Full Site Search  
Tue Jan 24, 2017 16:51:56 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search

MKN/Makrana Junction (2 PFs)
     मकराना जंक्शन

Track: Single Diesel-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 52
Number of Originating Trains: 2
Number of Terminating Trains: 2
State Highway 2B, Makrana
State: Rajasthan
Elevation: 426 m above sea level
Zone: NWR/North Western
Division: Jodhpur
No Recent News for MKN/Makrana Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 4.5/5 (8 votes)
cleanliness - excellent (1)
porters/escalators - average (1)
food - excellent (1)
transportation - excellent (1)
lodging - good (1)
railfanning - excellent (1)
sightseeing - excellent (1)
safety - excellent (1)

Nearby Stations

BOW/Borawar 6 km     BIDD/Bidiyad 10 km     KMNC/Kuchaman City 14 km     BSRL/Besroli 18 km     THMR/Thathana Mithri 19 km     PBC/Parbatsar 22 km     PRBTR/Parbatsar 22 km     NYK/Naya Kharadia 23 km     GCH/Gachhipura 29 km     NAC/Nawa City 30 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 5 of 5 News Items  
Dec 30 2016 (17:45)  CONSTRUCTION OF 2ND RAILWAY LINE BETWEEN PHULERA AND DEGANA (108.75 KM) (DEGANA-PHULERA DOUBLING PROJECT) on Jaipur-Jodhpur section of North Western Railway in state of Rajasthan. (nwr.indianrailways.gov.in)
back to top
NWR/North Western  -  IR Press Release  

News Entry# 290093   Blog Entry# 2110620     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: UP me ek baar phir Akhilesh Sarkaar^~  926 news posts
CONSTRUCTION OF 2ND RAILWAY LINE BETWEEN PHULERA AND DEGANA (108.75 KM) (DEGANA-PHULERA DOUBLING PROJECT) on Jaipur-Jodhpur section of North Western Railway in state of Rajasthan.

3 posts - Fri Dec 30, 2016 - are hidden. Click to open.

2 posts - Sat Dec 31, 2016 - are hidden. Click to open.

651 views
Jan 04 2017 (18:15)
ritzraj   556 blog posts
Re# 2110620-6            Tags   Past Edits
I think degana-raikabagh doubling survey report has already been submitted as per query response in parliament. Any news about further progress in it.
Jan 29 2016 (02:24)  1928 में पहली मकराना-परबतसर रेल (www.bhaskar.com)
News Entry# 255332   Blog Entry# 1723738     
   Tags   Past Edits
Jan 29 2016 (2:24AM)
Station Tag: Parbatsar/PBC added by waiting for LHB of Grand Trunk Superfast/229469

Jan 29 2016 (2:24AM)
Station Tag: Makrana Junction/MKN added by waiting for LHB of Grand Trunk Superfast/229469

