Full Site Search  
Wed Jan 18, 2017 21:32:32 IST
Advanced Search
×
News Super Search
News Entry#:
Search Phrase:

Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Trains in the News    Stations in the News   
Page#    18818 news entries  <<prev  next>>
  
Jan 15 2017 (11:51)  पलटने से बची इटावा पैसेंजर (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/Disruptions

News Entry# 291279     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: 🚉🚉गोरखपुर विद्युत लोको शेड🚎🚎~  45 news posts
पलटने से बची इटावा पैसेंजर
जेएनएन, आगरा: इटावा से आगरा आ रही पैसेंजर ट्रेन ने शनिवार दोपहर मानव रहित फाटक पर ट्रक के परखच्चे उड़ा दिए। जोरदार टक्कर के बाद ट्रक कलाबाजी खाते हुए खाई में जा गिर। जोर का झटका लगने से ट्रेन यात्री एक-दूसरे के ऊपर गिर गए। अनहोनी की आशंका से दहशत फैल गई। इस हादसे में घायल तीन यात्रियों को एसएन में भर्ती कराया गया है। ट्रक ड्राइवर और क्लीनर सकुशल बच गए और दोनों घटनास्थल से फरार हो गए। 1घटना शनिवार दोपहर की है। पैसेंजर ट्रेन (संख्या 71910 ) इटावा से आगरा आ रही थी। दोपहर 12:35 बजे इरादतनगर के सिंगेचा नहर स्थित मानवरहित फाटक संख्या एक पर गांव बाद की ओर से ट्रक (मिक्सर) क्रॉसिंग पार
...
more...
कर रहा था। ट्रेन पूरी रफ्तार में थी। क्रॉसिंग पर ट्रक देख ट्रेन ड्राइवर ने ब्रेक लगाकर पैसेंजर को रोकने का प्रयास किया, फिर भी ट्रेन ट्रक के पिछले हिस्से से टकराने के बाद 50 मीटर दूर जाकर रुक गई। इंजन के बाद तीसरी बोगी में बैठे चन्द्रकांत निवासी गढ़ी उदयराज, फतेहाबाद गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें एसएन अस्पताल भेजा गया। ट्रेन ड्राइवर योगेश मीणा की आंख के पास मामूली चोट आई, जबकि गार्ड आरएल मीणा सुरक्षित हैं।1 पीआरओ नीरज भटनागर ने बताया कि घायल यात्री को रेलवे द्वारा 25 हजार रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी।जेएनएन, आगरा: इटावा से आगरा आ रही पैसेंजर ट्रेन ने शनिवार दोपहर मानव रहित फाटक पर ट्रक के परखच्चे उड़ा दिए। जोरदार टक्कर के बाद ट्रक कलाबाजी खाते हुए खाई में जा गिर। जोर का झटका लगने से ट्रेन यात्री एक-दूसरे के ऊपर गिर गए। अनहोनी की आशंका से दहशत फैल गई। इस हादसे में घायल तीन यात्रियों को एसएन में भर्ती कराया गया है। ट्रक ड्राइवर और क्लीनर सकुशल बच गए और दोनों घटनास्थल से फरार हो गए। 1घटना शनिवार दोपहर की है। पैसेंजर ट्रेन (संख्या 71910 ) इटावा से आगरा आ रही थी। दोपहर 12:35 बजे इरादतनगर के सिंगेचा नहर स्थित मानवरहित फाटक संख्या एक पर गांव बाद की ओर से ट्रक (मिक्सर) क्रॉसिंग पार कर रहा था। ट्रेन पूरी रफ्तार में थी। क्रॉसिंग पर ट्रक देख ट्रेन ड्राइवर ने ब्रेक लगाकर पैसेंजर को रोकने का प्रयास किया, फिर भी ट्रेन ट्रक के पिछले हिस्से से टकराने के बाद 50 मीटर दूर जाकर रुक गई। इंजन के बाद तीसरी बोगी में बैठे चन्द्रकांत निवासी गढ़ी उदयराज, फतेहाबाद गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें एसएन अस्पताल भेजा गया। ट्रेन ड्राइवर योगेश मीणा की आंख के पास मामूली चोट आई, जबकि गार्ड आरएल मीणा सुरक्षित हैं।1 पीआरओ नीरज भटनागर ने बताया कि घायल यात्री को रेलवे द्वारा 25 हजार रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी।
  
Jan 14 2017 (20:46)  कानपुर में रेल हादसों से नाराज रेलमंत्री ने अपनाए सख्त तेवर, दिए ये निर्देश (www.amarujala.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291263   Blog Entry# 2127536     
   Tags   Past Edits
Jan 14 2017 (20:46)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Jan 14 2017 (20:46)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~  4742 news posts
कानपुर के पास पुखरायां में इंदौर-पटना एक्सप्रेस, रूरा में अजमेर सियालदाह एक्सप्रेस और कानपुर-लखनऊ सेक्शन में मालगाड़ी की बोगियां पटरी से उतर गईं। एक महीने में तीन बड़े डिरेलमेंट होने के बाद रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने सख्त तेवर अपनाए हैं। रेलमंत्री के निर्देश पर चेयरमैन रेलवे बोर्ड सहित सभी सदस्य शनिवार से कानपुर के दो दिवसीय दौरे पर पहुंच रहे हैं। जो कई पहलुओं पर विचार-विमर्श करेंगे।
20 दिसम्बर को पुखरायां में इंदौर पटना एक्सप्रेस(19321) की बोगियां पटरी से उतर गई थीं, जिसमें करीब डेढ़ सौ लोगों की मौत हो गई थी। वहीं हफ्तेभर बाद 28 दिसम्बर रूरा में अजमेर सियालदाह एक्सप्रेस डिरेल हो गई थी और गत गुरुवार को कानपुर से लखनऊ आते वक्त मालगाड़ी की आठ बोगियां बेपटरी हो गईं।
...
more...
लगातार हो रहे डिरेलमेंट से रेलमंत्री सुरेश प्रभु की चिंता बढ़ गई। जिसकेबाद शुक्रवार को रेलवे बोर्ड सदस्यों के साथ उन्होंने बैठक की और कानपुर में शिविर लगाने के निर्देश दिए। शनिवार को रेलवे बोर्ड चेयरमैन एके मित्तल, मेम्बर रोलिंग स्टॉक रवींद्र गुप्ता, मेम्बर इंजीनियरिंग आदित्य मित्तल, एडवाइजर सेफ्टी विनोद कुमार, डीजी सिग्नल एण्ड टेलीकम्युनिकेशन अखिल अग्रवाल, आईजी आरपीएफ वगैरह कानपुर पहुंचेंगे। जहां रेल हादसों, ट्रैक, सिग्नल, सुरक्षा सहित अन्य मुद्दों पर जांच-पड़ताल कर रिपोर्ट तैयार करेंगे।

  
1252 views
Jan 15 2017 (05:58)
12952 नई दिल्ली मुंबई राजधानी ➡द किंग~   5133 blog posts   275 correct pred (75% accurate)
Re# 2127536-1            Tags   Past Edits
Abhi itni late mantry ji ke tevar sakht hue h.
  
Jan 14 2017 (20:45)  जर्जर ट्रैक व ओवरलोडिंग बनी कारण (www.amarujala.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 291262     
   Tags   Past Edits
Jan 14 2017 (20:45)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~  4742 news posts
गंगाघाट रेलवे स्टेशन से मात्र दो किमी की दूरी पर छमकनाली के पास कानपुर-लखनऊ रेलमार्ग के डाउन ट्रैक पर गुरुवार शाम मालगाड़ी डिरेल होकर पलट गई थी। शुरुआती जांच में तो इसका कारण खुलकर सामने नहीं आ सका लेकिन घटना के 24 घंटे बीतते ही धीरे-धीरे स्थिति साफ होने लगी। विभागीय सूत्रों की मानें तो जो जो मालगाड़ी डिरेल हुई थी उसमें 52 बोगियां जुड़ी हुई थीं। इसमें अधिकतर में खाद्य सामग्री लदी थी और कुछ में टाइल्स की पेटियां थीं। जिनका वजन ट्रैक की क्षमता से काफी अधिक था। अफसरों की मानें तो डाउन ट्रैक इस वजन को झेल नहीं सका और जैसे ही टाइल्स वाली बोगी कमजोर ट्रैक पर पड़ी वह टूट गया। ट्रैक के टूटते ही एक के बाद एक बोगियां डिरेल होने लगीं और देखते ही देखते 10 बोगियां पलट र्गइं। हादसे के तुरंत बाद अंधेरा होने से इसका सही कारण स्पष्ट नहीं हो सका लेकिन शुक्रवार...
more...
को सुबह शुरू हुए मरम्मतीकरण कार्य के गति पकड़ते ही स्थिति साफ होती गई।
अफसरोें का इंकार भी नहीं और स्वीकार भी नहीं
लखनऊ मंडल के डिविजनल रेलवे मैनेजर एके लाहोटी ने ट्रेन के डिरेल होने का कारण स्पष्ट न करते हुए कहा कि जांच चल रही है जल्द ही कारण पता चल जाएगा। उन्होंने ट्रेन में ओवरलोडिंग होने की बात से इंकार नहीं करते हुए कहा कि हो सकता है कि ट्रैक कहीं पर कमजोर रहा हो और अधिक लोड पड़ने पर इसमें फ्रैक्चर आ गया हो। बोले, जो भी होगा जांच में सामने आ जाएगा।
ओएचई हुई क्लियर, ट्रैक से हटे मालगाड़ी के डिब्बे
डाउन लाइन पर ट्रेन के पलटते समय बुरी तरह से खिंच गई ओएचई लाइन की मरम्मत का काम पूरा कर लिया गया। इसकी चेकिंग के बाद अधिकारियों ने इसे ओके कर दिया। वहीं ट्रैक पर पलटे मालगाड़ी के वैगनों को भी ट्रैक से हटाने का काम पूरा कर लिया गया। विभागीय अधिकारी/कर्मचारी अब टूटे ट्रैक को दुरुस्त करने में लगे हैं।
चार एक्सप्रेस ट्रेनें हुई कैंसिल
कानपुर से उन्नाव के बीच डाउन लाइन बाधित होने से झांसी इंटरसिटी एक्सप्रेस, प्रतापगढ़ इंटरसिटी एक्सप्रेस, टाटा छपरा एक्सप्रेस, गोमती एक्सप्रेस को रद्द कर दिया गया। अप लाइन की ट्रेन राप्ती सागर को करीब डेढ़ घंटे तक उन्नाव जंक्शन पर रोकने के बाद कानपुर की ओर रवाना किया गया। वहीं लखनऊ-कानपुर मेमू संख्या 64209 को लखनऊ से उन्नाव के बीच चलाया गया।
यात्रियों की बढ़ी परेशानी, ठिठुरते बीती रात
ट्रेनों के अनिश्चितकाल के लिए लेट होने और कई के रद्द होने से रेल यात्रियों की मुसीबत बढ़ती जा रही है। पहले से ही रद्द चल रही कई एक्सप्रेस व पैसेंजर ट्रेनों के बाद गुरुवार के हुए ट्रेन हादसे ने ट्रेनों की स्थिति और भी बदतर कर दी है। गुरुवार शाम को आने वाली ट्रेनें शुक्रवार शाम तक भी नहीं पहुंच सकीं। इससे दर्जनों रेल यात्री परिवार सहित स्टेशन पर ही रात गुजारने को मजबूर रहे। वहीं बड़ी संख्या में यात्री अन्य साधनों से अपने गंतव्य को रवाना हुए।
  
Jan 13 2017 (16:03)  अचानक मालगाड़ी के निकले चार पहिए, बेपटरी हुए ट्रेन दो डिब्बे (www.bhaskar.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsECR/East Central  -  

News Entry# 291208   Blog Entry# 2125793     
   Tags   Past Edits
Jan 13 2017 (16:03)
Station Tag: Ara Junction/ARA added by जय हो ™^~/718732

Posted by: जय हो ™^~  2051 news posts
आरा।दानापुर रेलवे मंडल के आरा रेलवे स्टेशन के पूर्वी गुमटी लख के समीप गुरुवार की शाम डाउन लाइन पर एक मालगाड़ी ट्रेन के दो डिब्बे के चार पहिए निकल गए। इसके चलते हावड़ा-दिल्ली मेन लाइन पर अप व डाउन में ट्रेनों का परिचालन अवरुद्ध हो गया। करीब दस से अधिक महत्वपूर्ण ट्रेनें जहां-तहां खड़ी हो गईं। रोक दी गईं सभी ट्रेनें...
- डाउन में सिकंदराबाद-पटना एक्सप्रेस ट्रेन को आरा रेलवे स्टेशन के पास ही रोक दिया गया।
- रात करीब नौ बजे बजे तक दानापुर से तकनीकी टीम को बुलाकर आवागमन बहाल कराने
...
more...
का प्रयास किया जा रहा था। पटरी भी क्षतिग्रस्त हुई है।
- बताया जा रहा कि एक मालगाड़ी खाद लेकर आरा माल गोदाम में आई थी। खाद को मालगोदाम में उतारकर मालगाड़ी ट्रेन हावड़ा की तरफ खाली जा रही थी।
- इस बीच शाम करीब 6.50 बजे बहीरो लख व जमीरा स्टेशन के बीच इंजन से चौथे व अंतिम डिब्बे के चक्के बाहर निकल गए और डिब्बे बेपटरी हो गयी। परिचालन ठप हो गया।
बक्सर से दानापुर के बीच रोक दी गईं सभी ट्रेनें
- डाउन में सिकंदराबाद-पटना एक्सप्रेस को आरा रेलवे स्टेशन, पंजाब मेल को मुगलसराय, फरक्का को डुमरांव,विभूति एक्सप्रेस को बरूणा, नार्थ ईस्ट को बक्सर, गरीब रथ को बनाही में रोकना पड़ा।
- अप में मगध एक्सप्रेस को दानापुर, गरीब रथ व आनंदबिहार ट्रेन को नेउरा कपास रोका गया।
- स्टेशन प्रबंधक ने बताया कि अप में रात 9:30 बजे तक ट्रेनों का परिचान शुरू होने की उम्मीद है। जबकि डाउन में विलंब होगा।
रेलवे पटरी को भी दुरुस्त करने में लगी रही तकनीकी टीम
- पूर्वी रेलवे गुमटी- बहीरो लख के पास जहां मालगाड़ी के बोगी का चक्का बाहर निकला है वहां पर तकनिकी अधिकारी रेलवे पटरी को भी दुरुस्त करने में लगे हुए हैं।
- रेलवे पटरी में भी खराबी आने की बात बतायी जा रही है। बेपटरी बोगी को उठाने के लिए क्रेन मंगाया जा रहा है।

  
1712 views
Jan 13 2017 (16:03)
जय हो ™^~   11317 blog posts   107442 correct pred (74% accurate)
Re# 2125793-1            Tags   Past Edits
derailment ke baad ab apne aap wheels nikal ja rahe hai _/\_ IR ki jai ho

  
1706 views
Jan 13 2017 (16:07)
Indian Railways the life line of our Nation   10113 blog posts   132 correct pred (84% accurate)
Re# 2125793-2            Tags   Past Edits
Keep it up

  
1562 views
Jan 13 2017 (17:04)
Rahul K😎🚂   1770 blog posts   2038 correct pred (76% accurate)
Re# 2125793-3            Tags   Past Edits
"डाउन में नार्थ ईस्ट को बक्सर में रोकना पड़ा।"
Bhaiya NE last 1 mahine se band hai.. Bhaskar ke correspondent ne NE ko chalwa diya kal..
  
Jan 13 2017 (12:31)  Snags ail Blue Line, DMRC says sorry (www.thehindu.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsDMRC/Delhi Metro  -  

News Entry# 291183     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb*^  124780 news posts
Metro attributes delays to safety mechanism that is in place to ensure that passengers remain safe in case of a glitch
Technical snags hit Delhi Metro’s Blue Line on Thursday, making it the second consecutive day and the third time in the last 10 days when commuters were left stranded.
The Delhi Metro Rail Corporation (DMRC), meanwhile, apologised to commuters for the regular disruptions on the Blue Line, which has become infamous for delays.
A
...
more...
glitch in the signalling system led to disruption in operations on the Dwarka to Vaishali and Noida corridor. Train operations are centrally managed from DMRC’s Operation Control Centre (OCC), which witnessed a blackout due to a power failure around 11.30 a.m. on Thursday. With its screens going blank, operations had to be managed manually at the station level, which led to delays and bunching of trains.
Passengers see red
With all trains from Noida and Vaishali till Rajiv Chowk running late, officials made constant announcements about the delay. “I am getting tired of this. I had to wait 15 minutes at the Vaishali metro station and then it took me another 25 minutes to reach Anand Vihar. This is becoming a regular schedule of the DMRC,” said Nandita Saxena, a resident of Vaishali.
Weekday woes
Thursday being a weekday added to the woes of those travelling to work. “They should ensure that they run this system right. They know that most Delhi commuters depend on them. This is a weekday, it is going to be a huge loss for everyone,” said Radhika Ram Manohar, a resident of Ghaziabad.
While many people chose to wait, some decided to book a cab. Thanks to the delayed trains, cab fares saw a surge, which added to commuters’ problems. I usually spend ₹60 on a cab, but today I will have to spend extra to reach office. The delay has led to shortage of cabs. I will miss an important meeting,” said Harinder Kumar, a daily commuter from Indirapuram.
Apologising to commuters, DMRC spokesperson Anuj Dayal said that the delays were a result of the safety mechanism that is in place to ensure that passengers remain unharmed.
‘No comprise on safety’
“We have a signalling-based system where safety is ensured,” Mr. Dayal said. He said that the OCC stopped receiving signals on Thursday morning due to which ‘train IDs’ were not available. This made it difficult to identify their location. Trains were then driven at a cautionary speed, leading to delays on the 57-km-long corridor.
“We divided the corridor into 17 sections, which are interlocking stations where reversal of trains is possible. Local control was allowed at these 17 stations. When a train arrived at these stations, the ID was exchanged with the local station control, which then authorised it to go ahead,” he said.
“Trains were delayed, but we don’t want to compromise on safety,” he said.
  
Jan 13 2017 (11:58)  उन्नाव में मालगाड़ी के टुकड़े-टुकड़े हो गए (www.amarujala.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 291171     
   Tags   Past Edits
Jan 13 2017 (11:58)
Station Tag: Unnao Junction/ON added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~  4742 news posts
गुरुवार को उत्तर प्रदेश के उन्नाव में कानपुर से लखनऊ जा रही मालगाड़ी के 12 डिब्बे पटरी से उतर गए। शाम करीब साढ़े पांच बजे टाइल्स से भरी मालगाड़ी पटरी से उतरी और इसके डिब्बे इधर-उधर लुढ़क गए। मालगाड़ी के ड्राइवर और गार्ड मौके पर नहीं मिले। कुछ दिन पहले ही इस रूट के रेलवे ट्रैक की मरम्मत कराई गई थी।
  
खराब सामग्री की आपूर्ति है ट्रेन हादसों की वजह
जागरण संवाददाता, लखनऊ : कानपुर के पास हाल ही में हुए दो बड़े रेल हादसों ने रेलवे की छवि बिगाड़ी है। रेलवे प्रबंधन की लापरवाही के चलते ये हादसे हो रहे हैं। संरक्षा कोटि में रिक्त पड़े पदों को भरने में लापरवाही, पटरियों के मेंटीनेंस के लिए ब्लॉक न दिए जाने और रेलवे में खराब सामग्री की आपूर्ति इन हादसों की मुख्य वजह है। इसके बावजूद रेलवे निजीकरण की ओर कदम बढ़ा रहा है। यह बात ऑल इंडिया रेलवे मेंस फेडरेशन (एआइआरएफ) के केंद्रीय महामंत्री शिव गोपाल मिश्र ने डीआरएम ऑफिस में आयोजित युवा सम्मेलन में कही। 1केंद्रीय महामंत्री ने यह भी कहा कि रेलवे के करीब 5.6 लाख युवा कर्मचारियों की पुरानी
...
more...
पेंशन बहाल नहीं हो रही है। केंद्र सरकार की वादाखिलाफी के कारण एक बार फिर रेलकर्मी आंदोलन करेंगे। रेलकर्मियों को पिछले साल हड़ताल की नोटिस के बाद जो समय दिय गया था उसकी मियाद पूरी हो गई। न्यू पेंशन स्कीम के लिए बनी समिति की अवधि 31 जनवरी को समाप्त हो रही है, लेकिन वित्त मंत्रलय के साथ एक बार भी बैठक नहीं हो सकी। एआइआरएफ की 15 और 16 जनवरी को नई दिल्ली में स्टैंडिंग कमेटी की बैठक होगी। अगले दिन 17 को ज्वाइंट काउंसिल की बैठक होगी। जिसमें आगामी आंदोलन और हड़ताल की दिशा तय कर इसकी नोटिस केंद्र सरकार को भेजी जाएगी। नार्दर्न रेलवे मेंस यूनियन के मंडल मंत्री आरके पांडेय, मनोज और घनश्याम पांडेय सहित पदाधिकारी और कर्मचारी मौजूद थे।खराब सामग्री की आपूर्ति है ट्रेन हादसों की वजह

  
1120 views
Jan 13 2017 (11:21)
For Better Managed Indian Railways~   1856 blog posts
Re# 2125534-1            Tags   Past Edits
Poor quality of spares, equipments and raw materials supplied to the govt. organisations is a big menace, and is one of the reasons for poor safety and productivity in the working of such organisations.
.
In most of the govt contracts the lowest bidder has to be given contract and a strong justification is required to give contract to bidder who quotes more price than the lowest bidder. Fearing any vigilance backlash, the officials many a times accept the lowest bidder who supply poor quality material which jeopardise the safety of Rly
...
more...
operation and cause a lot of losses through damage of track, rakes etc, loss of revenue due to cancellation of trains and loss of lives as well as compensation paid, etc.
.
Many reputed suppliers sometimes stay way from govt contracts due to this reason and the poor quality suppliers having huge margins do manipulation to secure such contracts. Result is loss of lives & property, many accidents, losses, bad organisational image etc.
  
Jan 13 2017 (11:06)  रास्ते में फंसे लखनऊ के यात्री गंगा पुल पर मालगाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने से कानपुर में ही निरस्त हुई गोमती (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 291157     
   Tags   Past Edits
Jan 13 2017 (11:06)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Jan 13 2017 (11:06)
Station Tag: Unnao Junction/ON added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~  4742 news posts
बेटिकट कर रहे थे सफर, भेजा जेल
मेंटेनेंस के लिए बढ़ाया 12 ट्रेनों का निरस्तीकरण
मालगाड़ी हादसे के बाद रेलवे ने देर शाम जारी किया आदेश
चेकिंग
Click here to enlarge image
जागरण
...
more...
संवाददाता, लखनऊ : गोमती एक्सप्रेस से लखनऊ आ रहे कई यात्री बीच रास्ते फंस गए। कानपुर के पास मगरवारा डाउन लाइन पर लखनऊ की ओर आ रही मालगाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने के कारण गोमती एक्सप्रेस को कानपुर में ही निरस्त कर दिया गया। यह ट्रेन शुक्रवार को कानपुर से ही नई दिल्ली रवाना होगी। वहीं एलटीटी लखनऊ भी कई घंटे फंसी रही। ओएचई लाइन में गड़बड़ी होने पर पुष्पक एक्सप्रेस को 45 मिनट देरी से रवाना किया जा सका। मालगाड़ी के दुर्घटनाग्रस्त होने का असर लखनऊ की ट्रेनों पर भी पड़ा। देर शाम तक रेलवे ने कई ट्रेनों को निरस्त कर दिया। जबकि कुछ ट्रेनों के रास्ते बदल दिए गए। शुक्रवार को प्रतापगढ़-कानपुर इंटरसिटी 64202- 64203 और 64206 कानपुर-लखनऊ मेमू ट्रेनें निरस्त रहेंगी। ट्रेन 64232 लखनऊ बाराबंकी और 64271 बाराबंकी-लखनऊ जंक्शन मेमू, 64253 और 64214 लखनऊ-कानपुर मेमू ट्रेनें भी निरस्त रहेंगी। 1हादसे के बाद कानपुर में पांच ट्रेनें निरस्त रहीं। इसमें कानपुर-प्रतापगढ़ इंटरसिटी के अलावा 64236, 64252, 64214 और 64216 कानपुर-लखनऊ मेमू ट्रेनें शामिल हैं। वहीं रेलवे ने 64211 लखनऊ-कानपुर मेमू को उन्नाव में जबकि 64214 कानपुर-लखनऊ मेमू को कानपुर से उन्नाव के बीच निरस्त कर दिया। 1इनका बदला गया मार्ग1गुरुवार को नई दिल्ली से रवाना हुई वैशाली एक्सप्रेस, कैफियत एक्सप्रेस और गोरखधाम एक्सप्रेस का संचालन मुरादाबाद-बरेली के रास्ते किया गया। ट्रेन 11124 ग्वालियर-बरौनी मेल, 12566 बिहार संपर्कक्रांति एक्सप्रेस और 19165 साबरमती एक्सप्रेस का संचालन कानपुर-इलाहाबाद होकर किया गया। 1रेलवे ने 15097 भागलपुर-जम्मूतवी अमरनाथ एक्सप्रेस को गुरुवार को निरस्त कर दिया। यह ट्रेन अब शुक्रवार को लखनऊ नहीं आएगी। इसके अलावा शुक्रवार को माल्दा टाउन जाने वाली फरक्का एक्सप्रेस भी निरस्त रहेगी।जागरण संवाददाता, लखनऊ : कोहरा कम होते ही निरस्त चल रही 12 ट्रेनों का संचालन शुरू करने की मंशा पर पानी फिर गया है। रेलवे ने कानपुर के पास मालगाड़ी हादसे के बाद इन ट्रेनों का निरस्तीकरण 15 जनवरी से बढ़ाकर 15 फरवरी तक कर दिया है। पटरियों और सिगनलिंग के मेंटेनेंस के लिए रेलवे फिलहाल इन ट्रेनों का संचालन नहीं करेगा। 1रेलवे ने 17 दिसंबर से 15 जनवरी तक जनता एक्सप्रेस, एसी डबल डेकर सहित 12 ट्रेनों को निरस्त कर दिया था। इन ट्रेनों का संचालन बहाल करने के लिए रेलवे ने कोहरे की मॉनीटरिंग करने का आदेश दिया था। संभावना जताई जा रही थी कि ट्रेनों का संचालन बहाल हो जाएगा। इस बीच गुरुवार शाम कानपुर के पास अहमदाबाद से न्यू गुवाहाटी जा रही मालगाड़ी बेपटरी हो गई। रेलवे ने हादसे के बाद इन ट्रेनों के निरस्तीकरण की अवधि को 15 फरवरी तक बढ़ा दी है। अब 14265/66 जनता एक्सप्रेस, 15909/10 अवध आसाम एक्सप्रेस, 15107/08 छपरा-मथुरा एक्सप्रेस, 15057/58 गोरखपुर आनंद विहार एक्सप्रेस, 12583/84 एसी डबल डेकर और 15025/26 मऊ-आनंद विहार एक्सप्रेस 15 फरवरी तक निरस्त रहेंगी।जागरण संवाददाता, लखनऊ : बिना टिकट ट्रेनों में सफर करना 20 पुलिसवालों को महंगा पड़ गया। तीन स्टेशनों पर रेलवे की के दौरान यह पुलिसवाले पकड़े गए। पहले तो स्टॉफ को वर्दीधारी पुलिसकर्मी अर्दब में लेने का प्रयास करते रहे, लेकिन जब बात न बनी तो फिर उनको रेलवे को जुर्माना देना ही पड़ा। देर शाम तक 250 बेटिकट यात्री पकड़े गए। नौ यात्रियों को जेल भेजा गया। 1मंडल वाणिज्य प्रबंधक अमिताभ कुमार के नेतृत्व में मल्हौर, अमौसी और उतरेटिया स्टेशनों पर एक साथ अभियान चलाया गया। वैशाली, गोरखधाम, फैजाबाद-कानपुर इंटरसिटी, सरयू यमुना, काठगोदाम, हिमगिरी और कानपुर प्रतापगढ़ मेमू सहित एक दर्जन से अधिक ट्रेनों में छापेमारी की। इस दौरान अमौसी से छह, उतरेटिया से सात और मल्हौर से सात पुलिसकर्मी बेटिकट सफर करते हुए मिले। देर शाम तक 250 बेटिकट यात्री पकड़े गए जिनसे 87 हजार रुपये जुर्माना वसूला गया। सहायक मंडल वाणिज्य प्रबंधक एसएस यादव के साथ टिकट और जीआरपी व आरपीएफ के जवान भी मौजूद रहे। दिसंबर माह में उत्तर रेलवे लखनऊ मंडल में 47061 बेटिकट यात्री पकड़े गए। जिनसे 2.40 करोड़ जुर्माना वसूला गया। जबकि वर्तमान वित्तीय वर्ष में अप्रैल 2016 से अब तक 4.20 लाख बेटिकट पकड़े गए। उनसे 20.92 करोड़ जुर्माना वसूला गया है।’ 20 पुलिसवालों सहित पकड़े गए 250 बेटिकट यात्री1’ रेलवे ने वसूला 87 हजार रुपये जुर्माना, नौ को भेजा जेल
  
Jan 13 2017 (11:04)  कानपुर के पास अब एक और रेल हादसा बढ़ी चिंता (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291156     
   Tags   Past Edits
Jan 13 2017 (11:04)
Station Tag: Unnao Junction/ON added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~  4742 news posts
Click here to enlarge image
जागरण संवाददाता, उन्नाव : कानपुर के पास गुरुवार को एक और रेल हादसा हो गया। कानपुर की ओर से लखनऊ जा रही मालगाड़ी के दस वैगन कानपुर सेंट्रल स्टेशन से महज 10 किमी दूर सरैया क्रासिंग और छमक नाली के बीच पलट गए। इससे डाउन लाइन की करीब पांच सौ मीटर तक पटरी उखड़ गई। ओएचई लाइन तहस-नहस हो गई। हादसे के बाद रूट पर चल रहीं सभी ट्रेनों को पास के स्टेशनों पर रोक दिया गया। लखनऊ के साथ कानपुर से भी रिलीफ ट्रेन पहुंचने के बाद मरम्मत कार्य शुरू कर दिया गया। हालांकि रात होने और विद्युत व्यवस्था न होने से परेशानी आ रही थी। डाउन लाइन पर टिके पलटे वैगन को हटाने का कार्य
...
more...
रात तक कराया गया। कानपुर के आस-पास ट्रेनों के बेपटरी होने की एक और बड़ी घटना से रेलवे की चिंताएं बढ़ गई हैं। घटना के पीछे रेल फ्रैक्चर की आशंका जताई जा रही है। 1रिफाइंड व अन्य खाद्य सामग्री लेकर 24 वैगन की मालगाड़ी कानपुर से लखनऊ की ओर जा रही थी। सरैया क्रासिंग को पार कर मालगाड़ी छमकनाली पुलिया के पास पहुंची थी कि बीच के दस वैगन पटरी से उतर गए। कंट्रोल रूम ने डाउन लाइन पर आ रही प्रतापगढ़ इंटरसिटी और दो एलकेएम ट्रेनों को कानपुर में ही रोक दिया जबकि अप लाइन पर आ रही ट्रेनों को पास के स्टेशनों पर रोक दिया गया।1करीब 500 मीटर में ओवर हेड इलेक्ट्रिक (ओएचई) क्षतिग्रस्त हो गई थी। टूटे तार को समेटने के साथ टावर वैगन की मदद से कार्य शुरू कराया गया। वहां मौजूद रेलवे कर्मचारियों ने बताया कि पटरी के उखड़ जाने से परेशानी है। करीब 24 घंटे के बाद ही रेल यातायात को पूरी तरह से बहाल किया जा सकेगा।लखनऊ कानपुर रेल मार्ग पर छमक नाली के निकट पलटे पड़े माल गाड़ी के डिब्बे’>>मालगाड़ी के दस डिब्बे पलटने से कानपुर-लखनऊ रूट ठप1’>>इंजन व गार्ड के केबिन के बीच के वैगन पटरी से उतरे
  
Jan 13 2017 (10:07)  Rail roko to protest against slum demolition in Mumbai's Dombivli (timesofindia.indiatimes.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsML/Mumbai Local  -  

News Entry# 291154   Blog Entry# 2125571     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb*^  124780 news posts
MUMBAI: Over 500 people living in slums near Dombivli railway station protested against demolition of illegal slums by staging a rail roko on Thursday afternoon distrupting rail services of Central Railway for five to ten minutes. Dombivli GRP on Thursday had informed the slum dwellers living near the railway track that a team was on its way to demolish their slums, the locals gathered at the railway tracks to protest against the decision. GRP officials said the crowd started protesting at 12.14 pm and after GRP and railway officials team convinced the people that no demolition will be carried out today that the locals called off their protest. The protest, which lasted around half-an-hour, delayed trains by five to 10 minutes and did not have much affect on the commuters.

  
674 views
Jan 13 2017 (11:56)
For Better Managed Indian Railways~   1856 blog posts
Re# 2125571-1            Tags   Past Edits
Honest, law abiding and tax paying citizens denied the due facilities from Govt in return, and land encroachers not paying any tax are pampered as vote banks, and are ruling the roost.
.
Encroachers get free slumland/house while most of honest taxpayersin big cities live in a rented house. The cost of the encroached land is often much more than the total assets of avg low income or middle class citizens who abide the law and does not encroach any vacant land.
.
...
more...

Slum dwellers get almost free/ highly subsidized electricity/ water etc from govt bodies. Where as others (the honest citizens) with hand to mouth existence, without any owned property and paying house rent to landlord pay full rate.
.
A fraction of slum dwellers cause law and order problems in the area with children engaging in stone pelting at commuters and grownups stealing/damaging Rly properties
.
Rly operations are badly affected, as severe speed restrictions are imposed due to slums extending perilously close to tracks, laying additional lines become impossible as the land adjacent to existing tracks gets encroached. Commuters does not get the facilities they rightfully deserve.
.
Encroaching a piece of land is a theft or crime. And person occupying an encroached land for long period like 10-15 years gets legal rights over the land. It is ridiculous and is just a way to giving political patronage to the law breakers who are considered as vote banks. Time cannot absolve one of sins/crimes committed in past. By the same logic, one should not be charged for murder if not caught within 10-15 years after committing a murder. A thief/ decoit should not be jailed and punished for theft/loot committed 10-15 years back. A person who have not paid a 1000/- Rs. as tax to Govt 10 years back, is made to pay tax with penal rate of interest when caught. Then why land encroachers are pampered and not even asked to vacate the land leave aside paying the penalty of illegally occupying a land for a long period?
.
Our Laws and its implementation are far from just, and any correction appears almost impossible today, on the contrary the situation is practically deteriorating day by day. We are fast heading for mobocracy where justice is losing its relevance. There are many incentives for the law breakers and hardly any motivation to law abiders.
Page#    18818 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site