे प्रशासन की डायरी में ट्रेनें जैसे-जैसे पुरानी होती है, उसकी प्राथमिकता खत्म होती चली जाती है. यही वजह है कि दिल्ली-पटना-इस्लामपुर
...
more...
के बीच चलनेवाली मगध एक्सप्रेस अब उनकी प्राथमिकता में नहीं रही.

मगध एक्सप्रेस कभी सोनभद्र एक्सप्रेस थी, जो पटना-दिल्ली-पटना के बीच चलती थी और ट्रेन ईस्टर्न रेलवे के अधीन थी. तब सोनभद्र एक्सप्रेस का परिचालन ससमय होता था. ट्रेन का नाम बदलने के साथ-साथ ट्रेन नंबर भी बदला गया और ट्रेन नॉर्थ सेंट्रल रेलवे के अधीन आ गयी. साथ ही ट्रेन का विस्तार पटना से इस्लामपुर तक किया गया. इसके बाद से ही ट्रेन की रफ्तार पर ब्रेक लग गयी. स्थिति यह है कि पिछले तीन माह में एक दिन भी मगध एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से जंकशन नहीं पहुंची है.

उपाय के बाद भी नहीं सुधरी रफ्तार

मगध एक्सप्रेस का पटना से इस्लामपुर तक विस्तार किया गया, उस समय दिल्ली से इस्लामपुर आ रही मगध एक्सप्रेस रास्ते में तीन-चार घंटे विलंब हो गयी. इस स्थिति में रेलवे प्रशासन ने ससमय परिचालन के लिए इस्लामपुर के बदले पटना से ही ट्रेन को दिल्ली के लिए लौटाना शुरू किया, ताकि अगले दिन से निर्धारित समय पर परिचालन हो सकें.

हालांकि, इसके बावजूद ट्रेन की रफ्तार में कोई सुधार नहीं हुई और आज भी मगध एक्सप्रेस का परिचालन घंटों विलंब से हाे रही है. ट्रेन के विलंब परिचालन से मगध एक्सप्रेस यात्रियों के पसंद में निचले पायदान पर है और यात्रियों को तब दूसरे ट्रेनों में टिकट नहीं मिलते हैं, तो मजबूरन मगध एक्सप्रेस में टिकट बुक कराते हैं.

खराब कंट्रोलिंग व्यवस्था बड़ा कारण

मगध एक्सप्रेस का दिल्ली स्टेशन से रात्रि 8:00 बजे रवाना होने का समय है और पिछले 18 दिनों में दिल्ली से यह ट्रेन लगभग समय से रवाना हुई है, लेकिन अलीगढ़ जंकशन आते-आते विलंब हो जाती है. इसके बाद से ट्रेन लगातार विलंब होने लगती है और पटना पहुंचते-पहुंचते पांच से सात घंटे तक विलंब हो जाती है. इसकी वजह है कि रेलवे की रनिंग ट्रेन कंट्रोलिंग सिस्टम ध्वस्त है. यही वजह है कि स्टार्टिंग स्टेशन से ससमय खुलनेवाली ट्रेन रास्ते में विलंब हो जाती है.

मगध एक्सप्रेस का मुगलसराय स्टेशन पहुंचने का निर्धारित समय 7:40 है और इस ट्रेन से पहले मुगलसराय से पटना के लिए मेमू ट्रेन खुलती है. साथ ही आगे-पीछे भी ट्रेनें है. स्थिति यह है कि मगध एक्सप्रेस अपने समय से लगातार विलंब से मुगलसराय पहुंचती है.

इससे मगध को हमेशा मेमू ट्रेन और दूसरे एक्सप्रेस के पीछे-पीछे चलना पड़ता है. बुधवार को ही मुगलसराय स्टेशन पर ट्रेन 4:40 घंटे विलंब से पहुंची और पटना जंकशन पहुंचते-पहुंचते 6:30 घंटे विलंब हो गयी. बिहटा से पटना आने में ट्रेन को दो घंटे लग गये. शुरुआती दिनों में यह ट्रेन 12391/92 नंबर से चलती थी. बाद में इस नंबर से श्रमजीवी एक्सप्रेस की शुरुआत की गयी और ट्रेन नंबर 12401/02 से मगध एक्सप्रेस का परिचालन होने लगा.

दिल्ली-मुगलसराय के बीच 10 स्टॉपेज: अलीगढ़, टुंडला, फिरोजाबाद, शिकोहाबाद, इटावा, कानपुर सेंट्रल, इलाहाबाद, विंध्याचल, मिर्जापुर, मुगलसराय

मुगलसराय से पटना 10 स्टॉपेज : जमनियां, दिलदार नगर, बक्सर, डुमरांव, बिहिया, आरा, बिहटा, दानापुर, फुलवारीशरीफ व पटना
पटना से इस्लामपुर सात स्टॉपेज : राजेंद्र नगर, पटना साहिब, फतुहा, दनियावां, हिलसा, एकंगरसराय व इस्लामपुर

पांच दिनों की स्थिति

19 अप्रैल 6:30 घंटे विलंब
18 अप्रैल 4:10 घंटे विलंब
17 अप्रैल 4:30 घंटे विलंब
16 अप्रैल 3:45 घंटे विलंब
15 अप्रैल 4:00 घंटे विलंब

1 posts are hidden.

  
2002 views
Apr 27 2017 (16:57)
Kuchh to log kahenge   204 blog posts   12 correct pred (80% accurate)
Re# 2252413-2            Tags   Past Edits
आजकल लगभग सभी ट्रेनों का यही हाल है! 12488 सीमांचल एक्सप्रेस जो आनंद विहार से चलकर जोगबनी तक जाती है, उसके भी बुरे हाल हैं! ट्रेन को गंतव्य तक पहुँचने में 10 घंटे विलम्ब से पहुँचती है.

  
911 views
May 17 2017 (13:59)
बन्दर के हाथ में नारियल~   8588 blog posts   119 correct pred (74% accurate)
Re# 2252413-3            Tags   Past Edits
Main to lagta hoon ki Magadh baki trains SE better hai..atleast 12402...bekar me hi log badnam karte hain magadh ko.

5 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
783 views
Other NewsNER/North Eastern  -  
May 17 2017 (09:45)   मुम्बई से फ्लाइट से गोरखपुर आता है ट्रेन का तत्काल टिकट

Indian Railways the life line of our Nation~   71 news posts
Entry# 2280257   News Entry# 302671         Tags   Past Edits
ट्रेन : अवध एक्सप्रेस
यात्रा की तिथि : 10 मई
वातानुकूलित कोच में बैठकर गोरखपुर से बांद्रा की यात्रा कर रहे एक यात्री के टिकट ने चौंका दिया। टिकट तत्काल कोटे से बुक था। टिकट मुम्बई से बना था। गोरखपुर से मुंबई की यात्रा पूरी करने में 36 घंटे लगते हैं तो ट्रेन छूटने से महज एक दिन पहले आरक्षित तत्काल टिकट गोरखपुर कैसे पहुंच गया? इसका जवाब भी है। तत्काल टिकट बुक कराने और उसे पहुंचाने का एक रैकेट है। रैकेट में शामिल लोग मुंबई में तत्काल टिकट बुक कराते हैं और
...
more...
हवाई जहाज से जगह-जगह पहुंचाते हैं।
यात्री का आरक्षित टिकट और उसकी यात्रा की तिथि देखकर हतप्रभ टीटीई ने यह जान और मान लिया कि तत्काल आरक्षण में खेल चल रहा है लेकिन मन मसोसकर वह चुप रहा। कानूनन वह यात्री को रोक सकता था न ही उसके खिलाफ कोई कार्रवाई कर सकता था। टीटीई के चेहरे के बदलते भाव को यात्री ने भांप लिया और विजयी मुस्कान के साथ बैठा रहा।
35 सेकेंड में बर्थ खत्म
तत्काल टिकट के लिए गुरुवार की सुबह धर्मशाला स्थित आरक्षण केन्द्र पर आए देवेंद्र ने विंडो पर लगी लाइन में दूसरे नम्बर पर थे। इस भरोसे के साथ कि मुंबई का तत्काल टिकट उन्हें मिल जाएगा। 11 बजे तत्काल के लिए विंडो खुला। पहले यात्री को कन्फर्म बर्थ मिल गई लेकिन महज 35 सेकेंड में ही तत्काल के सभी बर्थ बुक हो गए और देवेंद्र को मायूसी हाथ लगी। देवेंद्र आक्रोशित होकर भला-बुरा कहते लौट गया। लगातार तीन दिन तक लाइन लगाने के बाद भी उसे टिकट नहीं मिला। उसके सामने दिक्कत कन्फर्म टिकट की है।
ऐसे होता है तत्काल का खेल
मुम्बई में पीआरएस (यात्री आरक्षण प्रणाली) 30 सेकेण्ड पहले ही खुल जाता है। वहां सक्रिय एजेंट मुम्बई और आसपास के सैकड़ों काउंटरों पर सुबह से ही जमे रहते हैं। तत्काल के लिए विंडो खुलते ही गोरखपुर से मुम्बई या अन्य सम्बंधित स्टेशनों से मुम्बई तक का टिकट बुक करा लेते हैं। आरक्षित टिकटों को फ्लाइट से लखनऊ भेज देते हैं। लखनऊ के उनके एजेंट सड़क मार्ग से अलग-अलग स्टेशनों पर जहां से डिमांड गई है वहां टिकट वितरित करते चले जाते हैं। उदाहरण के लिए अगर 12 मई को किसी यात्री को कुशीनगर एक्सप्रेस से मुम्बई तक यात्रा करनी है तो उसका टिकट 11 मई को मुम्बई में बुक हो जाएगा और उसी दिन फ्लाइट से लखनऊ और वहां सड़क मार्ग से यात्री के पास पहुंच जाएगा।
दो बार पकड़ा जा चुका है रैकेट
पूर्वोत्तर रेलवे की विजलेंस टीम तीन साल में दो बार इस तरह के रैकेट को पकड़ चुकी है लेकिन कोई प्रभावी कदम न उठाए जाने से यह खेल बदस्तूर जारी है। तत्काल टिकट बुकिंग के दुरुपयोग को रोकने के लिए उसी स्टेशन या आसपास के स्टेशनों से ही तत्काल की टिकट बुक होना चाहिए जहां से यात्रा करनी हो। संभव है इससे कुछ हद तक रोक लग सके।
एक टिकट के एक से डेढ़ हजार
गोरखपुर, खलीलाबाद, बस्ती और गोण्डा से मुम्बई जाने वाले यात्रियों की तत्काल कोटे की टिकट मुम्बई से फ्लाइट से आती है। गोरखपुर से मुम्बई तक सक्रिय दलाल यात्री से तत्काल बर्थ के लिए 1000 से 1500 रुपये वसूलते हैं। गर्मी में गोरखपुर व आसपास के क्षेत्रों से रोजाना अलग ट्रेनों की 200 से 250 टिकट मुम्बई से बुक होकर आता है।
आईडी कर देते हैं मेल
करीब-करीब हर स्टेशन पर सक्रिय एजेंट यात्रियों से सम्पर्क कर उन्हें कन्फर्म बर्थ दिलाने का वादा करते हैं। सहमति मिलने पर अग्रिम एडवांस और आईडी की फोटोकॉपी लेकर मुम्बई के एजेंट को मेल कर देते हैं।
मुम्बई जाने वाली लगभग सभी ट्रेनों में खासकर स्लीपर क्लास में जो यात्री तत्काल टिकट पर यात्रा करते हैं उनमें से 50 फीसदी टिकट मुम्बई पीआरएस से बने होते हैं। चूंकि इन पर कार्रवाई का प्रावधान नहीं है इसलिए ये बच जाते हैं। ऐसे मामले पहले भी पकड़े जा चुके हैं।
एसएम पाण्डेय, टीटीई, लखनऊ मण्ड

  
1891 views
May 17 2017 (10:15)
Kuchh to log kahenge   204 blog posts   12 correct pred (80% accurate)
Re# 2280257-1            Tags   Past Edits
1 compliments
ha,sahi kaha
The Perfect example of Indian Jugad,...... Hats Off

  
1387 views
May 17 2017 (13:58)
बन्दर के हाथ में नारियल~   8588 blog posts   119 correct pred (74% accurate)
Re# 2280257-2            Tags   Past Edits
तू डाल डाल मैं पात पात

2 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
823 views
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  
Feb 24 2017 (12:43)   मालगाड़ी का इंजन जाम ठप रहा हावड़ा-दिल्ली ट्रैक

