Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

Purvanchal Express - Poorvottar ka Sikandar

Search News

News Posts by रात 🌠के 😍हमसफर 😎^~

Page#    Showing 1 to 5 of 613 news entries  next>>
  
Today (20:14) कोटा-पटना ट्रेन में मिलेगी एलएचबी कोच की सुविधा (www.bhaskar.com)
IR Affairs
WCR/West Central
0 Followers
601 views

News Entry# 382606  Blog Entry# 4323865   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
कोटा-पटना ट्रेन से कोटा से यूपी व बिहार की तरफ जाने वाले यात्रियों को पहले की तुलना में बेहतर सुविधा मिलेगी। क्योंकि ट्रेन के लिए लिंक हाॅफमैन बुश रैक (एलएचबी रैक) मिल चुका है। इस रैक से ट्रेन का एक ट्रिप भी हो चुका है। अाने वाले दिनों में दो रैक भी एलएचबी रैक से रिप्लेस होंगे।
  
Today (20:08) धीरे- धीरे खत्म होंगे आईसीएफ कोच (www.amarujala.com)
IR Affairs
NCR/North Central
0 Followers
636 views

News Entry# 382605  Blog Entry# 4323855   
  Past Edits
May 22 2019 (20:08)
Station Tag: Jhansi Junction/JHS added by Sp Sharma^~/1833693
Stations:  Jhansi Junction/JHS  
धीरे- धीरे खत्म होंगे आईसीएफ कोच झांसी। रेलवे बोर्ड ने पिछले दो साल से आईसीएफ (इंट्रीगल कोच फैक्ट्री) कोचों का निर्माण बंद कर रखा है। इनकी जगह एलएचबी (लिंक हॉफमैन बुश) बनाए जाने लगे हैं। जैसे- जैसे एलएचबी कोचों का निर्माण होता जा रहा है, वैसे- वैसे आईसीएफ कोचों को पटरियों से हटाने का काम शुरू हो गया है। साथ ही आईसीएफ कोचों को अब 12 साल बाद दोबारा नहीं बनाया जा जाएगा। रेलवे बोर्ड ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए हैं। झांसी कोच फैक्ट्री में भी इस आदेश पर काम शुरू कर दिया गया है। रेट पटरियों पर अभी आधे से अधिक आईसीएफ (इंट्रीगल कोच फैक्ट्री) कोच (सवारी डिब्बे) दौड़ रहे हैं। आईसीएफ कोच में दो डिब्बों की कपलिंग के बीच...
more...
एक लोहे की रॉड डाल दी जाती है। दुर्घटना होने पर इन डिब्बों के एक दूसरे पर चढ़ने की संभावना रहती है। मगर, पिछले दो साल से इन कोचों का निर्माण बंद कर दिया गया है। इनकी जगह अब सभी फैक्ट्रियों में एलएचबी कोच बनाए जा रहे हैं। नई तकनीक की कपलिंग में डिब्बों के एक-दूसरे पर चढ़ने की संभावना कम होती है। झांसी कोच मरम्मत कारखाने में अभी पुरानी तकनीक के आधी उम्र पूरा कर चुके आईसीएफ कोचों को ही दोबारा नया बनाया जा रहा है। मगर, रेलवे बोर्ड ने आदेश जारी किए हैं कि एलएचबी कोचों का उत्पादन जैसे- जैसे बढ़ता जाए, आईसीएफ कोचों को दोबारा नया बनाने का काम धीरे - धीर खत्म करते जाइये।मालूम हो कि रेलवे वर्कशॉप के निकट महावीरन स्क्रैप यार्ड में कोच मरम्मत कारखाने (सवारी डिब्बा) का निर्माण अक्तूबर 2014 में किया गया था। इस फैक्ट्री में 12 साल पुराने कोचों को दोबारा नया बनाया जाता है। हर माह नौ से दस कोच बनकर निकल रहे हैं।‘रेलवे बोर्ड के आदेश पर आईसीएफ कोचों का दोबारा निर्माण धीरे- धीरे कम करना है। आगे एलएचबी कोचों को ही दोबारा तैयार किया जाएगा।’आरडी मौर्य, मुख्य कारखाना प्रबंधक।
  
Yesterday (00:25) हमसफर एक्सप्रेस से फ्लेक्सी फेयर हटाने की तैयारी (www.amarujala.com)
IR Affairs
NCR/North Central
0 Followers
867 views

News Entry# 382474  Blog Entry# 4322238   
  Past Edits
May 21 2019 (00:25)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by Sp Sharma^~/1833693
Stations:  Allahabad Junction/ALD  
इलाहाबाद जंक्शन से आनंद विहार जाने वाली हमसफर एक्सप्रेस से आने वाले दिनों में फ्लेक्सी फेयर हट सकता  है। सितंबर माह में दुरंतो एक्सप्रेस बंद होने के साथ ही उसके  स्लीपर कोटे की बर्थ घटने के बाद यात्रियों पर ज्यादा बोझ न पड़े, इसके लिए उत्तर मध्य रेलवे (एनसीआर) के महाप्रबंधक राजीव चौधरी ने रेलवे बोर्ड को पत्र भेजा है। पत्र के माध्यम से हमसफर एक्सप्रेस से फ्लेक्सी फेयर हटाने का आग्रह किया गया है। . इलाहाबाद जंक्शन से नई दिल्ली के बीच चलने वाली दुरंतो एक्सप्रेस का संचालन 12 सितंबर के बाद नहीं होगा। इसके स्थान पर 13 सितंबर से हमसफर एक्सप्रेस सप्ताह में चार दिन नई दिल्ली एवं तीन दिन आनंद विहार टर्मिनल जाएगी। हालांकि दुरंतो एक्सप्रेस में जहां...
more...
एक ओर स्लीपर, थर्ड एसी, एसी टू एवं एसी फर्स्ट के कोच हैं तो वहीं हमसफर एक्सप्रेस में सभी कोच थर्ड एसी श्रेणी के ही हैं। ऐसे में दुरंतो एक्सप्रेस बंद होने का सबसे ज्यादा असर स्लीपर के यात्रियों पर ही पड़ना है। क्योंकि इस ट्रेन में स्लीपर श्रेणी की 720 बर्थ है। वहीं दूसरी ओर हमसफर एक्सप्रेस की बात करें तो उसमें थर्ड एसी श्रेणी की 1296 बर्थ है।फ्लेक्सी फेयर होने की वजह से हमसफर का न्यूनतम किराया 1115 एवं अधिकतम 1625 रुपये है। ऐसे में स्लीपर के जो यात्री दुरंतो में अब तक सफर के दौरान न्यूनतम 415 एवं अधिकतम 605 रुपये देते  थे, उन्हें मजबूरी में हमसफर एक्सप्रेस का ही सहारा लेना पड़ेगा। यूं तो प्रयागराज एक्सप्रेस में भी स्लीपर का विकल्प है लेकिन, उसमें अमूमन लंबी प्रतीक्षा ही रहती है। दुरंतो एक्सप्रेस बंद होने के बाद प्रयागराज एक्सप्रेस में  प्रतीक्षा सूची का ग्राफ बढ़ना तय है।इसी वजह से एनसीआर प्रशासन ने बीच का रास्ता निकाला है। एनसीआर प्रशासन ने हमसफर एक्सप्रेस से फ्लेक्सी फेयर हटाने के लिए पत्र भेजा है। फ्लेक्सी फेयर हटने के बाद उसका एक निश्चित किराया भी हो जाएगा। साथ  ही स्लीपर के ऐसे यात्री जो थोड़ा ज्यादा किराया दे सकते हैं वे आसानी से हमसफर एक्सप्रेस में शिफ्ट हो जाएंगे। हालांकि तब भी स्लीपर के यात्रियों  को थर्ड एसी में बर्थ पाने के लिए अतिरिक्त किराये के रूप में 500 से 600 रुपये देने पड़ सकते हैं। दुरंतो एक्सप्रेस का किरायाक्लास    किराया    कुल बर्थ स्लीपर    415-605    720थर्ड एसी    1130-1550    360एसी टू    1580-2320    156एसी फर्स्ट    2680    24हमसफर एक्सप्रेस का किरायाथर्ड एसी    1115-1625    1296प्रयागराज एक्सप्रेस का किरायास्लीपर    2360    880थर्ड एसी    990    288एसी टू    1400    156एसी फर्स्ट    24    2360.
  
May 20 (14:01) नए रेलवे ट्रैक को चार घंटे का ब्लॉक लेकर दुरुस्त किया (www.amarujala.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
2256 views

News Entry# 382468  Blog Entry# 4321856   
  Past Edits
May 20 2019 (14:01)
Station Tag: Khatauli/KAT added by Sp Sharma^~/1833693
Stations:  Khatauli/KAT  
चार घंटे का ब्लॉक लेकर नए रेलवे ट्रैक को दुरुस्त किया खतौली। रेलवे कर्मचारियों ने चार घंटे का ब्लॉक लेकर नए रेलवे ट्रैक को दुरुस्त किया गया। इसके अलावा रेलवे स्टेशन पर कर्मचारियों ने कूड़ा करकट उठवाकर साफ सफाई की। मंगलवार को सीआरएस (कमीशन ऑफ रेलवे सेफ्टी) नए रेलवे ट्रैक का निरीक्षण करेंगे। सीआरएस के निरीक्षण के बाद ही नए रेलवे ट्रैक पर ट्रेनों का संचालन करने को हरी झंडी दी जाएगी। सीआरएस के मंगलवार को आने को लेकर रेलवे स्टेशन पर कर्मचारी जुटे हुए हैं। शनिवार को डीआरएम एससी जैन ने रेलवे स्टेशन का निरीक्षण किया था। डीआरएम ने स्टेशन के आसपास गंदगी को देखकर नाराजगी जताई थी। रविवार को कर्मचारी रेलवे स्टेशन के आसपास साफ सफाई करने में लगे रहे। शाम तक कर्मचारियों ने...
more...
सफाई व्यवस्था को दुरुस्त किया। इसके अलावा मुख्यालय से रविवार को दोपहर 12 से लेकर शाम चार बजे तक ब्लॉक लिया गया। ब्लॉक लेकर रेलवे कर्मचारियों ने नए रेलवे ट्रैक को दुरुस्त किया। हालांकि इस दौरान कोई भी ट्रेन प्रभावित नहीं हो सकी। सीआरएस मंगलवार को दिल्ली से कार द्वारा खतौली रेलवे स्टेशन पर पहुंचेंगे। स्टेशन का निरीक्षण करने के बाद वे ट्रॉली पर बैठकर नए रेलवे ट्रैक का निरीक्षण करेंगे। उनके द्वारा रेलवे ट्रैक का निरीक्षण करने के बाद ही ट्रेनों का संचालन करने को हरी झंडी मिल जाएगी।
  
May 20 (13:53) राेड पर रेल इंजन; कबाड़ी ने 12 लाख में खरीदा, सेल्फी पाइंट बना (www.bhaskar.com)
IR Affairs
NWR/North Western
0 Followers
3270 views

News Entry# 382467  Blog Entry# 4321852   
  Past Edits
May 20 2019 (13:54)
Station Tag: Bhilwara/BHL added by Sp Sharma^~/1833693
Stations:  Bhilwara/BHL  
Bhilwara News - भीलवाड़ा | शहर में एक नया सेल्फी प्वाइंट बन गया है। यह है तिलक नगर मेन सड़क के किनारे पड़ा रेल का पुराना इंजन। इस...
शहर में एक नया सेल्फी प्वाइंट बन गया है। यह है तिलक नगर मेन सड़क के किनारे पड़ा रेल का पुराना इंजन। इस सड़क पर अाते-जाते हर काेई यहां रुकता है अाैर सेल्फी लेता है। बच्चे ताे इंजन पर चढ़कर उछल-कूद करते हैं। सुबह-शाम बच्चाें की टाेलियां यहां खेलते देख सकते हैं।
दरसअल, यह रेल इंजन कबाड़ी अंबालाल खाेईवाल ने विक्रम सीमेंट प्लांट
...
more...
से खरीदा है। नीमच के पास खाेर स्थित सीमेंट फैक्ट्री से स्टेशन तक अादित्य बिड़ला ग्रुप की रेलवे लाइन है। यह इंजन स्टेशन अाैर प्लांट से सामान परिवहन वाली ट्रेन का था। पुराना हाेने से कंपनी से इसे नीलाम कर दिया। इसे कबाड़ी खाेईवाल ने 12 लाख रुपए में खरीदा। खाेईवाल ने बताया कि यह डीजल इंजन है अाैर इसका वजन 32 टन है। करीब 50 हजार टन वजन खींचने की इसकी क्षमता है।
Page#    613 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy