Full Site Search  
Tue Apr 25, 2017 21:49:25 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;

BLU/Bilhaur
     बिल्हौर

Track: Single Diesel-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: n/a
Number of Halting Trains: 14
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
GT Road(NH-91), Bilhaur, KANPUR-209 202
State: Uttar Pradesh
Elevation: 135 m above sea level
Zone: NER/North Eastern
Division: Izzatnagar
No Recent News for BLU/Bilhaur
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

DUO/Dhaursalar 5 km     BKTS/Bakothikhas 6 km     UTP/Utripura 11 km     ARL/Araul Makanpur 11 km     GWP/Gangawapur Halt 16 km     BJR/Barrajpur 19 km     MNMU/Mani Mau 20 km     KJN/Kannauj 26 km     KJNC/Kannauj City 28 km     CBR/Chaubepur 31 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 2 of 2 News Items  
Feb 04 2015 (12:10)  ईशन नदी पर रेलवे पुल के खंभे में दरार (www.jagran.com)
back to top
Other NewsNER/North Eastern  -  

News Entry# 211355     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Saurabh*^~  3067 news posts
बिल्हौर, संवाद सहयोगी : दस वर्ष पूर्व ब्रॉडगेज में बदली गई कानपुर-कासगंज रेल लाइन पर ईशन नदी पुल के एक खंभे में दरार आने कर्मियों में हड़कंप की स्थिति है। मामले की जांच के लिए गुरुवार को रेलवे विभाग के जीएम के आने को लेकर तैयारियां शुरू की गई हैं। करीब दस वर्ष पूर्व कानपुर-कासगंज रेलवे लाइन को मीटरगेज से ब्रॉडगेज में बदलने के दौरान कई नदियों और नालों पर पुल का भी निर्माण किया गया था। इसी क्रम में बिल्हौर और अरौल रेलवे स्टेशन के बीच ईशन नदी पर रेलवे पुल बना था। रेल लाइन के निर्माण के बाद वर्ष 2005 में ब्रॉडगेज पर ट्रेनों का संचालन भी शुरू हो गया। पुल के खंभों के निर्माण के दौरान मानकों की अनदेखी की गई, जिसके चलते ईशन नदी पर बने पुल के एक खंभे में दरार आ गई है। मामले की जानकारी होते ही रेलवे विभाग में हड़कंप है और जांच...
more...
शुरू की गई है। एक माह पूर्व पहुंचे अधिकारियों ने खंभे की दरार पर लेपन करा दिया था। अधिकारियों की जांच रिपोर्ट के बाद गुरुवार को गोरखपुर मंडल के रेलवे विभाग के जीएम के आने की जानकारी मिलते ही स्टेशन पर साफ सफाई का कार्य शुरू कर दिया गया। स्टेशन मास्टर नवल किशोर ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया।
Nov 21 2013 (00:41)  रावतपुर से बिल्हौर तक पांच मानव रहित क्रासिंग खत्म (www.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestNER/North Eastern  -  

News Entry# 157429     
   Tags   Past Edits
Nov 21 2013 (12:41AM)
Station Tag: Bilhaur/BLU added by Reading UnAnswered Posts/622971

Nov 21 2013 (12:41AM)
Station Tag: Kalianpur/KAP added by Reading UnAnswered Posts/622971

Nov 21 2013 (12:41AM)
Station Tag: Mandhana Junction/MDA added by Reading UnAnswered Posts/622971

Nov 21 2013 (12:41AM)
Station Tag: Rawatpur/RPO added by Reading UnAnswered Posts/622971

Posted by: Prakhar*^~  220 news posts
रावतपुर से बिल्हौर तक पांच मानव रहित क्रासिंग खत्म
कानपुर, जमीर सिद्दीकी:
फर्रुखाबाद रेलमार्ग पर रेल अफसरों ने फिर सर्वे करके यह तय किया है कि कौन सी मानव रहित क्रासिंग ऐसी हैं जिन पर एक लाख से अधिक वाहनों का आवागमन है। अब ऐसी पांच मानव रहित क्रासिंग पर गेट लगाने का काम शुरू हो गया है।
मानव रहित गेट नंबर 19, 21
...
more...
व 24 पर गेट लगाए जा चुके हैं और चौबेपुर से मंधना के बीच पड़ने वाले गेट नंबर 20 सी पर भी गेट लगाया जा रहा है। ऐसे ही चौबेपुर के बर्राजपुर के बीच मानव रहित क्रासिंग 34 पर भी गेट लगाए जा रहे हैं जबकि उत्तरीपुरा से बिल्हौर के बीच गेट नंबर 41 पर भी गेट लगाने का काम शुरू है।
अनवरगंज से बिल्हौर तक पड़ने वाली रेलवे क्रासिंग काफी व्यस्त है क्योंकि ये ट्रैक जीटी रोड के बगल बगल से बनाया गया है। सर्दी में कोहरे के चलते मानव रहित क्रासिंग पार करते समय ट्रेन नहीं दिखाई देती। उसी का दुष्परिणाम है कि दर्जनों लोग ट्रेन से कटकर अपनी जान गंवा चुके हैं। हादसे रोकने के लिए कई मानव रहित क्रासिंग पर गेट लगाये जा रहे हैं और गेटमैन भी तैनात होंगे। जीटी रोड पर सौ से अधिक ऐसे संपर्क मार्ग जुड़े हैं जिन पर लाखों की संख्या में वाहन चलते हैं और सर्दी में जब कोहरा घना होता है तो ट्रेन दिखाई नहीं देती। नतीजा यह होता है कि अनवरगंज से बिल्हौर तक मानव रहित क्रासिंग पर ट्रैक्टर ट्राली, जीप, कार, ट्रक हादसे का शिकार होते हैं।
--------------
इंसेट..
सायरन भी बचाएगा हादसा
अक्सर लोग तेज गति से आ रही ट्रेन देख नहीं पाते और हादसे का शिकार हो जाते हैं। गेट बंद होने के एक मिनट पहले से ही गेट के दोनों ओर लगे सायरन बजने लगेंगे ताकि राहगीर सतर्क हो जायें। रेलवे के उच्चपदस्थ सूत्रों के मुताबिक ये व्यवस्था कोहरे से पूर्व करने की तैयारी है ताकि हादसे बचाए जा सकें।
Page#    Showing 1 to 2 of 2 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site