Full Site Search  
Fri Jun 23, 2017 03:56:13 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search

BRMO/Bermo (2 PFs)
     बेरमो

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 10
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Bermo, Bermo Railway Station
State: Jharkhand
Elevation: 210 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Dhanbad
No Recent News for BRMO/Bermo
Nearby Stations in the News

Rating: 2.0/5 (8 votes)
cleanliness - good (1)
porters/escalators - poor (1)
food - poor (1)
transportation - average (1)
lodging - poor (1)
railfanning - average (1)
sightseeing - average (1)
safety - poor (1)

Nearby Stations

AMLO/Amlo 3 km     JAN/Jarangdih 3 km     PUS/Phusro 6 km     BKRO/Bokaro Thermal 9 km     BHME/Bhandaridah 11 km     RJB/Rajabera 14 km     GMIA/Gumia 14 km     CRP/Chandrapura Junction 18 km     TKB/Tupkadih 19 km     DNH/Deonagar 20 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 2 of 2 News Items  
Jun 18 2017 (08:21)  पूवरेत्तर राज्यों में कोयला ढुलाई बाधित (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 305730     
   Tags   Past Edits
Jun 18 2017 (08:21)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by Today Is War Between 🇮🇳 🇵🇰^~/1421836

Jun 18 2017 (08:21)
Station Tag: Bermo/BRMO added by Today Is War Between 🇮🇳 🇵🇰^~/1421836

Posted by: वड़ोदरा वाराणसी महामना एक्सप्रेस का शुभारंभ कल से😊^~  837 news posts
डीसी रेलखंड के बंद होने पर मालगाड़ियों का रूट बदला, कोयला आयातकों पर अधिभार
समस्या
बेरमो में सीसीएल के तीन कोयला प्रक्षेत्रों से हल्दिया, दुर्गापुर, जमशेदपुर सहित देश के अन्य पावर प्लांटों में रेल रैक से होने वाली कोल ट्रांसपोर्टिग प्रभावित1
Click here to enlarge image
जागरण
...
more...
संवाददाता, बेरमो : धनबाद-चंद्रपुरा (डीसी) रेलखंड के बंद होने पर बेरमो में सीसीएल के तीन कोयला प्रक्षेत्रों से कोल ट्रांसपोर्टिंग प्रभावित हुई है। खासकर पूवरेत्तर राज्यों की कोयला ढुलाई प्रभावित हुई है। बेरमो के ढोरी, बीएंडके और कथारा प्रक्षेत्र की आधा दर्जन रेलवे साइ¨डग से रैक के माध्यम से हल्दिया, दुर्गापुर, जमशेदपुर सहित देश की अन्य जगहों के पावर प्लांटों को कोयला भेजा जाता है। संबंधित पावर प्लांट इकाई रेलवे से फ्रेट बुकिंग कर कोयले की आपूर्ति सुनिश्चित कराती है। हालांकि इस व्यवस्था में रेल किराया कोयला आवक कराने वाली इकाईयां ही वहन करती है। इससे सीसीएल को आर्थिक मोर्चे पर कोई बड़ा नुकसान नहीं है लेकिन परिवर्तित रूट के लिए अलग से किराया निर्धारित करने के रेल प्रशासन के अल्टीमेटम के बाद कोयला ट्रांसपोर्टिंग के प्रभावित होने का खतरा बढ़ गया है। 1तेजी से घट रही रैकों की संख्या : देश के पावर प्लांटों सहित स्टील फैक्ट्रियों में नन कोकिंग कोल की मांग बढ़ने के बाद यहां से कोयले की ट्रांसपोर्टिंग कम हो गई है। जानकारों का कहना है कि पूर्व में जहां एक साइ¨डग से औसतन दो से तीन रैक प्रति दिन खुलती थी वहीं अब इसकी संख्या हर दूसरे व तीसरे दिन महज एक या दो ही रहती है। एक रैक में आमूमन 59 बोगियां रहती है। इसमें औसतन 4000 टन कोयला ढोया जाता है। पश्चिम बंगाल सहित जमशेदपुर का किराया प्रति टन 40 से 50 रुपये निर्धारित है। देश के सुदूर स्थानों के लिए अधिकतम किराया 300 से 500 रुपये प्रति टन निर्धारित है। 1चंद्रपुरा से भाया बोकारो और तेलो रूट में आवाजाही तेज : रेलवे सूत्रों के अनुसार बेरमो कोयलांचल से खुलने वाली मालगाड़ियों की रूट अब चंद्रपुरा से डीसी लाइन के बजाए भाया तेलो और बोकारो रूट होकर परिवर्तित कर दी गई है। इससे गंतव्य की दूरी बढ़ गई है। 1 यही कारण है कि रेल प्रशासन दूरी के हिसाब से किराया में संशोधन कर रहा है। डीसी लाइन के बंद होने से तेलो और बोकारो रेल खंड अब नया फ्रेट कॉरिडोर बन सकता है। बेरमो से औसतन एक दर्जन रेल रैक प्रति दिन खुलती है। वैकल्पिक रूट में यात्री ट्रेनों की आवाजाही अधिक होने से मालगाड़ियों के लिए ग्रीन सिग्नल मुश्किल से ही मिलेगा। जाहिर है कि इससे समय की बर्बादी होगी ही, आयातकों को अतिरिक्त किराया के तौर पर अधिभार भी बढ़ेगा। फिलहाल बेरमा के तारमी, कल्याणी, ढोरी, अमलो, कारीपानी, करगली, जारंगडीह, कथारा आदि स्थानों की रेलवे साइ¨डग से रैक के माध्यम से सीसीएल का कोयला देश के कोने कोने में भेजा जाता है। डीसी लाइन बंद होने से कोल ट्रांसपोर्टिंग पर सीधा असर पड़ा है। 1कोयले लाने को करगली वाशरी में खड़ी रेलवे रैक ’ जागरणरेल रूट से कोल ट्रांसपोर्टिंग के मामले में सीसीएल की भूमिका काफी सीमित है। यह करार आयातक कंपनियां और रेलवे के बीच होता है। फ्रेट बुकिंग के माध्यम से रैक ढुलाई होती है। पावर प्लांटों में नन कोकिंग कोल की डिमांड होने से सीसीएल के कोयले की मांग घटी है। इस कारण पहले की तुलना में रेल रैक की संख्या भी काफी कम हो गई है। डीसी लाइन यहां के लिए फ्रेट कॉरिडोर थी। इसके बंद होने से कोल ट्रांसपोर्टिंग निश्चित रूप से प्रभावित हुई है।1राजमुनि राम, परियोजना पदाधिकारी, अमलो।
Oct 30 2013 (00:17)  कन्वेयर हटाने से रेल परिचालन बाधित (www.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsECR/East Central  -  

News Entry# 154552     
   Tags   Past Edits
Oct 30 2013 (6:43AM)
Station Tag: Bermo/BRMO added by moderator**/12

Oct 30 2013 (6:43AM)
Station Tag: Amlo/AMLO added by moderator**/12

Posted by: 4πu¶am*^~  4392 news posts
गोमो-बरकाकाना रेलखंड में अमलो हॉल्ट और बेरमो रेलवे स्टेशन के बीच करगली गेट पर लाइन के ऊपर से गुजरे सीसीएल करगली वाशरी के कन्वेयर को काटकर क्रेन से हटाने का काम दिनभर चला। इस कारण 53360 बरकाकाना-गोमो सवारी गाड़ी करीब छह घंटे विलंब से चली। हालांकि, रात वाली ट्रेनें समय पर चलीं। इस काम के लिए सीसीएल ने रेलवे को 13 लाख रुपये का भुगतान किया है।
बताया गया कि करगली गेट स्थित रेलवे क्रासिंग के समीप कन्वेयर कटिंग का काम मंगलवार सुबह 9 बजे से शुरू होने के कारण इस रेलमार्ग से ट्रेनों एवं मालगाड़ियों का आवागमन बाधित रहा। कन्वेयर को काटकर हटाने का काम रेल विभाग धनबाद के डीईई-टीआरडी ओमशंकर प्रसाद के नेतृत्व में शुरू किया गया। रेलवे के डीईई-टीआरडी
...
more...
ने बताया कि यहां स्थित इलेक्ट्रिक पोल को ऊंचा करना है, जिसमें यह कन्वेयर बाधक बन रहा था। इस काम में 140 मजदूर और आधा दर्जन रेलवे अधिकारी लगे हुए हैं।
काटे गए कन्वेयर के लोहे को हटाने के लिए समस्तीपुर एवं धनबाद रेल मंडल से क्रेन मंगाया गया है। इस काम में गोमो, चंद्रपुरा, गोमिया, बरकाकाना, फुसरो एवं धनबाद के रेलकर्मी लगे हुए हैं। इस कारण करगली गेट स्थित रेल फाटक बंद रहने से इस मार्ग से आने-जाने वाले लोगों को काफी परेशानी हुई। मौके पर चंद्रपुरा स्टेशन के इंजीनियर शंभु कुमार चंद्रा, धनबाद के एसईएम एस स्नेही आदि रेलवे अधिकारी सक्रिय रहे।
Page#    Showing 1 to 2 of 2 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.