Full Site Search  
Fri Jun 23, 2017 10:33:22 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;

PDW/Pandaul (2 PFs)
پڈول     पण्डौल

Track: Single Diesel-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 18
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Pandaul, Distt - Madhubani, PIN - 847234
State: Bihar
Elevation: 59 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Samastipur
No Recent News for PDW/Pandaul
Nearby Stations in the News

Rating: 3.4/5 (8 votes)
cleanliness - excellent (1)
porters/escalators - average (1)
food - good (1)
transportation - average (1)
lodging - average (1)
railfanning - good (1)
sightseeing - good (1)
safety - good (1)

Nearby Stations

SPRN/Salempur Halt 3 km     UGNA/Ugna Halt 4 km     SKI/Sakri Junction 8 km     MBI/Madhubani 9 km     SSNS/Shaheed Suraj Narayan Singh Halt 12 km     MGPI/Mangarpatti Halt 14 km     TRS/Tarsarai 15 km     MGI/Manigachi 15 km     JPAH/Jagdishpur Halt 16 km     BJIH/Bijuli Halt 18 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 2 of 2 News Items  
Nov 12 2016 (15:32)  छह माह में चेन पुलिंग में 279 धराए चार स्थानों पर सर्वाधिक होती है चेन पुलिंग सख्ती का असर नहीं (epaper.livehindustan.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 285509     
   Tags   Past Edits
Nov 12 2016 (3:32PM)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by विश्व नाथ*^/31233

Nov 12 2016 (3:32PM)
Station Tag: Rajnagar/RJA added by विश्व नाथ*^/31233

Nov 12 2016 (3:32PM)
Station Tag: Khajauli/KJI added by विश्व नाथ*^/31233

Nov 12 2016 (3:32PM)
Station Tag: Pandaul/PDW added by विश्व नाथ*^/31233

Nov 12 2016 (3:32PM)
Station Tag: Laheria Sarai/LSI added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*  3552 news posts
आरपीएफ की सख्ती के बावजूद ट्रेनों में चेन पुलिंग पर पूरी तरह से ब्रेक लगने का नाम नहीं ले रहा है। हालांकि आरपीएफ की ओर से सीमित संसाधन के बावजूद इतनी सख्ती इससे पूर्व कभी नहीं बरती गयी थी। लगाम लगाने का असर भी दिख रहा है। लेकिन यात्रियों के चेन खींचने के स्वभाव में सुधार नहीं हो पा रहा है। लिहाजा ऐसे यात्रियों की रोज धर-पकड़ जारी है तथा रोज चालान भी किये जा रहे हैं। वहीं पब्लिक अवेयरनेश के लिए भी आरपीएफ पोस्टर आदि का सहारा ले रही है।गौरतलब है कि दरभंगा खण्ड पर यात्री एक्सप्रेस से लेकर सुपरफास्ट ट्रेनों तक का वैक्यूम खोलकर मनचाहे जगह पर गाड़ी को रोक लेते हैं। इससे जहां गाड़ियों की लेटलतीफी बढ़ जाती है वहीं समयनिष्ठ यात्रियों को कष्ट उठाना पड़ता है। रेल को अतिरिक्त ईंधन खपाने से राजस्व की हानि भी उठानी पड़ती है। इसी को देखते हुए आरपीएफ निरीक्षक अजय प्रकाश...
more...
ने चेन पूलरों को सबक सिखाने का काम प्रारंभ किया। कुछ विशेष जगहों पर अतिरिक्त बल की तैनाती भी की गई। ट्रेनों में भी गश्ती तेज की गई। फिर भी इसमे लिप्त युवाओं की भागीदारी पूरी तरह रूक नहीं पा रही है।छह महीने में तकरीबन 279 हुए चालान : पिछले छह महीने में आरपीएफ ने 279 यात्रियों को चेन पुलिंग के मामले में गिरफ्तार कर रेलवे कोर्ट में चालान कर दिया है। मई माह में 55 यात्रियों की गिरफ्तारी हुई थी। वहीं जून में 51, जुलाई महीने 40 तथा अगस्त में 37 और सितम्बर में 53 और अक्टूबर में 43 यात्रियों को चेन पुलिंग के केस में चालान किया जा चुका है। इस तरह अक्टूबर तक 279 लोग पकड़े गए। यात्रियों में जागरूकता की जरूरत : आरपीएफ निरीक्षक श्री प्रकाश कहते हैं कि चेन पुलिंग संबंधी बातों से यात्रियों को जागरूक होने की जरूरत है। अपने दायित्वों को समझना होगा। उन्होंने यह भी कहा कि ऐसे चिह्न्ति लोगों की केस फाइल संबंधित जिलों के थानों को भेजी जा रही है। आने वाले समय में ऐसे यात्रियों को अपनी इस गलती की बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है। पूरी तरह चेन पुलिंग रुकने तक यह कार्य जारी रहेगा।सजा का प्रावधान: आरपीएफ निरीक्षक ने बताया कि चेन पुलिंग यानी एसीपीवीडी (एलार्म चेन पुलिंग वैक्यूम डिस्टर्ब) करते पकड़े जाने वालों के लिए धारा 145, 146 तथा 147 में 1400 से 2000 रुपये जुर्माना व 10 दिनों तक जेल का प्रावधान है।
दरभंगा रेल खण्ड पर तीन चिन्हित स्थल हैं, जहां बदमाश किस्म के कुछ युवा यात्री रोज चेन पुलिंग करते हैं। इसमें राजनगर, खजाैली, पंडौल तथा लहेरियासराय रेलवे यार्ड प्रमुख स्थल हैं। यहां से गुजरने वाली गाड़ियों को मनमाने तरीके से यात्री चेन खींचकर रोक देते हैं। फलत: सबसे अधिक गिरफ्तारी इन्हीं स्थानों से हुई है।
May 07 2016 (09:24)  डीआरएम ने दरभंगा जंक्शन का जाना हाल (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 267064     
   Tags   Past Edits
May 07 2016 (9:24AM)
Station Tag: Pandaul/PDW added by Pp*^/36064

