Full Site Search  
Sun Jun 25, 2017 07:35:43 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search

HRB/Harri
     हर्री

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: n/a
Number of Halting Trains: 10
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Bilaspur -Gangpur Rd, Venkatnagar, 495117
State: Madhya Pradesh
Elevation: 595 m above sea level
Zone: SECR/South East Central
Division: Bilaspur
No Recent News for HRB/Harri
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

PND/Pendra Road 9 km     VKR/Venkatnagar 10 km     SBRA/Sarbahara 14 km     NIQ/Nigaura 18 km     KOI/Khodri 20 km     JTI/Jaithari 28 km     BHTK/Bhanwar Tonk 32 km     CLF/Chhulha 37 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 1 of 1 News Items  
Aug 06 2016 (11:40)  हर्री-पेंड्रा डबल लाइन को हरी झंडी, ट्रेनों की बढ़ेगी रफ्तार (naidunia.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologySECR/South East Central  -  

News Entry# 276186     
   Tags   Past Edits
Aug 06 2016 (11:40AM)
Station Tag: Harri/HRB added by For Better Managed Indian Railways~/1546020

Aug 06 2016 (11:40AM)
Station Tag: Pendra Road/PND added by For Better Managed Indian Railways~/1546020

Posted by: For Better Managed Indian Railways~  948 news posts
बिलासपुर। नईदुनिया न्यूज
हर्री-पेंड्रा डबल रेल लाइन में ट्रेनों के परिचालन को रेलवे से हरी झंडी मिल गई है। मुख्य संरक्षा आयुक्त ने शुक्रवार को लाइन का निरीक्षण करने के बाद 90 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड पर ट्रेन चलाने की अनुमति दी है। इससे रूट पर ट्रैफिक का दबाव कम होगा और ट्रेनों की स्पीड भी बढ़ जाएगी। इससे रेलवे के साथ ही यात्रियों को काफी फायदा होगा।
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के लिए शुक्रवार का दिन बेहद खास रहा। हर्री से पेंड्रा तक 8 किलोमीटर की दूसरी रेल लाइन का काम
...
more...
पूरा होने के बाद रेलवे के मुख्य संरक्षा आयुक्त सुदर्शन नायक तय कार्यक्रम के अनुसार सुबह 8 बजे से निरीक्षण करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने विभिन्न विभागों द्वारा किए गए कार्य की सुरक्षा व संरक्षा के हिसाब से जांच-पड़ताल की। इसके लिए उन्होंने मोटर ट्राली से पेंड्रा से हर्री तक का सफर किया। इस दौरान उन्होंने ट्रैक की बारीकी से जांच की। विद्युत खंभे, ओएचई, सिग्नल, लाइन के नीचे कुशन, एलसी गेट आदि को बकायदा उतरकर देखा। वापसी में स्पीड का ट्रॉयल लेने के बाद रेलवे के विभिन्न विभागों के अधिकारियों से मिले। सारी चीजों को ओके करते हुए उन्होंने 90 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेन चलाने के लिए अनुमति दी। इसके साथ ही अब पेंड्रा से अनूपपुर का सफर बेहद आसान हो जाएगा। न ही ट्रेनों में ट्रैफिक का दबाव होगा और न ट्रेन रुक-रुककर चलेंगी। पहले की तुलना में स्पीड बढ़ जाएगी। पेंड्रा-हर्री के बाद बिलासपुर से अनूपपुर में केवल पांच सेक्शन ही लाइन दोहरीकरण के लिए शेष रह जाएंगी। इसमें पेंड्रा से सारबहरा, सारबहरा से खोडरी, खोंगसरा से टेंगनमाड़ा, टेंगनमाड़ा से बेलगहना और बेलगहना से सल्कारोड शामिल हैं। इन सेक्शनों को डबलिंग करने के लिए 2018 तक का लक्ष्य रखा गया है। निरीक्षण के दौरान डीआरएम रविंद्र गोयल सहित विभिन्न विभागों के आला अधिकारी मौजूद रहे।
दोहरीकरण के पांच बड़े फायदे
00 कटनी मार्ग में ट्रेनों का दबाब कम होगा। परिचालन में आसानी होगी व स्पीड बढ़ेगी।
00 डबल लाइन नहीं होने से ट्रेनों को बीच-बीच में रोकना पड़ता था, इससे मुक्ति मिलेगी।
00 पेंड्रारोड से अनूपपुर पहुंचने में आसानी होगी। 2018 तक बिलासपुर से विस्तार होगा।
00 यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने में कम समय लगेगा, व्यापारिक दृष्टि से भी फायदा पहुंचेगा।
00 नई ट्रेनों के परिचालन पर विचार किया जा सकेगा, स्टेशनों में सुविधाओं का विस्तार होगा।
50 किलोमीटर का कार्य पूरा
बिलासपुर से अनूपपुर की दूरी 151 किमी है। हर्री से अनूपपुर तक 50 किलोमीटर की लाइन का दोहरीकरण कार्य हो चुका है। हर्री से सारबहरा के बीच चरणबद्ध तरीके से इस कार्य को पूरा किया जाना है। यह काम रेल विकास निगम द्वारा कराया जा रहा है। निगम ने पहले चरण में हर्री से पेंड्रा के बीच 8 किमी में दूसरी लाइन बिछाई है। नई लाइन को पुरानी से जोड़ने के लिए ही ब्लॉक लेकर नॉन इंटरलाकिंग का कार्य किया जा रहा है। पेंड्रा से अनूपपुर का काम पूरा होने के बाद अब बिलासपुर से सीधे अनूपपुर पर जोर रहेगा, ताकि कटनी मार्ग के यात्रियों को और आसानी हो।
आठ घंटे का मेगा ब्लाक आज
दोहरीकरण का काम पूरा होने और परिचालन की अनुमति मिलने के बाद 6 जुलाई को आठ घंटे तक अब यहां मेगा ब्लाक रहेगा। इसकी वजह से इस रूट की ट्रेनों का परिचालन प्रभावित होगा। हालांकि रेलवे की ओर से समय और प्रभावित होने वाली ट्रेनों की जानकारी नहीं दी गई थी।
90 की स्पीड बड़ी बात है
परिचालन से जुड़े अधिकारियों का मानना है कि संरक्षा आयुक्त द्वारा 90 केएमपीएच की अनुमति देना बड़ी बात है। अक्सर देखा गया है कि वन क्षेत्र व रॉक एरिया से होकर गुजरने वाली ट्रेनों को अधिकतम 80 से 85 केएमपीएच की अनुमति दी जाती है। इससे स्पष्ट हो गया है कि एसईसीआर के कर्मचारियों और अधिकारियों ने गंभीरता से काम करते हुए सुरक्षा और संरक्षा में जिम्मेदारी निभाई है।
मुख्य सुरक्षा आयुक्त ने हर्री-पेंड्रा डबल रेल लाइन का निरीक्षण कर 90 केएमपीएच पर ट्रेन परिचालन की अनुमति दी है। इससे यात्रियों के साथ रेलवे को भी फायदा होगा। फिलहाल पेंड्रा से अनूपपुर तक ट्रैफिक का दबाव कम होगा और ट्रेनों की स्पीड में वृद्धि की जा सकेगी।
हिमांशु जैन
सीपीआरओ,एसईसीआर बिलासपुर
Page#    Showing 1 to 1 of 1 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.