Full Site Search  
Fri May 26, 2017 09:13:41 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;

SMBL/Simbhooli (2 PFs)
سمبھولي     सिंम्भाैली

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 12
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Sugar Mill, Simbhauli
State: Uttar Pradesh
Elevation: 217 m above sea level
Zone: NR/Northern
Division: Moradabad
No Recent News for SMBL/Simbhooli
Nearby Stations in the News

Rating: 5.0/5 (7 votes)
cleanliness - excellent (1)
porters/escalators - n/a (0)
food - excellent (1)
transportation - excellent (1)
lodging - excellent (1)
railfanning - excellent (1)
sightseeing - excellent (1)
safety - excellent (1)

Nearby Stations

SKHR/Sikhera Mb Halt 2 km     QXR/Kuchesar Road 7 km     GMS/Garhmuktesar 10 km     BBO/Babugarh 12 km     GGB/Garhmuktesar Bridge 17 km     HPU/Hapur Junction 20 km     KHE/Kankather 23 km     KKMB/Kastla Kasmabad Halt 27 km     KALI/Kaili 27 km     HZR/Hafizpur 29 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 1 of 1 News Items  
Jan 12 2017 (08:02)  दुर्घटनाग्रस्त होने से बची गरीब रथ (epaper.jagran.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNCR/North Central  -  

News Entry# 291046     
   Tags   Past Edits
Jan 12 2017 (08:02)
Station Tag: Simbhooli/SMBL added by Pp*^~/36064

Jan 12 2017 (08:02)
Station Tag: Rura/RURA added by Pp*^~/36064

Jan 12 2017 (08:02)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by Pp*^~/36064

Posted by: Pp*^~  5969 news posts
कानपुर के रूरा और पुखरायां में हुए ट्रेन हादसों को लोग भूले भी नहीं थे कि दिल्ली-मुरादाबाद रेलवे ट्रैक पर बुधवार सुबह एक बड़ा रेल हादसा होने से बाल बाल बच गया। कुचेसर चौपला के पिलर संख्या 19/21 के पास फ्रैक्चर हुए ट्रैक से वाराणसी-आनंद विहार गरीब रथ एक्सप्रेस के आधे से ज्यादा डिब्बे गुजर गए। गनीमत रही कि चालक और वहां से गुजर रहे मैट की सूझबूझ से ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त होने से बच गई। चालक ने अजीब आवाज सुनने के बाद ट्रेन को रोक लिया था। इसी दौरान मेट ने भी इंजीनियरों को पटरी के फ्रैक्चर होने की सूचना दे दी थी। कॉशन लगाकर ट्रेनों को करीब पौन घंटे बाद रवाना किया गया ।बुधवार सुबह करीब 9:02 बजे वाराणसी से आनंद विहार के बीच चलने वाली गरीब रथ एक्सप्रेस जब सिंभावली स्टेशन से गुजरी तभी पिलर संख्या 19/21 के पास पहियों में अजीब सी आवाज सुनकर पिलर संख्या 17/19 पर...
more...
काम करने के लिए जा रहे मेट अलीजान ठहर गए। इस बीच तेज रफ्तार से गरीब रथ एक्सप्रेस गेट नंबर-61 को क्रास करके रूक गई। मेट ने रेलवे ट्रैक में फ्रैक्चर देखा तो इस बात की सूचना रेलवे इंजीनियरों को दी। आनन-फानन में इंजीनियरों की टीम मौके पर पहुंच गई और ट्रैक की मरम्मत का काम शुरू कर दिया। इंजीनियरों की टीम ने जॉगर प्लेट लगाकर करीब पौन घंटा बाद ट्रेन को हापुड़ के लिए रवाना कर दिया गया। डीआरएम प्रमोद कुमार ने बताया रेलवे में मेट के पद पर तैनात अलीजान की सूझबूझ से हादसा टला है। उसे पांच सौ रुपये का पुरस्कार दिया गया है।जागरण संवाददाता, हापुड़ : कानपुर के रूरा और पुखरायां में हुए ट्रेन हादसों को लोग भूले भी नहीं थे कि दिल्ली-मुरादाबाद रेलवे ट्रैक पर बुधवार सुबह एक बड़ा रेल हादसा होने से बाल बाल बच गया। कुचेसर चौपला के पिलर संख्या 19/21 के पास फ्रैक्चर हुए ट्रैक से वाराणसी-आनंद विहार गरीब रथ एक्सप्रेस के आधे से ज्यादा डिब्बे गुजर गए। गनीमत रही कि चालक और वहां से गुजर रहे मैट की सूझबूझ से ट्रेन दुर्घटनाग्रस्त होने से बच गई। चालक ने अजीब आवाज सुनने के बाद ट्रेन को रोक लिया था। इसी दौरान मेट ने भी इंजीनियरों को पटरी के फ्रैक्चर होने की सूचना दे दी थी। कॉशन लगाकर ट्रेनों को करीब पौन घंटे बाद रवाना किया गया ।1बुधवार सुबह करीब 9:02 बजे वाराणसी से आनंद विहार के बीच चलने वाली गरीब रथ एक्सप्रेस जब सिंभावली स्टेशन से गुजरी तभी पिलर संख्या 19/21 के पास पहियों में अजीब सी आवाज सुनकर पिलर संख्या 17/19 पर काम करने के लिए जा रहे मेट अलीजान ठहर गए। इस बीच तेज रफ्तार से गरीब रथ एक्सप्रेस गेट नंबर-61 को क्रास करके रूक गई। मेट ने रेलवे ट्रैक में फ्रैक्चर देखा तो इस बात की सूचना रेलवे इंजीनियरों को दी। आनन-फानन में इंजीनियरों की टीम मौके पर पहुंच गई और ट्रैक की मरम्मत का काम शुरू कर दिया। इंजीनियरों की टीम ने जॉगर प्लेट लगाकर करीब पौन घंटा बाद ट्रेन को हापुड़ के लिए रवाना कर दिया गया। डीआरएम प्रमोद कुमार ने बताया रेलवे में मेट के पद पर तैनात अलीजान की सूझबूझ से हादसा टला है। उसे पांच सौ रुपये का पुरस्कार दिया गया है।
Page#    Showing 1 to 1 of 1 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site