Full Site Search  
Wed Jul 26, 2017 00:18:21 IST
PostPostPost Trn TipPost Trn TipPost Stn TipPost Stn TipAdvanced Search
What are the various problems, frustrations and bugs encountered in booking e-tickets through the new redesigned Indian Railway E-Ticketing Portal?  
1 Answers
Jul 30 2011 (09:22)
Railway Sites/Portals

Entry# 365     
Charm Totally Vanished*^~
What are the various problems, frustrations and bugs encountered in booking e-tickets through the new redesigned Indian Railway E-Ticketing Portal?

0 Followers
1897 views
Jul 30 2011 (08:55)
Blog Post# 212394-0     
Sanjay Soni   Added by: Charm Totally Vanished*^~  Jul 30 2011 (09:22)
बीते दो हफ्तो के दौरान कम्प्यूटर के जरिए ई टिकट बुक कराने वालों की मौज हो गई है क्योंकि इस दौरान यात्रियों ने टिकट तो बुक कराए लेकिन बैंक एकाउंट से उनका पैसा नहीं कटा। इन ट्रेनों में राजधानी एक्सप्रेस, शताब्दी एक्सप्रेस जैसी ट्रेने भी शामिल थी। और यह सब सॉफ्टवेयर की गड़बड़ी के कारण हुआ जिससे रेलवे को करोड़ो रुपए का चूना लगा। इस बात का पता लगने में भी अधिकारियों को काफी टाइम लगा लेकिन जब पता लगा कि रेलवे की टिकटें मुफ्त में बिक रही है तो आनन फानन में वेबसाइट को बंद किया गया। 8-24 जुलाई के बीच रेलवे के कितने टिकट बेचें और इससे रेलवे को कितने का चूना लगा इसके बारे में रेलवे अधिकारी फिलहाल कुछ बोलने को तैयार नहीं है।
रेलवे
...
more...
का यह पोर्टल यात्रियों के बीच काफी लोकप्रिय था कारण इस पोर्टल पर टिकट बुक कराने का चार्ज आईआरसीटीसी से काफी कम था रेलवे जहां एसी क्लास पर 10 रुपए और स्लीपर क्लास पर 5 रुपए चार्ज करता है वहीं आईआरसीटीसी एसी के 20 रुपए और स्लीपर के 10 रुपए सर्विस चार्ज वसूलता है। सूत्रों की माने तो इस दो हफ्तो के दौरान रेलवे को तकरीबन 2.5-3 करोड़ रुपए की चपत लग गई होगी। इस वेबसाइट की लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इस पर पहले हफ्ते में 50 हजार लोगों ने पंजीकरण कराया जबकि दूसरे हफ्ते में यह संख्या डेढ़ लाख हो गई।
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.