Full Site Search  
Tue Jul 25, 2017 14:22:28 IST
PostPostPost Trn TipPost Trn TipPost Stn TipPost Stn TipAdvanced Search
×
Forum Super Search
Blog Entry#:
Words:

HashTag:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Train Type:
Train:
Station:
ONLY with Pic/Vid:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    RailFan Club:    

Filters:
Blog Posts by Sanjay Soni
Page#    1594 Blog Entries  next>>
  
★★★  Greetings
0 Followers
4033 views
Jan 26 2017 (11:09)  

Yash^~   2556 blog posts   1662 correct pred (85% accurate)
Entry# 2140775            Tags   Past Edits
3 compliments
Same to you sir Same 2 u sir same to you
समस्त IRI Members, #Monitors, #Admins, एवं #Moderator सर को गणतंत्र दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं _/\_
🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳जय हिन्द🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳🇮🇳

4 posts are hidden.

  
2946 views
Jan 26 2017 (14:43)
Sanjay Soni   2850 blog posts   1256 correct pred (64% accurate)
Re# 2140775-6            Tags   Past Edits
इन 5 कारणों से भारत है, सारे जहां से अच्छा ----भारत, इंडिया, हिंदुस्तान, हिंदोस्तां या फिर भारत माता...किसी भी नाम से पुकारें लेकिन हर भारतवासी के मन में भाव यही गूंजता है, कि सारे जहां से अच्छा हिंदोस्तां हमारा...। मातृभूमि के प्रति तो हर ना‍गरिक का ऐसा भाव होना लाजमी है, लेकिन भारत की कुछ विशेषताएं ऐसी भी हैं जो पूरी दुनिया में इसे सबसे अलग, आकर्षक और खूबसूरत बनाती हैं। जानिए ऐसी ही 5 विशेषताएं...जिन्हें जानने के बाद आप फिर कह उठेंगे, सारे जहां से अच्छा, हिंदोस्तां हमारा.
1 भारतीय संस्कृति - भारतीय संस्कृति के अनगिनत पहलू इसे और भी रंगबिरंगा, खनकदार और आकर्षक बनाते हैं, तभी तो पश्चिमी देशों के लोग इस मिट्टी की सौंधी महक लेने
...
more...
बड़ी संख्या में इधर का रूख करते हैं। इतना ही नहीं, इस मिट्टी के प्रेम के रंग में रंगकर कितनी ही विदेशी युवतियां यहीं बस जाने की चाह से भारतवासी होकर रह गईं। कभी योग ने दुनिया को अपनी ओर साधा, तो कभी आध्यात्म की परम शांति ने स्वत: ही दुनिया का ध्यान भारत की ओर खींचा। कभी अतिथि देवो भव की हमारी परंपरा और अपनत्व की भावना दुनिया के लिए मिसाल बनी, तो कभी कोई अकेलापन अनायास ही यहां के समृद्ध इतिहास की ओर खिंचता चला गया। यह संस्कृति पूरी दुनिया में कहीं नहीं ..
2 अनेकता में एकता - हां, भारत की सबसे बड़ी विशेषता यह तो है, कि इस यहां हर धर्म, जाति, वर्ग, संप्रदाय और पंथ को मानने वाले लोग एक साथ मिल-जुलकर रहते हैं। साथ मिलकर त्योहार मनाते हैं और एक दूसरे की संस्कृति का सम्मान करते हैं। जितना दिवाली पर पटाखे जलाए जाते हैं, उतनी ही मिठास ईद की सेवईयों में घुलती है और क्रिसमस के केक का स्वाद भी एकता की महक से सुगंधित होता है। यहां प्रकाश पर्व सभी के लिए जगमगाता है और संक्रांति पर पतंग का कोई धर्म नहीं होता। जन्माष्टमी पर मुस्लिम बच्चा भी कृष्ण होता है और ईद पर सभी से भाईचारा। शायद यही कारण है कि यह देश संतुष्ट है, खुशहाल है... क्योंकि यहां की जलवायु में अपनेपन और एकता की ठंडक है, जो सुकून देती है
3 पारंपरिक व्यंजन - दुनियाभर में भले ही नए-नए व्यंजनों की भरमार हो, लेकिन भारत के पारंपरिक व्यंजनों का मजा दुनिया के किसी भी कोने में नहीं मिल सक ता। चाहे महाराष्ट्रीयन पूरन पोली हो, या दही वड़ा,राजस्थानी प्याज की कचौड़ी हो या मिर्चीवड़ा, बैंगन का भर्ता हो या सरसों का साग, मक्के की रोटी हो या फिर आलू के पराठे। चमचम, रसगुल्ले की मिठास हो या जलेगी की चाशनी, गुलाब जामुन और हलवा हो या घर की बनी खीर-पूरी। मुंबई की चाट हो, या दिल्ली की पानी पुरी, पंजाबी तड़का हो या दक्षिण भारतीय नारियल की चटनी, उत्तर-प्रदेश का लिट्टर चोखा हो या गुजरात का खमण-ढोकला, खांडवी और मध्यप्रदेश हर पारंपरिक व्यंजन। दुनिया भर में कहीं भी भारतीय स्वाद और उसके विभिन्न प्रकार नहीं मिलेंगे। तभी तो यहां की जिंदगी भी है कुछ खट्टी-मीठी, कभी तीखी तो कभी नमकीन।
4 बोली और भाषा - भारत के इस छोर से उस छोर तक, हर प्रदेश और क्षेत्र में संस्‍कृति की विभिन्नताओं को साफ तौर पर देखा जा सकता है और क्षेत्र के अनुसार ही अलग-अलग भाषा और बोलियों का प्रयोग इस देश को अनोखी मधुर खनक देता है। हिन्दी, मराठी, गुजराती, बंगाली, उड़िया, आसामी, कन्नड़, तमिल, तेलुगू, मद्रासी जैसी समृद्ध भाषाओं के अलावा प्रत्येक प्रदेश के अलग-अलग क्षेत्रों में की अपनी बोलियां हैं,जिनके अपने मायने हैं, भाव हैं और अपनेपन का स्वाद है। ऐसा लगता है जैसे ये देश एक चुनरी है और विभिन्न भाषाएं और बोलियां इस पर की गई कारीगरी...अपने-अपने तरीके की, आकर्षक और खूबसूरत |
5 रिश्तों का महत्व - ऐसा नहीं है कि अन्य देशों में रिश्तों को महत्व नहीं दिया जाता, लेकिन भारत इस मामले में विशिष्टता रखता है। संयुक्त परिवार, मर्यादा, सम्मान, अपनत्व, स्नेह, त्याग और आत्मीयता के विभिन्न रंग तो यहीं देखने को मिलते हैं, हर रिश्ते को संजोया जो जाता है यहां। यहां हर रिश्ता अनमोल है और हर बंधन एक उत्सव जिसे सिर्फ निभाया ही नहीं बल्कि जिया भी जाता है। कहीं देखा है रिश्तों के प्रति ऐसा समर्पण भाव।

3 posts are hidden.
  
032
Station Tip
Amenities
0 Followers
19691 views
Jan 21 2015 (20:01)   MAO/Madgaon Junction (3 PFs)

Soumitra Chawathe*^~   30227 blog posts   98200 correct pred (72% accurate)
Entry# 1347245            Tags   Past Edits
AC LOUNGE
.
Arrived in Madgaon, need to relax and take a bit of rest? AC Lounge is where you should be!!
.
Madgaon has a wonderful AC Lounge operated by Konkan Railway. It is
...
more...
situated on PF-1, near the main exit. Charges are Rs. 25 for 2 hrs and Rs. 35 for 4 hours. Extension in time is available. The attendant was extremely polite and helpful, he asked for my ticket, noted my PNR number and IN time and issued me the ticket. He then asked me to wait for 15-20 minutes since cleaning was going on. An excellent job done by the cleaning staff, the lounge was spick and span with good cooling. The washroom was clean and the dry area near wash-basin had liquid soap. I was lucky enough to have this entire lounge all to myself!!
.
Kudos to KR for this superb facility, other zones might do well to follow KR's footsteps.

5 posts are hidden.

  
12133 views
Dec 25 2015 (20:02)
Sanjay Soni   2850 blog posts   1256 correct pred (64% accurate)
Re# 1347245-8            Tags   Past Edits
SOUMITRA CAN I KNOW UR MOB .NO.

  
12857 views
Dec 26 2015 (17:05)
Sanjay Soni   2850 blog posts   1256 correct pred (64% accurate)
Re# 1347245-12            Tags   Past Edits
जननी जन्मभूमि स्वर्ग से महान है
जिसके वास्ते ये तन है मन है और प्राण है ॥धृ॥
ईसके कण कण में लिखा रामकृष्ण नाम है
हुतात्माओंके रुधिरसे भूमि सष्य श्याम है
धर्म का ये धाम
...
more...
है सदा ईसे प्रणाम है
स्वतंत्र है यह धरा स्वतंत्र आसमान है ॥१॥
ईसकी आन पर अगर जो बात कोई आ पडे
ईसके सामने जो जुल्म के पहाड हो खडे
शत्रु सब जहान हो विरुद्ध आसमान हो
मुकाबला करेंगे जब तक जान मे ये जान है ॥२॥
ईसकी गोद मे हजारो गंगा यमुना झूमती
ईसके पर्वतोंकी चोटियाँ गगन को चूमती
भूमि यह महान है निराली ईसकी शान है
ईसकी जयपताक पर लिखा विजय निशान है ॥३॥

  
12899 views
Dec 26 2015 (19:23)
Soumitra Chawathe*^~   30227 blog posts   98200 correct pred (72% accurate)
Re# 1347245-13            Tags   Past Edits
Waah Sir!! Mazaa aa gaya!!
  
Rail News
0 Followers
4738 views
Commentary/Human Interest
Dec 25 2015 (18:37)   Indian Railways Set To Go Paperless; SMS Tickets To Replace Paper Tickets
 

rdb*^   130904 news posts
Entry# 1691502   News Entry# 252086         Tags   Past Edits
Indian Railways is contemplating on replacing the 162-year-old paper system with digital SMS system by which every customer who books tickets at the ticket counter will receive the tickets by SMS.
Railways is planning to opt for premium commercial bulk SMSes feature which will come with advertisements.

2 posts are hidden.

  
4009 views
Dec 25 2015 (20:11)
Sanjay Soni   2850 blog posts   1256 correct pred (64% accurate)
Re# 1691502-3            Tags   Past Edits
IDEA ACCHAA HEI AAPKAA .....

2 posts are hidden.
  
Social
0 Followers
7962 views
Aug 05 2015 (11:46)  
 

H S Dhillon   398 blog posts   375 correct pred (85% accurate)
Entry# 1558094            Tags   Past Edits
Friends i want a one opinion from you people.
.
Me and my friend planning to go by Road from Amritsar to Madurai by our Skoda Rapid car.
.
I require a advise that how
...
more...
much it is safe.
.
we planning to halt in gwalior, hyderabad and chennai as per our schedule.
.
What kind of precaution and safety measure to take?

24 posts are hidden.

  
4459 views
Aug 22 2015 (19:47)
Sanjay Soni   2850 blog posts   1256 correct pred (64% accurate)
Re# 1558094-26            Tags   Past Edits
शुभ संध्या वन्दनीय सज्जनो ---- मित्रो एक कहावत है की -- सावधानी हटी तो दुर्घटना घटी......

2 posts are hidden.
  
★★★  Rail Fanning
0 Followers
7442 views
Aug 09 2015 (09:24)   KKJ/Kakori (3 PFs)
 

amit singh ™ ♥♪ ♫♥*^~   5237 blog posts   3455 correct pred (75% accurate)
Entry# 1560860            Tags   Past Edits
Dear RailYatris - Traveling to/from Lucknow via Kakori today? You are indeed traveling on a very very special day today. You will be going the same tracks where exactly 90 yrs back today - the famous Kakori Train Robbery was carried out by the greats - Ramprasad Bismil, Ashfaulla Khan, Roshan Singh, Rajendra Lahiri and Chandrashekhar Azad. ‪#‎Salute‬
=============== ===================== =============
August 9, 1925
A
...
more...
train robbery at Kakori took place today which shook the nation. Ramprasad Bismil, Ashfaulla Khan, Roshan Singh, Rajendra Lahiri and Chandrashekhar Azad, held up the 8-Down Mail at a small station called as Kakori just outside Lucknow and escaped with the railway treasury. They looted the money bags containing an amount of Rs 8000. In this chaos, one passenger was killed by accident - thus making this robbery as a murder case too.
The Government quickly cracked down on all the revolutionaries and all of them except Chandrasekhar Azad were captured. Four were hanged and twenty one young men were sentenced to jail in the conspiracy case.
And if you are not traveling through this route - relive this event beautifully pictured in the movie Rang De Basanti.
Courtecy-RailYatri.in.

1 posts are hidden.

  
3959 views
Aug 09 2015 (10:35)
Sanjay Soni   2850 blog posts   1256 correct pred (64% accurate)
Re# 1560860-2            Tags   Past Edits
gud mrng dear dost

1 posts are hidden.

  
5392 views
Aug 09 2015 (11:33)
amit singh ™ ♥♪ ♫♥*^~   5237 blog posts   3455 correct pred (75% accurate)
Re# 1560860-4            Tags   Past Edits
Very good Morning Dost

4 posts are hidden.
Page#    1594 Blog Entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.