Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

आम लोग: "रेल फैनिंग आती नहीं". RailFans: "रेल फैनिंग जाती नहीं" - Md Asif

Search News

News Posts by Vcpl Jbp

Page#    Showing 1 to 5 of 1080 news entries  next>>
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. रेलवे में ट्रेड यूनियन की मान्यता के चुनाव की उलटी गिनती शुरू हो गई है. पूरे देश में लगभग साढ़े 13 लाख कर्मचारी अपनी मनपसंद यूनियन को चुनने के लिए आगामी 28 व 29 अगस्त को मतदान करेंगे. पश्चिम मध्य रेलवे में जबलपुर, भोपाल और कोटा रेल मंडलों के अलावा भोपाल व कोटा वर्कशॉप के लगभग 55 हजार कर्मचारी वोट डालेंगे. मतदान की तारीख घोषित होते ही रेलवे के श्रमिक संगठनों ने अपनी तैयारियां तेज कर दी है.
रेलवे में ट्रेड यूनियनों की मान्यता के लिए तृतीय बार होने जा रही सीक्रेट बैलेट का शंखनाद हो चुका है. रेल ट्रेड यूनियनों की मान्यता के लिए रेल कर्मचारियों के बीच ही गुप्त मतदान (सीक्रेट बैलेट) अगले माह 28 व 29
...
more...
अगस्त को कराया जाएगा. इसके लिए जहां रेल ट्रेड यूनियनों की ओर से व्यापक तैयारियां की जा रही हैं, वहीं रेलवे प्रशासन की ओर से चुनावी तैयारियों पर काम शुरू किया गया है.
2008 में पहली बार हुआ था सीक्रेट बैलेट से चुनाव
पहली बार रेलवे में कर्मचारियों संगठनों की मान्यता के लिए 2008 में चुनाव कराया गया था. चुनाव में 35 फीसद वोट हासिल करने वाले ट्रेड यूनियनों को ही मान्यता देने का नियम रेलवे प्रशासन द्वारा बनाया गया था. 2008 व 2013 में हुए चुनाव में 35 फीसद से ज्यादा वोट हासिल कर पश्चिम मध्य रेलवे में वेस्ट सेट्रल रेलवे एम्पलाइज यूनियन व पमरे मजदूर संघ ने मान्यता हासिल की थी, इस चुनाव में लगातार डबलूसीआरईयू सर्वाधिक मत लेकर नंबर वन का तमगा हासिल करता रहा है. इस बार भी रेलवे प्रशासन की ओर से रेल ट्रेड यूनियन मान्यता के लिए 35 फीसद वोट हासिल करने के नियम को ही सामने रखा गया है. लिहाजा चुनाव में जीत के लिए सभी ट्रेड यूनियनें पूरी शक्ति के साथ मैदान में उतर रही है.
ईसीसी सोसायटी चुनाव से उत्साहित है डबलूसीआरईयू
पिछले माह जून में पमरे के जबलपुर व भोपाल मंडल में रेलवे की क्रेडिट सोसायटी चुनाव में डबलूसीआरईयू को जिस प्रकार जबर्दस्त सफलता हासिल हुई है, उससे यूनियन उत्साहित है और उसे पूरी उम्मीद है कि जिस प्रकार का कार्य उसने कर्मचारियों के बीच लगातार रहकर किया है, उससे इस बार भी वह मान्यता के चुनाव में सर्वाधिक मत प्राप्त करेगी.