Saurabh*^~   3087 news posts
Entry# 2177049   News Entry# 294702         Tags   Past Edits
इटावा : हावड़ा-दिल्ली ट्रैक पर इकदिल-इटावा रेलवे स्टेशन के बीच मालगाड़ी का इंजन जाम होने से करीब साढ़े छह घंटे तक अप ट्रैक ठप रहा। दिल्ली की ओर जाने वाली शताब्दी एक्सप्रेस सहित कई महत्वपूर्ण ट्रेनें इकदिल-फफूंद रेलवे स्टेशनों के बीच खड़ी रहीं। मालगाड़ी को इकदिल तथा इंजन को खींचकर इटावा लाया गया। ट्रैक पर रगड़ के निशान आने से इकदिल से इटावा के बीच 30 किमी की गति से ट्रेनों को पास कराया गया। ट्रैक ठप रहने से यात्री परेशान रहे। 1गुरुवार सुबह नौ बजे मालगाड़ी इकदिल रेलवे स्टेशन से गुजरी। थोड़ी दूर चांदनपुर के समीप रेलवे खंभा नंबर 1150/5 पर उसके इंजन का चक्का जाम हो गया। चालक ने प्रयास किया पर सफलता नहीं मिली तब उसने रेलवे कंट्रोल तथा स्टेशन मास्टर पीएम मीना को सूचना दी। आरपीएफ पोस्ट प्रभारी डीबी सिंह फोर्स तथा तकनीक दल के साथ पहुंचे। काफी प्रयास के बाद जब सफलता नहीं मिली तो दो...
more...
घंटे बाद टूंडला से एआरटी (एक्सीडेंट रिलीफ ट्रेन) आई। इंजन को मालगाड़ी से अलग करके चलाने का प्रयास किया पर उसके चक्के जाम ही रहे।

  
3145 views
Feb 24 2017 (16:41)
Kuchh to log kahenge   204 blog posts   12 correct pred (80% accurate)
Re# 2177049-1            Tags   Past Edits
ab to Delhi - Kanpur route shapit ho gaya ho jaise... kab kon si train palat jaye, kuchh kaha nahi ja sakta. Train pe se to bharosa hi uth gaya hai.... apna Bus zinda baad.. mehnga hai but safe to hai.
  
Rail News
0 Followers
4562 views
Other NewsNWR/North Western  -  
Jan 24 2017 (07:13)   जोधपुर-भुवनेश्वर एक्सप्रेस दुर्घटना पर लालू यादव ने की चिंता व्यक्त
 

12988 अजमेर सियालदह सुपरफास्ट एक्सप्रेस^~   17 news posts
Entry# 2138008   News Entry# 292039         Tags   Past Edits
गया। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने रेल दुर्घटनाओं में वृद्धि पर चिंता व्यक्त की है। उन्होंने आंध्र प्रदेश के कुणेरु में जोधपुर-भुवनेश्वर एक्सप्रेस के दुर्घटना ग्रस्त होने पर 23 यात्रियों के हताहत होने पर दुख व शोक व्यक्त किया है। उन्होंने मृतकों की आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।
राजद अध्यक्ष ने कहा कि आये दिन रेल दुर्घटना होना चिंता का विषय है। रेल प्रशासन सुखद और दुर्घटना रहित रेल परिचालन सुनिश्चित करे। ऐसी दुर्घटनाएं होने से रेल की साख खराब होगी। उन्होंने घायलों के समुचित इलाज और मरनेवालों के परिजनों को समुचित मुआवजा देने की मांग की है।

27 posts are hidden.

  
809 views
Jan 24 2017 (14:25)
Kuchh to log kahenge   204 blog posts   12 correct pred (80% accurate)
Re# 2138008-30            Tags   Past Edits
This page is for Railway Fans. not for any political party fans.

11 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
681 views
Commentary/Human InterestSR/Southern  -  
Jan 18 2017 (22:09)   Five held for placing concrete slab on railway tracks

rdb*^   129386 news posts
Entry# 2132571   News Entry# 291573         Tags   Past Edits
Five persons who opposed the ban on jallikattu, and placed concrete slab on railway tracks at Pallipalayam on January 13 were arrested on Monday night.
At 9.30 p.m. on January 13, the engine of train number 56101 Mettur Dam – Erode Passenger hit the concrete slab placed along the Anangoor – Cauvery Railway Station sector. The train was stopped immediately by the loco pilot Anil Kumar.
But no damage was reported to the train and the journey continued after a delay of over 30 minutes.
Erode
...
more...
Railway Police registered a case under Section 150 (1) (a) (attempting to wreck a train by putting stone on railway track) of Indian Railways Act, 1989.
Inquiries revealed that M. Ranjith Kumar (23) of Korakattupallam in Pallipalayam, along with his four friends – M.S. Senthil Kumar alias ‘Kutti’ (32) of Govindampalayam, M. Santhana Krishnan (30) of Kadachanallur, K. Subramani alias ‘Suppi’ Subramani (30), and M. Mani alias ‘Tempo Mani’ alias ‘Thamba Mani’ (25) of Sathya Nagar – placed the slab on the tracks in an inebriated condition.
Later, they watched the train hitting the slab from a distance and ran away.
This is the second incident in recent times. On December 23, 2016, an electric engine of train number 11022 Tirunelveli – Dadar Chalukya Express hit concrete slabs placed on the tracks near Thoppur.

  
1913 views
Jan 19 2017 (17:01)
Kuchh to log kahenge   204 blog posts   12 correct pred (80% accurate)
Re# 2132571-1            Tags   Past Edits
book them in the terror act
  
Rail News
0 Followers
2782 views
Other NewsECR/East Central  -  
Dec 13 2016 (09:59)   दरभंगा में ट्रैक पर बैठकर मोबाइल देख रहे तीन युवक कटे, दो की मौत

©The Dark Lord™~   34 news posts
Entry# 2089368   News Entry# 288479         Tags   Past Edits
लहेरियासराय (दरभंगा) संवाद सूत्ररेलवे ट्रैक पर बैठ मोबाइल देखते तीन युवक सोमवार देर शाम 8:15 बजे ट्रेन की चपेट में आ गए। दो की कटने से मौत हो गयी। तीसरा युवक भी गंभीर रूप से घायल है। उसे डीएमसीएच में भर्ती कराया गया। घटना दोनार रेलवे गुमटी से सौ मीटर दक्षिण स्थित जामा मस्जिद के पास की है। मृतकों में सदर थाने के भेलुचक निवासी मो. उस्मान का पुत्र मो. उमर (20) व दोनार निवासी मो. शुयैब का पुत्र मो. सुहैल (20) शामिल हैं। बहादुरपुर थाने के मिलकीचक निवासी मो. शमीम के पुत्र मो. सागर (20) को गंभीर हालत में उसके परिजन निजी अस्पताल में ले गए। प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक, देर शाम समस्तीपुर से दरभंगा की तरफ डीएमयू पैसेंजर ट्रेन आ रही थी। इस बीच तीनों युवक दोनार गुमटी से सटी जामा मस्जिद के पास रेलवे ट्रैक पर बैठकर मोबाइल पर इंटरनेट सर्फिंग कर रहे थे। कुहासे व आसपास में लाउडस्पीकर...
more...
बजने के कारण उन्हें ट्रेन आने की आवाज सुनाई नहीं दी और तीनों ट्रेन की चपेट में आ गए। इसमें मो. उमर के शरीर के टुकड़े-टुकड़े हो गए। उसकी मौत घटनास्थल पर ही हो गई। इस हादसे में घायल मो. सुहैल व मो. सागर को गंभीर हालत में डीएमसीएच में भर्ती कराया गया। वहां पर मो. सुहैल की मौत इलाज के दौरान हो गई। हादसे की सूचना मिलते ही मृतक के परिजनों में कोहराम मच गया। सभी बदहवास हाल में अस्पताल परिसर में भागते-भागते पहुंचे। मो. सागर को उसके परिजन निजी अस्पताल में ले गए, जहां उसकी हालत चिंताजनक बनी हुई है। बेता ओपी की पुलिस व जीआरपी अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की जांच शुरू कर दी है। आसपास के लोगों की मानें तो इन युवकों की प्रतिदिन रेल ट्रैक पर बैठकर मोबाइल देखने की आदत थी। रोज की भांति सोमवार को तीनों ट्रैक पर बैठे मोबाइल देख रहे थे। देखें ले

2 posts are hidden.

  
1039 views
Dec 13 2016 (13:43)
Kuchh to log kahenge   204 blog posts   12 correct pred (80% accurate)
Re# 2089368-3            Tags   Past Edits
bahut afsos hua ye news dekh kar..... logon ko isse sabak lena chahiye ki railway ke saath laparwahi na barte warna anjaam bahut bura hota hai..

  
1224 views
Dec 13 2016 (13:53)
DhnEcr~   5289 blog posts
Re# 2089368-4            Tags   Past Edits
Unfortunate but really not done from boys.

3 posts are hidden.

  
950 views
Dec 13 2016 (16:26)
©The Dark Lord™~   7144 blog posts
Re# 2089368-8            Tags   Past Edits
Sare phasaad ki jad ye Mobile phone hai, katai ghatiya invention hai ye.

9 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
920 views
Other News
Nov 24 2016 (13:45)   Two dozen cows run over by train near Misrod stn

Jayashree   36425 news posts
Entry# 2070093   News Entry# 286655         Tags   Past Edits
In a tragic incident, two dozen cows were run over by 12144 Sultanpur-LTT Express passing through the up-track near Misrod railway station near under bridge on Wednesday morning. The train was delayed by half-an-hour due to the incident.
Locals claimed that 20-25 cows were run over by the train, while police claimed that 16 cows were killed and two were injured. The Railways, however, claimed that only five cows were run over by the train. On the receipt of information, police and Railway officials reached the spot and took out the parts of cows entangled in wheels of train. The BMC officials reached the spot, cleared the tracks and brought the bodies in their trucks. According to information, the train left Bhopal
...
more...
station around 9.15 am and passed through the Misrod railway station around 9.22 am. As the signal was green, the train was running at high speed. Suddenly, the cows came on the tracks. The Railway staff had to cut the parts of cows.
The train was halted for around half an hour at the spot.
Later, it reached Mandideep station, where it was checked and delayed by another half an hour. PRO Railways I A Siddiqui confirmed the incident, but said that, only five cows were killed in the incident. He said that the train was delayed by half an hour due to it. Sub-inspector G S Rajput said that around 16 cows were killed in the incident and two were injured. He said that the cows came on tracks as the under bridge was blocked. He said that investigations were on in the case. Notably, the Railways started the construction work of the third line and have blocked the under bridge due to which farmers and locals use the tracks to go to their fields.

  
2239 views
Nov 24 2016 (17:42)
Kuchh to log kahenge   204 blog posts   12 correct pred (80% accurate)
Re# 2070093-1            Tags   Past Edits
I think the construction company should pay the compensation to the farmers whose cow has been killed.
  
Rail News
0 Followers
1194 views
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  
Nov 24 2016 (17:01)   झांसी-कानपुर के बीच 7 जगह गड़बड़ था ट्रैक,30 के बजाय 1 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से दौड़ रही थी इंदौर-राजेंद्र नगर एक्सप्रेस

☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   5688 news posts
Entry# 2070073   News Entry# 286669         Tags   Past Edits
क्यों न हो हादसे
100 लोगों के बयान दर्ज होंगे
हादसे की जांच का दायरा बढ़ गया है। कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी (सीआरएस) ने इंदौर, भोपाल, मुंबई और भावनगर के कैरिज ऐंड वैगन के लोगों को बयान के लिए कानपुर बुलाया है। इनकी तादाद 100 से ज्यादा है। स्टेटमेंट रेकॉर्ड करने का काम अब गुरुवार को भी चलेगा। बुधवार शाम तक 20 लोगों के बयान रेकॉर्ड किए जा चुके थे। जांच की अवधि भी एक दिन बढ़ा दी गई है। 8पेज 13
कालका
...
more...
मेल हादसे पर चार्जशीट नहीं
जुलाई-2011 में ट्रेन को गलत ट्रैक पर डालने के कारण फतेहपुर के मलवा में कालका मेल का एक्सिडेंट हुआ था। हादसे में 70 लोगों की मौत के बाद रेलवे ने जांच के लिए सीआरएस को लगाया था। रेलवे सूत्रों के मुताबिक, सीआरएस की जांच रिपोर्ट को अब तक रेलवे मिनिस्ट्री ने स्वीकार ही नहीं किया है। इस कारण अब तक कथित दोषियों को चार्जशीट तक नहीं दी गई है। सीपीआरओ ने चार्जशीट न दिए जाने की पुष्टि की है।
एक्सिडेंट वाले दिन झांसी से कानपुर के बीच सिर्फ तीन पॉइंट्स पर अलग-अलग कार्यों की वजह से कॉशन ऑर्डर थे। कॉशन एक रुटीन प्रक्रिया है। पुखरायां के पास उस दिन कोई कॉशन नहीं था। - बिजय कुमार, सीपीआरओ
हुई हादसे में मरने वालों की संख्या
151
उरई, आटा, कालपी जैसे पॉइंट्स पर भी ट्रैक को कमजोर बताया गया था। भीमसेन से पनकी के बीच जून और अगस्त में ट्रैक की रिपेयरिंग भी हुई थी। हादसे के बाद ट्रैक की स्थिति भांपते हुए ही रेल संरक्षा आयुक्त पीके आचार्य ने एक्सिडेंट पॉइंट पर अधिकतम स्पीड 20 किमी रखने का आदेश दिया है।
अक्टूबर में रेलवे अफसरों ने दी थी रिपोर्ट• एनबीटी ब्यूरो, कानपुर
इंदौर-राजेंद्र नगर एक्सप्रेस हादसे के बाद कई तरह की चौंकाने वाली बातें सामने आ रही हैं। सूत्रों का दावा है कि रेलवे की एक रिपोर्ट में झांसी से पनकी-कानपुर रेल ट्रैक को कई जगह अनफिट करार दिया गया था। इन जगहों पर अधिकतम स्पीड 30 किमी/घंटा रखने की सलाह दी गई थी। इसके बावजूद राजेंद्र नगर एक्सप्रेस यहां 110 किमी/घंटा की रफ्तार से दौड़ रही थी।
सूत्रों के मुताबिक, अक्टूबर में दी गई रिपोर्ट में रेलवे अफसरों ने झांसी-कानपुर के बीच सात पॉइंट चिह्नित किए थे, जो ट्रेन की ज्यादा गति के अनुकूल नहीं थे। रिपोर्ट में खासतौर पर कहा गया था कि मलासा से भीमसेन आउटर केबिन के बीच स्पीड कम रखी जाए। इस सेक्शन में ही रविवार सुबह राजेंद्र नगर एक्सप्रेस डिरेल हुई थी। यहां ट्रैक पॉइंट्स लूज बताए गए थे। झांसी,

  
3187 views
Nov 24 2016 (17:19)
Kuchh to log kahenge   204 blog posts   12 correct pred (80% accurate)
Re# 2070073-1            Tags   Past Edits
I traveled 5 years regularly on Kanpur-Jhansi Route either by Intercity or Indore-Patna Express and I observed that at some places near Orai, the jerk is too much that if a person standing in the aisle without any support, he may fall down if unable to grasp any support or person. The journey feels like you are traveling in Bus not in the train.

  
3194 views
Nov 24 2016 (17:21)
☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   13477 blog posts   3052 correct pred (65% accurate)
Re# 2070073-2            Tags   Past Edits
same condition between barabanki-fd-bsb section one of the worst section of ir

1 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
1369 views
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  
Nov 22 2016 (10:15)   ट्रेन के स्पीड पकड़ते ही लहराने लगता था कोच

☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   5688 news posts
Entry# 2067894   News Entry# 286378         Tags   Past Edits
20
कानपुर : इंदौर-राजेंद्रनगर (पटना) एक्सप्रेस ट्रेन के स्पीड पकड़ते ही एस-2 कोच तेजी से लहराने लगता था। ऐसा लग रहा था कि कोच का एलाइनमेंट ठीक नहीं था। ये बातें हैलट में भर्ती रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग से सेवानिवृत्त गैंगमैन परमाकांत झा ने रेल पुलिस के डीजी गोपाल गुप्ता को सोमवार को निरीक्षण के दौरान बताईं। वह इंदौर-पटना एक्सप्रेस में इंदौर से सवार हुए थे।1बिहार के दरभंगा जिले के बड़की तरौनी, थाना बहेड़ा के मूल निवासी परमाकांत झा उज्जैन में रेलवे के इंजीनियरिंग विभाग में तैनात थे। इंदौर के गुलमोहर बाग कालोनी, एमआर-5 में घर भी बनवा लिया है। रेलवे से बीते 30 अक्टूबर को ही सेवानिवृत्त हुए हैं। जरूरी काम से बिहार स्थित अपने पैतृक घर जाने को पटना तक
...
more...
रिजर्वेशन कराया था। उनकी बर्थ एस-2 कोच के 71-72 नंबर आरएसी में थी, जबकि इंदौर के चौपाल विहार निवासी साथी रामू की बर्थ 63 थी। उन्होंने बताया कि शनिवार शाम ट्रेन उज्जैन से चार-पांच किलोमीटर आगे बढ़ी ही थी। जैसे ही ट्रेन स्पीड पकड़ती कोच तेजी से लहराने (हिलने) लगता। स्पीड कम होते ही लहराना बंद हो जाता था। इससे प्रतीत हो रहा था कोच के एलाइनमेंट में दिक्कत थी। इससे लगता है कि कोच की फिटनेस एवं मेंटीनेंस ठीक नहीं थी।