Posted by: UP me ek baar phir Akhilesh Sarkaar^~  926 news posts
1992 मेंअामान परिवर्तन के कारण बंद हो गया था मार्ग परबतसर 23 साल बाद जुड़ेगा रेल मार्ग से
देश में पांच छोटी रेल सेवाएं, 25 किमी से कम दूरी की छठी ट्रेन आज से मकराना-परबतसर के बीच
>रेल राज्य मंत्री आज करेंगे रेलसेवा का शुभारंभ
>पांच कोच की ट्रेन चलेगी,किराया दस रुपए
देशकी
...
more...
25 किमी से कम दूरी की छठी ट्रेन आज से मकराना-परबतसर के बीच शुरू होगी। रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा आज इसका शुभारंभ करेंगे। देश में 25 किलोमीटर से कम दूरी की पांच रेल सेवाएं संचालित हैं। इनमें एक उत्तर प्रदेश, एक आंध्रप्रदेश और दो ट्रेनें गुजरात में संचालित हो रही है। पांचवीं रेल सेवा जिले के मेड़ता रोड से मेड़ता सिटी के बीच संचालित होती है। अब छठी सबसे कम दूरी की रेल सेवा का रिकॉर्ड भी नागौर जिले के नाम ही रहने वाला है। यह रेल सेवा मकराना-परबतसर के बीच शुरू होगी। इस रूट की दूरी मात्र 23 किमी. है। रेलवे की ओर से पूर्व में यहां रेल सेवा संचालित होती थी, लेकिन 1992 में अामान परिवर्तन के समय यहां पर रेल सेवा बंद हो गई थी। पूर्व पालिकाध्यक्ष अरुणकुमार माथुर ने बताया कि जोधपुर स्टेट द्वारा 1928 में मकराना से परबतसर के मध्य रेल सेवा शुरू की गई थी। परबतसर का वीर तेजाजी पशु मेला प्रसिद्ध मेलाें में शामिल रहा। इस मेेले के लिए रेल चलाई गई थी।
मकराना-परबतसर क्षेत्र के लिए यह सेवा सौगात से कम नहीं है। रेल सेवा के जुड़ने के बाद किशनगढ़ तक विस्तार किए जाने की भी मांग की जा रही है। इससे यह सीधे मार्बल क्षेत्र से जुड़ जाएगा। मकराना जहां मार्बल नगरी के रूप में विख्यात है तो वहीं किशनगढ़ में भी मार्बल मंडी है।
आज यह रहेगा शिड्यूल
परबतसरसे दोपहर 1.20 बजे ट्रेन यहां से रवाना होगी। 1.58 मिनट पर बिदियाद स्टेशन पर पहुंचेगी। 2.25 मिनट पर मकराना पहुंचेगी।
प्रदेश में तीसरी छोटी दूरी की ट्रेन
अजमेर-पुष्कर 31 किमी अजमेरऔर पुष्कर दोनों की प्रमुख तीर्थ स्थल है। यहां बड़ी संख्या में श्रद्धालु आते हंै। दोनों तीर्थ स्थलों को जाेड़ने के लिए यह रेल सेवा शुरू की गई।
पैसे था 43 साल पहले किराया
0.50
नया किराया
10
शाम को 4.30 बजे परबतसर से रवाना होकर 5.30 बजे मकराना पहुंचेगी।
रेलवे अधिकारियों के अनुसार सुबह 8.30 बजे यह ट्रेन मकराना से रवाना होगी। 9.30 बजे परबतसर पहुंचेगी।
^देश में कम दूरी की रेल परियोजनाओं के लिए रेल मंत्रालय प्राथमिकताओं और दुर्गम क्षेत्रों में यात्रियों की सुविधाओं को देखते हुए लिया जाता है। यह रेल सेवा शुरू होने के बाद नागौर जिला अजमेर से सीधे जुड़ने की राह आसान होगी। इससे दो मार्बल क्षेत्र मकराना और किशनगढ़ जुड़ जाएगा। रामावतारशर्मा, सेवानिवृत्त रेलवे गार्ड
1. कोंच-एटा13 किमी - उत्तरप्रदेशमें कोंच-एट शटल मात्र 13 किलोमीटर के बीच संचालित होती है। खास बात यह है कि यदि ट्रेन रवाना हो गई और कोई यात्री दूर से रुकने की आवाज लगा रहा हो, तो गार्ड लोको पायलट को सूचित करता है और गाड़ी रोक दी जाती है। यहीं नहीं, यह यात्रियों के हाथ देने पर भी रुक जाती है। दोनों स्टेशनों के बीच 13 किलोमीटर का सफर 35 मिनट में पूरा होता है।
2. आनंद-कपड़वंज15 किमी - गुजरातक्षेत्र के इन दोनों स्टेशनों को धार्मिक स्थल होने की वजह से जोड़ा गया।
3. आनंद-खंभादा22 किमी - गुजरातके इन स्टेशनों के बीच भी तीर्थ स्थलों की वजह से ट्रेन का संचालन किया जा रहा है।
4. हरिद्वार-ऋषिकेश22 किमी - यहदेश के प्रमुख तीर्थ स्थलों में से एक है। दोनों स्टेशनों के बीच यह दूरी एक घंटे में तय करती है। बड़ी संख्या में श्रद्धालु पर्यटक आते हैं।
1. मेड़तारोड-मेड़ता सिटी 15 किमी - मेड़तारोड रेलवे का जंक्शन है। वहीं मेड़ता सिटी मीरा नगरी के नाम से विख्यात है। वर्ष पर्यंत यहां बड़ी संख्या में पर्यटक भी आते है।
2. मकराना-परबतसर23 किमी- मार्बलनगरी मकराना, बिदियाद परबतसर क्षेत्र से जोड़ेगी। यहां पांच कोच की रेल सेवा संचालित होगी। इसका फायदा यह होगा कि मकराना-परबतसर सीधे जुड़ जाएंगे।
2016 मकराना परबतसर के बीच रेल सेवा की फिर शुरुआत हो रही है। इस बार पांच डिब्बों की ट्रेन चलेगी। सोमवार को पांच डिब्बों का एक रैक परबतसर रेलवे स्टेशन पहुंच गया। इसके स्वागत में बड़ी संख्या में शहर के लोग मौजूद थे। उल्लेखनीय है कि 1992 में यह ट्रैक अामान परिवर्तन के बाद बंद हो गया था। अब इस ट्रैक को ब्रॉडग्रेज ट्रेनों के हिसाब से तैयार किया गया है।
1928 में मकराना परबतसर के बीच रेल सेवा की शुरुआत हुई। इस फोटो को उस समय मालजी रांदड़ उर्फ मालजी ठाकुर ने खींचवाई थी। वे गुजरात प्रांत में सूबेदार थे। बाद में वे मकराना बस गए। पुत्र मईनुदीन अब मालजी ठाकुर के प्रपोत्र जावेद रांदड़ के पास पड़दादा के पुराने फोटोग्राफ्स सहेजे हुए है।

2466 views
Jan 29 2016 (02:25)
UP me ek baar phir Akhilesh Sarkaar^~   77507 blog posts   5080 correct pred (77% accurate)
Re# 1723738-1            Tags   Past Edits
image - old and new
Jan 01 2016 (14:46)  इस साल जिले में डेगाना से फुलेरा के बीच बनेगी पहली डबल लाइन, 13.76 करोड़ मंजूर (www.bhaskar.com)
News Entry# 252546     
   Tags   Past Edits
Jan 01 2016 (2:46PM)
Station Tag: Makrana Junction/MKN added by THE Mumbai Rajdhani/229469

Jan 01 2016 (2:46PM)
Station Tag: Nawa City/NAC added by THE Mumbai Rajdhani/229469

Jan 01 2016 (2:46PM)
Station Tag: Phulera Junction/FL added by THE Mumbai Rajdhani/229469

Jan 01 2016 (2:46PM)
Station Tag: Degana Junction/DNA added by THE Mumbai Rajdhani/229469

Posted by: UP me ek baar phir Akhilesh Sarkaar^~  926 news posts
जिलेके डेगाना-फुलेरा (108.75 किमी.) रेलमार्ग के दोहरीकरण परियोजना के लिए रेलवे बोर्ड से मंजूरी जारी कर दी है। नए साल में यह काम शुरू हो जाएगा। डेगाना-फुलेरा लाइन का दोहरीकरण जिले के लिए बड़ी सौगात है। डबल लाइन के पहले चरण के लिए रेलमंत्री सुरेश प्रभु द्वारा 26 फरवरी 2015 में बजट में 13.76 करोड़ रुपए स्वीकृत किए गए। रेलवे बोर्ड के एक्जुकेटिव डायरेक्टर प्रोजेक्ट मैनेजर अंजुम परवेज ने उत्तर पश्चिम रेलवे जोन सहित दस जोन के प्रोजेक्ट को 17 नवंबर को मंजूरी दे दी। इसके संबंध में निर्देश संबंधित महाप्रबंधक को जारी किया है। अब योजना शीघ्र सिरे चढ़ेगी।
मेड़ता रोड से जोधपुर-बीकानेर-फुलेरा के बीच बढ़ते रेल यातायात दबाव को देखते हुए इन रेलवे मार्गों पर दोहरे रेलमार्ग की कमी खलने
...
more...
लगी है। दोहरी रेललाइन नहीं होने से प्रतिदिन इन खंडों के छोटे स्टेशनों पर क्रॉसिंग में पैसेंजर एक्सप्रेस तथा सुपरफास्ट ट्रेनों को देरी का सामना करना पड़ रहा है। इसका खमियाजा सैकड़ों यात्रियों को भुगतना पड़ रहा है। वही दोहरे मार्ग के अभाव में मालगाड़ियां भी अपने गंतव्य स्थान पर समय पर नहीं पहुंच पाती है। मेड़ता रोड-जोधपुर के बीच 70 ट्रेनों का अप डाउन, मेड़ता रोड- बीकानेर के बीच 50 ट्रेनों का अप डाउन, मेड़ता रोड- जयपुर के बीच 40 ट्रेनों का अप डाउन हो रहा है। इसी प्रकार मेड़ता रोड के बाइपास से बीकानेर से फुलेरा की साइड में दस ट्रेनों का अप डाउन हो रहा है। सवारी ट्रेनों की संख्या के बराबर ही मालगाड़ियां संचालित हो रही है। ऐसे में एक पटरी पर संचालन कैसे संभव है।
यहां पर चल रहा है सर्वे
जोधपुररेल मंडल ने जोधपुर से डेगाना तक 145 किमी रेलमार्ग के लिए दो हिस्से राईकाबाग से खारिया खंगार तक 74 किमी दूसरा खारिया खंगार से डेगाना तक 71 किमी पर डबल लाइन बिछाने के लिए 600 करोड़ का प्रोजेक्ट तैयार किया था। प्रोजेक्ट रेलवे बोर्ड को भी भेजा गया। इस संबंध में रेलवे की भी मंशा है कि यदि डबल लाइन हो जाए तो यात्रियों को सुविधा के साथ-साथ मालगाड़ियां भी समय पर गंतव्य स्थान तक पहुंच जाएगी।
May 14 2015 (00:31)  मकराना - परबतसर को रेल सेवा का इंतजार, स्टेशन का नहीं हो रहा सौंदर्यीकरण (www.bhaskar.com)
back to top
Commentary/Human InterestNWR/North Western  -  

News Entry# 224527   Blog Entry# 1474296     
   Tags   Past Edits
Jan 29 2016 (2:39AM)
Station Tag: Parbatsar/PBC added by Vaibhav Agarwal*^/432532

May 14 2015 (12:31AM)
Station Tag: Makrana Junction/MKN added by Vaibhav Agarwal*^/432532

Posted by: Vaibhav Agarwal*^  1403 news posts
परबतसर| क्षेत्रके लोगों को मकराना से परबतसर तक रेलवे का कार्य पूरा होने पर रेल सेवा शुरू होने का बेसब्री से इंतजार है। सामाजिक संगठनों के पदाधिकारियों से लेकर विधायक सांसद तक इसके लिए प्रयासरत है। फिर भी रेलवे का काम कछ़ुआ चाल से चल रहा है। कभी तो काम तेजी से शुरू होता है तो कभी बीच में कई दिनों तक बंद हो जाता है। परबतसर रेलवे स्टेशन भवन की मरम्मत रंग-रोगन का काम पूरा हो चुका है। रेलवे लाइन फाटकों का भी काम काफी समय पहले ही पूरा कर दिया गया था। मगर स्टेशन की सफाई सौंदर्यकरण का काम अधूरा पड़ा है। रेलवे स्टेशन की पटरियों के आसपास झाडिय़ां उगी हुई है, गंदा पानी जमा है। यहां से पैदल गुजरना भी दूभर है। सांसद सीआर चौधरी संसद में मकराना से परबतसर के बीच रेल सेवा शीघ्र शुरू करने और आगे किशनगढ़ तक लाइन जोड़ने की आवाज उठा चुके हैं।...
more...
सामाजिक कार्यकर्ता गोपाल गुर्जर, रेखाराम मुंडेल ने सांसद से लेकर डीआरएम से इस संबंध में मुलाकात की थी। विधायक मानसिंह किनसरिया, पालिकाध्यक्ष श्रीभगवान बंग, विकास समिति अध्यक्ष राजेश गर्ग, वासुदेव लढा, गजानंद रूंथला तथा नागरिक सेवा समिति के सचिव ओमप्रकाश दाधीच भी रेल सेवा शुरू कराने के लिए लंबे समय से प्रयासरत है।

1 posts - Mon May 18, 2015 - are hidden. Click to open.

1 posts - Sat Jun 13, 2015 - are hidden. Click to open.

2 posts - Sat Jan 30, 2016 - are hidden. Click to open.

3 posts - Sun Jan 31, 2016 - are hidden. Click to open.

2 posts - Mon Feb 29, 2016 - are hidden. Click to open.

1 posts - Thu Mar 31, 2016 - are hidden. Click to open.

2538 views
Apr 05 2016 (01:55)
Vaibhav Agarwal*^   6114 blog posts   2568 correct pred (94% accurate)
Re# 1474296-12            Tags   Past Edits
परबतसर-मकराना के लिए पहली विशेष रेल हुई शुरू [click here|[click here|[click here|[click here|click here ] ] ] -makrana-has-started-the-first-special-train-12584 36/]
.
=>04802 शनिवार को 19.10 बजे मकराना से परबतसर के लिए फेरा नहीं करेगी। जबकि ट्रेन संख्या 04801 रविवार को प्रात:6.30 बजे परबतसर से मकराना के लिए फेरा नहीं करेगी
Jan 29 2014 (09:40)  सुरक्षा को लेकर दोहरे मापदंड, रेलवे ट्रैक के समीप सीवरेज के लिए खुदाई ! (www.bhaskar.com)
back to top
NWR/North Western  -  

News Entry# 165862   Blog Entry# 978047     
   Tags   Past Edits
Jan 29 2014 (9:40AM)
Station Tag: Merta Road Junction/MTD added by jodhpur ahmedabad shatabdi/229469

Jan 29 2014 (9:40AM)
Station Tag: Makrana Junction/MKN added by jodhpur ahmedabad shatabdi/229469

Posted by: UP me ek baar phir Akhilesh Sarkaar^~  926 news posts
मार्बल नगरी मकराना में रेलवे ने एक ओर तो रेलवे ट्रैक से पैंतालीस मीटर दूर की मार्बल खानों को सुरक्षा कारणों का हवाला देते हुए बंद करवा रखा है वहीं दूसरी ओर सामरिक महत्व के मकराना-मेड़ता रेल मार्ग से महज पांच से दस फीट की दूरी पर ही पटरियों के समानांतर लगभग दो सौ मीटर की लंबाई में तीस से चालीस फीट गहरी खुदाई कर दी गई है। यह खुदाई रेलवे भूमि में से होकर सीवरेज लाइन डालने के लिए की जा रही है जिसकी परमिशन रेलवे ने नगर परिषद को लगभग दो करोड़ रुपए लेकर दी है। यह एरिया रेवंत डूंगरी खानों के पास है।
रेल पटरियों के उत्तर में रेलवे पोल संख्या 66 के करीब से होते हुए लगभग डेढ़
...
more...
किलोमीटर लंबाई में खुदाई की जानी है। खुदाई एरिया में रेवंत डूंगरी मार्बल रेंज आई हुई है। इन बेशकीमती मार्बल चट्टानों को सीवरेज ठेकेदार भारी भरकम मशीनें, वायर शॉ कट आदि लगाकर बाहर निकलवा रहा है। इनके स्थान पर भीतर सीवरेज के पाइप फिट किए जा रहे हैं। इस रेल मार्ग पर दिन रात सवारी, एक्सप्रेस, सुपर फास्ट ट्रेनों व मालगाडिय़ों का आवागमन रहता है। गाडिय़ों के आवागमन के समय खुदाई क्षेत्र के पास कोई रेलवे कर्मचारी मौजूद नहीं रहता। सुरक्षा इंतजामों की उल्लंघन इस कदर हो रहा है कि सीवरेज के पाइप डालने के दौरान रेलवे महकमा ट्रेनों के लिए नो कॉशन देना और न ही ब्लॉक लेना उचित समझ रहा है। जानकारों का कहना है कि रेलवे ट्रैक के समीप की जा रही खुदाई से रेलवे को ट्रैक व रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंच सकता है। दूसरी ओर रेलवे ने इन्हीं सुरक्षा कारणों को लेकर खुदाई वाले एरिया के सामने ही रेलवे सीमा के बाहर की कुछ खानों को बंद करवा रखा है।
कहां गायब हो गया लाखों का मार्बल
रेलवे पटरियों के पास चल रहे सीवरेज खुदाई के मार्ग में मार्बल की बड़ी चट्टानें आई हुई हैं जो रेवंत डूंगरी किस्म के नाम से जानी जाती है। खुदाई में इन चट्टानों को काटकर मार्बल निकाल लिया गया है परंतु वह मौके पर मौजूद नहीं है। मार्बल अन्यत्र शिफ्ट कर दिया गया है। उसकी जगह केवल मिट्टी की खुदाई बताई जा रही है।
दिखावे के तौर पर पांच छह मार्बल के ब्लॉक पंचायत समिति मैदान में रखवा दिए गए हैं जबकि खुदाई वाले स्थान पर जाकर देखें तो चट्टानों को काटकर ब्लॉक निकालना साफ दिखाई दे रहा है।
रेल पथ के सहायक अभियंता आरएस वर्मा पिछले लगभग पांच साल से मकराना में ही कार्यरत हैं। जहां सीवरेज के लिए खुदाई हो रही है उस क्षेत्र में गुजरने वाली ट्रेनों की न तो गति धीमी की जा रही है और न ही उन्हें रोककर उधर से सुरक्षित निकाला जा रहा है। इस संबंध में वर्मा से जानकारी चाही तो उनका कहना था कि अभी तक की खुदाई से रेलवे ट्रैक को कोई खतरा पैदा नहीं हो रहा है। खतरे की स्थिति बनेगी तो काम रुकवा देंगे। वैसे हमने वहां आदमी छोड़ रखा है। खुदाई से निकलने वाले बेशकीमती मार्बल के बारे में पूछने पर उन्होंने बताया कि वहां मार्बल नहीं मलबा निकल रहा है। मार्बल ब्लॉक्स की फोटोज का हवाला दिया गया तो कहा कि उसको बेचने से रेलवे को आय हो जाएगी।

1680 views
Jan 29 2014 (09:41)
UP me ek baar phir Akhilesh Sarkaar^~   77507 blog posts   5080 correct pred (77% accurate)
Re# 978047-1            Tags   Past Edits
marble ghotala lag raha h ... keemti marble pata nahi kaha gayab ho raha h
Page#    Showing 1 to 5 of 5 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site