Full Site Search  
Tue May 30, 2017 04:23:41 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Scenic; Platform Pic; Large Station Board;
Close-up; Platform Pic; Large Station Board;

PHN/Pokhrayan (2 PFs)
پكھرايا     पुखरायाँ

Track: Single Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 31
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Pukhrayan, Kanpur Rural District
State: Uttar Pradesh
Elevation: 133 m above sea level
Zone: NCR/North Central
Division: Jhansi
No Recent News for PHN/Pokhrayan
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

CNH/Chaunrah 9 km     MLS/Malasa 9 km     KPI/Kalpi 15 km     LLR/Lalpur 15 km     TLNH/Tilaunchi 21 km     PMN/Paman 29 km     ATA/Ata 33 km     RPGU/Rasulpurgogamau 33 km     BNAR/Binaur 38 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 71 News Items  next>>
Apr 09 2017 (04:10)  बदली गईं रेल पटरियां (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 298941     
   Tags   Past Edits
Apr 09 2017 (04:10)
Station Tag: Malasa/MLS added by 10 साल आपके नाम IPL😍😊🇮🇳/1421836

Apr 09 2017 (04:10)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by 10 साल आपके नाम IPL😍😊🇮🇳/1421836

Posted by: लौहशक्ति एक्सप्रेस🙏😊^~  542 news posts
संवाद सहयोगी, भोगनीपुर : कानपुर-झांसी रूट पर शनिवार को पुखरायां व मलासा स्टेशन के बीच दो घंटे का ब्लाक लेकर पटरियां बदलने का काम किया गया। इस दौरान पुखरायां स्टेशन पर जनसाधारण एक्सप्रेस ट्रेन आधा घंटे खड़ी रही।1बीती 4 फरवरी को भीमसेन से उरई तक रेल ट्रैक का निरीक्षण करने आये उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक ने चौरा से भीमसेन तक पटरियां ठीक न होने के कारण बदलने को कहा था। इसी क्रम में रेल विभाग के अधिकारियों ने पुखरायां रेलवे स्टेशन के पास खंभा नंबर 1289 के सामने रेल पटरियों के बदलने का काम शुरू किया था। शनिवार को दूसरे दिन भी वरिष्ठ खंड अभियंता एसके गुप्ता, पीडब्ल्यूआई ईश्वरदास रेल कर्मियों के साथ पुखरायां स्टेशन पर पहुंचे और 2:15 बजे से 4:15 तक दो घंटे का ब्लाक लेकर पटरियां बदलने का काम किया। इस बीच मुंबई से छपरा जा रही जनसाधारण एक्सप्रेस को आधे घंटे तक पुखरायां स्टेशन पर रोका...
more...
गया। 1स्टेशन अधीक्षक देवेंद्र सिंह ने बताया कि पटरियां बदलने का काम लगातार एक माह तक होगा। शनिवार को दोपहर दो घंटे का ब्लाक लेने के कारण जनसाधारण एक्सप्रेस आधे घंटे तक स्टेशन पर रोकी गई। अन्य कोई ट्रेन विलंबित नहीं हुई है।संवाद सहयोगी, भोगनीपुर : कानपुर-झांसी रूट पर शनिवार को पुखरायां व मलासा स्टेशन के बीच दो घंटे का ब्लाक लेकर पटरियां बदलने का काम किया गया। इस दौरान पुखरायां स्टेशन पर जनसाधारण एक्सप्रेस ट्रेन आधा घंटे खड़ी रही।1बीती 4 फरवरी को भीमसेन से उरई तक रेल ट्रैक का निरीक्षण करने आये उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक ने चौरा से भीमसेन तक पटरियां ठीक न होने के कारण बदलने को कहा था। इसी क्रम में रेल विभाग के अधिकारियों ने पुखरायां रेलवे स्टेशन के पास खंभा नंबर 1289 के सामने रेल पटरियों के बदलने का काम शुरू किया था। शनिवार को दूसरे दिन भी वरिष्ठ खंड अभियंता एसके गुप्ता, पीडब्ल्यूआई ईश्वरदास रेल कर्मियों के साथ पुखरायां स्टेशन पर पहुंचे और 2:15 बजे से 4:15 तक दो घंटे का ब्लाक लेकर पटरियां बदलने का काम किया। इस बीच मुंबई से छपरा जा रही जनसाधारण एक्सप्रेस को आधे घंटे तक पुखरायां स्टेशन पर रोका गया। 1स्टेशन अधीक्षक देवेंद्र सिंह ने बताया कि पटरियां बदलने का काम लगातार एक माह तक होगा। शनिवार को दोपहर दो घंटे का ब्लाक लेने के कारण जनसाधारण एक्सप्रेस आधे घंटे तक स्टेशन पर रोकी गई। अन्य कोई ट्रेन विलंबित नहीं हुई है।
Jan 23 2017 (02:56)  North Central Railway working on pilot project to avert train accidents (www.railnews.in)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291938     
   Tags   Past Edits
Jan 23 2017 (02:56)
Station Tag: Kalpi/KPI added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Jan 23 2017 (02:56)
Station Tag: Kallal/KAL added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Jan 23 2017 (02:56)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Jan 23 2017 (02:56)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Jan 23 2017 (02:56)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Jan 23 2017 (02:56)
Train Tag: Indore - Rajendranagar Express (via Sultanpur)/19313 added by हमारी भूल कमल का फूल~/1171967

Posted by: हमारी भूल कमल का फूल  22 news posts
Allahabad: In order to overcome the problem of rail fractures during winters to prevent train accidents, North Central Railways is working on a pilot project at Bamrauli station under Divisional Railway Manager (DRM) of Allahabad.
“At present patrol-man is able to cover only 1 km of rail line for checking rail fractures. However, line rail monitoring system would locate the fracture in a span of 25 km,” GM Arun Kumar Saxena said.
The system would help in reducing accidents as rail fractures would be found earlier, he said, adding he carried out an
...
more...
inspection from Rundhi station to Mathura junction to check for security, punctuality and passenger amenities.
The work of the fourth line between Rundhi and Palwal would be completed by March end, he said.
“Fourth line, when completed, would not only reduce traffic congestion but would pave way for separate corridor for Kota as well as for Jhansi,” Saxena said.
He said third line between Mathura and Jhansi has been given a green signal and funds have also been made available for Rail Vikas Nigam Limited.
He said two lifts and an escalator have been introduced. Wi-fi facility has been launched at Mathura junction station and remodelling of the yard there is in progress.
“The efforts are on to connect platform 7 and 8 side of the area of the yard with the main yard,” he concluded.
He also took note of the suggestion that Chapra Express and Jaipur Express between Lucknow and Mathura junction should be run on different days instead of the same day as it would also boost revenue.
“Since it falls in other railways, a suggestion for changing timing and days of the aforesaid trains would be sent to the GM concerned,” he said.
DRM Agra Prabhas Kumar said technical knowledge is being given to employees for the new system.
“Gyan Sagar has been introduced for uplifting knowledge of technical and non-technical staff,” he said.
Jan 18 2017 (08:02)  कानपुर में आइएसआइ ने कराया था रेल हादसा! (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291478     
   Tags   Past Edits
Jan 18 2017 (08:02)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by Pp*^~/36064

Jan 18 2017 (08:02)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by Pp*^~/36064

Jan 18 2017 (08:02)
Station Tag: Ghorasahan/GRH added by Pp*^~/36064

Posted by: Pp*^~  5969 news posts
उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए रेल हादसे व पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन स्टेशन के पास इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आइईडी) लगाने की साजिश पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ ने रची थी। यह खुलासा मंगलवार को मोतिहारी पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर बदमाशों में शामिल आदापुर निवासी मोती पासवान ने पुलिस के समक्ष किया। उसने बताया कि कानपुर में 21 नवंबर 2016 को हुए रेल हादसे की साजिश आइएसआइ ने ही की थी। इसमें में मैं भी शामिल था। मेरे साथ कानपुर में कई अन्य भी थे, जिनमें दिल्ली में पकड़े गए बदमाश जुबैर व जियायुल शामिल थे। एसपी जितेन्द्र राणा के समक्ष उसने उन दोनों की तस्वीरों से पहचान की। मोती ने बताया कि कानपुर से पहले पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन स्टेशन के पास रेल ट्रैक व चलती ट्रेन को उड़ाने की साजिश भी उसी संगठन ने रची थी। इसके लिए नेपाल में गिरफ्तार ब्रजकिशोर गिरी ने आदापुर निवासी अरुण व...
more...
दीपक राम को तीन लाख रुपये दिए थे। लेकिन, इन्होंने आइईडी लगाने के बाद भी रिमोट का बटन नहीं दबाया। इस कारण वह विस्फोट नहीं हो सका। इस कारण नेपाल बुलाकर ब्रजकिशोर ने अरुण व दीपक की हत्या कर शव फेंक दिया। देखें पेज 3 भी।’>>पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन में भी आइईडी लगाने में था आइएसआइ का हाथ1’>>रिमोट नहीं दबाने वाले लोगों की नेपाल में बुलाकर कर दी गई हत्या 1पकड़े गए लोग नेपाल के ब्रजकिशोर गिरी के माध्यम से आइएसआइ के लिए काम कर रहे थे। इस कड़ी में मोती पासवान कानपुर में रेल हादसे को अंजाम देने के लिए गया था। 1जितेंद्र राणा, एसपी, मोतिहारी, पूच.’2009मोतिहारी पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर बदमाशों में शामिल आदापुर के मोती पासवान ने किया खुलासा1’2009कहा-दिल्ली में गिरफ्तार जुबैर व जियायुल भी थे कानपुर में मेरे साथ1’2009घोड़ासहन में रेल ट्रैक उड़ाने के लिए नेपाल में गिरफ्तार ब्रजकिशोर गिरी ने अरुण व दीपक राम को दिए थे तीन लाख रुपये, विस्फोट नहीं होने के बाद नेपाल बुलाया और कर दी हत्या
Jan 17 2017 (22:16)  कानपुर ट्रेन हादसे के पीछे सामने आया आईएसआई का कनेक्शन, दुबई से भेजा गया था मोटा पैसा! (hindi.news18.com)
back to top
Crime/AccidentsNCR/North Central  -  

News Entry# 291470     
   Tags   Past Edits
Jan 17 2017 (22:16)
Station Tag: Indore Junction BG/INDB added by Give LHB Rake to 12155 12156 Bhopal Exp~/541803

Jan 17 2017 (22:16)
Station Tag: Jhansi Junction/JHS added by Give LHB Rake to 12155 12156 Bhopal Exp~/541803

Jan 17 2017 (22:16)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by Give LHB Rake to 12155 12156 Bhopal Exp~/541803

Jan 17 2017 (22:16)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by Give LHB Rake to 12155 12156 Bhopal Exp~/541803

Jan 17 2017 (22:16)
Train Tag: Indore - Rajendranagar Express (via Sultanpur)/19313 added by Give LHB Rake to 12155 12156 Bhopal Exp~/541803

Posted by: When will I get chance to travel in LHB Sleeper~  30 news posts
पिछले साल नवंबर के महीने में कानपुर में हुए भीषण ट्रेन हादसे के बारे में बिहार पुलिस ने सनसनीख़ेज़ खुलासा किया है. बिहार पुलिस के मुताबिक कानपुर रेल हादसा असल में आतंकी साज़िश थी, जिसे पाकिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई ने अंजाम दिया था.
बिहार पुलिस ने मोतिहारी जिले से मोती पासवान नाम के एक शख़्स को गिरफ़्तार किया है. पुलिस के मुताबिक मोती ने कबूल किया है कि उसी ने कानपुर में रेल पटरी को बम धमाके से उड़ाया था. इसके लिए आईएसआई ने उसको नेपाल के रास्ते मोटी रकम भेजी थी. दिल्ली में भी दो आरोपियों को इस मामले में गिरफ़्तार किया गया है. कानपुर के पुखरायां में हुए ट्रेन हादसे में 150 लोग मारे गए थे.
बिहार
...
more...
की पूर्वी चंपारण पुलिस के खुलासे के बाद अब यह सवाल उठने लगे हैं कि क्या पटना-इंदौर ट्रेन और अजमेर-सियालदह ट्रेन हादसे के पीछे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई का हाथ था ? चंपारण पुलिस ने सनसनीखेज खुलासा किया है कि दुबई में बैठे शमसुल होदा ने अपने लोगों के जरिये इन घटनाओं को अंजाम दिया था.
दरअसल, बिहार की पुलिस पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन में एक अक्टूबर 2016 को रेल पटरी पर मिले बम के मामले की जांच कर रही थी. जांच के दौरान इस मामले में मोती पासवान नामक व्यक्ति की संलिप्तता सामने आयी. मोती से जब पूछताछ हुई तो ये सनसनीखेज खुलासा हुआ. दुबई में बैठे नेपाली कारोबारी शमसुल होदा ने ये साजिश रची थी. उसने नेपाल के अपराधी ब्रजकिशोर गिरी के जरिये पैसा भिजवाया. इसी पैसे से अपराधियों ने रेल पटरियों पर बम लगाया.
bihar1
पूर्वी चंपारण के एसपी जितेंद्र राणा ( etv pic)
पुलिस ने मोती पासवान से पूछताछ के आधार पर दिल्ली से दो और अपराधियों को धर दबोचा है. हालांकि मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए मोतिहारी पुलिस ज्यादा कुछ बोलने से परहेज कर रही है.
जिले के एसपी जितेंद्र राणा ने कहा कि उमाशंकर पटेल, मोती पासवान, मुकेश यादव को रक्सौल के विभिन्न क्षेत्रों से गिरफ्तार किया गया था. इन तीनों से पूछताछ आधार पर दो लड़के अरुण राम और दीपक राम की नेपाल में हत्या के मामले का खुलासा किया गया.
एसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान मोती पासवान ने खुलासा किया है कि पटना-इंदौर रेल हादसे में उसका हाथ था. नेपाल में बैठे ब्रजकिशोर गिरी ने इसके लिए फंडिंग की थी. नेपाल में ब्रजकिशोर गिरी, मुजाहिर अंसारी, शंभु उर्फ चंडू, गजेद्र शर्मा और राकेश यादव को गिरफ्तार किया गया है. इस मामले की जांच की जा रही है.
अरुण राम और दीपक राम की हत्या
पुलिस के अनुसार पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन में रेलवे ट्रैक के पास बम ब्लास्ट होने के पहले खुलासा होने के कारण अरुण राम और दीपक राम की नेपाल में हत्या कर दी थी. जिनका शव नेपाल के जंगल से 20 अक्टूबर को मिला था. इन दोनों को घोड़ासहन में बम रखने के लिए तीन लाख रुपये दिये गये थे.
कौन है मोती पासवान?
मोती पासवान पूर्व चंपारण के आदापुर थाना के बखरी गांव का रहने वाला है. अरुण राम और दीपक राम भी इसी गांव के रहने वाले थे. बखरी गांव भारत-नेपाल बॉर्डर पर नेपाल बॉर्डर से सटा हुआ गांव है.
मोती पासवान के खिलाफ पूर्वी चंपारण, शिवहर और सीतमाढ़ी में 14 के करीब लूट और हत्या के मामले दर्ज हैं.
कौन है शमसुल होदा?
शमसुल होदा नेपाल का रहनेवाला है और दुबई में बिजनेस करता है. सूत्रों के अनुसार होदा का पाकिस्तान के आईएसआई और दाउद इब्राहिम से भी संबंध है. पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन और कानपुर में इंदौर-पटना रेल एक्सप्रेस के पीछे नेपाली के शमसुल होदा का हाथ है जो ब्रजकिशोर गिरी के जरिए अंजाम देता था.
गौरतलब है कि भारत-नेपार बॉर्डर से ही आतंकवादी यासिन भटकल को गिरफ्तार किया था. 20 नंवबर 2016 को कानपुर के पास इंदौर-पटना एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हुई थी. इसमें 153 लोगों की मौत हुई थी और 200 से ज्यादा लोग घायल थे.
बीते दिनों कानपुर में हुई ट्रेन दुर्घटनाओं में आइएसआइ की संलिप्तता थी। आइएसअाइ ने बिहार के घाड़ासहन में भी ट्रेन को उड़ाने की साजिश रची थी, जो नाकाम रही। यह सनसनीखेज खुलासा बिहार पुलिस ने मंगलवार को किया।बिहार पुलिस के इस खुलासे के बाद उत्तर प्रदेश एटीएस की टीम बिहार के मोतिहारी पहुंच चुकी है। यह टीम गिरफ्तार अपराधियों से पूछताछ करेगी।उत्तर प्रदेश के कानपुर में हुए रेल हादसों व पूर्वी चंपारण के घोड़ासहन स्टेशन के पास इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस (आइईडी) लगाने की साजिश के पीछे पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आइएसआइ थी। बीते दिन मोतिहारी पुलिस के हत्थे चढ़े तीन शातिर अपराधियों ने यह स्वीकर किया।बताते चलें कि इंदौर से पटना जा रही ट्रेन इंदौर-राजेन्द्र नगर एक्सप्रेस पिछले साल 20 नवंबर में दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी। इसमें 142 लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद कानपुर में ही रूरा के पास अजमेर-सियालदह एक्सप्रेस दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी।
गिरफ्तार
...
more...
अपराधियों में शामिल मोती पासवान ने बताया कि दुबई के अप्रवासी नेपाली कारोबारी शमशुल होदा ने उसे ट्रेन को दुर्घटनाग्रस्त करने की जिम्मेवारी सौंपी थी। घोड़ासान में 01 अक्तूबर को ट्रेन दुर्घटना के टल जाने पर के बाद उसने कानपुर में इंदौर-पटना तथा अजमेर-सियालदह एक्सप्रेस को उड़ाने की जिम्मेवारी दी थी। मोती के अनुसार शमशुल आइएसआइ के लिए काम करता है। उसके नेटवर्क में कई बड़े आतंकवादी भी हैं।
ट्रेन हादसा : जब बूढ़ी मां की छड़ी ने बचा ली पूरे परिवार की जान...जानिए
मोती पासवान ने बताया कि कानपुर में 20 नवंबर 2016 को हुए रेल हादसे की साजिश आइएसआइ ने रची थी। उसे अंजाम देने में उसके साथ ऑर भी लोग थे। उनमें से दो जुबैर व जियायुल दिल्ली में पकड़े जा चुके हैं। पूर्वी चंपारण के एसपी जितेन्द्र राणा के समक्ष उसने दोनों की तस्वीर देखकर पहचान की।
मोती ने बताया कि कानपुर से पहले पूर्वी चंपारण जिले के घोड़ासहन स्टेशन के पास रेल ट्रैक व चलती ट्रेन को उड़ाने की साजिश भी आइएसआइ ने रची थी। इसके लिए नेपाल में गिरफ्तार ब्रजकिशोर गिरी ने आदापुर निवासी अरुण व दीपक राम को तीन लाख रुपये दिए थे।
अजमेर-सियालदह एक्स. दुर्घटनाग्रस्त, हेल्पलाइन नंबर जारी
मोती के अनुसार अरुण व दीपक राम ने आइईडी लगाने के बाद भी रिमोट का बटन नहीं दबाया। इस कारण विस्फोट नहीं हो सका और विध्वंसात्मक कार्रवाई की साजिश नाकाम हो गई थी। मोती ने साफ किया कि घटना को अंजाम नहीं देने के कारण नेपाल बुलाकर ब्रजकिशोर ने अरुण व दीपक की हत्या कर शव को फेंक दिया था।
दाउद की भी संलिप्तता से इंकार नहीं
पूर्वी चंपारण के एसपी जितेंद्र राणा ने पकड़े गए मोती पासवान, उमाशंकर प्रसाद व मुकेश यादव के बारे में बताया कि उनके आइएसआइ से लिंक के प्रमाण मिले हैं। इंटेलिजेंस ब्यूरो की टीम सभी से पूछताछ कर चुकी है। रॉ व एनआइए को इस आशय की सूचना भेजी गई है। एसपी ने इस साजिश के पीछे दाउद इब्राहिम का हाथ होने की आशंका से भी इंकार नहीं किया।
एसपी ने बताया कि इस सिलसिले में तीन लोग नेपाल में भी गिरफ्तार किए गए हैं। उनमें नेपाल के कलेया निवासी ब्रजकिशोर गिरी, शंभू उर्फ लड्डू और मोजाहिर अंसारी शामिल हैं। नेपाल पुलिस से जो जानकारी आई है, उसमें बताया गया है कि आइएसआइ ने बिहार में विध्वंसात्मक कार्रवाई का जिम्मा ब्रजकिशोर गिरी को दे रखा था और उसे इसके लिए 30 लाख रुपये भी दिए गए थे।
रेल राज्यमंत्री ने कहा, पूछताछ जारी
रेलवे राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने कहा कि मोतीहारी से गिरफ्तार अपराधियों का पुखरायां ट्रेन हादसे में भी हाथ था। उनसे पूछताछ की जा रही है।
Jan 17 2017 (22:09)  इंदौर-पटना एक्सप्रेस हादसा बम धमाके से हुआ, ISI की थी साजिश! (www.livehindustan.com)
News Entry# 291468   Blog Entry# 2130705     
   Tags   Past Edits
Jan 17 2017 (22:10)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 17 2017 (22:10)
Station Tag: Ghorasahan/GRH added by विश्व नाथ*^/31233

Jan 17 2017 (22:10)
Train Tag: Indore - Rajendranagar Express (via Sultanpur)/19313 added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*^  3552 news posts
कानपुर के पास पुखरायां में 20 नवंबर को इंदौर पटना एक्सप्रेस दुर्घटना एक आतंकी संगठन आईएसआई की साजिश थी। भारत-नेपाल सीमा पर गिरफ्तार मोती पासवान ने पूछताछ में यह खुलासा किया है बम विस्फोट से ट्रेन हादसा हुआ। मोतिहारी एसपी जितेन्द्र राणा ने मंगलवार को बताया कि कानपुर ट्रेन हादसे में मोती सक्रिय रूप से शामिल था।एसपी ने बताया कि घोड़ासहन में 01 अक्तूबर 2016 को रेलवे ट्रैक से बरामद आईईडी के मामले में मोती पासवान, मुकेश शर्मा व उमाशंकर पटेल को आदापुर से गिरफ्तार किया गया है। मोती ने खुलासा किया है कि बम प्लांट का नेतृत्व दुबई में बैठे शमशुल ने किया था। नेपाल के बृजकिशोर गिरि को 20 लाख रुपये देकर घोड़ासहन में बम प्लांट की जिम्मेवारी दी गई थी। घोड़सहन में असफल होने पर मोती को कानपुर में बम प्लांट करने के लिए ले जाया गया। इसके लिए उसे दो लाख रुपये मिले। कानपुर में सफल होने...
more...
के बाद इंदौर और उसके बाद दिल्ली गया। दिल्ली के बाद वह नेपाल में भी कुछ दिनों तक छिपकर रहा।

7 posts - Tue Jan 17, 2017 - are hidden. Click to open.

2442 views
Jan 18 2017 (09:37)
Guest: 52ad97b9   show all posts
Re# 2130705-9            Tags   Past Edits
aaye din accidents ho rahe hain kya sab mei bomb blast hua sarkar ki ke kaam karne ke tareeqe per hansi aa rahi hai
Jan 03 2017 (19:02)  कानपुर में ट्रेन पलटने से बची,’ रेलमार्ग की ओएचई सप्लाई बंद करा ठप किया संचालन,‘रेल हादसों के लिए जीएम और डीआरएम जिम्मेदार’ (epaper.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 290406   Blog Entry# 2115025     
   Tags   Past Edits
Jan 03 2017 (7:02PM)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Jan 03 2017 (7:02PM)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Jan 03 2017 (7:02PM)
Train Tag: Howrah - New Delhi Rajdhani Express (via Patna)/12305 added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5699 news posts
कानपुर में ट्रेन पलटने से बची
परेशानी
’ पांच सौ मीटर पहले एकाएक खड़ी हुई हावड़ा राजधानी, 39 ट्रेनें फंसी
‘रेल हादसों के लिए जीएम और डीआरएम जिम्मेदार’
नई दिल्ली ’ विशेष संवाददाता
नए
...
more...
संरक्षा उपकरणों की खरीद
रेलमंत्री ने कहा, 70 फीसदी हादसे मानवीय चूक से होते हैं, मानवीय निर्भरता कम करने के लिए आधुनिक तकनीक के उपकरण खरीदे जाएंगे।
ट्रेनों की टक्कर रोकने वाली त्रिनेत्र, टीकैस जैसी तकनीक का सफल परीक्षण हो चुका है। दिल्ली-हावड़ा रूट पर तकनीक लगाने का काम जल्द शुरू होगा।
कानपुर ’ प्रमुख संवाददातारूरा रेल खंड में सोमवार सुबह फिर बड़ा हादसा टल गया। सियादहह-अजमेर एक्सप्रेस के दुर्घटनाग्रस्त होने के स्थान के पास ही चटकी पटरी से हावड़ा-दिल्ली एक्सप्रेस गुजर गई। एएसएम को पटरी टूटी होने की जानकारी मिली तो अप-डाउन लाइन की ओवर हेड इलेक्ट्रिक (ओएचई) सप्लाई बंद करा दी। इसकी वजह से टूटी पटरी से पांच सौ मीटर पहले दिल्ली जा रही 12305 हावड़ा राजधानी एक्सप्रेस खड़ी हो गई। अचानक ट्रेन के पहिए थमने से यात्री दहशत में आ गए। वहीं, ओएचई सप्लाई बंद होने से 39 ट्रेनें जहां-तहां खड़ी हो गईं। अवध, महानंदा जैसी सुपरफास्ट ट्रेनें झीझक में रुक गईं। करीब लगभग डेढ़ घंटे बाद ट्रैक को दुरुस्त कर ट्रेनों का संचालन शुरू कराया गया। रेलवे अफसरों ने बताया कि मौसम की वजह से बार-बार पटरियां चटक रही हैं। इसके लिए लगातार पेट्रोलिंग कराई जा रही है। अभी तो रूरा स्टेशन के सेक्शन में 10 और 20 किलोमीटर प्रति घंटे का कॉशन लगा हुआ है। वैसे पटरी टूटने के मामले में जांच के आदेश दिए गए हैं। पटरी टूटने के स्थान से हावड़ा-दिल्ली एक्सप्रेस गुजर जाने से गैप काफी बढ़ गया था। यदि 500 मीटर पहले ओएचई बंद होने से दिल्ली जाने वाली हावड़ा राजधानी गुजरती तो हादसा तय था।
नई दिल्ली । विशेष संवाददातारेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि रेल फ्रैर से होने वाल ट्रेन दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए निगरानी तंत्र को मजबूत किया जा रहा है। रेल हादसे के लिए जनरल मैनेजर (जीएम) और डिविजन रेलवे मैनेजर (डीआरएम) को जवाबदेह बनाया जाएगा। इसके अलावा रोलिंग स्टॉक, नए ट्रैक, आधुनिक तकनीक की मदद से ट्रेन के सफर को सुरक्षित बनाया जाएगा। सुरेश प्रभु ने एक अनौपचारिक मुलाकात में पत्रकारों को बताया कि रेल संरक्षा को मजबूत किया जा रहा है। कानपुर ट्रेन हादसे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि रेल फ्रैर से होने वाले हादसों को रोका जाता सकता है। इसके लिए रेलवे ट्रैक की निगरानी और रख रखाव तंत्र को मजबूत किया जा रहा है। गैंगमैन के सहारे इस काम को नहीं छोड़ जाता सकता है। नए संरक्षा उपकरणों की खरीदरेलमंत्री ने कहा, 70 फीसदी हादसे मानवीय चूक से होते हैं, मानवीय निर्भरता कम करने के लिए आधुनिक तकनीक के उपकरण खरीदे जाएंगे। ट्रेनों की टक्कर रोकने वाली त्रिनेत्र, टीकैस जैसी तकनीक का सफल परीक्षण हो चुका है। दिल्ली-हावड़ा रूट पर तकनीक लगाने का काम जल्द शुरू होगा।
रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि रेल फ्रैर से होने वाल ट्रेन दुर्घटनाओं की रोकथाम के लिए निगरानी तंत्र को मजबूत किया जा रहा है। रेल हादसे के लिए जनरल मैनेजर (जीएम) और डिविजन रेलवे मैनेजर (डीआरएम) को जवाबदेह बनाया जाएगा। इसके अलावा रोलिंग स्टॉक, नए ट्रैक, आधुनिक तकनीक की मदद से ट्रेन के सफर को सुरक्षित बनाया जाएगा। सुरेश प्रभु ने एक अनौपचारिक मुलाकात में पत्रकारों को बताया कि रेल संरक्षा को मजबूत किया जा रहा है। कानपुर ट्रेन हादसे का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि रेल फ्रैर से होने वाले हादसों को रोका जाता सकता है। इसके लिए रेलवे ट्रैक की निगरानी और रख रखाव तंत्र को मजबूत किया जा रहा है। गैंगमैन के सहारे इस काम को नहीं छोड़ जाता सकता है।

12 posts - Tue Jan 03, 2017 - are hidden. Click to open.

1 posts - Wed Jan 04, 2017 - are hidden. Click to open.

2113 views
Jan 04 2017 (00:13)
Jackpot June Edition will be Launch on 1st June^~   34516 blog posts   28164 correct pred (78% accurate)
Re# 2115025-14            Tags   Past Edits
Media pe lagam lagana jaruri h

2164 views
Jan 04 2017 (00:17)
JBP ET OHE OMG 😲 SUPPORTS KKR 😎~   12824 blog posts   22 correct pred (42% accurate)
Re# 2115025-15            Tags   Past Edits
बॉंध दो 😂😂

2122 views
Jan 04 2017 (00:32)
☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   13536 blog posts   3052 correct pred (65% accurate)
Re# 2115025-16            Tags   Past Edits
😅😅😅iri ka news section suspend karwa do wahi sahi h tb

2042 views
Jan 04 2017 (01:50)
Jackpot June Edition will be Launch on 1st June^~   34516 blog posts   28164 correct pred (78% accurate)
Re# 2115025-17            Tags   Past Edits
😆😆😆
Shi kaha

1699 views
Jan 04 2017 (14:11)
For Better Managed Indian Railways~   1933 blog posts
Re# 2115025-18            Tags   Past Edits
Possibility of Sabotage in recent spate of derailments in UP is high as:
(1) incidences happening again and again only in UP and not in other states. Weather, tracks & trains in UP are same as in other north indian states with same weather/atmospheric temperature.
(2) Incidence of miscreants opening the rail fastenings ant trying to cut the rail just 1-2 days back
(3)
...
more...
Ensuing elections in UP
Matter needs to be enquired.

2002 views
Jan 04 2017 (16:15)
☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   13536 blog posts   3052 correct pred (65% accurate)
Re# 2115025-19            Tags   Past Edits
Thats grt...so u think election is responsible for d accident happnd in up 😁

1978 views
Jan 04 2017 (16:27)
For Better Managed Indian Railways~   1933 blog posts
Re# 2115025-20            Tags   Past Edits
election may be indrectly responsible for the incidences observed

1935 views
Jan 04 2017 (17:02)
☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   13536 blog posts   3052 correct pred (65% accurate)
Re# 2115025-21            Tags   Past Edits
I m nt agree wid u bro ....ir ki galtiya h tm usko divert kar rahe bs

1920 views
Jan 04 2017 (17:13)
For Better Managed Indian Railways~   1933 blog posts
Re# 2115025-22            Tags   Past Edits
IR to galtiyaan karte hi rehta hai, aadat jo thehri. Par keval UP waale IR employee hi galtiyaan nahin karte, baaki bhi barabari mein karte hain.
.
Par kuchh arse se, sare kisson ka kewal UP mein hi hona, aur ek sabotage ka attempt 1-2 din pehle pakada jaa chuka hai, yeh sab sabotage ki prabal sambhaavna ka sanket dete hain.
.
...
more...

Maine aisa nahin kaha ki election ke kaaran hi ho raha hai, iski enquiry karne ko kaha hai, tabhi asli kaaran pakad mein aayega.

