Full Site Search  
Fri Jun 23, 2017 07:25:14 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Scenic; Platform Pic; Large Station Board;
Close-up; Platform Pic; Large Station Board;

PHN/Pokhrayan (2 PFs)
پكھرايا     पुखरायाँ

Track: Single Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 31
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Pukhrayan, Kanpur Rural District
State: Uttar Pradesh
Elevation: 133 m above sea level
Zone: NCR/North Central
Division: Jhansi
No Recent News for PHN/Pokhrayan
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

MLS/Malasa 9 km     CNH/Chaunrah 9 km     LLR/Lalpur 15 km     KPI/Kalpi 15 km     TLNH/Tilaunchi 21 km     PMN/Paman 29 km     ATA/Ata 33 km     RPGU/Rasulpurgogamau 33 km     BNAR/Binaur 38 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 71 News Items  next>>
Apr 09 2017 (04:10)  बदली गईं रेल पटरियां (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 298941     
   Tags   Past Edits
Apr 09 2017 (04:10)
Station Tag: Malasa/MLS added by 10 साल आपके नाम IPL😍😊🇮🇳/1421836

Apr 09 2017 (04:10)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by 10 साल आपके नाम IPL😍😊🇮🇳/1421836

Posted by: वड़ोदरा वाराणसी महामना एक्सप्रेस का शुभारंभ जल्द ही^~  837 news posts
संवाद सहयोगी, भोगनीपुर : कानपुर-झांसी रूट पर शनिवार को पुखरायां व मलासा स्टेशन के बीच दो घंटे का ब्लाक लेकर पटरियां बदलने का काम किया गया। इस दौरान पुखरायां स्टेशन पर जनसाधारण एक्सप्रेस ट्रेन आधा घंटे खड़ी रही।1बीती 4 फरवरी को भीमसेन से उरई तक रेल ट्रैक का निरीक्षण करने आये उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक ने चौरा से भीमसेन तक पटरियां ठीक न होने के कारण बदलने को कहा था। इसी क्रम में रेल विभाग के अधिकारियों ने पुखरायां रेलवे स्टेशन के पास खंभा नंबर 1289 के सामने रेल पटरियों के बदलने का काम शुरू किया था। शनिवार को दूसरे दिन भी वरिष्ठ खंड अभियंता एसके गुप्ता, पीडब्ल्यूआई ईश्वरदास रेल कर्मियों के साथ पुखरायां स्टेशन पर पहुंचे और 2:15 बजे से 4:15 तक दो घंटे का ब्लाक लेकर पटरियां बदलने का काम किया। इस बीच मुंबई से छपरा जा रही जनसाधारण एक्सप्रेस को आधे घंटे तक पुखरायां स्टेशन पर रोका...
more...
गया। 1स्टेशन अधीक्षक देवेंद्र सिंह ने बताया कि पटरियां बदलने का काम लगातार एक माह तक होगा। शनिवार को दोपहर दो घंटे का ब्लाक लेने के कारण जनसाधारण एक्सप्रेस आधे घंटे तक स्टेशन पर रोकी गई। अन्य कोई ट्रेन विलंबित नहीं हुई है।संवाद सहयोगी, भोगनीपुर : कानपुर-झांसी रूट पर शनिवार को पुखरायां व मलासा स्टेशन के बीच दो घंटे का ब्लाक लेकर पटरियां बदलने का काम किया गया। इस दौरान पुखरायां स्टेशन पर जनसाधारण एक्सप्रेस ट्रेन आधा घंटे खड़ी रही।1बीती 4 फरवरी को भीमसेन से उरई तक रेल ट्रैक का निरीक्षण करने आये उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक ने चौरा से भीमसेन तक पटरियां ठीक न होने के कारण बदलने को कहा था। इसी क्रम में रेल विभाग के अधिकारियों ने पुखरायां रेलवे स्टेशन के पास खंभा नंबर 1289 के सामने रेल पटरियों के बदलने का काम शुरू किया था। शनिवार को दूसरे दिन भी वरिष्ठ खंड अभियंता एसके गुप्ता, पीडब्ल्यूआई ईश्वरदास रेल कर्मियों के साथ पुखरायां स्टेशन पर पहुंचे और 2:15 बजे से 4:15 तक दो घंटे का ब्लाक लेकर पटरियां बदलने का काम किया। इस बीच मुंबई से छपरा जा रही जनसाधारण एक्सप्रेस को आधे घंटे तक पुखरायां स्टेशन पर रोका गया। 1स्टेशन अधीक्षक देवेंद्र सिंह ने बताया कि पटरियां बदलने का काम लगातार एक माह तक होगा। शनिवार को दोपहर दो घंटे का ब्लाक लेने के कारण जनसाधारण एक्सप्रेस आधे घंटे तक स्टेशन पर रोकी गई। अन्य कोई ट्रेन विलंबित नहीं हुई है।
Jan 23 2017 (02:56)  North Central Railway working on pilot project to avert train accidents (www.railnews.in)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291938     
   Tags   Past Edits
Jan 23 2017 (02:56)
Station Tag: Kalpi/KPI added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Jan 23 2017 (02:56)
Station Tag: Kallal/KAL added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Jan 23 2017 (02:56)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Jan 23 2017 (02:56)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Jan 23 2017 (02:56)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Jan 23 2017 (02:56)
Train Tag: Indore - Rajendranagar Express (via Sultanpur)/19313 added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Posted by: हमारी भूल कमल का फूल  22 news posts
Allahabad: In order to overcome the problem of rail fractures during winters to prevent train accidents, North Central Railways is working on a pilot project at Bamrauli station under Divisional Railway Manager (DRM) of Allahabad.
“At present patrol-man is able to cover only 1 km of rail line for checking rail fractures. However, line rail monitoring system would locate the fracture in a span of 25 km,” GM Arun Kumar Saxena said.
The system would help in reducing accidents as rail fractures would be found earlier, he said, adding he carried out an
...
more...
inspection from Rundhi station to Mathura junction to check for security, punctuality and passenger amenities.
The work of the fourth line between Rundhi and Palwal would be completed by March end, he said.
“Fourth line, when completed, would not only reduce traffic congestion but would pave way for separate corridor for Kota as well as for Jhansi,” Saxena said.
He said third line between Mathura and Jhansi has been given a green signal and funds have also been made available for Rail Vikas Nigam Limited.
He said two lifts and an escalator have been introduced. Wi-fi facility has been launched at Mathura junction station and remodelling of the yard there is in progress.
“The efforts are on to connect platform 7 and 8 side of the area of the yard with the main yard,” he concluded.
He also took note of the suggestion that Chapra Express and Jaipur Express between Lucknow and Mathura junction should be run on different days instead of the same day as it would also boost revenue.
“Since it falls in other railways, a suggestion for changing timing and days of the aforesaid trains would be sent to the GM concerned,” he said.
DRM Agra Prabhas Kumar said technical knowledge is being given to employees for the new system.
“Gyan Sagar has been introduced for uplifting knowledge of technical and non-technical staff,” he said.
Jan 18 2017 (08:02)  कानपुर में आइएसआइ ने कराया था रेल हादसा! (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291478     
   Tags   Past Edits
Jan 18 2017 (08:02)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by Pp*^~/36064

Jan 18 2017 (08:02)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by Pp*^~/36064

Jan 18 2017 (08:02)
Station Tag: Ghorasahan/GRH added by Pp*^~/36064

Posted by: Pp*^~  5969 news posts
उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए रेल हादसे व पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन स्टेशन के पास इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आइईडी) लगाने की साजिश पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ ने रची थी। यह खुलासा मंगलवार को मोतिहारी पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर बदमाशों में शामिल आदापुर निवासी मोती पासवान ने पुलिस के समक्ष किया। उसने बताया कि कानपुर में 21 नवंबर 2016 को हुए रेल हादसे की साजिश आइएसआइ ने ही की थी। इसमें में मैं भी शामिल था। मेरे साथ कानपुर में कई अन्य भी थे, जिनमें दिल्ली में पकड़े गए बदमाश जुबैर व जियायुल शामिल थे। एसपी जितेन्द्र राणा के समक्ष उसने उन दोनों की तस्वीरों से पहचान की। मोती ने बताया कि कानपुर से पहले पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन स्टेशन के पास रेल ट्रैक व चलती ट्रेन को उड़ाने की साजिश भी उसी संगठन ने रची थी। इसके लिए नेपाल में गिरफ्तार ब्रजकिशोर गिरी ने आदापुर निवासी अरुण व...
more...
दीपक राम को तीन लाख रुपये दिए थे। लेकिन, इन्होंने आइईडी लगाने के बाद भी रिमोट का बटन नहीं दबाया। इस कारण वह विस्फोट नहीं हो सका। इस कारण नेपाल बुलाकर ब्रजकिशोर ने अरुण व दीपक की हत्या कर शव फेंक दिया। देखें पेज 3 भी।’>>पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन में भी आइईडी लगाने में था आइएसआइ का हाथ1’>>रिमोट नहीं दबाने वाले लोगों की नेपाल में बुलाकर कर दी गई हत्या 1पकड़े गए लोग नेपाल के ब्रजकिशोर गिरी के माध्यम से आइएसआइ के लिए काम कर रहे थे। इस कड़ी में मोती पासवान कानपुर में रेल हादसे को अंजाम देने के लिए गया था। 1जितेंद्र राणा, एसपी, मोतिहारी, पूच.’2009मोतिहारी पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर बदमाशों में शामिल आदापुर के मोती पासवान ने किया खुलासा1’2009कहा-दिल्ली में गिरफ्तार जुबैर व जियायुल भी थे कानपुर में मेरे साथ1’2009घोड़ासहन में रेल ट्रैक उड़ाने के लिए नेपाल में गिरफ्तार ब्रजकिशोर गिरी ने अरुण व दीपक राम को दिए थे तीन लाख रुपये, विस्फोट नहीं होने के बाद नेपाल बुलाया और कर दी हत्या
Jan 17 2017 (22:16)  कानपुर ट्रेन हादसे के पीछे सामने आया आईएसआई का कनेक्शन, दुबई से भेजा गया था मोटा पैसा! (hindi.news18.com)
back to top
Crime/AccidentsNCR/North Central  -  

News Entry# 291470     
   Tags   Past Edits
Jan 17 2017 (22:16)
Station Tag: Indore Junction BG/INDB added by Give LHB Rake to 12155 12156 Bhopal Exp~/541803

Jan 17 2017 (22:16)
Station Tag: Jhansi Junction/JHS added by Give LHB Rake to 12155 12156 Bhopal Exp~/541803

Jan 17 2017 (22:16)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by Give LHB Rake to 12155 12156 Bhopal Exp~/541803

Jan 17 2017 (22:16)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by Give LHB Rake to 12155 12156 Bhopal Exp~/541803

Jan 17 2017 (22:16)
Train Tag: Indore - Rajendranagar Express (via Sultanpur)/19313 added by Give LHB Rake to 12155 12156 Bhopal Exp~/541803

Posted by: When will I get chance to travel in LHB Sleeper~  30 news posts
पिछले साल नवंबर के महीने में कानपुर में हुए भीषण ट्रेन हादसे के बारे में बिहार पुलिस ने सनसनीख़ेज़ खुलासा किया है. बिहार पुलिस के मुताबिक कानपुर रेल हादसा असल में आतंकी साज़िश थी, जिसे पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई ने अंजाम दिया था.
बिहार पुलिस ने मोतिहारी जिले से मोती पासवान नाम के एक शख़्स को गिरफ़्तार किया है. पुलिस के मुताबिक मोती ने कबूल किया है कि उसी ने कानपुर में रेल पटरी को बम धमाके से उड़ाया था. इसके लिए आईएसआई ने उसको नेपाल के रास्ते मोटी रकम भेजी थी. दिल्ली में भी दो आरोपियों को इस मामले में गिरफ़्तार किया गया है. कानपुर के पुखरायां में हुए ट्रेन हादसे में 150 लोग मारे गए थे.
बिहार
...
more...
की पूर्वी चंपारण पुलिस के खुलासे के बाद अब यह सवाल उठने लगे हैं कि क्या पटना-इंदौर ट्रेन और अजमेर-सियालदह ट्रेन हादसे के पीछे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ था ? चंपारण पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है कि दुबई में बैठे शमसुल होदा ने अपने लोगों के जरिये इन घटनाओं को अंजाम दिया था.
दरअसल, बिहार की पुलिस पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन में एक अक्टूबर 2016 को रेल पटरी पर मिले बम के मामले की जांच कर रही थी. जांच के दौरान इस मामले में मोती पासवान नामक व्यक्ति की संलिप्तता सामने आयी. मोती से जब पूछताछ हुई तो ये सनसनीखेज खुलासा हुआ. दुबई में बैठे नेपाली कारोबारी शमसुल होदा ने ये साजिश रची थी. उसने नेपाल के अपराधी ब्रजकिशोर गिरी के जरिये पैसा भिजवाया. इसी पैसे से अपराधियों ने रेल पटरियों पर बम लगाया.
bihar1
पूर्वी चंपारण के एसपी जितेंद्र राणा ( etv pic)
पुलिस ने मोती पासवान से पूछताछ के आधार पर दिल्ली से दो और अपराधियों को धर दबोचा है. हालांकि मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए मोतिहारी पुलिस ज्यादा कुछ बोलने से परहेज कर रही है.
जिले के एसपी जितेंद्र राणा ने कहा कि उमाशंकर पटेल, मोती पासवान, मुकेश यादव को रक्सौल के विभिन्न क्षेत्रों से गिरफ्तार किया गया था. इन तीनों से पूछताछ आधार पर दो लड़के अरुण राम और दीपक राम की नेपाल में हत्या के मामले का खुलासा किया गया.
एसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान मोती पासवान ने खुलासा किया है कि पटना-इंदौर रेल हादसे में उसका हाथ था. नेपाल में बैठे ब्रजकिशोर गिरी ने इसके लिए फंडिंग की थी. नेपाल में ब्रजकिशोर गिरी, मुजाहिर अंसारी, शंभु उर्फ चंडू, गजेद्र शर्मा और राकेश यादव को गिरफ्तार किया गया है. इस मामले की जांच की जा रही है.
अरुण राम और दीपक राम की हत्या
पुलिस के अनुसार पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन में रेलवे ट्रैक के पास बम ब्लास्ट होने के पहले खुलासा होने के कारण अरुण राम और दीपक राम की नेपाल में हत्या कर दी थी. जिनका शव नेपाल के जंगल से 20 अक्टूबर को मिला था. इन दोनों को घोड़ासहन में बम रखने के लिए तीन लाख रुपये दिये गये थे.
कौन है मोती पासवान?
मोती पासवान पूर्व चंपारण के आदापुर थाना के बखरी गांव का रहने वाला है. अरुण राम और दीपक राम भी इसी गांव के रहने वाले थे. बखरी गांव भारत-नेपाल बॉर्डर पर नेपाल बॉर्डर से सटा हुआ गांव है.
मोती पासवान के खिलाफ पूर्वी चंपारण, शिवहर और सीतमाढ़ी में 14 के करीब लूट और हत्या के मामले दर्ज हैं.
कौन है शमसुल होदा?
शमसुल होदा नेपाल का रहनेवाला है और दुबई में बिजनेस करता है. सूत्रों के अनुसार होदा का पाकिस्तान के आईएसआई और दाउद इब्राहिम से भी संबंध है. पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन और कानपुर में इंदौर-पटना रेल एक्सप्रेस के पीछे नेपाली के शमसुल होदा का हाथ है जो ब्रजकिशोर गिरी के जरिए अंजाम देता था.
गौरतलब है कि भारत-नेपार बॉर्डर से ही आतंकवादी यासिन भटकल को गिरफ्तार किया था. 20 नंवबर 2016 को कानपुर के पास इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हुई थी. इसमें 153 लोगों की मौत हुई थी और 200 से ज्यादा लोग घायल थे.
