Full Site Search  
Mon Jun 26, 2017 02:27:01 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;

RTM/Ratlam Junction (7 PFs)
رتلام جنكشن     रतलाम जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 7
Number of Halting Trains: 170
Number of Originating Trains: 15
Number of Terminating Trains: 15
Junction point NAD/MGN/INDB/COR, Station Road Ratlam, 457001
State: Madhya Pradesh
Elevation: 495 m above sea level
Zone: WR/Western
Division: Ratlam
10 Travel Tips
No Recent News for RTM/Ratlam Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 3.9/5 (77 votes)
cleanliness - good (10)
porters/escalators - good (10)
food - excellent (9)
transportation - good (10)
lodging - good (9)
railfanning - good (9)
sightseeing - good (10)
safety - good (10)

Nearby Stations

DHWS/Dhosawas 3 km     DRRN/Dr. RK Nagar 5 km     NTDM/Nityanand Dham 8 km     BOD/Bangrod 10 km     MRN/Morwani 11 km     NLI/Namli 13 km     NGW/Nauganwan 16 km     RNH/Runkhera 17 km     BILD/Bildi 20 km     PRNG/Pritam Nagar 23 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 142 News Items  next>>
Jun 24 2017 (15:05)  ट्रेनों में चोरी करने वाली बिहार गैंग का पर्दाफाश (www.patrika.com)
News Entry# 306349     
   Tags   Past Edits
Jun 24 2017 (15:05)
Station Tag: Ratlam Junction/RTM added by The Phenomenal One~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  686 news posts
रतलाम।
ट्रेनों में रात में चोरी कर यात्री और पुलिस की नींद उड़ाने वाले बिहार चोर गिरोह आखिरकार जीआरपी पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया। अहमदाबाद में पकड़ाए इस चोर गिरोह ने रतलाम की चार ट्रेनों में चोरी की वारदातों को कबूला है। पुलिस ने इन सभी आरोपियों को रेलवे कोर्ट से 3 जुलाई तक रिमांड पर पूछताछ के लिए लिया है। जिनसे चोरी की वारदातों मेें एकत्रित की सम्पत्ति की बरामदगी की जाएगी।
थाना प्रभारी अभिषेक गौतम ने बताया कि ट्रेनों में लगातार चोरी की वारदात को अंजाम देने वाला बिहरा चोर
...
more...
गिरोह अहमदाबाद में गुजरात जीआरपी पुलिस की गिरफ्त में आया था। जिसे श्यामगढ जीआपी पुलिस ने एक चोरी की वारदात में रिमांड पर लिया था। इस दौरान रतलाम पुलिस ने वहां पहुंचकर प्रारंभिक पूछताछ की उन्होंने रतलाम इलाके की चार चोरी की वारदात को कबूल किया था। पुलिस ने चोरी में बिहार गैंग के मुख्य सरगना बिहार के बैगुसराय निवासी मो. इम्तयाज (35) पिता मो. अब्बास, सुनील सिंह (47) पिता रामसागर सिंह, शिवानंद (60) पिता धनिक ठाकुर, संजीत कुमार (47) पिता महेश्वर प्रसाद, पटना मौकामा निवासी शशिकांत (25) पिता कमलेश मिश्रा और पटना मड़ाची निवासी नवीन कुमार (48) पिता बाल्मिकी सिंह को गिरफ्तार किया है।
एेसे देते थे वारदात को अंजाम
थाना प्रभारी गौतम ने बताया कि इनके पास से पुलिस ने 153 टिकट विभिन्न ट्रेनों के कन्फर्म बरामद किए है, जिनकी कीमत करीब 42 हजार रुपए है। जो कि अलग-अलग स्टेशन से बरामद किए है। यह गिरोह बिहार से गुजरात के बीच ही वारदात को अंजाम देता था। ट्रेन में पूरा गिरोह सवार हो जाता था। दिखने अच्छे खासे परिवार के लगते है। यात्री परिवार से मेलजोल बड़ा लेते थे। देर रात में सोने के दौरान छह के छह बदमाश चेन बनाकर एक दूसरे को बेग थमाते हुए पल भर में बेग को बाहर पहुंचा देते थे। बिहार, मध्यप्रदेश, राजस्थान, गुजरात में इन्होंने कई चोरी को अंजाम दिया है। करीब दो-तीन साल से गैंग ट्रेन में सक्रिय थी।
रतलाम में यह की चोरी
- दिनांक 25 मई 2017 को पुणे-इंदौर ट्रेन में एस-4 कोच की सीट नंबर 42 पर सफर कर रही पुणे गंगा कॉलोनी निवासी सपना शर्मा (30) पति सुरेंद्र शर्मा का रतलाम रेलवे स्टेशन पर ट्रेन से बेग चोरी हो गया था। जिसमें एक आयुष कंपनी का टेबलेट और आईडी सहित कपड़े थे। वह पुणे से इंदौर के लिए यात्रा कर रही थी।
- दिनांक 9 मार्च 2017 को गुना-बीना ट्रेन में सवार हो रही वृद्ध महिला हाट रोड निवासी रूकमणी (74) पति शिवनारायण पंचौली के गले से चेन चोरी हो गई थी। वह खाचरोद मौत में बैठने जा रही थी।
- दिनांक 28 अप्रेल 2017 को अजमेर-इंदौर एक्सप्रेस ट्रेन में पुणे निवासी शनि (32) पिता नंदराम छत्रीचंद कोच एस-4 की सीट नंबर 36 और 47 पर सवार होकर इंदौर के लिए यात्रा कर रहे थे। इसी दौरान उनका बेग चोरी हो गया था। जिसके दो जोड़ी कान के टॉप्स और कुछ कपड़े थे।
- दिनांक 9 मई 2017 को पुणे-इंदौर एक्सप्रेस टे्रन में इंदौर निवासी आरती (27) पति मनोज कुरील कोच एस-10 के सीट नंबर 55 पर सवार होकर इंदौर के लिए यात्रा कर रही थी। तभी उसका बेग चोरी हो गया था। जिसमें आठ जोड़ी चांदी की बिच्छिया थी।
Jun 24 2017 (15:02)  Train_Accident - रतलाम में दो ट्रेन का एक्सीडेंट (www.patrika.com)
News Entry# 306347     
   Tags   Past Edits
Jun 24 2017 (15:02)
Station Tag: Ratlam Junction/RTM added by The Phenomenal One~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  686 news posts
रतलाम। रेल मंडल में गुरुवार- शुक्रवार की रात दो अलग-अलग सेक्शन पर दुर्घटनाएं हुई। एक दुर्घटना में जहां अमृतसर-मुंबई स्वर्ण मंदिर एक्सपे्रस ट्रेन का इंजन पटरी से उतर गया तो दूसरी घटना में पूरी - जोधपुर ट्रेन के यात्री उस वक्त बाल-बाल बचे जब एक मालगाड़ी सिग्नल क्रास कर आगे निकलकर यात्री ट्रेन से रगड़ खा गई। दोनों मामले में फिलहाल जांच रेलवे ने शुरू कर दी है।
पहले पढ़े गोल्डन टेंपल ट्रेन का मामला
गुरुवार शाम को करीब 7 बजे रतलाम से इंजन नंबर इन-22909-डब्ल्यूएपी-4-बीआरसी ट्रेन को लेकर रवाना हुआ। ट्रेन रात
...
more...
करीब 11.15 बजे गोधरा-बड़ोदरा सेक्शन में ई केबीन के करीब पहुंची ही थी कि इंजन की मोटर ने काम करना बंद कर दिया। इससे चलता इंजन अचानक रुक गया। इसके बाद करीब 11.36 बजे 20 मिनट में दूसरा इंजन लगाकर ट्रेन को रवाना किया गया। 401-7डी किलोमिटर क्षेत्र में हुई इस घटना के दौरान यात्रियों को लगा कि ट्रेन का ेआउटर पर सिग्नल नहीं मिलने से रोका गया है।
यहां तो बाल-बाल बचे यात्री
गोल्डन टेंपल की घटना हुई ही थी कि दूसरी घटना उज्जैन सेक्शन में हो गई। पूरी - जोधपुर ट्रेन से मालगाड़ी की रगड़ की घटना हुई। दिखने में सामान्य इस घटना में बड़ा हादसा हो सकता था। असल में विक्रमनगर से शहडोल जाने के लिए निकली मालगाड़ी यात्री ट्रेन से रगड़ खाई। ये घटना की जानकारी स्वयं यात्री ट्रेन के चालक मनोज कुमार ने रेलवे नियंत्रण कक्ष में रात 12.50 बजे दी। बताया जाता है कि मालगाड़ी का चालक बेन प्रसाद लाल सिग्नल होने के बाद भी मालगाड़ी को आगे की तरफ ले गया।
चालक ने ब्रेक लगाया
आगे मोड़ होने की वजह से दोनों तरफ की पटरियां पास थी। इसके चलते मालगाड़ी व सामने से आ रही यात्री ट्रेन एक-दूसरे को छू गई। हालाकि समय रहते चालक ने ब्रेक लगाया, लेकिन अगर ये नहीं होता तो बड़ी दुर्घटना हो सकती थी। इस घटना के बाद चालक बेनी प्रयाद को रेलवे अस्पताल में जांच के लिए भर्ती किया गया है। बताया जाता है कि यात्री ट्रेन में करीब 1800 यात्री सवार थे।
Jun 24 2017 (15:00)  #Railway - इस पालतू जीव ने रोक दी 24 डिब्बों वाली ट्रेन (www.patrika.com)
News Entry# 306345     
   Tags   Past Edits
Jun 24 2017 (15:00)
Station Tag: Ratlam Junction/RTM added by The Phenomenal One~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  686 news posts
रतलाम। बांद्रा से कटरा जा रही जम्मुतबी ट्रेन के गार्ड के डिब्बे मे शुक्रवार शाम को श्वान की मौत हो गई। श्वान को बांद्रा से लुधियाना के लिए बुकिंग की गई थी। नाराज यात्री ने प्लेटफॉर्म पर जमकर हंगामा किया व दो बार ट्रेन की जंजीर भी खींची। विवाद के बीच ट्रेन तय समय से करीब 20 मिनट देरी से नागदा से लिए रवाना हुई।
ये है पुरा मामला
लुधियाना के परविंदरसिंह ने बताया कि वे इन दिनों मुंबई रहकर काम कर रहे है। ट्रेन में बकायदा शुल्क जमाकर के अपने श्वान की
...
more...
बुकिंग करवाई थी। इस बारे में पहले ही बता दिया था कि श्वान वातानुकूलित कक्ष में रहने का आदि है, इसलिए हर स्टेशन पर पानी पिलाना जरूरी है। बीच-बीच में वे स्वयं पानी पिलाने गए, लेकिन वे स्टेशन जहां ट्रेन का ठहराव कम समय के लिए था, वहां वे पानी नहीं पिला पाए। इस बीच जब रतलाम स्टेशन पर वे अपने श्वान को पानी पिलाने आए तो गार्ड आरके सतवानी ने पहले बुकिंग की रसीद मांगी। नियम अनुसार उनके पास भी एक रसीद होती है, लेकिन उन्होने इस बात से इंकार कर दिया कि उनको कोई रसीद बड़ोदरा के गार्ड ने दी है।
इसलिए हुआ विवाद
सिंह के अनुसार गार्ड ने उनको कहा कि तुम्हारा श्वान मर गया है, इसको बाहर निकालो। इसके बाद दोनों के बीच करीब 10 मिनट तक बहस हुई। इस बीच आरपीएफ, जीआरपी व क्षेत्रीय प्रबंधक लोकेश कुमार मीणा सहित अन्य अधिकारी पहुंच गए। सिंह ने क्षेत्रीय प्रबंधक मीणा के साथ भी बहस की। अंत में जब ट्रेन चली तो ट्रेन की जंजीर खींच दी गई। बाद में नए गार्ड करीब बख्श आए व उन्होने श्वान के शव को नीचे उतरवाया व ट्रेन को चलवाया।
गार्ड है इसके लिए दोषी
मेरे श्वान की मौत के लिए गार्ड ही दोषी है। समय पर उनको मानवता के नाते ही पानी तो पिलवाना था। वो काम भी नहीं किया।
- परविंदरसिंह, श्वान के मालीक व यात्री
सभी को समझा दिया गया
गार्ड को बड़ोदरा से रसीद नहीं मिली थी। इसलिए उनका अपराध नहीं है। सभी को समझाकर ट्रेन को रवाना किया गया है।
- लोकेश कुमार मीणा, क्षेत्रीय प्रबंधक, रेलवे स्टेशन
Jun 22 2017 (08:48)  #Indian_Railway- रेलवे ला रही मोबाइल पर शिकायत से लेकर बुकिंग के लिए महाएप (www.patrika.com)
back to top
New Facilities/Technology

News Entry# 306133     
   Tags   Past Edits
Jun 22 2017 (08:48)
Station Tag: Ratlam Junction/RTM added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  686 news posts
रतलाम। अब तक रेलवे से जुडे़ जितने भी मोबाइल एप्लीकेशन है, सभी में अलग-अलग सुविधा मिलती है। रेलवे जुलाई माह से एक एप्लीकेशन से हर सुविधा देने के लिए महाएप ला रहा है।
रेलवे अधिकारियों के अनुसार इसमें शिकायत, कक्ष आरक्षित, यात्रा के लिए टिकट आरक्षित व निरस्त सहित अनेक कार्य हो सकेंगे। मोबाइल से ट्रेन का टिकट आरक्षित करने, ट्रेन की आने-जाने की समय-सारण देखने, ट्रेन की लोकेशन देखने, रिटायर्रिंग रुम आरक्षित करने सहित अनेक कार्य जुलाई से एक ही मोबाइल एप से होंगे। इसके लिए रेलवे ने तैयारी कर ली है। रेलवे ने महाएप नाम से एक एंड्राइड एप बनाया है, जिसमंे ये सभी सुविधाएं मिलेगी। बताया जा रहा है कि जुलाई के दूसरे पखवाडे़ में इसे शुरू कर दिया
...
more...
जाएगा। फिलहाल इसका परीक्षण चल रहा है।
मंडल में एेसे मिलेगा लाभ
असल में मंडल से निकलने वाली अनेक ट्रेन में बेडरोल, सुविधाघर में पानी की कमी से लेकर गंदगी, प्लेटफॉर्म के किनारे के ट्रैक की गंदगी, अधिक दर से वस्तुओं की बिक्री, वाहन पार्र्किंग पर अधिक रुपए की वसूली की शिकायत आम रहती है। इसके लिए अलग-अलग स्तर पर मोबाइल एपलीकेशन होने व अधिकतर समय स्टेशन प्रबंधक का कक्ष बंद होने पर यात्री बगैर शिकायत किए ही वापस लौट जाते है। मंगलवार को ही नागदा में एक यात्री से अधिक दर पेय प्रदार्थ मांगने पर ऑनलाइन हुई शिकायत पर तुरंत कार्रवाई करते हुए वाणिज्य विभाग ने 5 हजार रुपए का जुर्माना किया। एेसे में मोबाइल में एक ही प्लेटफॉर्म पर सभी प्रकार की शिकायत मिलने पर समस्याओं का समाधान व कार्रवाई आसान रहेगी।
Jun 13 2017 (11:11)  अब बेटिकटों पर रहेगी आरपीएफ की नजर (www.patrika.com)
News Entry# 305176     
   Tags   Past Edits
Jun 13 2017 (11:11)
Station Tag: Ratlam Junction/RTM added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  686 news posts
रतलाम। रेलवे ने यात्री सुरक्षा के लिए बड़ा निर्णय लेते हुए अब आरपीएफ को भी यात्री टिकट जांच के अधिकार दे दिए हैं। अब तक रेलवे संपत्ति की रक्षा करने वाली आरपीएफ ट्रेन से लेकर प्लेटफॉर्म पर शंका होने पर यात्रियों को रोककर टिकट की जांच भी कर सकेगी। इतना ही नहीं, अब तक जिस तरह पुलिस किसी मोबाइल को रिकार्ड के लिए ट्रैकिंग पर रखती थी, वो काम भी आरपीएफ कर सकेगी।
असल में दो वर्षों से लगातार आरपीएफ अपने अधिकार की लड़ाई लड़ रही थी। इसके लिए दिल्ली में गृह मंत्रालय के साथ सम्मेलन भी हुआ था, तब ये बात उठी थी कि जीआरपी व आरपीएफ में समन्वय की कमी होने से किसी एक विभाग को समाप्त कर दिया जाए।
...
more...
हालांकि गृह मंत्रालय ने इन दोनों विभाग का महत्व बरकरार रखा, लेकिन आरपीएफ की शक्तियों को बढ़ा दिया।
लगातार अलर्ट के बाद लिया निर्णय
रेलवे बोर्ड के एक अधिकारी के अनुसार लगातर मिल रही धमकियों व यात्री सुरक्षा की चुनौतियों को देखते हुए ही गृह मंत्रालय ने ये निर्णय लिया है। गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को जारी किए आदेश में ये जानकारी दी है कि आरपीएफ को भी यात्रियों के टिकट की जांच का अधिकार होगा। असल में आरपीएफ ट्रेन में चलती तो है, लेकिन सीधे तौर पर यात्रियों से सवाल-जवाब का अधिकार नहीं होता है। अब ये अधिकार होने से यात्रियों की सुरक्षा और बेहतर हो सकेगी। इसके अलावा किसी यात्री पर शंका होने पर उसके मोबाइल को रिकार्ड पर रखवाने से लेकर ट्रैकिंग का अधिकार भी अब आरपीएफ को दिया है।
इस तरह होगा लाभ
असल में रेलवे का वाणिज्य विभाग कर्मचारियों की कमी से जूझ रहा है। हालात ये कि कभी-कभी तो कर्मचारी ट्रेन में ड्यूटी होने पर ट्रेन में नहीं जाते हैं। हाल ही में एक टीटीई को ड्यूटी होने के बाद भी ट्रेन से नदारद पाए जाने पर कोटा विजिलेंस ने प्रकरण बनाया था। हालांकि बाद में टीटीई ने अवकाश का आवेदन स्वयं के बचाव के लिए दे दिया। एेसे में आरपीएफ को टिकट जांच के अधिकार से लाभ होगा। इसके अलावा शंका होने पर आरपीएफ एेसे यात्री को पूछताछ के लिए हिरासत में भी ले सकेगी। मंडल में विभिन्न ट्रेन में जीआरपी व आरपीएफ मिलकर ट्रेनों में स्कॉटिंग करती है।
इससे यात्रियों को ही होगा लाभ
& इस निर्णय से यात्रियों की सुरक्षा और मजबूत होगी व यात्रियों को लाभ होगा। रेलवे स्टेशन, परिसर या ट्रेन में आरपीएफ सुरक्षा के साथ जांच भी करेगी। यात्रियों से अपील है कि वे कुछ भी संदिग्ध देखते हैं तो तुरंत हेल्पलाइन नंबर 182 पर सूचना दें। इससे ट्रेन में होने वाले अपराधों पर भी रोक लगेगी।
- जेके जयंत, जनसंपर्क अधिकारी, रतलाम रेल मंडल
Page#    Showing 1 to 20 of 142 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.