Full Site Search  
Sat Feb 25, 2017 10:38:17 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search

PLJE/Phulwartanr (2 PFs)
     Phulwartanr

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 16
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
NH 32, Phulwartanr
State: Jharkhand
Elevation: 219 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Dhanbad
No Recent News for PLJE/Phulwartanr
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

KHRI/Kharkhari 1 km     BDQ/Budora 1 km     JMX/Jamuni 2 km     TNO/Tundu 4 km     JNN/Jamuniatand 4 km     KNF/Khanudih 5 km     JNNA/Jamuniatanr Halt 5 km     SZE/Sonardih 5 km     MHQ/Mahuda Junction 6 km     TNJE/Tentulla 8 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 3 of 3 News Items  
Oct 20 2015 (08:09)  कोयले के पैसे से रेलवे बिछाएगी नयी रेल लाइन, कौन उठाएगा डायवर्सन पर खर्च होनेवाला 3216 करोड़ रुपया (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 245410     
   Tags   Past Edits
Oct 21 2015 (2:41PM)
Train Tag: Shaktipunj Express/11448 added by 《Happiness Unbounded》**/567740

Oct 21 2015 (2:41PM)
Train Tag: Shaktipunj Express/11447 added by 《Happiness Unbounded》**/567740

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Dugda/DDGA added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Deonagar/DNH added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Jamuniatand/JNN added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Jamuni/JMX added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Tundu/TNO added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Sonardih/SZE added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Angarpathra Halt/ANJE added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Sijua/SJA added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Bansjora/BZS added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Baseria/BZE added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Kusunda Junction/KDS added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Phulwartanr/PLJE added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Chandrapura Junction/CRP added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by Anupam**/401739

Oct 20 2015 (8:09AM)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by Anupam**/401739

Posted by: 4πu¶am*^~  4358 news posts
धनबाद-चन्द्रपुरा लाइन के नीचे आग के आरपार हो जाने से अब तय है कि यह रेल रूट देर सबेर बंद हो जाएगा। इस लाइन पर चलनेवाली दूरस्थ ट्रेनों के परिचालन के लिए नया रूट बनाना होगा। ऐसा हुआ तो यह रेल इतिहास की पहली घटना होगी। इस बड़े पैमाने पर ट्रेनों का रूट नहीं बदला गया है। झरिया मास्टर प्लान में ही चार रेल रूट डायवर्सन की योजना है। झरिया मास्टर प्लान की क्रियान्वयन एजेंसी जेआरडीए ने रेल रूट डायवर्सन की फिजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार करने के लिए राइट्स के साथ करार किया था। राइट्स ने फिजिबिलिटी रिपोर्ट पेश कर दी है। इसमें धनबाद-गोमो रेल लाइन के समानांतर अलग से नया रेल रूट बनाने का प्रस्ताव है। फिजिबिलिटी रिपोर्ट के मुताबिक रेल डायवर्सन कर 3216 करोड़ की लागत आएगी। सबसे बड़ा सवाल यह है कि 3216 करोड़ खर्च का वहन कौन करेगा? रेलवे इसके लिए तैयार नहीं है। रेलवे चाहता है कि...
more...
कोल कंपनियां खर्च वहन करे। इसलिए कि कोल बियरिंग क्षेत्र और अग्नि प्रभावित क्षेत्र से रेल डायवर्सन से कोल कंपनियों को ही फायदा होने वाला है। जमीन के नीचे स्थित करोड़ों-अरबों का कोयला कोल कंपनियां ही निकाल कर बेचेंगी। ऐसा धनबाद-पाथरडीह रेल रूट बंद करने के बाद हुआ भी है। रेल रूट बंद होने के बाद बीसीसीएल कोयले का खनन कर रही है। जेआरडीए सूत्रों ने बताया कि कोयला मंत्रालय भारत सरकार के सचिव की अध्यक्षता में 31 जुलाई को नई दिल्ली में हुई हाई पावर कमेटी की बैठक में रेलवे ने साफ कर दिया कि वह नयी रेल लाइन बिछाने का खर्च वहन नहीं करेगी। रेलवे के इतिहास में भी करीब 200 किमी रेल लाइन का स्थायी डायवर्सन अब तक नहीं हुआ है। इस समस्या के समाधान के लिए हाई पावर कमेटी ने यूपीए सरकार के समय जीओएम गठन करने का प्रस्ताव दिया था। हाई पावर कमेटी की आगामी बैठक में रेल डायवर्सन के मुद्दे पर कुछ ठोस निर्णय लिये जाने के आसार हैं।
42 ट्रेनों का बदल जाएगा रूट
धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन बंद होने से 21 जोड़ी मेल, एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनें प्रभावित होंगी। ट्रेनों के नाम हैं-पाटलीपुत्र एक्सप्रेस, वनांचल एक्सप्रेस, भागलपुर-रांची एक्सप्रेस, मौर्य एक्सप्रेस, धनबाद-रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस, जयनगर-रांची एक्सप्रेस, धनबाद-रांची पैसेंजर, शताब्दी एक्सप्रेस, कामाख्या एक्सप्रेस, अलेप्पी एक्सप्रेस, धनबाद-चंद्रपुरा पैसेंजर, धनबाद-झारग्राम पैसेंजर, गरीब रथ, दरभंगा-हैदराबाद एक्सप्रेस, दरभंगा-सिकंदराबाद एक्सप्रेस, धनबाद-मूरी पैसेंजर, शक्तिपूंज एक्सप्रेस, मालदा टाउन-सूरत एक्सप्रेस, न्यू जलपाईगुड़ी एक्सप्रेस, दुमका-रांची एक्सप्रेस, रांची-हावड़ा इंटरसिटी। इनमें लंबी दूरी की ट्रेने नये रूट पर चलेगी तो धनबाद-चंद्रपुरा के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेने स्थायी रूप से बंद भी की जा सकती है।
14 स्टेशनों का मिट जाएगा नाम
धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन डायवर्सन के बाद 14 स्टेशन और हाल्ट के नाम मिट जाएंगे। ये स्टेशन धनबाद और चंद्रपुरा के बीच स्थित हैं। इनके नाम हैं-कुसुंडा, बसेरिया, बांसजोड़ा, सिजुआ, अंगारपथारा, तेतुलिया, सोनारडीह, टुंडू, बोदरा, फुलवारटांड, जमुनी, जमुनियाटांड, देवनगर।
Oct 18 2015 (07:49)  डीसी रेल लाइन पर खतरे की घंटी, चंद्रपुरा-फुलारीटांड के बीच रेल ट्रैक के नीचे आर-पार हुई आग (epaper.jagran.com)
News Entry# 245232     
   Tags   Past Edits
Oct 18 2015 (7:49AM)
Station Tag: Phulwartanr/PLJE added by Anupam**/401739

Oct 18 2015 (7:49AM)
Station Tag: Katrasgarh/KTH added by Anupam**/401739

Oct 18 2015 (7:49AM)
Station Tag: Chandrapura Junction/CRP added by Anupam**/401739

Oct 18 2015 (7:49AM)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by Anupam**/401739

Posted by: 4πu¶am*^~  4358 news posts
धनबाद : आग एवं भू-धंसान प्रभावित धनबाद-चंद्रपुरा (डीसी) रेल लाइन ‘अलार्मिग स्टेज’ में पहुंच गई है। चंद्रपुरा और फुलारीटांड़ स्टेशन के बीच रेल लाइन के नीचे-नीचे आग आर-पार हो गई है। आग के ऊपर रेल पटरी कभी भी धंस सकती है। पटरी धंसने पर शताब्दी और गरीब रथ जैसी महत्वपूर्ण रेल गाड़ियों समेत करीब दो दर्जन रेल गाड़ी में कोई भी चपेट में आ सकती है। इसे देखते हुए रेल लाइन डायवर्सन की कवायद एक बार फिर तेज हो गई है। 31 जुलाई 15 को नई दिल्ली में सचिव कोयला मंत्रलय भारत सरकार की अध्यक्षता में हुई झरिया मास्टर प्लान की हाई पावर कमेटी की बैठक में लिए गए निर्णय के निर्देश में शनिवार को धनबाद समाहरणालय में अग्नि प्रभावित रेल लाइन स्थानांतरित करने को लेकर बैठक हुई। उपायुक्त सह जेआरडीए के प्रबंध निदेशक कृपानंद झा की अध्यक्षता में हुई बैठक में रेल लाइन स्थानांतरित किए जाने संबंधी राइट्स द्वारा तैयार...
more...
फिजिबिलिटी रिपोर्ट पर विचार-विमर्श किया गया। फिजिबिलिटी रिपोर्ट के तीन प्रमुख बिंदु है। पहला, अग्नि क्षेत्र एवं भू-धंसान से प्रभावित रेलवे लाइन का स्थानांतरण। दूसरा, कोल बियरिंग क्षेत्र के अंतर्गत रेलवे लाइन का स्थानांतरण। तीसरा, भविष्य की बढ़ती हुई ट्रैफिक के मद्देनजर सिंगल रेलवे लाइन का दोहरीकरण। जेआरडीए के मुख्य प्रबंधक असैनिक सुनील दलेला ने बताया कि कोयला मंत्रलय की हाई पावर कमेटी ने झरिया अग्नि क्षेत्र एवं भू-धंसान से प्रभावित रेलवे लाइन के स्थानांतरण की प्रक्रिया में तेजी लाने का निर्देश दिया है। बीसीसीएल की प्रतिनिधि की तरफ से कहा गया कि आग चंद्रपुरा और फुलारीटांड स्टेशन के आर-पार कर गई है। पटरी पर चलने वाली शताब्दी और गरीब रथ समेत अन्य रेल गाड़ियां कभी भी दुर्घटनाग्रस्त हो सकती हैं। बैठक में बताया गया कि रेल लाइन स्थानांतरण से संबंधित प्रोजेक्ट में 7 स्टेक होल्डर्स हैं। बीसीसीएल, ईसीआर, एसईआर, डीजीएमएस, सीएमपीडीआईएल, टिस्को, सेल। सभी स्टेक होल्डर्स को राइट्स द्वारा तैयार फिजिबिलिटी रिपोर्ट की प्रति उपलब्ध करा दी गयी। उपायुक्त ने कहा कि सभी स्टेक होल्डर्स दिसंबर के प्रथम सप्ताह तक अपना-अपना लिखित मंतव्य जेआरडीए को सौंप देंगे। उन्होंने कहा कि स्टेक होल्डर्स से प्राप्त मंतव्य एवं सुझाव को हाई पावर कमेटी के समक्ष रखा जाएगा। हाई पावर कमेटी के निर्णय पर रेल लाइन स्थानांतरण का डीपीआर तैयार कर कार्य प्रारंभ किया जाएगा। बैठक में जेआरडीए के आर एंड आर प्रभारी गोपालजी, मुख्य प्रबंधक असैनिक सुनील दलेला, टिस्को, ईस्को, रेलले, सीएमपीडीआइ, बीसीसीएल के प्रतिनिधि संबंधित अंचल अधिकारी आदि उपस्थित थे। अग्नि प्रभावित और कोल बियरिंग क्षेत्र की रेल लाइनों स्थानांतरण करने के लिए फिजिबिलिटी रिपोर्ट बनाने की जिम्मेवारी जेआरडीए ने राइट्स को सौंपी थी। राइट्स की रिपोर्ट के अनुसार स्थानांतरण के लिए करीब 200 किमी नई रेल लाइन बिछानी होगी। इसकी लागत 3026.35 करोड़ आएगा। स्थानांतरित की जाने वाली चारों रेल लाइन ईस्ट सेंट्रल रेलवे तथा साउथ ईस्टर्न रेलवे की है।
धनबाद-चंद्रपुरारेल लाइन पर ट्रेनों की छुकछुक भविष्य में सुनाई नहीं पड़ेगी। अग्नि प्रभावित इस रेल लाइन की प्रस्तावित डायवर्ट योजना ने रफ्तार पकड़ ली है। राइट्स ने प्रस्तावित डायवर्ट का सर्वे पूरा कर लिया है। सर्वे की रिपोर्ट रेल मंत्रालय भेजी गई है। इसे लेकर जल्द ही एक कमेटी गठित की जाने वाली है। इस कमेटी में रेलवे, बीसीसीएल, डीजीएमएस और जरेडा के अधिकारी शामिल होंगे। धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन डायवर्ट करने की योजना का खर्च बीसीसीएल वहन करेगी। डायवर्ट योजना साल 2018 तक पूरा होने की संभावना है। सर्वे का काम राइट्स ने सितंबर 2014 में शुरू किया था। सर्वे का काम पूरा करने में राइट्स को करीब 4 माह का समय लगा।
क्यों पड़ी जरूरत : ट्रैक के नीचे तक
...
more...
पहुंच चुकी है भूमिगत आग
धनबाद-चंद्रपुरारेलखंड को बीसीसीएल अग्नि प्रभावित बताता है। बीसीसीएल का कहना है कि बांसजोड़ा स्टेशन के आसपास ट्रैक के नीचे तक भूमिगत आग चुकी है। इस रेल खंड को इस भूमिगत आग से खतरा है।
क्यापड़ेगा प्रभाव : खत्म होंगे सिजुआ, कुसुंडा जैसे स्टेशन
धनबाद-चंद्रपुरारेल लाइन के डायवर्जन से 11 छोटे स्टेशन हॉल्ट का अस्तित्व समाप्त हो जाएगा। जिन स्टेशनों और हॉल्ट का अस्तित्व समाप्त होगा, उनमें बांसजोड़ा स्टेशन, सिजुआ हॉल्ट, कुसुंडा स्टेशन, बसुरिया हॉल्ट, कतरासगढ़ स्टेशन, सोनारडीह स्टेशन, टुंडु हॉल्ट, बुदरा हॉल्ट, फुलारीटांड स्टेशन, जमुनिया स्टेशन और दुग्दा स्टेशन शामिल हैं।
नयारूट क्या : अब खानूडीह-मतारी होते पहुंचेंगे चंद्रपुरा
डायवर्जनके बाद नए रूट का प्रारूप लगभग तैयार है। डायवर्जन चंद्रपुरा-खानूडीह-मतारी स्टेशन के बीच होने की बात कही जा रही है। इस डायवर्जन के नए रूट में आधा दर्जन नए हॉल्ट बनाए जाएंगे।
किसेमिलेगा लाभ : बीसीसीएल निकाल सकेगी कोयला
धनबाद-चंद्रपुरारेल खंड के नीचे भारी मात्रा में कोयले का भंडार है। भूमिगत आग के कारण कोयला के भंडार को खतरा है। रेल खंड के हट जाने से बीसीसीएल इस भंडार का खनन कर पाएगा। दर्जनभर से अधिक प्रोजेक्ट चालू करने का रास्ता खुलेगा।
^राइट्स ने प्रस्तावित डायवर्ट योजना का सर्वे काम पूरा कर लिया है। सर्वे रिपोर्ट रेल मंत्रालय भेज दिया गया है। इस लेकर एक कमेटी बननी है। इस कमेटी में बीसीसीएल के अलावे रेलवे, डीजीएमएस और जरेडा के अधिकारी शामिल होंगे।''अशोक सरकार,निदेशक तकनीकी (योजना परियोजना), बीसीसीएल
Page#    Showing 1 to 3 of 3 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site