आज का दिन : ज्योतिष की नज़र में
जानिए कैसा रहेगा आपका भविष्य
खबर : चर्चा में
1. RBI के खिलाफ आजादी के बाद पहली बार सरकार ने किया विशेष शक्ति का इस्तेमाल
2. CM योगी का राम मंदिर पर बड़ा बयान- धैर्य रखें, दिवाली पर खुशखबरी दूंगा
3. मध्यप्रदेश स्थापना दिवस विशेष...देखें हैं रंग हजार
4. न्यूनतम वेतन पर 'आप' की जीत, दिल्ली हाईकोर्ट के फैसले पर SC ने लगाई रोक
5. सार्वजनिक वाहनों में अब जरूरी होगा लोकेशन ट्रेकिंग एवं आपात बटन
6. 50 पैसे का ये दुर्लभ सिक्का आपको दिला सकता है 51 हजार 500 रुपए, जानें कैसे
7. ईज ऑफ डुइंग बिजनेस: भारत 23 पायदान की छलांग लगा 100 से पहुंचा 77 वें स्थान पर
8. दिवाली पर घर जाने के लिए ऐसे कराएं कन्फर्म तत्काल टिकट
9. MeToo:HC ने खारिज की छानबीन के लिए निर्देश की मांग वाली याचिका
10. भारत में आर्थिक वृद्धि सुनिश्चित करने एक दशक में 10 करोड़ नए रोजगार की जरूरत
11. मंगलनाथ की भात पूजा सहित इन उपायों से कर्ज संकट कम होता
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. दानापुर से चलकर उधना जाने वाली एक्सप्रेस ट्रेन में आज सोमवार 22 जुलाई की सुबह जबलपुर पहुंचने के लगभघ 15 मिनट पहले देवरी स्टेशन के समीप ट्रेन में यात्रा कर रही एक गर्भवती महिला को अचानक ट्रेन के झटके खाने से पेट में तेज दर्द उठा और उसने एक बच्ची को जन्म दिया. महिला को जबलपुर स्टेशन पर उपचार दिया और एल्गिन अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया गया है.
घटना के संबंध में जनरल कोच में यात्रा कर रहे यात्री सत्येन्द्र यादव ने बताया कि वह अपनी पत्नी ललिता और एक साल के बेटे के साथ बक्सर से सूरत की यात्रा कर रहे थे.
दोनों
...
more...
ट्रेन के गार्ड के आगे लगे जनरल डिब्बे में बैठे थे. सूरत मजदूरी करने जा रहे सतेंद्र की पत्नी गर्भवती थी, उसे यह नहीं मालूम था कि सफर के समय डिलिवरी हो जाएगी. देवरी स्टेशन के पास अचानक झटका लगने से महिला की डिलिवरी हो गई. इसके बाद यात्रियों ने जंजीर खींचकर ट्रेन को रोका और गार्ड को जानकारी महिला ने बेटी को जन्म दिया है, यह सूचना गार्ड ने डिप्टी एसएस अमित चंसोरिया को दी, इसके बाद जब उक्त ट्रेन जबलपुर स्टेशन पर आकर रुकी, तब महिला रेल डॉक्टर ने उसका उपचार किया और ट्रेन से उतारकर उसे एल्गिन हॉस्पिटल भेज दिया.
  
पलपल संवादादाता, जबलपुर. देश भर में एसी कोच अटेेंडेंट अवैध रूप से सामानों की स्मगलिंग के काम में लिप्त पाये जा रहे हैं, ऐसा ही एक मामला जबलपुर में सामने आया, जब आरपीएफ को खबर लगी कि मुंबई-हावड़ा मेल में एसी कोच अटेंडेंट बड़ी मात्रा में सामान स्मगलिंग कर ले जा रहे हैं. दबिश दी गई तो लिनेन केबिन और सीट के नीचे बड़़ी मात्रा में थाईलैंड के फलों की टोकरियां व होजरी का सामान रखा था. फल को जबलपुर में उतारा जाना था, यह फल कृष्णा मालपाणी के घर पहुंचना था.
बताया जाता है कि आरपीएफ मुखबिर से रविवार 21 जुलाई को सूचना मिली थी कि ट्रेन संख्या 12322 डाउन मुंबई-हावड़ा मेल में काफी सामान अवैध रूप से ले जाया जा
...
more...
रहा है, जिस पर आरपीएफ पोस्ट प्राभारी वीरेन्द्र सिंह ने जब मुंबई-हावड़ा मेल के एसी कोच को चैक किया तो उसमें रखे थाईलैंड के फलों के 4-5 कार्टून, 3-4 बोरे होजरी और अन्य सामग्री मिली. पूछताछ में कोच अटेंडेंट खुर्शीद आलम ने स्वीकार किया है कि उसने सभी कार्टून और बोरे मुंबई से कोच में रखा है. इसके बदले उसे 5 हजार रुपए मिले हैं.
थाईलैंड के फलों के शौकीन जबलपुरिया
जानकारी के मुताबिक आज दोपहर करीब 1.30 बजे जैसे ही मुम्बई-हावड़ा मेल प्लेटफार्म पर आकर रुका. उसके एसी वन कोच में भारी मात्रा में कार्टून सीट के नीचे, लेनिन केबिन में रखे मिले, जिसे आरपीएफ प्रभारी द्वारा सभी कार्टून और बोर ट्रेन से उतरवा लिए और कोच अटेंडेंट खुर्शीद आलम को गिरफ्तार कर लिया. पोस्ट में कार्टून खोलकर देखने पर उसमें थाईलैंड के सिंघाड़े, सेव तरबूज, संतरा, कीवी फल रखे हुए हैं. इसके अलावा बोरों में लाखों के विदेशी कपड़े हैं. इससे स्पष्ट हो गया कि जबलपुर के कुछ रईसों को भारतीय फल रास नहीं आ रहे, उन्हें विदेशी फलों के स्वाद से लगाव है.
जप्ती बनी, कोच अटेंडेंट से पूछताछ
आरपीएफ ने कोलकाता निवासी 28 वर्षीय खुर्शीद से पूछताछ की उसका कहना था कि विदेशी फल के कार्टून मुम्बई से जबलपुर लाया हूं. यहां सुरेश तिवारी को देना था. फिलहाल आरपीएफ ने. सभी को जप्त कर लिया है. फल कार्टून छुड़ाने के लिए पोस्ट प्राभारी के ऊपर भारी दबाब बनाया जाता रहा.
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. उत्तर मध्य रेलवे के इलाहाबाद सिटी और प्रयाग जंक्शन के बीच दोहरीकरण कार्य के चलते संबंधित रूट पर नॉन इंटरलाकिंग का कार्य किया जाना है, जिसके चलते कई गाडिय़ों को रद्द किया गया है तो कई ट्रेनों को प्रयागराज (इलाहाबाद) स्टेशन की बजाय छिवकी से चलाने का निर्णय लिया गया. जिन गाडिय़ों को रद्द किया गया है, उनमें मडुआडीह-जबलपुर मडुआडीह, एलटीटी-आजमगढ़-एलटीटी शामिल है.
रेल प्रशासन के मुताबिक इलाहाबाद सिटी और प्रयाग जंक्शन के रास्ते इलाहाबाद जंक्शन जाने वाली तमाम ट्रेनें अगले कुछ दिन इलाहाबाद छिवकी से पकडऩी होगी, क्योंकि जंक्शन से प्रयाग रेलवे स्टेशन तक दोहरीकरण कार्य के मद्देनजर अब संबंधित रूट पर नॉन इंटरलॉकिंग का कार्य किया जाना है. इस वजह से प्रयाग और इलाहाबाद सिटी (रामबाग)
...
more...
के रास्ते इलाहाबाद जंक्शन आने वाली कई ट्रेनों का रूट बदला जा रहा है. यह व्यवस्था 22 जुलाई से लेकर सात अगस्त तक रहेगी. इस अवधि में अलग-अलग तिथियों में चार ट्रेनें निरस्त भी रहेंगी.
यह ट्रेन रहेगी रद्द
नॉन इंटरलॉकिंग कार्य के चलते मंडुवाडीह-जबलपुर एक्सप्रेस 3 अगस्त, जबलपुर-मंडुवाडीह एक्सप्रेस 4 अगस्त, लोकमान्य तिलक-आजमगढ़ एक्सप्रेस 31 जुलाई और आजमगढ़-लोकमान्य तिलक एक्सप्रेस 2 अगस्त को निरस्त रहेगी. उधर रेलवे ने नॉन इंटरलॉकिंग की वजह से जिन ट्रेनों का मार्ग परिवर्तन किया है उसमें से 15 ट्रेनें प्रयाग से इलाहाबाद जंक्शन एवं 12 ट्रेनें इलाहाबाद सिटी से जंक्शन की ओर आने वाली हैं. इन सभी 25 ट्रेनों में सफर करने के लिए यात्रियों को इलाहाबाद छिवकी रेलवे स्टेशन जाना होगा. इन सभी ट्रेनों का छिवकी में दो मिनट का ठहराव होगा.
प्रयाग से जंक्शन आने वाली ये ट्रेनें इन तिथियों में मिलेंगी छिवकी से
- यशवंतपुर-लखनऊ 22, 29 जुलाई, पांच अगस्त
- दुर्ग-छपरा सारनाथ एक्सप्रेस 28, 29 एवं 30 जुलाई
- रांची-लोकमान्य तिलक 31 जुलाई
- लोकमान्य तिलक-रांची तीन अगस्त
- छपरा-दुर्ग सारनाथ एक्सप्रेस 31 जुलाई, एक अगस्त
- एलटीटी-वाराणसी कामायनी 30, 31 जुलाई, 04, 05, 06 अगस्त
- वाराणसी-एलटीटी कामायनी 31 जुलाई, 01, 05, 06, 07 अगस्त
- एलटीटी-गोरखपुर गोदान एक्स 31 जुलाई, 02, 04, 05 अगस्त
- एलटीटी-छपरा पवन एक्सप्रेस 30 जुलाई, 01, 03, 06 अगस्त
- गोरखपुर-एलटीटी गोदान एक्स 31 जुलाई, 02, 04, 06, 07 अगस्त
- छपरा-एलटीटी पवन एक्सप्रेस 01, 03, 05 अगस्त
- एलटीटी-गोरखपुर काशी एक्स. 31 जुलाई
- गोरखपुर-एलटीटी काशी एक्स. 31 जुलाई.
इलाहाबाद सिटी से जंक्शन आने वाली ये ट्रेनें इन तिथियों में मिलेंगी छिवकी से
पुणे-गोरखपुर एक्सप्रेस 01 अगस्त
पुणे-मंडुवाडीह ज्ञानगंगा एक्स. 05 अगस्त
एलटीटी-रक्सौल एक्सप्रेस 30 जुलाई
पुणे-दरभंगा एक्सप्रेस 31 जुलाई, 06 अगस्त
गोरखपुर-पुणे एक्सप्रेस 03 अगस्त
मंडुवाडीह-पुणे ज्ञानसंगा एक्स. 31 जुलाई, 07 अगस्त
रक्सौल-एलटीटी एक्सप्रेस 03 अगस्त
दरभंगा-पुणे एक्सप्रेस 02 अगस्त
सिकंदराबाद-दानापुर एक्स. 30, 31 जुलाई
दानापुर-सिकंदराबाद एक्स. 31 जुलाई, 01 अगस्त.
  
पलपल संवाददाता, जबलपुर. रेलवे ने निर्णय लिया है कि रिटायर रेलकर्मियों की पत्नी व वयस्क पुत्र-पुत्रियां भी एटीवीएम के माध्यम से जनरल रेल टिकट बेच सकेंगे. इस संबंध में रेलवे बोर्ड ने सभी जोनल रेलवे को आदेश जारी कर दिया है. रेलवे से सेवानिवृत हो चुके कर्मचारियों व उनक परिजनों के लिए एक राहत भरी खबर है. ऐसा इसलिए क्योंकि एक तरफ जहां अब रेलवे ने सभी छोटे व बड़े स्टेशनों पर यात्रियों को अनारक्षित टिकट काउंटर्स पर लगने वाली लंबी लाइनों से निजात दिलाने के लिए ऑटोमैटिक टिकट वैडिंग मशीनें (एटीवीएम) लगाने का निर्णय लिया है.
वहीं दूसरी तरफ यात्रियों की मदद के लिए सहायक के रूप में सेवानिवृत्त रेलवे कर्मचारी के अलावा उसकी प7ी या वयस्क पुत्र/पुत्री को भी टिकट
...
more...
बांटने की अनुमति दे दी है. अभी रेलवे केवल सेवानिवृत्त कर्मचारियों को ही सहायक नियुक्त करता है. यात्री को मशीन की प्रक्रिया पता नहीं होने से टिकट लेने में दिक्कत आ जाती है, ऐसे में ये सहायक एटीवीएम से टिकट निकालकर यात्रियों को देंगे.
अभी केवल रिटायर कर्मी ही बेच सकता था टिकट
अभी तक रेलवे में यह व्यवस्था कि रिटायर रेल कर्मी एटीवीएम के माध्यम से रेल टिकट बेच सकता था, इसके अलावा अन्य कोई व्यक्ति चाहे वह पुत्र-पुत्री या पत्नी ही क्यों न हो, वह टिकट नहीं बेच सकता था, कई बार पकड़े जाने पर जुर्माना की कार्रवाई भी की जाती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं हो सकेगा.
Page#    1080 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy