Full Site Search  
Thu May 25, 2017 01:19:05 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;
no description available

GWL/Gwalior Junction (5 PFs)
گوالى ير جنکشن     ग्वालियर जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 5
Number of Halting Trains: 151
Number of Originating Trains: 11
Number of Terminating Trains: 11
Junction Point - Guna/Jhansi/Agra/Etawah/Sabalgarh, Racecourse Rd, Gwalior
State: Madhya Pradesh
Elevation: 213 m above sea level
Zone: NCR/North Central
Division: Jhansi
14 Travel Tips
GWL/Gwalior Junction is in Recent News
Nearby Stations in the News

Rating: 3.8/5 (250 votes)
cleanliness - good (32)
porters/escalators - good (32)
food - good (32)
transportation - good (32)
lodging - good (31)
railfanning - good (31)
sightseeing - good (30)
safety - good (30)

Nearby Stations

BLNR/Birlanagar Junction 3 km     GOPA/Ghosipura 3 km     MTJL/Motijheel 8 km     STLI/Sithouli 9 km     BBY/Bhadroli 11 km     NGON/Naugaon 13 km     MIAL/Milaoli 14 km     RRU/Rayaru 14 km     SLV/Sandalpur 16 km     SAC/Sanichara 18 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 413 News Items  next>>
Yesterday (09:54)  अब फेल नहीं होगा रेलवे का 'दिमाग', RRI में खराबी पर भी नहीं थमेंगी ट्रेन (naidunia.jagran.com)
News Entry# 303444     
   Tags   Past Edits
May 24 2017 (09:54)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~  545 news posts
ग्वालियर। रेल परिचालन का दिमाग कहे जाने वाले आरआरआई (रूट रिले इंटरलॉकिंग) पैनल में खराबी आने पर अब ट्रेनों का संचालन हफ्तों तक प्रभावित नहीं होगा।
महज एक घण्टे में ही ओएफसी(ऑप्टीकल फाइबर केबल) बेस्ड बैकअप सिग्नलिंग सिस्टम से ट्रेनों का संचालन बहाल कर दिया जाएगा।
दो साल पहले इटारसी जंक्शन के आरआरआई पैनल में आग लगने से एक महीने से ज्यादा वक्त तक ट्रेनों का संचालन प्रभावित हुआ था। इस घटना से रेलवे को करोड़ों स्र्पए की का नुकसान भी हुआ था।
अब
...
more...
आरडीएसओ (अनुसंधान अभिकल्प और मानक संगठन) ने यह सिस्टम तैयार किया है। ओएफसी बेस्ड बैकअप सिग्नलिंग सिस्टम का ट्रायल भोपाल के निशातपुरा में प्रारंभ हो गया है, जो बेहतर काम कर रहा है। इसके साथ ही रेलवे के सीआरएस (कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी) से भी इस सिस्टम को हरी झण्डी मिल गई है।
अब रेलवे इसे देशभर के बड़े रेलवे जंक्शनों पर आरआरआई पैनल के समानांतर इंस्टॉल करने पर विचार कर रही है।
यह होता है
- आरआरआई पैनल यानि रेलवे स्टेशन पर स्थित ऐसा कमरा जिसमें हजारों सर्किट और सैकड़ों केबिल के जरिए सिग्नल व्यवस्था चलाई जाती है, ट्रेनों का संचालन पूरी तरह इसी पर आधारित है।
- अगर इसमें खराबी आ जाती है तो छोटी-छोटी खराबी को दूर करने में घंटो लगते है।
- आरआरआई खराब होने पर रेलवे के पास कोई विकल्प नहीं था।
- आरआरआई पैनल खराब होने पर मैनुअली ट्रेनों संचालन किया जाता था यानि मेमो लेकर ट्रेनें चलाई जाती हैं। इसमें हर स्टेशन पर लोको पायलट को मैनुअली क्लियरेंस लेना होता है साथ ही ट्रेन की गति भी कम कर दी जाती है।
- मैनुअली संचालन में हादसे होने की आशंका रहती है।
अब यह होगा
- अब अगर आरआरआई पैनल में कोई गड़बड़ी होगी तो ओएफसी बेस्ड बैकअप सिग्नलिंग सिस्टम समानांतर कार्य करेगा।
- इस सिस्टम के जरिए ऑप्टीकल फाइबर केबल के जरिए जंक्शन बॉक्स से वैकल्पिक कनेक्शन देकर ट्रेनों का संचालन शुरू हो सकेगा और लैपटॉप से इसे नियंत्रित किया जा सकेगा।
- यह सिस्टम स्वतंत्र रूप से भी काम कर सकेगा यानि जहां आरआरआई पैनल नहीं है, वहां अकेले इसे इंस्टॉल करके भी ट्रेनों का संचालन किया जा सकता है।
बेहतर काम कर रहा सिस्टम
आरडीएसओ के इंजीनियरों ने ओएफसी बेस्ड बैकअप सिग्नलिंग सिस्टम तैयार कर लिया है। निशातपुरा में यह सिस्टम बेहतर काम कर रहा है। संभावना है कि प्रथम चरण में नागपुर, भोपाल, मुंबई, झांसी, जबलपुर, दिल्ली, हजरत निजामुद्दीन,गोरखपुर जैसे बड़े जंक्शनों पर पहले यह सिस्टम आरआरआई पैनल के समानांतर इंस्टॉल होगा।
जेएस सोंधी,अपर महानिदेशक
प्रशासन एवं स्थापना (आरडीएसओ,लखनऊ)
एक महीने प्रभावित रहा था संचालन
17 जून 2015 को तड़के इटारसी जंक्शन के आरआरआई पैनल में आग लग गई थी। इसके बाद 180 से अधिक ट्रेनों का संचालन ठप हो गया था। इसमें रेलवे को करोड़ों स्र्पए की हानि हो गई थी। दूसरा आरआरआई पैनल स्थापित करने में एक महीने से अधिक का समय लग गया था। 22 जुलाई 2015 को ट्रेनों का संचालन बहाल हो सका था। यात्रियों के साथ-साथ रेलवे को भी बहुत परेशानी हुई थी।
May 16 2017 (09:14)  Train no. 11107/11108 Gwalior-Varanasi-Gwalior Bundelkhand Express (daily) is temporarily adding a coach to the normal range from 05.05.2017 to 30.06.2017 (www.ncr.indianrailways.gov.in)
back to top
Coach AugmentationsNCR/North Central  -  IR Press Release  

News Entry# 302558     
   Tags   Past Edits
May 16 2017 (09:14)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by Indian News Paper are biggest Liar*^~/456446

May 16 2017 (09:14)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by Indian News Paper are biggest Liar*^~/456446

May 16 2017 (09:14)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by Indian News Paper are biggest Liar*^~/456446

May 16 2017 (09:14)
Train Tag: Bundelkhand Express/11108 added by Indian News Paper are biggest Liar*^~/456446

May 16 2017 (09:14)
Train Tag: Bundelkhand Express/11107 added by Indian News Paper are biggest Liar*^~/456446

Posted by: सजन रेडियो बजाईयो जरा*^~  82 news posts
Train no. 11107/11108 Gwalior-Varanasi-Gwalior Bundelkhand Express (daily) is temporarily adding a coach to the normal range from 05.05.2017 to 30.06.2017
उत्‍तर मध्‍य रेलवे
प्रधान कार्यालय
जनसम्‍पर्क विभाग
इलाहाबाद।
...
more...

संख्‍या:11पीआर/05/2017प्रेस विज्ञप्ति दिनांक- 05.05.2017
रेल प्रशासन द्वारा यात्रियों की सुविधा हेतुगाड़ी सं. 11107/11108 ग्‍वालियर-वाराणसी-ग्‍वालियर बुंदेलखण्‍ंड एक्सप्रेस ( प्रतिदिन ) मे अस्थाई रूप से 05.05.2017 से 30.06.2017 तक सामान्‍य श्रेणी का एक कोच जोड़ा जा रहा है जिसका विवरण निम्‍न है:-
गाडी सं. एवं नाम
जोड़ा गया
परिवर्तित संरचना
11107/11108 ग्‍वालियर-वाराणसी-ग्‍वालियर बुंदेलखण्‍ंड एक्सप्रेस ( प्रतिदिन )
सामान्‍य श्रेणी-1
एसएलआर/डी-02, सामान्‍य श्रेणी-07, स्‍लीपर श्रेणी- 06, वातानुकूलित तृतीय श्रेणी-02, वातानुकूलित द्वितीय श्रेणी-01,वातानुकूलित प्रथम श्रेणी-01 सहित कुल 19 डिब्‍बे होंगे।
May 16 2017 (08:28)  वेंडर शताब्दी एक्सप्रेस से ही चला रहा था पार्सल कुरियर सर्विस (naidunia.jagran.com)
News Entry# 302550     
   Tags   Past Edits
May 16 2017 (08:28)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

May 16 2017 (08:28)
Train Tag: New Delhi - Bhopal Habibganj Shatabdi Express/12002 added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

May 16 2017 (08:28)
Train Tag: Bhopal Habibganj - New Delhi Shatabdi Express/12001 added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~  545 news posts
ग्वालियर। देश की वीआईपी ट्रेनों में शामिल नई दिल्ली-भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस में चलने वाला कैटरिंग स्टाफ ट्रेन के माध्यम से ही पार्सल कुरियर सर्विस चला रहा था। यह लोग दिल्ली और भोपाल से सामान चढ़ा लेते थे और अवैध रूप से पार्सलों को कोचों के टॉयलेट के पास रखकर अपनी जेबें भरते थे।
ऐसे रैकेट का भांडाफोड़ रविवार को रेलवे के वाणिज्य विभाग की टीम ने छापा मारकर किया। इसमें टीम को ट्रेन में चलने वाले टीटीई की भी मिलीभगत की आशंका है। इसके चलते रविवार को जिन टीटीई की ड्यूटी थी, उनसे भी पूछताछ की जाएगी कि आखिर ट्रेन में रखे कार्टन उन्हें क्यों नहीं दिखे।
रेलवे
...
more...
के वाणिज्य विभाग को लंबे समय से सूचना मिल रही थी कि दिल्ली से चलने वाली ट्रेनों में चलने वाला पेंट्री स्टाफ अवैध रूप से पार्सल बुक करता है और इसे पेंट्री कार,कोचों में अवैध रूप से लाकर पैसे कमाता है।
रविवार को नागपुर-अमृतसर एसी एक्सप्रेस का शुभारंभ था तो एडीआरएम विनीत सिंह, डीसीएम नीरज भटनागर ग्वालियर आए थे। ट्रेन निकल जाने के कुछ देर बाद शताब्दी एक्सप्रेस प्लेटफॉर्म-1 पर पहुंची। ट्रेन के आते ही डीसीएम और अन्य वाणिज्य विभाग के अधिकारी यात्री बनकर ट्रेन में चढ़ गए।
यह लोग सी-14 कोच से ट्रेन में सवार हुए और आगे जाने लगे। जैसे ही सी-12 कोच में पहुंचे तो यहां कुछ कार्टन रखे थे। वहां से वेंडर गुजना और उससे पूछताछ की तो वह बोला कि उसे नहीं पता कार्टन कहां से आए। इसके बाद सी-11 कोच के टॉयलेट के पास भी कार्टन रखे थे।
इन कार्टन में चाय, कॉफी के पैकेट रखे हुए थे। सभी वेंडरों को बुलाकर उनके पहचान पत्र देखे गए। इसमें दो वेंडर बिना पहचान पत्र के भी पकड़े गए। एक भी वेंडर ने यह नहीं स्वीकार किया कि कार्टन उन्होंने रखे थे। इस पर उनसे यह स्पष्टीकरण मांगा है कि अगर उनके नहीं है तो कोच में पहुंचे कैसे।
इसके बाद टीटीई से भी पूछताछ की जाएगी जो ड्यूटी पर थे कि अगर इस तरह के लावारिस कार्टन रखे थे तो उन्होंने पूछताछ क्यों नहीं की। बिना पहचान पत्र के पकड़े गए वेंडरों को झांसी में आरपीएफ के हवाले कर दिया गया। वहीं अवैध रूप से पकड़े गए कार्टन भी झांसी में ही उतरवा लिए गए।
ऐसे तो कोई बम रख जाए
शताब्दी एक्सप्रेस में अवैध रूप से चाय, कॉफी पैकेट से भरे 20 कार्टन ले जाए जा रहे थे। इन्हें जब्त किया गया है। इसमें पेंट्री कार के स्टाफ की मिलीभगत है। इसमें रेलवे स्टाफ से भी पूछताछ होगी, क्योंकि उन्होंने इन कार्टन के बारे में पूछताछ क्यों नहीं की। इस तरह तो कोई बम रखकर चला जाए। - नीरज भटनागर, डीसीएम, झांसी रेल मंडल
May 12 2017 (11:26)  ग्वालियर को भोपाल और दिल्ली के लिए नई ट्रैन मिली (www.totaltraininfo.com)
back to top
New/Special TrainsNCR/North Central  -  

News Entry# 302200   Blog Entry# 2274236     
   Tags   Past Edits
May 12 2017 (11:26)
Station Tag: Amritsar Junction/ASR added by Rajnesh/1225509

May 12 2017 (11:26)
Station Tag: Nagpur Junction/NGP added by Rajnesh/1225509

May 12 2017 (11:26)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by Rajnesh/1225509

May 12 2017 (11:26)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by Rajnesh/1225509

May 12 2017 (11:26)
Station Tag: Agra Cantt./AGC added by Rajnesh/1225509

May 12 2017 (11:26)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by Rajnesh/1225509

May 12 2017 (11:26)
Train Tag: Amritsar - Nagpur AC SF Express/22126 added by Rajnesh/1225509

May 12 2017 (11:26)
Train Tag: Nagpur - Amritsar AC SF Express/22125 added by Rajnesh/1225509

Posted by: Rajnesh  66 news posts
रेलवे ने ग्वालियर को नई ट्रैन का तोहफा दिया है। भोपाल और दिल्ली के साथ नागपुर और अमृतसर के लोगों के लिए भी यह खुशखबरी है। नागपुर और अमृतसर के लोगों के लिए एक और ट्रेन की सुविधा मिलने वाली है।
रेलवे के अनुसार 13 मई से नागपुर-अमृतसर एसी सुपरफास्ट एक्सप्रेस चलाई जाएगी। यह गाड़ी साप्ताहिक होगी और इसका नंबर 22125/22126 रहेगा। 13 मई से हर शनिवार नागपुर से और 15 मई से हर सोमवार से अमृतसर चलेगी।
इस ट्रेन में कुल 16 कोच होंगे। नागपुर से शाम को 5:50 पर चलकर अगले
...
more...
दिन सुबह 7:20 बजे ट्रेन ग्वालियर आएगी और पांच मिनट रूककर 7:25 आगरा के लिए रवाना होगी । उसी दिन रात में 9:05 बजे अमृतसर पहुंचेगी।
हर सोमवार अमृतसर से यह ट्रेन सुबह 4:10 पर चलेगी और उसी दिन दोपहर में 3:48 पर ग्वालियर आ जाएगी। यहां से चलकर अगले दिन सुबह 4:25 बजे नागपुर पहुंचेगी।

2040 views
May 12 2017 (17:15)
When will I get chance to travel in LHB Sleeper~   776 blog posts   81 correct pred (74% accurate)
Re# 2274236-1            Tags   Past Edits
Another LHB crawler... :(
Ise bhi P7 de denge aur vo Crawl karta rahega...
May 03 2017 (05:36)  शाम 6.50 पर आने वाली झांसी बांद्रा एक्सप्रेस रात 3.50 पर आएगी, यात्रियों को नहीं दी सूचना तो किया हंगामा (naidunia.jagran.com)
back to top
Other NewsNCR/North Central  -  

News Entry# 301421   Blog Entry# 2260861     
   Tags   Past Edits
May 03 2017 (05:36)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by SMILER~/77823

May 03 2017 (05:36)
Train Tag: Jhansi - Mumbai Bandra (T.) Express/11103 added by SMILER~/77823

