Full Site Search  
Fri Apr 28, 2017 17:44:17 IST
Advanced Search
×
News Super Search
News Entry#:
Search Phrase:

Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Trains in the News    Stations in the News   
Page#    283666 news entries  <<prev  next>>
  
Today (16:14)  ट्रेनों में पकड़े गए 305 बेटिकट यात्री (www.amarujala.com)
back to top
Other News

News Entry# 301049     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Jayashree ❖ Amita*^  36154 news posts
रेलवे की मंडलीय टीम ने ट्रेनों की सघन चेकिंग में 305 बेटिकट यात्री पकड़े। इन यात्रियों से 1.67 लाख रुपये जुर्माना वसूला गया। इस दौरान रेलवे स्टेशनों पर हलचल  मची रही, बेटिकट यात्री इधर-उधर भागते नजर आए।
  सीनियर डीसीएम के निर्देश पर सहायक वाणिज्य प्रबंधक एसएस यादव के नेतृत्व में निकली टीम के निशाने पर लखनऊ-बाराबंकी-फैजाबाद ट्रैक पर फर्राटा भर रही अप और डाउन किसान एक्सप्रेस, डाउन देहरादून-हावड़ा दून एक्सप्रेस और अप सियालदह (कोलकाता-जम्मू तवी) एक्सप्रेस शामिल थीं।
टीम ने यह अभियान फैजाबाद के अलावा सुल्तानपुर व दूसरे ट्रैकों पर भी
...
more...
चलाया। सीनियर डीसीएम शिवेंद्र शुक्ल ने बताया कि इस अभियान में अप-डाउन किसान, छपरा-मथुरा, सियालदह-जम्मूतवी एक्सप्रेस, डाउन दून एक्सप्रेस सहित दर्जन भर गाड़ियां चेक की गईं।
इसमें 305 यात्री बिना टिकट या अनियमित टिकट पर यात्रा करते पकड़े गये। इन सभी से जुर्माने के रूप में एक लाख 67 हजार रुपये वसूले गये।
  
Today (16:14)  मुख्य सचिव ने मांगी रैपिड ट्रेन की फाइनल रिपोर्ट, (www.amarujala.com)
back to top
Other News

News Entry# 301048   Blog Entry# 2254441     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Jayashree ❖ Amita*^  36154 news posts
यूपी में नई सरकार का गठन होने के बाद पहली बार लखनऊ में मुख्य सचिव के सामने रैपिड ट्रेन की डीपीआर का प्रजेंटेशन हुआ। मुख्य सचिव ने इस पर संतुष्टि जताते हुए कहा कि जल्द ही इसकी फाइनल रिपोर्ट पेश कर दी जाए ताकि इसे अनुमोदित किया जा सके। मुख्य सचिव ने जल्द एमओयू साइन करने के लिए भी कहा।
रैपिड ट्रेन की डीपीआर को एनसीआरटीसी (नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कारपोरेशन) ने छह दिसंबर को हुई अपनी बोर्ड बैठक में हरी झंडी दे दी थी। इसके बाद केन्द्र सरकार ने इसे उत्तर प्रदेश सरकार के पास भेज दिया था। चुनावी माहौल होने केकारण पुरानी सरकार ने इस प्रस्ताव पर ध्यान ही नहीं दिया। चूंकि दिल्ली से मेरठ के बीच प्रस्तावित
...
more...
यह ट्रेन यूपी के काफी क्षेत्र से होकर गुजरेगी तो इस पर यूपी सरकार का अनुमोदन होना जरूरी है। तभी से बार बार कहा जा रहा था कि इस पर काम हो। इसके अलावा मेट्रो ट्रेन का प्रस्ताव पिछले साल तीस जून को शासन को भेजा गया था पर यह अभी तक कैबिनेट में नहीं जा सका है।
अब आगे बढ़ी बात बुधवार को एनसीआरटीसी के एमडीए वीके सिंह ने मुख्य सचिव राहुल भटनागर के सामने इस डीपीआर का लखनऊ में पहली बार प्रजेंटेशन दिया। इस मौके पर मेरठ मंडलायुक्त डा. प्रभात कुमार, वीसी एमडीए योगेन्द्र यादव तथा एनसीआर से विवेक भास्कर ने अहम बिंदू रखे। बैठक में अपर मुख्य सचिव सदाकांत सीटीसीपी अजय मिश्रा, वीसी जीडीए, नगरायुक्त गाजियाबाद अब्दुल समद के अलावा परिवहन, आवास एवं शहरी नियोजन आदि विभागों के प्रमुख सचिव भी मौजूद रहे। इस पर रायशुमारी भी की गई। मुख्य सचिव ने इस बाबत कई अहम सवाल उठाए।
जल्द रिपोर्ट पेश करने को कहा मुख्य सचिव ने कहा कि विभाग आपसी मंथन के बाद जल्द ही इसकी फाइनल रिपोर्ट तैयार कर लें। पूरी बैठक का ब्यौरा तैयार करें और सभी विभागों के सुझाव के बाद अंतिम निर्णय लेकर रिपोर्ट जल्द पेश करें। कहा कि फाइल पर अध्ययन कर इसे पेश करें। अगली बैठक में इसे अनुमोदित कर दिया जाएगा। अनुमोदन के बाद यह रिपोर्ट कैबिनेट के सामने पेश कर वापस केन्द्र सरकार को भेज दी जाएगी। मुख्य सचिव ने कहा कि इसके लिए जल्द ही केंद्र सरकार के साथ एमओयू साइन कराया जाए। फंड पर भी चर्चा की।

