Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE

Mandovi Express - the best 5-Star Restaurant in the world

Search News

News Posts by Saurabh®

Page#    Showing 1 to 5 of 4857 news entries  next>>
फरीदाबाद औद्योगिक नगरी के लिए राहत भरी खबर है। रेलवे ने उद्योगों के सभी प्रकार के उत्पाद को देश के एक कोने से दूसरे कोने तक पहुंचाने की योजना बनाई है। इससे समय की बचत के साथ ट्रांसपोर्ट खर्च में भी कमी आएगी। इस योजना से सड़कों पर हैवी वाहनों का लोड भी कम हो जाएगा। यहीं नहीं रेलवे लोडेड ट्रक को भी वैगन में लोडकर संबंधित स्थान तक पहुंचाएगा। दिल्ली डिवीजन के रेल अधिकारियों ने फरीदाबाद, गुड़गांव, पलवल, सोनीपत, पानीपत समेत एनसीआर के उद्योगों से संपर्क करना शुरू कर दिया है।

पिछले
...
more...
एक सप्ताह में रेलवे फरीदाबाद से गोहाटी, बैंगलुरू, दानापुर, हैदराबाद, विजयवाड़ा, विशाखापट्नम, चेन्नई, रायपुर समेत कई जगहों पर उत्पाद पहुंचा चुका है। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि एक ट्रक को फरीदाबाद से मुंबई भेजने में 5 से 6 दिन लगते हैं। और 65 से 70 हजार रुपए खर्च आता है। लेकिन रेलवे से माल भेजने में कुल खर्च 40 से 45 हजार रुपए खर्च होंगे और महज 30 घंटे में माल पहुंच जाएगा।

उद्योग सभी प्रकार के उत्पाद भेज सकेंगे

फरीदाबाद-पलवल सेक्शन के ट्रैफिक इंस्पेक्टर कुमार घनश्याम ने बताया कि औद्योगिक संस्थान अपने सभी प्रकार के उत्पाद को रेलवे के जरिए एक स्थान से दूसरे स्थान तक भिजवा सकते हैं। खासकर जेसीबी,ट्रैक्टर, क्रेन के अलावा घरेलू उत्पाद, गारमेंट और अन्य सामानों को ले जाने की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि अभी तक सामान भेजने के लिए कम से कम 40 बोगी बुक करानी होती थी। लेकिन अब ऐसा नहीं है। उद्यमी को जितनी बोगी की जरूरत होगी उतनी उपलब्ध कराई जाएगी।

लोडेड ट्रक को भी पहुंचाने की योजना

टीआई ने बताया कि रेलवे ने लोडेड ट्रक को भी पहुंचाने की व्यवस्था की है। यानि ट्रक, उद्योगों से माल लोड कर स्टेशन पहुंचेगा और उसे बोगी में सीधे लोडकर संबंधित स्थान तक भिजवाया जाएगा। साथ ही कहा कि ट्रकों को लोड करने के लिए रेलवे ने डीबीकेएम बोगी की व्यवस्था की है। वहीं दिल्ली डिवीजन ने सभी औद्योगिक जगहों पर व्यवस्था शुरू कर दी है।

अधिकारी कर रहे उद्योगपतियों से संपर्क

बता दें कि अभी उद्योगपतियों को अपने सामान दूसरे राज्यों में भेजने के लिए रेलवे से संपर्क करना पड़ता था। लेकिन अब रेलवे अधिकारी खुद उद्योगपतियों से संपर्क कर उनके उत्पाद की बुकिंग कर संबंधित स्थानों तक पहुंचाने की व्यवस्था करेंगे। इसके लिए रेलवे की क्षेत्रीय प्रबंधक भावना जैन अपनी टीम के साथ औद्योगिक संस्थानों में जाकर उत्पाद रेलवे से भिजवाने पर जोर दे रही हैं। रेल अधिकारियों का दावा है कि रोड ट्रांसपोर्ट की अपेक्षा रेलवे से सामान पहुंचाने में 40 से 50 फीसदी तक खर्च में कमी आएगी।

उत्पाद भेजने के लिए यहां करें संपर्क

उद्योगपतियों को अपने सामान भिजवाने के लिए रेल अधिकारियों ने स्टेशन अधीक्षकों के नंबर भी जारी किए हैं। कोई भी उद्यमी सामान भिजवाने के लिए ओल्ड फरीदाबाद स्टेशन अधीक्षक के नंबर 9717634322, न्यूटाउन अधीक्षक 9717634323, बल्लभगढ़ अधीक्षक 9729531930, असावटी अधीक्षक 9729531955, पलवल अधीक्षक 9729531931 पर संपर्क कर सकते हैं।


Copyright © 2021-22 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.
रेलवे सुरक्षा बल(आरपीएफ) अपना स्थापना दिवस मना रहा है। एक सप्ताह तक चलने वाले कार्यक्रम में आरपीएफ जवान रेल यात्रियों को जागरुक कर रहे हैं। साथ ही ट्रेन में होने वाली घटनाओं के प्रति भी लोगों को जागरुक किया जा रहा है। इस दौरान जवानों ने यात्रियों की सुरक्षा का संकल्प लेते हुए 24 घंटे यात्रियों की मदद करने का भरोसा दिया है।

आरपीएफ पोस्ट प्रभारी उत्तम कुमार तोमर ने बताया कि इस साल 20 से 26 सितम्बर तक आरपीएफ सप्ताह मना रहा है। उन्होंने फरीदाबाद में तैनात विभाग की उपलब्धियां भी
...
more...
गिनाई। साथ ही बताया कि जवानों ने अपनी जान की परवाह किए बिना चार महिला यात्रियों को जान बचाई। जान बचाने वाले जवान को उत्तर रेल मुख्यालय द्वारा जीवन रक्षा पदक के लिए नामित किया है। पिछले साल फरीदाबाद टीम ने रेल सम्पत्ति की चोरी करने वाले 8 सदस्यीय गिरोह समेत 14 अपराधियों को पकड़ा था। रेल नियमों का उलंघन करने वाले 505 व्यक्तियों के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई की गई थी। टीम ने 29 असहाय बच्चों को सकुशल परिजनों तक पहुंचाने में सफलता हासिल की। इसके अलावा रेलवे लाइन के किनारे बसी बस्तियाें में अभियान चलाकर हादसों से बचने की जानकारी दी थी।


Copyright © 2021-22 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.
Sep 22 (20:58) Indian Railways supplies state-of-the-art passenger coaches to Sri Lanka; details (www.financialexpress.com)
Metro
0 Followers
2948 views

News Entry# 465549  Blog Entry# 5072516   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
This consignment is a part of USD 82.6 million contract, to supply as many as 160 passenger coaches to the island nation of Sri Lanka, funded under an Indian Line of Credit of USD 318 million.

Assisting Sri Lanka in the development of its railway infrastructure, Indian Railways supplied a consignment of 20 passenger coaches to Sri Lanka Railways recently. According to a statement issued by the High Commission of India in Colombo, the state-of-the-art coaches have been transported to the neighbouring country by Rail India Technical and Economic Service (RITES). On
...
more...
17 September 2021, these 20 passenger coaches reached Colombo Port. This consignment is a part of USD 82.6 million contract, to supply as many as 160 passenger coaches to the island nation of Sri Lanka, funded under an Indian Line of Credit of USD 318 million, it further said. So far, 60 out of 160 passenger coaches have been supplied to Sri Lanka Railways while 20 more passenger coaches are ready to be shipped from India.

These ‘India-made’ coaches have been custom made and manufactured as per the requirements of Sri Lanka Railways by Integral Coach Factory (ICF), Chennai. The PSU- RITES Limited is also scheduled to supply two air-conditioned DMUs to Sri Lanka under the Indian Line of Credit of USD 318 million. The first air-conditioned DMU set consisting of 13 coaches is ready to be shipped from India and is waiting for nomination of ship by Sri Lanka. Some of the other projects under this line includes railway line’s upgradation from Maho to Omanthai (128 kilometres long), Signalling project from Maho to Anuradhapura, Double Tracking of rail line from Polgahawela to Kurunegala, etc.

Previously, RITES Limited has supplied six DMUs (contract was completed in October 2019) and ten Diesel Locomotives (contract was completed in June 2020) to Sri Lanka Railways, funded under a separate Line of Credit, the High Commission of India in Colombo said. India’s overall assistance to the island nation for development is close to USD 3.5 billion. Railway infrastructure’s development in Sri Lanka is a sector of special focus. In this connection, installation of signal and telecommunication system (330 Kilometres), reconstruction of railway lines (268 Kilometres), up gradation of coastal railway line (118 Kilometres) have been completed already. Currently, multiple projects are at different stages of implementation.
Sep 22 (11:31) Breakthrough for BMRCL (bangaloremirror.indiatimes.com)
Metro
BMRC/Bangalore Metro
0 Followers
4663 views

News Entry# 465513  Blog Entry# 5071960   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
As Namma Metro’s TBM, Urja, finishes drilling 855 metres in 13 months, the machine strikes a milestone for Phase II of the corporation’s projectOne of Bengaluru Metro Rail Corporation’s (BMRCL’s) nine Tunnel Boring Machines (TBMs) is expected to achieve its first breakthrough at the Shivajinagar Metro station today. The TBM, ‘Urja’, has covered a distance of 855 metres over a period of 13 months. Its progress indicates that its drilling journey was not easy, as the machine took longer to cover the distance than the machines that had been deployed during the first phase of Namma Metro’s project.It’s learnt that Chief Minister Basavaraj Bommai will be present at the site to witness the milestone, as the Metro records the opening of two Metro lines of Phase II this year. Urja was the first TBM to get commissioned to begin work at Cantonment Metro Station last year, in July.If one may trust...
more...
BMRCL’s newsletters, it seems that two other TBMs may achieve similar significant breakthroughs by the end of this year. The TBM Vidhya, which has been following Urja from Cantonment to Shivajinagar, has completed about 75 per cent of its total tunnelling target. Vidhya was commissioned to follow Urja in September last year. ‘Varada’, another TBM tunneling between Rastriya Military School and Langford Town, has also displayed significant progress by achieving 72.8 per cent of its target within six months.TBMs ‘Avni’ and ‘Lavi’, which have been covering the distance between Shivajinagar and Rastriya Military School, have finished 58 and 32 per cents of their targets, respectively. Since both the machines have been moving at a slower pace, the city may have to wait for another year to witness their breakthroughs.TBMs ‘Rudra’ and ‘Vamika’ — currently tunnelling between South Ramp and Dairy Circle — have achieved 55.46 and 28.3 per cents of their targets, respectively. TBMs ‘Bhadra’ and ‘Tunga’, tunnelling at Venkateshpura, were recently commissioned and they have achieved as low as 7 and 2.37 per cents of their targets, respectively.The nine TBMs were deployed by three different construction companies — L&T Limited, ITD Cementation India and Afcons Infrastructure Limited — as part of their contracts. The entire project, including a 14-kilometre-long underground line that will run through the heart of the city, is targeted to get completed by 2026. The underground line connects the elevated Metro line, currently under construction, and culminates at Gottigere.
दि‍ल्ली मेट्रो की ग्रे लाइन द्वारका-नजफगढ़ कॉरिडोर के कुल 4.2 किलोमीटर लंबे मेट्रो रूट को आज शाम 4 बजे शनिवार को यात्रियों के लिए खोल दिया गया है। दि‍ल्ली मेट्रो के नजफगढ़-ढासा बस स्टैंड कॉरिडोर खुलने से दिल्ली के 50 गांवों को फायदा होगा। बाहरी दि‍ल्ली के बाहरी दि‍ल्ली सहित हरियाणा के झज्जर सहित गांवों में रहने वाले हजारों लोग अब बिना कि‍सी झंझट के मेट्रो में सफर करेंगें।

केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी और सीएम केजरीवाल ने शनिवार को नजफगढ़-ढासा बस स्टैंड कॉरिडोर का उद्घाटन विडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से
...
more...
किया। इस अवसर पर केंद्रीय शहरी विकास मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि नजफगढ़-ढासा बस स्टैंड कॉरिडोर स्टेशन को 4 लेवल पर किया गया डिजायन किया। पुरी ने कहा कि मेट्रो विस्तार में केंद्र ने बड़ा सहयोग हुए आम लोगों को मेट्रो की यह सौगात दी है। उन्होंने कहा कि सरकार बनने के कुछ समय बाद ही इस स्ट्रेच को अप्रूव कि‍या ओर केंद्र ने इसकी मंजूरी दी।

बाहरी दि‍ल्ली के लि‍ए यह बड़ी सौगात है: केजरीवालदि‍ल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि बाहरी दि‍ल्ली के लि‍ए यह बड़ी सौगात है। खासकर नजफगढ़ क्षेत्र के लि‍ए खुशी का पल है। यह रूट अभी तक दि‍ल्ली गेट तक खत्म हो जाता था पर अब करीब 50 गांव ऐसे हैं जहां से लोग बड़ी संख्या में दि‍ल्ली काम करने के लि‍ए आते हैं, जिन्हें इस लाइन के शुरू होने का बहुत फायदा होगा। इस रूट के खुलने के बाद यात्रियों को अब सीधे बल्लभगढ़, गुरुग्राम, गाज‍ियाबाद, शाहदरा आने जाने के लि‍ए मेट्रो सुविधा मिल गई है।

2015 चुनावों के दौरान जनता ने की थी मेट्रो विस्तार की मांगकेजरीवाल ने कहा कि जब 2015 में दि‍ल्ली विधानसभा चुनावों के मद्देनजर नजफगढ़ आना होता था तो जनता की ओर से इस स्टेशन तक मेट्रो लाने की डिमांड की जाती रही। आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद इस प्रोजेक्ट को आगे बढ़ाते हुए शनिवार को सौगात दी गई है।

Copyright © 2021-22 DB Corp ltd., All Rights Reserved

This website follows the DNPA Code of Ethics.
Page#    4857 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy