Full Site Search  
Tue Jun 27, 2017 10:58:08 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;

CBSA/Chaibasa (3 PFs)
     चाईबासा

Track: Triple Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 16
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
National Highway 75
State: Jharkhand
Elevation: 227 m above sea level
Zone: SER/South Eastern
Division: Chakradharpur
1 Travel Tips
No Recent News for CBSA/Chaibasa
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

SIPA/Singhpokharia 7 km     PRSL/Pandrasali 8 km     JNK/Jhinkpani 17 km     RKSN/Rajkharsawan Junction 20 km     BRM/Barabambo 26 km     TABU/Talaburu 26 km     MMV/Mahali Marup 28 km     KNPS/Kendposi 33 km     SINI/Sini Junction 35 km     CKP/Chakradharpur 37 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 9 of 9 News Items  
Feb 24 2017 (08:18)  नई दिल्ली-पुरी ट्रेन चाईबासा होकर चले: चैंबर (m.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestSER/South Eastern  -  

News Entry# 294650     
   Tags   Past Edits
Feb 24 2017 (08:18)
Station Tag: Chaibasa/CBSA added by TATA LTT Will Be 1st Antyodaya Express Of IR😊/1421836

Feb 24 2017 (08:18)
Station Tag: Tatanagar Junction/TATA added by TATA LTT Will Be 1st Antyodaya Express Of IR😊/1421836

Posted by: जय जगन्नाथ🙏^~  888 news posts
जमशेदपुर : फेडरेशन ऑफ झारखंड चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष आलोक चौधरी ने रेल मंत्री सुरेश प्रभु को मेल के जरिए ज्ञापन सौंपकर नई दिल्ली-पुरी ट्रेन को चाईबासा होकर चलाने की मांग की है। उन्होंने ज्ञापन में लिखा है कि चाईबासा नगर झारखंड के कोल्हान प्रमंडल का मुख्यालय है। इस क्षेत्र के लौह अयस्क पर देश की प्रमुख इस्पात कंपनियां निर्भर हैं और इसी से सटा चक्रधरपुर रेल मंडल रेल मंत्रालय को सबसे अधिक राजस्व देता है। नई दिल्ली से पुरी जाने वाली कोई भी एक रेलगाड़ी को चाईबासा होकर चलाया जाए ताकि आवागमन की सुविधा होने से इस क्षेत्र में व्यापार एवं उद्योग का विकास हो सके। पूर्व में तकनीकी कारणों से रेलगाड़ियों को इस रूट से चलाया जा चुका है।
Dec 14 2016 (10:26)  CSEPS DEMANDS RAILWAY ZONE FOR STATE (www.dailypioneer.com)
back to top
IR AffairsSER/South Eastern  -  

News Entry# 288577   Blog Entry# 2090464     
   Tags   Past Edits
Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: Tatanagar Junction/TATA added by I wish RNC NLP Exp/632556

Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: Giridih/GRD added by I wish RNC NLP Exp/632556

Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: Chaibasa/CBSA added by I wish RNC NLP Exp/632556

Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: DaltonGanj/DTO added by I wish RNC NLP Exp/632556

Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: Tummanamgutta/TAT added by I wish RNC NLP Exp/632556

Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: Bokaro Steel City/BKSC added by I wish RNC NLP Exp/632556

Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: Netaji SC Bose Gomoh Junction/GMO added by I wish RNC NLP Exp/632556

Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: Chakradharpur/CKP added by I wish RNC NLP Exp/632556

Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by I wish RNC NLP Exp/632556

Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: Hatia/HTE added by I wish RNC NLP Exp/632556

Dec 14 2016 (10:26AM)
Station Tag: Ranchi Junction/RNC added by I wish RNC NLP Exp/632556

Posted by: ProposalAgreed4 BRIKSH MITRA YOJNA 2Green IR Land  19 news posts
The Centre for Socio-Economic and Parliamentary Studies (CSEPS), a civic society organization that studies socio-economic issues and aids the Government in good and effective governance with its advice and advocacy, has written to the Union Railway Minister Suresh Prabhu seeking a new Railway Zone for Jharkhand and several new trains given the fact that the State has largely remained deprived despite playing very important role in Indian economy.
The oraganisation states that the Indian Railway offers very little connectivity to different districts of the State. It appears to us that Jharkhand has been converted into a state for only freight services of Indian railway. Till today districts like Gumla, Khunti and Simdega have not seen trains as Indian Railway never thought it
...
more...
necessary to spread itself upto these areas. It has demanded that plans be made to spread railway tracks to these districts so that people from these states get connected through railway to different parts of the country.
The letter states that Jharkhand is a high revenue earning area for India railway, but it has been divided among different zones which have their headquarters in other states. Zonal headquarters too, despite earning huge revenue from Jharkhand, rarely care for developmental works concerning Jharkhand. The organization thus demands a separate Railway zone to be curved out of areas in Jharkhand with its headquarters in Ranchi.
Also it has demanded to follow up the State supported railway lines, construction of railway over-bridges and others that have remained incomplete since years. A suggestion has also come for setting up of 100-bed hospitals in places like Ranchi, Dhanbad, Jasidih and Barkakana.

4 posts - Wed Dec 14, 2016 - are hidden. Click to open.

1 posts - Thu Dec 15, 2016 - are hidden. Click to open.

2 posts - Sat Dec 17, 2016 - are hidden. Click to open.

5218 views
Dec 18 2016 (10:53)
For Better Managed Indian Railways~   1933 blog posts
Re# 2090464-8            Tags   Past Edits
Earler pdf copy available for download at the zonal railway website for SE zonal TT (SER+SECR+ECoR) only.
About a 15 years ago trains at a glance CD was marketed by IR @Rs 100/- when hardcopu used to cost around 30-35Rs , but it was a big failure. My copy of CD did not worked at all may be due to software compatibility problems.
Since TT is a no-profit no loss (often loss making) venture, the pdf copy of zonal TTs as well as TAG should be readily available free of
...
more...
cost as it is a sort of advertisement for IR to market its trains.
Jun 16 2016 (08:47)  ए वन स्टेशनों पर स्टेशन डायरेक्टर की होगी नियुक्ति (epaper.bhaskar.com)
back to top
New Facilities/TechnologySER/South Eastern  -  

News Entry# 271097     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: jaymedia.enews  7 news posts
ए वन स्टेशनों पर स्टेशन डायरेक्टर की होगी नियुक्ति
रेलवे की आमदनी बढ़ाने में होंगे सहायक, वित्तीय ठेका संबंधी अधिकारों से होंगे लैस, समस्याओं का जल्द हो सकेगा समाधान
जयकुमार| चक्रधरपुर
रेलवे स्टेशन में अब सिर्फ स्टेशन मास्टर ही नहीं बल्कि स्टेशन डायरेक्टर की भी नियुक्ति की जाएगी। इसकी शुरुआत रेलवे के सभी ए वन स्टेशनों से की जा रही है। चक्रधरपुर रेल
...
more...
मंडल के टाटानगर स्टेशन में भी एक साल के अंदर स्टेशन डायरेक्टर की नियुक्ति हो जाएगी। इससे छोटी-बड़ी सभी समस्याओं का समाधान जल्द होगा। स्टेशन में यात्रियों की सुविधा और व्यवस्था दुरुस्त रखने के लिए स्टेशन डायरेक्टर स्वतंत्र रूप से फैसले ले सकेंगे। वहीं रेलवे की आमदनी को बढ़ाने में भी इनकी भूमिका अहम होगी।
अभी क्या है व्यवस्था
फिलहाल स्टेशनों की कमान चीफ स्टेशन मैनेजर, स्टेशन मास्टर और स्टेशन सुपरिटेंडेंट के हाथों में है। इनके पास वित्तीय और निविदा देने जैसे अधिकार नहीं हैं। स्टेशन की दशा सुधारने के लिए इन्हें अपने वरीय अधिकारियों को प्रस्ताव भेजना पड़ता है। इन्हें आर्थिक और व्यापारिक दृष्टिकोण से स्टेशन की बेहतरी के लिए फैसले लेने का अधिकार नहीं है।
स्टेशन डायरेक्टर्स रखेंगे सुविधाओं पर विशेष निगरानी
स्टेशन डायरेक्टर्स का पद बड़े अधिकारों से लैस होगा। इन्हें वित्तीय अधिकार से लेकर ठेका देने तक का अधिकार रेल मंत्रालय द्वारा प्रदान किया जाएगा। डायरेक्टर्स स्वतंत्र रूप से रेल उपभोक्ताओं तक सुविधाओं को पहुंचाने के लिए काम करेंगे। वहीं स्टेशन पर सुविधा की विशेष निगरानी रखनी होगी। इसके साथ ही रेलवे के मुनाफे को बढ़ाना इनका दायित्व होगा।
"रेल मंत्रालय के इस फैसले से इससे रेल उपभोक्ताओं को लाभ पहुंचेगा। वहीं रेलवे की आर्थिक स्थिति भी सुधरेगी। बड़े अधिकारों से लैस स्टेशन डायरेक्टर पर स्टेशन की सारी जिम्मेदारी होगी। टाटानगर स्टेशन पर भी इसी वित्तीय वर्ष में स्टेशन डायरेक्टर की नियुक्ति हो जाएगी।" राजेंद्र प्रसाद, डीआरएम, चक्रधरपुर
Jun 12 2016 (17:15)  टीटीई पर रेल अधिकारी की पत्नी के साथ दुर्व्यवहार का अारोप, रेल थाने में शिकायत (epaper.bhaskar.com)
back to top
Commentary/Human InterestSER/South Eastern  -  

News Entry# 270827     
   Tags   Past Edits
Jun 12 2016 (5:15PM)
Station Tag: Chaibasa/CBSA added by jaymedia.enews/1457481

Jun 12 2016 (5:15PM)
Station Tag: Rourkela Junction/ROU added by jaymedia.enews/1457481

Jun 12 2016 (5:15PM)
Station Tag: Jharsuguda Junction/JSG added by jaymedia.enews/1457481

Jun 12 2016 (5:15PM)
Station Tag: Chakradharpur/CKP added by jaymedia.enews/1457481

Jun 12 2016 (5:15PM)
Station Tag: Tatanagar Junction/TATA added by jaymedia.enews/1457481

Posted by: jaymedia.enews  7 news posts
चक्रधरपुर रेल मंडल के एक रेल अधिकारी की पत्नी बच्चों के साथ चक्रधरपुर रेलवे स्टेशन परिसर में टीटीई पंकज द्वारा दुर्व्यवहार किए जाने का मामला प्रकाश में आया है। मामला शुक्रवार की शाम का है। रेल मंडल के हिंदी विभाग के अधिकारी पीसी डांग की पत्नी बच्चे दुर्ग-राजेंद्र नगर साउथ बिहार एक्सप्रेस से चक्रधरपुर स्टेशन पर उतरे थे। इसी दौरान पंकज नामक एक टीटीई ने अधिकारी की पत्नी से टिकट की मांग की।
उन्होंने रेल अधिकारी की पत्नी बताते हुए रेलवे पास दिखाया। इसके बाद टीटीई ने "प्रधानमंत्री" कह महिला पर टिप्पणी की। इसके बाद अधिकारी की पत्नी और टीटीई के बीच काफी बहस हुई। अधिकारी की पत्नी ने घर जाकर पति पीसी डांग को सारी बात बताई। घटना से गुस्साए रेल
...
more...
अधिकारी दूसरे दिन चक्रधरपुर जीआरपी थाना पहुंचे और टीटीई पंकज कुमार के खिलाफ लिखित शिकायत की। थाना प्रभारी ने उन्हें शिकायत पत्र में त्रुटियों को सुधार कर लाने की बात कही। जीआरपी थाने से बाहर निकलने के बाद आरोपी टीटीई पंकज और रेल अधिकारी पीसी डांग के बीच जमकर बहस हुई। शनिवार शाम तक मामला दर्ज नहीं हुआ था।
इस घटना की खबर फैलते ही शनिवार को कॉमर्शियल विभाग का अलर्ट नजर आया। विभाग के दो कर्मचारी आरपीएफ के सीसीटीवी कंट्रोल रूम में टीटीई और रेल अधिकारी की पत्नी के साथ हुई घटना की तस्वीर खंगालते रहे।बहरहाल घटन चर्चा का विषय बनी है।
टीटीई के खिलाफ शिकायत नहीं मिली
"टीटीई द्वारा किसी यात्री के साथ दुर्व्यवहार का मामला मेरे पास नहीं आया है। लिखित शिकायत मिलने पर जांच की जाएगी। दोषी पाए जाने पर कार्रवाई होगी।" सत्यम प्रकाश,सीनियर डीसीएम, चक्रधरपुर रेल मंडल।
"पत्नी के साथ टीटीई पंकज कुमार द्वारा दुर्व्यवहार किया गया है। इस मामले को लेकर मैं बहुत गंभीर हूं। आरोपी के खिलाफ जीआरपी थाना में मामला दर्ज कराऊंगा।" पीसी डांग,वरीय राजभाषा हिंदी अधिकारी, चक्रधरपुर रेल मंडल।
Jun 08 2016 (10:42)  चक्रधरपुर रेलवे अस्पताल में दवा से रिएक्शन, छात्रा की मौत (epaper.bhaskar.com)
back to top
Other NewsSER/South Eastern  -  

News Entry# 270332   Blog Entry# 1885271     
   Tags   Past Edits
Jun 08 2016 (10:42AM)
Station Tag: Chaibasa/CBSA added by jaymedia.enews/1457481

Jun 08 2016 (10:42AM)
Station Tag: Rourkela Junction/ROU added by jaymedia.enews/1457481

Jun 08 2016 (10:42AM)
Station Tag: Jharsuguda Junction/JSG added by jaymedia.enews/1457481

Jun 08 2016 (10:42AM)
Station Tag: Chakradharpur/CKP added by jaymedia.enews/1457481

Jun 08 2016 (10:42AM)
Station Tag: Tatanagar Junction/TATA added by jaymedia.enews/1457481

Posted by: jaymedia.enews  7 news posts
चक्रधरपुर के डबलिंग कॉलोनी में रहने वाले रेलकर्मी केवीवी दुर्गा प्रसाद राव की बड़ी बेटी भारती प्रिया (19) की दवा के रिएक्शन के कारण जमशेदपुर स्थित टीएमएच में मौत हो गई। दरअसल, भारती 13 मई को बुखार से पीड़ित थी। उसके पिता दुर्गा प्रसाद ने रेलवे चिकित्सक डॉ पापिया ओझा से उसका इलाज करवाया था। डॉ पापिया ने उसे तीन दवाइयां खाने को दी थी, उससे भी बुखार ठीक नहीं हो रहा था। इसके बाद रेलवे के डॉक्टर जी सोरेन से भारती का इलाज करवाया गया। जी सोरेन ने भी कुछ नई दवा लिखी, लेकिन इन दवाइयों के खाने पर भारती के शरीर में रिएक्शन होना शुरू हो गया। रिएक्शन के कारण शरीर की चमड़ी पर जगह जगह सूजन हो गई। भारती की नाजुक स्थिति को देख रेलवे डॉक्टर जी सोरेन ने उसे टीएमएच रेफर कर दिया। टीएमएच में मौत से लड़ते हुए आखिरकार भारती ने दम तोड़ दिया। सोमवार को...
more...
भारती का पार्थिव शरीर चक्रधरपुर लाया गया और उसका अंतिम संस्कार किया गया। इस घटना से भारती के माता पिता काफी सदमे में हैं। पूरे कॉलोनी में मातम का माहौल है। भारती आंध्रा प्रदेश के राजमुंदरी में बीएससी कंप्यूटर की छात्रा थी। वह छुट्टियों में अपने माता पिता के पास आई थी। भारती के पिता का कहना है कि उसे सिर्फ बुखार था, लेकिन इलाज के बाद सब कुछ बदल गया। उसके शरीर का हर अंग गल गया। वह मेरे सामने मौत के मुंह में समा गई और मैं कुछ ना कर सका। इधर, टीएमएच ने मौत का कारण दवा का रिएक्शन बताया गया है। इस मामले में फिलहाल चक्रधरपुर रेलवे चिकित्सक चुप्पी साधे बैठे हैं, कोई भी डॉक्टर कुछ बताने को तैयार नहीं है।

4710 views
Jun 08 2016 (11:19)
chandankumarsingh64~   644 blog posts
Re# 1885271-1            Tags   Past Edits
bad news
Page#    Showing 1 to 9 of 9 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.