Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE

Regular people go to see Taj Mahal. RailFans go to see Ghaziabad Jn. - Praveen

Search Forum
Filters:
Blog Posts by akku
Page#    704 Blog Entries  next>>
Rail News
14463 views
Commentary/Human Interest
SECR/South East Central
Jan 23 (14:28)   देश की सबसे लंबी फ्रेट ट्रेन 'वासुकी' भिलाई से कोरबा तक दौड़ी, 300 खाली वैगनों को एक साथ जोड़ा गया

Anupam Enosh Sarkar^~   27778 news posts
Entry# 4854452   News Entry# 434747         Tags   Past Edits
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर डिवीजन ने देश की सबसे लंबी मालगाड़ी का परिचालन का कीर्तिमान स्थापित किया है। शुक्रवार को भिलाई डी केबिन से रायपुर-बिलासपुर-कोरबा के बीच 3.5 किलोमीटर लंबी पांच मालगाड़ियों के 300 वैगनों को एक साथ जोड़कर चलाई गई। इसे देश की सबसे लंबी फ्रेट ट्रेन कहा जा रहा है, जिसे रायपुर मंडल ने वासुकी नाम दिया है। इस वासुकी ट्रेन ने भिलाई डी केबिन से कोरबा स्टेशन तक का सफर 7 घंटे से भी कम समय में तय किया। इस प्रक्रिया में केवल 1 लोको पायलट, 1 सहायक लोको पायलट एवं 1 गार्ड की आवश्यकता पड़ी।

रायपुर.
...
more...
दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के रायपुर डिवीजन ने देश की सबसे लंबी मालगाड़ी का परिचालन का कीर्तिमान स्थापित किया है। शुक्रवार को भिलाई डी केबिन से रायपुर-बिलासपुर-कोरबा के बीच 3.5 किलोमीटर लंबी पांच मालगाड़ियों के 300 वैगनों को एक साथ जोड़कर चलाई गई। इसे देश की सबसे लंबी फ्रेट ट्रेन कहा जा रहा है, जिसे रायपुर मंडल ने वासुकी नाम दिया है। इस वासुकी ट्रेन ने भिलाई डी केबिन से कोरबा स्टेशन तक का सफर 7 घंटे से भी कम समय में तय किया। इस प्रक्रिया में केवल 1 लोको पायलट, 1 सहायक लोको पायलट एवं 1 गार्ड की आवश्यकता पड़ी।

रायपुर डिवीजन के अधिकारियों का कहना है कि यह भारतीय रेलवे के इतिहास में पहली बार है, जब 5 मालगाड़ियों को एक साथ जोड़कर 3.5 किलोमीटर लंबी ट्रेन चलाई गई हो। फ्रेट ट्रेनों का परिचालन कम समय में अधिक माल ढुलाई, क्रू-स्टाफ की बचत एवं उपभोक्ताओं को त्वरित डिलीवरी प्रदान करने के उद्देश्य को पूरा करेगा। इससे पहले दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने पिछले साल 29 जून को तीन लोडेड मालगाड़ियों को एक साथ जोड़कर लांग हॉल सुपर एनाकोंडा ट्रेन का परिचालन किया था। इसी कड़ी में वासुकी एक नया प्रयोग है, जिसे देश के लिए रेलवे के इतिहास में एक उपलब्धि बताया जा रहा है।

सुपर शेष नाग से भी लंबी

अगर 5 रैक को अलग-अलग परिचालन किया जाता, तो 5 लोको पायलट, 5 सहायक लोको पायलट एवं 5 गार्ड की आवश्यकता होती। सुपर शेष नाग में 1 लोको पायलट, 1 सहायक लोको पायलट व 1 गार्ड द्वारा इस कार्य को अंजाम दिया जा रहा है। फोर्थ लांग हॉल रैक के परिचालन से क्रू-स्टाफ की बचत, रेलवे ट्रैक का सही इस्तेमाल एवं उपभोक्ताओं को त्वरित डिलीवरी आसान होती है। इस प्रकार यह एक सराहनीय प्रयोग रायपुर मंडल की ओर से किया गया है।

सबसे बड़ी उपलब्धि

देश की सबसे लंबी 3.5 किमी फ्रेट ट्रेन वासुकी का परिचालन रायपुर रेलमंडल की सबसे बड़ी उपलब्धि है।

- डॉ. श्यामसुंदर गुप्ता, डीआरएम, रायपुर मंडल

Rail News
12074 views
Jan 23 (14:51)
akku
Desiincanada~   1270 blog posts
Re# 4854452-1            Tags   Past Edits
Lockdown me trains band Hai to Chala lo ye Sab.... Bcoz baad me chalaoge to Lanka lag jaani Hai baaki trains ki...

Aur vase bhi, chalane k liye to 10 maalgadi ko Jod Kar Chala lo, but galti se bhi Kuch problem aa Gai, koi coupling toot Gai, to pure section k liye nightmare Hoga...

Practically
...
more...
2 se jyaada Nai hone chiye, bcoz for iske liye infrastructure Nai Hai...

Yaa to fir proper sidings banao in Sab k liye, ya fir dedicated corridor me chalao...

Simple si baat Hai, auto rickshaw highway par, Aur trucks gaao ki Sadak pe suit Nai karte...
Rail News
19877 views
Commentary/Human Interest
NR/Northern
Jan 16 (09:23)   New Delhi Railway Station to get Rs 50 billion-makeover: Here's how it will look

Anupam Enosh Sarkar^~   27778 news posts
Entry# 4846542   News Entry# 433535         Tags   Past Edits
Railway Minister Piyush Goyal has shared a set of pictures of how the New Delhi Railway station will look after its planned makeover worth Rs 50 billion
Future look of New Delhi Railway Station | Shared on Twitter by Union minister Piyush Goyal
Even as the Centre is busy remodeling the heart of New Delhi with the massive Central Vista plan, it has envisaged something as bold and stunning for the lifeline of the national capital the New Delhi Railway Station. According to the design images shared by Railway Minister Piyush Goyal, the
...
more...
New Delhi Railway station is set for a complete makeover.The images shared by Piyush Goyal show “the future of New Delhi Railway Station”, which “envisage an enriched passenger experience with complete integration of different modes of transport”. Future look of New Delhi Railway Station | Shared on Twitter by Union minister Piyush Goyal
The revamp, being commissioned by the Rail Land Development Authority (RLDA) - a statutory body under the Ministry of Railways, is currently at the Request for Qualification (RfQ) stage.The government body hopes to rope in relevant stakeholders such as leading international real estate developers, infrastructure players, and financial institutions from advanced geographies such as Europe, Australia, and South Asia to develop the station on a Design-Build Finance Operate Transfer (DBFOT) model for 60 years.It is expected to incur the capital expenditure at around 680 million dollars or around Rs 50 billion.How will the future New Delhi Railway Station look?The project includes the station component, the new terminal building, along with amenities, railway offices, railway quarters, and ancillary railway works and station estate including retail spaces adjoining the station, commercial office space, hotels, and residential space. Future look of New Delhi Railway Station | Shared on Twitter by Union minister Piyush Goyal
The revamped New Delhi station will have dome-shaped terminal buildings with two arrivals and two departures at the concourse level, two Multi-Modal Transport Hubs (MMTH) on each side of the station, 40-floor highrise twin towers (with hotel/offices and retail at the podium) and a pedestrian boulevard with high street shopping.The total project area is approximately 120 hectares, out of which 88 hectares is being planned in the first phase.

Rail News
15175 views
Jan 16 (10:23)
akku
Desiincanada~   1270 blog posts
Re# 4846542-1            Tags   Past Edits
Habibganj 10 saal se ban raha hai..... Pata nai kab banega.... Uske upar se ye..


Ye sab computer animation me hi accha lagta hai....

Aur
...
more...
vase bhi, common public ye sab facilities deserve nai karti... Tod fod macha dete hai, ya to fir ganda kar dete hai...

50rs fare badh jaae to rone lagte hai sab... Lekin facilities poori dunia ki chiye...

