Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE

Maitree Express: মৈত্রী এক্সপ্রেস - দুই বাংলার সংস্কৃতি ও ভাতৃত্বের মেলবন্ধন - Joydeep Roy

Search News

News Posts by Bruno

Page#    Showing 1 to 5 of 64 news entries  next>>
◆ अब बजट 25 करोड़ से बढ़कर हुआ 175 करोड़ रुपए
◆ पुणे की कंपनी को निर्माण शुरू करने से पहले नैरोगेज ट्रैक हटाना है, अब रेलवे बोर्ड को जल्द से जल्द रेलवे ट्रैक उखाड़ने की अनुमति जारी करनी होगी
ग्वालियर-श्योपुर ब्रॉडगेज रेल प्रोजेक्ट के लिए रेलवे बोर्ड ने 150 करोड़ का बजट और जारी कर दिया है। इस प्रकार अब 25+150=175 करोड़ रुपए के फंड से बानमोर से सबलगढ़ के बीच बड़ी रेल लाइन के लिए मिट्‌टी का ट्रैक तैयार करने व बड़े-छोटे पुल बनाने का काम शुरू कराया जा सकेगा।
...
more...
इस परियोजना पर काम कर रहीं पुणे व झांसी की कंपनियों को उम्मीद है कि इस साल और भी बजट मिल सकेगा।
175 करोड़ रुपए की फंडिंग से रेलवे अब जमीन अधिग्रहण के बदले प्रशासन को मुआवजा के लिए भी पैसा जमा कराएगी। प्रशासन ने 100 करोड़ का बजट मुआवजा के लिए रेलवे से मांगा है लेकिन अफसरों का कहना है कि फिलहाल जितना पैसा देना संभव होगा उतना राजस्व विभाग को दिया जाएगा। शेष राशि से मिट्‌टी का ट्रैक तैयार कराने का काम तेज कराया जाएगा। चूंकि रायरू से लेकर सबलगढ़ तक बड़ी रेल लाइन बिछाने का ठेका पुणे की आईएससी कंपनी व झांसी की घनाराम इंजीनियरिंग को दिया गया है इसलिए दोनों ठेकेदारों से अर्थवर्क शुरू कराने के लिए कहा गया है।
किस कंपनी को क्या काम करना है
पुणे की आईएससी निर्माण एजेंसी को बानमोर से सबलगढ़ तक 80 किमी लंबाई में नैरोगेज ट्रैक हटाने, उसके स्थान पर बड़ी लाइन का अर्थट्रैक तैयार करने व सुमावली से सबलगढ़ तक 55 किमी लंबाई में 106 छोटी पुलिया बनाने का काम करने के लिए 244 करोड़ रुपए के टेंडर पर कार्यादेश दिया गया है। यह कंपनी ग्वालियर से सबलगढ़ के बीच 10 बड़े पुलों का निर्माण भी कराएगी। इसके लिए 180 करोड़ के टेंडर पर काम कराया जाएगा। जिसमें बानमोर के पास बड़े पुल का निर्माण कार्य शुरू कराने की प्रक्रिया को तेज किया जाएगा। झांसी की घनाराम इंजीनियरिंग कंपनी रायरू से सुमावली तक बड़ी रेल लाइन के लिए अर्थट्रैक तैयार करने का काम कर रही है। इस रूट पर नैराेगेज ट्रेक से 4 से 6 मीटर की दूरी पर नया ट्रैक बिछाया जाएगा। इसलिए घनाराम कंपनी अर्थट्रैक तैयार करने के काम को अब गति प्रदान करेगी क्योंकि भुगतान के लिए अब बजट संकट जैसी स्थिति नहीं रहेगी।
रेलवे ने अब तक नहीं दी ट्रैक हटाने की अनुमति
ब्रॉडगेज रेल प्रोजेक्ट पर काम कर रहे अफसरों से लेकर रेलवे के ठेकेदारों का कहना है कि बजट बढ़ाकर 175 करोड़ कर दिया लेकिन काम करने के लिए सबसे पहले नैरोगेज रेल ट्रैक हटाने की जरूरत है। मध्यप्रदेश शासन की अनापत्ति के 10 महीने बाद भी रेलवे बोर्ड ने बानमोर से सबलगढ़ तक नैरोेगेज ट्रैक डिसमेंटलिंग की अनुमति अब तक जारी नहीं की है। जब तक पुरानी रेल लाइन हटाई नहीं जाएगी तब तक ठेकेदार उस एलाइनमेंट पर नया काम शुरू नहीं हो सकेगा क्योंकि नैरोगेज रेल लाइन की जगह ही बड़ी रेल लाइन बिछाई जाएगी। पुणे की निर्माण एजेंसी का कहना है कि नैराेगेज ट्रैक हटाने की अनुमति मिलने के 3 दिन बाद उनकी कंपनी छोटी रेल लाइन को हटाने की प्रक्रिया शुरू कर देगी।
ब्रॉडगेज रेल लाइन होने से आएंगे उद्योग, बढ़ेगा राेजगार
ग्वालियर से श्योपुर के बीच बड़ी रेल लाइन तैयार होने के बाद उद्योगपति अपनी इंडस्ट्री लगाने के लिए मुरैना आने का मन बनाएंगे। 2004 में नागपुर की कंपनी कैलारस के कुटरावली में सीमेंट फैक्टरी लगाने का एमओयू साइन कर गई लेकिन ट्रांसपोर्टेशन की बेहतर सुविधा न होने के कारण कंपनी ने सीमेंट उद्याेग नहीं लगाया। मुम्बई महाराष्ट्र की पारले एग्रो कंपनी बानमोर क्षेत्र में पेयपदार्थ का बड़ा प्लांट स्थापित करना चाहती है। ग्वालियर से श्योपुर ब्रॉडगेज ट्रैक का काम शुरू होने की दशा में यह कंपनी 350 करो़ड़ की देश की सबसे बड़ी सॉफ्ट ड्रिंक यूनिट मुरैना जिले में शुरू करने का मन बनाएगी। नए उद्योग आने से स्थानीय युवाओं को रोजगार के अवसर मिल सकेंगे।
यहां बनेंगे बड़े 10 पुल
● बानमोर में सांक नदी पर
● सुमावली से पहले पतियार नदी पर
● सुमावली से जौरा के बीच आसन नदी पर
● जौरा स्टेशन से पहले मुरैना ब्रांच कैनाल पर
● जौरा में प्रवेश से पहले रेलवे क्रासिंग पर
● जौरा से सिकरौदा के बीच सोन नदी पर
● कैलारस में प्रवेश से पहले 5 एल नहर पर
● कैलारस-सेमई के बीच नेंपरी में क्वारी नदी पर
● सबलगढ़ स्टेशन से पहले बड़ी नहर पर
● सबलगढ़ स्टेशन के बाद खार नाला पर।

Rail News
20496 views
Jul 11 (19:18)
अब ग्वालियर के दिन अच्छे दिन आना शुरू हो गए
TotalTrainInfo~   106 blog posts
Re# 5011036-1            Tags   Past Edits
Janta Ki Awaj!!
I think Scindia effect

19047 views
Jul 11 (20:50)
Need stoppage of Singrauli Exp
aryan89~   1322 blog posts
Re# 5011036-2            Tags   Past Edits
Much needed.
Mar 22 (08:43) चौथी रेलवे लाइन के लिए सर्वे पूरा, 321 किलोमीटर तक बिछेगा ट्रैक (www.amarujala.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
28734 views

News Entry# 446543  Blog Entry# 4914830   
  Past Edits
Mar 22 2021 (08:43)
Station Tag: Bina Junction/BINA added by Bruno/1806106

Mar 22 2021 (08:43)
Station Tag: Dholpur Junction/DHO added by Bruno/1806106

Mar 22 2021 (08:43)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by Bruno/1806106

Mar 22 2021 (08:43)
Station Tag: Jhansi Junction/JHS added by Bruno/1806106
झांसी। धौलपुर-झांसी से बीना के बीच (321 किलोमीटर) चौथी रेल लाइन पर सर्वे काम पूरा हो गया है। एक करोड़ रुपये के बजट से सर्वे काम पूरा कर लिया गया है।जल्द काम शुरू होगा। दिल्ली-मुंबई मुख्य ट्रैक पर बढ़ते ट्रैफिक को देखते हुए धौलपुर से बीना के बीच चौथी रेललाइन बिछाई जाएगी। यह काम 4869.95 करोड़ से होगा।
दिल्ली- मुंबई मेन ट्रैक पर बढ़ते यातायात को देखते हुए धौलपुर, झांसी व बीना के बीच तीसरी रेल लाइन बिछाने का काम चल रहा है। रेल बजट में इस सेक्शन के बीच चौथी रेल लाइन के सर्वे को मंजूरी भी मिली थी। वर्तमान में धौलपुर-झांसी व बीना के मध्य तीसरी रेल लाइन का काम छह चरणों में चल रहा है। इस काम को
...
more...
मार्च 2022 तक पूरा होना है। धौलपुर- झांसी व बीना के बीच तीसरी और चौथी रेल लाइन बनने के ट्रेनों की गति बढ़ेगी। सफर का समय बचने के साथ ही रेलवे अधिकारियों के मुताबिक सर्वे पूरा होने के बाद अब तेजी से काम होगा। सर्वे पूरा होने के बाद अब तय किया जाएगा कि धौलपुर से बीना के बीच कितने ब्रिज बनाने की जरूरत पड़ेगी। साथ ही, पहाड़ कितने काटने होंगे। दरअसल डबरा व ग्वालियर के बीच आंतरी, संदलपुर और सिथौली स्टेशन के बीच बड़े क्षेत्र में पहाड़ी क्षेत्र है। जिससे काटकर चौथी रेल लाइन निकाली जाएगी।
इन स्टेशनों का भी हुआ सर्वे
पहले चरण में धौलपुर स्टेशन से घेर, हेतमपुर, सिकरौदा कवारी, मुरैना, सांक, नूराबाद, बानमौर, रायरू, बिरला नगर, ग्वालियर, सिथौली, संदलपुर, आंतरी, अनंतपेठ, सिमरियाताल, डबरा, कोटरा, सोनागिर, दतिया, चिरुला, करारी व झांसी स्टेशन के बीच सर्वे काम पूरा हो गया है।
मालगाड़ी के लिए बन जाएगा अलग रास्ता
रेलवे बोर्ड तीसरी और चौथी रेल लाइन बिछाकर मालगाड़ी संचालन के लिए एक अलग रास्ता बना रहा है। ऐसा होने पर सवारी और मालगाड़ी दोनों का ही समय पालन बेहतर हो सकेगा। नई ट्रेनों को चलाने का भी रास्ता साफ हो जाएगा। पिछले कुछ सालों में मालगाड़ियों से लेकर यात्री ट्रेनों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। की लेटलतीफी पर भी अंकुश लगेगा।
चौथी रेल लाइन के लिए सर्वे का काम पूरा हो चुका है। अब जल्द ही काम शुरू होगा। पहले चरण में धौलपुर से झांसी और बीना से भोपाल के बीच चौथी रेल लाइन का काम होगा। तीसरी व चौथी रेल लाइन का काम पूरा होने के बाद ट्रेनों की रफ्तार में भी इजाफा होगा। नई ट्रेनों के दौड़ने का भी रास्ता होगा।
मनोज कुमार सिंह, जनसंपर्क अधिकारी
3 साल की मियाद, 2 साल में 20% काम हुआ, 3 विधायक बोले-ऐसे तो 5 साल में भी शुरू नहीं होगी ट्रेन
कोविड-19 के चलते अप्रैल 2020 से बंद है ग्वालियर-श्योपुर नैरोगेज ट्रेन, ब्रॉडगेज प्रोजक्ट की रफ्तार भी धीमी
सुमावली, मुरैना, सबलगढ़ विधायकों ने रेलमंत्री पीयूष गोयल को लिखी चिट्‌ठी
ग्वालियर-श्याेपुर नैरोगेज ट्रेन का संचालन शुरू कराने के लिए कांग्रेस के 3 विधायक
...
more...
मैदान में उतर गए हैं। रेल मंत्री पीयूष गोयल को लिखे पत्र में विधायकों ने कहा है कि मोदी सरकार के कार्यकाल में बड़ी रेल लाइन के लिए पर्याप्त बजट नहीं मिलेगा इसलिए कम आय वर्ग के लोगों को यात्रा सुविधा देने के लिए छोटी रेल लाइन का संचालन तत्काल शुरू कराया जाए। रेल संचालन बंद होने से लोगों को दोगुना किराया देना पड़ रहा है। कोविड-19 का हवाला देकर रेलवे ने अप्रैल 2020 में ग्वालियर- श्योपुर नैरोगेज पैसेंजर ट्रेन का संचालन बंद करा दिया। लॉकडाउन खत्म होने के बाद बड़ी रेलगाड़ियों का संचालन तो शुरू कराया गया लेकिन नैरोगेज पैसेंजर अभी तक बंद है। इस कारण लोगों को बसों से सफर करना पड़ रहा है।
बसों का किराया अधिक होने के कारण कम आय वर्ग के लोगों की जेब पर इसका बोझ पड़ रहा है। नैरोगेज पैसेंजर ट्रेन के माध्यम से ग्वालियर से श्योपुर के बीच हर महीने डेढ़ लाख लोग यात्रा करते रहे हैं। लेकिन 11 महीने से मुरैना व श्योपुर जिले की 6 विधानसभाओं के लोग रेल यात्रा सुविधा न मिलने से परेशान हैं।
रेल मंत्री को कांग्रेस विधायकों ने लिखा पत्र
कांग्रेस विधायक राकेश मावई, अजब सिंह कुशवाह व बैजनाथ कुशवाह ने शुक्रवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल को भेजे पत्र में कहा है कि मोदी सरकार ने ग्वालियर-कोटा ब्रॉडगेज रेल प्रोजेक्ट के लिए 1100 करोड़ की मांग के विपरीत 25 करोड़ का बजट स्वीकृत किया है।
इतने कम बजट के कारण ठेकेदार को काम काे आगे नहीं बढ़ा पा रहे हैं। इस हाल में 3000 करोड़ का यह प्रोजेक्ट आगामी पांच साल में भी पूरा नहीं होगा। चूंकि राज्य के लोगों को यात्रा सुविधा उपलब्ध कराना केन्द्र व राज्य सरकार की नैतिक जिम्मेदारी है इसलिए डेढ़ लाख लोगों की सुविधा के लिए नैरोगेज पैसेंजर ट्रेन का संचालन तत्काल शुरू कराया जाए।
किराए में 305 रुपए का अंतर
कांग्रेस विधायक बैजनाथ कुशवाह का कहना है कि नैरोगेज पैसेंजर ट्रेन शुरू होने से ग्वालियर-श्याेेपुर के बीच यात्रा करने वाले मध्यम वर्ग के लोगों को सुविधा मिलेगी। क्योंकि अभी ग्वालियर से श्योपुर तक बस से यात्रा करने पर 350 रुपए किराया देना पड़ रहा है। जबकि रेल यात्रा का टिकट 45 रुपए का है। किराए में 305 रुपए का अंतर मायने रखता है। विधायक कुशवाह ने तर्क दिया है कि रेल यात्रा बीमित है लेकिन प्राइवेट बसों की यात्रा बीमित नहीं है। इसलिए 6 विधानसभा के लोगों को रेल यात्रा सुविधा से वंचित नहीं रखा जा सकता है।
25 करोड़ से ट्रैक व ब्रिज बनेंगे
रेलवे की मानें तो एक अप्रैल के बाद मिलने वाले 25 करोड़ से झांसी की घनाराम एंड कंपनी बानमोर से सुमावली के बीच अर्थ ट्रैक बनाने से लेकर 12 छोटे पुलों का निर्माण कराएगी। इसके लिए पुणे की कंपनी को 10 में से 6 बड़े पुल बनाने के लिए पैसा दिया जाएगा।
प्रमुख सचिव ने वापस किया पत्र
नैराेगेज पैसेंजर ट्रेन का संचालन स्थाई रूप से बंद करने के लिए रेलवे के प्रस्ताव को प्रमुख सचिव ने कलेक्टर को वापस कर दिया है। कलेक्टर से अभिमत मांगा गया है कि प्रशासन व रेलवे के अधिकारी संयुक्त रूप से यह सर्वे करें कि नैरोगेज रेलगाड़ी बंद होने का जनता पर क्या प्रभाव पड़ेगा। सर्वे रिपोर्ट के आधार पर राज्य शासन, रेलवे को नैरोगेज पैसेंजर ट्रेन के संचालन को बंद करने या चालू करने का निर्णय लेगा।
जौरा से आगे नहीं चलेगा काम
ब्रॉडगेज रेल प्रोजेक्ट के लिए 1100 करोड़ के टेंडरों के विपरीत 25 करोड़ के बजट से रेलवे अब जौरा से आगे बड़ी रेल लाइन का काम शुरू नहीं कराएगी। कारण बजट की कमी और नैरोगेज रेल लाइन का यथावत होना है। बजट संकट के दौरान में कैलारस, सबलगढ़ व वीरपुर आदि स्थानों पर किसानों की निजी जमीन के अधिग्रहण के लिए भी रेलवे 2021 में जोर नहीं देगी। क्योंकि जमीन मांगने के साथ ही कलेक्टर मुआवजा राशि की मांग करेंगे।

Rail News
32453 views
Mar 20 (09:20)
Guest: 6cd41d7e   show all posts
Re# 4913305-1            Tags   Past Edits
tracks tod diye gaye honge abhi 🤔🤔

33888 views
Mar 20 (10:04)
Bruno
13Cajay^~   765 blog posts
Re# 4913305-2            Tags   Past Edits
Nhi tracks abhi nhi tode

32453 views
Mar 20 (10:08)
Kawaii RinrinChan
WorldWar3~   6554 blog posts
Re# 4913305-3            Tags   Past Edits
Seopur Sabalgarh tracks present

Rail News
31172 views
Mar 20 (14:22)
Need stoppage of Singrauli Exp
aryan89~   1322 blog posts
Re# 4913305-4            Tags   Past Edits
Agar extra budget allot nhi hua to track dismantle kese hoga or new track kese lay hoga bahut confusion ho rakha h

30350 views
Mar 20 (17:58)
Bruno
13Cajay^~   765 blog posts
Re# 4913305-5            Tags   Past Edits
Ha inhone 26 crore rupay diye hai budget me 100 crore dena baki or jis company ko iska tender diya hai unhone to saf bol diya hai ki agar itne kam paise me kaam nhi ho payega agar bhi diye 100 crore to kaam ruk jayega or yaha gwl me yeh narrow gauge chalayenge local me to isse or traffic badhega local me :(
Mar 15 (09:00) शहर के अंदर 8 किलोमीटर में मेट्रो बनकर दौड़ेगी नैरो गेज (www.naidunia.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
28570 views

News Entry# 444902  Blog Entry# 4907852   
  Past Edits
Mar 15 2021 (09:00)
Station Tag: Ghosipura/GOPA added by Bruno/1806106

Mar 15 2021 (09:00)
Station Tag: Motijheel/MTJL added by Bruno/1806106

Mar 15 2021 (09:00)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by Bruno/1806106
ग्वालियर. नईदुनिया प्रतिनिधि| शहर के अंदर 8 किलोमीटर में अब मेट्रो के रूप में नैरोगेज ट्रेन दौड़ेगी। इस ट्रेन को चलाने के लिए दो दिन से भारतीय रेलवे स्टेशन विकास कारपोरेशन लिमिटेड के अधिकारियों ने पटरियों का निरीक्षण किया। इसके बाद उन्होंने रविवार को सीइओ जिला पंचायत किशोर कानयाल के साथ बैठक की। बैठक में उन्होंने प्राथमिक तौर पर योजना को तैयार किया है। इसमें ट्रेन करीब 5 स्थानों पर रूकेगी जिससे इसमें बैठने वाले पर्यटक शहर की पुरातत्व एवं पर्यटन क्षेत्रों का भ्रमण कर सकें।
शहर में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए फिर से नैरोगेज पटरियों पर दौड़ेगी। इस ट्रेन को शहर के पर्यटन एवं ऐतिहासिक क्षेत्रों में रोका जाएगा जहां पर पर्यटन भ्रमण करने एवं शहर को घूम सकें।
...
more...
इसके साथ ही ट्रेन का स्टापेज ऐसे स्थानों पर किया जाएगा जहां पर दो किलोमीटर के घेरे में पर्यटन अथवा पुरातत्विक स्थल हो।
यह पर रहेगा स्टापेज
लक्ष्मीबाई समाधि:- नैरोगेज ट्रेन प्लेटफॉर्म क्रमांक 4 से संचालित की जाएगी। नैरोगेज ट्रेन लक्ष्मीबाई समाधि के पीछे से गुजरेगी। इसके चलते पहला स्टापेज लक्ष्मीबाई समाधि के पीछे होगा। यहां पर पर्यटक लक्ष्मीबाई समाधि स्थल और गंगादास की बड़ी शाला के दर्शन कर 1857 के इतिहास को जान सकेंगे।
गोपाचल पर्वत
नैरोगेज का दूसरा स्टापेज गोपाचल पर्वत के पास स्मार्ट सिटी के सेल्फी पाइंट पर रहेगा। यहां पर पर्यटक चौपाटी, फूलबाग, चिड़ियाघर, बारादरी, बैजाताल, जयविलास पैलेस, मोतीमहल, नगर निगम का संग्रहालय, आदि का भ्रमण कर सकेंगे।
घ्ाोसीपुर स्टेशन
नैरोगेट ट्रेन का तीसरा स्टापेज घोसीपुरा स्टेशन पर होगा, जहां पर लोग सत्यनारायण की टेकरी पर पहुंचकर पर्वत से शहर का नजारा कर सकेंगे।
बहोड़ापुर स्टेशन
इसके बाद बहोडापुर स्टेशन पर ट्रेन का स्टापेज रहेगा, यहां पर लोग गरगज के हनुमान मंदिर, जनकताल, आदि का भ्रमण कर सकेंगे।
मोतीझील
नैरोगेज का अंतिम स्टेशन मोतीझील पर रहेगा। यहां पर पर्यटक पुराने पानी सयंत्र को देख सकेंगे। साथ ही शहर में आने वाले पानी को साफ करने की प्रक्रिया को भी देख सकेंगे। साथ ही यहां पर गुलाब पार्क का भी आनंद लिया जा सकेगा।
वर्जन
प्राथमिक तौर पर पांच पाइंटों पर ट्रेन को रोकने की योजना बनाई जा रही है। यहां पर लोग पर्यटन को भी देख सकेंगे।
किशोर कानयाल
सीइओ जिला पंचायत
Mar 14 (18:30) नेरोगेज को चलाने की संभावना तलाशने किया निरीक्षण (www.naidunia.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
28329 views

News Entry# 444767  Blog Entry# 4907487   
  Past Edits
Mar 14 2021 (18:30)
Station Tag: Motijheel/MTJL added by Bruno/1806106

Mar 14 2021 (18:30)
Station Tag: Ghosipura/GOPA added by Bruno/1806106

Mar 14 2021 (18:30)
Station Tag: Gwalior Junction/GWL added by Bruno/1806106
ग्वालियर, नईदुनिया प्रतिनिधि। नेरोगेज ट्रेन को शहर में चलाने की संभावनाआें को तलाशने के लिए पर्यटन विभाग की टीम ग्वालियर आई। टीम ने नेरोगेज का निरीक्षण किया साथ ही घोसीपुर, व मोतीझील स्टेशनों का भी निरीक्षण किया।
रेलवे से मिली जानकारी के अनुसार पर्यटन विभाग की टीम रेलवे स्टेशन पहुंची। वहां पर उन्होंने नेरोगेज ट्रेन का निरीक्षण किया।साथ ही उसके इंजन को भी देखा। इसके बाद टीम के सदस्यों ने पैदल पटरी पर चलकर उसका निरीक्षण किया। इसके बाद वह घोसीपुरा व मोतीझील रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। अब पर्यटन विभाग के अधिकारी रेलवे अधिकारियों से बात करेंगे। गाैरतलब है कि नेराेगेज काे ब्राडगेज में बदला जा रहा है, एेसे में रेलवे नेराेगेज का संचालन बंद करने का मूड बना चुका था। इसके
...
more...
चलते राज्यसभा सदस्य ज्याेतिरादित्य सिंधिया ने नेराेगेज ट्रेन का शहरी क्षेत्र में संचालन करने का प्राेजेक्ट तैयार करने के निर्देश जिला प्रशासन काे दिए थे। प्रशासन इसमें रेलवे का भी सहयाेग ले रहा है।
Page#    64 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy