Full Site Search  
Thu Jun 29, 2017 13:01:00 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Platform Pic; Large Station Board;
Close-up; Platform Pic; Small Station Board;

GWL/Gwalior Junction (5 PFs)
گوالى ير جنکشن     ग्वालियर जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 5
Number of Halting Trains: 152
Number of Originating Trains: 11
Number of Terminating Trains: 11
Junction Point - Guna/Jhansi/Agra/Etawah/Sabalgarh, Racecourse Rd, Gwalior
State: Madhya Pradesh
Elevation: 213 m above sea level
Zone: NCR/North Central
Division: Jhansi
15 Travel Tips
No Recent News for GWL/Gwalior Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 3.8/5 (250 votes)
cleanliness - good (32)
porters/escalators - good (32)
food - good (32)
transportation - good (32)
lodging - good (31)
railfanning - good (31)
sightseeing - good (30)
safety - good (30)

Nearby Stations

BLNR/Birlanagar Junction 3 km     GOPA/Ghosipura 3 km     MTJL/Motijheel 8 km     STLI/Sithouli 9 km     BBY/Bhadroli 11 km     NGON/Naugaon 13 km     MIAL/Milaoli 14 km     RRU/Rayaru 14 km     SLV/Sandalpur 16 km     SAC/Sanichara 18 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 420 News Items  next>>
ग्वालियर/ डबरा।लहरों से डरकर नौका पार नहीं होती, कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती। कविता की यहं पक्तियां डबरा स्टेशन पर कार्यरत राजू प्रसाद गौड़ के लिए एक दम सटीक हैं। राजू डबरा स्टेशन पर स्वीपर के पद पर पदस्थ हैं। स्टेशन की साफ-सफाई करते हुए मेहनत से पढ़ाई की। परिणाम टीसी की विभागीय परीक्षा मंे उन्होंने 270 अभ्यर्थियों में से झांसी मंडल में टॉप किया। अब स्टेशन पर सफाई करने वाला राजू, कोर्ट पहनकर टिकट चैक करेगा।
राजू प्रसाद गौड़ पुत्र सर्वदेव गौड़ उत्तरप्रदेश के बलिया शहर के रहने वाले हैं। वर्ष 2013 में रेलवे में स्वीपर के पद पर पदस्थ हुए। डबरा से पहले वह मुरैना रेलवे स्टेशन पर सफाई कर्मचारी के रूप में कार्य किया। लेकिन कुछ
...
more...
महीने पहले डबरा में ट्रांसफर हो गया। डबरा में सफाई के साथ-साथ उन्होंने नियमित तैयारी की। समय-समय पर विभागीय परीक्षाएं दी, बुकिंग कलर्क की परीक्षा में भी पास हो गए थे। लेकिन उनका लक्ष्य टीसी बनने का था, उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी। जनवरी माह में टीसी की विभागीय परीक्षा दी, जिसका 21 जून को रिजल्ट घोषित हुआ। जिसमें उन्होंने झांसी मंडल में टॉप किया है। राजू की सफलता पर स्टेशन मास्टर केएस मीना सहित अन्य कर्मचारियों ने बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है।
बीए से ग्रेज्युएशन किया
राजू प्रसाद ने बताया कि उन्होंने आर्ट से ग्रेज्युऐशन किया है। ग्रेज्युऐशन के बाद नौकरी की तैयारी की, इस बीच 2013 में उनका सिलेक्शन रेलवे में सफाई कर्मचारी के रूप में हो गया। परिवार की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं थी। माता-पिता के अलावा परिवार में तीन भाई एक बहिन है, सभी पढ़ाई कर रहे हैं। आिर्थक स्थिति अच्छी नहीं होने की वजह से उन्होंने ज्वाइन कर लिया। पिछले चार सालों से सफाई कर्मचारी के रूप में रेलवे में अपनी सेवाएं दी।
बुकिंग कलर्क में तीसरा स्थान आया था
टीसी के पहले राजू प्रसाद ने बुकिंग कलर्क की विभागीय परीक्षा दी थी। परीक्षा नवंबर 2016 में आयोजित हुई थी। जिसका रिजल्ट जनवरी 17 में आया। जिसमें राजू ने झांसी मंडल में तीसरा स्थान प्राप्त किया था। लेकिन राजू का उद्देश्य टीसी बनने का था, इसलिए उन्होंने बुकिंग कलर्क की ज्वाईनिंग नहीं की, और कड़ी मेहनत से तैयारी में जुटे रहे, जिससे उन्हें सफलता मिली। इस संबंध में पीआरओ मनोज कुमार का कहना है कि विभागीय टीसी की परीक्षा का रिजल्ट 21 जून को घोषित किया है। जानकारी में पता चला कि जिस अभ्यर्थी ने मंडल में टॉप किया है वह डबरा स्टेशन पर स्वीपर के पद पदस्थ था।
Jun 15 2017 (10:53)  दो दिन से बिना धुले बेडरोल के साथ सफर करने को मजबूर बरौनी मेल के यात्री (m.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestNCR/North Central  -  

News Entry# 305425     
   Tags   Past Edits
Jun 15 2017 (10:54)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by Tushar Shandilya~/1427404

Jun 15 2017 (10:54)
Train Tag: Gwalior - Barauni Mail/11124 added by Tushar Shandilya~/1427404

Posted by: Tushar Shandilya~  514 news posts
नईदुनिया, प्रतिनिधि। ग्वालियर से बरौनी जाने वाली बरौनी मेल के एसी कोच के यात्रियों को दो दिन से बिना धुले बेडरोल का उपयोग सफर में करना पड़ रहा है, जिससे यात्रियों का सफर करना दूभर हो गया है। मंगलवार को तो कुछ यात्रियों को बेडरोल कम भी पड़ गए, जिससे रास्ते में हंगामा हो गया।
बरौनी मेल में एसी कोच के यात्रियों के लिए बेडरोल ग्वालियर से ही चढ़ाए जाते हैं। पहले बेडरोल झांसी से धुलकर आते थे, लेकिन जब से ग्वालियर में मैकेनाइज्ड लाउण्ड्री शुरू हुई है, तब से ग्वालियर से चलने वाली ट्रेनों के बेडरोल की धुलाई ग्वालियर में ही हो रही है। बरौनी मेल के बेडरोल की धुलाई पिछले दो दिन से नहीं हुई, जिसके चलते चादर, तकिये के
...
more...
कवर, तौलिया काफी गंदे हो गए हैं। तौलिया में तो दुर्गध तक आ रही है। सोमवार को इन्हीं गंदे बेडरोल के साथ यात्रियों को सफर करना पड़ा था।
मंगलवार को भी जब ट्रेन ग्वालियर से रवाना हुई तो बिना धुले बेडरोल ही यात्रियों को दिए गए। जब बेडरोल खोले तो काफी गंदे थे। इसके बाद यात्रियों ने इसकी शिकायत की तो स्टाफ ने कहा कि लाउंड्री की मशीन में कुछ गड़बड़ी आ जाने की वजह से धुलाई नहीं हो पाई। वहीं एक एसी कोच में बेडरोल ही कम पड़ गए। इसके बाद गुस्साए यात्रियों ने हंगामा कर दिया। फिर स्टाफ ने अपने बेडरोल यात्रियों को दिए तब जाकर यात्री शांत हुए। गंदे बेडरोल की लिखित शिकायत भी यात्रियों ने की है।
Jun 14 2017 (09:10)  दो दिन से बिना धुले बेडरोल के साथ सफर करने को मजबूर बरौनी मेल के यात्री (www.jagran.com)
News Entry# 305289     
   Tags   Past Edits
Jun 14 2017 (09:10)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Jun 14 2017 (09:10)
Train Tag: Barauni - Gwalior Mail/11123 added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  700 news posts
मंगलवार को भी जब ट्रेन ग्वालियर से रवाना हुई तो बिना धुले बेडरोल ही यात्रियों को दिए गए। जब बेडरोल खोले तो काफी गंदे थे।
नईदुनिया, प्रतिनिधि। ग्वालियर से बरौनी जाने वाली बरौनी मेल के एसी कोच के यात्रियों को दो दिन से बिना धुले बेडरोल का उपयोग सफर में करना पड़ रहा है, जिससे यात्रियों का सफर करना दूभर हो गया है। मंगलवार को तो कुछ यात्रियों को बेडरोल कम भी पड़ गए, जिससे रास्ते में हंगामा हो गया।
बरौनी मेल में एसी कोच के यात्रियों के लिए बेडरोल ग्वालियर से ही
...
more...
चढ़ाए जाते हैं। पहले बेडरोल झांसी से धुलकर आते थे, लेकिन जब से ग्वालियर में मैकेनाइज्ड लाउण्ड्री शुरू हुई है, तब से ग्वालियर से चलने वाली ट्रेनों के बेडरोल की धुलाई ग्वालियर में ही हो रही है। बरौनी मेल के बेडरोल की धुलाई पिछले दो दिन से नहीं हुई, जिसके चलते चादर, तकिये के कवर, तौलिया काफी गंदे हो गए हैं। तौलिया में तो दुर्गध तक आ रही है। सोमवार को इन्हीं गंदे बेडरोल के साथ यात्रियों को सफर करना पड़ा था।
मंगलवार को भी जब ट्रेन ग्वालियर से रवाना हुई तो बिना धुले बेडरोल ही यात्रियों को दिए गए। जब बेडरोल खोले तो काफी गंदे थे। इसके बाद यात्रियों ने इसकी शिकायत की तो स्टाफ ने कहा कि लाउंड्री की मशीन में कुछ गड़बड़ी आ जाने की वजह से धुलाई नहीं हो पाई। वहीं एक एसी कोच में बेडरोल ही कम पड़ गए। इसके बाद गुस्साए यात्रियों ने हंगामा कर दिया। फिर स्टाफ ने अपने बेडरोल यात्रियों को दिए तब जाकर यात्री शांत हुए। गंदे बेडरोल की लिखित शिकायत भी यात्रियों ने की है।
Jun 04 2017 (09:10)  अब TTE की डयूटी होगी ऑनलाइन, रजिस्टर से मिलेगी मुक्ति (www.patrika.com)
back to top
New Facilities/Technology

News Entry# 304334     
   Tags   Past Edits
Jun 04 2017 (09:10)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  700 news posts
ग्वालियर। रेलवे के टीटीई को अब कागजों पर ड्यूटी नहीं देखना पड़ेगी, टीटीई की ड्यूटी जिस ट्रेन पर होगी उसे एसएमएस के माध्यम से जानकारी मिल सकेगी।
ऐसी व्यवस्था एक साथ झांसी, बांदा और ग्वालियर स्टेशनों पर शुरू होने जा रही है। इसको लेकर शुक्रवार को झांसी मंडल से सीसीआई पीएमएस जितेन्द्र कुमार व अन्य इंजीनियरों ने रेलवे स्टेशन पर सीटीआई ऑफिस में घंटों बैठकर कंप्यूटर पर सभी जानकारी अपलोड की और यहां का डाटा लेकर झांसी गए।
टीटीई की मनमानी अब नहीं चलेगी
ड्यूटी
...
more...
के दौरान कई बार कई टीटीई अपनी ड्यूटी मनमर्जी से लगवाकर दूसरे रूटों पर चले जाते हैं। एेसे में कई टीटीई को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता था। इस व्यस्था के शुरू होने से टीटीई की मनमानी पर रोक लग सकेगी।
115 टीटीई
ग्वालियर स्टेशन पर 115 के आसपास है टीटीई हैं। यह सभी टीटीई सुबह से रात तक किसी न किसी ट्रेन को लेकर आते जाते हैं। वहीं कुछ टीटीई स्टेशन पर चेकिंग के साथ कार्यालय में भी काम कर रहे हैं। अब रजिस्टर से मिलेगी मुक्ति
अभी तक किसी भी ट्रेन में आने और जाने पर सभी टीटीई को सीटीआई ऑफिस में रखे रजिस्ट्रर पर अपने हस्ताक्षर करना अनिवार्य होता था। ऐसे में कई बार ट्रेन लेट होने पर भी टीटीई को रात में भी हस्ताक्षर करने पड़ते थे, लेकिन अब इस व्यवस्था से टीटीई को ग्वालियर स्टेशन पर आने के बाद साइन ऑफ और साइन ऑन कम्ंप्यूटर पर ही करना होगा।
May 29 2017 (11:23)  नाबालिग को बिना टिकट पकड़ा तो टीटीई नहीं वसूल पाएंगे जुर्माना (naidunia.jagran.com)
back to top
Other News

News Entry# 303777   Blog Entry# 2299180     
   Tags   Past Edits
May 29 2017 (11:23)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  700 news posts
ग्वालियर। रेलवे बोर्ड के हाल में जारी आदेश से ट्रेन और रेलवे स्टेशन पर टिकट चेकिंग करने वाले स्टाफ में खलबली मची हुई है। नई व्यवस्था के तहत अब अगर टीटीई ने बिना टिकट सफर करते या रेलवे के किसी भी नियम का उल्लंघन करते किसी नाबालिग को पकड़ा तो अब उनसे सीधे जुर्माना नहीं वसूला जा सकेगा।
अगर ऐसा किया तो स्टाफ पर कार्रवाई हो जाएगी। इस सर्कुलर से ग्वालियर का चेकिंग स्टाफ सबसे ज्यादा परेशान है, क्योंकि ग्वालियर में काफी संख्या में इस तरह के बिना टिकट यात्री पकड़े जाते हैं। भिंड, मुरैना की ट्रेनों में ऐसे यात्रियों की संख्या काफी अधिक रहती है।
दरअसल,
...
more...
अभी तक ट्रेनों में अगर बिना टिकट सफर करते या रेलवे के किसी भी नियम का उल्लंघन करते हुए नाबालिग को पकड़ा जाता था तो उस पर चेकिंग स्टाफ जुर्माना वसूल लेता था। जुर्माना वसूलने के बाद इन्हें छोड़ दिया जाता था।
इस मामले में 31 दिसम्बर 2016 को केरला राज्य बाल अधिकार आयोग ने रेलवे बोर्ड को सुझाव दिया था कि नाबालिग से किसी भी सूरत में सीधे जुर्माना न वसूल किया जाए। आयोग के इस सुझाव को रेलवे बोर्ड ने हाल ही में मंजूरी प्रदान की है। दो दिन पहले रेलवे बोर्ड ने देश के सभी रेलवे जोन के चीफ कमर्शियल मैनेजर को सर्कुलर जारी किया।
इसमें स्पष्ट उल्लेख किया गया है कि अगर कोई नाबालिग बिना टिकट सफर करता हुआ या रेलवे के किसी नियम का उल्लंघन करता मिले तो उस पर सीधे कार्रवाई न की जाए। इसके लिए पहले जुबेनाइल जस्टिस बोर्ड को एक रिपोर्ट सौंपनी होगी। इसके बाद आगे की कार्रवाई वहीं से तय होगी। अगर सीधे कार्रवाई की तो चेकिंग स्टाफ के खिलाफ ही कार्रवाई हो जाएगी।
यह नया आदेश चेकिंग स्टाफ को भी भेज दिया गया है। इस आदेश के बाद ग्वालियर में तो चेकिंग स्टाफ ऐसे किसी भी यात्री से टिकट मांगने से डर रहा है, जिसकी उम्र कम दिख रही हो। ग्वालियर में यह संकट अधिक है, क्योंकि ग्वालियर में प्रतिदिन दर्जनों नाबालिग यात्री बिना टिकट पकड़े जाते हैं। इनमें सबसे ज्यादा संख्या छात्रों की होती है, जो आसपास के जिले, गांव से यहां पढ़ने आते हैं।
इनका कहना है
अभी तक नाबालिग बिना टिकट पकड़ा जाता था तो चेकिंग स्टाफ जुर्माना वसूल लेता था। लेकिन अब नाबालिग से सीधे किसी प्रकार का जुर्माना नहीं वसूल सकेंगे, इस संबंध में सभी जोन के चीफ कमर्शियल मैनेजर को निर्देश जारी किए गए हैं। नाबालिगों के अधिकारों की रक्षा के लिए यह निर्णय लिया गया है। - विक्रम सिंह डायरेक्टर पैसेंजर मार्केटिंग, रेलवे बोर्ड

964 views
May 29 2017 (22:58)
SHIVKUMAR   942 blog posts   85 correct pred (60% accurate)
Re# 2299180-1            Tags   Past Edits
good.
this will restore belief in government.
Page#    Showing 1 to 20 of 420 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.