3 Public Posts - Sat Jan 16, 2021
Rail News
13652 views
Commentary/Human Interest
BULT/Bullet Train
Jan 16 (09:39)   Delhi-Varanasi Bullet Train: Fares To Be Between Rs 1,200-Rs 3,400; High-Speed Corridor To Have 11 Stations

Anupam Enosh Sarkar^~   27778 news posts
Entry# 4846571   News Entry# 433544         Tags   Past Edits
The indicative fares of the Delhi-Varanasi High Speed Corridor are ranging between 1.3 to 1.5 times of the Executive Class fares running in the sections

It would cost Rs 1,200 for Agra and Rs 3,400 for Varanasi from the national capital in the Delhi-Varanasi bullet train as the detailed project report (DPR) of the proposed high speed corridor has suggested.

The
...
more...
DPR prepared by the National High Speed Rail Corporation has kept the train fare for Lucknow at Rs 2,300 and Rs 2,900 for Ayodhya.

The DPR submitted to the Railways has also estimated that it would cost Rs 265 crore per km to construct the 865 km long Delhi-Varanasi High Speed Corridor which includes the rolling stock procurement cost also.

"The train fares for various destinations suggested in the DPR are indicative in nature and not final. There could be changes in the fare structure in the later stage," sources in the Railways said.

Aiming at reducing travelling time between major cities, the high speed corridors are being planned across the country.

There are various factors like project cost, paying capacity, type of patrons in the route are taken into account to decide the fare structure, sources added.

According to railways, the indicative fares of the Delhi-Varanasi High Speed Corridor are ranging between 1.3 to 1.5 times of the Executive Class fares running in the sections.

The Delhi-Varanasi High Speed Corridor will cover landscapes like densely populated urban and rural areas, roads, highways, rivers, ghats, and green fields. Cities such as Mathura, Agra, Etawah, Lucknow, Rae Bareilly, Prayagraj, Bhadohi, Jewar (Noida) and Ayodhya will be part of this network. The Delhi station will be at Sarai Kale Khan.

Ayodhya, the birthplace of Lord Ram, will get bullet train connectivity. The Delhi-Varanasi corridor for which the detailed project report (DPR) is being prepared will connect the holy city.

The project is using an advanced survey technique that combines laser data, GPS information, flight parameters, and real pictures.

Delhi-Varanasi route alignment will cover mixed terrains including densely populated urban and rural areas, highways, roads, ghats, rivers, green fields, which makes the construction more challenging.

NHSRCL, which is executing the Mumbai-Ahmedabad bullet train project, has deployed the Light Detection and Ranging Surve (LiDAR) technique using laser enabled equipment mounted on a helicopter for ground survey.

The alignment or ground survey is a critical activity for any linear infrastructure project as the survey provides details of areas around the alignment.

The proposed Delhi-Varanasi high-speed rail corridor via Ayodhya, to be built in 2026-30, will cost Rs 1,71,000 crore, according to estimates in the draft national rail plan document.

Rail News
11770 views
Jan 16 (10:19)
akku
Desiincanada~   1270 blog posts
Re# 4846571-1            Tags   Past Edits
Pahele ban to jaaye.... Fir fare decide karna😑
Rail News
15722 views
IR Affairs
SECR/South East Central
Jan 12 (13:16)   स्वच्छ सर्वेक्षण प्रतियोगिता में भाग लेने की बढ़ाई गई अंतिम तिथि, कोरबा भी पुरस्कार की दौड़ में

