Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

Follow my Trip Android app

Sri Jagannath Express is as good as Abada Prasad - Brandon Buffard

Search News

News Posts by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐

Page#    Showing 1 to 5 of 3761 news entries  next>>
Sep 18 2019 (10:30) ट्रेन में मृत आत्माओं के नाम से होती है सीट बुक, परिजन देते हैं पहरा (aajtak.intoday.in)
Commentary/Human Interest
0 Followers
4340 views

News Entry# 391312  Blog Entry# 4431343   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
18 सितंबर 2019
क्या आप जानते हैं क‍ि भारतीय रेल में मृत व्यक्तियों के नाम से भी सीट रिजर्व होती है. जी हां...ट्रेनों में पितरों के नाम से सीट रिजर्व कर उन्हें ‘गयाजी’ लाते हैं. पिंडदानी इंसानों की तरह ट्रेन की रिजर्व बर्थ पर ‘पितरों’ के रूप में ‘नारियल और बांस’ से निर्मित ‘पितृदंड’ को सुलाकर लाया जाता है. ‘गयाजी’ पितृदंड निर्माण के लिए पितरों के अंतिम संस्कार से संबंधित श्मशान घाटों की पवित्र मिट्टी का इस्तेमाल क‍िया जाता है.
गया में 15 दिनों तक चलने वाले पितृपक्ष महासंगम मेले में देश
...
more...
के कोने-कोने से लाखों हिन्दू सनातन धर्मावलम्बी अपने पितरों का उद्धार और मोक्ष दिलाने के लिए गया में पिंडदान, तर्पण व श्राद्ध कार्य करते हैं लेकिन उड़ीसा  के कांटामांझी से आये पिंडदानियों का दल अपने साथ मृत पूर्वजों का रेल टिकट कटा कर यहां लाए हैं.
उन्होंने बताया क‍ि अपने पूर्वजों के प्रति आस्था है, तभी इतनी संख्या में लोग आते हैं. वह अपने साथ साधारण से दिखने वाले डंडे की टिकट बुक करा कर बर्थ पर रख कर यहां लाए हैं जिसे वे पितृदंड कहते हैं. इसके बारे में बताया कि इस पितृदंड में अपने पूर्वजों से जुड़ी चीजें गांठ के रूप में बांधते हैं. इसे लाने से पहले वहां 7 दिनों तक भगवदगीता पाठ का आयोजन कराते हैं. उसके बाद सभी सदस्यों में सबसे पहले पितृदंड का रिजर्वेशन कराते हैं फिर बाकी के सदस्यों का टिकट होता है.
टिकट के बाद कोच के बर्थ पर पितृदंड को लिटा कर लाते है. इस बीच ट्रेन में टीटीई भी पूछते है क‍ि यह क्या तो उन्हें बताया जाता है और उनका टिकट भी दिखाया जाता है. अब सभी सदस्य रास्ते मे 2-2 घंटे का पहरा देते हैं ताकि कोई परेशान न करे, कोई ठोकर न मार दे. जिस तरह से पूर्वज अपने बच्चों को संभालते है, उसी तरह अब उनके वंशज अपने पूर्वजों को संभाल कर यहां लाते हैं और फिर यहां पिंडदान करते हैं.
गयाजी में वर मित्तल के पर‍िवार ने बताया क‍ि हम लोग पितृ मोक्ष के लिए आए हैं. हम लोग 9 सितम्बर को  उड़ीसा के कांटामांझी से निकले हैं और इलाहाबाद और बनारस पिंडदान कराते हुए गयाजी पहुंचे हैं. हमारी सात पीढ़ी के पूर्वज ट्रेन से और बस से पितृदंड लेकर गयाजी पहुंचे हैं. पितृदंड का रेलवे में अलग से रिजर्वेशन होता है. पितृदंड के  रिजर्वेशन के सीट पर पितृदंड ही रहते हैं,  बाकी हम लोगों का अलग रिजर्वेशन होता है. जो यहां से पंडा जी कपड़ा देते हैं, उसी को बिछा कर पितृदंड को रखा जाता है और पूरे रास्ते में देखभाल कर के लाया जाता है.
म‍ित्तल पर‍िवार ने बताया क‍ि हम 10 लोग साथ में आए हैं. सभी लोगों ने 2 -2 घंटे की ड्यूटी बांध ली थी क‍ि पितृदंड को कोई तकलीफ नहीं हो. रात को पितृदंड को हम लोग अकेले में नहीं छोड़ते हैं. ट्रेन में लोग पूछते थे क‍ि यह क्या चीज है तो हम लोग उनको समझाते थे क‍ि हम लोगों के पूर्वज हैं और इसे पितृदंड कहते हैं. हम पूजा के लिए गयाजी जा रहे हैं. उड़ीसा के टीटीई ट्रेन में पूछते हैं क‍ि यह क्या है मगर इधर के टीटीई कुछ नहीं पूछते हैं. कुछ टीटी नहीं समझते थे तो उन्हें हम लोग समझाते थे क‍ि हम लोगों की आस्था से जुड़ी चीज है. हम लोग गयाजी में 20 दिनों तक रहेंगे, इसलिए इनको साथ में लेकर जा रहे हैं. 
Copyright© 2019 T.V. Today Network Limited. For reprint rights: Syndications Today.
Sep 11 2019 (09:02) रेलवे करेगा फ्री में मोबाइल रिचार्ज, बस आपको करना होगा ये काम (aajtak.intoday.in)
New Facilities/Technology
0 Followers
4700 views

News Entry# 390711  Blog Entry# 4424241   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
अगर आप ट्रेन से सफर करते हैं तो आपके लिए एक अच्‍छी खबर है. दरअसल, जल्‍द ही भारतीय रेलवे की ओर से एक नई सुविधा की शुरुआत की जाएगी. इसके तहत रेलवे आपके मोबाइल नंबर को फ्री में रिचार्ज करेगा. हालांकि इसके लिए एक शर्त भी है. आइए जानते हैं क्‍या है पूरा मामला..
दरअसल, रेलवे उन यात्रियों के फोन को रिचार्ज करेगा जो स्टेशनों पर प्लास्टिक बोतल नष्ट करने वाली मशीनों का इस्तेमाल करेंगे. रेलवे की ओर से ये पहल सिंगल यूज प्लास्टिक का उपयोग खत्‍म करने के लिए की गई है.
न्‍यूज
...
more...
एजेंसी पीटीआई के मुताबिक रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष वीके यादव ने बताया कि स्टेशनों पर बोतलों को नष्ट करने वाली 400 मशीनें लगाई जाएंगी. इसका इस्तेमाल करने वाले यात्रियों को मशीन में अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा और इसके बाद उनका मोबाइल फोन रिचार्ज हो जाएगा.
हालांकि, रिचार्ज की डिटेल जानकारी अभी नहीं दी गई है. इसके साथ ही रेलवे ने निर्देश जारी किया है कि इस साल 2 अक्टूबर से उसके परिसरों में एक बार प्रयोग में लाई जाने वाली प्लास्टिक का इस्तेमाल नहीं होगा.
वीके यादव के मुताबिक फिलहाल 128 स्टेशनों पर बोतल नष्ट करने वाली 160 मशीनें लगाई गई हैं. इससे पहले रेल मंत्रालय ने सभी विक्रेताओं और कर्मचारियों को प्लास्टिक का इस्तेमाल घटाने के लिए रिसाइकिल बैग के प्रयोग का निर्देश दिया था.
बता दें कि प्रधानमंत्री मोदी ने स्वतंत्रता दिवस पर अपने संबोधन में सिंगल यूज प्लास्टिक का इस्तेमाल बंद करने और प्लास्टिक बोतल का विकल्प तलाशने की अपील की थी.
Copyright© 2019 T.V. Today Network Limited. For reprint rights: Syndications Today.
Sep 11 2019 (09:00) ट्रेन के इंज‍न पर चढ़ा स‍िरफ‍िरा, पूछा- चंद्रयान 2 मिशन फेल क्यों हुआ? (aajtak.intoday.in)
Major Accidents/Disruptions
WCR/West Central
0 Followers
8032 views

News Entry# 390710  Blog Entry# 4424240   
  Past Edits
Sep 11 2019 (09:06)
Station Tag: Nariaoli/NOI added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐^~/1366147

Sep 11 2019 (09:00)
Station Tag: Saugor/SGO added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐^~/1366147
Stations:  Saugor/SGO   Nariaoli/NOI  
मध्य प्रदेश में सागर जिले के नरयावली रेलवे स्टेशन पर एक सरफिरे युवक ने ट्रेन की छत पर चढ़कर खूब हंगामा किया. कटनी-बीना पैसेंजर ट्रेन के डीजल इंजन की छत पर चढ़े इस युवक ने करीब आधे घंटे तक जमकर उत्पात मचाया.
यह युवक बार-बार चंद्रयान 2 फेल होने से नाराजगी जता रहा था. जब भी उसे कोई नीचे उतारने का प्रयास करता तो वह गाली देकर उससे पूछता की चंद्रयान 2 फेल क्यों हुआ? युवक इस वजह से आधा घंटा तक हंगामा करता रहा.
वहीं इस युवक को नीचे उतारने के लिए
...
more...
किसी भी हादसे से बचने के लिए हाईटेंशन ओवरहेड लाइन की पावर सप्लाई बंद करना पड़ी जिसके बाद रेलकर्मियों ने बड़ी मुश्किल से युवक को ट्रेन की छत से नीचे उतारा और फिर उसे आरपीएफ को सौंप दिया.
एक प्रत्यक्षदर्शी ज‍ितेंद्र यादव ने बताया क‍ि हम सागर जा रहे थे तो युवक नशे की हालत में ट्रेन के ऊपर चढ़कर तार पकड़ने की कोश‍िश कर रहा था. वह चंद्रयान 2 के बारे में कुछ बड़बड़ा रहा था. यह शख्स 20-25 म‍िनट तक हंगामा करता रहा. फ‍िर बड़ी मुश्किल से लोगों ने उसे नीचे उतारा.
इसके बाद मानसिक रूप से कमजोर युवक का आरपीएफ ने मेडिकल कराया और फिर उसके परिजनों को बुलाकर उनके सुपुर्द करा दिया. इस घटना से ट्रेन आधा घंटे लेट हुई.
युवक सागर के शुक्रवारी क्षेत्र का रहने वाला बताया जा रहा है. गनीमत रही क‍ि ट्रेन के इंजन पर चढ़ा युवक विद्युत लाइन के संपर्क में नहीं आया वरना किसी बड़ी दुर्घटना से इनकार नहीं किया जा सकता था.
Copyright© 2019 T.V. Today Network Limited. For reprint rights: Syndications Today.

Rail News
5990 views
Sep 11 2019 (09:02)
BWN RF
soumikchowdhury^~   4451 blog posts
Re# 4424240-1            Tags   Past Edits
In News also it is now showing. I am seeing Aajtak they made headline "Chandrayaan Atka, Train mein latka"..

5804 views
Sep 11 2019 (09:47)
NWR Diesel Lover
Gaurav2223^~   96027 blog posts
Re# 4424240-2            Tags   Past Edits
OHE laga nahi us ko nahi to wo khud chandrayaan pahuch jaata.
Aug 20 2019 (14:48) स्कूटी पर थे महिला और बच्चे, ट्रेन ने मारी टक्कर, लेकिन... (aajtak.intoday.in)
Major Accidents/Disruptions
ECoR/East Coast
0 Followers
12213 views

News Entry# 389070  Blog Entry# 4405964   
  Past Edits
Aug 20 2019 (14:48)
Station Tag: Koraput Junction/KRPU added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐^~/1366147
Stations:  Koraput Junction/KRPU  
aajtak.in
20 अगस्त 2019
एक कहावत है, 'जाको राखे साइयां मार सके ना कोय.' ऐसा ही एक चमत्कार सामने आया है चेन्नई के कोरूकुपेट से, जहां एक भीषण सड़क हादसे में महिला और उसके दो बच्चे बाल-बाल बच गए.
दरअसल, कोरूकुपेट रेलवे क्रासिंग के पास से एक महिला स्कूटी पर अपने दो बच्चों को स्कूल लेकर जा रही थी, तभी स्कूटी रेलवे ट्रैक के
...
more...
पास फंस गई और इतने में नेल्लोर-चेन्नई लोकल ट्रेन आ गई.
ट्रेन की टक्कर से स्कूटी पर सवार तीनों लोग दूर जाकर गिरे और स्कूटी ट्रेन के नीचे आ गई. स्कूटी के परखच्चे भी उड़ गए. आश्चर्य की बात यह है कि स्कूटी के नीचे आते ही ट्रेन रुक गई.
घटना के बाद वहां आसपास के लोगों ने महिला और उसके दोनों बच्चों को दौड़कर उठाया. तीनों एकदम सुरक्षित हैं. हालांकि स्कूटी के परखच्चे उड़ गए. घटना के बाद महिला रोती हुई दिखाई दे रही थी.
घटना की सूचना मिलते ही स्टेशन से रेलवे अधिकारी मौके पर पहुंचे. उन्होंने महिला का हाल जाना. घटना स्थल पर मौजूद लोगों ने महिला और उसके बच्चों को उनके घर पहुंचाया. (इनपुट-लोकप्रिया)
Copyright© 2019 T.V. Today Network Limited. For reprint rights: Syndications Today.
Aug 09 2019 (17:33) तिलमिलाए PAK ने रद्द की मुनाबाव-खोखरापार ट्रेन सेवा, रोकी थार एक्सप्रेस (aajtak.intoday.in)
Politics
INT/International
0 Followers
15522 views

News Entry# 388480  Blog Entry# 4397911   
  Past Edits
Aug 09 2019 (17:35)
Station Tag: Indo Pak Border Munabao/ZL added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐^~/1366147

Aug 09 2019 (17:35)
Station Tag: Munabao/MBF added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐^~/1366147

Aug 09 2019 (17:35)
Station Tag: Jodhpur Junction/JU added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐^~/1366147

Aug 09 2019 (17:33)
Train Tag: Thar Link Express/14890 added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐^~/1366147

Aug 09 2019 (17:33)
Train Tag: Thar Link Express/14889 added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐^~/1366147
समझौता एक्सप्रेस के बाद पाकिस्तान ने मुनाबाव-खोखरापार ट्रेन सेवा रद्द कर दी है. इसके साथ ही थार एक्सप्रेस को रोकने का फैसला किया गया है. राजस्थान के जोधपुर से थार एक्सप्रेस पाकिस्तान जाती है.
तिलमिलाए पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस के बाद मुनाबाव-खोखरापार ट्रेन सेवा रद्द कर दी है. इसके साथ ही थार एक्सप्रेस को रोकने का फैसला किया गया है. राजस्थान के जोधपुर से थार एक्सप्रेस पाकिस्तान जाती है.
इससे पहले, जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस रोक दी थी. पाकिस्तान ने अपने ट्रेन
...
more...
ड्राइवर और गार्ड को समझौता एक्सप्रेस के साथ भेजने से मना कर दिया है.
जम्मू और कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद से पाकिस्तान कश्मीर मुद्दे पर लगातार टांग अड़ा रहा है. जबकि भारत साफ शब्दों में इसे आंतरिक मामला बता चुका है. पाकिस्तान ने कश्मीर से 370 हटाने के फैसले को अंतरराष्ट्रीय मुद्दा बना दिया है.
यूएन में पाकिस्तान की राजदूत मलीहा लोधी ने इस मुद्दे को यूएन में उठाया. उन्होंने इस पर कहा कि आज मैंने संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के चीफ स्टाफ मारिया लुईसा रिबेरो वियोटी से मुलाकात की. उनके सामने कश्मीर पर भारत के फैसले के बारे में जानकारी दी और कहा कि सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का अनुपाल कराने के लिए संयुक्त राष्ट्र को दखल देना चाहिए.
शिमला समझौता
भारत और पाकिस्तान शिमला समझौते के तहत इस बात के लिए राजी हुए थे कि वे एक-दूसरे की संप्रभुता का सम्मान करेंगे. किसी के आंतरिक मामले में दखल नहीं देंगे. दुबे का कहना है कि पाकिस्तान कश्मीर को लेकर भारत के आंतरिक मामले में दखल दे रहा है, जो शिमला समझौते के खिलाफ है. प्रेसिडेंशियल ऑर्डर के बाद कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा बन चुका है. लिहाजा अब इस मसले पर कोई देश दखल नहीं दे सकता है. अगर पाकिस्तान दखल देता है, तो यह अंतरराष्ट्रीय कानूनों का भी उल्लंघन है.
शिमला समझौते में इस बात का भी जिक्र किया गया कि दोनों देश एक-दूसरे के खिलाफ प्रोपेगेंडा नहीं फैलाएंगे. शिमला समझौते के तहत दोनों देश आपसी विवाद को शांतिपूर्ण तरीके से सुलझाने के लिए भी सहमत हुए. इस समझौते में इस बात पर जोर दिया गया कि दोनों देश आम लोगों के बीच संपर्क को बढ़ाने के लिए रिश्तों को मजबूत करने के लिए कदम उठाएंगे. इसमें सौहार्दपूर्ण रिश्ते बनाने को लेकर भी करार किया गया. इसके अलावा कारोबार बढ़ाने के लिए भी दोनों देश कदम उठाएंगे. साथ ही विज्ञान और संस्कृति के क्षेत्र में आपसी आदान-प्रदान बढ़ाने को लेकर भी समझौता किया गया.
Page#    3761 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy