Full Site Search  
Sat Aug 19, 2017 16:44:13 IST
PostPostPost Trn TipPost Trn TipPost Stn TipPost Stn TipAdvanced Search
×
Forum Super Search
Blog Entry#:
Words:

HashTag:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Train Type:
Train:
Station:
ONLY with Pic/Vid:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    RailFan Club:    

Filters:
Blog Posts by dhirendra63
Page#    68 Blog Entries  next>>
  
Rail News
0 Followers
799 views
New/Special TrainsNR/Northern  -  
Aug 12 2017 (11:16)   लखनऊ के लिए प्रयाग से जल्द ही शताब्दी ट्रेन

Saurabh*^~   3119 news posts
Entry# 2378091   News Entry# 311528         Tags   Past Edits
-काशी, विध्यांचल जैसे पर्यटक स्थ्लों को जोड़कर रेलवे बनाए टूरिस्ट पैकेज- मुख्यमंत्री
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रेलवे अधिकारियों को काशी, विंध्याचल, चित्रकूट, नैमिषारण्य जैसी जगहों पर पर्यटक पैकेज बनाने का सुझाव दिया। वहीं गोरखपुर अन्य शहरों को जोड़ने के लिए इंटरसिटी चलाने का सुझाव भी दिया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से महाप्रबन्धक पूर्वोत्तर रेलवे (गोरखपुर) एसपी त्रिवेदी, महाप्रबन्धक उत्तर रेलवे (नई दिल्ली) आरके कुलश्रेष्ठ और महाप्रबन्धक उत्तर-मध्य रेलवे (इलाहाबाद) एमसी चौहान के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने मुलाकात की। इस मुलाकात के दौरान जानकारी दी गई कि लखनऊ-इलाहाबाद के बीच शताब्दी जैसी एक ट्रेन जल्द ही चलाई जाएगी जो तीन घण्टे में गंतव्य तक पहुंचा देगी। प्रतिनिधिमंडल ने रेलवे द्वारा बनवाए जा रहे रेलवे ओवर ब्रिज की प्रगति की जानकारी
...
more...
दी और बताया कि प्रदेश में कई जगहों पर आरओबी बन रहे हैं जिनमें रेलवे अपना हिस्सा बनवा चुका है लेकिन राज्य सरकार द्वारा कराया जाने वाला निर्माण कार्य अभी बाकी है। श्री चौहान ने जानकारी दी कि इलाहाबाद क्षेत्र के लिए रेलवे ने 48 आरओबी मंजूर किए हैं लेकिन अभी तक इन्हें राज्य सरकार की सहमति नहीं मिली है। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को आश्वस्त किया कि निर्माण कार्य जल्द ही पूरा कराया जाएगा। वहीं बाकी मामलों को भी वरीयता के साथ निपटाया जाएगा। योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए कि इलाहाबाद में अर्द्धकुम्भ के लिए रेलवे पूरी तैयारी किए ताकि इस आयोजन में आने वाले लोगों को किसी तरह की दिक्कत न हो। मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को काशी, विंध्याचल, चित्रकूट, नैमिषारण्य जैसे पर्यटक स्थलों को जोड़कर पर्यटकों के लिए पैकेज बनाने का सुझाव दिया ताकि पर्यटन को बढ़ावा दिया जा सके। उन्होंने कहा कि भगवान बुद्ध से जुड़े कई महत्वपूर्ण स्थल भी यूपी में है। गोरखपुर से विभिन्न नगरों को जोड़ने के लिए तेज गति वाली इण्टरसिटी रेल चलाने का भी सुझाव दिया, ताकि यात्री कम समय में अपने गंतव्य तक पहुंच सकें। अधिकारियों ने दुरंतो ट्रेन को रोज चलाने का सुझाव दिया जिस पर मुख्यमंत्री ने उन्हें आश्वस्त किया कि इस विषय पर वह केन्द्रीय रेल मंत्री से बात करेंगे।

6 posts are hidden.

  
302 views
Aug 12 2017 (12:38)
dhirendra63   80 blog posts
Re# 2378091-7            Tags   Past Edits
Kuch Saal Pahle bhi chalti Thi shatabdi.. ushko band kar k Intercity usi timing par chal rahi hai... ab phir se new shatabdi.. isse badiya janshatabdi maan lee

12 posts are hidden.

  
1264 views
Aug 12 2017 (14:47)
😍Second Journey In Mahamana😍~   3168 blog posts
Re# 2378091-20            Tags   Past Edits
Shatabdi kab chli bhai..? Phle LKO-ALD and LKO-BSB Janshatbdi chalti thi...unko band krke intercity laayi Gyi thi..

9 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
1013 views
New Facilities/Technology
Jun 22 2017 (08:47)   थोड़ा और इंतजार, फिर ढाई घंटे में कानपुर से दिल्ली पहुंचेंगे

The Phenomenal One~   909 news posts
Entry# 2328631   News Entry# 306132         Tags   Past Edits
कानपुर . वक्त बेहद कम शेष है। जल्दी ही कानपुर से एक ट्रेन निकलने वाली है। यह ट्रेन गुजरेगी तो कानपुर कांपेगा और कनपुरियों का मजबूत कलेजा भी डोलेगा। यह अलग बात है कि ट्रेन के गुजरने के बाद कनपुरियों का भोकाल भी टाइट होगा। चलिए सस्पेंस खत्म करते हैं। देश में तेज रफ्तार वाली ट्रेनों को हरी झंडी मिल गई है। नीति आयोग से दिल्ली-हावड़ा ट्रैक पर 160 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से ट्रेन को दौड़ाने की रजामंदी मिल गई है। आयोग ने दिल्ली-मुंबई ट्रैक पर भी ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने का फैसला किया है। परियोजनापूरी होने के बाद कानपुर से दिल्ली पहुंचने में सिर्फ ढाई घंटे का वक्त लगेगा।
दोनों ट्रैक को दुरुस्त करने पर 18 हजार करोड़ रुपए
...
more...
आएगा खर्च
नीति आयोग ने दिल्ली-हावड़ा और दिल्ली-मुंबई ट्रैक को दुरुस्त करने के लिए 18 हजार करोड़ की परियोजना को मंजूर करते हुए जल्द से जल्द काम शुरू कराने को कहा है। नीति आयोग से मंजूरी के बाद प्रस्ताव को केंद्रीय कैबिनेट में मंजूरी के लिए अगले सत्र में रखा जाएगा। एनसीआर के पीआरओ अमित मालवीय के मुताबिक यह परियोजना देश में ट्रेनों के परिचालन में बड़ा बदलाव साबित होगी। परियोजना पूरी होने के बाद दोनों ट्रैक पर बगैर अवरोध रेलगाडिय़ां दौड़ेंगी।
दीवारों से कैद गलियारे में कोई रेल क्रासिंग नहीं होगी
इस योजना के तहत दिल्ली-हावड़ा ट्रैक पर पहले काम शुरू होगा, जबकि दिल्ली-मुंबई ट्रैक पर कुछ समय बाद। परियोजना के मुताबिक रेल ट्रैक को पांच फीट ऊंची दीवार की बाड़ से दोनों तरफ से घेरा जाएगा, जबकि सिग्नल प्रणाली और सुरक्षा इंतजाम भी दुरुस्त किए जाएंगे। दोनों ट्रैक पर समस्त रेल फाटकों को खत्म करने के साथ ही ट्रेन सुरक्षा चेतावनी प्रणाली (टीपीडब्ल्यूएस) को उच्चीकृत किया जाएगा। इस योजना में 1525 किलोमीटर लंबे दिल्ली-हावड़ा ट्रैक को उच्चीकृत करने पर 6974 करोड़ रुपए खर्च होंगे, जबकि 1483 किलोमीटर लंबे दिल्ली-मुंबई ट्रैक को दुरुस्त करने में 11189 करोड़ रुपए खर्च होंगे।
दिल्ली से कानपुर पहुंचेंगे तीन घंटे में, जबकि दिल्ली से मुंबई ग्यारह घंटे
इस परियोजना के पूरी होने के बाद दिल्ली से कानपुर आने में सिर्फ तीन घंटे लगेंगे। इस मियाद में 160 मिनट ट्रेन दौड़ेगी, जबकि अन्य वक्त स्टेशन स्टॉपेज में लगेगा। इसी प्रकार दिल्ली से हावड़ा पहुंचने में बारह घंटे लगेंगे। इस अवधि में रास्ते का वक्त और स्टेशन स्टॉपेज का टाइम शामिल है। रेलवे नेटवर्क के मुताबिक मुंबई-दिल्ली ट्रैक दुरुस्त होने के बाद 160 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से ट्रेन दौड़ेगी तो दिल्ली से मुंबई पहुंचने में ग्यारह घंटे का वक्त लगेगा। दिल्ली-हावड़ा ट्रैक की ट्रेन इटावा, कानपुर, इलाहाबाद, मुगलसराय होते हुए गुजरेगी, जबकि दिल्ली-मुंबई ट्रैक की ट्रेन बड़ौदा-अहमदाबाद के रास्ते सफर तय करेंगी।

7 posts are hidden.

  
1084 views
Jun 22 2017 (11:00)
dhirendra63   80 blog posts
Re# 2328631-8            Tags   Past Edits
Currently Rajdhani running at 87kmph average speed to cover distance in 5hrs

4 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
1778 views
New/Special TrainsNCR/North Central  -  
Feb 08 2017 (18:17)   अब उधमपुर एक्सप्रेस कराएगी मां वैष्णों का दर्शन

Saurabh*^~   3119 news posts
Entry# 2156267   News Entry# 293417         Tags   Past Edits
कानपुर से चलने वाली express train को इलाहाबाद से चलाने का लिया गया निर्णय
ALLAHABAD: मां वैष्णो के लाखों भक्तों के लिए एक राहत भरी खबर है। अब उधमपुर एक्सप्रेस से भी माता के दरबार में पहुंच कर भक्तजन माथा टेक सकते हैं। क्योंकि अभी तक सप्ताह में दो दिन कानपुर से उधमपुर तक जाने वाली 14155- 14156 कानपुर - उधमपुर एक्सप्रेस अब कानपुर से ही नहीं, बल्कि इलाहाबाद से चलेगी और जम्मूतवी होते हुए उधमपुर तक जाएगी। अभी तक इलाहाबाद के लोग एक मात्र ट्रेन टाटानगर जम्मूतवी एक्सप्रेस से ही वैष्णो देवी धाम का सफर तय करते थे.
--special
...
more...
train की थी demand--
इलाहाबाद से जम्मू के लिए एक स्पेशल ट्रेन चलाने की डिमांड काफी दिनों चल रही थी। पिछले रेल बजट में कानपुर से जम्मूतवी जाने वाली स्पेशल ट्रेन को इलाहाबाद से चलाने की मांग की गई थी। इस बार रेल बजट के बाद रेल मंत्रालय ने इलाहाबादियों की इस मांग को हरी झंडी देते हुए जम्मू के लिए एक और ट्रेन दी। साथ ही इलाहाबाद को मेरठ, सहारनपुर से जोड़ने के लिए भी एक ट्रेन मिली। अभी तक केवल नौचंदी और संगम एक्सप्रेस ही इलाहाबाद से डायरेक्ट मेरठ जाती थीं।
--Number बदला, बढ़ाया गया फेरा--
इलाहाबाद के पैसेंजर्स की डिमांड को देखते हुए रेल मंत्रालय ने उधमपुर एक्सप्रेस का फेरा बढ़ा दिया है। यह ट्रेन अब इलाहाबाद जंक्शन से चलेगी। वहीं ट्रेन 14155- 14156 का नंबर बदल कर अब 24155 और 24156 कर दिया गया है। अप और डाउन ट्रेन की नई व्यवस्था 10 फरवरी से लागू होगी। 24155 इलाहाबाद- उधमपुर एक्सप्रेस मंगलवार और शनिवार को 14.45 बजे इलाहाबाद जंक्शन से रवाना होगी, जो फतेहपुर, कानपुर, इटावा, टुंडला, अलीगढ़, खुर्जा, बुलंदशहर, हापुड़, मेरठ सिटी, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, अम्बाला, लुधियाना, जालंधर कैंट, पठानकोट कैंट, जम्मूतवी होते हुए अगले दिन 13.30 बजे उधमपुर पहुंचेगी। वहीं बुधवार और रविवार को 24156 उधमपुर- इलाहाबाद एक्सप्रेस उधमपुर से 16.15 बजे रवाना होगी और गुरुवार व सोमवार को 15.00 बजे इलाहाबाद पहुंचेगी.

1 posts are hidden.

  
1823 views
Feb 08 2017 (18:27)
dhirendra63   80 blog posts
Re# 2156267-2            Tags   Past Edits
Official news abhi nahi ayi hai

7 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
3308 views
IR AffairsNCR/North Central  -  
Dec 26 2016 (11:15)   इटावा रूट पर 105 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाकर देखी गई ट्रेन । 4 जनवरी से सुशासन एक्स. में लगेगा विद्युत इंजन ।

When will I get chance to travel in LHB Sleeper~   30 news posts
Entry# 2105335   News Entry# 289662         Tags   Past Edits
रेलवे रिपोर्टर | ग्वालियर
ग्वालियर-भिंड-इटावा ट्रैक पर ट्रेनें सीधे गुजर सकें, इसके लिए रेलवे ने तैयारी शुरू कर दी है। प्रथम चरण में ग्वालियर-इटावा ट्रैक पर ट्रेनों की स्पीड बढ़ाई जाएगी। इसके बाद कानपुर व लखनऊ के लिए जाने वाली ट्रेनें इस रूट से निकलेंगी। इस रूट से नई ट्रेनें भी गुजर सकें, इसके लिए डीआरएम ने 105 किमी की स्पीड से ट्रेन चलवाकर देखी। इस बात के संकेत डीआरएम स्वयं भी दे गए कि इटावा रूट पर नई ट्रेनें चलाई जाएंगी।
ग्वालियर से भिंड होते हुए इटावा के लिए रेलवे ट्रैक
...
more...
तो चालू हो गया है लेकिन सिर्फ पैसेंजर, लिंक एक्सप्रेस ट्रेन ही इस पर चल रही हैं। रेलवे कानपुर की ओर जाने वाली सुशासन एक्सप्रेस, बरौनी एक्सप्रेस सहित करीब आधा दर्जन ट्रेनों को वाया इटावा होकर गुजारने की तैयारी कर रहा है। इनमें कुछ ट्रेनें झांसी से उरई होते हुए कानपुर जाती हैं। ये ट्रेनें ग्वालियर, इटावा होते हुए कानपुर ले जाने पर रेलवे विचार कर रहा है। वर्तमान में ग्वालियर-इटावा ट्रैक पर 55 से 60 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ही ट्रेनें चल रही हैं। बीते रोज डीआरएम एके मिश्र ने इटावा ट्रैक पर और ट्रेन चलाने के लिए विंडो निरीक्षण किया। इस दौरान डीआरएम की विशेष ट्रेन 105 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलाकर देखी गई, जो काफी सफल रहा है। डीआरएम ने चर्चा के दौरान ये संकेत भी दिए थे कि जल्द ही इटावा होकर और ट्रेनें गुजारी जाएंगी।
चल सकती हैं बरौनी सहित आधा दर्जन ट्रेन
बरौनी मेल, सुशासन एक्सप्रेस, साबरमती एक्सप्रेस, गोरखपुर-अहमदाबाद एक्सप्रेस, सूरत-मुजफ्फरपुर एक्सप्रेस सहित आधा दर्जन से अधिक ट्रेनें इस ट्रैक से गुजर सकती हैं।
सुशासन एक्स. में लगेगा एसी इंजन । 4 जनवरी से बढ़ेगी ट्रेन की रफ्तार ।
ग्वालियर | पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन पर दो साल पहले ग्वालियर से चलाई गई सुशासन एक्सप्रेस की रफ्तार बढ़ाने का रेलवे ने निर्णय लिया है। इसके लिए सुशासन एक्सप्रेस को अब डीजल इंजन की जगह एसी (इलेक्ट्रिक) इंजन से चलाया जाएगा। इस आशय के आदेश ग्वालियर रेलवे अधिकारियों के पास आ गए हैं। 4 जनवरी से सुशासन एक्सप्रेस एसी इंजन से चलेगी।सुशासन एक्सप्रेस ग्वालियर से हजरत निजामुद्दीन, बरेली व लखनऊ होते हुए बलरामपुर जाती है। यह ट्रेन अभी तक डीजल इंजन से संचालित होती है। डीजल इंजन के कारण डीजल की खपत अधिक होती है, साथ ही ट्रेन की स्पीड भी ज्यादा नहीं बढ़ पाती है। डीजल बचाने के साथ -साथ ट्रेन की रफ्तार बढ़ाने के उद्देश्य से रेलवे ने सुशासन एक्सप्रेस को एसी इंजन से चलाने का निर्णय लिया है। इलेक्ट्रिक इंजन लग जाने से ट्रेन की रफ्तार तो बढ़ेगी ही साथ ही स्टेशन से चलते ही ट्रेन जल्द रफ्तार पकड़ लेगी।

1 posts are hidden.

  
2361 views
Dec 26 2016 (12:01)
dhirendra63   80 blog posts
Re# 2105335-2            Tags   Past Edits
Naya Track hai... abhi 6 month or bhi lag sakte hai speed UP karne me

6 posts are hidden.
  
Rail News
0 Followers
3830 views
Commentary/Human InterestNCR/North Central  -  
Dec 20 2016 (20:20)   संगम, जयपुर एक्सप्रेस में भी लगेंगे माडर्न कोच

Saurabh*^~   3119 news posts
Entry# 2097825   News Entry# 289206         Tags   Past Edits
प्रयागराज एक्सप्रेस के बाद उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) की कई अन्य ट्रेनों में भी एलएचबी (लिंक हॉफमैन बुश) कोच लगाए जाएंगे। इसकी तैयारी शुरू हो गई है। एनसीआर प्रशासन द्वारा जल्द ही मेरठ जाने वाली संगम एक्सप्रेस और इलाहाबाद-जयपुर एक्सप्रेस में इस तरह के माडर्न कोच लगाए जाएंगे। इसके लिए रेलवे बोर्ड को प्रस्ताव भेजा जा चुका है। उम्मीद है कि इसी वित्तीय सत्र में एनसीआर प्रशासन को बोर्ड से एलएचबी कोच मिल जाएगा।
बता दें कि अभी देश की चुनिंदा ट्रेनों में ही माडर्न कोच लगे हैं। रविवार को एनसीआर की वीआईपी ट्रेन प्रयागराज एक्सप्रेस में ये कोच लगाए गए। इलाहाबाद से गुजरने वाली पुरुषोत्तम, स्वतंत्रता सेनानी, कामायनी, शिवगंगा, पूर्वा, महाबोधि एक्सप्रेस ट्रेनों में एलएचबी कोच ही लगे हैं। अब
...
more...
उत्तर मध्य रेलवे प्रशासन की ओर से संगम एक्सप्रेस, इलाहाबाद-जयपुर एक्सप्रेस एवं कानपुर-नई दिल्ली श्रमशक्ति एक्सप्रेस में भी इस इस तरह के कोच लगाने की तैयारी की गई है। इसके लिए बोर्ड को प्रस्ताव भेजा जा चुका है। इस बारे में एनसीआर के पीआरओ अमित मालवीय का कहना है कि बोर्ड से मिलते ही चरणबद्ध तरीके से जोन की प्रमुख ट्रेनों में इस तरह के कोच लगाए जाएंगे।
सोमवार को प्रयागराज के दोनों रैक एलएचबी कोच से लैस हो गए। दरअसल रविवार को नई दिल्ली से इलाहाबाद के लिए चली प्रयागराज एक्सप्रेस में पुराने सीबीसी (सेंटर बफर कपलर) कोच ही लगे हुए थे। ऐसा इसलिए क्योंकि रविवार को दोनों ट्रेनों के एलएचबी कोच इलाहाबाद में ही थे। इलाहाबाद से एलएचबी का जो पहला रैक दिल्ली भेजा गया था वह सोमवार को वहां पहुंचा।
खास हैं एलएचबी कोच
0 पुराने सीबीसी कोचों से ज्यादा हल्के और लंबे।
0 बिजली की खपत कम होती है।
0 हर कोच में पहले से ज्यादा यात्री यात्रा कर सकते हैं।
0 स्टील की हल्की, लेकिन मजबूत बॉडी होती है।
0 तेज गति से चलने के दौरान आवाज और कंपन कम।
0 ट्रेन के रुकने एवं चलने पर यात्रियों को झटके भी कम।
0 160 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से भी दौड़ सकते हैं

1 posts are hidden.

  
993 views
Dec 20 2016 (20:44)
dhirendra63   80 blog posts
Re# 2097825-2            Tags   Past Edits
In sangam Not possible due to DDN Link Exp.

17 posts are hidden.
Page#    68 Blog Entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.