Saurabhdubey_86^~   4972 news posts
Entry# 4842118   News Entry# 433005         Tags   Past Edits
बिलासपुर। स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के लिए आईईसी गतिविधियों के तहत वन-सीजी आनलाइन प्रतियोगिता में भाग लेने की अंतिम तिथि बढ़ा कर 17 जनवरी कर दी गई है। विभिन्न बिन्दुओं पर निगम की ओर से आयोजित प्रतियोगिता में चयनित उत्कृष्ट प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र व पुरस्कार प्रदान कर सम्मानित किया जाएगा।
देश के शहर के मध्य स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के तहत स्वच्छ सर्वेक्षण का कार्य किया जाना हैं। अपना कोरबा शहर एवं प्रदेश छत्तीसगढ़ स्वच्छ सर्वेक्षण के रैंकिंग में सम्मानजनक स्थान प्राप्त करने सभी की सहभागिता आवश्यक है।
स्वच्छ सर्वेक्षण 2021 के लिए
...
more...
आईईसी गतिविधियों के आयोजन के तहत आनलाईन ड्राइंग प्रतियोगिता क्वीज प्रतियोगिता, स्वच्छता चैम्पियन, स्वच्छ होटल, स्वच्छ मोहल्ला, स्वच्छ संस्थान, स्वच्छ हास्पिटल, स्वच्छ कार्यालय, स्वच्छ बाजार, हमर बदलाव-हमर गोंठ, संगवारी नाचा प्रतियोगिता, स्वच्छ प्रतिष्ठान (बैंक, निजी कार्यालय, दुकान) के साथ ही ऐसे कार्य जो स्वच्छता पर आधारित हैं या अनुपयोगी सामग्री का पुन: उपयोग कर नवाचार संबंधी गतिविधियों में शामिल प्रतिभागियों की प्रतियोगिता का आनलाइन आयोजन निगम ने किया है।
प्रतियोगिता में डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डाट 1सीजी डाट इन वेबसाइट पर लागइन कर घर बैठे भाग लिया जा सकेगा। प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए 17 जनवरी अंतिम तिथि निर्धारित की है। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले चयनित उत्कृष्ट प्रतिभागियों को प्रमाण पत्र एवं पुरस्कार से निगम सम्मानित करेगा। महापौर राजकिशोर प्रसाद एवं आयुक्त एस जयवर्धन ने कहा है कि उक्त आनलाइन प्रतियोगिता में भाग लेकर शहर को स्वच्छ बनाने में अपना सहयोग देने कहा है।
गतिविधियों से जुडे, संस्थान को बनाए उत्कृष्ट
आनलाइन प्रतियोगिताओं में भाग लेने के साथ ही स्वच्छ सर्वेक्षण की विभिन्ना गतिविधियों से जुड़कर अपने संस्थान को उत्कृष्ट बनाने का आव्हान निगम ने किया है। निगम ने शासकीय एवं निजी कार्यालय संस्थान, स्कूल, होटल, हास्पिटल, बाजार सहित अन्य संस्थान इस आनलाइन प्रतियोगिता में भाग लेकर व संबंधित गतिविधियों से जुड़कर अपने संस्थानों को उत्कृष्ट व आदर्श संस्थान बनाने व अपने शहर को स्वच्छ सर्वेक्षण में सम्मानजनक स्थान दिलाकर उच्च रैंकिंग दिलाने में सहभागी बनने कहा है।

Rail News
Jan 15 (20:46)
akku
Desiincanada~   1270 blog posts
Re# 4842118-1            Tags   Past Edits
Korba jeetega...

Bcoz koi passenger trains hi Nai Hai...

No passengers means no Gandagi,means Saaf suthra😂

1 Public Posts - Fri Jan 15, 2021
Rail News
28523 views
New Facilities/Technology
SECR/South East Central
Nov 10 2020 (12:51)   विकास कार्य:अटल नगर स्टेशन का नवा रायपुर में काम शुरू, अगले साल दिसंबर तक होगा तैयार

Saurabhdubey_86^~   4972 news posts
Entry# 4773607   News Entry# 424435         Tags   Past Edits
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रेलवे स्टेशन अटल नगर मंदिरहसौद से 2 किमी दूर नवा रायपुर की ओर बनेगा। इसका काम शुरू हो गया और रेलवे ने यही नाम अपने रिकार्ड में दर्ज भी कर लिया। यहां तक रेलवे लाइन बिछ चुकी है, इसलिए माना जा रहा है कि नवा रायपुर में तैयार होने वाला यही पहला रेलवे स्टेशन होगा। इसे जंक्शन के रूप में डेवलप किया जाएगा। दिसंबर 2021 में इस स्टेशन को चालू करने की तैयारी है।नवा रायपुर में रेललाइन बिछाने का काम लगभग तीन साल पहले शुरू हुआ था, लेकिन सरकार बदलने और कोरोना की वजह से काम बुरी तरह प्रभावित हुआ। फिर भी, लगभग 5 किमी रेलवे लाइन बिछ चुकी है। इसमें पुल-पुलिए भी बन चुके हैं। जिस स्टेशन का नाम अटल नगर किया गया है, उसका नाम पहले नवा रायपुर था। लेकिन हाल में तय हुआ कि पहले स्टेशन का नाम ही अटल...
more...
पर रखा जाएगा। रायपुर जंक्शन से मंदिरहसौद तक जाकर जब ट्रेन नवा रायपुर की तरफ टर्न होगी, तब पहला स्टेशन अटल नगर ही पड़ेगा।
सरकार के बजट से ही स्टेशन : अटल नगर के अलावा उद्योग नगर और सीबीडी रेलवे स्टेशन बनाने का काम भी शुरू हो गया, लेकिन चौथे यानी मुक्तांगन स्टेशन का काम रोककर रखा गया है। इन स्टेशनों को बनाने का पूरा खर्च राज्य शासन व नवा रायपुर विकास प्राधिकरण (एनआरडीए) को उठाना है। अर्थात, अटल नगर समेत चारों स्टेशन राज्य सरकार ही बनवाएगी। लेकिन नवा रायपुर का केंद्री स्टेशन रेलवे को बनवाना है। यह नवा रायपुर का अंतिम स्टेशन होगा, जहां से अभनपुर और राजिम होते ही धमतरी तक नैरो गेज की जगह ब्राड गेज रेलवे लाइन बनने वाली है।
शॉपिंग मॉल नहीं होंगे
एनआरडीए जिस डिजाइन पर पहले स्टेशन बनाने की तैयारी कर रहा था, उसमें बदलाव कर दिए गए हैं। अटल नगर समेत तीन-चार स्टेशनों में शापिंग माल बनाए जाने थे। डिजाइन में इसका उल्लेख है, लेकिन खर्च आधा (160 करोड़ से घटाकर 85 करोड़ रुपए) करने की वजह से एनआरडीए को माॅल हटाने पड़े। यानी, अब चारों स्टेशन माॅडल नहीं, बल्कि सामान्य होंगे। यहां केवल वही सुविधाएं रहेंगी, जो आम स्टेशनों में रहती हैं। स्टेशन के भवनों का साइज भी घटा दिया गया है।
तीस साल की प्लानिंग
पांच साल पहले शासन और रेलवे के बीच अनुबंध के तहत नवा रायपुर और सीबीडी को मॉडल स्टेशन के तौर पर डेवलप करने की योजना थी। तय अनुबंध के मुताबिक एनआरडीए को 27 करोड़ रुपए देना था, जिसका भुगतान रेलवे की ओर से कर दिया गया। स्टेशनों की प्लानिंग ऐसी थी कि ये 30 साल तक उपयोगी रहें। लेकिन अब एनआरडीए ने तय किया है कि अब सामान्य सुविधाओं के हिसाब से स्टेशन बनेंगे। भविष्य में जरूरत होगी तो इनका विस्तार कर लिया जाएगा।
रेल बजट में मिली राशि : रेलवे ने अपने बजट में नवा रायपुर लाइन समेत तीन प्रोजेक्ट के लिए 146 करोड़ रुपए का प्रावधान कर दिया गया है। यह काम बजट के अभाव में ही रुका था। अफसरों ने बताया कि इस राशि से नवा रायपुर की मंदिरहसौद-केंद्री रेललाइन का काम तेज होगा, जो एक साल लेट हो चुका है।
"नए स्टेशन का नाम अब अटल नगर होगा। पहले इसे नया रायपुर के नाम से प्रस्तावित किया गया था। लेकिन अब रेलवे के रिकॉर्ड में भी अटल नगर स्टेशन के नाम को शामिल कर लिया गया है।"-अनिल श्रीवास्तव, एसई, एनआरडीए

1 Public Posts - Tue Nov 10, 2020

Rail News
23979 views
Nov 10 2020 (19:12)
akku
Desiincanada~   1270 blog posts
Re# 4773607-2            Tags   Past Edits
2025 se pahele Nai Banega.... BcoZ it's Chattisgarh
Page#    704 Blog Entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy