Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

quiz & poll - Timepass for curious minds

बाज़🦅 आ रहा है ~ सिलीगुड़ी WDP-4 20000 Series - Niraj Kumar

Search News
Page#    398256 news entries  next>>
Yesterday (14:50) Railway: सज-धजकर सुबह पांच बजे हावड़ा के लिए रवाना हुई किसान स्पेशल ट्रेन (www.google.com)
0 Followers
6016 views

News Entry# 423071  Blog Entry# 4761780   
  Past Edits
Oct 29 2020 (14:50)
Station Tag: Kharagpur Junction/KGP added by HA1NKS RESTORED/1095213

Oct 29 2020 (14:50)
Station Tag: Howrah Junction/HWH added by HA1NKS RESTORED/1095213

Oct 29 2020 (14:50)
Station Tag: Chhindwara Junction/CWA added by HA1NKS RESTORED/1095213
छिंदवाड़ा. दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे नागपुर मंडल द्वारा बुधवार को छिंदवाड़ा मॉडल रेलवे स्टेशन से सौंसर, इतवारी, गोंदिया होते हुए हावड़ा के लिए किसान स्पेशल ट्रेन रवाना की गई। मॉडले रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-1 से स्पेशल ट्रेन को सुबह 5 बजे नागपुर से आए मंडल वाणिज्य प्रबंधक अनुराग सिंह ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। छिंदवाड़ा के किसान एवं व्यापारियों ने स्पेशल ट्रेन में कुल 43 टन माल लादकर इतवारी, गोंदिया, खडग़पुर के लिए भेजा। बताया जाता है कि नागपुर मंडल के अधिकारियों ने छिंदवाड़ा को दस डिब्बे भरने की बात कही थी। एक डिब्बे की 23 टन क्षमता होती है। हालांकि पहली बार छिंदवाड़ा से रवाना की गई किसान स्पेशल ट्रेन में व्यापारियों एवं किसानों की दिलचस्पी को देखते हुए उम्मीद की जा रही है कि रेलवे द्वारा जल्द ही दूसरा फेरा भी चलाया जाएगा। गौरतलब है कि छिंदवाड़ा से स्पेशल ट्रेन सौंसर, सावनेर, इतवारी, गोंदिया, राजनादगांव, दुर्ग, रायपुर,...
more...
बिलासपुर, चापा, रायगढ़, झारसुगुड़ा, राउरकेला, चक्रधरपुर, टाटानगर, खडग़पुर होते हुए हावड़ा पहुंचेगी। इन सभी स्टेशन पर किसान एवं व्यापारी अपना पार्सल चढ़ा और उतार सकेंगे। रेलवे द्वारा किसान स्पेशल ट्रेन में फल, सब्जी एवं जल्द खराब होने वाली खाद्य सामग्री की ढुलाई सुगम, सुचारू, सुरक्षित व कम दामों पर किए जाने का दावा किया जा रहा है। रेलवे ने फल एवं सब्जी की ढुलाई में किसानों को 50 प्रतिशत की छूट भी दी है।कर्मचारियों ने ट्रेन को सजाया किसान स्पेशल ट्रेन 27 अक्टूबर की शाम 5 बजे नागपुर से छिंदवाड़ा आई थी। इसके बाद पूरी ट्रेन को वरिष्ठ अनुभाग अभियंता कैरेज एवं वैगन विनय तिवारी की निगरानी में कर्मचारियों के द्वारा सजाया गया। इसके बाद बुधवार को सुबह ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। इस दौरान रेलवे जोनल सदस्य सत्येन्द्र ठाकुर, स्टेशन प्रबंधक संतोष श्रीवास, वाणिज्य निरीक्षक अजीत कुमार एवं गगवीर, राजू निरापुरे, संजय डोंगरे, जीसी सोरेन, आशीष अल्ढक, रेलवे यूनियन सचिव राज किशोर तिवारी सहित अन्य स्थानीय रेलवे अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे। ट्रेन का परिचालन लोको पायलट बंडू पाटिल एवं वीके सिंह द्वारा किया गया।इतवारी के खडग़पुर तक चल रही थी ट्रेन दपूमरे नागपुर मंडल द्वारा माल परिवहन के लिए इतवारी से खडग़पुर तक पहले से ही स्पेशल ट्रेन का परिचालन किया जा रहा था। छिंदवाड़ा से इतवारी रेलमार्ग का कार्य पूरा होने के बाद रेलवे ने छिंदवाड़ा से हावड़ा तक स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया।
Yesterday (10:20) 3 सामान्य बोगी में सब्जी लेकर रवाना हुई किसान स्पेशल ट्रेन (www.bhaskarhindi.com)
New/Special Trains
SECR/South East Central
0 Followers
6887 views

News Entry# 423056  Blog Entry# 4761574   
  Past Edits
Oct 29 2020 (10:20)
Station Tag: Howrah Junction/HWH added by CHHINDWARATHECORNCITY/2060735

Oct 29 2020 (10:20)
Station Tag: Chhindwara Junction/CWA added by CHHINDWARATHECORNCITY/2060735
छिंदवाड़ा रेलवे स्टेशन के प्लेटफर्म नंबर एक से दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के अधीन नागपुर मंडल के अंतर्गत छिंदवाड़ा हावड़ा किसान रेल क्रमांक 00883 सुबह 5 बजे कृषि और बागवानी उत्पादों को लेकर रवाना हुई। छिंदवाड़ा स्टेशन से शुरू होने वाली किसान रेल तकरीबन 31 घंटे का सफर तय कर हावड़ा स्टेशन पहुंचेगी। किसान रेल 4 पार्सल वाहन, 12 सामान्य, 2 एसएलआर सहित 18 कोच के संयोजन के साथ चलाई गई। पहले दिन एक किसान और छह व्यापारियों ने एक पार्सल और तीन सामान्य बोगी में 42.78 टन सब्जियां लोड कराई हैं। रेलवे अधिकारियो के अनुसार इससे तकरीबन 19 हजार 77 रुपए की इनकम रेलवे को हुई है। इन बोगियों में छिंदवाड़ा से आलू, प्याज, गोभी, आंवला, गेहूं भी गया है। किसान रेल के प्रारंभ होने से क्षेत्रीय किसानों द्वारा इस ट्रेन के माध्यम से फल , सब्जियां  एवं जल्द खराब होने वाली खाद्य सामग्री की ढुलाई सुगम ,सुचारू, सुरक्षित व...
more...
कम दामों पर किया गया।  फल  एवं  सब्जियों की ढुलाई में 50 प्रतिशत की छूट से  किसान न केवल लाभान्वित हुए बल्कि कम लागत पर अपनी उपज नए संभावित मार्केट तक भेजने में सक्षम हुए।पूरी ट्रेन में 155 टन पार्सलछिंदवाड़ा रेलवे स्टेशन से सुबह 5 बजे रवाना हुई किसान स्पेशल ट्रेन सौंसर , सावनेर होते हुए इतवारी 9.00 पहुंचकर दोपहर एक बजे इतवारी से गोंदिया-राजनांदगांव-दुर्ग-रायपुर-बिलासपुर मार्र्ग से होते हुए हावड़ा के लिए रवाना हुई। इन सभी स्टेशनों पर किसान- व्यापारी वर्ग द्वारा पार्सल की लोडिंग-अनलोडिंग की गई। इस किसान ट्रेन में  छिंदवाड़ा, सौंसर, सावनेर, इतवारी व अन्य स्टेशनों से लगभग 155 टन पार्सल लदान की गई, जिसमें मुख्यत: प्याज, आलू, अदरक, लहसुन, संतरा, नींबू, पत्तागोभी, फूलगोभी, आंवला, मिक्स फ्रुट आदि शामिल है।सज-धज कर रवाना हुई ट्रेनछिंदवाड़ा रेलवे स्टेशन से पहली बार रवाना हुई किसान ट्रेन को अुनभाग अभियंता कैरेज एवं वेगन के कर्मचारियों द्वारा फूल मालाओं से सजाया गया। ट्रेन रवानगी के दौरान मंडल वाणिज्य प्रबंधक अनुराग सिंह उपस्थित रहे। ट्रेन को लोको पायलट बंडू पाटिल और परिचालक वीके सिंह लेकर गए। इस दौरान रेलवे जोनल सदस्य सत्येन्द्र ठाकुर, स्टेशन प्रबंधक संतोष श्रीवास, वाणिज्य निरीक्षक अजीत कुमार, राजू निरापुरे, संजय डोंगरे, जीसी सोरेन, आशीष अल्डक, जेपी उइके, बीएन नंदनकर, महेश पाल, रेलवे यूनियन सचिव राजकिशोर तिवारी व अन्य कर्मचारी उपस्थित रहे।
जेएनएन, पटना : पूर्व मध्य रेल द्वारा 31 अक्टूबर तक चलाई जाने वाली सभी इंटरसिटी स्पेशल ट्रेनों का परिचालन अगले 30 नवंबर तक जारी रखने का निर्णय लिया गया है। इससे आम यात्रियों को काफी सहूलियत होगी। पर्व-त्योहार पर यात्रियों की भीड़ को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है। 02567/02568 सहरसा-पटना-सहरसा राज्यरानी एक्सप्रेस, 05713/05714 कटिहार-पटना स्पेशल, 03243-03244 पटना-भभुआ रोड स्पेशल एवं 03226-03225 राजेंद्रनगर-जयनगर स्पेशल इंटरसिटी, 03228-03227 राजेंद्रनगर-सहरसा स्पेशल ट्रेन का परिचालन पूर्ववत रहेगा। कोविड स्‍पेशल ट्रेनों में यात्रा करते वक्‍त कोरोना की गाइडलाइन का पालन करना जरूरी है। रेल यात्रियों को सैनिटाइजेशन और शारीरिक दूरी का ध्‍यान रखते हुए मास्‍क लगाना भी जरूरी है। इन ट्रेनों में केवल आरक्षित टिकट वाले यात्रियों को ही सवार होने की इजाजत रेलवे दे रहा है। वेटिंग लिस्‍ट के टिकट पर यात्रा करने की अनुमति नहीं दी जा रही है।
दुर्ग
...
more...
से पटना के लिए चलेगी स्‍पेशल ट्रेन
इधर, त्‍योहार को देखते हुए रेलवे ने बिलासपुर जोन के दुर्ग से पटना और रक्‍सौल के लिए कोविड स्‍पेशल ट्रेनें चलाने का फैसला किया है। दुर्ग से रक्सौल जाने के लिए 6 नवंबर को ट्रेन चलाई जाएगी। पटना के लिए ट्रेन सात नवंबर को दुर्ग से रवाना होगी। ये दोनों ट्रेनें केवल एक फेरा लगाएंगी। इनके लिए आरक्षण मिलने लगा है।
सुबह 7.25 बजे दुर्ग से होंगी रवाना
ये दोनों ही ट्रेनें सुबह 7.25 बजे दुर्ग से रवाना होंगी। किऊल तक दोनों ट्रेनों का ठहराव और समय सारणी एक ही है। किऊल के बाद इन दोनों ट्रेनों का रास्‍ता अलग रहेगा। दुर्ग-रक्सौल कोविड स्‍पेशल किऊल के बाद बरौनी, समस्तीपुर और मुजफ्फरपुर होते हुए चलेगी। दुर्ग-पटना एक्सप्रेस बख्तियारपुर, पटना साहेब होते हुए पटना जंक्‍शन पहुंचेगी।
स्‍लीपर, जनरल और एसी श्रेणी के कोच
इन ट्रेनों में 23-23 कोच रखे गए हैं। दुर्ग-पटना स्पेशल में दो थर्ड एसी, 10 स्लीपर, 9 जनरल कोच और दो एसएलआर कोच रहेंगे। दुर्ग-रक्सौल स्पेशल ट्रेन में एक स्लीपर कोच हटाकर इसके बदले जनरल कोच लगाया जाएगा।
Today (11:07) रैपिड स्पीड से चलेगा काम, पर नहीं लगेगा जाम (m.jagran.com)
Commentary/Human Interest
RRTS/Rapid Train
0 Followers
2751 views

News Entry# 423186  Blog Entry# 4762394   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
मेरठ, जेएनएन। शहर के अंदर दिल्ली रोड पर दिवाली के बाद रैपिड रेल निर्माण कार्य शुरू होने जा रहा है। मोहिउद्दीनपुर से मोदीपुरम तक के कार्य को तीन हिस्सों में निपटाने का निर्णय लिया गया है। शहर के अंदर रैपिड रेल निर्माण का काम भी चलेगा। साथ ही यातायात नहीं रुकेगा। हां, भारी वाहनों पर पूरी तरह से रोक रहेगी। पहले आशंका जताई जा रही थी कि शहर के अंदर रैपिड रेल के भूमिगत ट्रैक बिछने की वजह से दो वर्ष तक दिल्ली रोड के उक्त हिस्से पर आवाजाही पूरी तरह से ठप रहेगी।

...
more...
यूएमटीसी (अर्बन मास ट्रांसपोर्ट कंपनी) ने दिल्ली रोड की प्रोजेक्ट रिपोर्ट यातायात पुलिस के सामने पेश की है, जिसमें बताया गया कि यातायात संचालन के लिए दिल्ली रोड पर चार से छह मीटर की सड़क दी जाएगी। यात्री बस, ट्रक और अन्य भारी वाहनों को दिल्ली रोड से प्रवेश नहीं दिया जाएगा। आरआरटीएस कारिडोर के निर्माण कार्य के दौरान शहर के अंदर यातायात व्यवस्था सुचारू रखने के लिए एनसीआरटी के पदाधिकारियों के साथ बैठक की गई, जिसमें दिल्ली रोड की प्रोजेक्ट रिपोर्ट पेश की गई। उसमें दिखाया गया कि दिल्ली रोड पर परतापुर से लेकर मोदीपुरम तक तीन हिस्सों में निर्माण कार्य किया जाएगा। दिवाली के बाद निर्माण कार्य की शुरुआत की जाएगी। दिल्ली रोड पर निर्माण कार्य के दौरान छोटे और निजी वाहनों का संचालन हो उसके लिए चार से छह मीटर तक दोनों तरफ सड़क दी जाएगी, जहां पर पुल निर्माण का कार्य होगा। वहां पर सिर्फ एक साइड ही सड़क दी जाएगी। इस मौके पर एनसीआरटी के चीफ इंजीनियर पंकज त्यागी, सुपरिटेडेंट इंजीनियर शलील श्रीवास्तव, डिप्टी इंजीनियर अंकित चौहान, डिप्टी चीफ इंजीनियर पवन कुमार, एग्जीक्यूटिव इंजीनियर गौरव चौधरी के साथ यातायात पुलिस की पूरी टीम को रखा गया था। एनसीआरटी ने पर्दे पर दिल्ली रोड पर निर्माण कार्य करने के साथ-साथ यातायात संचालन करते हुए दिखाया गया है।



ये स्टेशन बनाए जाएंगे

द्वितीय फेस में मोहिउद्दीनपुर से मोदीपुरम तक निर्माण कार्य होगा। रैपिड रेल के लिए शताब्दी नगर, ब्रह्मापुरी, मेरठ सेंट्रल, भैसाली बस स्टैंड, बेगमपुल और मोदीपुरम छह स्टेशन होंगे, जबकि मेट्रो के लिए 12 स्टेशन रखे गए हैं। सभी स्टेशन निर्माण के पास वाहनों को संचालित होने के लिए एक तरफ सड़क दी जाएगी, जबकि अन्य जगह पर दोनों तरफ वाहनों के निकलने को सड़क देंगे।

ऐसे शुरू होगा निर्माण कार्य :

पहला चरण :

परतापुर के शताब्दीनगर से ब्रह्मापुरी स्टेशन तक एलिवेटेड बनाया जाएगा।

द्वितीय चरण :

मेरठ सेंट्रल, भैंसाली बस स्टैंड, बेगमपुल टैक चौराहे तक मार्ग भूमिगत रहेगा।

तृतीय चरण :

टैंक चौराहे से मोदीपुरम तक एलिवेटेड बनाया जाएगा।

ये रहेगा भारी वाहनों का रूट

-ट्रांसपोर्ट नगर में आने वाले ट्रकों को दिल्ली रोड के बजाए, दिल्ली हाईवे से बागपत फ्लाइओवर के नीचे से बागपत रोड से ट्रांसपोर्ट नगर लाया जाएगा। यानि दिल्ली रोड पर उनका प्रवेश प्रतिबंध होगा।

-दिल्ली और देहरादून से आने वाली रोडवेज की बसों को कंकरखेड़ा से शहर में प्रवेश दिया जाएगा। वहां से रजबन होते हुए भैंसाली बस स्टैंड पर निकाला जाएगा।

-सोहराब गेट बस स्टैंड पर जाने वाली बसों को कंकरखेड़ा से टैंक चौराहे पर निकाल कर विवि रोड से बस स्टैंड पर पहुंचाया जाएगा।

-बेगमपुल से अंबाला बस स्टैंड और सिविल लाइन थाने के पास से मवाना बस स्टैंड को शहर के बाहर शिफ्ट किया जाएगा।

प्रोजेक्ट रिपोर्ट पर यातायात पुलिस को देना होगा एक सप्ताह में सुझाव

दिल्ली रोड पर दिवाली के बाद जाम से जूझना पड़ेगा। हालांकि एनसीआरटी और यातायात पुलिस ने मिलकर यातायात व्यवस्था सुचारू रखने के लिए प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की है। एनसीआरटी की इस रिपोर्ट पर यातायात पुलिस को भी सुझाव के लिए एक सप्ताह का समय दिया है। उसके बाद ही फाइनल टच दिया जाएगा।

दिल्ली रोड पर बढ़ाई जाएगी पुलिस

रैपिड निमार्ण के दौरान दिल्ली रोड पर दोनों तरफ यातायात पुलिस और एनसीआरटी की तरफ से प्राइवेट लोग लगाए जाएंगे, जो यातायात व्यवस्था को सुचारू कराएंगे। ताकि शहर में जाम न लगे।

इनका कहना है

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र परिवहन निगम की टीम के साथ दिल्ली रोड की प्रोजेक्ट रिपोर्ट देखी गई है, जिसमें निर्माण कार्य के साथ यातायात भी संचालित किया जाएगा। उसके लिए भारी वाहनों का रूट डायवर्ट किया जाएगा। साथ ही दिल्ली रोड पर अतिरिक्त पुलिस बल लगाया जाएगा। तीन हिस्सों में निर्माण कार्य होने से यातायात कुछ स्थान पर ही प्रभावित होगा। यातायात को और सुगम बनाने के लिए अभी विचार विमर्श भी किया जा रहा है।

-जितेंद्र श्रीवास्तव, एसपी ट्रैफिक
कानपुर, जागरण स्पेशल। भगवान श्रीराम की जन्मभूमि अयोध्या, तपोभूमि चित्रकूट और पौराणिक नगरी प्रयाग के दर्शन अब एक साथ हो सकेंगे। आइआरसीटीसी इसके लिए श्रीराम पथ ट्रेन शुरू करने जा रही है। लॉकडाउन के बाद यह पहली टूरिज्म ट्रेन होगी जिसे शुरू किया जा रहा है। 
आइआरसीटीसी पहले भी भारत दर्शन से कई ट्रेनाें का संचालन करता था लेकिन लॉकडाउन के बाद सभी ट्रेनें बंद हो गईं। अब एक बार फिर देहरादून से श्रीराम पथ ट्रेन का शुभारंभ किया जा रहा है। यह ट्रेन 12 दिसंबर से चलेगी। ट्रेन को विशेष तौर पर अयोध्या, नंदीग्राम, प्रयाग और चित्रकूट में ठहराव दिया जाएगा। यहां यात्रियों को पौराणिक स्थलों के दर्शन कराए जाएंगे। पूरा सफर छह दिन और पांच रात का होगा। इस दौरान
...
more...
यात्रियों के ठहरने और उनके भोजन व नाश्ते की व्यवस्था भी आइआरसीटीसी के द्वारा की जाएगी। चारों जगहों पर एक-एक दिन का ठहराव होगा। 
आइआरसीटीसी अधिकारियों के मुताबिक कोविड संक्रमण के चलते यात्रा छोटी रखी गई है। यात्रियों की प्रतिक्रिया मिलने के बाद इसे विस्तार दिया जाएगा। अधिकारियों के मुताबिक लॉक डाउन से पहले भारत दर्शन के लिए जो ट्रेनें चल रही थीं उनमें कानपुर से अच्छा यात्री लोड रहता था। आइआरसीटीसी के प्रबंधक के मुताबिक यात्री ऑनलाइन टिकट की बुकिंग करा सकते हैं। सेंट्रल स्टेशन पर आइआरसीटीसी कार्यालय से भी टिकट की बुकिंग करायी जा सकती है। 
यह रहेगा रूट 
देहरादून से चलकर वाया हरिद्वार, मेरठ, गाजियाबाद, अलीगढ़, हाथरस, टूंडला, इटावा, कानपुर, अयोध्या, नंदीग्राम, प्रयाग, चित्रकूट होते हुए ट्रेन देहरादून वापस जाएगी। अधिकारियों के मुताबिक छह दिन पांच रात के सफर का किराया 5670 रुपये तय किया गया है। 
कानपुर होकर चलती थीं भारत दर्शन ट्रेनें
इनका ये है कहना 
कोरोना संक्रमण को देखते हुए छोटी यात्रा के साथ शुरूआत की जा रही है। यात्रियों की जैसी प्रतिक्रिया मिलेगी, उसी के अनुरूप रूट बढ़ाया जाएगा।
- अमित सिन्हा, प्रबंधक आइआरसीटीसी
Page#    398256 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy