Full Site Search  
Sat Jun 24, 2017 09:14:58 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;

DHO/Dholpur Junction (3 PFs)
دھولپر جنکشن     धौलपुर जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 47
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Jn Pt MHF/AGC/GWL,Dholpur
State: Rajasthan
Elevation: 177 m above sea level
Zone: NCR/North Central
Division: Agra
DHO/Dholpur Junction is in Recent News
Nearby Stations in the News

Rating: 3.3/5 (38 votes)
cleanliness - good (5)
porters/escalators - good (4)
food - average (5)
transportation - average (5)
lodging - average (5)
railfanning - good (5)
sightseeing - good (4)
safety - good (5)

Nearby Stations

GHER/Gher 6 km     NPH/Nurpura 7 km     MIA/Mania 12 km     HET/Hetampur 13 km     GIS/Garhi Sandra 18 km     SIKD/Sikroda Kwanri 19 km     SRTE/Soorothee 23 km     MRA/Morena 27 km     JJ/Jajau 27 km     BARI/Bari 31 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 12 of 12 News Items  
Yesterday (13:39)  आरक्षण के लिए जाटों का चक्का जाम, अलवर-मथुरा रेल ट्रैक ठप, भरतपुर बंद (aajtak.intoday.in)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 306245     
   Tags   Past Edits
Jun 23 2017 (13:39)
Station Tag: Bedham/BEDM added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐~/1366147

Jun 23 2017 (13:39)
Station Tag: Alwar Junction/AWR added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐~/1366147

Jun 23 2017 (13:39)
Station Tag: Mathura Junction/MTJ added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐~/1366147

Jun 23 2017 (13:39)
Station Tag: Dholpur Junction/DHO added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐~/1366147

Posted by: ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐~  86 news posts
राजस्थान के भरतपुर में आरक्षण को लेकर जाटों ने जिले के सभी रेल और सड़क मार्गों पर चक्का जाम शुरू कर दिया है. भरतपुर-धौलपुर के जाट ओबीसी में आरक्षण की मांग को लेकर पिछले दो वर्षों से आंदोलनरत है, जिसके तहत उन्होंने करीब 15 दिन पहले सरकार को 23 जून से चक्का जाम करने की चेतावनी दे दी थी.
हालांकि एक दिन पहले सरकार पर धोखाधड़ी का आरोप लगाकर कांग्रेस विधायक और भरतपुर के पूर्व राजा विश्वेन्द्र सिंह के नेतृत्व में अलवर-मथुरा रेलवे मार्ग पर बहज गाँव में जाम लगा दिया. रेलवे ने धौलपुर और भरतपुर में आरपीएफ की टीमें तैनात कर रखी हैं.
फिलहाल
...
more...
सुबह से ही अलवर-भरतपुर, मथुरा, बेढम, डीग पर जाट आंदोलनकारियों ने सड़क पर जाम लगाना शुरू कर दिया. साथ ही आरक्षण की मांग को लेकर टायर जलाकर विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. जिला प्रशासन ने भी सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतजाम किए हुए हैं. हालांकि आंदोलनकारियों को देखते हुए पुलिस भी मूकदर्शक बनी हुई है. जाटों के आरक्षण आंदोलन की वजह से यात्रियों को भारी परेशानी हो रही है. रेलवे प्रशासन ने अब तक तीन टेनें रद्द की हैं, जबकि 6 ट्रेनों के रूट बदले हैं.
जाटों की मांग
जाट आरक्षण संघर्ष समिति के संयोजक नेम सिंह के अनुसार दोनों जिले के जाटों को ओबीसी में आरक्षण की अधिसूचना सरकार को शीघ्र ही जारी करनी चाहिए. जब तक यह फैसला नहीं हो जाता, तब आंदोलन खत्म नहीं होगा
कांग्रेस विधायक एवं पूर्व राजपरिवार के सदस्य विश्वेन्द्र सिंह के अनुसार राज्य सरकार जाटों को आरक्षण के मुद्दे पर हमेशा गुमराह करती रही है, लेकिन इस बार लड़ाई आर पार की होगी. उन्होंने कहा कि सरकार ने ओबीसी आयोग की सर्वे रिपोर्ट को ले लिया है, लेकिन इस रिपोर्ट पर कार्यवाही कर कब तक आरक्षण की अधिसूचना जारी की जाएगी. सरकार यह बताए तभी आंदोलन को खत्म किया जाएगा.
सभी मंत्रियों पर झूठ बोलने का आरोप लगाते हुए जाट मुस्लिम मंत्री युनूस खान से जाट आरक्षण की घोषणा करवाने पर अड़े हैं. इनका कहना है कि रमजान का महीना है और पीडब्लूडी मंत्री युनूस खान ने रोजे रख रखे हैं, इसलिए झूठ नहीं बोल सकते हैं. लिहाजा जाट आरक्षण की घोषणा इन्हीं से करवाई जाए.
उधर समाज कल्याण मंत्री अरुण चतुर्वेदी का कहना है कि ओबीसी की जाट आरक्षण पर रिपोर्ट गुरुवार शाम मुख्यमंत्री को सौंप दी गई है, ऐसे में जाट आंदोलन खत्म कर दें.
आंदोलन की वजह
राजस्थान में धौलपुर और भरतपुर के जाटों को छोड़कर सभी जिलों के जाटों को आरक्षण मिला हुआ है. इन्हें इस आधार पर नहीं मिला था कि इन जिलों में जाट राजघराना रहा है. धौलपुर के जाट राजघराने की पूर्व महरानी तो खुद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे हैं. मगर धौलपुर में जाटों की संख्या न के बराबर है, इसलिए सारा आंदोलन भरतपुर में हो रहा है. बाद में 2002 में तत्कालीन गहलोत सरकार ने इन जिलों के जाटों को भी राज्य सरकार में आरक्षण दे दिया था, मगर 2015 में सुप्रीम कोर्ट ने इस पर रोक लगा दी.
Oct 25 2016 (07:15)  गंगापुर से सरमथुरा रेवले लाइन डालने का कार्य शुरू किया जाए: सिंह (m.bhaskar.com)
back to top
PoliticsWCR/West Central  -  

