Full Site Search  
Fri Apr 28, 2017 00:24:30 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;
no description available

GWL/Gwalior Junction (5 PFs)
گوالى ير جنکشن     ग्वालियर जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 5
Number of Halting Trains: 151
Number of Originating Trains: 11
Number of Terminating Trains: 11
Junction Point - Guna/Jhansi/Agra/Etawah/Sabalgarh, Racecourse Rd, Gwalior
State: Madhya Pradesh
Zone: NCR/North Central
Division: Jhansi
14 Travel Tips
No Recent News for GWL/Gwalior Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 3.8/5 (250 votes)
cleanliness - good (32)
porters/escalators - good (32)
food - good (32)
transportation - good (32)
lodging - good (31)
railfanning - good (31)
sightseeing - good (30)
safety - good (30)

Nearby Stations

BLNR/Birlanagar Junction 3 km     GOPA/Ghosipura 3 km     MTJL/Motijheel 8 km     STLI/Sithouli 9 km     BBY/Bhadroli 11 km     NGON/Naugaon 13 km     RRU/Rayaru 14 km     MIAL/Milaoli 14 km     SLV/Sandalpur 16 km     SAC/Sanichara 18 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 404 News Items  next>>
   ()
News Entry# 0     
   Actions
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
   ()
News Entry# 0     
   Actions
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
Yesterday (08:52)  ग्वालियर की पहचान और शान है नैरोगेज (www.patrika.com)
News Entry# 300901     
   Tags   Past Edits
Apr 27 2017 (08:52)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~  458 news posts
ग्वालियर शहर में लाइट नैरोगेज रेलवे की सेवा 29 नवम्बर 1905 से प्रारंभ हुई। शहर के अंदर ग्वालियर से कम्पूकोठी और मुरार के बीच चला करती थी। इसके दो उपयोग थे। सवारियों के अलावा औद्योगिक और मिलिट्री जरूरतें पूरी करना। हालंकि शुरुआती दौर में यह ट्रेन केवल सरकारी जरूरतें पूरी करती थी। बाद में इसे सवारी गाड़ी के रूप में भी उपयोग किया जाने लगा। इसका निर्माण सिंधिया शासक माधोराव सिंधिया ने कराया था।
शहर के अंदर ये लाइट नैरोगेज ट्रेन लश्कर, मुरार और हजीरा तीनों उपनगरों को जोड़ती थी। इसके अलावा ये ट्रेन ग्वालियर और दूसरे आसपास के 28 कस्बों को जोड़ती थी। शहर के अंदर चलने से पहले 1895 में ये नैरोगेज ट्रेन भिण्ड, 1889 में ग्वालियर-शिवपुरी और ग्वालियर शहर
...
more...
से श्योपुर कलां 1904 तक पहुंची। ग्वालियर से श्योपुर तक दो सौ किलोमीटर लंबा ट्रैक एक शानदार विरासत है। इसके ट्रैक की चौड़ाई 2 फीट है। विशेष बात ये है कि ये ट्रैक अभी भी जिंदा है। रोजाना पांच हजार से अधिक लोगों की ये लाइफ लाइन है। ये देश का सबसे लंबा और संसार के टॉप फाइव फाइव नैरोगेज ट्रैक में शुमार है। जिस पर भारतीय रेलवे को नाज है।
वर्तमान में नैरोगेज
शहर में नैरोगेज चलाने वाला ग्वालियर अब किसी तरह इस ट्रैन को ढो रहा है। एक तरह से लाइट नैरोगेज ग्वालियर की विरासत है। ग्वालियर शहर इससे पीछा छुड़ाने में लगा है। ये एनसीआर का हिस्सा है। अभी भी इस नैरोगेज से रोजाना करीब तीन से चार लाख रुपए की आमदनी होती है।
एनसीआर में लाइट नैरोगेज इस ट्रेन की प्रॉपर्टी करीब 100 करोड़ से अधिक है। शहर का इसका ट्रैक अब लोगों के कब्जे में है।आधिकारिक जानकारी के मुताबिक इस हैरीटेज नैरोगेज ट्रैक को ब्राडगेज में बदलने के लिए बाकायदा प्रस्ताव आ चुका है। रेलवे ने इसको ब्रॉड गेज में तब्दील करने करने का प्रपोजल बना लिया है। इसमें 1200 करोड़ खर्च किए जाएंगे।
Yesterday (07:31)  पहले ही दिन हमसफर की टोटियां चोरी (m.patrika.com)
back to top
Commentary/Human InterestNCR/North Central  -  

News Entry# 300895   Blog Entry# 2252274     
   Tags   Past Edits
Apr 27 2017 (07:31)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by 30547 30549 30553 30558 For TATA😍😘^~/1421836

Apr 27 2017 (07:31)
Train Tag: Hazrat Nizamuddin - Durg HumSafar Express/22868 added by 30547 30549 30553 30558 For TATA😍😘^~/1421836

Posted by: Rest In Peace Our Vinny Of The Burning Train🙏😔^~  276 news posts
ग्वालियर . निजामुद्दीन से दुर्ग की ओर जाने वाली हमसफर एक्सप्रेस बुधवार को पहली बार ग्वालियर पहुंची। ट्रेन को अत्याधुनिक तरीके से तैयार किया है, लेकिन सुरक्षा व्यवस्था न होने के कारण निजामुद्दीन से चलने से पहले पहले ही इसमें शरारत्ती तत्वों ने नल की टोटियां निकाल लीं। आनन-फानन में ट्रेन में पुरानी टोटियां लगाकर ट्रेन को रवाना किया।
22 अप्रैल को दुर्ग से चलकर निजामुद्दीन पहुंची इस ट्रेन को दो दिन तक निजामुद्दीन स्थित तुगलकाबाद स्टेशन खड़ी थी। मंगलवार को ट्रेन को चैक किया तो ट्रेन के बी-1 से बी- 7 तक की लगभग बीस नलों की टोटियां गायब थीं। बुधवार की सुबह 8.30 बजे ट्रेन को निजामुद्दीन से चलना था। इसलिए ट्रेन के इन कोचों में पुराने नलों की
...
more...
टोटियों को लगाकर ट्रेन को रवाना करवाया गया।
29 यात्री ग्वालियर से हुए रवाना
बुधवार को आई हम सफर एक्सप्रेस में ग्वालियर से भी यात्रियों ने सफर किया। ग्वालियर स्टेशन पर आने के बाद पहले दिन 29 यात्रियों को लेकर यह ट्रेन रवाना हुई। ट्रेन का प्रचार-प्रसार ज्यादा न होने के कारण ट्रेन में लगभग छह सौ सीटे खाली रहीं।

16 posts - Yesterday - are hidden. Click to open.

213 views
Yesterday (17:18)
Rest In Peace Our Vinny Of The Burning Train🙏😔^~   3583 blog posts   15224 correct pred (79% accurate)
Re# 2252274-21            Tags   Past Edits
Unhone Bola Hoga Hi - Fi,Akhbaar Waalon Ne Samajh Liya Wi - Fi😂

246 views
Yesterday (17:22)
दिव्यांशु गुप्ता^~   33348 blog posts   26017 correct pred (77% accurate)
Re# 2252274-23            Tags   Past Edits
bhai gkp aur durg me nhi
gkp aur rest sbhi humsafar me difference h
aap sirf gkp se compare kr rhe h jo political humsafar thi
kyq aur hwh waali se compare kijiye sir
gkp
...
more...
waali ka comparison nhi ho skkta kuki hm kbi b political chizo se nhi jeet skte h :)

246 views
Yesterday (17:23)
दिव्यांशु गुप्ता^~   33348 blog posts   26017 correct pred (77% accurate)
Re# 2252274-25            Tags   Past Edits
maine ye bola tha ki baaki trains se shi h
mujhe shilgi train aur news waale ne dekhiye kya print kia
bolne ka tarika kuch tha aur usne likha kisi aur way me

252 views
Yesterday (17:24)
Rajat~   1538 blog posts   21 correct pred (93% accurate)
Re# 2252274-26            Tags   Past Edits
Ye news wale to 😂🙏🙏

252 views
Yesterday (17:26)
Rest In Peace Our Vinny Of The Burning Train🙏😔^~   3583 blog posts   15224 correct pred (79% accurate)
Re# 2252274-27            Tags   Past Edits
कल कायदे से आप सब को इंटरव्यू देने के बजाए पत्रिका वालों का इंटरव्यू लेना चाहिए था कि आपको रेलवे के समाचार छापने में इतने मसाले कौन सप्लाई करता है??
MDH या Everest??😀

323 views
Yesterday (17:27)
दिव्यांशु गुप्ता^~   33348 blog posts   26017 correct pred (77% accurate)
Re# 2252274-28            Tags   Past Edits
train 5 min ruk jaati to puch b leta
lekin ruki hi 2 min thi :P

217 views
Yesterday (19:40)
IRI~   527 blog posts   348 correct pred (70% accurate)
Re# 2252274-30            Tags   Past Edits
vo TV kis kaam ka hai?

217 views
Yesterday (19:41)
IRI~   527 blog posts   348 correct pred (70% accurate)
Re# 2252274-31            Tags   Past Edits
gwalior 🙏 2 mins ruki bhot hai, Verna kabhi kabhi to rokna bhii bhoil jate hain

214 views
Yesterday (19:42)
Rajat~   1538 blog posts   21 correct pred (93% accurate)
Re# 2252274-32            Tags   Past Edits
Sir wo door k upar wala info display ko tv samajh liya passengers ne.
Me bola lagao star plus wifi to h hi aur dekho serial😂😂😂

Yesterday (19:50)
Suraj~   2154 blog posts   392 correct pred (69% accurate)
Re# 2252274-33            Tags   Past Edits
mai toh unka wait kr rha hu jo mahamana me chori hone pr up bihar walo ko gariyaate the
Apr 26 2017 (22:09)  स्टेशन पर एस्केलेटर का काम शुरू (www.patrika.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNCR/North Central  -  

News Entry# 300875     
   Tags   Past Edits
Apr 26 2017 (22:10)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by Divyanshu Gupta deboard Durg Humsafar^~/1270085

Posted by: दिव्यांशु गुप्ता^~  287 news posts
ग्वालियर. रेलवे स्टेशन पर अब एस्केलेटर लगाने का काम मंगलवार से एक बार फिर से शुरू हो गया है। इसके बनने से यात्रियों को काफी फायदा मिलेगा।
स्टेशन के प्लेटफॉर्म एक, दो और तीन पर एस्केलेटर के लिए छह माह पूर्व बड़े-बड़े गड्ढे करकर डाल दिए गए थे। जिससे यात्रियों को काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा था। इस काम को पूरा करने के लिए रेलवे के अधिकारियों और संबंधित कंपनी जॉनसन के बीच काफी समय से तालमैल न बैठने के कारण यह काम शुरू नहीं हो पा रहा था। तीन दिन पूर्व ही झांसी मंडल के डीआरएम एके मिश्र ने निरीक्षण के दौरान संबंधित अधिकारियों की फटकार लगाते हुए इस काम को जल्द से जल्द शुरू करने का आदेश दिया
...
more...
था। उसके बाद संबंधित ठेकेदार ने मंगलवार से काम शुरू कर दिया है। प्रथम चरण में प्लेटफॉर्म चार पर एस्केलेटर की मशीनों को क्रेन के माध्यम से प्लेटफॉर्म तीन पर लाया गया। ब्लॉक के चलते यात्रियों की अच्छी खासी भीड़ प्लेटफॉर्म पर मशीनों को देखने के लिए लगी रही। प्रथम चरण में प्लेटफॉर्म दो और तीन पर काम किया जाएगा। उसके बाद प्लेटफॉर्म एक पर काम को शुरू किया जाएगा।
तीन दिन चलेगा काम
एस्केलेटर का काम स्टेशन पर तीन दिन तक चलेगा। इसके लिए संबंधित कंपनी के लोगों ने दिन में चार घंटे का ब्लॉक मांगा है। मंगलवार को दोपहर 12.30 से 2.30 बजे तक और शाम को 4 से 6 बजे तक एस्केलेटर का काम किया गया।
यह कार्य प्लेटफॉर्म तीन और चार पर किया गया।
Apr 20 2017 (08:51)  रेलवे का एक वैगन गायब, अधिकारियों को पता नहीं (www.patrika.com)
News Entry# 300140     
   Tags   Past Edits
Apr 20 2017 (08:51)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~  458 news posts
ग्वालियर . रेलवे की गलती से एफसीआई का चावल का वेगन तीन माह बाद ग्वालियर आया, लेकिन मजे की बात यह है कि यह ग्वालियर आने की जगह यह मुरैना पहुंच गया। जब मुरैना में इस बात का पता लगाया गया तो मालूम पड़ा कि यह मुरैना पहुंचा ही नहंी है। इसको लेकर एफसीआई के अधिकारी भी स्टेशन के चक्कर लगा रहे हैं।
9 जनवरी को छत्तीसगढ़ के बिलहा से एफसीआई का एक रैक ग्वालियर के लिए चला। इस बीच कई बार यह रैक छत्तीसगढ़ के साथ उत्तर प्रदेश और फिर मध्यप्रदेश के कई स्टेशनों पर खड़ा रहा। बीच में कई बार रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि रैक जल्द ही ग्वालियर आएगा। उसके बाद 17 अप्रैल को यह रैक ग्वालियर आना
...
more...
था। लेकिन 41 डिब्बे वाली ट्रेन के रैक में ग्वालियर स्टेशन पर 40 ही रैक आए। एफसीआई का रैक फिर भी ग्वालियर नहीं आया। रेलवे की एमआर सैल ने इसे एक बेगन कम होने की जानकारी में मिसिंग बता दिया। रेलवे की इतनी बड़ी गलती के बाद भी रेलवे के अधिकारी मंगलवार को दिन भर इस गलती को छिपाने में लगे रहे। इसमें सबसे बड़ी गलती कंट्रोल की है उसे वेगन को रोकना चाहिए था। रेलवे के गार्ड को इसकी जानकारी होना चाहिए थी कि हमे कौन सा रैक कहां उतारना है। ग्वालियर स्टेशन पर आने के बाद ट्रेन फ्लर्क को भी जानकारी होना चाहिए कि गुड्स ट्रेन से कौन सा सामान आया है। रेलवे की इस गलती से डिवीजन में बैठे रेलवे के बड़े अधिकारियों की लापरवाही का पता लगाया जा सकता है कि वे कितने लापरवाह हो सकते हैं।
7 जनवरी से छत्तीसगढ़ के बिलहा से चावल का रैक चला है। बीच में कई दिनों तक नहीं मालूम पड़ा कि रैक कहां है। रेलवे अधिकारी बोल रहे हैं रैक मुरैना में है। एक दो दिन में आ जाएगा।
सुमित चंदेरिया, एफसीआई मैनेजर डिपो
वैगन मुरैना में नहीं पहुंचा है। यह कहां पर है इसके बारे में पता कराएंगे।
मनोज कुमार सिंह, पीआरओ झांसी मंडल
Apr 18 2017 (20:27)  45 बच्चों को जाना था बेंगलुरू, झांसी से था रिजर्वेशन, पहुंचने में लेट होते तो छूट जाती ट्रेन, रेलवे ने ग्वालियर में रोकी थ्रू संपर्क क्रांति (www.bhaskar.com)
back to top
Other NewsNCR/North Central  -  

News Entry# 300016   Blog Entry# 2241549     
   Tags   Past Edits
Apr 18 2017 (20:27)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by SMILER~/77823

Apr 18 2017 (20:27)
Train Tag: Karnataka Sampark Kranti Express (Via Kacheguda)/12650 added by SMILER~/77823

Posted by: SMILER~  101 news posts
अनुराग चतुर्वेदी | ग्वालियर
रेलवे प्रबंधन ने गर्मी में बच्चों की परेशानी को देखते हुए ग्वालियर से थ्रू जाने वाली कर्नाटक संपर्क क्रांति को स्टेशन पर रोक दिया। बच्चे दिल्ली से आए थे और उन्हें झांसी से कर्नाटक संपर्क क्रांति पकड़कर बेंगलुरू पहुंचना था। उनका रिजर्वेशन कर्नाटक संपर्क क्रांति के एस-7 कोच में था, लेकिन उस समय ग्वालियर से झांसी के लिए कोई ट्रेन नहीं थी। इसके चलते रेलवे प्रबंधन ने संपर्क क्रांति को ग्वालियर में रोक दिया।
बेंगलुरू के 45 बच्चे पिछले दिनों गेम्स खेलने के लिए दिल्ली गए थे। इन बच्चों
...
more...
की उम्र 10 से 12 साल के बीच थी। दिल्ली से बच्चे शनिवार को आगरा पहुंचे। आगरा से रविवार सुबह उन्हें झांसी के लिए पैसेंजर ट्रेन पकड़नी थी। जब बच्चे अपने कोच हरिबाबू के साथ आगरा स्टेशन पहुंचे तो पैसेंजर निकल चुकी थी। इसके अलावा पंजाब मेल भी निकल चुकी थी।
टैक्सियों से आना पड़ा ग्वालियर
कर्नाटक संपर्क क्रांति झांसी से दोपहर 11.55 बजे थी। इसके चलते कोच हरिबाबू ने आनन-फानन में आगरा से ग्वालियर के लिए टैक्सी बुक की और बच्चों को लेकर सुबह करीब 10 बजे ग्वालियर पहुंचे। यहां से वे पंजाबमेल से झांसी जाना चाह रहे थे। इंक्वायरी ऑफिस पर उन्हें पता लगा कि वे पंजाब मेल से समय पर झांसी नहीं पहुंच सकते। उस टाइम ग्वालियर रेलवे स्टेशन से ऐसी कोई ट्रेन झांसी के लिए नहीं थी, जिससे वे समय पर वहां पहुंच सकें। कारण यह है कि पंजाबमेल का झांसी पहुंचने का समय 12.25 है और बच्चों का जिस ट्रेन में रिजर्वेशन था वह झांसी से 11.55 बजे थी।
रेलवे ने लिया ट्रेन को ग्वालियर में रोकने का निर्णय
अधिक बच्चे होने और समय पर झांसी से कर्नाटक संपर्क क्रांति छूटने के डर से हरिबाबू डिप्टी एसएस ऑपरेटिंग वायगांवकर के पास पहुंचे। इस पर श्री वायगांवकर ने छोटे बच्चों और भीषण गर्मी को देखते हुए वरिष्ठ अधिकारियों को इस मामले की जानकारी दी। बच्चों की स्थिति को देखते हुए वरिष्ठ अधिकारियों ने कर्नाटक संपर्क क्रांति को स्टेशन पर रोकने की अनुमति दे दी। इसके बाद कर्नाटक संपर्क क्रांति को प्लेटफार्म नंबर एक पर लेकर बच्चों को उसमें बैठाया गया। यह पहली बार हुआ है कि आम यात्रियों के लिए रेलवे ने किसी थ्रू ट्रेन को प्लेटफॉर्म पर रोक कर यात्रियों को उसमें सवार कराया।

734 views
Apr 19 2017 (10:06)
IRI~   527 blog posts   348 correct pred (70% accurate)
Re# 2241549-1            Tags   Past Edits
stoppage do 😂
Apr 16 2017 (13:30)  धड़ धड़ाकर जाती हैं ट्रेनें, ठहरें तो बने बात (m.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestNCR/North Central  -  

News Entry# 299739     
   Tags   Past Edits
Apr 16 2017 (13:30)
Station Tag: Mathura Junction/MTJ added by Rkschauhan~/926260

Apr 16 2017 (13:30)
Station Tag: Mainpuri/MNQ added by Rkschauhan~/926260

Apr 16 2017 (13:30)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by Rkschauhan~/926260

Apr 16 2017 (13:30)
Station Tag: Bhind/BIX added by Rkschauhan~/926260

Apr 16 2017 (13:30)
Station Tag: Agra Cantt./AGC added by Rkschauhan~/926260

Apr 16 2017 (13:30)
Station Tag: Bateshwar Halt/BASR added by Rkschauhan~/926260

Apr 16 2017 (13:30)
Station Tag: Etawah Junction/ETW added by Rkschauhan~/926260

Posted by: Rkschauhan~  111 news posts
जागरण संवाददाता, इटावा : रेल सुविधाओं की अधिकतर सुविधाएं सांसदों की पहल पर ही जनता को मिलती हैं। इसके विपरीत इटावा रेलवे स्टेशन पर सुपरफास्ट ट्रेनें धड़धड़ाकर निकल जाती हैं। इनके ठहराव तथा लाइन पार क्षेत्रीय जनता के लिए सुविधाएं उपलब्ध कराने की मांग अर्से से की जा रही है। सांसदों ने इस ओर विशेष तवज्जो दी तो कई सुविधाएं जनता को प्राप्त हो सकती हैं।
आदर्श रेलवे स्टेशन इटावा को सवा साल पूर्व जंक्शन का दर्जा मिला था। इटावा से बटेश्वर-आगरा, ¨भड-ग्वालियर तथा मैनपुरी के लिए ब्रांच लाइनों पर यात्री ट्रेनें चल रही हैं। जनपद ही नहीं आसपास के जिलों के तकरीबन 10 से 12 हजार लोग इस स्टेशन के माध्यम से आवागमन करते हैं। इसके बावजूद यात्रियों को ए ग्रेड
...
more...
के स्टेशन वाली सुविधाएं यहां पर मुहैया नहीं हैं। स्टेशन के उत्तरी ओर लाइन पार क्षेत्र में शहर की आधी आबादी रहती है। इस क्षेत्र से स्टेशन आने वालों को करीब तीन किलोमीटर का चक्कर काटना पड़ता है। यदि लाइन पार तक पुल का निर्माण हो जाए तो आवागमन करने वालों को बहुत राहत मिलेगी। मथुरा के लिए एक मात्र तूफान मेल ट्रेन है, जो कोहरे के दौरान अक्सर निरस्त कर दी जाती है। अन्य ट्रेनें इस स्टेशन पर नॉन स्टाप होने से सीधी चली जाती हैं। खानपान की सुविधाओं का भी अभाव है।
यात्रियों की जरूरत
- करीब एक दर्जन नॉन स्टाप ट्रेनों का ठहराव हो
- सभी ब्रांच लाइनों पर यात्री ट्रेनों का विस्तार किया जाए
- स्टेशन के उत्तरी ओर प्लेटफार्म पुल आरपार बने
- स्टेशन पर खानपान की गुणवत्ता में सुधार हो
- प्लेटफार्म नंबर एक पर मालगाड़ी का ठहराव नहीं हो
पांच सांसदों का स्टेशन फिर भी बदहाली
इटावा रेलवे स्टेशन से पांच सांसद जुड़े हैं। प्रो. रामगोपाल यादव उनके पुत्र अक्षय यादव तथा पौत्र मैनपुरी सांसद तेजप्रताप ¨सह यादव, सपा से राज्यसभा सांसद बाबू दर्शन ¨सह यादव तथा लोकसभा क्षेत्र इटावा से भाजपा सांसद अशोक दोहरे हैं। इन सभी सांसदों को रेलवे महाप्रबंधक की ओर से आमंत्रण पत्र प्रेषित किया जा चुका है। यदि यह सभी जनता की सुविधाओं के लिए पहल करें तो जरूरत पूरी हो सकती है।
सुविधाएं दिलाई जाएंगी : दोहरे
इटावा रेलवे स्टेशन तथा इस क्षेत्र की जनता की समस्याओं को निस्तारण कराने के लिए सदैव प्रयत्नशील हूं। रेल संबंधी जो भी समस्याएं हैं उनका रेल महाप्रबंधक तक ही नहीं बल्कि रेलमंत्री से संपर्क करके निस्तारण कराया जाएगा। क्षेत्रीय जनता को यथा संभव रेलवे सुविधाएं प्राप्त कराई जाएंगी।
- अशोक दोहरे, सांसद
बैठक का उद्देश्य ही यही
रेलवे महाप्रबंधक सांसदों के साथ बैठक करके उनकी समस्याओं और सुझावों को गंभीरता से लेकर उनका पालन कराने के सार्थक प्रयास करते हैं। इस बैठक का उद्देश्य ही यही है कि इसके माध्यम से सांसदों के क्षेत्र की समस्याओं का समाधान कराया जा सके।
-अमन वर्मा, सहायक वाणिज्य प्रबंधक उमरे
Apr 13 2017 (09:14)  यात्रियों को केरी बैग में मिलेगा बेडरोल, डस्टबिन के रूप में कर सकेंगे इसका USE (www.patrika.com)
back to top
New Facilities/Technology

News Entry# 299452   Blog Entry# 2233764     
   Tags   Past Edits
Apr 13 2017 (09:14)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~  458 news posts
ग्वालियर। ट्रेनों के एसी कोच में अब बेडरोल के साथ मिलने वाले खाकी कवर की जगह पॉलीथिन जैसे दिखने वाला कैरी बैग मिलेगा। यात्री इसका इस्तेमाल डस्टबिन के रूप में भी कर सकेंगे।
खाकी कवर की उपयोगिता न होने व इधर-उधर पडऩे रहने से इनसे कोच में गंदगी भी दिखती थी। रेलवे सूत्रों की माने तो रेलवे जल्द ही रेलवे यात्रियों को कैरी बैग में बेडरोल उपलब्ध करवा सकता है। यह कैरी बैग बड़ा होगा। पैसेंजर इसका प्रयोग डस्टबिन की तरह कर इसमें कचरा रख सकें गे। इस बैग का रंग भी विशेष तरह का होगा। जिससे पैसेंजर उसमें लिखे दिशा-निर्देशों को आसानी से पढ़ सके। यह जल्द ही कई ट्रेनों में एक साथ लागू होगा।
हो
...
more...
चुके हैं प्रयोग
मैकेनिकल विभाग ने पायलट प्रोजेक्ट के तहत गोंडवाना एक्सप्रेस के साथ एक अन्य ट्रेन प्रयोग किया था। एक माह तक देखा गया कि ट्रेन में इस बैग का प्रयोग यात्रियों ने डस्टबिन की तरह किया। पहले की अपेक्षा सफाई भी मिली।
1500 बेडरोल
ग्वालियर रेलवे स्टेशन से प्रतिदिन बुंदेलखंड एक्सप्रेस, चंबल एक्सप्रेस, बरौनी, इंदौर इंटरसिटी एक्सप्रेस और सुशासन एक्सप्रेस ट्रेनें 1500 बेडरोल जाते हैं। इन ट्रेनों में यही से लांउड्री से तैयार होकर बेडरोल जाते हैं। ग्वालियर में अभी दो माह पूर्व ही लाउंड्री का निर्माण किया गया है। जिसमें अब यहीं पर प्रतिदिन बेडरोल तैयार हो रहे हैं।
अभी हमने प्रयोग के तौर पर दो ट्रेनों में खाकी कवर की जगह कैरी बैग का इस्तेमाल किया था। कुछ अन्य ट्रेनों में भी इसका इस्तेमाल किया जाएगा।
सुरेन्द्र यादव, सीपीआरओ जबलपुर मंडल

1083 views
Apr 13 2017 (14:59)
दिव्यांशु गुप्ता^~   33348 blog posts   26017 correct pred (77% accurate)
Re# 2233764-1            Tags   Past Edits
Nice and needed thing

924 views
Apr 13 2017 (17:01)
ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~   466 blog posts   441 correct pred (81% accurate)
Re# 2233764-2            Tags   Past Edits
ha ye acha kam kiya

897 views
Apr 13 2017 (17:13)
गौरव शर्मा^~   3711 blog posts   292 correct pred (53% accurate)
Re# 2233764-3            Tags   Past Edits
Very very Good Work.
Apr 10 2017 (21:22)  ए ग्रेड में शामिल रेलवे स्टेशन को एस्केलेटर का इंतजार (swadeshnews.in)
back to top
Other NewsNCR/North Central  -  

News Entry# 299133   Blog Entry# 2230215     
   Tags   Past Edits
Apr 10 2017 (21:22)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by SMILER~/77823

Posted by: SMILER~  101 news posts
ग्वालियर,न.सं.। ग्वालियर रेलवे स्टेशन को भले ही सर्वोत्तम रेलवे स्टेशन का अवार्ड मिल गया हो, लेकिन एस्केलेटर लगाने की घोषणा होने के वर्षों बाद भी स्टेशन इस सुविधा के लिए तड़प रहा है। वैसे ए वन ग्रेड की श्रेणी में शामिल इस रेलवे स्टेशन पर दो एस्केलेटर लगाए जाने की घोषणा हो चुकी है। लंबे इंतजार के बाद जैसे तैसे एक एस्केलेटर लगने का कार्य शुरू भी हुआ लेकिन वह भी अधर में लटका हुआ है।मार्च माह में ग्वालियर रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करने आए एडीआरएम विनीत सिंह ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा था कि मार्च माह के अंत में एस्केलेटर की सुविधा यात्रियों को मिलने लगेगी। वर्ष 2011 में ग्वालियर सहित जिन रेलवे स्टेशनों पर एस्केलेटर सुविधा प्रारंभ करने की घोषणा की गई थी उसमें से आगरा ओर झांसी में एस्केलेटर लग भी गया, लेकिन ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर यह सुविधा शुरू नहीं होने से रेल...
more...
यात्री आस लगाए बैठे हैं कि कब एस्केलेटर शुरू होगा। करीब 8 माह पूर्व एस्केलेटर की मशीन भी ग्वालियर पहुंच गई। इस मशीन को पार्सल कार्यालय के सामने रखवा दिया गया है। मशीन यहां धूल खा रही है।
यहां पर लग चुके हंै एस्केलेटर
एनसीआर के इलाहाबाद में 5, कानपुर में 2, आगरा कैंट में 4, झांसी में 2 और मथुरा में एक एस्केलेटर लगाए जा चुके हैं। इसके अतिरिक्त ग्वालियर में 2, झांसी में एक और छिवकी स्टेशन में एक एस्केलेटर लगाने का कार्य चल रहा है। रेलवे का कहना है कि एस्केलेटर को लगाने का कार्य प्रगति पर है। इसके अलावा आने वाले दो सालों के दौरान आगरा फोर्ट मे 2, राजा की मंडी मे 2, मथुरा मे एक, कानपुर मे 2, अलीगढ़ मे 2 तथा टूंडला मे एक,मिजार्पुर मे 4 और विंध्याचल मे 2 एस्केलेटर लगाये जाएंगे।
प्लेटफार्म दो और तीन का कार्य पूरा, जल्द होगी शिफ्टिंग
आश्चर्य की बात यह है कि प्लेटफार्म क्रमांक एक पर लगने वाले एस्केलेटर के निर्माण कार्य का कार्य सबसे पहले शुरू किया गया था। लेकिन दो और तीन प्लेटफार्म के बीच लगने वाले एस्केलेटर का कार्य काफी तेज गति से किया जा रहा है। जिसके चलते ढलाई का कार्य पूरा हो गया है जल्द ही मशीन को शिफ्ट किया जाएगा।
लिफ्ट का कोई अता पता नहीं
उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के सभी बड़े रेलवे स्टेशनों पर यात्री सुविधा के मद्देनजर लिफ्ट लगाई जाएगी। इसकी शुरूआत इलाहाबाद जंक्शन से होने जा रही है। लेकिन रेलवे घोषणा करने के बाद शायद भूल गया है । जिसके चलते अभी तक स्टेशन पर लिफ्ट लगाने की कोई भी प्रक्रिया दिखाई नहीं दे रही है।
एटीवीएम का सर्वे तो हुआ, लगेंगी कब ,पता नहीं रेलवे ने ग्वालियर रेलवे स्टेशन पर एटीवीएम मशीन लगाने की घोषणा भी की थी। लेकिन घोषणा के बाद कंपनी के अधिकारी सर्वे भी कर चले गए, लेकिन अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है मशीनें कब लगेंगी।

1 posts - Mon Apr 10, 2017 - are hidden. Click to open.

1116 views
Apr 11 2017 (06:49)
SMILER~   913 blog posts   23 correct pred (55% accurate)
Re# 2230215-2            Tags   Past Edits
Ha wo to hai..
Page#    Showing 1 to 20 of 404 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site