Full Site Search  
Thu Jun 29, 2017 19:48:31 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;

MW/Mairwa (2 PFs)
مےروا     मैरवा

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 30
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Station Rd, Mairwa, Siwan
State: Bihar
Elevation: 71 m above sea level
Zone: NER/North Eastern
Division: Varanasi
No Recent News for MW/Mairwa
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

BTK/Bankata 6 km     KYW/Karchhui Halt 6 km     ZRDE/Jiradei 11 km     BHTR/Bhatpar Rani 14 km     NNPR/Nonapar 22 km     SV/Siwan Junction 22 km     SVC/Siwan Kachari 25 km     BTT/Bhatni Junction 27 km     PCK/Pachrukhi 30 km     ALS/Amlori Sarsar 30 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 7 of 7 News Items  
Jun 11 2017 (08:48)  पैनल की गड़बड़ी से सिग्नल हुआ फेल, परिचालन प्रभावित (m.jagran.com)
back to top
Crime/AccidentsNER/North Eastern  -  

News Entry# 304998     
   Tags   Past Edits
Jun 11 2017 (08:48)
Station Tag: Siwan Junction/SV added by Tushar Shandilya~/1427404

Jun 11 2017 (08:48)
Station Tag: Mairwa/MW added by Tushar Shandilya~/1427404

Jun 11 2017 (08:48)
Train Tag: Bhatni - Chhapra Passenger/55010 added by Tushar Shandilya~/1427404

Jun 11 2017 (08:48)
Train Tag: Gwalior - Barauni Mail/11124 added by Tushar Shandilya~/1427404

Posted by: Tushar Shandilya~  514 news posts
सिवान। मैरवा रेलवे स्टेशन के कंट्रोल पैनल में शनिवार को अचानक गड़बड़ी आ जाने से तीन घंटे तक पश्चिमी सिग्नल फेल रहा। इससे नवका टोला ढाला भी लॉक रहा। अप एवं डाउन की आधा दर्जन ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ। ढाला बंद रहने से इसके दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। जाम की सूरत का सामना करना पड़ा। गेटमैन के साथ कई बार लोग उलझ पड़े। करीब तीन घंटे बाद स्थिति सामान्य हुई। शनिवार की सुबह छह बजे अचानक पैनल में गड़बड़ी उत्पन्न हो गई तो रेलवे कर्मी परेशान हो उठे ।स्टेशन अधीक्षक रमेश चंद्र श्रीवास्तव ने पहले इसे खुद ठीक करने की कोशिश की। जब गड़बड़ी समझ में नहीं आई तो इसकी सूचना कंट्रोल को दे दी। नियंत्रण कक्ष में तैनात अधिकारियों के निर्देश मिलते ही भाटपार से सिग्नल इंस्पेक्टर और सिवान से चीफ सिग्नल इंस्पेक्टर मैरवा पहुंचे और पैनल की गड़बड़ी को ठीक किया। नौ बजे स्थिति...
more...
सामान्य हुई। इस बीच ग्वालियर-बरौनी एक्सप्रेस 11124 डाउन और भटनी-छपरा पैसेंजर 55010 डाउन को आउटर सिग्नल के पहले ही कुछ देर तक रोक दिया गया। स्टेशन मास्टर द्वारा स्टार्टअप प्राधिकृत पत्र भेजने के बाद ही चालक ने गाड़ी को आगे बढ़ाया। इसी तरह मैरवा रेलवे स्टेशन पर गोदान एक्सप्रेस 11068 अप एवं इंटरसिटी एक्सप्रेस 15105 अप को निर्धारित समय से अधिक देर तक ठहरना पड़ा। तीन घंटे तक रेलकर्मी से लेकर यात्री तक परेशान दिखे। स्टेशन मास्टर के कक्ष में भी यात्रियों की भीड़ लगी रही।
Jun 02 2017 (07:52)  मैरवा रेलवे स्टेशन पर पानी की किल्लत से यात्री बेहाल (m.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestNER/North Eastern  -  

News Entry# 304152     
   Tags   Past Edits
Jun 02 2017 (07:53)
Station Tag: Mairwa/MW added by Tushar Shandilya~/1427404

Jun 02 2017 (07:53)
Station Tag: Siwan Junction/SV added by Tushar Shandilya~/1427404

Posted by: Tushar Shandilya~  514 news posts
सिवान। गर्मी की तपिश बढ़ने से सभी बेचैन दिख रहे हैं लेकिन रेल सफर करने के लिए मैरवा रेलवे स्टेशन पहुंच रहे यात्रियों को इसका एहसास ज्यादा ही हो रहा है। प्यास से उनका गला सूख रहा है। प्लेटफार्म संख्या एक पर कोई भी चापाकल ठीक नहीं है, जबकि इस रेलवे स्टेशन पर पहुंचने वाले यात्रियों की सबसे ज्यादा भीड़ इसी प्लेटफार्म पर होती है। सभी अप ट्रेनें प्लेटफार्म संख्या-एक पर ही आती हैं। मुख्य प्रवेश द्वार इसी प्लेटफार्म पर होने से यात्रियों की भीड़ इस पर ज्यादा रहती है। इस पर तीन चापाकल लगे हुए हैं लेकिन एक भी ठीक नहीं है।
प्यास लगने पर यात्री चापाकल के पास पहुंचते हैं लेकिन खराब देख वे बेचैन हो उठते हैं। मजबूरन उन्हें
...
more...
स्टाल से पानी की बोतल खरीदनी पड़ती हैं। स्टाइल पर रेलवे का नहीं बल्कि बाहर का पानी लाकर बेचा जाता है। सूत्रों की मानें तो अक्सर इस प्लेटफार्म पर चापाकल खराब होने का कारण यही है। माना जा रहा है कि बाहरी और ज्यादा पानी बेचने के लिए ही चापाकल खराब कर दिया जाता है। रेलवे द्बारा आपूर्ति पानी की अपेक्षा बाहर का पानी बेचने से मुनाफा ज्यादा होता है। चापाकल खराब होने की वजह से कुछ यात्री पानी के लिए प्लेटफार्म के बाहर जाते हैं। रेलवे स्टेशन अधीक्षक रमेशचंद्र श्रीवास्तव का कहना है कि जब भी चापाकल खराब होता है, उसकी मरम्मत करा दी जाती है। खराब हुए चापाकल की मरम्मत शीघ्र कराई जाएगी।
Jun 20 2015 (23:10)  तत्काल आरक्षित टिकट को ले मारपीट (www.jagran.com)
back to top
Other NewsNER/North Eastern  -  

News Entry# 230237     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: ░▒▓█ RAILROAD █▓▒░  266 news posts
सिवान। मैरवा रेलवे स्टेशन पर तत्काल आरक्षित टिकट लेने पंक्तिबद्ध रेल यात्रियों के बीच शुक्रवार को जमकर मारपीट हो गई। मारपीट का कारण टिकट खिड़की पर दबंगों का कब्जा बताया जाता है। मारपीट के बीच बचाव का प्रयास कर रहे कई अन्य रेल यात्री भी चोटिल हो गए। वहीं पंक्ति में लगे अन्य यात्री भाग खड़े हुए। मारपीट में सोने की चेन भी छीन लिए जाने का आरोप लगाए गए। उधर मारपीट को लेकर यात्रियों ने आरपीएफ व जीआरपी को जिम्मेवार ठहराया है। उनका कहना था कि टिकट खिड़की पर अगर उनकी तैनाती रहती तो ऐसी घटना नहीं होती। स्टेशन अधीक्षक आरबीएम पाण्डेय ने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था तो टिकट खिड़की पर जरूरी है ही, टिकट खिड़की पर भीड़ संभालना मुश्किल है। सुरक्षा बल नहीं होने से ही धक्कामुक्की से बात बिगड़ जाती है। वाणिज्य अधीक्षक सुधीर लकड़ा का कहना है कि बुकिंग क्लर्क खिड़की के अंदर से टिकट दे उस...
more...
यात्री को टिकट देते हैं जो पंक्ति में आगे खड़ा रहता है। टिकट के लिए यात्रियों में मारपीट से कार्य बाधित होता है।
पटना। सीवान जिला के मैरवा में गुरुवार की सुबह दो लड़कियों ने ट्रेन से कटकर आत्महत्या कर ली। आत्महत्या के कारणों का खुलासा अभी तक नहीं हुआ है। खास बात यह है कि दोनों लड़कियों ने अपने हाथों पर मेंहदी से 'जीना सिर्फ मेरे लिए' लिखा है। एक लड़की के हाथ पर नीलम-सीमा लिखा हुआ है।
मिली जानकारी के अनुसार, ये लड़कियां अचानक ट्रेन के सामने कूद गईं। एक की मौत घटना स्थल पर ही हो गई, जबकि दूसरी ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। दोनों की अभी तक पहचान नहीं हो पाई है।
Jun 01 2015 (22:01)  पटरी से उतरा मालगाड़ी का पहिया, घंटों ट्रेनें लेट (www.jagran.com)
back to top
Other NewsNER/North Eastern  -  

News Entry# 227264     
   Tags   Past Edits
Jun 01 2015 (10:01PM)
Station Tag: Siwan Junction/SV added by RAIlway/1214502

Jun 01 2015 (10:01PM)
Station Tag: Chhapra Junction/CPR added by RAIlway/1214502

Jun 01 2015 (10:01PM)
Station Tag: Duraundha Junction/DDA added by RAIlway/1214502

Jun 01 2015 (10:01PM)
Station Tag: Jiradei/ZRD added by RAIlway/1214502

Jun 01 2015 (10:01PM)
Station Tag: Mairwa/MW added by RAIlway/1214502

Jun 01 2015 (10:01PM)
Station Tag: Bhatpar Rani/BHTR added by RAIlway/1214502

Jun 01 2015 (10:01PM)
Station Tag: Bhatni Junction/BTT added by RAIlway/1214502

Jun 01 2015 (10:01PM)
Station Tag: Deoria Sadar/DEOS added by RAIlway/1214502

Jun 01 2015 (10:01PM)
Station Tag: Gorakhpur Junction/GKP added by RAIlway/1214502

Posted by: RAIlway  18 news posts
जासं, सिवान : देवरिया-भटनी रेलखंड पर स्थित सकरापार रेलवे ढ़ाले के पास मालगाड़ी के डिब्बे पहिया पटरी से उतर गया। इससे छपरा से गोरखपुर को जाने वाली दर्जनों ट्रेनों विभिन्न स्टेशनों पर ट्रेनें रूक गई। करीब ढ़ाई घंटे बाद यातायात सुचारू रूप से बहाल हुआ। मालूम हो कि सिवान की ओर से सोमवार की दोपहर में एक मालगाड़ी गोरखपुर को जा रही थी। अभी वह भटनी-देवरिया रेलखंड पर स्थित सकरापार रेलवे ढाले के समीप पहुंची ही थी मालगाड़ी के एक डिब्बे का पहिया पटरी से उतर गया। इसके बाद उस ट्रेक पर ट्रेनों का परिचालन ठप हो गया। करीब ढ़ाई घंटे तक गोरखपुर की ओर जाने वाले विभिन्न ट्रेने छपरा, दारौंदा, सिवान, जीरादेई, मैरवा, भाटपार, भटनी स्टेशन पर खड़ी। कोई एक से तो कोई ट्रेन दो घंटे से खड़ी थी। इधर उमस भरी गर्मी में ट्रेन में बैठे यात्री गर्मी से बिलबिला उठे। ढ़ाई घंटे बाद आवागमन सुचारू रूप से शुरू...
more...
होने के बाद ट्रेनों का परिचालन शुरू हो सका। - See more at: click here
Page#    Showing 1 to 7 of 7 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.