  
212 views
Today (16:15)
दिव्यांशु गुप्ता^~   33407 blog posts   26145 correct pred (77% accurate)
Re# 2254441-1            Tags   Past Edits
iske baad
delhi-panipat k b chances honge

  
142 views
Today (16:36)
NiShu~   636 blog posts   4623 correct pred (78% accurate)
Re# 2254441-2            Tags   Past Edits
delhi-rewari-alwar ka kya chal rha h
  
Today (16:01)  Earnings Misses, Rising Debts: Indian Railways Turnaround Hits Buffers – NDTV Profit (profit.ndtv.com)
back to top
Other News

News Entry# 301047     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Jayashree ❖ Amita*^  36154 news posts
Ghaziabad: India's mammoth state railways, much of them stuck in colonial times, have missed earnings targets for the third straight year and debts have shot up, documents seen by Reuters show, raising doubts about an ambitious modernisation drive.
PM Modi's $133 billion, five-year programme backed by private and public investment aimed to boost passenger and freight volumes, lay new tracks, introduce modern trains and drive growth to help meet ambitious economic targets.
Of that, about $32 billion, or less than 25 percent, was spent in the first two years.
Some
...
more...
rail officials say it takes longer for investments to bear fruit, but nearly half way through the plan, the sector's performance has deteriorated according to some key measures.
"Without surgery, the railways can't become commercially viable," said a senior government official who deals with the network's finances.
Internal government documents show that under PM Modi, Indian Railways' operating ratio - a gauge of efficiency measuring expenses as a proportion of revenues - has slipped to the worst level in 15 years.
The documents also show gross traffic earnings, which make up the bulk of revenues, would fall short of the target by over $3 billion in the fiscal year ending last month.
Revenues were insufficient to cover expenditure, and funding via market borrowing rose to about 22 percent last year from an average of 8 percent between 2010-15. The railways now owe $20 billion, up $7 billion in the last three years.
Investments "Take Time"
A senior railways ministry official, responding to questions from Reuters, said increased borrowing to fund new investments could not be expected to yield immediate results.
"Railway projects have a long gestation, hence revenues from projects will take time to flow," the official said in emailed answers, adding that they would generate sufficient revenues over the next three to four years to pay debts falling due.
He also said a drop in freight revenues stemmed from a strategic decision to enhance volumes by cutting charges, while passenger numbers had "increased after a gap of many years".
The official did not provide further details, and the latest passenger data for Indian Railways are not publicly available.
"These railways numbers cannot be solved overnight," said Bibek Debroy, a government adviser who has drafted a reform blueprint for the railways.
He proposes unbundling the railways into separate units to operate track and traffic, and allowing private players to run train services.
Private money has been slow to flow, however, amid uncertainty over the return on investments.
"If the railway comes out with the right project structure which allows the private sector to have adequate and assured returns, investment in the railway sector will pick up," said Rajaji Meshram, director at KPMG India.
Disintegration
Strains on the network are visible at Ghaziabad's teeming, 150-year-old railway station near New Delhi, one of northern India's busiest freight junctions.
There, managers squeeze 70-75 freight trains a day between 340 passenger trains packed with commuters.
"We can't tell our clients when their cargo will leave the station or reach its destination," said a local official. "Passenger trains determine the movement of goods trains."
Such congestion has slowed the average speed of freight trains to around 20 km per hour from 24-25 kph three years ago. In China, the average speed of freight trains is 35 kph.
Ghaziabad is one of 400 stations identified by the PM Modi's administration for redevelopment to generate non-fare revenues. Nearly two years after the federal cabinet approved the project, work there has yet to start.
Bhartruhari Mahtab, head of a parliamentary panel on railways, said a struggle to find investors had hobbled the $15 billion programme to upgrade stations.
More broadly, he told Reuters he saw no alternative to drastic reforms, without which there could be "a disintegration of Indian Railways".
Reform won't be easy. The bulk of freight earnings still comes from transporting commodities like coal and oil, but with companies laying oil pipelines and power plants being built near coal mines, this business is under threat.
Hamstrung by some of the world's highest cargo rates, railways are also being priced out by cheaper road and air transport.
"We have lost a lot of revenue to the road sector. So, now we have to bring back that share of traffic to the railway sector," said Anil Saxena, chief spokesman of the railways.
PM Modi appears frustrated. His office said in a statement that he rebuked railway bosses at a meeting on Wednesday over public complaints of corruption. He also called this week for greater urgency in re-developing train stations and in finding ways to generate non-fare revenues.
Railways Minister Suresh Prabhu did not respond to a request for an interview.
  
Today (16:01)  Trains on Mumbai central railway line delayed, second time in a week | mumbai news (www.hindustantimes.com)
back to top
Other NewsCR/Central  -  

News Entry# 301046     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Jayashree ❖ Amita*^  36154 news posts
Trains on Mumbai’s central railway line were delayed after a portion of the tracks between Kalyan and Thakurli stations was damaged—the second such incident this week.
Trains were diverted to a slow track after a “fracture” was spotted at around 7am, delaying services by 15 to 20 minutes. Services were restored by 8.32 am.
“My train halted at Kalyan station for 10 minutes. It got delayed by 15 minutes. Railway fractures are very common these days between Kalyan and Thakurli stations. Railway authorities should figure out some permanent solution to it,” said Maya
...
more...
Surve, 32, who was travelling to Mumbai in a fast local from Vitthalwadi railway station.
“There was a disruption in the fast track line which got restored,” said a railway officer of Kalyan railway station.
On April 25, a crack between Kalyan and Thakurli stations had held up trains on the central line for over 20 minutes.
  
Today (14:07)  इरिमी में आयोजित हुआ 62वां रेल सप्ताह समारोह (googleweblight.com)
back to top
IR Affairs

News Entry# 301045     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: amishkumar48~  16 news posts
जमालपुर : भारतीय रेल यांत्रिक एवं विद्युत अभियंत्रण संस्थान (इरिमी) में गुरुवार को 62वां रेल सप्ताह समारोह का आयोजन हुआ. समारोह का उदघाटन मुख्य अतिथि निर्देशक गजानन मल्लया तथा विशिष्ट अतिथि बी जयंती मल्लया ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्ववलित कर किया. निर्देशक ने कहा कि वर्ष 1953 में पहली बार देश में 16 अप्रैल को मुंबई और ठाणे के बीच रेल चली थी, जिसको लेकर प्रति वर्ष अप्रैल महीने में रेल सप्ताह समारोह का आयोजन होता है.
उन्होंने कहा कि रेलवे देश की जीवन रेखा है और सबसे सस्ता यातायात साधन भी. रेलवे को उन्नत करने के लिए रेलकर्मियों को उन्होंने टीम भावना के साथ काम करने की सलाह दी. उन्होंने कहा कि सामूहिक प्रयास से ही इरिमी ने पिछले वर्ष
...
more...
देश में अपना झंडा बुलंद किया है. जिसकी तकनीकी जानकारी की प्रशंसा रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा, नीति आयोग के डा वीके सारस्वत, आइआइटी कानपुर के प्रो व्यास, रेलवे बोर्ड के सलाहकार मनोज पांडेय और वित्त आयुक्त शहजाद शाह
, जीएम घनश्याम सिंह तथा मेंबर रॉलिंग स्टॉक रवींद्र गुप्ता ने यहां अपने विजीट के दौरान की है. मनोज कुमार द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश किये गये जबकि मंच संचालन हिमाशलय कुमार हिमांशु ने किया. मौके पर वरिष्ठ आचार्य पीके साहा, कृष्णन रामन, प्रदीप कुमार, आचार्य देवेंद्र कुमार, गौतम चौधरी, सुमन राज, जीवनपाल सिंह, डा अभ्युदय, संजय कुमार तथा एके साहा मुख्य रूप से उपस्थित थे.
  
Today (13:44)  New Platform At MAQ in 2018-19 Palakkad division moots more passenger amenities at Mangaluru Central (m.timesofindia.com)
back to top
New Facilities/TechnologySR/Southern  -  

News Entry# 301044     
   Tags   Past Edits
Apr 28 2017 (13:46)
Station Tag: Palakkad Junction (Palghat)/PGT added by Southern Railway^~/1246501

Apr 28 2017 (13:46)
Station Tag: Mangalore Central/MAQ added by Southern Railway^~/1246501

Posted by: Southern Railway^~  82 news posts
: Construction of 14 bays of platform shelter on platform 2/3 and platform 1 at Mangaluru central station is in progress and will be completed this year, noted Naresh Lalwani, divisional railway manager, Palakkad division. In addition, new toilet blocks will also be constructed at platform 2/3. Repairs to road from Town Hall to Mangaluru central station, paving of parking area on first entry and new area on 2nd entry is also in progress.
Chairing the 156th meeting of divisional railway users' consultative committee of Palakkad division at railway divisional office, Palakkad, Naresh Lalwani said Mangaluru central station has been identified to be taken up in the second phase for station redevelopment programme by union minister for railways. Regarding much needed Netravathi-Mangalore
...
more...
central doubling, he said the detailed estimate for the works has been sanctioned at a cost of Rs 18.93 crore.
New work for additional platform at Mangaluru central has also been sanctioned in current year at cost of Rs 6.6 crore, which is also being planned with doubling work. The work is proposed to be started in late 2017-18 or beginning of 2018-19. The non-availability of additional platform and the doubling work is affecting ability of railways to start new trains from Mangaluru central and authorities are terminating few new trains at Mangaluru junction railway station.
Aiming to enhance security at Kanhangad railway station, Railway Protection Force, Mangaluru is conducting regular checks. Setting up a camp office of RPF has been proposed at Kanhangad station. At Kannur, work for resurfacing of platform 2 & 3 will be taken up during the year at a cost of Rs 1.4-crore. Detailed estimate has been sanctioned for this and tender will be awarded shortly. Construction of fourth platform has also been sanctioned at Kannur this fiscal.
On punctuality of trains, Naresh Lalwani expressed hope of positive improvement in punctuality, on completion of scheduled maintenance work planned at various sections of the division by June this year. About concerns expressed over death of wild elephants on track in Walayar-Kanjikode section, he said Kerala government has proposed to provide Rs 8 crore for raising fence on either sides of the railway track in the area and prevent such accidents.
  
Today (12:50)  मराठीसाठी पश्चिम रेल्वेचे पाऊल (www.lokmat.com)
back to top
Commentary/Human InterestML/Mumbai Local  -  

News Entry# 301043     
   Tags   Past Edits
Apr 28 2017 (12:51)
Station Tag: Lower Parel/PL added by x^~/1269766

Apr 28 2017 (12:51)
Station Tag: Bandra Terminus/BDTS added by x^~/1269766

Apr 28 2017 (12:51)
Station Tag: Bandra/BA added by x^~/1269766

Apr 28 2017 (12:51)
Station Tag: Bhayandar/BYR added by x^~/1269766

Posted by: x^~  58 news posts
मीरारोड, दि. 23 - मुंबई व पश्चिम उपनगरीय रेल्वे स्थानकांच्या मराठी नावांची माहिती पश्चिम रेल्वेच्या वाणिज्य विभागाने मुंबई, मुंबई उपनगर व ठाणे जिल्ह्याच्या जिल्हाधिकारी कार्यालयां कडुन मागीतली आहे. काही रेल्वे स्थानकांचा अमराठी भाषेतुन अपभ्रंष व चुकीचा उल्लेख होत असल्याच्या तक्रारी व आंदोलने होत असल्याने रेल्वे प्रशासनाने देखील सकारात्माक पाऊल उचलले आहे.
भार्इंदर स्थानकाचा हिंदी व इंग्रजीतुन भायंदर असा सर्रास अपभ्रंश केला जात आहे. शिवाय मराठीतुन सुध्दा भायंदर असे लिहले जात होते. मध्यंतरी तर गुजराती भाषेतली भार्इंदर अशी पाटी लावण्यात आली. महसुली नोंदी भार्इंदर असे नांव असताना त्याचा हिंदी वा इंग्रजीतुनपण भार्इंदर असाच उल्लेख व्हायला पाहिजे अशी गेल्या अनेक वर्षां पासुन शिवसेना, मनसे आदिंची मागणी होत होती. महासभेत सुध्दा ठराव करण्यात आला. परंतु या राजकिय पक्षांनी नंतर याचा पाठपुरावा केला नाही.
दरम्यान
...
more...
मराठी एकीकरण समितीने भार्इंदर सह वांद्रे, परळ अशी मराठमोळी गावांची नांवे असताना त्याचा हिंदी, इंग्रजी तुन चालणारा अपभ्रंश रोखण्यची मागणी मुख्यमंत्र्यांसह रेल्वे प्रशासना कडे चालवली होती. त्याच सोबत आरक्षण अर्ज, इत्तर अर्ज मराठी भाषेत उपलब्ध करावेत, तिकीटे व पास मराठी भाषेतुन द्यावेत, सर्व उद्घोषणा, सर्व माहिती फलक व जनजागृती फलक/पत्रकां मध्ये राज्याची राजभाषा म्हणुन मराठीला प्राधान्य देण्याची मागणी चालवली आहे. रेल्वे वर्कस् मॅन्युअल मध्ये मराठी भाषेला प्राधान्य देण्याचा आग्रह समितीने धरला आहे. त्यासाठी समितीने उपोषण, धरणे आंदोलन, स्वाक्षरी मोहिम तसेच निषेध आंदोलने चालवली .
अखेर पश्चिम रेल्वेने सुध्दा सदर बाब गांभीर्याने घेत रेल्वे स्थानकांच्या नावां मध्ये असणारा मराठीचा अपभ्रंश थांबवण्यासाठी सकारात्मक पाऊाल उचलले आहे. पश्चिम रेल्वेच्या वाणिज्य विभागाच्या वरिष्ठ व्यवस्थापक आरती सिंह परिहार यांनी मुंबईचे जिल्हाधिकारी तर मुंबई उपनगर व ठाणे जिल्ह्याचे निवासी जिल्हाधिकारी यांना ६ एप्रिल रोजी पत्र पाठवुन त्यांच्या हद्दीत येणारया रेल्वे स्थानकांची मूळ महसुली नोंदी असलेली मराठीतली नांवे व त्याचे शब्दलेखन मागवले आहे.
रेल्वे स्थानकांच्या नावांचा चुकीचा उल्लेख होत असल्या बद्दल प्रवाशी व ंसंस्थां कडुन सातत्याने तक्रारी येत आहेत. रेल्वे स्थानकांच्या नावांची मंजुरी राज्य शासना कडुन होत असते. त्यामुळे महसुली नोंदी अलेली नांवे व शब्दलेखन अधिकृत रीत्या उपलबध्द करुन द्यावे जेणे करुन नावात सुधारणा करायची गरज असल्यास ती करता येणार आहे असे रेल्वेने म्हटले आहे.
पश्चिम रेल्वेने मराठी नावांचा होणारा अपभ्रंश वा चुकीचा नामोल्लेख बदलण्याच्या हालचाली सुरु केल्याने मराठी एकीकरण समितीचे प्रमुख गोवर्धन देशमुख यांनी समाधान व्यक्त केले आहे. मराठी ही राजभाषा अल्याने तीचा सन्मान व संवर्धन ही प्रत्येकाची जबाबदारी असुन मराठीसाठी लढा सुरुच राहिल असे ते म्हणाले.
  
Today (12:49)  *5 ஆண்டுகளுக்கு மேல் நடக்குது : ஆமை வேகத்தில் காரைக்குடி - பட்டுக்கோட்டை ரயில்பாதை* (m.dinakaran.com)
News Entry# 301042   Blog Entry# 2254163     
   Tags   Past Edits
Apr 28 2017 (12:50)
Station Tag: Pattukottai/PKT added by podhigai charal~/951131

Apr 28 2017 (12:50)
Station Tag: Karaikkudi Junction/KKDI added by podhigai charal~/951131

Posted by: podhigai charal~  9 news posts
*5 ஆண்டுகளுக்கு மேல் நடக்குது : ஆமை வேகத்தில் காரைக்குடி - பட்டுக்கோட்டை ரயில்பாதை*
Karaikudi - Pattukottai railroad at Turtle pace
பதிவு செய்த நேரம்:2017-04-28 10:58:03
காரைக்குடி: காரைக்குடி - பட்டுக்கோட்டை ரயில்பாதை பணியை இந்த ஆண்டு மார்ச் மாதத்துக்குள் முடிக்கப்படும் என அதிகாரிகள் வாக்குறுதி கொடுத்தும் தண்டவாளங்கள் அமைக்கும் பணி கூட முடியாத நிலையில் உள்ளது. ராமேஸ்வரம் செல்லும் பக்தர்களின் வசதிக்காக மயிலாடுதுறை முதல் காரைக்குடி வரை மீட்டர்கேஜ் பாதையில் கடந்த 60 ஆண்டுகளுக்கு மேலாக ரயில்கள் இயக்கப்பட்டன. இந்நிலையில் மயிலாடுதுறை முதல் காரைக்குடி
...
more...
வரை 187 கி.மீ வரை அகலபாதையாக மாற்ற கடந்த 2007ம் ஆண்டு வரைவு பட்ஜெட் தாக்கல் செய்யப்பட்டது. இதற்கு கடந்த 2011 செப்டம்பர் மாதம் ரூ. 705 கோடி நிதி ஒதுக்கப்பட்டது.
இதில் மயிலாடுதுறை முதல் திருவாரூர் வரை பணிகள் நிறைவடையும் தருவாயில் உள்ளது. மீதமுள்ள 140 கி.மீ அகலரயில் பாதையாக மாற்றப்பட்டு வருகிறது. இதன் முதல்கட்டமாக காரைக்குடி முதல் பட்டுக்கோட்டை வரை 73 கி.மீ க்கு பணிகள் துவங்க கடந்த 2012ம் ஆண்டு ரயில் சேவை நிறுத்தப்பட்டது. இதனைத் தொடர்ந்து ரயில் தண்டவாளங்கள் மற்றும் சிலிப்பர் கட்டைகள் அகற்றப்பட்டன. அதன்பிறகு சிமென்ட் சிலிப்பர்கள் பல்வேறு பகுதிகளில் இருந்து கொண்டு வரப்பட்டு வைக்கப்பட்டுள்ளன. நிதி பற்றக்குறையால் பணிகள் கிடப்பில் போடப்பட்டு இருந்த நிலையில் காரைக்குடி முதல் திருவாரூர் வரை 140 கி.மீ அகலரயில் பாதையாக மாற்ற 1300 கோடிரூபாயாக நிதி உயர்த்தப்பட்டது. கடந்த ஆண்டு கூடுதலாக 85 கோடி ரூபாய் ஒதுக்கப்பட்டது.
இப்பாதையில் உள்ள 255 சிறு பாலங்களில் 243 மேல் பணி முடிக்கப்பட்டுள்ளது. 14 பெரிய பாலங்களில் 4க்கு மேல் பணி முடிந்துள்ளது. கிராவல் மண் 15.64 லட்சம் கியூபிக் மீட்டர் எடுக்க திட்டமிடப்பட்டுள்ளதில் 9.33 லட்சம் கியூபிக் மீட்டர் மேல் மண் எடுக்கப்பட்டு பாதை அமைக்கப்பட்டுள்ளது. காரைக்குடியில் இருந்து கண்டனூர் ஸ்டேஷன் வரை சிலிப்பர் கட்டைகள் அமைத்து தண்டவாளங்கள் அமைக்கும் பணி முழுவேகத்தில் நடக்கிறது. கண்டனூரில் இருந்து பட்டுக்கோட்டை வரை வரை செல்லும் பாதை ஆமைவேகத்தில் நடப்பதால் பணிகள் முடிய இன்னும் சில ஆண்டுகள் ஆகலாம் என்ற நிலை ஏற்பட்டுள்ளது.
இது குறித்து பணியாளர்கள் சிலர் கூறுகையில், “ கடந்த ஆண்டு இப்பாதை பணிகளை முதன்மை நிர்வாக பொறியாளர் ஆய்வு செய்து காரைக்குடி முதல் பட்டுக்கோட்டை வரை 73 கி.மீ 2017 மார்ச் மாதத்துக்குள் முடிக்க திட்டமிடப்பட்டுள்ளது எனவும். பட்டுக்கோட்டை முதல் திருவாரூர் வரை 67 கி.மீ அகலரயில் பாதை 2018 மார்ச் மாதத்துக்குள் முடிக்க இலக்கு நிர்ணயம் செய்யப்பட்டுள்ளது என்றார். ஆனால், காரைக்குடி பட்டுக்கோட்டை இடையேயான பணிகளில் மண் கொண்டு நிரப்பும் பணிகள் மட்டுமே முடிந்த நிலையில் மீதமுள்ள பணிகள் இந்த ஆண்டுக்குள் நிறைவடையாது. அதிகாரிகள் பார்வையிட வரும் போது பெயரளவில் தெரிவித்துவிட்டு செல்வதோடு சரி, அதன்பிறகு பணிகள் ஆமைவேகத்தில் தான் நடந்து வருகிறது. இதேவேகத்தில் நடந்தால் காரைக்குடி முதல் திருவாரூர் இடையேயான பணிகள் முடிய இன்னும் 5 ஆண்டுகள் கூட ஆகலாம்” என்றனர்.
- See more at: click here

  
567 views
Today (12:58)
sGs*^~   6229 blog posts   9851 correct pred (77% accurate)
Re# 2254163-1            Tags   Past Edits
"இதில் மயிலாடுதுறை முதல் திருவாரூர் வரை பணிகள் நிறைவடையும் தருவாயில் உள்ளது." Its operational. News having so much wrong information. KKDI PKT GC also done.

  
543 views
Today (13:06)
एक भारतीय रेल सेवा   42 blog posts   15 correct pred (90% accurate)
Re# 2254163-2            Tags   Past Edits
News great ..

  
548 views
Today (13:07)
emailconnect2hari   737 blog posts   1 correct pred (50% accurate)
Re# 2254163-3            Tags   Past Edits
MV-TVR mudinchu 5 years aguthu....
  
ஜார்கண்ட் மாநிலத்தில் நிலவும் குடிநீர் தட்டுபாடுக்கு, மாநில அரசு நடவடிக்கை எடுக்காததால்,  பெண்கள் ஒன்றுக்கூடி, ரயில் மறியல் போராட்டத்தில் ஈடுபட்டனர்
ஜார்கண்ட் மாநிலத்தில், பா.ஜ.க-வைச் சேர்ந்த ரகுபர் தாஸ் தலைமையிலான அரசு இயங்கிவருகிறது. ஜார்கண்ட்டின் பல இடங்களில் கடுமையான வறட்சி நிலவிவருகிறது. குடிநீர்த் தட்டுப்பாடு ஏற்பட்டுள்ளது.
 கிராமங்களில் வசிப்போர், குடிநீருக்காகத் திண்டாடிவருகின்றனர். அங்கு, முதல்வராக இருக்கும் ரகுபர் தாஸின் தேர்தல் வாக்குறுதிகளில் முக்கியமானது, ' 2022 -ம் ஆண்டுக்குள் ஜார்கண்ட் மாநிலத்தில் குடிநீர்த் தட்டுபாடு இருக்காது' என்பதுதான்.
கடந்த சில நாள்களுக்கு முன், இரண்டு முக்கிய  நீர்வளத் திட்டங்களைத் துவக்கி வைத்தார்,
...
more...
ரகுபர் தாஸ். அப்போது, '2022-ம் ஆண்டுக்குள் ஜார்கண்ட்டில் வசிக்கும் ஒவ்வொரு குடும்பத்துக்கும் சுத்தமான குடிநீர் வந்துசேரும்', என்றார்.
ஜார்கண்ட்டில், மாநில நீர்வள ஆதாரங்கள், குடிநீர் மற்றும் சுத்திகரிப்புத்துறை அமைச்சர் சந்திர பிரகாஷ் சௌத்ரியும் குடிநீர்த் தட்டுபாடு குறைந்துவருவதாகப் பேசினார். 
இந்த நிலையில், ஆதித்யபூர் என்னும் பகுதியைச் சுற்றியுள்ள கிராமங்களில், கடந்த சில வாரங்களாக குடிநீர் சப்ளை முற்றிலுமாக நிறுத்தப்பட்டுள்ளதால், மக்கள் வெகுதூரம் சென்று தண்ணீர் எடுத்துவரும்நிலை ஏற்பட்டது.
இதனால் ஆத்திரமடைந்த பெண்கள், அந்தக் கிராமத்தைக் கடக்கும் ரயில்களை நிறுத்தி, மறியலில் ஈடுபட்டுவருகின்றனர். ரயில் மீது ஏறி மாநில அரசுக்கு எதிராக கோஷங்கள் எழுப்பிவருகின்றனர்!
  
Today (11:23)  आदित्यपुर में पानी के लिए रेल चक्का जाम (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsSER/South Eastern  -  

News Entry# 301040   Blog Entry# 2254444     
   Tags   Past Edits
Apr 28 2017 (11:24)
Station Tag: Tatanagar Junction/TATA added by TPTY JAT Humsafar Express Soon😊^~/1421836

Apr 28 2017 (11:24)
Station Tag: Adityapur/ADTP added by TPTY JAT Humsafar Express Soon😊^~/1421836

Posted by: TPTY JAT Humsafar Express Soon😊^~  286 news posts
आदित्यपुर/जमशेदपुर : पानी की समस्या से जूझ रहे आदित्यपुर रेलवे कॉलोनी के निवासियों का सब्र गुरुवार को टूट गया. बड़ी संख्या में महिलाएं सुबह लगभग 10 बजे आदित्यपुर स्टेशन पहुंची और रेल चक्का जाम कर दिया. करीब 45 मिनट तक ट्रेनों का आवागमन पूरी तरह ठप रहा. अप और डाउन मार्ग की ट्रेनें जहां-तहां खड़ी रहीं. सूचना मिलते ही टाटानगर एइएन-टू एन हेम्ब्रम आदित्यपुर पहुंचे और महिलाओं को समझाया. शीघ्र पेयजल आपूर्ति का आश्वासन मिलने के बाद महिलाएं रेलवे ट्रैक से हटी.
रेलकर्मी परिवार की महिलाओं ने संभाला मोरचा

