Full Site Search  
Mon Jan 22, 2018 17:50:52 IST
Advanced Search
×
News Super Search
News Entry#:
Search Phrase:

Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Category:
Zone:
Language:
IR Press Release:

Trains in the News    Stations in the News   
Page#    2597 news entries  next>>
  
Today (13:12)  सीतापुर के रेल प्रोजेक्ट मांगें ‘रफ्तार’ (epaper.jagran.com)
back to top
Rail BudgetNER/North Eastern  -  

News Entry# 327602     
   Past Edits
Jan 22 2018 (13:26)
Station Tag: Aishbagh/ASH added by ©shuk™ RAILWAY My 1st crush^~/339802

Jan 22 2018 (13:26)
Station Tag: Sitapur Cantt./SCC added by ©shuk™ RAILWAY My 1st crush^~/339802

Jan 22 2018 (13:12)
Station Tag: Sitapur/STP added by ©shuk™ RAILWAY My 1st crush^~/339802
 
 
गो¨वद मिश्र, सीतापुर 1जिले का रेल विकास सीतापुर ही नहीं, अवध के कई जिलों के लिए बड़ी सौगातें लेकर आएगा। इसके लिए योजनाएं भी तय हैं। बस, दिक्कत यह है कि अधिकांश प्रोजेक्ट ‘सुस्त रफ्तार’ से चल रहे हैं।1सीतापुर-लखनऊ अमान परिवर्तन: सबसे पहले बात सीतापुर-लखनऊ अमान परिवर्तन की करते हैं। पहले यह मीटर गेज था। इस पर ऐशबाग से लखीमपुर और पीलीभीत होते हुए बरेली-मथुरा तक ट्रेनें चलती थीं। 16 मई, 2016 को इस पर रेल सेवा बंद हुई। इसके बाद मीटरगेज को ब्रॉडगेज (बड़ी लाइन) में बदलने का काम शुरू हुआ। शुरुआत में काम की रफ्तार ठीक रही मगर धीरे-धीरे काम सुस्त होता गया। इससे सबसे अधिक दिक्कत दैनिक यात्रियों को हो रही है। बजट की अड़चन न आई तो इस वर्षात प्रोजेक्ट पूरा होने की उम्मीद जताई जा रही है। इससे सीतापुर से लखीमपुर, पीलीभीत की राह भी आसान हो जाएगी।1रोजा-बुढ़वल रेल प्रखंड दोहरीकरण: इस प्रोजेक्ट पर रोजा की...
more...
ओर से काम तो शुरू हुआ मगर रफ्तार धीमी है। पटरियां बिछाने के लिए पटाई का काम चल रहा है। पुल भी बनने लगे हैं। यह कार्य 2019 के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है। यही नहीं, सीतापुर के अलावा लखीमपुर, बाराबंकी के लोगों को इससे सुविधाएं मिलेंगी। यह डबल लाइन पूर्वांचल से लगाकर देश की राजधानी तक के सफर को आसान बनाएगी। नैमिषारण्य में पर्यटन विकास की संभावनाएं भी इससे बढ़ेंगी।सीतापुर-शाहजहांपुर रेल प्रखंड पर महोली के निकट कठिना नदी पर निर्माणाधीन पुल’>> रोजा-बुढ़वल डबल लाइन होने से पूर्वाचल व दिल्ली का सफर आसान1’>> सीतापुर-लखनऊ अमान परिवर्तन कम करेगा दैनिक यात्रियों की टेंशन1सीतापुर में रेल सेवाएं बेहतर करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं। अभी पूवरेत्तर रेलवे की समीक्षा बैठक में भी सीतापुर-लखनऊ मेमू चलाने समेत कई प्रस्ताव रखे गए हैं। जिले के लोगों को बेहतर रेल सेवाओं के लिए अब ज्यादा इंतजार नहीं करना पड़ेगा।’1-राजेश वर्मा, सांसद सीतापुर
  
Today (13:12)  अयोध्या को आस, पटरी पर प्रयास (epaper.jagran.com)
back to top
Rail BudgetNER/North Eastern  -  

News Entry# 327601     
   Past Edits
Jan 22 2018 (13:12)
Station Tag: Ayodhya Junction/AY added by ©shuk™ RAILWAY My 1st crush^~/339802
Stations:  Ayodhya Junction/AY  
 
 
रविप्रकाश श्रीवास्तव ’ फैजाबाद1विधायक, सांसद, मेयर, मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री.. सब एक स्वर और एक रंग के। यह दिव्य संयोग उम्मीद जगा रहा है कि अयोध्या को रेल बजट में अब तक लंबित परियोजनाओं और स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाने के लिए जिन संसाधनों की दरकार है, वह सहज ही मिल सकेंगी।1पिछले रेल बजट में बहुत न सही पर अयोध्या-फैजाबाद को तवज्जो मिली थी। अयोध्या से रामेश्वरम् जुड़ा तो फैजाबाद जंक्शन पर निशक्तों के लिए स्वचलित सीढ़ियां लगाने का काम शुरू हुआ जो अब पूरा होने को है। दोहरीकरण की योजना को गति मिली तो पूर्वांचल से अयोध्या को जोड़ने के लिए बस्ती से नई रेल लाइन बिछाने की घोषणा की गई। 1पिछले साल प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी की सरकार बनने और नगर पालिका को नगर निगम का दर्जा हासिल होने के बाद अयोध्या में कई ग्रांड शो हो चुके हैं। अब उम्मीद है कि रेल बजट में भी ऐसा ही शो देखने...
more...
को मिलेगा। इसमें उन लंबित परियोजनाओं को भी गति मिलने की उम्मीद है जो अब तक सियासी वजहों से अटकी रही हैं। इनमें अयोध्या जंक्शन के कायाकल्प से लेकर फैजाबाद जंक्शन के बने मास्टर प्लान को धरातल पर लाने की योजना है। अयोध्या-फैजाबाद जंक्शन की पूछताछ सेवा भी यात्रियों की उम्मीद पर खरी नहीं उतर सकी हैं। फैजाबाद जंक्शन के प्लेटफार्म (नंबर एक) के विस्तार को लेकर रेल राज्यमंत्री तक घोषणा कर चुके हैं।1रेल यात्रियों की निरंतर बढ़ती संख्या और यात्र करने की प्रवृत्ति में हो रही वृद्धि को ध्यान में रखते हुए नई यात्री गाड़ियों का संचालन, गाड़ियों के फेरों में वृद्धि के साथ ही डिब्बों की संख्या में वृद्धि जरूरी है। यही अपेक्षा रेल बजट से अयोध्या व फैजाबाद को भी है। दक्षिण भारत से अयोध्या को जोड़ने के लिए मात्र एक ट्रेन ही चल सकी। फैजाबाद से दिल्ली के बीच यहां से एक और अतिरिक्त ट्रेन बढ़ाए जाने के साथ ही सुरक्षा की दृष्टि से रेलवे स्टेशनों पर आधुनिक सिक्योरिटी प्लान बनाने की दिशा में कार्य करना होगा। देश के धार्मिक स्थलों को एक-दूसरे से जोड़ने के लिए रेलवे की आस्था सर्किट योजना में अयोध्या को भी शामिल किया गया। 1उतरने लगे पार्सल तो बढ़ने लगे व्यापार: अयोध्या के व्यापारियों का नाता रेलवे की पार्सल व्यवस्था से टूटे दो दशक हो चुका है। अयोध्या के व्यापारियों के लिए रेलवे की पार्सल व्यवस्था काफी मुफीद मानी जाती थी। पीतल के बर्तन, धार्मिक पुस्तकें आदि वस्तुएं व्यापारी रेलवे से मंगा कर अपना व्यापार करते थे। अचानक रेलवे की ओर से अयोध्या जंक्शन पर पार्सल व्यवस्था बंद कर दी गई। व्यापारियों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ा।रविप्रकाश श्रीवास्तव ’ फैजाबाद1विधायक, सांसद, मेयर, मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री.. सब एक स्वर और एक रंग के। यह दिव्य संयोग उम्मीद जगा रहा है कि अयोध्या को रेल बजट में अब तक लंबित परियोजनाओं और स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाने के लिए जिन संसाधनों की दरकार है, वह सहज ही मिल सकेंगी।1पिछले रेल बजट में बहुत न सही पर अयोध्या-फैजाबाद को तवज्जो मिली थी। अयोध्या से रामेश्वरम् जुड़ा तो फैजाबाद जंक्शन पर निशक्तों के लिए स्वचलित सीढ़ियां लगाने का काम शुरू हुआ जो अब पूरा होने को है। दोहरीकरण की योजना को गति मिली तो पूर्वांचल से अयोध्या को जोड़ने के लिए बस्ती से नई रेल लाइन बिछाने की घोषणा की गई। 1पिछले साल प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी की सरकार बनने और नगर पालिका को नगर निगम का दर्जा हासिल होने के बाद अयोध्या में कई ग्रांड शो हो चुके हैं। अब उम्मीद है कि रेल बजट में भी ऐसा ही शो देखने को मिलेगा। इसमें उन लंबित परियोजनाओं को भी गति मिलने की उम्मीद है जो अब तक सियासी वजहों से अटकी रही हैं। इनमें अयोध्या जंक्शन के कायाकल्प से लेकर फैजाबाद जंक्शन के बने मास्टर प्लान को धरातल पर लाने की योजना है। अयोध्या-फैजाबाद जंक्शन की पूछताछ सेवा भी यात्रियों की उम्मीद पर खरी नहीं उतर सकी हैं। फैजाबाद जंक्शन के प्लेटफार्म (नंबर एक) के विस्तार को लेकर रेल राज्यमंत्री तक घोषणा कर चुके हैं।1रेल यात्रियों की निरंतर बढ़ती संख्या और यात्र करने की प्रवृत्ति में हो रही वृद्धि को ध्यान में रखते हुए नई यात्री गाड़ियों का संचालन, गाड़ियों के फेरों में वृद्धि के साथ ही डिब्बों की संख्या में वृद्धि जरूरी है। यही अपेक्षा रेल बजट से अयोध्या व फैजाबाद को भी है। दक्षिण भारत से अयोध्या को जोड़ने के लिए मात्र एक ट्रेन ही चल सकी। फैजाबाद से दिल्ली के बीच यहां से एक और अतिरिक्त ट्रेन बढ़ाए जाने के साथ ही सुरक्षा की दृष्टि से रेलवे स्टेशनों पर आधुनिक सिक्योरिटी प्लान बनाने की दिशा में कार्य करना होगा। देश के धार्मिक स्थलों को एक-दूसरे से जोड़ने के लिए रेलवे की आस्था सर्किट योजना में अयोध्या को भी शामिल किया गया। 1उतरने लगे पार्सल तो बढ़ने लगे व्यापार: अयोध्या के व्यापारियों का नाता रेलवे की पार्सल व्यवस्था से टूटे दो दशक हो चुका है। अयोध्या के व्यापारियों के लिए रेलवे की पार्सल व्यवस्था काफी मुफीद मानी जाती थी। पीतल के बर्तन, धार्मिक पुस्तकें आदि वस्तुएं व्यापारी रेलवे से मंगा कर अपना व्यापार करते थे। अचानक रेलवे की ओर से अयोध्या जंक्शन पर पार्सल व्यवस्था बंद कर दी गई। व्यापारियों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ा।फैजाबाद जंक्शन पर हो रहा प्लेटफार्म नंबर एक का विस्तारीकरण तथा निर्माणाधीन स्वचालित सीढ़ी ’ जागरणये परियोजनाएं हैं लंबित1’ फैजाबाद जंक्शन पर नई वा¨शग लाइन व वाशेबुल एप्रेन का निर्माण 1’ अयोध्या व फैजाबाद माल गोदाम का स्थानांतरण 1’ अयोध्या में नया फुट ओवरब्रिज निर्माण 1’ फैजाबाद जंक्शन के लिए तैयार मास्टर प्लान को अमल में लाना 1’ फैजाबाद-बस्ती रेल लाइन 1’ अयोध्या-मनकापुर रेल लाइन विद्युतीकरण1’ फैजाबाद व अयोध्या जंक्शन पर मुफ्त वाइफाई सुविधा
  
Yesterday (09:13)  गंगा के पानी से धुलेगी भागलपुर की ट्रेनें (m.jagran.com)
back to top
Rail BudgetER/Eastern  -  

News Entry# 327519     
   Past Edits
Jan 21 2018 (09:13)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by amishkumar~/1702584
Stations:  Bhagalpur Junction/BGP  
 
 
भागलपुर। भागलपुर से खुलने वाली रेल गाड़ियों की धुलाई आने वाले दिनों में गंगा के पानी से होगी। रेलवे बरारी घाट से सीधा पाइप के जरिए स्टेशन पर गंगा का जल लाएगा। इस पर करीब 20 करोड़ रुपये खर्च आएंगे। रेलवे बोर्ड ने मालदा मंडल के प्रस्ताव पर हरी झंडी दे दी है। इस काम को पूरा करने में रेलवे को दो साल लगेंगे। जंक्शन के यार्ड में पानी संचय करने के लिए टंकी और वॉटलिंग प्लांट लगाएगा। गर्मी के दिनों में रेलवे की बो¨रग का लेअर भाग जाने और बराबर बो¨रग में खराबी आने के कारण ट्रेनों की धुलाई और स्टेशन पर पानी की संकट हो जाता है। भविष्य में पानी का संकट न हो इसके लिए मालदा मंडल ने चालू वर्ष रेलवे बोर्ड के पास गंगा से पानी की आपूर्ति के लिए प्रस्ताव भेजा था। जिस पर मंत्रालय ने सहमति जताई है।
---------------------
...
more...

छोटी लाइन की रूट का होगा इस्तेमाल
रेलवे स्टेशन पर गंगा का पानी के लिए पाइप लाइन बिछाएगा। रेलवे ने इसके लिए जो रूट तय किया है वह भागलपुर-बरारी छोटी लाइन की जमीन है। हालांकि छोटी लाइन की जमीन अब अस्तित्व में नहीं है। छोटी लाइन की जमीन पर अतिक्रमण है। इसे अस्तित्व में लाने के लिए रेलवे को कड़ी मशक्कत करनी पड़ेगी।
------------------------
यात्रियों को भी पीने के लिए मिलेगा जल
रेलवे स्टेशन पर यात्रियों को पीने के लिए गंगा का पानी मिलेगा। योजना के मुताबिक बरारी इलाके में गंगा से पानी स्टेशन पर आएगा। यहां गंगा की पानी को पीने लायक बनाने के लिए ट्रीटमेंट प्लाट लगाया जाएगा। इसके बाद प्लेटफार्म और ट्रेनों की टंकी पानी की सप्लाई होगी।
-------------------------
कोट
बो¨रग खराब और लेअर दूर चले जाने के कारण स्टेशन पर पानी की किल्लत हो जाती है। स्टेशन पर गंगा का पानी लाया जाएगा। इसके काम पर 20 करोड़ खर्च आएंगे। रेलवे बोर्ड ने सहमति दे दी है। इसे धरातल पर लाने में दो साल का समय लगेगा।
-मोहित कुमार सिन्हा, डीआरएम, मालदा।
  
Yesterday (09:09)  गंगा नदी का पानी लाया जाया जायेगा भागलपुर स्टेशन तक, 20 करोड़ की बनी योजना (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Rail BudgetER/Eastern  -  

News Entry# 327518     
   Past Edits
Jan 21 2018 (09:09)
Station Tag: Bhagalpur Junction/BGP added by amishkumar~/1702584
Stations:  Bhagalpur Junction/BGP  
 
 
भागलपुर : गंगा का पानी पाइप लाइन से भागलपुर रेलवे स्टेशन तक लाया जायेगा. इसके लिए रेलवे ने तैयारी शुरू कर दी है. 20 करोड़ की यह योजना है. इसे आम बजट में शामिल किया गया है. यह बात शनिवार को भागलपुर रेलवे स्टेशन का निरीक्षण करने आये मालदा डिवीजन के डीआरएम मोहित कुमार सिन्हा ने कही. उन्होंने कहा कि गंगा का पानी पाइप के द्वारा स्टेशन तक लाया जायेगा. इस योजना को को पूरा होने में दो साल का समय लगेगा.
उन्होंने बताया कि पांच जनवरी को पूर्व रेलवे के महाप्रबंधक किऊल से भागलपुर तक का निरीक्षण करेंगे. उन्होंने बताया कि 27 जनवरी को उनके निरीक्षण की तैयारी को लेकर वे भागलपुर-किऊल तक का निरीक्षण करेंगे. ट्रेनों की रफ्तार 120
...
more...
िकमी करने की बात पर उन्होंने कहा कि इसके लिए विभाग तैयारी में है. गरीब रथ के रैक बढ़ाने को लेकर कहा कि उन्हें इसके इस बारे में कोई जानकारी नहीं है. स्टेशन अधीक्षक ओंकार प्रसाद, मुख्य यार्ड निरीक्षक डीसी झा सहित कई अधिकारी साथ थे.
  
Jan 19 2018 (17:52)  बजट 2018: रेलवे स्‍टेशनों पर सुरक्षा और यात्री सुविधाओं पर फोकस करेगी सरकार (www.punjabkesari.in)
back to top
Rail BudgetNR/Northern  -  

News Entry# 327391     
   Past Edits
Jan 19 2018 (17:52)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by OM SAI RAM ਆਦਿਤਯ ਕੁਮਾਰ~/1462045
 
 
नई दिल्‍लीः 1 फरवरी को पेश होने वाले आम बजट को लेकर सभी को उम्मीदें है। रेल यात्रियों की सुविधाओं पर इस बजट में खासा ध्‍यान दिया जा सकता है। आने वालोे बजट में रेलवे को लेकर काफी अपेक्षाए करी जी रही है जिसके तहत ये तबदीली होने के आसान लग रहे है।
- उम्‍मीद है कि इस बजट-2018 में 3400 करोड़ रुपए से देशभर के प्रमुख स्‍टेशनों पर एस्कलेटर और लिफ्ट की सुविधा उपलब्‍ध कराई जाए। इसके तहत करीब 3000 एक्‍सलेटर और 1000 लिफ्ट लगाई जाएंगी।
- इसके बाद दिव्‍यांग लोगों
...
more...
सहित अन्‍य यात्रियों को स्‍टेशन पर आने जाने में किसी भी कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ेगा।
- मुंबई के स्‍टेशनों पर 372 एस्‍कलेटर लगाए जा चुके हैं। इसके अलावा 2589 और एस्‍कलेटर लगाने की याेजना है जिससे ज्‍यादातर महत्‍वपूर्ण स्‍टेशन कवर हो जाएंगे।
-रेलवे ने स्‍कलेटर लगाने के लिए फार्म्‍यूलेे में बदलाव किया है। बदले मानकों से ज्‍यादा शहरी और सेमी शहरी स्‍टेशनों पर एस्‍कलेटर लगाए जा सकेंगे। रेलवे स्‍टेशनों की आय और यात्रियों की संख्‍या के हिसाब से एस्‍कलेटर लगाने का फैसला करती है।
- इस बार रेल बजट 2018 में सुरक्षा और यात्री सुविधाओं पर फोकस रह सकता है। इसके तहत ही स्‍टेशनों पर एस्‍कलेटर और लिफ्ट सहित अन्‍य सुविधाओं के लिए आवंटन बढ़ाया जा सकता है। रेल बजट 2018 आम बजट 2018 के साथ ही 1 फरवरी को पेश होगा।
बिज़नेस की खबरें
विदेशी मुद्रा भंडार 413.83 अरब डॉलर के रिकॉर्ड स्तर पर
सैट का प्राइस वॉटरहाउस को राहत से इनकार, SEBI की रोक बरकरार
खराब एयरबैग के चलते Honda ने भारत में वापस मंगवाई 22834 कारें
Pay-World ने छोटे कारोबारियों को दिया 10 करोड़ का कर्ज
बाजार का नया रिकार्ड, सैंसेक्स 35511 पर और निफ्टी 10,894 पर बंद
जेवराती मांग लुढ़कने से सोने की कीमतों में गिरावट, चांदी के दाम बढ़े
बजट 2018: रोजगार को बढ़ावा देने के लिए सरकार की बड़ी तैयारी
आंकड़े ऑनलाइन उपलब्ध होने से जनता रख सकती है नजरः जेटली
एसोचैम ने की मांग, बजट में शिक्षा क्षेत्र का रखा जाए खास ख्याल
Page#    2597 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.