Full Site Search  
Sun Apr 30, 2017 08:53:44 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;
Large Station Board;
Scenic; Front Entrance - Outside; Large Station Board;

SOP/Shivpur (3 PFs)
شیوپور     शिवपुर

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 13
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Jaunpur Rd, Varanasi
State: Uttar Pradesh
Elevation: 81 m above sea level
Zone: NR/Northern
Division: Lucknow Charbagh NR
No Recent News for SOP/Shivpur
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

BRPT/Birapatti 6 km     BSB/Varanasi Junction 6 km     MUV/Manduadih 8 km     BCY/Varanasi City 9 km     KEI/Kashi 11 km     BHLP/Bhulanpur 12 km     LOT/Lohta 12 km     BTP/Babatpur 13 km     BBRM/Baba Bhagwan Ram Halt 14 km     SRNT/Sarnath 16 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 4 of 4 News Items  
Nov 09 2016 (13:08)  कैंट स्टेशन कराएगा एयरपोर्ट का अहसास (m.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 285219     
   Tags   Past Edits
Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Bhadohi/BOY added by Varuna Express/93256

Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Lohta/LOT added by Varuna Express/93256

Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Kashi/KEI added by Varuna Express/93256

Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Shivpur/SOP added by Varuna Express/93256

Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Chaukhandi/CHH added by Varuna Express/93256

Nov 09 2016 (1:08PM)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by Varuna Express/93256

Posted by: Varuna Express  39 news posts
वाराणसी : यात्री सुविधा विस्तार के लिहाज से कैंट रेलवे स्टेशन अगले साल जून तक किसी हवाईअड्डे पर पहुंच जाने जैसा अहसास कराएगा। प्लेटफार्म नंबर एक, छह-सात व आठ नौ पर फर्श से छत तक आकर्षक लुक के साथ सेवाओं व सुविधाओं में भी यह स्तर नजर आएगा। रेलवे बोर्ड ने इस तरह के साज-संवार की जिम्मेदारी राइट्स संस्था को देने के साथ कार्य पूर्णता अवधि भी तय कर दी। कैंट स्टेशन पर जारी विस्तार परियोजनाओं के निरीक्षण पर आए उत्तर रेलवे के जीएम एके पुठिया ने मंगलवार को प्रेसवार्ता में यह जानकारी दी।
इस पार से उस पार नया एफओबी
सर्कुलेटिंग
...
more...
एरिया में निर्माणाधीन यात्री विश्रामालय से छावनी साइड को जाने के लिए नया फुट ओवर ब्रिज भी बनेगा। दस मीटर चौड़े एफओबी से सभी प्लेटफार्मो पर भी उतरा जा सकेगा। राइट्स संस्था इसे नवंबर 2017 तक मूर्त रूप देगी। इसके बाद पुराने एफओबी को भी ध्वस्त कर नए सिरे से निर्माण होगा। महाप्रबंधक ने दोनों परियोजनाओं के संबंध में कार्यदायी संस्था के संग मौके पर विचार विमर्श भी किया।
दो नई गुड्स लाइन, 4-5 सीध में
मालगाड़ियों के सुगम परिचालन को छावनी साइड में दो गुड्स लाइन बनेंगी। इसके लिए प्लेटफार्म नंबर चार-पांच को समानांतर होगा लेकिन नंबर तीन चौड़ा हो जाएगा। विस्तारीकरण की कवायद में चार -पांच के कुछ भवन ध्वस्त किए जाएंगे। जीएम पुठिया ने बताया कि पहले 8-10 मालगाड़ियां ही कैंट से गुजरती थीं, अब यह संख्या 18-20 है जो 25 तक जाएगी।
01 माह में मिलेगी छावनी की जमीन छावनी के 19 हजार वर्गमीटर भूखंड का हस्तांतरण एक माह में हो जाएगा। इसके साथ ही सेंकेंड इंट्री पर 3500 वर्ग मीटर में यात्री सुविधा विस्तार राइट्स शुरू कर देगी। अभी लिफ्ट व एक्सलेरेटर निर्माण हो रहा है जो दिसंबर तक पूरा हो जाएगा।
परियोजनाओं की समयावधि तय
यात्री शेल्टर, टूरिज्म सेंटर समेत सर्कुलेटिंग क्षेत्र में निर्माण, द्वितीय श्रेणी वेटिंग हाल, लोहता-सेवापुरी तक दो ब्लाक सेक्शन दोहरीकरण-विद्युतीकरण इसी साल पूरा हो जाएगा। जीएम ने कहा आआरआइ भवन जनवरी तक तैयार होगा।
रायशुमारी और विज्ञापन पर जोर
विकास कार्य रायशुमारी से ही होंगे। इसके तहत एक लाख सुझाव मिले हैं। रेल शिविर में 18-19 नवंबर को पीएम भी संबोधित करेंगे। जीएम ने कहा आय बढ़ाने को रेलवे किराया वृद्धि की बजाय दूसरे विकल्प तलाश रहा है। विज्ञापनों पर जोर है जो छोटे स्तर पर शुरू कर दिया गया है।
चौखंडी स्टेशन पर गुड्स शेड के लिए किया गया भूमि पूजन
कैंट स्टेशन पर तीन नए प्लेटफार्म निर्माण के लिए गुड्स शेड स्थानांतरित करने को जीएम ने चौखंडी में भूमि पूजन किया। इसके साथ ही लोहता व सेवापुरी स्टेशन का विंडो ट्रेलिंग निरीक्षण भी किया। सीसीएम देवेश मिश्रा, मुख्य संकेत एवं दूर संचार अभियंता अजय विजय वर्गीय, प्रधान मुख्य अभियंता, आरके अग्रवाल, मुख्य प्रशासनिक अधिकारी निर्माण पीके सांगी, मुख्य अभियंता राजीव सक्सेना, राइट्स के डीजीएम अशोक उपाध्याय, डीआरएम एके लाहोटी आदि थे।
Jun 05 2014 (08:41)  जानि‍ए वाराणसी रेलवे स्टेशन को वर्ल्ड क्लास बनाने का मास्टर प्लान (www.bhaskar.com)
back to top
New Facilities/Technology

News Entry# 179065     
   Tags   Past Edits
Jun 05 2014 (8:41AM)
Station Tag: Sarnath/SRNT added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:41AM)
Station Tag: Varanasi City/BCY added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:41AM)
Station Tag: Shivpur/SOP added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:41AM)
Station Tag: Lohta/LOT added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:41AM)
Station Tag: Kashi/KEI added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:41AM)
Station Tag: Manduadih/MUV added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:41AM)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:41AM)
Train Tag: Shiv Ganga Express/12560 added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Posted by: LHB for MahaNagari Exp  31 news posts
वाराणसी. केंद्रीय रेल मंत्रालय इन दिनों पीएम नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के कैंट स्टेशन को वर्ल्ड क्लास स्टेशन बनाने की कवायद में जुट गया है। इसी कड़ी में यहां के रेलवे स्‍टेशनों के लि‍ए 225 करोड़ रुपए का मास्टर प्लान तैयार कि‍या गया है। इन स्‍टेशनों में कैंट रेलवे स्टेशन के अलावा मुख्‍य रूप से वाराणसी सिटी स्टेशन, सारनाथ और मंडुआडीह स्टेशन आदि‍ शामि‍ल हैं। 30 करोड़ रुपए कैंट रेलवे स्टेशन के यार्ड रिमॉडलिंग के लिए पास भी हो चुके हैं।

बताते चलें कि‍ दिल्ली से आए कई
...
more...
वि‍शेषज्ञों और अधिकारि‍यों की टीम ने बुधवार को कैंट रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया। इस दौरान उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक प्रदीप कुमार ने dainikbhaskar.com से बातचीत में बताया कि मास्‍टर प्‍लान के अनुसार 225 करोड़ रुपए का प्रपोजल तैयार कि‍या गया है, जिसे जल्द ही पास करा लिया जाएगा। उन्‍होंने बताया कि‍ 30 करोड़ रुपए कैंट स्टेशन के यार्ड रिमॉडलिंग के लिए पास हो चुके हैं। वाराणसी से दिल्ली के बीच पहली बुलेट ट्रेन को लेकर भी विचार और प्लानिंग चल रही है।
उन्‍होंने बताया कि‍ दिल्ली में पुरानी दिल्ली स्टेशन, निजामुद्दीन, अशोक बिहार, नई दिल्ली स्टेशन का विकास किया गया है। उसी तर्ज पर कैंट रेलवे स्टेशन, वाराणसी सिटी, सारनाथ और मंडुआडीह स्टेशन को विकसित किया जाएगा। निरीक्षण के दौरान डीआरएम जगदीश राय, वाणिज्य प्रबंधक अश्वनी कुमार, परिचालन प्रबंधक विकास चौबे आदि‍ उपस्‍थि‍त थे।
Jun 05 2014 (08:22)  यह है मास्टर प्लान : वाराणसी (epaper.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 179062     
   Tags   Past Edits
Jun 05 2014 (8:22AM)
Station Tag: Shivpur/SOP added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:22AM)
Station Tag: Kashi/KEI added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:22AM)
Station Tag: Lohta/LOT added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:22AM)
Station Tag: Manduadih/MUV added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Jun 05 2014 (8:22AM)
Station Tag: Varanasi Junction/BSB added by SANSKRATIK RAJDHANI/556763

Posted by: LHB for MahaNagari Exp  31 news posts
यह है मास्टर प्लान1वाराणसी: परिचालन को गति देना, सफाई व्यवस्था में तेजी लाना, पेयजल व खानपान व्यवस्था सुधारना, छोटे प्लेटफार्मो का विस्तार, फुटओवर ब्रिज का निर्माण, छावनी साइड के प्रवेश द्वार का विस्तार, छावनी साइड में स्वचालित सीढ़ी, प्रतीक्षालय व विश्रमालय का अपग्रेड आदि। 1शहरी स्टेशनों में समन्वय-निरीक्षण के बाद स्टेशन प्रबंधक कक्ष में महाप्रबंधक मीडिया से मुखातिब हुए। उन्होंने कहा कि कैंट स्टेशन पर टेनों का लोड कम करने व यात्रियों की भीड़ के बाबत नगरीय स्टेशनों मंडुवाडीह, वाराणसी सिटी, काशी व शिवपुर के विस्तार की जरूरत है ताकि नई टेनें नगरीय स्टेशनों से चलाई जा सकें। इसके लिए उत्तर रेलवे व पूवरेत्तर रेलवे में समन्वय स्थापित करने की जरूरत है। इस पर भी बल दिया जा रहा है ताकि टेनों के परिचालन में कोई बाधा न आए। 1सुरक्षा पर विशेष बल-कैंट रेलवे स्टेशन पर अब इंटीग्रेटेड सिक्यूरिटी सिस्टम लगाए जाएंगे। इसके तहत सीसीटीवी कैमरे, बैग स्कैनर आदि लगाने की...
more...
योजना है।1नई टेनें संभव-एक प्रश्न के उत्तर में महाप्रबंधक ने कहा कि आने वाले रेल बजट में कैंट स्टेशन से नई दिल्ली, मुंबई, बंगलुरु, गुवाहाटी के लिए नई टेनों का प्रस्ताव हो सकता है। 1शिवगंगा पर गोलमोल जवाब-सुपरफास्ट शिवगंगा एक्सप्रेस को कैंट की बजाय मंडुवाडीह स्टेशन से चलाने के सवाल पर जीएम ने गोलमोल जवाब दिया। उन्होंने कहा कि अभी स्थिति स्पष्ट नहीं है। क्या शिवगंगा के बदले कैंट स्टेशन से चलने वाली अन्य गाड़ियां मंडुवाडीह से नहीं चलाई जा सकतीं। इस प्रश्न के उत्तर में श्री कुमार ने कहा कि यह बिल्कुल संभव है। 1 स्टेशनों के निरीक्षण में मुख्य परिचालन प्रबंधक मो. जमशेद, मुख्य वाणिज्य प्रबंधक अशोक कुमार, मुख्य इंजीनियर एके हरित, मुख्य अभियंता निर्माण ललित कपूर, लखनऊ मंडल के डीआरएम जगदीप राय, वाराणसी के डीआरएम अजय विजयवर्गीय, लखनऊ के सीनियर डीसीएम अश्विनी श्रीवास्तव, वाराणसी के सीनियर डीसीएम सीएल साह, मुख्य क्षेत्रीय प्रबंधक पंकज सक्सेना, स्टेशन प्रबंधक एके पांडेय आदि शामिल रहे।
Mar 10 2014 (23:18)  रेल पहियों के बीच से गुजरते हैं मासूम (www.jagran.com)
back to top
Other NewsNR/Northern  -  

News Entry# 171003     
   Tags   Past Edits
Mar 10 2014 (11:18PM)
Station Tag: Shivpur/SOP added by Saurabh*^/15807

Posted by: Saurabh*^~  3070 news posts
वाराणसी : शिवपुर रेलवे स्टेशन यानी सिर्फ नाम का स्टेशन, जो सुविधाओं के अभाव में अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा है। चंद पैसेंजर गाड़ियां, पानी-बिजली व सुरक्षा के लिए पुलिस की आधी-अधूरी व्यवस्था के अलावा कुछ भी तो नहीं है। पर्याप्त फुट ओवर ब्रिज के अभाव में बढ़े-बूढ़े तो छोड़िए जनाब बच्चे भी ट्रेन के नीचे से गुजरते हैं जबकि एक ऐसे ओवर ब्रिज की मांग स्थानीय लोग बहुत दिनों से कर रहे हैं, जिस पर से साइकिल संग लोग आ-जा सकें। प्रमुख ट्रेनें रुके तो बने बात समझने की बात है कि काशी, मंडुआडीह व वाराणसी सिटी स्टेशन पर रौनक रहती है। यहां भी मेल व एक्सप्रेस ट्रेनों का ठहराव हो तो जंगल में मंगल हो सकता है। इसके दो फायदें होंगे। क्षेत्रीय नागरिकों के लिए रेल सुविधाएं बढ़ जाएंगी। वहीं नगर में जाम की समस्या में कमी आएगी। पहले रुकती थीं ट्रेनें स्टेशन अधीक्षक देवेश कुमार का कहना...
more...
है कि एक्सप्रेस गाड़ियां रुकने लगे तो वरुणापार के निवासियों को कैंट स्टेशन नहीं जाना होगा। पहले कुछ एक्सप्रेस ट्रेनें रुकती थीं लेकिन बंद कर दी गईं। आरक्षण की सुविधा नहीं रेलवे स्टेशन पर आरक्षण की सुविधा नहीं है। यात्रियों की खूब फजीहत होती है। दूर की यात्रा के लिए मजबूरन लोगों को कैंट व अन्य स्टेशनों के आरक्षण केंद्र तक जाना पड़ता है। स्ट्रीट लाइटें खराब स्टेशन के प्लेटफार्मो पर लगीं एक दर्जन स्ट्रीट लाइटें वर्षो से खराब हैं। लिहाजा, सुरज डूबते ही प्लेटफार्म पर अंधेरा हो जाता है। इससे यात्रियों को परेशानी होती है। पेयजल की किल्लत स्टेशन पर पेयजल की किल्लत है। प्लेटफार्म पर कहने को दो हैंडपंप लगे हैं लेकिन दुख इस बात का है कि पानी नहीं निकलता। हैंडपंप शो-पीस बने हुए हैं। पेयजल के लिए यात्रियों को भटकना पड़ता है। जेनरेटर शो पीस प्लेटफार्म पर रखा 30 केवीए का जेनरेटर शो-पीस बना हुआ है। इसका कारण यह है कि डीजल की व्यवस्था नही है। यह चले तो पूरा स्टेशन गुलजार रहे। जेनरेटर का अंडरग्राउंड कनेक्शन भी हो चुका है। प्लेटफार्म की दयनीय स्थिति प्लेटफार्मो के फर्श के प्लास्टर टूट गए हैं। यहां गंदगी का साम्राज्य है। यात्रियों को आने-जाने में परेशानी होती है। पुलिस चौकी भी नहीं स्टेशन पर आरपीएफ व जीआरपी के जवान दिखाई नहीं देते। यदि कोई घटना हो गई तो भगवान ही मालिक है। कुछ वर्ष पूर्व जीआरपी की चौकी थी, वह भी हटा दी गई।
Page#    Showing 1 to 4 of 4 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site