Full Site Search  
Tue Jun 27, 2017 19:23:37 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;

RNQ/Renukut (3 PFs)
رےكوٹ     रेणुकूट

Track: Construction - Doubling+Electrification

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 20
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
05446-252195, Station road , NH-39 ,Renukut, Sonbhadra
State: Uttar Pradesh
Elevation: 313 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Dhanbad
4 Travel Tips
No Recent News for RNQ/Renukut
Nearby Stations in the News

Rating: 4.4/5 (46 votes)
cleanliness - excellent (6)
porters/escalators - good (6)
food - average (5)
transportation - excellent (6)
lodging - good (6)
railfanning - excellent (5)
sightseeing - excellent (6)
safety - excellent (6)

Nearby Stations

MPF/Muirpur Road 10 km     JGF/Jogidih 11 km     JRQ/Jharokhas 14 km     GMX/Gurmura 17 km     PPNI/Paras Pani 19 km     DXN/Duddhinagar 21 km     SLBN/Salai Banwa 31 km     MXY/Mahuariya 33 km     BXLL/Billi Junction 35 km     OBR/Obra Dam 37 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 20 News Items  
Jun 09 2017 (07:33)  रेल लाइन के निर्माण को उठी आवाज (epaper.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 304817     
   Tags   Past Edits
Jun 09 2017 (07:33)
Station Tag: Renukut/RNQ added by पुरी कटड़ा माँ वैष्णों द्वार एक्सप्रेस🙏^~/1421836

Posted by: जय जगन्नाथ🙏^~  888 news posts
अनुरक्षण कार्य व मजदूरी के लिए जारी हो धन
जासं, गो¨वदपुर (सोनभद्र) : रेणुकूट से अंबिकापुर (छत्तीसगढ़) तक रेल लाइन का निर्माण कराये जाने की मांग तेज हो गई है। क्षेत्रीय लोगों ने रेलमंत्री सुरेश प्रभु को पत्र लिखकर कहा है कि यह आदिवासी, दलित बाहुल्य व अति पिछड़ा क्षेत्र है। तमाम औद्योगिक गतिविधियों के बावजूद क्षेत्रीय लोग उपेक्षित एवं बेरोजगार हैं, इसके साथ ही क्षेत्रीय लोगों का सरगुजा से जुड़ाव पुराना रहा है। 1सड़क निर्माण के अतिरिक्त अन्य सुविधा न होने से यातायात काफी महंगा एवं अधिक समय वाला होता है। छत्तीसगढ़ एवं ओड़ीसा से लोहा, बाक्साइड सहित अन्य भारी सामानों का भी परिवहन इसी मार्ग से होता है। रेणुकूट से अंबिकापुर तक नई रेल लाइन का निर्माण करा दिये जाने
...
more...
से यह क्षेत्र देश के हर कोने से जुड़ जायेगा, जिस कारण क्षेत्र एवं स्थानीय लोगों का समुचित विकास होगा।1रेल लाइन निर्माण के लिए पूर्व में सर्वे का कार्य भी हो चुका है जिसे अमली जामा पहना कर क्षेत्र का विकास किया जाय। कहा है कि प्रदेश एवं देश में भाजपा सरकार होने तथा विकास पर पूरी तरह समर्पित होने की बात कही। पत्र भेजने वालों में सुजीत कुमार सिंह, अमरकेश सिंह, श्याम चरण तिवारी, लालता जायसवाल, हरदीप सिंह, सूर्य प्रताप सिंह, श्रीराम, जोखन प्रसाद जायसवाल आदि हैं।जासं, गो¨वदपुर (सोनभद्र) : रेणुकूट से अंबिकापुर (छत्तीसगढ़) तक रेल लाइन का निर्माण कराये जाने की मांग तेज हो गई है। क्षेत्रीय लोगों ने रेलमंत्री सुरेश प्रभु को पत्र लिखकर कहा है कि यह आदिवासी, दलित बाहुल्य व अति पिछड़ा क्षेत्र है। तमाम औद्योगिक गतिविधियों के बावजूद क्षेत्रीय लोग उपेक्षित एवं बेरोजगार हैं, इसके साथ ही क्षेत्रीय लोगों का सरगुजा से जुड़ाव पुराना रहा है। 1सड़क निर्माण के अतिरिक्त अन्य सुविधा न होने से यातायात काफी महंगा एवं अधिक समय वाला होता है। छत्तीसगढ़ एवं ओड़ीसा से लोहा, बाक्साइड सहित अन्य भारी सामानों का भी परिवहन इसी मार्ग से होता है। रेणुकूट से अंबिकापुर तक नई रेल लाइन का निर्माण करा दिये जाने से यह क्षेत्र देश के हर कोने से जुड़ जायेगा, जिस कारण क्षेत्र एवं स्थानीय लोगों का समुचित विकास होगा।1रेल लाइन निर्माण के लिए पूर्व में सर्वे का कार्य भी हो चुका है जिसे अमली जामा पहना कर क्षेत्र का विकास किया जाय। कहा है कि प्रदेश एवं देश में भाजपा सरकार होने तथा विकास पर पूरी तरह समर्पित होने की बात कही। पत्र भेजने वालों में सुजीत कुमार सिंह, अमरकेश सिंह, श्याम चरण तिवारी, लालता जायसवाल, हरदीप सिंह, सूर्य प्रताप सिंह, श्रीराम, जोखन प्रसाद जायसवाल आदि हैं।जागरण संवाददाता, अनपरा (सोनभद्र) : वर्कर्स फ्रंट ने मुख्यमंत्री को पत्र भेज कर परियोजना के अनुरक्षण कार्यों व बकाया मजदूरी भुगतान के लिए समुचित धन जारी करने की मांग की है। पत्र में वर्कर्स फ्रंट के महामंत्री राजेश सचान ने कहा है कि लम्बे अरसे से शासन द्वारा पर्याप्त धन मुहैया न कराने के कारण परियोजना की विभिन्न यूनिटों का जरूरत के मुताबिक अनुरक्षण कार्य नहीं हो पा रहा है। इससे आयेदिन ट्रि¨पग व फाल्ट इत्यादि समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है। इससे बिजली उत्पादन पर विपरीत असर पड़ रहा है। 1प्रदेश में भारी बिजली के बाद भी लगातार थर्मल बैकिंग करायी जा रही है। श्री सचान ने रोष जताते हुए कहा कि अनुरक्षण कार्य कराने व बकाया मजदूरी के भुगतान हेतु शासन द्वारा धन निर्गत नहीं किया गया तो मजदूर आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।
Jun 02 2017 (10:12)  एक साल बीत गया, नहीं लगी वाटर वेंडिंग मशीन (www.prabhatkhabar.com)
back to top
New Facilities/TechnologyECR/East Central  -  

News Entry# 304157     
   Tags   Past Edits
Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: Garhwa Road Junction/GHD added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: Chopan/CPU added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: Chandrapura Junction/CRP added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: Renukut/RNQ added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: Barkakana Junction/BRKA added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: Singrauli/SGRL added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: Parasnath/PNME added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: DaltonGanj/DTO added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: Koderma Junction/KQR added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: Netaji SC Bose Junction Gomoh/GMO added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 02 2017 (10:12)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Posted by: Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~  401 news posts
धनबाद: धनबाद रेल मंडल के आधा दर्जन स्टेशनों पर यात्रियों को सस्ता ठंडा पानी उपलब्ध कराना था. इसके लिए एक साल पहले ही रेलवे बोर्ड द्वारा आदेश दिया गया था. धनबाद सहित अन्य स्टेशनों पर वॉटर वेंडिंग मशीनें लगाने की जिम्मेवारी आरआरसीटीसी को दी गयी थी. लेकिन आज तक आइआरसीटीसी द्वारा वाटर वेंडिंग मशीन नहीं लगाने से आम यात्रियों के लिए यह सुविधा सपना बनकर गयी है.

11 स्टेशनों पर लगायी जानी थी 36 मशीनें : धनबाद रेल मंडल के 11 स्टेशनों पर वाटर वेंडिंग मशीन लगाना है. यह
...
more...
मशीन ए वन, ए व बी ग्रेड के स्टेशनों पर लगायी जानी है. इसमें धनबाद स्टेशन पर नौ, कोडरमा में पांच, डालटेनगंज में चार, पारसनाथ में दो, सिंगरौली में दो, गोमो में चार, बरकाकाना में दो, गढ़वा रोड में दो, रेणुकुट में दो, चंद्रपुरा में दो व चोपन स्टेशन पर दो मशीन, कुल 36 मशीन लगायी जानी है. धनबाद रेल मंडल के अधिकारियों ने बताया कि आइआरसीटीसी को कई माह पहले सभी स्टेशनों पर मशीन लगाने के लिए स्थान का चयन कर दे दिया गया है, लेकिन अब तक मशीन नहीं लगायी गयी है.

यात्रियों को हो रही परेशानी: धनबाद समेत इन सभी स्टेशनों से सफर करने वाले यात्रियों को ठंडा पानी के लिए 15 और 20 रुपये में बोतलबंद पानी खरीदा पड़ रहा है. अगर मशीनें लग जाती तो यात्रियों को 1 रुपए में एक गिलास और 5 रुपए में 1 लीटर ठंडा आरओ वॉटर मिल जाता.
Apr 26 2017 (07:38)  रेलवे के रनिंग स्टाफ की भूख हड़ताल शुरू (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 300804     
   Tags   Past Edits
Apr 26 2017 (07:38)
Station Tag: Singrauli/SGRL added by 30547 30549 30553 30558 For TATA😍😘^~/1421836

Apr 26 2017 (07:38)
Station Tag: Renukut/RNQ added by 30547 30549 30553 30558 For TATA😍😘^~/1421836

Apr 26 2017 (07:38)
Station Tag: Chopan/CPU added by 30547 30549 30553 30558 For TATA😍😘^~/1421836

Apr 26 2017 (07:38)
Station Tag: Obra Dam/OBR added by 30547 30549 30553 30558 For TATA😍😘^~/1421836

Posted by: जय जगन्नाथ🙏^~  888 news posts
जागरण संवाददाता, ओबरा (सोनभद्र) : आल इंडिया रनिंग स्टाफ एसोसियेशन तथा आल इंडिया गार्ड कांउसिल से जुड़े गार्ड, ड्राइवरों सहित अन्य रनिंग स्टाफ की 36 घंटे की भूख हड़ताल मंगलवार सुबह आठ बजे से हो गयी। जो बुधवार की शाम तक चलेगी। 1 हालांकि क्षेत्रीय यातायात प्रबंधक चोपन अमरेश कुमार ने बताया कि हड़ताल का कोई असर नहीं पड़ा है और स्थिति सामान्य है। चोपन सहित सिंगरौली, ओबरा, रेणुकूट सहित तमाम जगहों से रनिंग स्टाफ के भूख हड़ताल पर रहने की खबरें मिली हैं। ऑल इंडिया रनिंग स्टाफ एसोसियेशन के मंडल संगठन सचिव आरपी मेहता ने बताया कि हमारे सभी सदस्यों ने भूखे पेट रहकर भीषण गर्मी में काम जारी रखा है। हमारी जायज मांगों को लेकर रेलवे बोर्ड को सकारात्मक रुख दिखाना होगा।उधर रेल प्रशासन ने हड़ताल को अवैध घोषित कर दिया, साथ ही हर दो घंटे में इसका अपडेट देने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। आरपीएफ...
more...
ने किसी भी लॉबी के बाहर टेंट आदि लगाने की अनुमति नहीं दी। ऐसे में लोग फर्श पर बैठ गए। लोगों ने कहा कि भीषण गर्मी की वजह से रेलवे के अधिकारियों को ट्रेन रुकने की चिंता नहीं है। 1 डर इस बात की है कि यदि किसी स्टाफ को भूखे रहने की वजह से कुछ हो गया तब क्या होगा। प्रशासन को लग रहा है कि भीषण गर्मी में भूखे पेट गाड़ी चलाने से कहीं कोई दिक्कत न हो जाय।जागरण संवाददाता, ओबरा (सोनभद्र) : आल इंडिया रनिंग स्टाफ एसोसियेशन तथा आल इंडिया गार्ड कांउसिल से जुड़े गार्ड, ड्राइवरों सहित अन्य रनिंग स्टाफ की 36 घंटे की भूख हड़ताल मंगलवार सुबह आठ बजे से हो गयी। जो बुधवार की शाम तक चलेगी। 1 हालांकि क्षेत्रीय यातायात प्रबंधक चोपन अमरेश कुमार ने बताया कि हड़ताल का कोई असर नहीं पड़ा है और स्थिति सामान्य है। चोपन सहित सिंगरौली, ओबरा, रेणुकूट सहित तमाम जगहों से रनिंग स्टाफ के भूख हड़ताल पर रहने की खबरें मिली हैं। ऑल इंडिया रनिंग स्टाफ एसोसियेशन के मंडल संगठन सचिव आरपी मेहता ने बताया कि हमारे सभी सदस्यों ने भूखे पेट रहकर भीषण गर्मी में काम जारी रखा है। हमारी जायज मांगों को लेकर रेलवे बोर्ड को सकारात्मक रुख दिखाना होगा।उधर रेल प्रशासन ने हड़ताल को अवैध घोषित कर दिया, साथ ही हर दो घंटे में इसका अपडेट देने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया गया है। आरपीएफ ने किसी भी लॉबी के बाहर टेंट आदि लगाने की अनुमति नहीं दी। ऐसे में लोग फर्श पर बैठ गए। लोगों ने कहा कि भीषण गर्मी की वजह से रेलवे के अधिकारियों को ट्रेन रुकने की चिंता नहीं है। 1 डर इस बात की है कि यदि किसी स्टाफ को भूखे रहने की वजह से कुछ हो गया तब क्या होगा। प्रशासन को लग रहा है कि भीषण गर्मी में भूखे पेट गाड़ी चलाने से कहीं कोई दिक्कत न हो जाय।
Apr 22 2017 (06:13)  रेलवे बोर्ड के सदस्य ने किया निरीक्षण (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 300382     
   Tags   Past Edits
Apr 22 2017 (06:13)
Station Tag: Renukut/RNQ added by दुर्ग निज़ामुद्दीन हमसफ़र भिलाई WAP7 के संग😍😘^~/1421836

Apr 22 2017 (06:13)
Station Tag: Gurmura/GMX added by दुर्ग निज़ामुद्दीन हमसफ़र भिलाई WAP7 के संग😍😘^~/1421836

Apr 22 2017 (06:13)
Station Tag: Salai Banwa/SLBN added by दुर्ग निज़ामुद्दीन हमसफ़र भिलाई WAP7 के संग😍😘^~/1421836

Posted by: जय जगन्नाथ🙏^~  888 news posts
जागरण संवाददाता, ओबरा (सोनभद्र) : यात्रियों की सुविधाओं के संबंध में निरीक्षण के चल रहे अभियान के दौरान रेलवे बोर्ड के सदस्य बृजेश पांडेय ने सलईबनवा, गुरमुरा एवं रेणुकूट रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। इस दौरान सलईबनवा में पेयजल और शौचालय में पानी की दिक्कत सामने आई। गुरमुरा स्टेशन पर तीन साल से ठेकेदार की लापरवाही से अधूरे शौचालय को जल्द चालू कराने का निर्देश दिया गया। यहां पर मुख्य मार्ग से स्टेशन तक सड़क न होने की समस्या सामने आई। रेणुकूट स्टेशन पर निरीक्षण के दौरान खान पान स्टाल पर अव्यवस्था दिखी। यहां रेट सूची नहीं लगी थी। यात्रियों ने श्री पाण्डेय से अजमेर-हाबड़ा,अजमेर-संतरागाक्षी के ठहराव की मांग की। इस दौरान उन्होंने स्टेशन अधीक्षक अवधेश कुमार से वार्ता कर यात्रियों की सुविधा से संबंधित सभी समस्याओं के निराकरण की बात की। इस दौरान उनके साथ में संजय सिंह, सत्येन्द्र पाण्डेय,रोहित श्रीवास्तव आदि थे।जागरण संवाददाता, ओबरा (सोनभद्र) : यात्रियों की सुविधाओं...
more...
के संबंध में निरीक्षण के चल रहे अभियान के दौरान रेलवे बोर्ड के सदस्य बृजेश पांडेय ने सलईबनवा, गुरमुरा एवं रेणुकूट रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। इस दौरान सलईबनवा में पेयजल और शौचालय में पानी की दिक्कत सामने आई। गुरमुरा स्टेशन पर तीन साल से ठेकेदार की लापरवाही से अधूरे शौचालय को जल्द चालू कराने का निर्देश दिया गया। यहां पर मुख्य मार्ग से स्टेशन तक सड़क न होने की समस्या सामने आई। रेणुकूट स्टेशन पर निरीक्षण के दौरान खान पान स्टाल पर अव्यवस्था दिखी। यहां रेट सूची नहीं लगी थी। यात्रियों ने श्री पाण्डेय से अजमेर-हाबड़ा,अजमेर-संतरागाक्षी के ठहराव की मांग की। इस दौरान उन्होंने स्टेशन अधीक्षक अवधेश कुमार से वार्ता कर यात्रियों की सुविधा से संबंधित सभी समस्याओं के निराकरण की बात की। इस दौरान उनके साथ में संजय सिंह, सत्येन्द्र पाण्डेय,रोहित श्रीवास्तव आदि थे।
Feb 15 2017 (21:06)  100 किमी प्रति घंटा की गति से दौड़ेंगी ट्रेनें (www.jagran.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 293982   Blog Entry# 2166005     
   Tags   Past Edits
Feb 15 2017 (21:06)
Station Tag: Dhanbad Junction/DHN added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^/100643

Feb 15 2017 (21:06)
Station Tag: Renukut/RNQ added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^/100643

Feb 15 2017 (21:06)
Station Tag: Chopan/CPU added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^/100643

Feb 15 2017 (21:06)
Station Tag: Garhwa Road Junction/GHD added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^/100643

Feb 15 2017 (21:06)
Station Tag: Singrauli/SGRL added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^/100643

Posted by: Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~  401 news posts
ओबरा (सोनभद्र) : देश के सबसे ज्यादा व्यस्त औद्योगिक मालवाहक रेल मार्गों में शुमार चोपन-गढ़वा-¨ सिंगरौली रेल मार्ग पर आधुनिकीकरण की प्रक्रिया तेज हो गयी है। रेलवे ट्रैक के जीर्णोद्धार, विद्युतीकरण एवं दोहरीकरण की प्रक्रिया के पूरा होने के बाद इस मार्ग पर 100 किमी प्रतिघंटा की गति से ट्रेनें दौड़ सकेंगी। पूर्व-मध्य रेलवे के धनबाद मंडल के अंतर्गत आने वाले इस मार्ग पर विद्युतीकरण के साथ सिग्नल के आधुनिकीकरण का कार्य तेजी से चल रहा है।
अलग-अलग फेज में बांटा गया काम
छह फेज में आधुनिकीकरण का कार्य बांटा गया है। सिग्नलों
...
more...
को आधुनिक कर दिया गया है। विद्युतीकरण के परीक्षण के तौर पर गढ़वा से मरालग्राम तक इलेक्ट्रिक ट्रेन चलाई जा रही है। इसके अलावा दोहरीकरण का कार्य भी तेजी से चल रहा है। देश के सबसे बड़े औद्योगिक क्षेत्र के मुख्य परिवहन आधार चोपन-गढ़वा- सिंगरौली रेलमार्ग पर बढ़ती व्यस्तता तथा काफी पुराना होने के मद्देनजर रेल मंत्रालय ने इस पर गंभीर होते हुए भविष्य के लिहाज से इसका विकास करने की योजना तेज कर दी है। वर्तमान में एकल मार्ग तथा ट्रैक के काफी पुराने होने की वजह से परियोजनाओं के माल पहुंचने में देरी होती है। इसके कारण यात्री ट्रेनें भी अक्सर विलंबित हो जाती हैं। ऐसे में गत कई दशक से उपेक्षा का शिकार रहे गढ़वा-चोपन- सिंगरौली रेलमार्ग का आधुनिकीकरण बड़ा कदम है।
महत्वपूर्ण है रेलमार्ग
चोपन-गढ़वा-सिंगरौली रेलमार्ग औद्योगिक रूप से काफी महत्वपूर्ण रेलमार्ग है। देश की कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं की निर्भरता इस रेलमार्ग पर है। अगर इस मार्ग पर नजर डाला जाए तो ओबरा तापीय परियोजना, डाला सीमेंट फैक्ट्री,हिंडाल्को एल्युमीनियम प्लांट, अनपरा तापीय परियोजना, बीजपुर एवं शक्तिनगर तापीय परियोजना के साथ एनटीपीसी एवं सिंगरौली स्थित तमाम परियोजनाओं को कोयला एवं तेल इसी मार्ग से जाता है। इसके अलावा एनसीएल का कोयला भी इसी मार्ग से जाता है। जिसके कारण इसे देश के सबसे महत्वपूर्ण मालवाहक रेलमार्ग में शुमार किया जाता है। वर्तमान में आधा दर्जन से ज्यादा नई तापीय परियोजनाओं की स्थापना के साथ पुरानी परियोजनाओं के विस्तारीकरण की योजना चल रही है। इन परियोजनाओं की वजह से इस ट्रैक की व्यस्तता में भारी इजाफा होगा,लिहाजा इस ट्रैक के आधुनिकीकरण की आवश्यकता थी।
दोहरीकरण के लिए 2675.64 करोड़
रमना-यानि चोपन-गढ़वा-सिंगरौली रेलवे लाइन लगभग 160 किलोमीटर लंबी इस लाइन के दोहरीकरण पर 2675.64 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इसके 2019-20 तक पूरा होने की संभावना है। धनबाद डिवीजन की यह लाइन झारखंड में गढ़वा, मध्य प्रदेश में सिंगरौली तथा उत्तर प्रदेश में सोनभद्र जिलों से गुजरती है। अभी इस सगिल लाइन पर 105 फीसद यातायात घनत्व है जिससे ट्रेनों में विलंब होता है।

3 posts - Thu Feb 16, 2017 - are hidden. Click to open.

1907 views
Mar 17 2017 (21:58)
BJ~   2228 blog posts
Re# 2166005-9            Tags   Past Edits
18613 covered 22 Kms in 13 minutes from GHD to RMF " Aveg speed 101.54, including accelaration, track changfing at both the station and declaration...
which proves that 110 kmph iska MPS hai.
Page#    Showing 1 to 20 of 20 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.