Full Site Search  
Mon May 1, 2017 02:12:28 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;

DBG/Darbhanga Junction (5 PFs)
دربھنگہ جنکشن     दरभंगा जंक्शन

Track: Single Diesel-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 5
Number of Halting Trains: 58
Number of Originating Trains: 21
Number of Terminating Trains: 21
Jn Pt: RXL/JYG/SPJ/BIRL, Tel: 06272-252527, Station Road, Darbhanga
State: Bihar
Elevation: 55 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Samastipur
7 Travel Tips
No Recent News for DBG/Darbhanga Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 3.8/5 (232 votes)
cleanliness - good (31)
porters/escalators - good (29)
food - good (30)
transportation - good (29)
lodging - good (28)
railfanning - good (28)
sightseeing - good (28)
safety - good (29)

Nearby Stations

LSI/Laheria Sarai 5 km     KKHT/Kakarghatti 6 km     SHEO/Shisho Halt 7 km     TLWA/Thalwara 9 km     BJIH/Bijuli Halt 10 km     MHP/Muhammadpur 11 km     TRS/Tarsarai 13 km     HYT/Haiaghat 15 km     SSNS/Shaheed Suraj Narayan Singh Halt 16 km     TQR/Tektar 17 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 536 News Items  next>>
डीआरएम ने किया निरीक्षण, अधिकारियों को दिए कई सुझाव
कोच गाइडेंस सिस्टम जल्द शुरू करने का दिया निर्देश
सिटी रिपोर्टर | दरभंगा
समस्तीपुररेलमंडल के डीआरएम रविन्द्र कुमार जैन कार्यभार संभालने के बाद पहली बार कल स्थानीय जंक्शन पर निरीक्षण विधि व्यवस्था को देखने पहुंचे। डीआरएम गाड़ी संख्या 55518 से पहले समस्तीपुर से जयनगर पहुंचे। जयनगर में स्टेशन का निरीक्षण कर वे शाम
...
more...
को उसी ट्रेन से साढ़े चार बाजे जंक्शन पहुंचे। उनके स्वागत के लिए जंक्शन के सभी आलाधिकारी मौजूद थे। डीआरएम रविन्द्र कुमार जैन सबसे पहले प्लेटफॉर्म संख्या एक साफ सफाई से लेकर नलकूप आदि का जायजा लिया। उसके बाद डीआरएम ने जंक्शन पर मौजूद लगभग सभी विभाग के दफ्तर में जाकर विधि व्यवस्था का जायजा लिया। डीआरएम फूट ओवर ब्रिज पर चढ़ कर जंक्शन के बाकी प्लेटफॉर्म का भी निरीक्षण किया। वहां उन्होंने अधिकारियों को सुझाव निर्देश भी दिए। इसके बाद डीआरएम ने जंक्शन के बाहरी परिसर का भी निरीक्षण किया बाहरी परिसर में बने पार्किंग की व्यवस्था को ओर भी सुचारू यात्रियों को ज्यादा परेशानी हो इसके लिए संबंधित अधिकारियों से सुझाव मांगा। इस दौरान डीआरएम लगभग एक घंटे से ज्यादा वक्त तक स्थानीय जंक्शन पर रहे। लगभग साढ़े पांच बजे वे अपने निजी वाहन से सड़क रास्ते से समस्तीपुर के लिए रवाना हो गए।
स्टेशन का निरीक्षण करते समस्तीपुर रेलमंडल के डीआरएम रविन्द्र कुमार जैन।
डीआरएम ने प्लेटफॉर्म संख्या एक,दो,तीन पर लगे कोच कोच गाइडेंस सिस्टम को जल्द शुरू करने का निर्देश दिया। पिछले महीने से ही जंक्शन पर गाइडेंस सिस्टम लगाने का काम तेजी से चल रहा है। इस काम को लगभग पूरा भी कर लिया गया है। डीआरएम रविन्द्र कुमार जैन ने संबंधित अधिकारियों को इसे सेवा को जल्द यात्री सुविधा के लिए भाल करने का निर्देश दिया। बता दें कि इस तकनीक के शुरू होने से यात्रियों को अपनी कोच तलाशने में दिक्कत नहीं होगी।
सुरक्षा साफ-सफाई रही दुरुस्त
डीआरएमरविन्द्र कुमार जैन के आगमन को लेकर मंगलवार को जंक्शन पर साफ सफाई से लेकर सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त दिखी। स्टेशन को सफाई कर्मचारियों की ओर से चमकाया गया था। सभी जगह कूड़ेदान सही ढंग से रखे हुए नजर आए, वहीं शौचालय में भी साफ-सफाई सफाई दिखी। सुरक्षा को लेकर भी आरपीएफ जीआरपी की टीम लगातार स्टेशन पर निगरानी रखे हुए थे। साथ ही प्रवेश द्वार पर भी सुरक्षा कर्मी यात्रियों की गतिविधियों उनके सामन की तलाशी भी ले रहे थे।
Apr 26 2017 (06:38)  दरभंगा जंक्शन में प्रवेश को ले बनेगा एक और द्वार (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 300791     
   Tags   Past Edits
Apr 26 2017 (06:38)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Battle Symphony 🎧~/1056799

Posted by: Extension From DBG Ruined Swatantrata Senani SF😞~  13 news posts
दरभंगा जंक्शन में प्रवेश को ले बनेगा एक और द्वार
डीआरएम ने स्थानीय अधिकारियों को बेहतर जंक्शन बनाने के लिए दिए कई सुझाव
खुशी
निरीक्षण
जासं, दरभंगा : समस्तीपुर रेल मंडल के डीआरएम रविन्द्र कुमार
...
more...
जैन ने मंगलवार को दरभंगा जंक्शन का किया। मंडल का कार्यभार संभालने के बाद उनका यह पहला आगमन था। उन्होंने स्थानीय अधिकारियों को बेहतर जंक्शन बनाने के लिए कई सुझाव दिए। 1 कहा कि पहली मुलाकात में सुझाव दे रहा हूं। अन्यथा, अगली बार से दोषी पदाधिकारी कार्रवाई की जदद में भी आएंगे। उन्होंने कहा कि दरभंगा जंक्शन का इंट्री प्वांइट पूरब दिशा से भी हो इस पर तेजी से कार्य किया जा रहा है। पूर्व के अधिकारी भी इस पर काफी काम किए हैं। उसे और गति दी जा रही है। स्टेशन परिसर के बाहरी हिस्सा को और सुंदर बनाने के लिए उन्होंने दक्षिण दिशा के पुराने क्वार्टर को तोड़ने का आदेश दिया। कहा कि अब वहां अत्याआधुनिक रेस्ट हाउस की जगह आरपीएफ, जीआरपी थाना के अलावा पार्किंग की सुविधा बहाल की जाएगी। यात्रियों को आने-जाने में कोई असुविधा न हो इसके लिए उन्होंने सामने का परिसर पूर्ण खाली रखने का निर्देश दिया। स्टेशन परिसर के सामने से हनुमान मंदिर को हटाकर दुर्गा मंदिर में शिफ्ट करने का निर्देश दिया। इसके लिए उन्होंने इंजीनियरिंग सेल के अधिकारियों को दो माह का लक्ष्य निर्धारित कर दिया है। कहा कि पहले मंदिर बनाने ले इसके बाद उसे तोड़ कर नए वाले में शिफ्ट कर दें। प्लेटफार्म संख्या एक पर ट्रेनों के आगमन को लेकर लगाए गए डिस्प्ले बोर्ड को उन्होंने देखने के बाद ऐसी सुविधा हर प्लेटफार्म पर मुहैया कराने को कहा। स्टेशन स्वच्छ रहे इसके लिए उन्होंने सभी स्टॉल को दिवाल के किनारे से लगाने को कहा। गंदगी फैलाने वालों से जुर्मान वसूली करने का आदेश भी दिया। कहा कि रिटारिंग रूप बेहतर हो इस दिशा में ज्याद ध्यान देने की जरूरत है। ट्रेनों के विलंब से परिचालन होने के मामला पर उन्होंने खुद को गंभीर बताया । पहले से काफी सुधार होने की बात कही। हालांकि, इसे और दुरूस्त करने का आदेश दिया। 1वेटिंग हॉल में काफी गंदगी देख उन्होंने नाराजगी व्यक्त की। कहा कि दूसरी बार ऐसी गलती नहीं होनी चाहिए। उन्होंने सभागार में सभी प्रशाखा अधिकारियों के साथ परिचय प्राप्त कर बैठक की। मौके पर सीनियर डीसीएम वीरेन्द्र कुमार, इंजीनियरिंग सेल के समन्वयक महबूल आलम, आरपीएफ कमांडेट बीपी पंडित, स्टेशन अधीक्षक मनहर गौपाल, डीसीआई राजेश रंजन श्रीवास्तव, आरपीएफ इंस्पेक्टर विनोद कुमार विश्वकर्मा, सीटीटीआई पवन सिंह, सहायक अभियंता भरत सिंह आदि पदाधिकारी उपस्थित थे।
Apr 26 2017 (05:43)  दरभंगा जंक्शन में प्रवेश को ले बनेगा एक और द्वार (m.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 300785     
   Tags   Past Edits
Apr 26 2017 (05:43)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Proud CMSian~/1427404

Posted by: Proud CMSian~  87 news posts
Jagran
April 26,2017
डाउनलोड ऐपsearch
Home
वीडियो न्यूज़ T20 लीग MCD चुनाव Jaago Re मनोरंजन राज्य राष्ट्रीय दुनिया जरा हटके Epaper बिजनेस टेक ज्ञान PODCAST लाइफस्टाइल फोटो गैलरी
बिहार»दरभंगा
...
more...

दरभंगा जंक्शन में प्रवेश को ले बनेगा एक और द्वार
Wed, 26 Apr 2017 03:02 AM (IST)

दरभंगा। समस्तीपुर रेल मंडल के डीआरएम रविन्द्र कुमार जैन ने मंगलवार को दरभंगा जंक्शन का निरीक्षण किया। मंडल का कार्यभार संभालने के बाद उनका यह पहला आगमन था। उन्होंने स्थानीय अधिकारियों को बेहतर जंक्शन बनाने के लिए कई सुझाव दिए। कहा कि पहली मुलाकात में सुझाव दे रहा हूं। अन्यथा, अगली बार से दोषी पदाधिकारी कार्रवाई की जदद में भी आएंगे। उन्होंने कहा कि दरभंगा जंक्शन का इंट्री प्वांइट पूरब दिशा से भी हो इस पर तेजी से कार्य किया जा रहा है। पूर्व के अधिकारी भी इस पर काफी काम किए हैं। उसे और गति दी जा रही है। स्टेशन परिसर के बाहरी हिस्सा को और सुंदर बनाने के लिए उन्होंने दक्षिण दिशा के पुराने क्वार्टर को तोड़ने का आदेश दिया। कहा कि अब वहां अत्याआधुनिक रेस्ट हाउस की जगह आरपीएफ, जीआरपी थाना के अलावा पार्किंग की सुविधा बहाल की जाएगी। यात्रियों को आने-जाने में कोई असुविधा न हो इसके लिए उन्होंने सामने का परिसर पूर्ण खाली रखने का निर्देश दिया। स्टेशन परिसर के सामने से हनुमान मंदिर को हटाकर दुर्गा मंदिर में शिफ्ट करने का निर्देश दिया। इसके लिए उन्होंने इंजीनिय¨रग सेल के अधिकारियों को दो माह का लक्ष्य निर्धारित कर दिया है। कहा कि पहले मंदिर बनाने ले इसके बाद उसे तोड़ कर नए वाले में शिफ्ट कर दें। प्लेटफार्म संख्या एक पर ट्रेनों के आगमन को लेकर लगाए गए डिस्प्ले बोर्ड को उन्होंने देखने के बाद ऐसी सुविधा हर प्लेटफार्म पर मुहैया कराने को कहा। स्टेशन स्वच्छ रहे इसके लिए उन्होंने सभी स्टॉल को दिवाल के किनारे से लगाने को कहा। गंदगी फैलाने वालों से जुर्मान वसूली करने का आदेश भी दिया। कहा कि रिटा¨रग रूप बेहतर हो इस दिशा में ज्याद ध्यान देने की जरूरत है। ट्रेनों के विलंब से परिचालन होने के मामला पर उन्होंने खुद को गंभीर बताया । पहले से काफी सुधार होने की बात कही। हालांकि, इसे और दुरूस्त करने का आदेश दिया। वे¨टग हॉल में काफी गंदगी देख उन्होंने नाराजगी व्यक्त की। कहा कि दूसरी बार ऐसी गलती नहीं होनी चाहिए। उन्होंने सभागार में सभी प्रशाखा अधिकारियों के साथ परिचय प्राप्त कर बैठक की। मौके पर सीनियर डीसीएम वीरेन्द्र कुमार, इंजीनिय¨रग सेल के समन्वयक महबूल आलम, आरपीएफ कमांडेट बीपी पंडित, स्टेशन अधीक्षक मनहर गौपाल, डीसीआई राजेश रंजन श्रीवास्तव, आरपीएफ इंस्पेक्टर विनोद कुमार विश्वकर्मा, सीटीटीआई पवन ¨सह, सहायक अभियंता भरत ¨सह आदि पदाधिकारी उपस्थित थे।
Apr 17 2017 (09:27)  143 वर्ष पूर्व आज ही के दिन शुरू हुई थी दरभंगा में रेल की यात्रा (epaper.bhaskar.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 299837     
   Tags   Past Edits
Apr 17 2017 (09:27)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by The ONE 🎧~/1056799

Posted by: Extension From DBG Ruined Swatantrata Senani SF😞~  13 news posts
143 वर्ष पूर्व आज ही के दिन शुरू हुई थी दरभंगा में रेल की यात्रा
एजुकेशन रिपोर्टर | दरभंगा
आजसे 143 वर्ष पूर्व आज ही के दिन दरभंगा में रेलवे के इतिहास की शुरुआत हुई थी। दरभंगा के इतिहास में 17 अप्रैल की तारीख काफी महत्वपूर्ण है। यही वह तारीख है जब वर्ष 1874 में तिरहुत रेलवे की पहली ट्रेन समस्तीपुर से दरभंगा पहुंची थी। दरभंगा की नई पीढ़ी आज शहर में दो रेलवे स्टेशन देखते हैं, एक दरभंगा जंक्शन और दूसरा लहेरियासराय स्टेशन। लेकिन नई पीढ़ी को शायद यह पता भी नहीं
...
more...
होगा कि अतीत में दरभंगा शहर में तीसरा रेलवे स्टेशन भी हुआ करता था जहां सबसे पहले ट्रेन रुकी थी। तीसरा रेलवे स्टेशन वर्तमान लनामिवि स्थित नरगौना पैलेस के परिसर में हुआ करता था जिसे नरगौना टर्मिनल के नाम से जाना जाता था।
कई महापुरुष कर चुके यहां तक की यात्रा | देशके प्रथम राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, प्रधानमंत्री पं. जवाहर लाल नेहरु, डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन सहित राष्ट्रीय फलक के कई चर्चित हस्तियों ने इस पैलेस ऑन व्हील पर सफर किया था। 1976 में परिसर के अधिग्रहण के बाद पैलेस ऑन व्हील को अनुपयोगी और राजशाही का प्रतीक बताकर कबाड़ी के हाथों बेच दिया गया। लोगों की मानें तो उस पैलेस ऑन व्हील से लगभग 350 किलो चांदी निकला था जिसका आजतक कोई अता-पता नहीं है।
इकलौता महल जिसके परिसर में था रेलवे स्टेशन | छत्रनिवास परिसर जो बाद में नरगौना परिसर के नाम से जाना गया, देश का इकलौता महल था जिसके परिसर मे रेलवे स्टेशन हुआ करता था। इसके अवशेष आज भी नरगौना परिसर में अपने सुनहरे अतीत को याद करता मौजूद है। इस स्टेशन पर दरभंगा राज का पैलेस ऑन व्हील दौड़ा करती थी। इस ट्रेन का उपयोग राज परिवार के लोगों, तिरहुत सरकार के अधिकारियों और अतिथियों को लाने- ले जाने में किया जाता था।
आज भी रेल में पिछड़ा है दरभंगा | रेलका आगमन दरभंगा में भले ही 143 साल पहले हो चुका हो लेकिन इतने वर्षों के बाद आज भी दरभंगा रेल के मामले में पिछड़ा हुआ है। आर्थिक रूप से महत्वपूर्ण समस्तीपुर मंडल के इकलौते ग्रेड स्टेशन होने के बावजूद आज भी यहां यात्री सुविधाओं का घोर अभाव देखने को मिलता है। वहीं आज तक ना तो दरभंगा- समस्तीपुर रेलखंड का दोहरीकरण हो सका और ही दरभंगा-मुजफ्फरपुर के बीच रेल सेवा बहाल हो सकी।
नरगौना टर्मिनल के प्लेटफॉर्म का अवशेष।
Apr 17 2017 (08:17)  दोहरीकरण की आधारशीला आज (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 299832     
   Tags   Past Edits
Apr 17 2017 (08:17)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by The ONE 🎧~/1056799

Posted by: Extension From DBG Ruined Swatantrata Senani SF😞~  13 news posts
दोहरीकरण की आधारशीला आज
जासं, दरभंगा : दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड के दोहरीकरण की मांग को बजट में शामिल करने के बाद रेलमंत्री सुरेश प्रभाकर प्रभु ने अब इसका आधारशीला रखने की घोषणा की है। इससे दरभंगा सहित मिथिलांचल के लोगों में काफी है। वर्षों पुरानी मांग पूरी होने से यहां के लोग काफी खुश हैं। सांसद कीर्ति आजाद ने बताया कि 17 अप्रैल को रेलमंत्री छपरा कचहरी स्टेशन से इस योजना का रीमोट से शिलान्यास करेंगे। साथ ही वे स्वयं समस्तीपुर मंडल कार्यालय से अपराह्न 3 बजे इस परियोजना का शिलान्यास करेंगे। उन्होंने कहा कि दोहरीकरण कार्य पूरा होने से मिथिलांचल के लोगों का रेल यातायात सुगम हो जाएगा। कार्य समय पर पूर्ण हो इसके लिए उन्होंने यथासंभव प्रयास करने का आश्वासन दी
...
more...
है। मिथिलांचल के लंबित परियोजनाओं पर भी काम हो इसके लिए उन्होंने रेलमंत्री के समक्ष बात रखने की बात कही। लोहना-मुक्तापुर, मधुबनी-बेनीपट्टी-सीतामढ़ी और जयनगर-निर्मली नई रेल परियोजनाओं की स्वीकृति मिलने से यहां लोगों को काफी लाभ मिलने की बात कही। अब लहेरियासराय-मुजफ्फरपुर नई रेल लाइन, सकरी-हसनपुर रेल लाईन इस वित्तीय वर्ष में पूरा हो इसके लिए रेलमंत्री के समक्ष मांग रखने की बात कही। उन्होंने रेलमंत्री से मिथिलांचल रेल भर्ती बोर्ड का गठन कर उसका मुख्यालय दरभंगा में खोलने का सुझाव व आग्रह भी किया है। दरभंगा के लोगों को जाम से मुक्ति दिलाने के लिए उन्होंने दोनार गुमटी, म्युजियम गुमटी, कंगवा गुमटी, बेला गुमटी और लहेरियासराय चट्टी गुमटी पर स्वीकृत आरओबी निर्माण कराने के लिए भी ध्यान आकृष्ट कराने की बात कही। सकरी-निर्मली रेलखंड का आमान परिवर्तन कार्य चालू वित्तीय वर्ष में पूरा हो इसके लिए वे प्रयासरत हैं। उन्होंने कहा कि इन सभी मांगों को लेकर दो वर्ष पूर्व ही दरभंगा आए रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा का ध्यानआकृष्ट कराया था। इसके बाद सौंदर्यीकरण योजना सहित कई कार्य को शुरू कर दिया गया। शेष बचे कार्यों को जल्द शुरू करने की बात कही।alt146>>वर्षों पुरानी मांग पूरी होने से
यहां के लोग काफी 1alt146>>अपराह्न 3 बजे परियोजना
का होगा शिलान्यास
Apr 08 2017 (21:30)  रेल सुविधाओं की कमी से मिथिला का विकास बाधित : वीसी (m.jagran.com)
back to top
Other NewsECR/East Central  -  

News Entry# 298935   Blog Entry# 2227940     
   Tags   Past Edits
Apr 08 2017 (21:30)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Proud CMSian~/1427404

Posted by: Proud CMSian~  87 news posts
दरभंगा। मिथिला विश्व के मानचित्र में अपनी अहम भूमिका निभा सकता है। लेकिन, इसके लिए आवश्यक है कि भारतीय रेलवे अपने नेटवर्क का विस्तार यहां करे। रेलवे सिर्फ आने-जाने का साधन नहीं है बल्कि विभिन्न प्रांतों के लोगों के बीच विविधता में एकता की अहम कड़ी भी है। किसी भी क्षेत्र के सांस्कृति, बौद्धिक, आर्थिक, साहित्य आदि के विकास में रेलवे के योगदान को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है। रेलवे हमारे जीवन का महत्वपूर्ण हिस्सा बन चुका है। लनामिविवि के वीसी प्रो. सुरेंद्र कुमार ¨सह ने शुक्रवार को पीजी विभाग में आयोजित संगोष्ठी के उदघाटन संबोधन में ये बातें कही। डॉ. प्रभात दास फाउंडेशन व पीजी अर्थशास्त्र विभाग के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित संगोष्ठी में उन्होंने कहा कि मिथिला में रेलवे के विकास में दरभंगा के महाराज लक्ष्मेश्वर ¨सह के योगदान को नजर अंदाज नहीं किया जा सकता है। आजादी से पूर्व बिछी 70 फीसदी पटरियां उत्तरी बिहार में...
more...
दरभंगा महाराज के सहयोग से तिरहुत स्टेट रेलवे के जरिए ही बिछाई गई थी। सेमिनार के विषय मिथिला के विकास में भारतीय रेल की भूमिका पर बीज भाषण देते हुए पूर्व आइआरएस कामेश्वर चौधरी ने कहा कि मिथिला में बिछी छोटी लाईन तो बड़ी लाईन में बदल गयी, पर संपूर्ण मिथिला को रेलवे से जोड़ने की अभिलाषा अब तक पूरी नहीं हो पायी है। जिसके चलते मिथिला पिछड़ा हुआ है। उन्होंने कहा कि मिथिला में विकसित क्षेत्र बनने की समस्त संभावनाएं उपलब्ध है। इस क्षेत्र ने देश को ललित नारायण मिश्र जैसा ओजस्वी रेलमंत्री भी दिया है। उन्होंने मिथिला के विकास के लिए अनेक रेलवे प्रोजेक्ट बनाये। जगह-जगह रेल लाईनों का शिलान्यास करवाया, पर उनके बाद किसी ने भी उनके किये गये कार्यो को आगे नहीं बढ़ाया है। जिसके चलते समुचित रूप से रेलवे के जरिए मिथिला का पूरा हिस्सा नहीं जुड़ पाया है। इस क्षेत्र के संपूर्ण विकास के लिए जरूरी है। इसके साथ ही सीतामढ़ी से निर्मली भाया जनकपुर होते हुए रेल लाईन बने। रेलवे अपने नेटवर्क का विस्तार करे। सेवानिवृत जीएम डीएन झा ने कहा कि मिथिला सीता की जन्मभूमि है। रामायण सर्किट सरकार बनवा रही है पर पर्यटकों के आने के लिए पर्याप्त रेल नेटवर्क नहीं है। अगर रेलवे इस क्षेत्र में अपना विस्तार करती है तो न सिर्फ यहां पर्यटक आएंगे बल्कि क्षेत्र का आर्थिक-सांस्कृतिक विकास भी होगा। मिथिला के अधिकांश क्षेत्रों में ¨सगल लाईन है, उसके डबल लाईन करना अतिआवश्यक हो गया है। पूर्व कुलपति व रेलवे प्रबंधन से संबंधित कई पुस्तकों के लेखक प्रो. एसएम झा ने कहा कि रेलवे ने इस क्षेत्र के साथ न्याय नहीं किया है। यहां रेल गाड़ियों का अभाव है। रेलवे नेटवर्क पूर्णरूपेण नहीं है। बाहर से आवागमन का सीधा रास्ता नहीं है। जिसके चलते मिथिला में कल-कारखानें नहीं लग रहे है। जो कारखाने थे भी वे बंद हो चुके है। अगर रेलवे इस क्षेत्र में अपनी भूमिका को बढ़ाता है। अध्यक्षीय संबोधन में पूर्व कुलपति प्रो. राजकिशोर झा ने कहा कि मिथिला में अपार संभावनाएं है। यहां की मिथिला पें¨टग, मखाना, मछली आदि के कद्रदान देश ही नहीं विदेशों में भी है, पर विस्तृत रेलवे नेटवर्क के अभाव में यहां बाहर से सीमेंट की बोरियां तो रेलगाड़ियों से आ जाती है। कोलकात्ता से फूल और आंध्रा से मछली भी पहुंच जाती है। परंतु यहां के मखाना, मछली, पान आदि को बाहर भेजने का उचित प्रबंधन अब तक नहीं हो पाया है। जिसके कारण किसान भी हार मानकर मखाना, पान आदि की खेती लगभग छोड़ चुके है। मिथिला को लेकर रेलवे को अपना नजरिया बदलना होगा। विभागाध्यक्ष डॉ. राम भरत ठाकुर ने किया। जबकि, धन्यवाद ज्ञापन डॉ. हिमांशु शेखर ने दिया। फाउण्डेशन के सचिव मुकेश कुमार झा, डॉ. विजय कुमार यादव, प्रो. रामविनोद ¨सह, प्रो. दायानिधि प्रसाद राय, प्रो. बनारसी यादव, डॉ. जितेन्द्र नारायण, पूर्व एमएलसी डॉ. विनोद चौधरी, मानविकी संकायाध्यक्ष डॉ. रामचंद्र ठाकुर, प्रो. अरूणिमा सिन्हा, डॉ. रामनाथ ¨सह, डॉ. धर्मेंद्र कुमर आदि मौजूद थे।

1378 views
Apr 09 2017 (09:03)
Extension From DBG Ruined Swatantrata Senani SF😞~   1637 blog posts
Re# 2227940-1            Tags   Past Edits
विडम्बना की बात तो ये है जिनके सहयोग से उत्तर बिहार में इतनी रेलवे लाइन बिछाई गई थी,उनका हीं छेत्र "दरभंगा और मिथिला" उत्तर बिहार में रेलवे के द्वारा सबसे ज्यादा उपेक्षित छेत्र है।

1127 views
Apr 09 2017 (11:31)
©The Dark Lord™~   6700 blog posts
Re# 2227940-2            Tags   Past Edits
Tirhut state rail company ne phokat me track nahi bichaya, logo ne doguna tax bhara iske liye. Raj parivaaro ne Angrejo k sath mil ker Janta pe jo atayachaar kiya hai use kaun bool sekta hai.

1006 views
Apr 09 2017 (12:44)
Shiek Kaleem~   148 blog posts
Re# 2227940-3            Tags   Past Edits
Agree these royal families paid lot of money for survey,then gave free land to british.some later bought those loss running rail compainies for huge amunts
Mar 21 2017 (08:13)  आस्था सर्किट स्पेशल ट्रेन से कन्याकुमारी गए तीर्थयात्री (epaper.jagran.com)
back to top
New/Special TrainsECR/East Central  -  

News Entry# 297005     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Extension From DBG Ruined Swatantrata Senani SF😞~  13 news posts
आस्था सर्किट स्पेशल ट्रेन से कन्याकुमारी गए तीर्थयात्री
दक्षिण भारत के प्रमुख तीर्थ स्थलों का दर्शन करेंगे श्रद्धालु
खुशी
जयनगर वाया दरभंगा से एक और आस्था ट्रेन शीघ्र चलेगी, 9 बोगी वाले इस ट्रेन में 550 श्रद्धालुओं को यात्र कराने की योजना
जासं,
...
more...
दरभंगा : दरभंगा जंक्शन से सोमवार को आस्था सर्किट स्पेशल ट्रेन दक्षिण भारत के लिए रवाना हो गई। आईआरसीटीसी के ईस्ट जोन के ग्रुप जीएम देवाशीष चंद्रा, क्षेत्रीय प्रबंधक एसएस करीम, वरीय पर्यवेक्षक संजीव कुमार व प्रबंधक पर्यवेक्षक राजेन्द्र बोरब, संयुक्त जेनरल मैनेजर कौशिक बनर्जी व सुब्रतो बनर्जी आदि ने झंडी दिखाकर श्रद्धालुओं से भरी ट्रेन को रवाना किया। इस दौरान दूर-दराज से आए श्रद्धालुओं में काफी देखी गई। विजय कुमार प्रसाद, हरेराम झा, मीना देवी, रामचंद्र महतो आदि श्रद्धालुओं ने बताया कि लंबे समय से भ्रमण करने का मन बना रहे थे। लेकिन, बेहतर सुविधा नहीं मिलने के कारण तीर्थ स्थलों का भ्रमण नहीं कर पा रहे थे। रेलवे के प्रति सभी श्रद्धालुओं ने आभार जताते हुए कहा कि प्रति व्यक्ति को 10 हजार 192 रुपये में तिरूपति के बालाजी दर्शन, मदूरई के मीनाक्षी मंदिर, रामेश्वरम के रामनाथ स्वामी मंदिर, कन्याकुमारी के कन्याकुमारी टेम्पल व विवेकानंद रॉक, त्रिवेंद्रम के पद्यनाभरवामी टेम्पल आदि तीर्थ स्थलों का दर्शन कराना काफी सराहनीय कार्य है। ग्रुप जीएम देवाशीष चंद्रा ने बताया कि श्रद्धालुओं को 10 दिन व 11 रात की यात्र में रेलवे दक्षिण भारत में प्रमुख तीर्थ स्थलों का दर्शन कराने का काम करेगी। इसके बाद यह ट्रेन 30 मार्च को श्रद्धालुओं को लेकर वापस आ जाएगी। इस ट्रेन का ठहराव समस्तीपुर, मुजफ्फरपुर, पाटलिपुत्र, किउल, आसनसोल व भुवनेश्वर स्टेशनों पर होगा। स्लीपर क्लास की 9 बोगी वाले इस ट्रेन में 550 श्रद्धालुओं को यात्र कराने की योजना थी। लेकिन, अधिक टिकट की बिक्री होने के कारण 6 सौ श्रद्धालुओं को इसमें सवार कराया गया। उन्होंने कहा कि आईआरसीटीसी कर्मियों का र्जिव बर्थ श्रद्धालुओं को मुहैया करा दिया गया। कर्मी को एसएलआर बोगी में शिफ्ट कराने की बात कही गई। भ्रमण करने वालों में दरभंगा से 132, समस्तीपुर से 65, मुजफ्फरपुर से 62, पटना से 310, पाटलीपुत्र से 20 व किउल से 11 श्रद्धालु शामिल हैं। उन्होंने कहा कि श्रद्धालुओं के उत्साह को देखते हुए बहुत जल्द जयनगर वाया दरभंगा से एक और आस्था ट्रेन चलाई जाएगी। भ्रमण करने वालों को धर्मशाला में रात्रि विश्रम, शाकाहारी भोजन, लोकल यात्र कराने के लिए नॉन एसी बस, सुरक्षा की व्यवस्था सहित कई अन्य सुविधाएं दी जाएंगी।दरभंगा से रवाना होती आस्था टेेन alt146 जागरण
Mar 07 2017 (19:21)  मिथिलावासियों को होली स्पेशल ट्रेन का तोहफा (epaper.jagran.com)
back to top
New/Special TrainsSER/South Eastern  -  

News Entry# 295654     
   Tags   Past Edits
Mar 07 2017 (19:21)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Divert ShalimarGorakhpur Express via BKSC*^/55092

Mar 07 2017 (19:21)
Station Tag: Santragachi Junction/SRC added by Divert ShalimarGorakhpur Express via BKSC*^/55092

Mar 07 2017 (19:21)
Station Tag: Bokaro Steel City/BKSC added by Divert ShalimarGorakhpur Express via BKSC*^/55092

Posted by: Divert ShalimarGorakhpur Express via BKSC*^~  140 news posts
बोकारो : दक्षिण पूर्व रेलवे ने होली में घर जानेवाले मिथिलावासियों को होली स्पेशल ट्रेन की सौगात दी है। यात्रियों को होली में घर जाने में कोई असुविधा ना हो इसके लिए संतरागाछी-दरभंगा स्पेशल (00893)ट्रेन चलाने का फैसला लिया है। इसका परिचालन 11 मार्च को किया जाएगा। होली स्पेशल ट्रेन संतरागाछी से दोपहर 3.50 मिनट पर खुलेगी व रात 11.25 पर बोकारो स्टेशन पर आएगी। 1 होली स्पेशल ट्रेन में एसी 2 टायर एक बोगी, एसी 3 टायर की दो बोगी, स्लीपर क्लास की आठ बोगियां व जनरल व सेकेंड एसी की पांच बोगियां होगी। होली स्पेशल ट्रेन में यात्र करने के लिए यात्रियों को स्पेशल किराया भी देना होगा। इस ट्रेन के चलने से बोकारो सहित आसपास के इलाकों के लोगों को सीधा फायदा मिलेगा। यह ट्रेन गोमो, धनबाद, चितरंजन, मधुपर, जसडीह, झाझा, क्यूल, बरौनी, समस्तीपुर होते हुए दरभंगा जाएगी। इसके अलावा होली में यूपी में घर जानेवाले यात्रियों के...
more...
लिए भी अच्छी खबर है अभी भी कई ट्रेनों में जगह खाली है। 1 होली में यूपी-बिहार जानेवाले यात्रियों की अच्छी खासी भीड़ होने के बावजूद होने के बाद भी कई ट्रेनों में तत्काल श्रेणी में ही सीटें खाली हैं। बोकारो से यूपी के लिए सीमित सप्ताहिक ट्रेन है जिसमें अभी भी 12 मार्च तक सीटें खाली हैं। बोकारो से यूपी के लिए रोजाना मात्र एक ट्रेन पुरुषोत्तम जाती है। इसमें आम दिनों में भी सीटें फुल रहती है। बोकारो में बिहार व यूपी के लोगों की संख्या काफी अधिक है। इसी कारण होली में घर जानेवालों की काफी भीड़ रहती है।1
Mar 04 2017 (11:56)  ट्रेन की छत पर सफर कर रहे यात्री (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 295350     
   Tags   Past Edits
Mar 04 2017 (11:56)
Station Tag: Sitamarhi Junction/SMI added by Something Just Like This 🎧~/1056799

Mar 04 2017 (11:56)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Something Just Like This 🎧~/1056799

Posted by: Extension From DBG Ruined Swatantrata Senani SF😞~  13 news posts
ट्रेन की छत पर सफर कर रहे यात्री
Prabhat Khabar | Updated Date: Mar 4 2017 8:30AM
दरभंगा : जान जोखिम में डालकर रेल यात्री सफर करने के लिए मजबूर हैं. पायदान पर लटक कर यात्रा करने की बात तो आम है, जगह के अभाव में ट्रेन की छत पर भी यात्री सवार हो जाते हैं. इसे लेकर आये दिन अभियान चलता है. ऐसे यात्रियों की धर-पकड़ होती है, लेकिन बुनियादी व्यवस्था दुरूस्त नहीं रहने की वजह से यात्री ऐसा करने के लिए मजबूर हैं. यह समस्या सबसे अधिक सीतामढ़ी रेल खंड
...
more...
पर यात्रियों को झेलनी पड़ रही है. रेल प्रशासन के संज्ञान में यह मामला रहने के बावजूद इस ओर कोई तवज्जो नहीं दिया जा रहा. फलत: यात्री की जान सांसत में है.

दरभंगा से समस्तीपुर, बिरौल, जयनगर तथा सीतामढ़ी खंड के लिए गाड़ियां चलती हैं. इन सभी खंडों पर विशेषकर सवारी गाड़ियों को घोर अभाव है. मांग की आधी ट्रेनें भी विभाग मयस्सर नहीं करवा पा रहा है. लिहाजा घंटों इंतजार के बाद भेंड़-बकरियों की तरह ठसाठस भरी बोगियों में सफर करना यात्रियों की नियति से बन गयी है. इसके लिए कई बार आवाज भी उठायी गयी. कई बार हो-हंगामा भी हुआ, आज तक नतीजा सिफर ही रहा, जबकि दरभंगा जंकशन रेलवे का सर्वोच्च दर्जा प्राप्त स्टेशन है. वह भी पूरे समस्तीपुर डिविजन में इकलौता स्टेशन है, जिसने यह ग्रेड हासिल कर रखा है.

सीतामढ़ी खंड पर सबसे अधिक समस्या. यह समस्या मूल रूप से सीतामढ़ी रेल खंड पर सबसे बड़ी है. मालूम हो कि इस खंड पर सवारी गाड़ी की सबसे अधिक समस्या है. इसे लेकर कई बार यात्री हंगामा भी कर चुके हैं. स्टेशन अधीक्षक से लेकर आरपीएफ ने विभाग को इसकी सूचना भी दे रखी है, बावजूद विभाग रेक की कमी का रोना रोती रहती है. सूत्रों की मानें तो इस खंड पर औसतन नित्य 10 से 12 हजार यात्री पैसेंजर ट्रेन से आवागमन करते हैं, लेकिन इस खंड पर सवारी गाड़ी मात्र चार जोरी ही चलती हैं. सुबह पांच बजे 75225 डीएमयू पहली पैसेंजर ट्रेन के रूप में खुलती है. वहीं इसके बाद छह बजे 75207, 10.15 बजे 75229 तथा 11.30 बजे 75255 नंबर की डीएमयू जाती है. इसके बाद शाम 6.40 बजे 75227 डीएमयू अंतिम सवारी गाड़ी के रूप में जंकशन से रवाना होती है. इसमें एक रेक तो महज पांच बोगियों का ही है. स्वाभाविक रूप से यात्रियों को इस वजह से परेशानी होती है.

रेल अधिनियम में सजा का प्रावधान. ट्रेन की छत, इंजन, पायदान या फिर दो बोगियों के बीच बफर पर यात्रा करना कानून अपराध है. रेल अधिनियम की धारा 156 के तहत सजा का प्रावधान है. इसके तहत ऐसा करते पकड़े जाने पर पांच सौ रूपये अर्थदंड या जेल या फिर दोनों सजा हो सकती है. इस संबंध में आरपीएफ इंस्पेक्टर अजय प्रकाश कहते हैं, यात्री ऐसा नहीं करें इसके लिए सख्ती बरती जा रही है. उद्घोषणा के माध्यम से यात्रियों को जागरूक भी किया जाता है. जंकशन पर आनेवाली या फिर यहां से खुलनेवाली गाड़ी में इसे सख्ती से लागू किया गया है.
बोगियों में नहीं मिलती जगह

डीएमयू की रेक में बोगियां पहले की रेक की अपेक्षा काफी कम है. कई सवारी गाड़ी तो महज पांच बोगियों के सहारे ही चल रही है. जाहिर तौर पर यात्रियों को कोच में जगह नहीं मिल पाती. एक सीट पर दो-दो यात्री के बैठने के बावजूद उतने ही यात्री बोगी में खड़े रहते हैं. जब बोगी में खड़े रहने की जगह नहीं मिलती तो यात्री पायदान पर लटकर सफर करते हैं. जिन यात्रियों को पायदान पर जुगाड़ नहीं हो पाता वे ट्रेन की छत पर सवार हो जाते हैं.

हो सकता बड़ा हादसा

पायदान पर लटककर या छत पर सवार होकर सफर करने की वजह से किसी भी दिन बड़ा हादसा हो सकता है. अभी इस खंड पर विद्युतीकरण का कार्य नहीं हुआ है. अभी यह पाइप लाइन में है, बावजूद छत पर चढ़े होने से यात्री किसी भी दुर्घटना के शिकार हो सकते हैं. किसी पेड़ की डाली या फिर किसी पुल के नीचे घटना से इंकार नहीं किया जा सकता. सनद रहे कि करीब नौ साल पूर्व झंझारपुर-लौकहाबाजार खंड पर ट्रेन की खिड़की में साइकिल बांध कर लटकाये जाने की वजह से बड़ा हादसा हो गया था.

जिसमें कई लोगों की जान भी चली गयी थी.
डीएमयू आने से बढ़ी परेशानी

विभाग ने यात्रियों की सुविधा का हवाला देते हुए इस खंड पर डीएमयू सेवा की शुरूआत की. कहा गया कि इसका परिचालन आरंभ होने से यात्रियों के समय की बचत होगी. ससमय वे गणतव्य तक पहुंच सकेंगे. विभाग को भी तकनीकी दृष्टि से कम समय लगेगा. दोनों ओर इंजन होने के कारण अंतिम स्टेशन से वापस इंजन घुमाने में लगनेवाला वक्त बच जायेगा.

उस समय तो यह भी कहा गया था कि इसमें वैक्यूम नहीं हो सकेगा, लेकिन ये सुविधाएं तो नहीं ही मिली, उल्टे परेशानी बढ़ ही गयी. मालूम हो कि रेलवे ने पुराने रेक की जगह डीएमयू रेक दे दिया. इस सेवा के बहाल होने से सवारी गाड़ी की संख्या में कोई वृद्धि नहीं हो सकी.
Feb 19 2017 (08:21)  रक्सौल-नरकटियागंज आमान परिवर्तन शीघ्र (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 294259   Blog Entry# 2170932     
   Tags   Past Edits
Feb 19 2017 (08:21)
Station Tag: Narkatiaganj Junction/NKE added by DBG JN Loves BSK 🤘~/1056799

Feb 19 2017 (08:21)
Station Tag: Raxaul Junction/RXL added by DBG JN Loves BSK 🤘~/1056799

Feb 19 2017 (08:21)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by DBG JN Loves BSK 🤘~/1056799

Posted by: Extension From DBG Ruined Swatantrata Senani SF😞~  13 news posts
जासं, दरभंगा : रक्सौल-नरकटियागंज रेलखंड का आमान परिवर्तन जून माह तक पूरा कर लिया जाएगा । इसके बाद दरभंगा सहित कई स्टेशनों से एक्सप्रेस व सुपरफास्ट ट्रेनों की परिचालन शुरू कर दी जाएगी। उक्त बातें शनिवार को पूर्व मध्य रेल हाजीपुर के जीएम बीएन गायने ने कही। दरभंगा जंक्शन के वार्षीक निरीक्षण करने दौरान उन्होंने प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि मिथिलांचल व कोशी को जोड़ने वाली निर्माणधीन भपतियाही पुल को वर्ष 2017-18 में चालु कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुल निर्माण को लेकर काफी हद तक कार्य को पुरा कर लिया गया है। शेष कार्य को तेजी से करने की बात कही। जयनगर-बरदीबास नेपाल रेलखंड के आमान पर्वितन पर उन्होंने कहा कि 60 किमी तक भूमि अधिग्रहण कर लिया गया है। आगे के कार्यों के लिए दोनों देशों के बीच वार्ता चल रही है। उन्होंने कहा कि सहरसा-सरायगढ़ व बनमंखी व सकरी-लोकहा-निर्मली रेलखंड के आमान परिवर्तन कार्य को तेजी...
more...
से करने की बात कही। दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड के दोहरीकरण पर उन्होंने कहा कि इस कार्य को पुरा करने में लगभग पांच वर्ष का समय लगेगा। हालांकि, इस कार्य को ब्लाक में बांटकर करने की तैयारी की जा रही है। जिस ब्लाक का कार्य पुरा कर लिया जाएगा वहां परिचालन शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने कैश लेस पर उन्होंने कहा कि जोन में 35 स्टेशनों पर 50 मशीन को लगा दिया गया है। एसबीआई बैंक से मशीन मिलते ही शेष स्टेशनों के काउंटरों पर भी कैश लेस की व्यवस्था कर दी जाएगी। नम्मा शौचालय पर उन्होंने चर्चा करते हुए कहा कि समस्तीपुर मंडल को राशि आवंटित करा दी गई है। बहुत जल्द निर्माण कार्य शुरू कर दी जाएगी। बिरौल-कुशेश्वरस्थान प्रस्तावित व घोषित रेलखंड के निर्माण पर उन्होंने कहा कि कुशेश्वरस्थान पक्षी विहार घोषित है। निर्माण कार्य को लेकर वन विभाग से वार्ता चल रही है। हालांकि, हरिनगर तक निर्माण कार्य को बहुत जल्द पुरा कर लिया जाएग। इसके बाद सकरी से हरिनगर तक परिचालन शुरू कर दी जाएगी। मौके पर डीआरएम सुधांशु शर्मा, सीपीआरओ अर¨वद रजक सहित कई अधिकारी उपस्थित थे।जासं, दरभंगा : रक्सौल-नरकटियागंज रेलखंड का आमान परिवर्तन जून माह तक पूरा कर लिया जाएगा । इसके बाद दरभंगा सहित कई स्टेशनों से एक्सप्रेस व सुपरफास्ट ट्रेनों की परिचालन शुरू कर दी जाएगी। उक्त बातें शनिवार को पूर्व मध्य रेल हाजीपुर के जीएम बीएन गायने ने कही। दरभंगा जंक्शन के वार्षीक निरीक्षण करने दौरान उन्होंने प्रेस वार्ता करते हुए कहा कि मिथिलांचल व कोशी को जोड़ने वाली निर्माणधीन भपतियाही पुल को वर्ष 2017-18 में चालु कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुल निर्माण को लेकर काफी हद तक कार्य को पुरा कर लिया गया है। शेष कार्य को तेजी से करने की बात कही। जयनगर-बरदीबास नेपाल रेलखंड के आमान पर्वितन पर उन्होंने कहा कि 60 किमी तक भूमि अधिग्रहण कर लिया गया है। आगे के कार्यों के लिए दोनों देशों के बीच वार्ता चल रही है। उन्होंने कहा कि सहरसा-सरायगढ़ व बनमंखी व सकरी-लोकहा-निर्मली रेलखंड के आमान परिवर्तन कार्य को तेजी से करने की बात कही। दरभंगा-समस्तीपुर रेलखंड के दोहरीकरण पर उन्होंने कहा कि इस कार्य को पुरा करने में लगभग पांच वर्ष का समय लगेगा। हालांकि, इस कार्य को ब्लाक में बांटकर करने की तैयारी की जा रही है। जिस ब्लाक का कार्य पुरा कर लिया जाएगा वहां परिचालन शुरू कर दी जाएगी। उन्होंने कैश लेस पर उन्होंने कहा कि जोन में 35 स्टेशनों पर 50 मशीन को लगा दिया गया है। एसबीआई बैंक से मशीन मिलते ही शेष स्टेशनों के काउंटरों पर भी कैश लेस की व्यवस्था कर दी जाएगी। नम्मा शौचालय पर उन्होंने चर्चा करते हुए कहा कि समस्तीपुर मंडल को राशि आवंटित करा दी गई है। बहुत जल्द निर्माण कार्य शुरू कर दी जाएगी। बिरौल-कुशेश्वरस्थान प्रस्तावित व घोषित रेलखंड के निर्माण पर उन्होंने कहा कि कुशेश्वरस्थान पक्षी विहार घोषित है। निर्माण कार्य को लेकर वन विभाग से वार्ता चल रही है। हालांकि, हरिनगर तक निर्माण कार्य को बहुत जल्द पुरा कर लिया जाएग। इसके बाद सकरी से हरिनगर तक परिचालन शुरू कर दी जाएगी। मौके पर डीआरएम सुधांशु शर्मा, सीपीआरओ अर¨वद रजक सहित कई अधिकारी उपस्थित थे।

3241 views
Feb 19 2017 (19:23)
ECR ingnore the CHAMPRAN   62 blog posts
Re# 2170932-1            Tags   Past Edits
Kitani baar date badega ab to hd ho gayi GC NKE -RXL

3208 views
Feb 19 2017 (19:26)
Extension From DBG Ruined Swatantrata Senani SF😞~   1637 blog posts
Re# 2170932-2            Tags   Past Edits
Bas Dekhte Jaaiye Date Ko Badhte Huye....Aur ECR Ki Jai Jai Karte Rahiye!!
Page#    Showing 1 to 20 of 536 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site