Posted by: SMILER~  104 news posts
ग्वालियर,
झांसी से चलकर ग्वालियर होते हुए बांद्रा जाने वाली झांसी-बांद्रा टर्मिनस एक्सप्रेस सोमवार को शाम 6.50 बजे ग्वालियर आनी थी, लेकिन ट्रेन सोमवार-मंगलवार रात 3.50 बजे ग्वालियर आएगी। ट्रेन इतनी विलम्ब से ग्वालियर आनी थी, लेकिन यात्रियों को इस संबंध में कोई जानकारी नहीं दी गई। इतना ही नहीं स्टेशन पर पहुंचने के बाद भी यात्रियों को जानकारी नहीं मिली तो यात्रियों ने हंगामा कर दिया। कुछ यात्री तो टिकट रद्द करने की मांग करने लगे।
झांसी-बांद्रा एक्सप्रेस को सोमवार को पुट बैक कर दिया गया। जिसके चलते शाम 4.50 बजे झांसी
...
more...
से रवाना होने वाली झांसी-बांद्रा एक्सप्रेस को रात 2 बजे रवाना होना था। ट्रेन पुट बैक कर दी गई लेकिन यात्रियों को जानकारी नहीं उपलब्ध करवाई गई। जबकि इस स्थिति में रेलवे की जिम्मेदारी है कि यात्रियों को मोबाइल पर एसएमएस दे। लेकिन यात्रियों को जानकारी नहीं दी गई तो यात्री ट्रेन के समय पर पहुंच गए। काफी देर इंतजार के बाद भी जब ट्रेन नहीं आई तो यात्री पूछताछ कक्ष में पहुंचे। यहां भी जानकारी नहीं दी गई। इसके बाद जब इंटरनेट पर देखा तो ट्रेन रात 3.50 बजे ग्वालियर आनी थी। इसके बाद तो यात्री आक्रोशित हो गए। यात्रियों को किसी तरह शांत कराया गया।
लिंक एक्सप्रेस के इंतजार में खड़ी रही इंदौर इंटरसिटीः
सोमवार शाम को लिंक एक्सप्रेस के इंतजार में ग्वालियर-इंदौर इंटरसिटी खड़ी रही। इसके चलते ग्वालियर-इंदौर इंटरसिटी शाम 7.30 बजे की जगह रात 9.40 बजे ग्वालियर से रवाना हो सकी। इसके चलते कुछ यात्री नाराज हो गए। जब यात्रियों को बताया गया कि लिंक एक्सप्रेस झांसी से विलम्ब से चली है इसलिए ट्रेन खड़ी है तब यात्री जाकर ट्रेन में बैठ गए।

1326 views
May 03 2017 (13:12)
Hogai Trip~   541 blog posts   351 correct pred (70% accurate)
Re# 2260861-1            Tags   Past Edits
jhansi _/\_

1182 views
May 03 2017 (19:12)
Bina Jn   225 blog posts
Re# 2260861-2            Tags   Past Edits
Is train ko GWL-BANDRA VIA JHS BINA GUNA kar dena chahiye.
May 01 2017 (09:05)  दोपहर को दिया खाने का ऑर्डर शाम तक नहीं मिला (www.patrika.com)
back to top
Other News

News Entry# 301275   Blog Entry# 2257757     
   Tags   Past Edits
May 01 2017 (09:05)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

May 01 2017 (09:05)
Train Tag: Durg - Hazrat Nizamuddin HumSafar Express/22867 added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~  545 news posts
ग्वालियर. दुर्ग से चलकर हजरत निजामुद्दीन की ओर जा रही हमसफर एक्सप्रेस में यात्रियों को बीती राात खाना तक नहीं मिला। इस ट्रेन का 22 अप्रैल को ही रेलमंत्री ने उद्घाटन किया है।
ट्रेन पूरी थर्ड एसी है। पेंट्रीकार है, लेकिन ट्रेन में पेंट्रीकार में कार्य कर रहे कर्मचारियों की कमी के कारण ट्रेन में बैठे यात्रियों को भोजन तक नहीं मिल सका। 16 बोगियों वाली इस ट्रेन में यात्रियों ने दोपहर के खाने का ऑर्डर दिया जो रात को यात्रियों को मिल सका। इससे यात्रियों ने ट्रेन में ही इसकी शिकायत रेलवे के अधिकारियों से की। दुर्ग से चलकर निजामुद्दीन तक जाने वाली इस ट्रेन का स्टॉपेज भी कुछ ही स्टेशनों पर है। इससे ट्रेन में यात्रा कर रहे यात्रियों को
...
more...
काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। रात 1.30 बजे के बाद ट्रेन ग्वालियर पहुंची। ग्वालियर पर ट्रेन के रुकते ही यात्रियों ने खान-पान की सामग्री खरीदी।
टोटियां नहीं हुईं सही
निजामुद्दीन से दुर्ग के लिए रवाना होने से पहले शरारती तत्वों ने ट्रेन की बोगी में लगी टोटियों को तोड़ दिया। जिससे आनन-फानन में ट्रेनों में लगी पुरानी टोटियों को लगाकर काम चलाया। ट्रेन दुर्ग भी हो आई लेकिन नलों की टोटियां नहीं बदल सकी।

4 posts - Mon May 01, 2017 - are hidden. Click to open.

1262 views
May 02 2017 (00:04)
जय हिन्द   2127 blog posts   4 correct pred (67% accurate)
Re# 2257757-5            Tags   Past Edits
Mismanagement.
May 01 2017 (08:55)  दिल्ली-भोपाल रूट पर रिजर्वेशन करवाकर चल रहे चोर, मौका पाते ही कर देते हैं सामान पार (naidunia.jagran.com)
back to top
Crime/Accidents

News Entry# 301269     
   Tags   Past Edits
May 01 2017 (08:55)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

May 01 2017 (08:55)
Train Tag: Taj Express/12279 added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~  545 news posts
ग्वालियर। नईदुनिया प्रतिनिधि
शादियों का सीजन शुरू होते ही ट्रेनों में चोरी की वारदातें बड़ गई हैं। जो लोग चोरों का निशाना बने हैं, उनमें उन यात्रियों की संख्या अधिक है जो शादी में शामिल होने जा रहे थे और रास्ते में उनका सामान चोरी हो गया। एक और खास बात सामने आई है कि वारदात को अंजाम देने के लिए चोर ट्रेनों में रिजर्वेशन करवाकर चल रहे हैं। चौंकाने वाली बात यह है कि दिल्ली-भोपाल रूट पर इस तरह की वारदातों को अंजाम देने में मुरैना की एक गैंग का इनपुट जीआरपी को मिला है, लेकिन इसके बाद भी जीआरपी बदमाशों तक नहीं पहुंच पा रही है। जीआरपी इन पर लगाम कसने में नाकाम साबित हो रही है, नतीजन आएदिन चोरी
...
more...
की वारदातें हो रही हैं।
हाल ही में शादियों का सीजन शुरू होने के बाद चोरी की कई बड़ी वारदातें सामने आ चुकी हैं। यह वारदात दिल्ली-भोपाल रूट पर आगरा-झांसी के बीच हुई हैं। जीआरपी को मुरैना की चोर गैंग का इन वारदातों में हाथ होने का इनपुट पिछले सप्ताह जीआरपी को मिला। इस गैंग के बदमाशों पर पहले से भी जीआरपी में कई मामले दर्ज हैं, लेकिन जीआरपी इसके बाद भी इन तक नहीं पहुंच पा रही है।
पहले लेते हैं पूरी जानकारी, तब देते हैं वारदात को अंजामः
- अभी तक जो भी चोरी की वारदातें हुईं, उनमें सामने आया कि जिस यात्री का सामान चोरी हुआ उस यात्री से पास की बर्थ पर बैठे यात्री ने पहले दोस्ती की और पूरी जानकारी ली।
- इनमें से अधिकांश लोग शादी में शामिल होने जा रहे थे और उनके साथ महिलाएं भी थीं।
- शादी में शामिल होने जा रहे इन लोगों के पास सोने-चांदी के जेवरात थे, जो चोरी हुए।
- इसी तरह से सभी वारदातों को अंजाम दिया गया, जिससे यह आशंका है कि इन वारदातों को एक ही गैंग ने अंजाम दिया होगा।
वर्जन
मुरैना की एक गैंग सक्रिय होने का इनपुट हमें मिला है। हम इस पर काम कर रहे हैं। चोरी करने वालों को जल्द ही पकड़ लिया जाएगा।
पंचम सिंह परिहार
निरीक्षक, जीआरपी
हाल ही में हुईं चोरी की बड़ी वारदातें
- उदयपुर-खजुराहो इंटरसिटी से ग्वालियर के रहने वाले आलोक शर्मा की बहन के 7 लाख रुपए के सोने और हीरे के गहने 13 अपै्रल को चोरी हुए थे।
- ग्वालियर के नई सड़क निवासी व्यापारी आरके साहू की पत्नी के पांच लाख रुपए के गहने समता एक्सप्रेस से चोरी हुए थे।
- ताज एक्सप्रेस से गुरुवार को दिल्ली के राजेन्द्र कुमार के 1.10 लाख रुपए चोरी, यह भी शादी में शामिल होने जा रहे थे।
Apr 29 2017 (10:31)  भोपाल-ग्वालियर रूट पर चल सकती है डबल डेकर (www.pradeshtoday.com)
back to top
Other NewsWCR/West Central  -  

News Entry# 301131   Blog Entry# 2255480     
   Tags   Past Edits
Apr 29 2017 (10:32)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by SMILER~/77823

Apr 29 2017 (10:32)
Station Tag: Bhopal HabibGanj/HBJ added by SMILER~/77823

Apr 29 2017 (10:32)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by SMILER~/77823

Posted by: SMILER~  104 news posts
प्रदेश टुडे संवाददाता, भोपाल
भोपाल से इंदौर के बीच चली डबल डेकर फ्लाप हो गई थी और आखिरकार उसका परिचालन बंद करना पड़ा था, लेकिन अब भोपाल से ग्वालियर के बीच डबल डेकर चलाने पर रेल मंत्रालय में मंथन चल रहा है। यह चेयरकार वाली डबल डेकर लिंक एक्सप्रेस के तौर पर चल सकती है। ज्ञात हो कि तीन वर्ष पूर्व हबीबगंज से इंदौर के बीच डबल डेकर चलाई गई थी। उसका रनिंग टाइम अधिक होने और किराया भी ज्यादा होने के चलते गाड़ी खाली चला करती थी। रेलवे को उसमें करोड़ों का घाटा हुआ था। लिहाजा उसका परिचालन बंद कर दिया गया था।
...
more...

7 डिब्बों के साथ चलेगी
डबल डेकर की एक बोगी में 120 चेयरकार होती हैं। इस लिहाज से सात बोगी की टेÑन में 840 यात्री सफर कर सकेंगे। इसका किराया थर्ड ऐसी से कम होगा और यह सुपरफास्ट स्पीड से चलेगी। इसे भोपाल से विदिशा, सांची, गंजबासौदा, बीना, ललितपुर, झांसी होते हुए ग्वालियर रूट पर चलाया जा सकता है। भोपाल से ग्वालियर की दूरी 387 किमी है। इस दूरी को 6 घंटे से कम समय में पूरा करने का प्रयास रेलवे का रहेगा। फिलहाल रेलवे बोर्ड इस रूट पर चलने वाली दूसरी गाड़ियों की रिजर्वेशन स्टेटस और यात्रियों के दबाव का अध्ययन कर रहा है। सीजन और नॉन सीजन में रिजर्वेशन की क्या स्थिति रहती है उस अनुपात में इस गाड़ी को डेली, वीकली या बाय-वीकली लेवल पर चलाया जा सकता है।


ग्वालियर के लिए बेहतर विकल्प
रेलवे सूत्रों के अनुसार भोपाल से ग्वालियर के बीच अधिकांश गाड़ियां फुल आक्यूपेंसी में चलती हैं। शताब्दी, भोपाल एक्सप्रेस सहित यहां से दिल्ली जाने वाली ज्यादातर गाड़ियों में बर्थ नहीं मिलती। ऐसे में इस रूट पर चेयरकार वाली डबल डेकर के विकल्प पर रेल मंत्रालय में मंथन चल रहा है। दरअसल विदेशों में दो शहरों को जोड़ने वाली कम दूरी की ट्रेनों का ज्यादा चलन है। उसी तर्ज पर इंडियन रेलवे छोटे रूटों पर डबल डेकर जैसी चेयरकार वाली गाड़ियां चला कर मेनस्ट्रीम टेÑनों का लोड कम करना चाहता है। इस कड़Þी में मुंबई से गोवा और लखनऊ से नई दिल्ली और नई दिल्लीसे बनारस के साथ ही भोपाल से ग्वालियर के बीच डबल डेकर चलाने की अवधारणा पर काम चल रहा है।

6 posts - Sat Apr 29, 2017 - are hidden. Click to open.

1865 views
Apr 30 2017 (00:55)
Guest: 39f7088b   show all posts
Re# 2255480-8            Tags   Past Edits
कोई भी ट्रेन चलाओ यह कोन कह रहा है कि dd ही चलाये पर ट्रेन चलानी चाइये क्यू की भोपाल से मुम्बई लाइन के लिये बहुत कम ट्रैन है और भी स्टेशन है जिनसे भोपाल के लिये ट्रैन होनी चाइये जैसे पुणे ,सूरत,छपरा,कोलकत्ता

1650 views
Apr 30 2017 (21:08)
Bina Jn   225 blog posts
Re# 2255480-9            Tags   Past Edits
Gwalior-Bhopal passenger accha milega.
Apr 29 2017 (09:34)  लोको पायलट के इंतजार में प्लेटफॉर्म पर खड़ी रही कोटा-भिंड पैसेंजर (naidunia.jagran.com)
News Entry# 301125     
   Tags   Past Edits
Apr 29 2017 (09:34)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Apr 29 2017 (09:34)
Train Tag: Gwalior Bhind Passenger/59823 added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~  545 news posts
ग्वालियर।
लोको पायलट के इंतजार में ग्वालियर से चलकर भिंड जाने वाली कोटा-भिंड पैसेंजर शुक्रवार को प्लेटफॉर्म पर खड़ी रही। क्योंकि ट्रेन के रवाना होने के समय तक लोको पायलट नहीं पहुंचा था। ट्रेन समय से रवाना नहीं हुई तब जाकर स्टेशन पर खलबली मची।
कोटा-भिंड पैसेंजर शुक्रवार दोपहर 11.50 बजे कोटा से चलकर ग्वालियर पहुंची। दस मिनट बाद ठीक 12 बजे ट्रेन भिंड के लिए रवाना होनी थी। कोटा से ट्रेन लेकर आया लोको पायलट ग्वालियर में उतरा और ग्वालियर से दूसरे लोको पायलट की ड्यूटी ट्रेन को भिंड ले जाने की
...
more...
थी। ट्रेन के जाने का समय हो गया। दोपहर 12.05 बजे जब ट्रेन ग्वालियर से रवाना नहीं हुई तो खलबली मची। आनन-फानन में परिचालन विभाग तक सूचना पहुंची। इसके बाद लोको पायलट को फोन लगाए गए, लेकिन कॉल रिसीव नहीं हुआ। ट्रेन 20 मिनट वहीं खड़ी रही, लेकिन लोको पायलट नहीं पहुंचा। इसके बाद तो दूसरे लोको पायलट को ट्रेन पर भेजने की व्यवस्था में प्रबंधन लग गया। तभी लोको पायलट पहुंचा। इसके करीब पांच मिनट बाद ट्रेन रवाना हुई। लोको पायलट को इस संबंध में नोटिस देने की तैयारी शुरू हो गई है, क्योंकि ट्रेन लेट होने का मामला झांसी मंडल तक पहुंच गया है। इस मामले की पूरी रिपोर्ट झांसी में बैठे अधिकारियों ने मांगी है। लोको पायलट ने लेट आने का कारण कॉल बुक लेट से मिलना बताया है, जबकि ड्यूटी लगाने वाले स्टाफ ने बताया कि उन्होंने निर्धारित समय पर कॉल बुक पहुंचा दी थी।
एक घण्टा रेल यातायात बाधितः
मालगाड़ी के इंजन से शुक्रवार सुबह करीब 5 बजे अप ट्रैक पर सिथौली के पास एक गाय टकरा गई। गाय टकरा जाने की वजह से इंजन के कुछ कलपुर्जे क्षतिग्रस्त हो गए, जिसके चलते रेल यातायात बाधित रहा। खराबी दूर करने में करीब एक घण्टे का समय लगा। इसके बाद ही ट्रेनों का संचालन शुरू हो सका।
रायपुर | 22 अप्रैल को जिस हमसफर एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाकर दुर्ग से निजामुद्दीन के लिए रेल मंत्री ने रवाना किया था, उसी ट्रेन के कोच में बाथरूम व बेसिन से नल की चोरी हो गई है। इस बात की जानकारी दिल्ली से रायपुर आ रहे एक यात्री दिव्यांशु गुप्ता ने ट्वीट करके दी है। दिव्यांशु ने बताया कि दुर्ग से निजामुद्दीन आने के बाद ओखला स्टेशन पर ट्रेन कई दिनों तक खड़ी रही। यहीं से किसी ने बाथरूम व बेसिन का नल निकाल लिया। निजामुद्दीन से दुर्ग के लिए ट्रेन रवाना होने के कुछ ही मिनट पहले इसकी जानकारी रेलवे कर्मचारियों को मिली। इसके बाद आनन-फानन में पुराना नल लगा दिया गया। जिस ट्रेन में सीसीटीवी कैमरे, एलईडी स्क्रीन, फ्रीज से लेकर चाय-कॉपी व सूप की वेंडिंग मशीनें लगी हों, उसकी सुरक्षा के लिए रेलवे ने कोई इंतजाम ही नहीं किया है।
शुक्रवार
...
more...
से हफ्ते में दो दिन चलेगी : दुर्ग से निजामुद्दीन तक शुक्रवार से हफ्ते में दो दिन नियमित तौर पर हमसफर एक्सप्रेस चलेगी। इस ट्रेन में थर्ड एसी के 16 कोच लगाए गए हैं।
Page#    Showing 1 to 20 of 413 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site