Full Site Search  
Tue Jun 27, 2017 07:32:34 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Medium; Large Station Board;

BPHB/Bhilai Power House (3 PFs)
     भिलाई पावर हाउस

Track: Triple Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 58
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Garage Road, Sector 1, Bhilai
State: Chhattisgarh
Elevation: 311 m above sea level
Zone: SECR/South East Central
Division: Raipur
4 Travel Tips
No Recent News for BPHB/Bhilai Power House
Nearby Stations in the News

Rating: 4.7/5 (55 votes)
cleanliness - excellent (7)
porters/escalators - good (7)
food - excellent (7)
transportation - excellent (7)
lodging - excellent (6)
railfanning - excellent (7)
sightseeing - good (7)
safety - excellent (7)

Nearby Stations

BSPC/SAIL Bhilai 2 km     BQR/Bhilai Nagar 4 km     BIA/Bhilai 5 km     DBEC/Deobaloda Charoda 8 km     DURG/Durg Junction 9 km     KMI/Kumhari 15 km     RSM/Rasmara 17 km     MXA/Marauda 20 km     SRWN/Saraswatinagar 24 km     MUP/Murhipar 25 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 4 of 4 News Items  
May 27 2017 (15:57)  भिलाई में ब्लैक आउट, जहां की तहां रुकीं ट्रेनें (mnaidunia.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsSECR/South East Central  -  

News Entry# 303704   Blog Entry# 2295601     
   Tags   Past Edits
May 27 2017 (15:58)
Station Tag: Durg Junction/DURG added by Electric Loco Shed Soon at BSP~/713773

May 27 2017 (15:58)
Station Tag: Bhilwara/BHL added by Electric Loco Shed Soon at BSP~/713773

May 27 2017 (15:58)
Station Tag: Bhilwara/BHL added by Electric Loco Shed Soon at BSP~/713773

May 27 2017 (15:58)
Station Tag: Bhilai Power House/BPHB added by Electric Loco Shed Soon at BSP~/713773

May 27 2017 (15:58)
Station Tag: Bhilai Nagar/BQR added by Electric Loco Shed Soon at BSP~/713773

May 27 2017 (15:58)
Train Tag: Durg - Ambikapur Express/18241 added by Electric Loco Shed Soon at BSP~/713773

May 27 2017 (15:57)
Train Tag: Bhagat Ki Kothi (Jodhpur) - Bilaspur Express/18244 added by Electric Loco Shed Soon at BSP~/713773

Posted by: Electric Loco Shed Soon at BSP~  6 news posts
बिजली कंपनी के भिलाई-3 स्थित उच्च क्षमता के 220 केवी सब स्टेशन में गुरुवार रात 8ः28 बजे के करीब फाल्ट आ गया।
भिलाई। बिजली कंपनी के भिलाई-3 स्थित उच्च क्षमता के 220 केवी सब स्टेशन में गुरुवार रात 8ः28 बजे के करीब फाल्ट आ गया। इसके चलते इस सब स्टेशन से जुड़े भिलाई सेक्शन में रेलवे की लाइन, दुर्ग सहित 5 जिला धमतरी, बालोद, राजनांदगांव एवं पूरे बस्तर संभाग में बिजली गुल हो गई।
भिलाई में पांच ट्रेनें जहां की तहां खड़ी हो गई। इसमें तीन एक्सप्रेस ट्रेन शामिल हैं। करीब 15 मिनट
...
more...
बाद ही रेलवे ने अन्य जगह से लाइन लेकर इन ट्रेनों का रवाना किया। रात 10 बजे तक बिजली कंपनी ने अलग-अलग स्थानों से प्रभावित क्षेत्रों में बिजली की आपूर्ति बहाल करनी शुरू कर दी थी।
जानकारी के अनुसार बिजली कंपनी के 220 केवी क्षमता के सब स्टेशन में आज शाम करीब 8ः28 बजे के करीब अचानक फाल्ट आ गया। देखते ही देखते इस सब स्टेशन से जुड़े अन्य 132 केवी के सब स्टेशनों की सप्लाई बंद होती चली गई और इस सब स्टेशन का पूरा सिस्टम बैठ गया।
यहां ठप रही बिजली
बिजली कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक भिलाई-दुर्ग, रायपुर का सिलतरा एवं उरला औद्योगिक क्षेत्र, धमतरी, गुरूर, बालोद, राजनांदगांव समेत बस्तर संभाग के सातों जिले में बिजली आपूर्ति पूरी तरह ठप हो गई थी। सिलतरा एवं उरला क्षेत्र को रायपुर से लाइन देकर सप्लाई कुछ देर में ही शुरू कर दी गई।
वहीं भिलाई दुर्ग, धमतरी, गुरूर व राजनांदगांव, बालोद में रात 10 बजे तक अन्य फीडरों से बिजली आपूर्ति बहाल कर दी गई। इस दौरान बिजली कंपनी के ईडी भीमसिंह कंवर, एसीई एमके जामुलकर, अंसारी, आरके शुक्ला सहित रायपुर के अधिकारी भी पहुंच गए। देर रात तक फाल्ट की वजह स्पष्ट नहीं हो पाई थी।
घंटे भर प्रभावित रहा रेलवे
मुंबई हावड़ा रेल लाइन पर भिलाई सेक्शन में रेलवे का सब स्टेशन भिलाई-3 में है जो इसी 220 केवी सब स्टेशन से जुड़ा है। इससे रायपुर से लेकर दुर्ग सेक्शन तक ट्रेक्शन लाइन में बिजली सप्लाई होती है। इस सेक्शन में लाइन बंद होने से दुर्ग से रायपुर जा रही सारनाथ एक्सप्रेस भिलाई नगर के आउटर में खड़ी हो गई।
भगत की कोठी पावर हाउस स्टेशन एवं अंबिकापुर एक्सप्रेस भिलाई-3 सिरसा रेलवे कॉसिंग के पास खड़ी हो गई। इसके अलावा दो मालगाड़ी भी उरला एवं डबरापारा के पास खड़ी हो गई। रेलवे के बिजली विभाग द्वारा आनन फानन में रायपुर एवं राजनांदगांव फीडर से बिजली आपूर्ति रात 8.40 बजे शुरू की। तब यह ट्रेनें रवाना हुईं। परन्तु इसके चलते करीब घंटे भर ट्रेनों का शेड्यूल बिगड़ा रहा।

2532 views
May 27 2017 (17:36)
IR no more Safe^~   22542 blog posts   99050 correct pred (75% accurate)
Re# 2295601-1            Tags   Past Edits
sab trains late chal rhi hai.

2483 views
May 27 2017 (17:47)
Electric Loco Shed Soon at BSP~   1313 blog posts   1003 correct pred (75% accurate)
Re# 2295601-2            Tags   Past Edits
Nhi pta kya ho rha is sectoin me

2120 views
May 27 2017 (21:44)
दपूरे डब्ल्यु ए पी 7 टाटा~   2142 blog posts   126 correct pred (68% accurate)
Re# 2295601-3            Tags   Past Edits
last 2 days yahan daily sham ko khas kar DURG BHILAI RAIPUR me Thunderstorms hit kar rahe hain aaj bhi abhi Thunderstorm hit kiya even tez barish bhi hui thats why trains running late
Mar 03 2015 (02:08)  तीन प्लेटफार्म का छोटा सा स्टेशन हर महीने कमाता है 2 करोड़ (www.bhaskar.com)
back to top
Commentary/Human InterestSECR/South East Central  -  

News Entry# 215220     
   Tags   Past Edits
Mar 03 2015 (2:08AM)
Station Tag: Bhilai Power House/BPHB added by JAi hO/718732

Posted by: Jai Ho ™^~  2059 news posts
भिलाई। रेल मंत्री सुरेश प्रभु आज साल 2015-16 का रेल बजट प्रस्तुत कर रहे हैं। इस मौके पर हम आपको बता रहे हैं देश के एक ऐसे रेलवे स्टेशन के बारे में जिसमें केवल तीन प्लेटफॉर्म हैं और लेकिन वह कमाई के मामले में बड़े-बड़े स्टेशनों से बहुत आगे है। हम बात कर रहे हैं भिलाई स्थित पावर हाउस स्टेशन की। 1 नवंबर 1956 को अस्तित्व में आया यह स्टेशन हर महीन दो करोड़ कमाता है,
इस स्टेशन में लम्बी दूरी की कई ट्रेनों का स्टॉपेज है, जिस कारण यहां से रोजाना सैकडों लोग रिजर्वेशन करवाते हैं। इस कारण छोटा स्टेशन होने के बाद भी यहां से रेलवे को अच्छा रेवेन्यू मिलता है। कमर्शियल डिपार्टमेंट के एएन मिंज के अनुसार यह स्टेशन
...
more...
रोजाना 6 से 7 लाख रुपए कमाकर रेलवे को देता है। महीने में इसकी औसत कमाई 2 करोड़ रुपए तक जाती है।
ट्रेनों का स्टॉपेज सिग्नल पर निर्भर नहीं
इस स्टेशन से जुड़ी एक और रोचक बात ये है कि यहां पर रुकने के लिए ड्रायवर को अमूमन कोई सिग्नल नहीं मिलता, उसे याद रखना पड़ता है कि इस स्टेशन पर ट्रेन का स्टॉपेज है या नहीं। यहां लोकल के अलावा एक्सप्रेस ट्रेनों का स्टॉपेज है. लेकिन यहां का सिग्नल ठीक से संकेत नहीं देता। रेलवे के एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि पावर हाउस में ट्रेनों का स्टॉपेज सिग्नल पर निर्भर नहीं है। ड्राइवर को याद रखना पड़ता है। क्योंकि स्टेशन में पैनल बोर्ड (ट्रेन परिचालन मशीन) नहीं है।
1975 में बना, तब से ही वैसा है
बीएसपी की स्थापना 1956 में हुई। इसके बाद भिलाई में लोगों का आना-जाना बढ़ गया। 1 नवंबर 1975 में पावर हाउस रेलवे स्टेशन की स्थापना हुई और ट्रेनों का स्टॉपेज शुरू हुआ। तब से सिर्फ बुकिंग और टिकिट की बिक्री होती है। स्टेशन को पैसेंजर हाल्ट का नाम दे दिया गया।
भिलाई-3 और भिलाई नगर से होता है ऑपरेट
पावर हाउस स्टेशन भिलाई-3 और भिलाई नगर से ऑपरेट होता है। स्टेशन पर सिग्नल बोर्ड भी लगे हैं, जो दोनों स्टेशनों से ऑपरेट होते हैं। डाउन ट्रेन भिलाई नगर और अप ट्रेन भिलाई-3 से ऑपरेट होती है। सुपेला और पावर हाउस क्रॉसिंग भी भिलाई-3 और भिलाई नगर स्टेशन से ऑपरेट होते हैं। यहां पैनल बोर्ड लगे हैं। जो रैक और ट्रेनों की स्थिति स्पष्ट करता है।
16 में से एक डिपार्टमेंट
रेलवे में 16 अलग-अलग डिपार्टमेंट होते हैं। इसमें से पावर हाउस स्टेशन पर सिर्फ एक डिपार्टमेंट कमर्शियल काम करता है। यहां सिर्फ कमर्शियल स्टाफ के लोग सेवाएं देते हैं। यहां से रोजाना 6 से 7 लाख रुपए की राजस्व आय होती है। स्टेशन का एक पंखा भी खराब हो जाता है तो भिलाई-3 या दुर्ग से मैकेनिकल डिपार्टमेंट को कॉल किया जाता है।
इन ट्रेनों का स्टॉपेज है
पावर हाउस रेलवे स्टेशन में सारनाथ एक्सप्रेस, कुर्ला, शिवनाथ, अमरकंटक, हावड़ा अहमदाबाद, हावड़ा पुरी, इंटरसिटी, छत्तीसगढ़, दल्लीराजहरा एक्सप्रेस, पटना समेत अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों का स्टॉपेज है। इसके अलावा सभी लोकल ट्रेनों का भी स्टॉपेज यहां है।
क्यों है भिलाई इतना खास
चूंकि भिलाई में एशिया का सबसे बड़ा स्टील प्लांट है, यहां देश के कोने-कोने से आकर लोग बसे हैं इसलिए इस शहर को मिनी इंडिया भी कहा जाता है। इंजीनियरिंग और मेडिकल की एंट्रेंस परीक्षाओं की तैयारी के लिए कोटा के बाद सबसे ज्यादा छात्र भिलाई का ही रुख करते हैं। पिछले कुछ सालों में भिलाई एजुकेशन हब के रूप में देश के मानचित्र पर उभरा है। इन कारणों से यहां सालभर लोगों का आना-जाना रहता है। इसके साथ ही भिलाई देश के उन पहले टाउनशिप्स में से एक है जिन्हें प्लान करके बसाया गया है। पूरे देश की संस्कृति को खुद में समेटे इस शहर में छठ हो या दिवाली, दुर्गा पूजा हो या ओणम, पोंगल हो या गणपति का स्वागत सब धूम धाम से मनाया जाता है। चारों तरफ हरियाली से ढंका यह शहर देश के सबसे खूबसूरत टाउनशिप्स में से एक है।
Mar 01 2015 (21:55)  3 प्लेटफार्म का छोटा सा स्टेशन हर महीने कमाता है 2 करोड़ (www.bhaskar.com)
back to top
Commentary/Human InterestSECR/South East Central  -  

News Entry# 215072     
   Tags   Past Edits
Mar 01 2015 (9:55PM)
Station Tag: Bhilai Power House/BPHB added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Posted by: Vaibhav Agarwal*^  1403 news posts
भिलाई। रेल मंत्री सुरेश प्रभु आज साल 2015-16 का रेल बजट प्रस्तुत कर रहे हैं। इस मौके पर हम आपको बता रहे हैं देश के एक ऐसे रेलवे स्टेशन के बारे में जिसमें केवल तीन प्लेटफॉर्म हैं और लेकिन वह कमाई के मामले में बड़े-बड़े स्टेशनों से बहुत आगे है। हम बात कर रहे हैं भिलाई स्थित पावर हाउस स्टेशन की। 1 नवंबर 1956 को अस्तित्व में आया यह स्टेशन हर महीन दो करोड़ कमाता है।
इस स्टेशन में लम्बी दूरी की कई ट्रेनों का स्टॉपेज है, जिस कारण यहां से रोजाना सैकडों लोग रिजर्वेशन करवाते हैं। इस कारण छोटा स्टेशन होने के बाद भी यहां से रेलवे को अच्छा रेवेन्यू मिलता है। कमर्शियल डिपार्टमेंट के एएन मिंज के अनुसार यह स्टेशन
...
more...
रोजाना 6 से 7 लाख रुपए कमाकर रेलवे को देता है। महीने में इसकी औसत कमाई 2 करोड़ रुपए तक जाती है।
ट्रेनों का स्टॉपेज सिग्नल पर निर्भर नहीं
इस स्टेशन से जुड़ी एक और रोचक बात ये है कि यहां पर रुकने के लिए ड्रायवर को अमूमन कोई सिग्नल नहीं मिलता, उसे याद रखना पड़ता है कि इस स्टेशन पर ट्रेन का स्टॉपेज है या नहीं। यहां लोकल के अलावा एक्सप्रेस ट्रेनों का स्टॉपेज है. लेकिन यहां का सिग्नल ठीक से संकेत नहीं देता। रेलवे के एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि पावर हाउस में ट्रेनों का स्टॉपेज सिग्नल पर निर्भर नहीं है। ड्राइवर को याद रखना पड़ता है। क्योंकि स्टेशन में पैनल बोर्ड (ट्रेन परिचालन मशीन) नहीं है।
1975 में बना, तब से ही वैसा है
बीएसपी की स्थापना 1956 में हुई। इसके बाद भिलाई में लोगों का आना-जाना बढ़ गया। 1 नवंबर 1975 में पावर हाउस रेलवे स्टेशन की स्थापना हुई और ट्रेनों का स्टॉपेज शुरू हुआ। तब से सिर्फ बुकिंग और टिकिट की बिक्री होती है। स्टेशन को पैसेंजर हाल्ट का नाम दे दिया गया।
भिलाई-3 और भिलाई नगर से होता है ऑपरेट
पावर हाउस स्टेशन भिलाई-3 और भिलाई नगर से ऑपरेट होता है। स्टेशन पर सिग्नल बोर्ड भी लगे हैं, जो दोनों स्टेशनों से ऑपरेट होते हैं। डाउन ट्रेन भिलाई नगर और अप ट्रेन भिलाई-3 से ऑपरेट होती है। सुपेला और पावर हाउस क्रॉसिंग भी भिलाई-3 और भिलाई नगर स्टेशन से ऑपरेट होते हैं। यहां पैनल बोर्ड लगे हैं। जो रैक और ट्रेनों की स्थिति स्पष्ट करता है।
16 में से एक डिपार्टमेंट
रेलवे में 16 अलग-अलग डिपार्टमेंट होते हैं। इसमें से पावर हाउस स्टेशन पर सिर्फ एक डिपार्टमेंट कमर्शियल काम करता है। यहां सिर्फ कमर्शियल स्टाफ के लोग सेवाएं देते हैं। यहां से रोजाना 6 से 7 लाख रुपए की राजस्व आय होती है। स्टेशन का एक पंखा भी खराब हो जाता है तो भिलाई-3 या दुर्ग से मैकेनिकल डिपार्टमेंट को कॉल किया जाता है।
इन ट्रेनों का स्टॉपेज है
पावर हाउस रेलवे स्टेशन में सारनाथ एक्सप्रेस, कुर्ला, शिवनाथ, अमरकंटक, हावड़ा अहमदाबाद, हावड़ा पुरी, इंटरसिटी, छत्तीसगढ़, दल्लीराजहरा एक्सप्रेस, पटना समेत अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों का स्टॉपेज है। इसके अलावा सभी लोकल ट्रेनों का भी स्टॉपेज यहां है।
क्यों है भिलाई इतना खास
चूंकि भिलाई में एशिया का सबसे बड़ा स्टील प्लांट है, यहां देश के कोने-कोने से आकर लोग बसे हैं इसलिए इस शहर को मिनी इंडिया भी कहा जाता है। इंजीनियरिंग और मेडिकल की एंट्रेंस परीक्षाओं की तैयारी के लिए कोटा के बाद सबसे ज्यादा छात्र भिलाई का ही रुख करते हैं। पिछले कुछ सालों में भिलाई एजुकेशन हब के रूप में देश के मानचित्र पर उभरा है। इन कारणों से यहां सालभर लोगों का आना-जाना रहता है। इसके साथ ही भिलाई देश के उन पहले टाउनशिप्स में से एक है जिन्हें प्लान करके बसाया गया है। पूरे देश की संस्कृति को खुद में समेटे इस शहर में छठ हो या दिवाली, दुर्गा पूजा हो या ओणम, पोंगल हो या गणपति का स्वागत सब धूम धाम से मनाया जाता है। चारों तरफ हरियाली से ढंका यह शहर देश के सबसे खूबसूरत टाउनशिप्स में से एक है।
Nov 01 2014 (12:38)  तीन प्लेटफ़ॉर्म का छोटा सा स्टेशन हर महीने कमाता है 2 करोड् (www.bhaskar.com)
back to top
Commentary/Human InterestSECR/South East Central  -  

News Entry# 199869     
   Tags   Past Edits
Nov 01 2014 (12:38PM)
Station Tag: Bhilai Power House/BPHB added by J A I H O/718732

Posted by: Jai Ho ™^~  2059 news posts
भिलाई। 1 नवंबर को छत्तीसगढ राज्य स्थापना दिवस के साथ-साथ भिलाई का पावर हाउस रेलवे स्टेशन भी अपनी स्थापना के 39 साल पूरे कर रहा है। महज तीन प्लेटफॉर्म वाला यह स्टेशन कमाई के मामले में बड़े-बड़े स्टेशनों से बहुत आगे है।

इस स्टेशन में लम्बी दूरी की कई ट्रेनों का स्टॉपेज है, जिस कारण यहां से रोजाना सैकडों लोग रिजर्वेशन करवाते हैं। इस कारण छोटा स्टेशन होने के बाद भी यहां से रेलवे को अच्छा रेवेन्यू मिलता है। कमर्शियल डिपार्टमेंट के एएन मिंज के अनुसार यह स्टेशन रोजाना 6 से
...
more...
7 लाख रुपए कमाकर रेलवे को देता है। महीने में इसकी औसत कमाई 2 करोड़ रुपए तक जाती है।

ट्रेनों का स्टॉपेज सिग्नल पर निर्भर नहीं
इस स्टेशन से जुडी एक और रोचक बात ये है कि यहां पर रुकने के लिए ड्रायवर को अमूमन कोई सिग्नल नहीं मिलता, उसे याद रखना पडता है कि इस स्टेशन पर ट्रेन का स्टॉपेज है या नहीं। यहां लोकल के अलावा एक्सप्रेस ट्रेनों का स्टॉपेज है. लेकिन यहां का सिग्नल ठीक से संकेत नहीं देता। रेलवे के एक अधिकारी ने नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि पावर हाउस में ट्रेनों का स्टॉपेज सिग्नल पर निर्भर नहीं है। ड्राइवर को याद रखना पड़ता है। क्योंकि स्टेशन में पैनल बोर्ड (ट्रेन परिचालन मशीन) नहीं है।

1975 में बना, तब से ही वैसा है
बीएसपी की स्थापना 1956 में हुई। इसके बाद भिलाई में लोगों का आना-जाना बढ़ गया। 1 नवंबर 1975 में पावर हाउस रेलवे स्टेशन की स्थापना हुई और ट्रेनों का स्टॉपेज शुरू हुआ। तब से सिर्फ बुकिंग और टिकिट की बिक्री होती है। स्टेशन को पैसेंजर हाल्ट का नाम दे दिया गया।

भिलाई-3 और भिलाई नगर से होता है ऑपरेट
पावर हाउस स्टेशन भिलाई-3 और भिलाई नगर से ऑपरेट होता है। स्टेशन पर सिग्नल बोर्ड भी लगे हैं, जो दोनों स्टेशनों से ऑपरेट होते हैं। डाउन ट्रेन भिलाई नगर और अप ट्रेन भिलाई-3 से ऑपरेट होती है। सुपेला और पावर हाउस क्रॉसिंग भी भिलाई-3 और भिलाई नगर स्टेशन से ऑपरेट होते हैं। यहां पैनल बोर्ड लगे हैं। जो रैक और ट्रेनों की स्थिति स्पष्ट करता है।

16 में से एक डिपार्टमेंट
रेलवे में 16 अलग-अलग डिपार्टमेंट होते हैं। इसमें से पावर हाउस स्टेशन पर सिर्फ एक डिपार्टमेंट कमर्शियल काम करता है। यहां सिर्फ कमर्शियल स्टाफ के लोग सेवाएं देते हैं। यहां से रोजाना 6 से 7 लाख रुपए की राजस्व आय होती है। स्टेशन का एक पंखा भी खराब हो जाता है तो भिलाई-3 या दुर्ग से मैकेनिकल डिपार्टमेंट को कॉल किया जाता है।

इन ट्रेनों का स्टॉपेज है
पावर हाउस रेलवे स्टेशन में सारनाथ एक्सप्रेस, कुर्ला, शिवनाथ, अमरकंटक, हावड़ा अहमदाबाद, हावड़ा पुरी, इंटरसिटी, छत्तीसगढ़, दल्लीराजहरा एक्सप्रेस, पटना समेत अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों का स्टॉपेज है। इसके अलावा सभी लोकल ट्रेनों का भी स्टॉपेज यहां है।

क्यों है भिलाई इतना खास
चुंकि भिलाई में एशिया का सबसे बडा स्टील प्लांट है, यहां देश के कोने-कोने से आकर लोग बसे हैं इसलिए इस शहर को मिनी इंडिया भी कहा जाता है। इंजीनियरिंग और मेडिकल की एंट्रेंस परीक्षाओं की तैयारी के लिए कोटा के बाद सबसे ज्यादा छात्र भिलाई का ही रुख करते हैं। पिछले कुछ सालों में भिलाई एजुकेशन हब के रूप में देश के मानचित्र पर उभरा है। इन कारणों से यहां सालभर लोगों का आना-जाना रहता है। इसके साथ ही भिलाई देश के उन पहले टाउनशिप्स में से एक है जिन्हें प्लान करके बसाया गया है। पूरे देश की संस्कृति को खुद में समेटे इस शहर में छठ हो या दिवाली, दुर्गा पूजा हो या ओणम, पोंगल हो या गणपति का स्वागत सब धूम धाम से मनाया जाता है। चारों तरफ हरियाली से ढंका यह शहर देश के सबसे खूबसूरत टाउनशिप्स में से एक है।
Page#    Showing 1 to 4 of 4 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.