Full Site Search  
Wed Mar 29, 2017 22:43:10 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;

GLG/GulabGanj (3 PFs)
गुलाबगंज     गुलाबगंज

Track: Triple Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 14
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Gulabhganj,Vidisha
State: Madhya Pradesh
Elevation: 433 m above sea level
Zone: WCR/West Central
Division: Bhopal
No Recent News for GLG/GulabGanj
Nearby Stations in the News

Rating: 3.4/5 (8 votes)
cleanliness - good (1)
porters/escalators - average (1)
food - average (1)
transportation - good (1)
lodging - good (1)
railfanning - excellent (1)
sightseeing - good (1)
safety - average (1)

Nearby Stations

SUMR/Sumer 8 km     PAI/Pabai 9 km     SORI/Sorai 16 km     BAQ/Ganj Basoda 18 km     RKRI/Rao Khedi 21 km     RKDI/Raukheri 21 km     BHS/Vidisha 22 km     BET/Bareth 28 km     SCI/Sanchi 31 km     CLHT/Chulheta 32 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 1 of 1 News Items  
Sep 23 2014 (12:52)  रेलवे फुट ब्रिज अधर में - Railway Foot Bridge in the balance -Patrika.com (www.patrika.com)
back to top
Other NewsWCR/West Central  -  

News Entry# 195297     
   Tags   Past Edits
Sep 23 2014 (12:52PM)
Station Tag: GulabhGanj/GLG added by ankur_gupta0602/751593

Sep 23 2014 (12:52PM)
Station Tag: Harda/HD added by ankur_gupta0602/751593

Posted by: ankurgupta0602~  4691 news posts
हरदा। विदिशा जिले के गुलाबगंज रेलवे स्टेशन पर पिछले साल 26 फरवरी 2013 को फुट ओवरब्रिज नहीं होने से दो बच्चे खड़ी हुई मालगाड़ी के नीचे से निकलकर दूसरे छोर पर जा रहे थे। इसी दौरान उनकी फॉस्ट ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई थी। हादसे के बाद स्टेशन के बाजू से रहने वाले लोगों ने आक्रोश दिखाते हुए पीडब्ल्यूएस और स्टेशन मास्टर के साथ मारपीट करते हुए कमरे में आग लगा दी थी, जिसमें पीडब्ल्यूएस की मौके पर ही मौत हो गई थी, जबकि स्टेशन मास्टर गंभीर रूप से झुलस गए थे।
इस हादसे के बाद रेलवे प्रशासन ने अधिक आबादी वाले तमाम छोटे स्टेशनों पर फुट ओवरब्रिज बनाने और जिन स्टेशनों पर बने ब्रिजों की लंबाई
...
more...
बढ़ाने के निर्देश दिए थे, ताकि गुलाबगंज की घटना की पुनर्रावृत्ति न हो। इसके लिए तत्कालीन सहायक मंडल इंजीनियर ने स्थानीय रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर बने ब्रिज की लंबाई बढ़ाने का प्रस्ताव बनाकर भेजा था। लेकिन एक साल बीतने के बाद भी रेलवे ने इसकी सुध नहीं ली।
जानकारी के अनुसार रेलवे स्टेशन से प्रतिदिन अप और डाऊन ट्रैक में लगभग 20 ट्रेनें नियमित तथा 28 साप्ताहिक का स्टॉपेज होता है। जिनसे प्रतिदिन लगभग 1500 यात्री आते-जाते हैं। लेकिन यात्रियों को प्लेटफार्म नंबर एक अथवा तीन की तरफ सड़क तक जाने के लिए रेल लाइन में से होकर जाना पड़ता है। इसके अलावा वार्ड 29 डॉ. जाकिर हुसैन वार्ड और रेलवे कॉलोनी के लोगों को भी प्लेटफार्म से उतरकर रेल पटरी में से ही निकालना होता है, क्योंकि रेलवे डबल फाटक से रेलवे स्टेशन तक आने के लिए उन्हें एक किमी का चक्कर लगाना पड़ता है। ऎसी स्थिति में रोजाना लोग जान-जोखिम में डालकर निकलते हैं।
महाप्रबंधक और प्रबंधक को दे चुके ज्ञापन
रेलवे प्लेटफार्म पर स्थित फुट ओवरब्रिज की लंबाई बढ़ाने के लिए नागरिकों द्वारा कई बार पश्चिम मध्य रेलवे के महाप्रबंधक और भोपाल मंडल रेल प्रबंधक को ज्ञापन दे चुके हैं। जिसमें उनके द्वारा आवागमन की परेशानियों से अवगत कराया गया था। जिन्होंने स्थानीय अधिकारियों को ब्रिज के दोनों की तरफ की लंबाई का सर्वे कराकर इस्टीमेट बनाकर भेजने के लिए कहा था। जिस पर तत्कालीन अधिकारी द्वारा प्रस्ताव भेजा था, लेकिन अभी तक निर्माण कराने को लेकर रेलवे बोर्ड से कोई जवाब नहीं मिला है। रोजाना लोगों को जान जोखिम में डालकर रेलवे लाइन से आना-जाना पड़ रहा है।
स्कूल जाते हैं बच्चे
वार्ड में रहने वाले अधिकांश बच्चे रेलवे स्कूल और सेंटमेरी में पढ़ रहे हैं। जिन्हें स्कूल जाने के लिए रेल पटरी ही पार करना पड़ती है। ट्रेनों की लगातार आवाजाही से हादसे की आशंका बन रहती है। गुलाबगंज की घटना से भयभीत परिजन बच्चों को स्कूल छोड़ने और वापस लेकर आने के लिए जाते हैं। इसके अलावा गरीब वर्ग की महिलाओं को भी राशन लेने इसी रास्ते से जाना पड़ता है।
हादसे की आशंका
स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों और अन्य लोगों को रेल पटरी में से निकलना पड़ता है। हर दिन दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। प्लेटफार्म के फुट ओवरब्रिज की लंबाई बढ़ाने के लिए महाप्रबंधक और प्रबंधक को ज्ञापन दे चुके हैं। महिलाओं को भी राशन लेने के लिए रेलवे फाटक पार करना पड़ता है। ब्रिज की लंबाई बढ़ाई जाना जरूरी है। शेख नईम, पार्षद, वार्ड 29, डॉ. जाकिर हुसैन वार्ड, हरदा
Page#    Showing 1 to 1 of 1 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site