2 posts are hidden.

  
1315 views
Nov 23 2016 (14:52)
Kuchh to log kahenge   204 blog posts   12 correct pred (80% accurate)
Re# 2067894-3            Tags   Past Edits
Last month I traveled from Kanpur to Delhi by Unchahar Express. Train was running late by 1 hour. I generally never sleep at night while I travel. When the train crossed Aligarh, I noticed that the speed of train was too high and the coach was vibrating too much, I mean more than normal, and I guess the speed of the train was 110 km/h or above. It was a conventional coach and I thought that these coaches are not fit for high speed run. I was scared so much that I started praying for safe journey and prayed till I reached my destination.
  
Rail News
0 Followers
3014 views
IR Press Release 
Nov 08 2016 (10:21)   MANUFACTURING OF 200 KMPH SPEED COACHES BEGINS AT RAIL COACH FACTORY, KAPURTHALA

Iri rules are different in different cases^~   955 news posts
Entry# 2052461   News Entry# 285140         Tags   Past Edits
RCF Kapurthala has started the manufacturing ofcoaches to run at a speed of 200-km per hour . This initiative is as per the proposal which was announced by Hon’ble Minister of Railways, Sh. Suresh Prabhu in 2015-16’s Rail Budget.
The new initiative involves the manufacturing a rake of 20 coaches which comprises 14 AC Chair Cars, 03 Executive Chair Cars and 03 Power cars. At present manufacturing of 04 coaches (02 Executive Chair Cars and 02 AC Chair Cars ) is o­n the way at RCF. These coaches of Alstom –LHB configuration , are upgraded with stainless steel brake disc, sintered pads and electro-pneumatically assisted brake system. Plug Type Entrance Door like Metro Train coaches have been introduced in these coaches
...
more...
which have provision to close automatically at 5 kmph besides providing better dust, sound and heat insulation.The third major modification in these coaches involves the improved and wider inter-car gangway (vestibule) area between the coaches, which will help to reduce dirt and wateringress besides reducing noise level.
Other features which are incorporated in these 200kmph coaches include improved passenger safety and comfort. The coaches will have aesthetically pleasant interiors with spacious and ergonomicallydesigned seats. Option for provision of personal infotainment system is also aimed at. Each coach will emphasize o­n safety, and will have fire retardant furnishing besides fire and smoke detection alarms. Balanced Draft Gear Couplers between the two coaches will help in smooth acceleration and retardation of the train.
The lavatories of these coaches will have redesigned interior and equipped with Vacuum Evacuation assisted toilets. The plush interiors will have touchless fittings in taps, hand dryers and soap dispensers besides marble finish and anti graffiti coating o­n walls.
The coaches carrycolour scheme based o­n Cheetah known for its vitality and has been developed in association with National Institute of Design, Ahmedabad.
General Manager of RCF, Sh. R P Nibariya, is optimistic of the completion of the first consignment of coaches in the next month while the remaining will be completedby next few months.

7 posts are hidden.

  
1978 views
Nov 08 2016 (14:28)
Kuchh to log kahenge   204 blog posts   12 correct pred (80% accurate)
Re# 2052461-8            Tags   Past Edits
Is RDSO doing any research on how to remove power cars in LHB rakes and use self generating coaches so that 2 more coaches can be added in LHB rakes.

9 posts are hidden.
Page#    195 Blog Entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site