Full Site Search  
Thu Mar 30, 2017 00:39:57 IST
Advanced Search
×
News Super Search
News Entry#:
Search Phrase:

Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Trains in the News    Stations in the News   
Page#    19125 news entries  <<prev  next>>
  
Mar 20 2017 (21:47)  दो साल बाद भी नहीं चेता रेलवे (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 296965     
   Tags   Past Edits
Mar 20 2017 (21:47)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Mar 20 2017 (21:47)
Train Tag: Varanasi - Dehradun Janta Express/14265 added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5262 news posts
जागरण संवाददाता, लखनऊ : जनता एक्सप्रेस का दर्दनाक हादसा हुए दो साल होने वाले हैं, लेकिन रेलवे आज तक अपनी उन गलतियों से सीख नहीं ले सका जिस कारण इस दुर्घटना में 38 से अधिक जान गई थी। रेल संरक्षा आयुक्त की सिफारिशों को रेलवे प्रशासन ने हादसे के दो साल बाद भी लागू नहीं किया। आज भी जनता एक्सप्रेस सहित कई ट्रेनों के यात्री खतरे के बीच सफर कर रहे हैं। 1बीती 20 मार्च 2015 को ट्रेन 14266 देहरादून-वाराणसी जनता एक्सप्रेस बछरावां स्टेशन के पास उस समय दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी, जब इसका ब्रेक फेल हो गया था। जांच में रेल संरक्षा आयुक्त ने पाया था कि जनता एक्सप्रेस के एंगल कॉक में छेड़छाड़ हुई थी। किसी ने एंगल कॉक को बंद कर दिया था जिस कारण ट्रेन के इंजन से लेकर इसकी बोगियों के बीच ब्रेक नहीं लग सका था। ब्रेक न लगने से बछरावां के प्लेटफार्म पर पहुंचने...
more...
के बावजूद ट्रेन की गति कम न हो सकी। वहीं आयुक्त ने एंगल कॉक को इंजन के सुरक्षित स्थान पर लगाने की सिफारिश की थी। जांच में यह भी पाया गया था कि जनता एक्सप्रेस के इंजन के बगल में यदि पार्सल बोगी होती तो इतने यात्रियों की जान नहीं जाती। इंजन के पीछे स्लीपर और जनरल बोगियों को न लगाने की
  
Mar 20 2017 (08:45)  Traffic disrupted as train halts for 45 min (www.tribuneindia.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 296884     
   Tags   Past Edits
Mar 20 2017 (08:45)
Train Tag: Kalka - Sai Nagar Shirdi SF Express/22456 added by karbang~/50057

Posted by: karbang~  144 news posts
The Shirdi-Kalka train remained halted at the Kalka-Pinjore railway crossing No 139 at 12.40 pm for more than 45 minutes due to a technical snag, which developed in the rail locomotive. This caused traffic hazard on both sides of the Pinjore-Shimla highway. Long queues of vehicles could be seen, which remained stranded in the traffic jam. The traffic resumed at around 1.40 pm.
  
Mar 20 2017 (08:20)  मालगाड़ी वैगन बेपटरी ट्रैक रहा बाधित, परेशानी (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsECR/East Central  -  

News Entry# 296881     
   Tags   Past Edits
Mar 20 2017 (08:20)
Station Tag: Anpara/ANPR added by दिल्ली में मोदी यूपी में योगी हिंदुत्व की जय हो🙏/1421836

Mar 20 2017 (08:20)
Station Tag: Shaktinagar (Terminal)/SKTN added by दिल्ली में मोदी यूपी में योगी हिंदुत्व की जय हो🙏/1421836

Posted by: Third Line Between ADTP GMH Very Soon😍😘  93 news posts
दुर्घटना
सीएचपी के पास ट्रैक पर बोल्डर गिर जाने से हुआ बेपटरी
Click here to enlarge image
जागरण संवाददाता, शक्तिनगर (सोनभद्र) : अनपरा परियोजना से कोयला लेने जा रही मालगाड़ी का एक वैगन एनसीएल खड़िया परियोजना सीएचपी के पास रविवार की सुबह ट्रैक पर अचानक बोल्डर गिर जाने से पटरी से उतर गया। वैगन के बेपटरी होने से ट्रैक घंटों बाधित रहा। लैंको परियोजना
...
more...
के कर्मी बोगी को पटरी पर लाने में जुटे हैं। 1एनसीएल खड़िया परियोजना के निर्माणाधीन दूसरी सीएचपी से कोयला परिवहन करने के लिए अनपरा लैंको परियोजना द्वारा अपना रेलवे ट्रैक बनाया जा रहा है। ट्रैक निर्माण के लिए खड़िया परियोजना सीएचपी के पास स्थित पहाड़ी तोड़ने का कार्य चल रहा है। रविवार की सुबह नौ बजे यूपीएसवी अनपरा की मालगाड़ी कोयला लोड करने के लिए सीएचपी खड़िया के पास पहुंचने वाली थी, तभी पहाड़ी के पास चल रहे निर्माण कार्य से एक बड़ा बोल्डर बारहवें वैगन के नीचे आ गया।1 इससे अनियंत्रित होकर वैगन पटरी से उतर गया। समाचार लिखे जाने तक लैंको परियोजना के अधिकारी वैगन को पटरी पर लाने में जुटे रहे। ट्रैक बाधित होने से परियोजना का कोयला परिवहन का कार्य बाधित रहा। एनसीएल खड़िया प्रबन्धन ने बताया कि ट्रैक बाधित होने से पूर्व बारह रैक कोयला का निस्तारण हो चुका था। ट्रैक बाधित होने का आंशिक प्रभाव रहा, जिसे ट्रैक सामान्य होते ही पूरा कर लिया जाएगा।खड़िया सीएचपी के निकट पटरी से उतरा वैगन ’ जागरण’>>एनसीएल खड़िया के सीएचपी के समीप हुआ हादसा 1’>>अनपरा परियोजना से कोयला लेने जा रही मालगाड़ी
  
Mar 20 2017 (07:09)  Chemical used in IED at rail track identified (www.thehindu.com)
back to top
Major Accidents/Disruptions

News Entry# 296875     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb*^  127239 news posts
A forensic report with the National Investigation Agency (NIA) has said that “arsenic sulphide,” was the primary material used in an Improvised Explosive Device (IED), which was found by the railway track at Ghorasan in Bihar on October 1 last year.
The chemical is mostly used in firecrackers and was used to make a pressure cooker bomb, which was detected and defused in Ghorasan, along the Nepal border.
Its discovery led to a series of arrests in Nepal and Bihar, pointing to a conspiracy hatched by Pakistan’s ISI to mobilise people to plant
...
more...
explosives at railway tracks.
Businessman questioned
Shamshul Hoda, a Nepalese businessman arrested by the Nepal police in a double murder case and who is alleged to be a prime suspect, has already been questioned by an NIA team. Hoda told investigators that he had met a person named Shafi Sheikh, a Pakistani, who asked him to hire men to create mayhem in India.
  
Mar 20 2017 (06:57)  Chemical used in IED at Ghorasan rail track identified (www.thehindu.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 296871     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: rdb*^  127239 news posts
A forensic report with the National Investigation Agency (NIA) has said that “arsenic sulphide” was the primary material used in an Improvised Explosive Device (IED), which was found by the rail track at Ghorasan in Bihar on October 1 last year.
The chemical is mostly used in firecrackers and was used to make a pressure cooker bomb, which was detected and defused in Ghorasan, along the Nepal border.
Its discovery led to a series of arrests in Nepal and Bihar, pointing to a conspiracy hatched by Pakistan’s ISI to mobilise people to plant
...
more...
explosives at railway tracks.
Businessman questioned
Shamshul Hoda, a Nepali businessman arrested by the Nepal police in a double murder case and who is alleged to be a prime suspect, has already been questioned by an NIA team. Hoda told investigators that he had met a person named Shafi Sheikh, a Pakistani, who asked him to hire men to create mayhem in India.While Hoda admitted to know about the conspiracy to plant explosives at Ghorasan and another one at Nakardehi in Bihar (a low intensity explosion which did not inflict any damage), he has told an NIA team that he was unaware of any such plan to target railway tracks near Kanpur on November 20, 2016 where more than 140 people were killed in a train derailment and at Kuneru in Andhra Pradesh where 40 people were killed in another derailment in January this year.One of the three accused arrested by Bihar Police in January had said that they had planted the bomb at Ghorasan at ISI’s instance and also at Kanpur, prompting home ministry to transfer the probe to NIA, after railway minister Suresh Prabhu shot off a letter to home minister Rajnath Singh alleging sabotage in at least six train accidents.
The NIA is yet to complete its investigations and the forensic report is awaited for Kanpur and Kuneru accidents, the investigating agency has now roped in a team of four professors at IIT Kanpur to ascertain if the derailments were caused by explosives.
U.P DGP Javeed Ahmed had earlier told The Hindu that the claims of the accused could not be corroborated and the preliminary investigations conducted by U.P police did not find any trace of explosive at the Kanpur railway tracks.
  
Mar 19 2017 (19:25)  धमाकों के बाद आगरा कैंट पर ट्रेन संचालन पर करीब आधे घंटे के लिए ब्रेक लग गया। (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 296854     
   Tags   Past Edits
Mar 19 2017 (19:25)
Station Tag: Agra Cantt./AGC added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5262 news posts
आगरा । प्रमुख संवाददाताधमाकों के बाद आगरा कैंट पर ट्रेन संचालन पर करीब आधे घंटे के लिए ब्रेक लग गया। आगरा-दिल्ली इंटरसिटी जाने के बाद हुए धमाकों के बाद हादसे को लेकर दिन भर गहमा-गहमी की स्थिति रही। न केवल कैंट बल्कि आगरा फोर्ट और राजामंडी स्टेशन पर भी यात्रियों और रेलवे स्टाफ के बीच यह धमाकों की चर्चा रही। सुबह दोनों ही धमाकों के बाद कैंट स्टेशन पर शताब्दी, छत्तीसगढ़, पंजाब मेल, निजामुद्दीन-एरनाकुलम एक्सप्रेस पहुंचीं। इन ट्रेनों का यात्रियों को भी स्टेशन परिसर पर मची गहमा-गहमी का अंदाजा हो गया था। पूछताछ की तो उन्हें भी धमाकों के बारे में पता चला। अधिकांश यात्री जल्दी ही स्टेशन परिसर से बाहर चले गए। वहीं, धमाकों के बाद जीआरपी ने स्टेशन परिसर और बाहर, आरपीएफ ने आगरा कैंट आने वाली ट्रेनों के अंदर चेकिंग अभियान चलाया। तमाम यात्रियों के बैग चेक किए गए। श्वान दल ने भी काफी देर तक स्टेशन परिसर...
more...
के अंदर चेकिंग की हालांकि इस दौरान कोई भी संदिग्ध वस्तु जवानों को नहीं मिली। पहुंची पैलेस ऑफ व्हील्स, गतिमानआगरा। रेलवे के दो प्रमुख गाड़ियां पैलेस ऑन व्हील्स और गतिमान एक्सप्रेस भी धमाकों के बाद कैंट स्टेशन पहुंचीं। गतिमान को प्लेटफॉर्म नंबर छह और पैलेस और व्हील्स को प्लेटफॉर्म नंबर चार पर खड़ा किया गया। पैलेस ऑन व्हील्स काफी देर तक स्टेशन पर खड़ी रही। कैंट स्टेशन पर रही अफरा-तफरीआगरा। कैंट स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर पांच के पास हुए दोनों धमाकों के बाद स्टेशन परिसर का माहौल अफरा-तफरी भरा रहा। सुबह यहां से गुजरने वाली ट्रेनों के यात्रियों ने ट्रैक किनारे इतनी भीड़ देखी तो परेशान हो गए। सवालों की झड़ी लग गई। रेलवे की ओर से जानकारी भी दी गई कि घबराने की जरूरत नहीं है, स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है। इससे लोगों ने राहत की सांस ली, फिर भी उनके चेहरों पर दहशत ही दिखाई दे रही थी।
  
Mar 19 2017 (19:24)  बरेली से आ रही ट्रेन स्टेशन से एक किलोमीटर पहले आधा घंटा खड़ी रही। नौगवां क्रासिंग और रामलीला क्रासिंग के बीच सिग्नल फेल होने से ट्रेन को रास्ते में ही रोकना पड़ा। (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNER/North Eastern  -  

News Entry# 296853     
   Tags   Past Edits
Mar 19 2017 (19:24)
Station Tag: Bareilly Junction/BE added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Mar 19 2017 (19:24)
Station Tag: Pilibhit Junction/PBE added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5262 news posts
पीलीभीत। हिन्दुस्तान संवादबरेली से आ रही ट्रेन स्टेशन से एक किलोमीटर पहले आधा घंटा खड़ी रही। नौगवां क्रासिंग और रामलीला क्रासिंग के बीच सिग्नल फेल होने से ट्रेन को रास्ते में ही रोकना पड़ा। ट्रेन खड़ी होने से दोनों क्रासिंग 45 मिनट तक बंद रहे। इससे लोगों को भारी परेशानी हुई।बरेली-पीलीभीत बड़ी रेल लाइन पर पिछले साल नवंबर से ट्रेनों का संचालन हो रहा है। संचालन के चार महीने बाद भी इस ट्रैक पर सिग्नल सिस्टम दुरस्त नहीं हो पाया है। शनिवार को एक बार फिर से नौगवां क्रासिंग और रामलीला क्रासिंग के बीच सिग्नल फेल हो गया। बरेली से दोपहर एक बजे स्टेशन पहुंचने वाली 55363 पैसेंजर ट्रेन निर्धारित समय पर यहां पहुंच रही थी। ट्रेन जैसे ही ईदगाह फाटक से आगे बढ़ी तो पायलट को नौगवां क्रासिंग से आगे वाला सिग्नल रेड मिला। इससे पायलट ने ट्रेन को नौगवां क्रासिगं पर ही रोक दिया। रामलीला फाटक के पास स्थित...
more...
सिग्नल फेल होने के साथ ही यह फाटक भी तकनीकि खराबी से बंद नहीं हो पाया। फाटक को बंद करने में गेट मैन कुछ देर जूझता रहा। बाद में किसी तरह फाटक तो बंद हो गया पर सिग्नल क्लीयर नहीं हो पाया। इससे ट्रेन आधे घंटे से अधिक समय तक रास्ते में ही खड़ी रही। बाद में स्टेशन मास्टर ने मैमो भिजवाकर ट्रेन को पायलट करवाया। दोपहर एक बजे स्टेशन पहुंचने वाली यह ट्रेन यहां 1.40 मिनट पर पहुंच सकी।
  
Mar 19 2017 (19:20)  रक्सौल से दिल्ली जाने वाली सत्याग्रह एक्सप्रेस शुक्रवार की शाम को गोण्डा से सही सलामत रवाना हुई (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNER/North Eastern  -  

News Entry# 296850     
   Tags   Past Edits
Mar 19 2017 (19:20)
Station Tag: Gonda Junction/GD added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Mar 19 2017 (19:20)
Train Tag: Satyagraha Express/15274 added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5262 news posts
रक्सौल से दिल्ली जाने वाली सत्याग्रह एक्सप्रेस शुक्रवार की शाम को गोण्डा से सही सलामत रवाना हुई थी लेकिन सीतापुर में हादसा हो गया। किसी को भी इसका अंदेशा नहीं रहा होगा कि ट्रेन आगे चलकर दुर्घटनाग्रस्त हो जायेगी।सिग्नलिंग में लापरवाही से ये हादसा हुआ है। घटना में कुछ लोगों के गंभीर रूप से घायल होने की भी सूचना है। गोण्डा स्टेशन पर शुक्रवार की शाम को सत्याग्रह एक्सप्रेस लगभग 6 बजकर 45 मिनट पर पहुंची और पांच मिनट रूककर 6.50 पर रवाना हो गई। देर रात सीतापुर स्टेशन के आउटर पर स्टेशन मास्टर की लापरवाही से ट्रेन के दो डिब्बे मालगाड़ी से टकरा गये। घटना की सूचना मिलते ही गोण्डा में लोग अपने लोगों की जानकारी के लिए स्टेशन पहुंचे। हालांकि गोण्डा से किसी के हताहत होने की खबर नहीं मिली है।
  
Mar 19 2017 (19:16)  रक्सौल से दिल्ली जाने वाली ट्रेन सीतापुर स्टेशन से कुछ दूर चलकर एक मालगाड़ी से टकरा गई (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNER/North Eastern  -  

News Entry# 296849     
   Tags   Past Edits
Mar 19 2017 (19:16)
Station Tag: Sitapur Cantt./SCC added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Mar 19 2017 (19:16)
Train Tag: Satyagraha Express/15274 added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5262 news posts
सीतापुर हिन्दुस्तान संवादरक्सौल से दिल्ली जाने वाली ट्रेन सीतापुर स्टेशन से कुछ दूर चलकर एक मालगाड़ी से टकरा गई। शुक्रवार रात करीब एक बजे हुए हादसे में पांच यात्री गंभीर रूप से घायल हो गए। घायलों को एम्बुलेंस की मदद से लखनऊ ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया है। एडीआरएम ने जांच टीम गठित की है।बताया जाता है कि एक मालगाड़ी आउटर के ‘पटरी क्रास’ पर खड़ी थी। मालगाड़ी के गार्ड कोच सहित दो डिब्बे मुख्य ट्रैक पर थे। तभी स्टेशन मास्टर ने रेलवे स्टेशन पर खड़ी सत्याग्रह एक्सप्रेस को ग्रीन सिग्नल दे दिया। ट्रेन संख्या 15273 अप के आउटर के पास पहुंचते ही उसका दूसरा डिब्बा मालगाड़ी के गार्ड कोच से टकरा गया। उस समय कई यात्री कोच के दरवाजों के पास खड़े थे। बोगी में झटका लगने से वे घायल हो गए। घायलों की पहचान बिहार के पश्चिम चम्पारण के गौनहा स्थित माधवपुर बैरिया निवासी इरशाद मिर्जा, बाराबंकी के...
more...
रामनगर थाना क्षेत्र केसरीपुर निवासी विजय तिवारी, बलरामपुर के ललिया थाना स्थित घनघटा निवासी तेजराम मौर्या, सीतापुर के सदरपुर के भलवई निवासी अमरेश कुमार और खैराबाद के उनसिया निवासी हरिनाम के रूप में हुई है। उधर हादसे की सूचना मिलते ही आरपीएफ व जीआरपी ने पहुंचकर राहत कार्य शुरू कराया। भोर होते ही लखनऊ से आला-अफसर सीतापुर पहुंच गए। यात्री ट्रेन को सिग्नल देने में लापरवाही बरते जाने की जांच चल रही है।डेढ़ घंटे विलम्ब से चली ट्रेन: हादसे के बाद रक्सौल से दिल्ली जाने वाली सत्याग्रह एक्सप्रेस डेढ़ घंटे तक सीतापुर स्टेशन के आउटर के ही करीब खड़ी रही। इस दौरान ट्रैक को दुरुस्त किया गया। इसमें क्रेन की भी मदद ली गई। ट्रैक साफ होने पर मालगाड़ी गोरखपुर के लिए, और यात्री ट्रेन दिल्ली के लिए रवाना की गई।इनसेटप्राथमिक उपचार में दरोगा बने मददगारहादसे के बाद ट्रेन के सभी यात्री दहशत में आ गए। इसी बीच एम्बुलेंस लेकर जीआरपी प्रभारी थानाध्यक्ष रवींद्र कुमार पांडेय घटनास्थल पर पहुंचे। थानाध्यक्ष ने एम्बुलेंस में मौजूद फस्र्ट-एड बॉक्स से मरहम-पट्टी निकाल कर खुद ही कई यात्रियों की कटी उंगलियों व पैरों पर पट्टी बांध दी, ताकि बहते खून को रोका जा सके। इसके बाद यात्रियों ट्रामा सेंटर लखनऊ भेजा गया।
  
Mar 18 2017 (21:27)  रेल हादसों में 6 महीने में 197 लोगों की मौत जबकि 330 लोग घायल हुए। (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 296780   Blog Entry# 2207092     
   Tags   Past Edits
Mar 18 2017 (21:27)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Mar 18 2017 (21:27)
Station Tag: Lucknow Charbagh NR/LKO added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5262 news posts
नई दिल्ली। बीते छह माह के दौरान रेल दुर्घटनाओं के कारण देश में 197 लोगों की जान गई जबकि 330 लोग घायल हुए। रेल राज्य मंत्री राजेन गोहांई ने शुक्रवार को राज्यसभा में एक प्रश्न के लिखित जवाब में यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पिछले छह महीने में मृतकों के परिजनों या घायलों को अनुग्रह राशि के रूप में 8.56 करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है। इसके अलावा प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत निधि से भी 1.19 करोड़ रुपये की राशि का भुगतान किया गया है। हालांकि उन्होंने बताया कि किसी तरह की क्षतिपूर्ति का भुगतान नहीं किया गया है। साथ ही शवों की पहचान न होने या मामलों के प्रक्रियाधीन होने या फिर व्यक्तियों का पता न लगने के कारण अनुग्रह राशि के भुगतान के कुल 38 मामले लंबित हैं। एक सितंबर, 2016 से 28 फरवरी, 2017 के बीच हुई दुर्घटनाओं के मामले में से दो की रेल संरक्षा आयुक्त...
more...
से शुरुआती रिपोर्ट मिल गई है।

  
365 views
Mar 23 2017 (00:37)
Jat Express   3 blog posts
Re# 2207092-1            Tags   Past Edits
Sabse bekar accident toh Indore patna vala tha.
Page#    19125 news entries  <<prev  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site