बीते दिनों कानपुर में हुई ट्रेन दुर्घटनाओं में आइएसआइ की संलिप्तता थी। आइएसअाइ ने बिहार के घाड़ासहन में भी ट्रेन को उड़ाने की साजिश रची थी, जो नाकाम रही। यह सनसनीखेज खुलासा बिहार पुलिस ने मंगलवार को किया।बिहार पुलिस के इस खुलासे के बाद उत्तर प्रदेश एटीएस की टीम बिहार के मोतिहारी पहुंच चुकी है। यह टीम गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ करेगी।उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए रेल हादसों व पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन स्टेशन के पास इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आइईडी) लगाने की साजिश के पीछे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ थी। बीते दिन मोतिहारी पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर अपराधियों ने यह स्वीकर किया।बताते चलें कि इंदौर से पटना जा रही ट्रेन इंदौर-राजेन्द्र नगर एक्सप्रेस पिछले साल 20 नवंबर में दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। इसमें 142 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद कानपुर में ही रूरा के पास अजमेर-सियालदह एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी।
गिरफ्तार
...
more...
अपराधियों में शामिल मोती पासवान ने बताया कि दुबई के अप्रवासी नेपाली कारोबारी शमशुल होदा ने उसे ट्रेन को दुर्घटनाग्रस्त करने की जिम्मेवारी सौंपी थी। घोड़ासान में 01 अक्तूबर को ट्रेन दुर्घटना के टल जाने पर के बाद उसने कानपुर में इंदौर-पटना तथा अजमेर-सियालदह एक्सप्रेस को उड़ाने की जिम्मेवारी दी थी। मोती के अनुसार शमशुल आइएसआइ के लिए काम करता है। उसके नेटवर्क में कई बड़े आतंकवादी भी हैं।
ट्रेन हादसा : जब बूढ़ी मां की छड़ी ने बचा ली पूरे परिवार की जान...जानिए
मोती पासवान ने बताया कि कानपुर में 20 नवंबर 2016 को हुए रेल हादसे की साजिश आइएसआइ ने रची थी। उसे अंजाम देने में उसके साथ ऑर भी लोग थे। उनमें से दो जुबैर व जियायुल दिल्ली में पकड़े जा चुके हैं। पूर्वी चंपारण के एसपी जितेन्द्र राणा के समक्ष उसने दोनों की तस्वीर देखकर पहचान की।
मोती ने बताया कि कानपुर से पहले पूर्वी चंपारण जिले के घोड़ासहन स्टेशन के पास रेल ट्रैक व चलती ट्रेन को उड़ाने की साजिश भी आइएसआइ ने रची थी। इसके लिए नेपाल में गिरफ्तार ब्रजकिशोर गिरी ने आदापुर निवासी अरुण व दीपक राम को तीन लाख रुपये दिए थे।
अजमेर-सियालदह एक्स. दुर्घटनाग्रस्त, हेल्पलाइन नंबर जारी
मोती के अनुसार अरुण व दीपक राम ने आइईडी लगाने के बाद भी रिमोट का बटन नहीं दबाया। इस कारण विस्फोट नहीं हो सका और विध्वंसात्मक कार्रवाई की साजिश नाकाम हो गई थी। मोती ने साफ किया कि घटना को अंजाम नहीं देने के कारण नेपाल बुलाकर ब्रजकिशोर ने अरुण व दीपक की हत्या कर शव को फेंक दिया था।
दाउद की भी संलिप्तता से इंकार नहीं
पूर्वी चंपारण के एसपी जितेंद्र राणा ने पकड़े गए मोती पासवान, उमाशंकर प्रसाद व मुकेश यादव के बारे में बताया कि उनके आइएसआइ से लिंक के प्रमाण मिले हैं। इंटेलिजेंस ब्यूरो की टीम सभी से पूछताछ कर चुकी है। रॉ व एनआइए को इस आशय की सूचना भेजी गई है। एसपी ने इस साजिश के पीछे दाउद इब्राहिम का हाथ होने की आशंका से भी इंकार नहीं किया।
एसपी ने बताया कि इस सिलसिले में तीन लोग नेपाल में भी गिरफ्तार किए गए हैं। उनमें नेपाल के कलेया निवासी ब्रजकिशोर गिरी, शंभू उर्फ लड्डू और मोजाहिर अंसारी शामिल हैं। नेपाल पुलिस से जो जानकारी आई है, उसमें बताया गया है कि आइएसआइ ने बिहार में विध्वंसात्मक कार्रवाई का जिम्मा ब्रजकिशोर गिरी को दे रखा था और उसे इसके लिए 30 लाख रुपये भी दिए गए थे।
रेल राज्यमंत्री ने कहा, पूछताछ जारी
रेलवे राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि मोतीहारी से गिरफ्तार अपराधियों का पुखरायां ट्रेन हादसे में भी हाथ था। उनसे पूछताछ की जा रही है।
Page#    Showing 1 to 20 of 71 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.