Full Site Search  
Tue Jun 27, 2017 07:33:48 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;

JBN/Jogbani (2 PFs)
جوگبني     जोगबनी

Track: Single Diesel-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 0
Number of Originating Trains: 9
Number of Terminating Trains: 9
NH 57-A, Jogbani, Distt. Araria - 854328
State: Bihar
Elevation: 66 m above sea level
Zone: NFR/Northeast Frontier
Division: Katihar
No Recent News for JBN/Jogbani
Nearby Stations in the News

Rating: 3.0/5 (7 votes)
cleanliness - good (1)
porters/escalators - good (1)
food - poor (1)
transportation - good (1)
lodging - good (1)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - good (1)
safety - poor (1)

Nearby Stations

BTF/Bathnaha 7 km     FBG/Forbesganj Junction 13 km     DLZ/Dholbaja 19 km     GPE/Gogipothia Halt 22 km     BRTN/Biratnagar 24 km     SMH/Simraha 26 km     NPV/Narpatganj 30 km     HOD/Haldita Bihar 31 km     ARR/Arariya 38 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 26 News Items  next>>
May 21 2017 (14:46)  सफाई में लखनऊ जंक्शन का छठा नंबर, दरभंगा-जोगबनी सबसे (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsNER/North Eastern  -  

News Entry# 303127   Blog Entry# 2286197     
   Tags   Past Edits
May 21 2017 (14:46)
Station Tag: Mau Junction/MAU added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

May 21 2017 (14:46)
Station Tag: Indara Junction/IAA added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

May 21 2017 (14:46)
Station Tag: Shahganj Junction/SHG added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

May 21 2017 (14:46)
Station Tag: Jammu Tawi/JAT added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

May 21 2017 (14:46)
Station Tag: Jogbani/JBN added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

May 21 2017 (14:46)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

May 21 2017 (14:46)
Station Tag: Lucknow Junction NER/LJN added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5913 news posts
सफाई में लखनऊ जंक्शन का छठा नंबर, दरभंगा-जोगबनी सबसे गंदे
सर्वे रिपोर्ट
फेफना-इंदारा व मऊ-शाहगंज लाइनें होंगी दोहरी
Click here to enlarge image
जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली : आनंद विहार, जम्मू तवी, लखनऊ जंक्शन और
...
more...