News Entry# 283947   Blog Entry# 2035553     
   Tags   Past Edits
Oct 25 2016 (7:15AM)
Station Tag: Dholpur Junction/DHO added by 12903 स्वर्ण मंदिर मेल~/1035494

Oct 25 2016 (7:15AM)
Station Tag: Gangapur City/GGC added by 12903 स्वर्ण मंदिर मेल~/1035494

Posted by: 12952 GKP Trip 28 June BSK~  84 news posts
डांगक्षेत्रीय विकास बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष डाॅ.सत्यनारायण सिंह ने रेलवे सचिव को पत्र लिखकर क्षेत्र की आवश्यकताओं को देखते हुए धौलपुर-गंगापुर वाया करौली रेलवे लाईन का कार्य प्रारंभ किए जाने की मांग की है। सिंह ने बताया कि सरमथुरा धौलपुर रेलवे लाईन की गेज परिवर्तन के स्थान पर पृथक ब्राडगेज की नई रेलवे लाईन की अलग से डीपीआर बनती रहेगी। इस क्षेत्र की आवश्यकताओं को देखते हुए नई रेलवे लाईन गंगापुर से सरमथुरा वाया करौली डालने का कार्य शीघ्र प्रारम्भ किया जाय एवं गंगापुर अथवा करौली में पृथक से रेलवे कार्यालय स्थापित हो। वर्तमान में रेलवे का ग्वालियर कार्यालय इस परियोजना को देख रहा है जिसको कोई प्राथमिकता इस रेलवे लाईन के लिए नहीं है।
उन्होंने बताया कि जब तक राजस्थान के
...
more...
जयपुर कार्यालय में यह कार्य स्थान्तरित नहीं होगा अथवा गंगापुर करौली में कार्यालय नहीं खुलेगा तब तक भूमि अधिग्रहण एवं निर्माण कार्य में तेजी नहीं आएगी। बरना इस परियोजना के निर्माण में देरी होगी आम बजट का हिस्सा बनने के बाद यह परियोजना ठंडे बस्ते में चली जाएगी। समूचे देश में गेज परिवर्तन करने का निर्णय तो रेलवे ने ले रखा है और इस कारण सरमथुरा धौलपुर गेज परिवर्तन तो नीतिगत फैसले के अधीन आता है। यह तो सरल सीधा कार्य है। अब परियोजना के 2 भाग किये जाने चाहिए। एक गेज परिवर्तन ओर दूसरा सरमथुरा से गंगापुर नई रेलवे लाईन डालने का। यदि अब नई ब्राड गेज लाईन से यानि दोनों को एक साथ जोड़कर पुनः सर्वे हुआ,परियोजना बनी,स्वीकृति हुई तो लम्बी अवधि होने के साथ परियोजना के ठंडे बस्ते में पड़ने की पूरी संभावना हो गई है।
सिंह ने बताया कि कुछ प्रभावशाली राजनेता गंगापुर-धौलपुर वाया करौली रेल परियोजना में रोड़ा अटका रहे हैं। तब्दीली कराकर धौलपुर सरमथुरा नैरो गेज रेलवे लाईन(हैरीटेज लाईन)रखने का प्रयास कर रहे हैं।
इसके फलस्वरूप धौलपुर-सरमथुरा के बीच ब्राड गेज की नई रेलवे लाईन डालने की आवश्यकता होगी और पुनः परियोजना रिवाइज होगी। सर्वेक्षण,आमदनी,व्यय,फाईनेंसियल एनेलेसिस होगी। अब रेल बजट पृथक से नहीं होगा एवं आम बजट का भाग होगा,पुनः यह मामला वित्त मंत्रालय में जायेगा।

3354 views
Oct 25 2016 (10:08)
Narendra yadav   158 blog posts
Re# 2035553-1            Tags   Past Edits
धौलपुर जिले की उत्तर प्रदेश सीमा पर पड़ने वाले भाडई और जाजऊ रेलवे स्टेशन के बीच तेज बारिश की वजह से रेलवे की पटरियां धंस जाने से उत्तर-मध्य रेलवे का रेल यातायात प्रभावित रहा। दिल्ली से आगरा होकर झांसी की ओर जाने वाली गाड़ियों के साथ ग्वालियर से आगरा होकर दिल्ली जाने वाली गाड़ियां 3 से 4 घंटे देरी से चलती हुई दिखाई दीं।
मामला यूं है कि आगरा और धौलपुर के बीच हुई तेज बारिश की वजह से जाजऊ रेलवे स्टेशन के पास गेट नंबर 480 पर रेलवे लाइन धंस गई। रेलवे लाइन के धंस जाने की सूचना मिलते ही आगरा रेल मंडल से पहुंचे कर्मचारियों ने तकरीबन 4 घंटे की मशक्कत के बाद पटरियों को ठीक कर यातायात को बहाल
...
more...
कर दिया है। सुबह 4:00 बजे से 8:00 बजे तक रेल पटरी को दुरुस्त करने के दौरान सुबह धौलपुर होकर निकलने वाली सभी गाड़ियां 3 से 4 घंटे देरी से चल रही हैं।

3658 views
Jul 17 2016 (14:07)
King of Indian Railways Mumbai Rajdhani^~   82722 blog posts   5297 correct pred (78% accurate)
Re# 1932411-1            Tags   Past Edits
Tracks were blocked for 4 hours due to heavy rains from 4am to 8am which is causing this heavy delays today in JHS NDLS section
May 03 2016 (02:27)  फोर्ट स्टेशन पर गंदगी देख जीएम ने जताई नाराजगी (huntnews.in)
back to top
IR AffairsNCR/North Central  -  

News Entry# 266505     
   Tags   Past Edits
May 03 2016 (2:28AM)
Station Tag: Agra Fort/AF added by 👊বিপ্লৱ কাগযুং ↔ बिप्लब कागयुगं👊~/1329476

May 03 2016 (2:28AM)
Station Tag: Bayana Junction/BXN added by 👊বিপ্লৱ কাগযুং ↔ बिप्लब कागयुगं👊~/1329476

May 03 2016 (2:28AM)
Station Tag: Agra Cantt./AGC added by 👊বিপ্লৱ কাগযুং ↔ बिप्लब कागयुगं👊~/1329476

Posted by: بیپلوب کاگیونگ~  395 news posts
उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक अरुण सक्सेना ने सोमवार को आगरा फोर्ट रेलवे स्टेशन पर गंदगी और अव्यवस्थाएं देखकर नाराजगी जताई। वह बयाना-आगरा रेलखंड का विंडो ट्रेलिंग मुआयना करने जा रहे थे। आगरा फोर्ट पर ट्रेन के रुकने पर प्लेटफार्म नंबर चार पर गंदगी देखी तो ट्रेन से नीचे उतर आए। फिर एक घंटे तक स्टेशन का निरीक्षण किया।
वह पूर्वाह्न 11 बजे फोर्ट स्टेशन पहुंचे। प्लेटफार्म नंबर चार पर गंदगी देखकर ट्रेन से उतर आए। ये देखकर अफसरों में हड़कंप मच गया। उन्होंने प्लेटफार्म नंबर पांच और एक पर लग रही आटोमेटिक वेंडिंग मशीन, पार्सलघर, कैरिज वैगन के साथ ही सर्कुलेटिंग एरिया का भी निरीक्षण किया। हर जगह उन्हें गंदगी मिली। उन्होंने अफसरों से नाराजगी जताई। साथ ही सर्कुलेटिंग एरिया की
...
more...
बाउंड्रीवाल को पांच से आठ फुट ऊंची कराने और प्लेटफार्म नंबर एक पर स्वचालित सीढ़ी लगवाए जाने के निर्देश दिए। साफ-सफाई पर ध्यान देने और पार्सलघर को जल्द शिफ्ट करने को कहा। इसके बाद वह बयाना रेलखंड के निरीक्षण पर गए। बता दें, जीएम आगरा के दो दिवसीय दौरे पर आए हैं। इस दौरान एडीआरएम शीलेंद्र प्रताप सिंह, सीनियर डीसीएम शशिभूषण, पीआरओ भूपिंदर ढिल्लन आदि मौजूद रहीं।
रेल ट्रैकों के किनारे रोपे जाएंगे पांच लाख पौधे
रेल ट्रैक के किनारों पर हरियाली विकसित की जाएगी। इस काम में वन विभाग की मदद ली जाएगी। इसके अलावा रेलवे की खाली जमीन में पौधे लगाए जाने की भी योजना है। शुरू में उत्तर रेलवे में ट्रैक के किनारे पांच लाख पौधे लगाए जाएंगे।
हरित भारत अभियान के तहत रेलवे बोर्ड के अधिकारियों ने पंजाब और हरियाणा के वन विभाग के अफसरों के साथ बैठक करके इस योजना को अमलीजामा पहनाने की कवायद शुरू कर दी है। उत्तर रेलवे में ट्रैक के किनारों को हरियाली से जल्द ही आच्छादित कर दिया जाएगा। इसके साथ ही ट्रैक के आसपास की खाली जमीनों पर कब्जे रोकने के लिए भी पौधे लगाए जाने पर सहमति बनी है। उत्तर रेलवे के बाद उत्तर मध्य रेलवे समेत अन्य जोन में भी अधिकारी इस योजना को लागू करने का काम करेंगे। इससे ट्रैकों के आसपास होने वाली गंदगी भी साफ हो जाएगी। ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को यात्रा के दौरान सुखद अनुभूति होगी।
May 01 2016 (10:59)  आम ट्रेनों जैसा हुआ शताब्दी का हाल (www.amarujala.com)
back to top
PoliticsNCR/North Central  -  

News Entry# 266354   Blog Entry# 1827887     
   Tags   Past Edits
May 01 2016 (10:59AM)
Station Tag: Bina Junction/BINA added by REH RULZZZ/1206649

May 01 2016 (10:59AM)
Station Tag: Mathura Junction/MTJ added by REH RULZZZ/1206649

May 01 2016 (10:59AM)
Station Tag: Lalitpur/LAR added by REH RULZZZ/1206649

May 01 2016 (10:59AM)
Station Tag: Agra Cantt./AGC added by REH RULZZZ/1206649

May 01 2016 (10:59AM)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by REH RULZZZ/1206649

May 01 2016 (10:59AM)
Station Tag: Dholpur Junction/DHO added by REH RULZZZ/1206649

May 01 2016 (10:59AM)
Station Tag: Morena/MRA added by REH RULZZZ/1206649

May 01 2016 (10:59AM)
Station Tag: Bhopal HabibGanj/HBJ added by REH RULZZZ/1206649

May 01 2016 (10:59AM)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by REH RULZZZ/1206649

May 01 2016 (10:59AM)
Train Tag: Bhopal Habibganj - New Delhi Shatabdi Express/12001 added by REH RULZZZ/1206649

Posted by: REH RULZZZ~  35 news posts
झांसी। नई दिल्ली से हबीबगंज के मध्य चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस के स्टापेज बढ़ने से इस वीआईपी ट्रेन का हाल आम गाड़ियों जैसा होता जा रहा है। इतना ही नहीं समय की पाबंद रही यह ट्रेन अब लेटलतीफी का भी शिकार हो रही है। दिल्ली पहुंचने में यह ट्रेन अधिकांश दिन लेट हो रही है।
भारतीय रेल में जब वीआईपी शताब्दी एक्सप्रेस ट्रेनों का संचालन शुरू हुआ था, उसमें एक ट्रेन (गाड़ी संख्या 12001/12002) दिल्ली से झांसी के मध्य भी चलाई गई थी। उस समय यह ट्रेन दिल्ली के बाद मथुरा, आगरा व ग्वालियर में ही रुकती थी। बाद में इसको झांसी से आगे भोपाल स्टेशन तक कर दिया गया। इस ट्रेन में अधिकांश वीआईपी या धनाढ्य लोग ही यात्रा करते थे।
...
more...

वापसी में दिल्ली पहुंचने का टाइम अच्छा होने के कारण (रात 10.30 बजे) महीनों यह ट्रेन पूरी तरह भरकर चलती थी। समय के साथ यह गाड़ी राजनीति की भेंट चढ़ गई। इसे मुरैना, धौलपुर व ललितपुर तीन नए ठहराव स्टेशन दे दिए गए। इतना ही नहीं एक जुलाई 2014 को इस गाड़ी का विस्तार हबीबगंज स्टेशन तक कर दिया गया था। अब यह गाड़ी रात में साढ़े ग्यारह बजे की जगह बारह बजे के बाद ही दिल्ली पहुंचती है। देर रात ट्रेन के दिल्ली पहुंचने के कारण यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।
यही कारण है कि इस गाड़ी में दिनों दिन यात्रियों की संख्या कम होती जा रही है। भोपाल से चलने वाले वीआईपी यात्री रात में चलने वाली हबीबगंज एक्सप्रेस को अधिक प्राथमिकता देने लगे हैं। इसी तरह आगरा से दिल्ली चलने वाले यात्रियों की संख्या बहुत कम रह गई है। आगरा के बाद इस ट्रेन की अधिकांश सीटें खाली नजर आती हैं।
दरअसल, ट्रेन के स्टापेज बढ़ने से इस ट्रेन का समय पालन भी बिगड़ गया है, जिस उद्देश्य से मुरैना व धौलपुर को ठहराव स्टेशन बनाया गया था, यह उद्देश्य भी पूरा नहीं हो पा रहा है। इन स्टेशनों से अधिकांश दिन इक्का- दुक्का यात्री ही सवार होते हैं। दूसरा, वापसी में यह ट्रेन अक्सर लेट हो जाती है। हबीबगंज में भी पौन घंटे ट्रेन रुकती है। इस अवधि में यात्रियों को चढ़ना व उतरना भी पड़ता है। इस कारण ट्रेन में ठीक से सफाई भी नहीं हो पा रही है। रेल अफसर इस परेशानी को भलीभांति समझते हैं, मगर उनके हाथ में कुछ नहीं है।
‘किसी भी ट्रेन का ठहराव स्टेशन बढ़ाने का निर्णय रेलवे बोर्ड लेता है। इसमें मंडल स्तर पर कोई निर्णय नहीं लिया जा सकता है।’
गिरीश कंचन
पीआरओ झांसी।
बीना भी हो सकता है भविष्य का ठहराव
शताब्दी एक्सप्रेस के बीना स्टेशन पर ठहराव के लिए भी राजनीतिज्ञ प्रयासरत हैं। चूंकि, बीना में ऑयल रिफाइनरी है, इस कारण ट्रेन के ठहराव को अधिक महत्व दिया जा रहा है। भविष्य में बीना स्टेशन पर भी शताब्दी एक्सप्रेस रुकने लगे, इससे इंकार नहीं किया जा सकता है।

7 posts - Sun May 01, 2016 - are hidden. Click to open.

6 posts - Mon May 02, 2016 - are hidden. Click to open.

2 posts - Tue May 03, 2016 - are hidden. Click to open.

9808 views
May 19 2016 (07:29)
456~   749 blog posts   1149 correct pred (68% accurate)
Re# 1827887-18            Tags   Past Edits
Lar to halt remove muahkil h kynki next election me ye kaam aayega
Page#    Showing 1 to 12 of 12 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.