Full Site Search  
Mon Jun 26, 2017 04:03:28 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Medium; Platform Pic; Large Station Board;
Medium; Platform Pic; Small Station Board;

REWA/Rewa (Terminal) (2 PFs)
     रीवा

Track: Construction - Single-Line Electrification

Type of Station: Terminus
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 1
Number of Originating Trains: 10
Number of Terminating Trains: 9
NH-7, Satna road, Goadhar, Rewa 486002
State: Madhya Pradesh
Elevation: 307 m above sea level
Zone: WCR/West Central
Division: Jabalpur
4 Travel Tips
No Recent News for REWA/Rewa (Terminal)
Nearby Stations in the News

Rating: 3.8/5 (44 votes)
cleanliness - good (6)
porters/escalators - good (6)
food - good (5)
transportation - good (6)
lodging - good (5)
railfanning - good (6)
sightseeing - good (5)
safety - good (5)

Nearby Stations

TZR/Turki Road 13 km     BGHI/Baghai Road 23 km     HNM/Hinautaramban 29 km     SKAR/Sakariya 37 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 75 News Items  next>>
Jun 22 2017 (08:54)  अब सितंबर तक चलेगी भोपाल-रीवा के बीच स्पेशल ट्रेन (naidunia.jagran.com)
back to top
New/Special Trains

News Entry# 306138     
   Tags   Past Edits
Jun 22 2017 (08:54)
Station Tag: Rewa (Terminal)/REWA added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Jun 22 2017 (08:54)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by ये क्या हो रहा है इंडियन रेलवे में~/1469143

Posted by: The Phenomenal One~  686 news posts
भोपाल। रेलवे ने यात्री सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए भोपाल से रीवा के बीच चलने वाली अप-डाउन की भोपाल-रीवा सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन की अवधि बढ़ा दी है। अब यह ट्रेन 30 सितंबर तक चलेगी।
रेलवे से मिली जानकारी के मुताबिक ट्रेन क्रमांक 02196 भोपाल-रीवा सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन और 02195 रीवा-भोपाल सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन की अवधि 24 जून से 30 सितंबर तक बढ़ाई गई है। यह स्पेशल ट्रेन दोनों स्टेशनों से प्रत्येक शनिवार चलेगी। ट्रेन की अवधि में विस्तार से भोपाल से रीवा के बीच सफर करने वाले यात्रियों को सुविधा होगी।
Jun 09 2017 (00:10)  पमरे की 6 ट्रेनों को लगा चेनपुलिंग का रोग (pradeshtoday.com)
back to top
WCR/West Central  -  

News Entry# 304787     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~  401 news posts
जबलपुर
मण्डल व पमरे जोन मुख्यालय के मुख्य स्टेशन जबलपुर से छूटने वाली चार इंटरसिटी तथा दो सुपरफास्ट ट्रेनों को चेनपुलिंग का रोग लगा हुआ है। इन ट्रेनों में जब तक दो से तीन बार प्लेटफॉर्म पर ही चेनपुलिंग न हो जाए तब तक ये प्लेटफॉर्म के बाहर नहीं निकल पाती हैं। चेन पुलिंग से ग्रसित इन ट्रेनों में हबीबगंज-जबलपुर, रीवा-जबलपुर, जबलपुर- सिंगरौली, जबलपुर-अंबिकापुर के अलावा महाकोशल एवं अमरावती एक्सप्रेस आदि शामिल हैं।

इन
...
more...
ट्रेनों में रोजाना चेनपुलिंग का कारण जानने पर पता चला कि जबलपुर निजामुद्दीन तथा जबलपुर अमरावती के लिए चलने वाली ट्रेनों में तथा रीवा, सिंगरौली, हबीबगंज एवं अम्बिकापुर जाने वाली ट्रेनों के रैक में एक जैसे डेस्टिनेशन बोर्ड लगे हुए हैं, जिसके चलते यात्री अक्सर असमंजस की स्थिति में पड़कर भ्रमित हो जाते हैं और बाद में ट्रेन के छूटने पर उन्हें उतरने के लिए मजबूरन चेनपुलिंग करना पड़ता है।

क्या होता है डेस्टिनेशन बोर्ड
ट्रेन अपने प्रारंभिक स्टेशन से चलकर अंतिम स्टेशन पर कहां खतम होगी इस बात की यात्रियों को जानकारी देने के लिए ट्रेन की सभी बोगियों में बोर्ड लगाए जाते हैं,जिसे डेस्टिनेशन बोर्ड कहा जाता है।

बोर्ड बदलवाना नहीं चाहते C&W विभाग के अधिकारी
जबलपुर से निजामुद्दीन जाने वाली महाकोशल सुपरफास्ट ट्रेन का सुबह 9.30 बजे जबलपुर आगमन होता है और बाद में महाकोशल ट्रेन के रैक को रात्रि 8:50 बजे अमरावती एक्सप्रेस बनाकर (नागपुर) के लिए दौड़ा दिया जाता है। वहीं अमरावती ट्रेन के रैक को निजामुद्दीन के लिए दौड़ा दिया जाता है। बार-बार बोर्ड बदलना न पड़े इसके चलते सीएण्डडब्ल्यू विभाग के अधिकारी यात्रियों की इस समस्या पर खुद चुप्पी साधे हुए हैं।
Jun 08 2017 (13:58)  बैलगाड़ी हो गई अपनी रेलगाड़ी, पढ़ें 'नेताजी कद चलास्यो रेल'... (m.rajasthanpatrika.patrika.com)
back to top
NWR/North Western  -  

News Entry# 304759     
   Tags   Past Edits
Jun 08 2017 (13:58)
Station Tag: Sikar Junction/SIKR added by First Bikaner Delhi flight on 17 June/532278

Jun 08 2017 (13:58)
Station Tag: Rewa (Terminal)/REWA added by First Bikaner Delhi flight on 17 June/532278

Jun 08 2017 (13:58)
Station Tag: Rewari Junction/RE added by First Bikaner Delhi flight on 17 June/532278

Jun 08 2017 (13:58)
Station Tag: Rewa (Terminal)/REWA added by First Bikaner Delhi flight on 17 June/532278

Jun 08 2017 (13:58)
Station Tag: Jhun Jhunu/JJN added by First Bikaner Delhi flight on 17 June/532278

Jun 08 2017 (13:58)
Station Tag: Loharu Junction/LHU added by First Bikaner Delhi flight on 17 June/532278

Jun 08 2017 (13:58)
Train Tag: Sikar - Rewari Passenger/59729 added by First Bikaner Delhi flight on 17 June/532278

Jun 08 2017 (13:58)
Train Tag: Rewari - Sikar Passenger/59730 added by First Bikaner Delhi flight on 17 June/532278

Jun 08 2017 (13:58)
Train Tag: Rewari - Sikar Passenger/59728 added by First Bikaner Delhi flight on 17 June/532278

Jun 08 2017 (13:58)
Train Tag: Sikar - Rewari Passenger/59727 added by First Bikaner Delhi flight on 17 June/532278

Posted by: Tejas get New Locomative Engine  43 news posts
सीकर. ।
सीकर से रेवाड़ी के बीच ब्रॉडगेज पर चलने वाली अपनी ट्रेन की गति यात्रियों पर भारी पड़ रही है। सूत्रों की माने तो इस ट्रेन की गति ट्रेक्टर की गति से थोड़ी ही ज्यादा है। ट्रेन की गति धीमी होने से यात्री समय पर अपने गंतव्य पर नहीं पहुंच पा रहे है। इस ट्रेन की औसत गति औसत गति 36 से 38 किलोमीटर प्रति घंटा है। जबकि अधिकतर ट्रैक्टरों की अधिकतम स्पीड 35 किलोमीटर प्रति घंटे की होती है। सीकर से रेवाड़ी के बीच सुबह छह बजकर चालीस मिनट पर प्लेटफार्म नम्बर तीन से पैसेंजर ट्रेन रवाना होती है। यह ट्रेन दोपहर बाद करीब साढ़े बारह बजे रेवाड़ी पहुंचती है। सीकर से रेवाड़ी के बीच दूरी लगभग 213 किलोमीटर
...
more...
है, लेकिन यह छोटी सी दूरी पार करने में भी हमारी बड़ी रेल को पूरे पांच घंटे और पचास मिनट का समय लग जाता है। जगह-जगह अधिक समय के ठहराव से यात्री बेहद परेशान हैं। गति धीमी होने के कारण अनेक उपभोक्ता तो सड़क मार्ग से यात्रा कर रहे हैं।
उठा चुके हैं मांग
रेल सलाहकार समिति के सदस्य सुरेश अग्रवाल ने बताया कि वे उत्तर पश्चिम रेलवे के डीआरएम सहित अन्य अधिकारियों से इस ट्रेन की गति बढ़ाने की मांग लगातार उठा रहे हैं, लेकिन अभी गति नहीं बढ़ रही। अब नए सिरे से फिर से स्पीड बढ़ाने की मांग उठाई जाएगी।
×
लुहारू में लगता ज्यादा समय
अनेक जगह के स्टेशनों पर रेल समय से पहले भी पहुंच जाती है, लेकिन निर्धारित समय से पहले आगे के स्टेशन से चल नहीं सकती है,ऐसे में स्टेशन पर निर्धारित ठहराव से ज्यादा समय ट्रेन को रोकना पड़ रहा है। इसके अलावा हरियाणा के लुहारू में ट्रेन का इंजन बदला जाता है। वहां ट्रेन सुबह 9 बजकर 45 मिनट पर पहुंच जाती है, लेकिन यहां इंजन बदलने में 25 मिनट का समय लगता है। इंजन बदलने के बाद ट्रेन यहां से दस बजकर दस मिनट पर रेवाड़ी के लिए रवाना होती है।
Jun 07 2017 (05:49)  महू से चलेगी इंदौर-रीवा एक्सप्रेस (naidunia.jagran.com)
back to top
Other NewsWR/Western  -  

News Entry# 304539   Blog Entry# 2310715     
   Tags   Past Edits
Jun 07 2017 (05:49)
Station Tag: Rewa (Terminal)/REWA added by SMILER~/77823

Jun 07 2017 (05:49)
Station Tag: Mhow/MHOW added by SMILER~/77823

Jun 07 2017 (05:49)
Station Tag: Indore Junction BG/INDB added by SMILER~/77823

Jun 07 2017 (05:49)
Train Tag: Indore - Rewa Express/11704 added by SMILER~/77823

Jun 07 2017 (05:49)
Train Tag: Rewa - Indore Express/11703 added by SMILER~/77823

Posted by: SMILER~  105 news posts
इंदौर। नईदुनिया प्रतिनिधि
रेलवे बोर्ड ने इंदौर-रीवा एक्सप्रेस का विस्तार महू तक करने का फैसला लिया है। हालांकि इस बारे में अब तक कोई अधिकृत जानकारी नहीं दी गई है, लेकिन 9 जून उज्जैन प्रवास के दौरान रेल मंत्री सुरेश प्रभु के हाथों इस ट्रेन को महू रवाना करने का कार्यक्रम बन रहा है। सप्ताह में तीन दिन चलने वाली इस ट्रेन का विस्तार महू तक इसलिए किया जा रहा है, क्योंकि इंदौर में यह कई घंटे खड़ी रहती है। महू तक विस्तार होने पर बमुश्किल घंटाभर का समय बढ़ेगा और इतना ही समय महू से इंदौर आने में लगेगा।
अभी
...
more...
इंदौर-रीवा एक्सप्रेस (11704) हर सोमवार, बुधवार और शुक्रवार रात 9.05 बजे इंदौर से चलती है और अगले दिन 12.15 बजे रीवा पहुंचती है, जबकि रीवा-इंदौर एक्सप्रेस (11703) हर रविवार, मंगलवार और गुरुवार रात 11.10 बजे रीवा से रवाना होकर अगले दिन दोपहर 3.05 बजे इंदौर आती है। इस तरह करीब छह घंटे ट्रेन का रैक इंदौर यार्ड में फालतू खड़ा रहता है। इसी समय का उपयोग करते हुए रेलवे ने ट्रेन को महू तक बढ़ाने का फैसला लिया है। बोर्ड स्तर पर इसकी तैयारियां हो गई हैं और बड़ी तकनीकी समस्या भी नहीं है। सूत्रों के मुताबिक उज्जैन प्रवास के दौरान स्टेशन से ही रेल मंत्री रीवा एक्सप्रेस को महू के लिए रवाना करेंगे। इंदौर-महू रूट पर सैफी नगर, लोकमान्य नगर, राजेंद्र नगर, राऊ और हरनियाखेड़ी स्टेशन हैं, लेकिन अभी स्पष्ट नहीं है कि ट्रेन को किन-किन स्टेशनों पर ठहराव दिया जाएगा। संभवतः राऊ और राजेंद्र नगर स्टेशन पर ट्रेन को स्टॉपेज मिलेगा।
नाम भी बदलेगा, महू को मिलेगी बड़ी लाइन की पहली लंबी दूरी वाली ट्रेन
महू तक विस्तार होने पर इंदौर-रीवा एक्सप्रेस का नाम डॉ. आंबेडकर नगर (महू)-रीवा एक्सप्रेस हो जाएगा। महू के यात्रियों को मिलने वाली लंबी दूरी वाली यह पहली ट्रेन होगी। सूत्रों के मुताबिक जैसे-जैसे महू में मेंटेनेंस सुविधाओं का विकास होगा, कुछ अन्य ट्रेनों के विस्तार की भी संभावना है। इनमें इंदौर-भोपाल पैसेंजर, इंदौर-नागदा पैसेंजर, इंदौर-हबीबगंज इंटरसिटी, इंदौर-मक्सी पैसेंजर आदि शामिल हैं। महू स्टेशन पर अभी बड़ी लाइन के दो प्लेटफॉर्म (दो और तीन नंबर) हैं। एक नंबर प्लेटफॉर्म जब बड़ी लाइन में बदलेगा तो लंबी दूरी वाली कुछ अन्य ट्रेनों का भी महू तक विस्तार हो सकेगा। रतलाम-बांसवाड़ा डेमू ट्रेन का विस्तार भी फतेहाबाद-इंदौर के रास्ते महू तक हो सकता है

3 posts - Wed Jun 07, 2017 - are hidden. Click to open.

1692 views
Jun 08 2017 (17:21)
a2z~   1240 blog posts
Re# 2310715-4            Tags   Past Edits
Then it would be better to develop terminal at Mhow and extend some trains from INDB to Mhow else a new terminal facility should be developed in suburbs of Indore, parking trains at nearby stations is not good for safety of rakes.
Indore has very poor rail connectivity in comparison to its stature. It have a prominent place in air map of India. If Indore-Manmad project comes through, a INDB shall be required to cater a large number of trains.

1663 views
Jun 08 2017 (17:28)
Saurabh®~   2433 blog posts   38 correct pred (72% accurate)
Re# 2310715-5            Tags   Past Edits
Akola mhow gc is very much critical for indore to gain its stature that it enjoys in air travel.

1654 views
Jun 08 2017 (17:33)
Shivam~   4148 blog posts   1171 correct pred (87% accurate)
Re# 2310715-6            Tags   Past Edits
Mhow is aimed to be developed like that only
Jun 01 2017 (20:33)  आठ मांह मे नही हुआ मुआवजे का निर्धारण, कैसे आयेगी सीधी मे रेल (www.palpalindia.com)
back to top
Commentary/Human InterestWCR/West Central  -  

News Entry# 304132     
   Tags   Past Edits
Jun 01 2017 (20:33)
Station Tag: Lalitpur Junction/LAR added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 01 2017 (20:33)
Station Tag: Khajuraho/KURJ added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 01 2017 (20:33)
Station Tag: Satna Junction/STA added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 01 2017 (20:33)
Station Tag: Rewa (Terminal)/REWA added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Jun 01 2017 (20:33)
Station Tag: Singrauli/SGRL added by Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~/100643

Posted by: Few SF trains in NCR have silver spoon of PRIORITY*^~  401 news posts
ललितपुर सिंगरौली रेल के रीवा सीधी खण्ड के कार्य शुरू होने मे संदेह के बादल छंटे नही है केवल वाह वाही लेने जव तव घोषणाएं की जा रही है इतना ही नही बिना जमीन अधिग्रहण किये ही आठ मांह पूर्व रेल मंत्री को सीधी बुलाकर आधार सिला रखवा दिया गया था परंतु किसानों को भूमि अधिग्रहण की नोटिस तक नही दिया गया था जव कि स्थानीय सांसद लगातार रेल के कार्य की समीक्षा कर जल्द ही रेल का सुख सीधी वासियों को भोगने का आश्वासन दे रही है लेकिन जिस गति से भू-अर्जन का कार्य किया जा रहा है उससे तो नही लगता ही जनता को रेल का चढऩे का सपना जल्द पूरा हो सकेगा अव जव मुआवजा बितरण करने की घोषित की गई तारीख बीत गई तो सांसद अपने बचाव की मुद्रा मे आ गई है.
वे
...
more...
जिन अधिकारियों के कार्यो के तारीफों की पुल बांधा करती रही है अव उन्ही अधिकारियों के नही सुनने व गलत जानकारी दे देने का आरोप लगाकर अपने द्वारा किये जा रहे घोषणां पर अमल नही होने का कारण गिना रही है. बता दे कि सांसद ने खुद के प्रयास से राशि आवंटन कराने का दावा किया थे जिससे मुआवजा राशि वितरण की जा सके तो प्रशासन पर दबाव बनाकर मुआवजा राशि बांटने की तारीख भी घोषित करा दी थी किन्तु जिन गांवों से गुजरकर सीधी रेल आनी है उनका चयन किसानों का चयन ही नही हो पाया है तब मुआवजा किसका वितरण होगा इसका जबाव कोई देने को तैयार नही है कथित तौर पर रीवा सिंगरौली रेल लाइन को सांसद ने बजट दिलाने का न केवल दावा किया था बल्की 95 करोड़ के चेक जिला प्रशासन को देने की फोटो भी सोसल मीडिया मे वायरल हुई थी लेकिन मुआवजा राशि को रेल विभाग व राजश्व के विभागीय अधिकारियों की मनमानी से मुआवजा बितरण अधर मे अटक गया है जानकारों की माने तो मुआवजा की राशि तैयार तो कर ली गई है लेकिन भाजपा नेताओं ने श्रेय लेने के फेर मे बड़े नेताओं के हाथों बितरण कराने की योजना बना रहे है जिससे कि एक बड़ा तवका उनके अहसान फरोस रहे.
तहसीलों का चक्कर लगा रहे किसान
रेलवे लाईन बिछायें जाने के लिये टेंडर हो जाने मुआवजा तैयार कर लेने के जारी हो रही खवरों को सुनकर पढ़ कर वे किसान अपना मुआवजा राशि जानने कलेक्ट्रेट पहुंच रहे है जहां अधिकारी असलियत की जानकारी न दे कर एक दो दिन मे खाते मे पैसे पहुंचने का कस्तुरी रूपी आश्वासन दे रहे है बता दे कि कुछ समाचार के माध्यमों से यह प्रचारित किया गया था कि मई अंतिम दिन तक प्रभावित किसानों को को मुआवजा की राशि वितरित कर दी जायेगी इतना ही नही कैमोर पहाड़ मे कश्मीर की तर्ज पर टनल बनाने के भी समाचार प्रसारित कराये गये थे माना जा रहा है कि रेलवे द्वारा राजस्व विभाग को राशि नही दिया है यदि दिया है तो किसानों के पैसे का व्याज पाने के फेर प्रभावित किसानों को चक्कर लगवाया जा रहा है.
रोजगार के मापदंण्ड पता करते भटक रहे युवा
ललितपुर सिंगरौली रेल परियोजना के रीवा सीधी खण्ड मे रेल का काम शुरू करने की हो रही घोषणाओं को सुनकर जिन किसानों की जमीन प्रभावित हो रही है उस जमीन के किसान व उनके परिजन मुआवजा की राशि पाने के लिये कम रेल विभाग के द्वारा जमीन के बदले दी जाने वाली नौकरी के लिये क्या क्या मापदण्ड का निर्धारण किये गये है की पतासाजी करते भटक रहे है इसके लिये दलाली भी शुरू हो गई है गांव देहात से आने वाले लोगों को तरह तरह कि गुमराह पूर्ण जानकारी देकर भटकने के लिये विवस किया जा रहा है.
बारह गांव से आंगे नही बढी फाइल
रीवा सीधी रेल लाईन के लिये जिन गांवों को चिन्हांकन किया गया है उनकी संख्या भी नही बढ़ रही है चुरहट के 43 गांवों के अलावा भाजपा सरकार के तीन साल मे सीधी अनुविभाग के 12 गांवो को चिन्हित किया गया था वही आज भी है लेकिन एक भी गांव के किसानो की संख्या नही बताई जाती अव जव एक वार फिर परियोजना सुर्खियों मे है तव गांव के नाम का खुलासा किये बगैर चालू मांह मे मुआवजा बांट देने का दावा एसडीएम कर रहे है.
Page#    Showing 1 to 20 of 75 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.