गोरखपुर स्टेशन को देश के सबसे साफ-सुथरे रेलवे स्टेशनों में शामिल किया गया है। विशाखापत्तनम और ब्यास देश के सर्वाधिक स्वच्छ स्टेशन हैं, जबकि दरभंगा और जोगबनी का शुमार सबसे गंदे स्टेशनों में किया गया है। 1आइआरसीटीसी द्वारा रेलवे स्टेशनों में साफ-सफाई की स्थिति के आधार पर कराए गए तीसरे सर्वे में यह तथ्य उजागर हुआ है। इसे रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने यहां बुधवार को जारी किया। इसमें ए1 श्रेणी के 75 तथा ए श्रेणी 332 स्टेशनों समेत कुल 407 रेलवे स्टेशनों को शामिल किया गया। इसी तरह का सर्वे अब ट्रेनों के बाबत भी किया जा रहा है। इसके परिणाम जल्द घोषित किए जाएंगे। 1सर्वे की खास बात देश की राजधानी दिल्ली के सबसे प्रमुख नई दिल्ली स्टेशन का ए1 स्टेशनों में 39वां स्थान पाना है। इससे उत्तर रेलवे की बड़ी फजीहत हुई है। नई दिल्ली से बेहतर स्थिति तो हजरत निजामुद्दीन और पुरानी दिल्ली स्टेशन की है जो क्रमश: 23वें एवं 24वें स्थान पर रहे हैं। आनंद विहार को भी पांचवां स्थान मिल गया है, जबकि तीसरा स्थान पाकर जम्मू तवी ने उत्तर रेलवे की इज्जत बचा ली है। लखनऊ जंक्शन को छठा, गोरखपुर को 12वां स्थान मिलने से पूवरेत्तर रेलवे को राहत मिली है, परंतु तमाम प्रयासों के बावजूद प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को 14वां स्थान मिलने से उत्तर रेलवे की किरकिरी हुई है। पटना 28वें, हरिद्वार 30वें और आगरा 35वें स्थान पर हैं। ए1 श्रेणी के स्टेशनों में दरभंगा, जबकि ए श्रेणी के स्टेशनों में जोगबनी का नाम लिस्ट में सबसे आखिरी है। ए श्रेणी के स्टेशनों में हिमाचल प्रदेश का ब्यास स्टेशन पूर्व की तरह पहले नंबर पर काबिज है।1इस सर्वे को आइआरसीटीसी के लिए क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया ने किया। उसने रेलवे स्टेशनों की स्वच्छता को मापने के लिए टॉयलेट, पेयजल बूथ, खानपान स्टॉल, फूट ओवरब्रिज, पटरियों तथा कूड़ेदानों के अलावा पार्किंग एरिया, प्रवेश द्वार तथा प्रतीक्षालय की स्वच्छता पर खास तौर पर गौर किया। 1सभी स्टेशनों को स्वच्छ देखना चाहते हैं। पिछले सर्वे के बाद कई स्टेशनों की हालत में सुधार देखने को मिला है।1सुरेश प्रभु, रेल मंत्री’>>जम्मू तीसरे और आनंद विहार रेलवे स्टेशन पांचवें स्थान पर1’>>निजामुद्दीन व पुरानी दिल्ली से ज्यादा गंदा है नई दिल्ली स्टेशन1’>>विशाखापत्तनम और ब्यास देश के सर्वाधिक स्वच्छ1’>>पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी को 14वां स्थानजाब्यू, नई दिल्ली: सरकार ने उत्तर प्रदेश के फेफना-इंदारा तथा मऊ-शाहगंज के बीच (इंदरा-मऊ छोड़कर) रेलवे लाइनों के दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण का फैसला किया है। कुल डेढ़ सौ किमी लंबी परियोजना पांच वर्ष में पूरी होगी। फेफना-इंदारा लाइन की लंबाई 50.53 व मऊ-शाहगंज लाइन की 99.75 किमी होगी। परियोजना पर 1191 करोड़ रुपये की लागत आ सकती है। इन लाइनों के दोहरीकरण से वैकल्पिक रूट उपलब्ध होने के परिणामस्वरूप पूर्व-मध्य रेलवे पर यातायात का दबाव कम होगा। प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति की बैठक में इसके अलावा दो अन्य रेल परियोजनाओं को भी मंजूरी दी गई। इनमें महाराष्ट्र में मनमाड़ व जलगांव के बीच तीसरी विद्युतीकृत लाइन बिछाने तथा आंध्र में गुंटूर व गुंटकल के बीच लाइन के दोहरीकरण व विद्युतीकरण की परियोजनाएं शामिल हैं।

3 posts - Sun May 21, 2017 - are hidden. Click to open.

1115 views
May 30 2017 (16:25)
Convert 14626 into SF train   200 blog posts
Re# 2286197-4            Tags   Past Edits
Beas is in punjab rather in himachal pradesh. Check validity of your source before posting it.
Apr 24 2017 (09:00)  जोगबनी से सहरसा तक ट्रेन चलाने की मांग (www.jagran.com)
back to top
Other News

News Entry# 300591   Blog Entry# 2248695     
   Tags   Past Edits
Apr 24 2017 (09:00)
Station Tag: Araria Court/ARQ added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Apr 24 2017 (09:00)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Apr 24 2017 (09:00)
Station Tag: Jogbani/JBN added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  686 news posts
अररिया। जोगबनी से सहरसा के लिए वाया पूर्णिया, मधेपुरा यात्री ट्रेन चलाने की मांग अब जोर पकड़न
अररिया। जोगबनी से सहरसा के लिए वाया पूर्णिया, मधेपुरा यात्री ट्रेन चलाने की मांग अब जोर पकड़ने लगी है। दरअसल फारबिसगंज सहरसा अमान परिवर्तन के काम की मंथर गति को देखते हुए लोगों को नही लगता कि निकट भविष्य में इस खंड पर ट्रेन का परिचालन संभव हो पाएगा। खासकर एनएफ रेल कटिहार के डीआरएम सीपी गुप्ता ने शनिवार को बताया कि ट्रेनों का परिचालन कब आरंभ होगा, वे नहीं बता सकते। वर्तमान में इस क्षेत्र के लोग सड़क मार्ग से सुपौल और सहरसा जा रहे है जो काफी परेशानी के साथ खर्चीला पड़ता है। उल्लेखनीय है कि रेलवे कम्प्यूटर्स फोरम के सदस्य विनोद सरावगी
...
more...
ने रेलवे के आला अधिकारियों को सहरसा से पूर्णिया के बीच परिचालित होने वाली 55572 को जोगबनी तक विस्तार करने का लिखित रूप से सुझाव दिया था। वहीं इंडो नेपाल आर्गनाइजेशन ऑफ रेल यूजर्स के नेपाल संयोजक किशोर दुग्गड़ ने भी नेपाल सहित सीमावर्ती क्षेत्र के लोगों की जोगबनी से पटना के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस की लंबित मांग को देखते हुए पटना से सहरसा के बीच चलने वाली 12567-68 राज्यरानी एक्सप्रेस ट्रेन को भी वाया पूर्णिया जोगबनी तक बढ़ाए जाने की मांग की है। इसी तरह फारबिसगंज स्टेशन सलाहकार समिति के सदस्य गोपाल कृष्ण सोनू का मानना है कि जोगबनी से सहरसा सीधी रेल सेवा आरंभ होने से पंजाब हरियाणा आदि जाने वाले लोग विशेषकर श्रमिकों को सहरसा से जन साधारण एक्सप्रेस और पूरबिया एक्सप्रेस ट्रेन पकड़ने की सुविधा मिलने लगेगी। वहीं डीआरसी के पूर्व सदस्य बछराज राखेचा का कहना है कि सीमांचल एक्सप्रेस का ठहराव पटना के स्थान पर पाटलिपुत्र कर दिए जाने से यदि राज्यरानी को जोगबनी से चलाया जाए तो यहां के रेल यात्रियों को पटना तक जाने में काफी सुविधा मिलेगी। कुल मिलाकर यहां के विभिन्न रेल यात्री संगठनों, समाज सेवी संस्थाओं, व्यवसायिक प्रकोष्ठों ने उम्मीद जताई है कि रेल प्रशासन इस महत्वपूर्ण लेकिन उपेक्षित रेल खंड के उपभोक्ताओं के हित को देखते हुए उक्त मांगों पर शीघ्र निर्णय लेगा।

2000 views
Apr 24 2017 (15:38)
mdaamiraamir78~   56 blog posts
Re# 2248695-1            Tags   Past Edits
Saharsa me 1 hi super fast 12567 Rajyarani usko bhe log chinne me lage hain

1881 views
Apr 24 2017 (17:41)
Avijeet Mishra   332 blog posts
Re# 2248695-2            Tags   Past Edits
Let them divert SEEMANCHAL via SHC, will solve this demand.

2094 views
Apr 24 2017 (17:47)
Rahul K😎🚂~   2297 blog posts   2043 correct pred (77% accurate)
Re# 2248695-3            Tags   Past Edits
If they divert Seemanchal via SHC then what will happen to Radhikapur link? Mansi me jodenge kya?

2110 views
Apr 24 2017 (17:52)
Rahul K😎🚂~   2297 blog posts   2043 correct pred (77% accurate)
Re# 2248695-4            Tags   Past Edits
They're just demanding a proper connection from Jogbani to Saharsa and at first place requesting an extension on 55572 upto JBN which is a valid demand. If they get proper connecting passenger trains for SHC, they will forget about extension of 12567..

2232 views
Apr 24 2017 (17:52)
Avijeet Mishra   332 blog posts
Re# 2248695-5            Tags   Past Edits
will joining link in MNE instead of KIR be problem ? don't think so.

2147 views
Apr 24 2017 (17:55)
Avijeet Mishra   332 blog posts
Re# 2248695-6            Tags   Past Edits
also once SHC-FBG section opens up, it will provide much shorter route to JBN.

2221 views
Apr 24 2017 (18:08)
Rahul K😎🚂~   2297 blog posts   2043 correct pred (77% accurate)
Re# 2248695-7            Tags   Past Edits
Then SHC psgrs association should go ahead and demand diversion of Seemanchal via SHC and also allow RajyaRani extension up to JBN :)
Win win for everyone

2184 views
Apr 24 2017 (18:18)
Avijeet Mishra   332 blog posts
Re# 2248695-8            Tags   Past Edits
any extension of RajyaRani will kill this train. already Kosi express is crying for punctuality post its extension to Purnia
Mar 30 2017 (17:25)  Seemanchal Exp- Heroin worth Rs 1 crore seized (news.webindia123.com)
back to top
Crime/AccidentsNFR/Northeast Frontier  -  

