Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Admin
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

Follow my Trip (beta) Android app

Bandra Garib-Rath - नाम से गरीब, लेकिन मेरे दिल के करीब - Abdul Rehman

Search News

News Posts by Jayashree ❖ Amita*^

Page#    Showing 1 to 5 of 46199 news entries  next>>
  
समस्तीपुर-खगड़िया रेलखंड पर इलेक्ट्रिक लाइन बनने के बाद अब सभी डेमू सवारी गाड़ी को मेमू ट्रेन में बदल दिया गया है। समस्तीपुर से सहरसा के बीच मेमू ट्रेन व सहरसा से पूर्णिया के बीच डेमू ट्रेन का परिचालन 17 अक्टूबर से किया जाएगा।सीनियर डीसीएम सह मीडिया प्रभारी बिरेंद्र कुमार ने बताया कि यात्रियों की सुविधा के लिए यह निर्णय लिया गया है। इसके तहत ट्रेनों का नंबर भी बदला गया है। समस्तीपुर-सहरसा के बीच पैसेंजर ट्रेन 55534 के बदले 63344 समस्तीपुर-सहरसा मेमू ट्रेन चलायी जायेगी। इसी तरह समस्तीपुर सहरसा 75287 डेमू के बदले 63343 मेमू, 75290 डेमू के बदले 63346 मेमू, 75286 डेमू के बदल 63350 मेमू तथा सहरसा-समस्तीपुर 75289 डेमू के बदले 63345, 75284 डेमू के बदल 63348 मेमू, एवं 75283 डेमू के बदले 63347 मेमू चलायी जायेगी।रक्सौल-नरकटियागंज के बीच डेमू : रक्सौल नरकटियागंज के बीच सवारी गाड़ी के बीच भी डेमू ट्रेन चलायी जायेगी। इसके तहत ट्रेन संख्या...
more...
55585 एवं 55587 रक्सौल-नरकटियागंज सवारी गाड़ी के बदले ट्रेन संख्या 75265 व 75267 डेमू चलायी जायेगी। इसी प्रकार ट्रेन संख्या 55586 व 55588 नरकटियागंज-रक्सौल सवारी गाड़ी के बदले ट्रेन संख्या 75266 व 75268 डेमू ट्रेन चलायी जायेगी।सहरसा-पूर्णिया के बीच मेमू : सहरसा-पूर्णिया पैसेंजर ट्रेन 55572 के बदले 75258 डेमू ट्रेन, 55584 के बदले 75260 और 55564 क बदले 75262 नंबर की डेमू ट्रेन चलायी जाएंगी। पूर्णिया से सहरसा के बीच पैसेंजर ट्रेन 55571 के बदले 75257, 55583 के बदले 75259 और 55563 के बदले 75261 नंबर की डेमू ट्रेन 17 अक्टूबर से चलेगी। जबकि ट्रेन संख्या 55567 सहरसा-समस्तीपुर सवारी गाड़ी के बदल 75287 डेमू चलायी जायेगी।
  
Today (02:47) पुष्पक समेत तीन ट्रेनों का ललितपुर में समय बदला (www.livehindustan.com)
0 Followers
813 views