May 07 2016 (9:24AM)
Station Tag: Sakri Junction/SKI added by Pp*^/36064

May 07 2016 (9:24AM)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Pp*^/36064

Posted by: Pp*^~  5969 news posts
समस्तीपुर रेल मंडल के डीआरएम सुधांशु शर्मा ने शुक्रवार को दरभंगा जंक्शन का हाल जाना। यात्री सुविधा को लेकर चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया। निर्माणाधीन स्केलेटर ब्रिज को देखने के बाद संबंधित अभियंता को जल्द कार्य समाप्त करने का निर्देश दिया। संवेदक से जानना चाहा कि इसका लाभ यात्री कब से लेगा। इस माह के अंत तक कार्य समाप्त कर देने का आश्वासन दिया गया। इसके बाद बैड रॉल का हाल जाना। वहां की स्थिति को देख वे काफी नाराज हो गए। बैड रॉल की धुलाई सही नहीं रहने व गंदगी से भरा रहने के कारण क्रेज के कर्मियों को जमकर फटकार लगाई। यात्रियों की परेशानी पर काफी देर तक क्रेज विभाग को क्लास लगाते रहे। यार्ड व वा¨शग पीट की स्थिति से भी रू-ब-रू हुए। जलजमाव रहने के कारण सीएचआई को भी कड़ी फटकार का सामना करना पड़ा। इसके बाद मधुबनी स्टेशन का निरीक्षण किया। ट्रॉली के माध्यम से...
more...
पंडोल-सकरी रेल खंड की स्थिति को देखा। मौके पर वरीय मंडल अभियंता समन्वयक महबूब आलम, स्टेशन अधीक्षक मनहर गोपाल, आरपीएफ इंस्पेक्टर अजय प्रकाश सहित कई अधिकारी उपस्थित थे।
Page#    Showing 1 to 2 of 2 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.