News Entry# 298124     
   Tags   Past Edits
Mar 30 2017 (17:25)
Station Tag: Jogbani/JBN added by Rahul K😎🚂~/965197

Mar 30 2017 (17:25)
Train Tag: Seemanchal Express/12488 added by Rahul K😎🚂~/965197

Posted by: Rahul K😎🚂~  111 news posts
Chinese heroin worth Rs 1 crore has been seized from a bogie of Jogbani-Anand Vihar Seemanchal Express at Forbesganj station on Katihar-Jogbani section of North East Frontier railway. A joint team of Customs personnel and rail police late last night seized two packets of heroin weighing more than 900 grams from an abandoned bag, kept inside the bogie, following a tip off.
The value of the seized heroin was estimated to be nearly Rs 1 crore in the international market.
The packets containing heroin bore labels of "Made in China".
Nov 05 2016 (11:10)  पटरी पर खतरे में हजारो जान, सतर्क हो रेलवे विभाग हो सकता है हादसा (epaper.livehindustan.com)
back to top
Crime/Accidents

News Entry# 284854     
   Tags   Past Edits
Nov 05 2016 (11:10AM)
Station Tag: Simraha/SMH added by chandan4144/1211275

Nov 05 2016 (11:10AM)
Station Tag: Bathnaha/BTF added by chandan4144/1211275

Nov 05 2016 (11:10AM)
Station Tag: Jogbani/JBN added by chandan4144/1211275

Nov 05 2016 (11:10AM)
Station Tag: Arariya Court/ARQ added by chandan4144/1211275

Nov 05 2016 (11:10AM)
Station Tag: Forbesganj Junction/FBG added by chandan4144/1211275

Posted by: chandan4144  69 news posts
फारबिसगंज के फुलबरिया हटिया सहित कई जगहों पर छठ पर्व के समान बिक्रेताओ एवं खरीददारों ने जोगबनी-कटिहार रेलवे पटरी पर कब्जा जमा लिया है। कब्जा को लेकर रेलवे विभाग मे हड़कंप मच गया है। भीड़ को लेकर ट्रेन के अवागमन मे भारी परेशानी हो रही है। जिस जगह भीड़ ने पटरी पर कब्जा जमाया है, वह ट्रेन के 30 किलोमीटर प्रति घंटा के स्पीड के दायरे मे आता है। यूं तो हर दिन रेलवे पटरी के अगल बगल यहां दुकाने सजती है मगर चार दिवसीय छठ पर्व को लेकर इस जगह हजारों छोटे-छोटे दुकानदारों ने पटरी पर कब्जा जमा लिया है। बता दें इस पटरी होकर जोगबनी से आनन्द विहार दिल्ली जाने वाली सीमांचल एक्सप्रेस और कोलकाता जाने वाली चित्तपुर एक्सप्रेस के अलावा प्रतिदिन जोगबनी कटिहार और कटिहार जोगबनी एक दर्जन से ज्यादा ट्रेने आती जाती है मगर ताजा हालत बेहद खतरनाक है। पटरी के दुकानदारों का कहना है कि तीन...
more...
दिनो की दुकानदारी है आखिर वे लेाग समान बेचने कहां जाएंगें। इन लोगो का कहना है कि वे लोग सतर्क है और ट्रेन के समय अतिरिक्त सतर्कता बरत रहे हैं। रेलवे सुत्रो की माने तो ताजा स्थिति से ट्रेन परिचालन में काफी दिक्कत हो रही है और चालक खासा नाराज हैं। उन्हें बैलगाड़ी की गति से ट्रेन को चलाना पड़ रहा है और उसके बाद भी लोगों के कटने व चोटिल होने की आशंका बनी रहती है। फारबिसगंज स्टेशन के प्रबंधक अबुल कासिम ने बताया कि मामला काफी खतरनाक है और रेलवे सतर्कता बरत रही है। उन्होंने कहा कि आरपीएफ को मेमो दिया गया है ताकि किसी अनहोनी से बचा जा सके। वही स्थानीय आरपीएफ प्रभारी पवन कुमार यादव ने बताया कि फुलवड़िया हाट के पास रेलवे पटरी सहित अन्य जगहों पर आरपीएफ की डय़ूूटी लगायी गयी है और सावधानी बरती जा रही है।
फुलबड़िया हाट स्थित रेवले पटरी पर जमाया लोगो ने कब्जा, सांसत मे कई जानें।
Nov 05 2016 (11:04)  उपेक्षा की दुनिया में गुम कोसी रेलवे (epaper.jagran.com)
back to top
Other NewsECR/East Central  -  

News Entry# 284852     
   Tags   Past Edits
Nov 05 2016 (11:04AM)
Station Tag: Arariya Court/ARQ added by chandan4144/1211275

Nov 05 2016 (11:04AM)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by chandan4144/1211275

Nov 05 2016 (11:04AM)
Station Tag: Forbesganj Junction/FBG added by chandan4144/1211275

Nov 05 2016 (11:04AM)
Station Tag: Jogbani/JBN added by chandan4144/1211275

Posted by: chandan4144  69 news posts
वीरपुर और भीमनगर की रेलवे कॉलोनी अब लैंटाना-आइकॉर्निया के जंगल से पटी है। यह सब उस सपने के टूटने के कारण हुआ है जो 60 साल पहले कोसी की नैरो गेज रेलवे के रूप में साकार हुआ था। राजनीतिक अनदेखी ने कोसी रेल को गुम कर दिया है। 1 क्या है कोसी रेलवे : कोसी बराज के लिए रसद और निर्माण सामग्री ढोने को 1959 में इस नैरो गेज रेलवे का निर्माण किया गया था।1 बथनाहा से भीमनगर होते पूर्वी कोसी तटबंध के समानांतर यह नेपाल के घोपा-धरान तक जाती थी। पर्यटन के अलावा सामरिक दृष्टिकोण से भी यह महत्वपूर्ण थी। 1 क्यों रूठ गया सपना : बराज व तटबंधों का निर्माण पूरा होने के बाद सरकार को यह रेल परियोजना महत्वहीन लगने लगी। 1987 की बाढ़ और 1988 के भूकंप ने रेल लाइन को काफी नुकसान पहुंचाया। अस्सी के दशक के अंत तक इस रेलवे लाइन पर परिचालन बिलकुल ठप...
more...
हो गया। 1नीलाम कर दी गईं परिसंपत्तियां : 2000-05 में रेलवे की सारी परिसंपत्तियों को नीलाम कर दिया गया। बलुआ बाजार के विनोद मिश्र, भीमनगर के सुधीर सिंह, बथनाहा के सुरेश कंठ, अधिवक्ता राजेश चंद्र वर्मा, गजेंद्र ठाकुर, जितेंद्र कुमार मल्लिक आदि का कहना है कि बराज निर्माण के बाद इस रेलवे को भुला दिया गया। 1शत्रुघ्न यादव, फारबिसगंज (अररिया) 1 वीरपुर और भीमनगर की रेलवे कॉलोनी अब लैंटाना-आइकॉर्निया के जंगल से पटी है। यह सब उस सपने के टूटने के कारण हुआ है जो 60 साल पहले कोसी की नैरो गेज रेलवे के रूप में साकार हुआ था। राजनीतिक अनदेखी ने कोसी रेल को गुम कर दिया है। 1 क्या है कोसी रेलवे : कोसी बराज के लिए रसद और निर्माण सामग्री ढोने को 1959 में इस नैरो गेज रेलवे का निर्माण किया गया था।1 बथनाहा से भीमनगर होते पूर्वी कोसी तटबंध के समानांतर यह नेपाल के घोपा-धरान तक जाती थी। पर्यटन के अलावा सामरिक दृष्टिकोण से भी यह महत्वपूर्ण थी। 1 क्यों रूठ गया सपना : बराज व तटबंधों का निर्माण पूरा होने के बाद सरकार को यह रेल परियोजना महत्वहीन लगने लगी। 1987 की बाढ़ और 1988 के भूकंप ने रेल लाइन को काफी नुकसान पहुंचाया। अस्सी के दशक के अंत तक इस रेलवे लाइन पर परिचालन बिलकुल ठप हो गया। 1नीलाम कर दी गईं परिसंपत्तियां : 2000-05 में रेलवे की सारी परिसंपत्तियों को नीलाम कर दिया गया। बलुआ बाजार के विनोद मिश्र, भीमनगर के सुधीर सिंह, बथनाहा के सुरेश कंठ, अधिवक्ता राजेश चंद्र वर्मा, गजेंद्र ठाकुर, जितेंद्र कुमार मल्लिक आदि का कहना है कि बराज निर्माण के बाद इस रेलवे को भुला दिया गया।
Page#    Showing 1 to 20 of 26 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.