1705 views
Jan 04 2017 (23:35)
☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   13536 blog posts   3052 correct pred (65% accurate)
Re# 2115025-23            Tags   Past Edits
Rly may enquiry to hoti h hamesha result 0 ....rly ko active rahna chaiye .....single line section may double load hota oper se thand ....usi ka asar h ye...
Dec 19 2016 (10:37)  पुखरायां के पास फिर हादसे से बची इंदौर-राजेंद्र नगर एक्सप्रेस ,तिलौंची के पास चटकी पटरी से गुजरीं तीन एक्सप्रेस ट्रेनें व एक मालगाड़ी (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 289065   Blog Entry# 2096029     
   Tags   Past Edits
Dec 19 2016 (10:37AM)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Dec 19 2016 (10:37AM)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Dec 19 2016 (10:37AM)
Train Tag: Indore - Rajendranagar Express (via Faizabad)/19321 added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5699 news posts
तिलौंची के पास चटकी पटरी से गुजरीं तीन एक्सप्रेस ट्रेनें व एक मालगाड़ी
पुखरायां के पास फिर हादसे से बची इंदौर-राजेंद्र नगर एक्सप्रेस 20
जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : पुखरायां में हुए रेल हादसे में डेढ़ सौ से अधिक लोगों की मौत और यात्रियों के घायल होने की घटना अभी स्मृति पटल से धूमिल भी न हो पाई थी कि रविवार को एक बार फिर इंदौर-राजेंद्र नगर एक्सप्रेस हादसे का शिकार होने से बच गई। भोर पहर तिलौंची फाटक के पास चटकी पटरी से इंदौर-राजेंद्रनगर सहित दो एक्सप्रेस ट्रेनें व एक मालगाड़ी गुजर
...
more...
गई। गेटमैन की सूचना पर लालपुर स्टेशन पर लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस को रोका गया और रेलवे कर्मियों ने पटरी की मरम्मत का काम शुरू कराया। 1कानपुर-झांसी रेल रूट पर पुखरायां स्टेशन से करीब एक किमी. दूर दलेलनगर के पास 20 नवंबर की सुबह 19321 इंदौर-राजेंद्र नगर एक्सप्रेस दुर्घटना का शिकार हो गई थी। हादसे में 152 लोगों की मौत और करीब दो सौ से अधिक यात्री घायल हुए थे। भीषण रेल हादसे ने पूरे देश में लोगों को झकझोर दिया था। हादसे के बाद पुखरायां से मलासा स्टेशन के बीच धीमी की गई ट्रेनों की रफ्तार ट्रैक दुरुस्तीकरण के बाद रविवार से बढ़ाने की तैयारी थी। हादसे के ठीक 29 वें दिन रविवार को ही घटनास्थल से करीब 21 किमी दूर तिलौंची के पास एक बार फिर इंदौर-राजेंद्र नगर एक्सप्रेस समेत तीन ट्रेनें दुर्घटना का शिकार होने से बच गईं। तिलौंची स्थित गेट संख्या-218 के पास चटकी पटरी से इंदौर-राजेंद्रनगर, अप बरौनी-ग्वालियर, अप राप्ती सागर एक्सप्रेस तथा एक मालगाड़ी धड़धड़ाती हुईं गुजर गईं। सुबह करीब 5:10 बजे गेटमैन अर¨वद ने पटरी चटकी देखकर लालपुर स्टेशन में जानकारी दी। इसके बाद पामा स्टेशन से पीडब्ल्यूआइ राजेंद्र सिंह टीम लेकर सवा छह बजे तिलौंची पहुंचे और पटरी मरम्मत का कार्य शुरू कराया। इस बीच पुखरायां चौकी से आरपीएफ के दो जवान भी पहुंच गए। पटरी बदलने के लिए आधे घंटे तक रेलमार्ग को बंद रखा गया। इसके चलते लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस को लालपुर स्टेशन पर रोका गया। लालपुर स्टेशन मास्टर एसएस चौहान ने बताया कि कॉशन देकर ट्रेनों को धीमी गति से निकाला गया है। पटरी की मरम्मत का कार्य पूरा कर लिया गया है, अब रेल यातायात सामान्य है।6तिलौंची के पास चटकी पटरी से गुजरीं तीन एक्सप्रेस ट्रेनें व एक मालगाड़ी

2838 views
Dec 19 2016 (10:45)
Indian Railways the life line of our Nation   15224 blog posts   137 correct pred (82% accurate)
Re# 2096029-1            Tags   Past Edits
Now this train is not safe for journey

2721 views
Dec 19 2016 (11:42)
☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~   13536 blog posts   3052 correct pred (65% accurate)
Re# 2096029-2            Tags   Past Edits
Agree....ir ka downfall hi dikh rah luch months se
Dec 01 2016 (10:13)  ट्रैक फ्रैक्चर से हुआ पुखरायां रेल हादसा (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 287322   Blog Entry# 2077032     
   Tags   Past Edits
Dec 01 2016 (10:13AM)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Dec 01 2016 (10:13AM)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Dec 01 2016 (10:13AM)
Train Tag: Indore - Rajendranagar Express (via Faizabad)/19321 added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5699 news posts
जेएनएन, कानपुर : पुखरायां-मलासा स्टेशन के बीच इंदौर-राजेंद्र नगर (पटना) एक्सप्रेस ट्रेन के ट्रैक फ्रैक्चर के कारण दुर्घटनाग्रस्त होने के संकेत मिल रहे हैं। जांच के दौरान यह बात प्रकाश में आई कि इंजन के बाद जो कोच दुर्घटनाग्रस्त हुआ था, उसके पहिए में पटरी से टकराने के निशान मिले हैं। रेलवे सूत्र बताते हैं कि पहिए में पटरी से टकराने पर गहरा गड्ढा बन गया था। हालांकि अधिकारी इस बाबत अभी इस पर कुछ कहने को तैयार नहीं हैं। रेल संरक्षा आयुक्त (सीआरएस) पीके आचार्या ने बुधवार को पुखरायां में जांच के दौरान दुर्घटनास्थल से बिना मेजरमेंट क्षतिग्रस्त बोगियों को मौके से हटाने पर अफसरों से कड़ी नाराजगी जताई। उनके तेवर देख ठंड में भी अधिकारियों को पसीना आ गया। 120 नवंबर को हुई रेल दुर्घटना की दोबारा जांच करने आए सीआरएस दुर्घटनास्थल पुखरायां पहुंचे। कानपुर से पुखरायां तक उन्होंने रेल अधिकारियों व कर्मचारियों से सवाल-जवाब किए। पुखरायां में सवालों...
more...
के सही जवाब न मिलने पर उन्होंने कई अधिकारियों को फटकार लगाई। उन्होंने दुर्घटनाग्रस्त ट्रेन के गार्ड अजय कुमार व एडीआरएम विनीत कुमार को कड़ी फटकार लगाई। गार्ड झटके लगने वाले स्थल की जानकारी नहीं दे पाया था। इसके बाद सीआरएस जांच के लिए दुर्घटनास्थल पहुंचे तो सीडीएसओ टीपी सिंह से पूछा कि दुर्घटना में कितनी बोगियां क्षतिग्रस्त हुई थीं और उनकी स्थिति क्या थी? इस सवाल पर सीडीएसओ सही उत्तर नहीं दे सके। उन्होंने सीडीएसओ से पूछा कि ट्रेन की जो बोगियां सुरक्षित बची थीं, वे कहां खड़ी थीं? इस पर सीडीएसओ ने बताया कि उनके आने के पहले ही सुरक्षित बची बोगियां घटनास्थल से हटा दी गई थीं। इस जवाब पर सीआरएस का पारा गरम हो गया। उन्होंने मौके पर मौजूद एडीआरएम झांसी विनीत कुमार से पूछा कि बिना मेजरमेंट के दुर्घटनाग्रस्त ट्रेन की बोगियां क्यों हटवाई गईं? सही उत्तर न दे पाने पर सीआरएस ने एडीआरएम को भी आड़े हाथों लेते हुए फटकार लगाई तथा लिखित उत्तर देने को कहा।

2491 views
Dec 01 2016 (15:28)
Pained to know Boeing 777 landcrashed~   23274 blog posts   21101 correct pred (68% accurate)
Re# 2077032-1            Tags   Past Edits
Ministry of Civil Aviation acts as the boss to Ministry of Rlys when it comes to passenger safety...
Nov 28 2016 (22:03)  दोषियों को बचाने के लिए रेलवे में खींचतान,इंजिनियरिंग और मकैनिकल निकाल रहे एक-दूसरे की कमियां (epaper.navbharattimes.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 287047     
   Tags   Past Edits
Nov 28 2016 (10:03PM)
Station Tag: Pokhrayan/PHN added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Nov 28 2016 (10:03PM)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Nov 28 2016 (10:03PM)
Train Tag: Indore - Rajendranagar Express (via Faizabad)/19321 added by ☆अलविदा गोंडा मीटरगेज■☆*^~/206964

Posted by: ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~  5699 news posts
ट्रेन हादसे के बाद
इंजिनियरिंग और मकैनिकल निकाल रहे एक-दूसरे की कमियां
काफी जंग लगा है। दावा यह भी किया जा रहा है कि इस कोच के हेड स्टॉक में डिरेलमेंट के पहले ही गड़बड़ हो गई थी। इसके अलावा कुछ और तकनीकी जानकारियों के आधार पर दावा किया जा रहा है कि गड़बड़ी कोच में थी।
सूत्रों का यह भी कहना
...
more...
है कि इंजिनियरिंग और मकैनिकल के अफसर अपनी रिपोर्ट कमिश्नर ऑफ रेलवे सेफ्टी (सीआरएस) को भेजेंगे।
हैलट में 10 जख्मी भर्ती : हादसे के एक हफ्ते बाद रविवार को आईसीयू में 2 लोगों को मिलाकर सिर्फ 10 पेशंट्स ही बचे थे।•एनबीटी ब्यूरो, कानपुर : इंदौर- राजेंद्रनगर एक्सप्रेस हादसे में 152 लोगों की मौत के बाद फौरी कार्रवाई में रेलवे ने झांसी डिविजन के डीआरएम का ट्रांसफर किया और पांच अफसरों को सस्पेंड कर दिया। हालांकि असल दोषियों को बचाने के लिए इंजिनियरिंग और मकैनिकल डिपार्टमेंट्स ने पूरी ताकत लगा दी है। ट्रैक में खराबी की खबरों के बाद इंजिनियरिंग के अफसरों ने मोर्चा संभाल लिया है। वे कोचों में गड़बड़ियों के आरोप लगा रहे हैं। जांच के दौरान इंजिनियरिंग के एक अफसर की एक सीनियर अधिकारी से करीब 2 घंटे की मुलाकात भी चर्चा का विषय है।
रेलवे सूत्रों का दावा है कि पटना एक्सप्रेस के एस-1 कोच के हेडस्टॉक (कपलिंग को सपोर्ट देने वाले, कोचों को जोड़ने वाले लोहे के गोल टुकड़े) की बफर असेंबली की पुरानी वेल्डिंग टूट गई थी। इसी कोच का ट्रॉली (पहियों) वाला हिस्सा जो हादसे के बाद बाहर निकल गया, उसमें बुरी तरह जंग लगा है। एस-1 कोच से ही फ्लोरिंग के जिन हिस्सों का सैंपल लिया गया है, उनमें
Page#    Showing 1 to 20 of 71 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site