रेल
...
more...
चक्का जाम करने वालों में अधिकतर रेलकर्मी परिवार की महिलाएं थी. हाथों में बरतन लिए महिलाओं ने सुबह करीब 10 बजे प्लेटफार्म संख्या दो से टाटानगर की ओर जा रही मालगाड़ी को रोक दिया. कड़ी धूप में रेलवे ट्रैक पर उतरी महिलाएं रेल प्रशासन व आइओडब्ल्यू हाय-हाय व मुर्दाबाद के नारे लगा रही थी. मौके पर वार्ड पार्षद पांडी मुखी, रेलवे के सीवाइएम (ऑपरेशन) देवाशीष चंद्र, आरपीएफ ओपी प्रभारी ओपी गढ़वाल उपस्थित थे.

पटरी से हटने के बाद पार्षद श्री मुखी व अन्य लोगों के साथ चीफ यार्ड मास्टर कक्ष में एइएन-टू श्री हेम्ब्रम की आरपीएफ एएसएसी श्रवण कुमार चौधरी, आइओडब्ल्यू अशोक कुमार से वार्ता हुई. वार्ता में तय किया गया कि जुस्को के टैंकर से पानी रेलवे के फिल्टर प्लांट स्थित संप में डाला जायेगा और टंकी के माध्यम से कॉलोनी में जलापूर्ति की जायेगी. इसके अलावा शीघ्र ही कॉलोनी में दो डीप बोरिंग कराया जायेगा. रेलवे अधिकारियों ने जुस्को से वार्ता कर रेलवे कॉलोनी में बिजली की तरह जुस्को से जलापूर्ति की व्यवस्था कराने की भी बात कही.
आइओडब्ल्यू अॉफिस में प्रदर्शन

रेलकर्मी परिवार व बस्ती के लोग वर्षों से गरमी में पानी किल्लत से परेशान होकर सुबह नौ बजे बर्तन लेकर रेलवे के आइओडब्ल्यू कार्यालय पहुंचे व प्रदर्शन कर नारेबाजी की. कार्यालय में अधिकारी को नहीं पाकर सभी आदित्यपुर स्टेशन पर आकर ट्रैक जाम कर दिया.
सड़क मार्ग से पहुंचे एइएन

ट्रैक जाम होने की सूचना मिलते ही 10.35 बजे सड़क मार्ग से एइएन टू एन हेम्ब्रम मौके पर पहुंचे एवं लोगों को समझाया. उन्होंने कहा कि कल ही योगदान किया है. उन्हें जानकारी मिली थी कि यहां पानी की समस्या है. उनके समझाने पर लाइन को खाली कर दिया गया.
रुकी रही ट्रेनें
हावड़ा-बड़बिल जनशताब्दी टाटानगर में
साउथ बिहार गम्हरिया स्टेशन पर
रांची-हावड़ा इंटरसिटी कांड्रा के पास
राजधानी एक्सप्रेस गम्हरिया के पास
बड़काखाना-टाटा पैसेंजर्स आदित्यपुर में
गीतांजलि एक्सप्रेस सीनी के समीप
अप इस्पात एक्सप्रेस टाटानगर में
अहमदाबाद-हावड़ा एक्सप्रेस सीनी में
मिला आश्वासन, हुआ निर्णय
रेलवे जुस्को से बिजली की तरह पानी लेकर करेगा आपूर्ति, शीघ्र होगी वार्ता
फिलहाल जुस्को से टैंकर से पानी लेकर संप में डाला जायेगा व घरों में होगी जलापूर्ति
रेलवे कॉलोनी में पेयजल के लिए शीघ्र दो डीप बोरिंग करायी जायेगी

  
168 views
Today (16:15)
दिव्यांशु गुप्ता^~   33407 blog posts   26145 correct pred (77% accurate)
Re# 2254444-1            Tags   Past Edits
ye vhi adityapur h na jaha ucil ka plant h

  
157 views
Today (16:18)
TPTY JAT Humsafar Express Soon😊^~   3613 blog posts   15238 correct pred (79% accurate)
Re# 2254444-2            Tags   Past Edits
Haan Adityapur - Kadma Ke Beech Hai.

  
145 views
Today (16:26)
दिव्यांशु गुप्ता^~   33407 blog posts   26145 correct pred (77% accurate)
Re# 2254444-3            Tags   Past Edits
mai is UCIL me aaya hu
under mining m=jaha hoti h vha b gaya hu
mst jagah h

  
115 views
Today (16:41)
TPTY JAT Humsafar Express Soon😊^~   3613 blog posts   15238 correct pred (79% accurate)
Re# 2254444-4            Tags   Past Edits
Kharkai Link Road Par Hai.
Page#    283666 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site