News Entry# 393426  Blog Entry# 4460729   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
पूर्वोत्तर रेलवे 20 फरवरी 2020 से तीन ट्रेनों का ललितपुर स्टेशन पर आने और जाने के समय में बदलाव करने जा रहा है। इसमें लखनऊ जंक्शन-मुम्बई पुष्पक एक्सप्रेस ललितपुर स्टेशन पर देर रात 2.34 बजे पहुंचकर 2.36 बजे रवाना होगी। मुम्बई-लखनऊ जंक्शन पुष्पक एक्सप्रेस ललितपुर स्टेशन पर देर रात 00.32 बजे पहुंचकर 00.34 बजे तथा झांसी स्टेशन पर देर रात 1.50 बजे पहुंचकर दो बजे रवाना होगी। लोकमान्यतिलक टर्मिनस-लखनऊ जंक्शन ललितपुर स्टेशन पर सुबह 7.48 बजे पहुंचकर 7.50 बजे रवाना होगी।-----------बिहार जाने वाली कई ट्रेनें आज से प्रभावितपूर्व मध्य रेलवे के समस्तीपुर मंडल में नॉन इंटरलॉकिंग का काम होना है। इसके चलते गुरुवार से कई ट्रेनें बिहार के खजौली स्टेशन तक जाएंगी और वहीं से वापसी करेंगी। इसके चलते पूर्व में आरक्षित टिकट लेकर सफर करने वाले यात्रियों को मुसीबतें भी उठानी पड़ेंगी।रेल अधिकारियों के मुताबिक जयनगर से अमृतसर के बीच चलने वाली ट्रेन सरयू यमुना एक्सप्रेस 18, 20 और 22...
more...
अक्तूबर को बिहार के खजौली स्टेशन से चलेगी। यह ट्रेन जयनगर से खजौली के बीच निरस्त रहेगी। वापसी में ट्रेन 19 और 21 अक्तूबर को खजौली तक जाएगी।वहीं, अमृतसर से जयनगर जाने वाली शहीद एक्सप्रेस 17, 18 और 20 अक्तूबर को खजौली स्टेशन तक जाएगी। ट्रेन खजौली से जयनगर के बीच निरस्त रहेगी। वापसी में ट्रेन जयनगर की जगह खजौली से 19, 21 और 23 अक्तूबर को चलेगी।आज बदले मार्ग से गुजरेगी हरिहरपूर्वोत्तर रेलवे के वाराणसी मंडल में गुरुवार को मरम्मत कार्य के चलते ब्लॉक रहेगा। इसके चलते गुरुवार को बरौनी से अंबाला जाने वाली हरिहर एक्सप्रेस बलिया-औड़िहार के स्थान पर छपरा-भटनी-औड़िहार के रास्ते गुजरेगी।
  
Today (02:45) रेल मंडल में ट्रेनों के इंजनों पर भी दिखेगा विज्ञापन (www.livehindustan.com)
0 Followers
481 views

News Entry# 393425  Blog Entry# 4460728   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
रेल मंडल के ट्रेनों के इंजनों पर अब विज्ञापन भी दिखेगा। रेलवे ने एनएफआर (नन फेयर रेव्युन्यू) के तहत ट्रेन के इंजनों पर विज्ञापन लगाने का निर्णय लिया है, ताकि इंजनों के खाली स्थानों पर निजी प्रचार-प्रसार कर उससे आय की जा सके। फिलहाल रेल मंडल के 114 डीजल इंजन पर विज्ञापन करने का निर्णय लिया गया है। इंजनों पर विज्ञापन प्रसारित करने के लिये शीघ्र ही कोटेशन भी आमंत्रित किया जायेगा।इस के तहत सीनियर डीसीएम बिरेंद्र कुमार ने पत्र भी जारी कर दिया है। जारी पत्र के अनुसार 22 अक्टूबर को निविदा आमंत्रित की जायेगी। मिली जानकारी के अनुसार 23 मालगाड़ी के इंजन पर विज्ञापन प्रसारित करने की तैयारी की गयी है। इसके अलावे सवारी, मेल व एक्सप्रेस ट्रेन के इंजन पर भी अलग-अलग सीरीज के इंजन हैं, जिसपर विज्ञापन किया जायेगा।लोकोमोटिव के ब्रांडिंग के लिए संबंधित लोग द्वारा निर्धारित तिथि पर दिये गये आवेदन पर ही विचार किया जायेगा।...
more...
चयनित कोटेशन दाता को इसमें18 प्रतिशत जीएसटी का भी भुगतान करना होगा।टिकट काउंटरों पर होगा प्रचार : इंजन पर विज्ञापन प्रकाशित कराने के लिये कोटेशन निविदा डालने का प्रचार-प्रसार टिकट काउंटरों पर भी किया जाएगा। 18 अक्टूबर से रेल मंडल के प्रमुख स्टेशनों के टिकट काउंटर पर इसका प्रचार-प्रसार किया जायेगा। ताकि लोग अपना प्रचार-प्रसार रेलवे के इंजन के माध्यम से भी करवा सकें।इन इंजन पर होगा विज्ञापन : डब्ल्यूडीएम थ्रीडी 11 सीरिज के 43 मेल एक्सप्रेस लोको (इंजन) पर 18 बाइ 4.5 इंच में विज्ञापन प्रकाशित किया जायेगा। इसी प्रकार डब्ल्यूजी थ्री ए के 14 सीरिज के 20 पैसेंजर लोको पर 24 बाइ तीन इंच का विज्ञापन, डब्ल्यूडीएम थ्रीए के 16 सीरिज के 23 पैसेजेंर लोको पर 21 बाइ तीन इंच का विज्ञापन होगा। जबकि डब्ल्यूडीजी थ्रीए केे 13 सीरिज के 23 गुड्स ट्रेन के लोको पर बीस बाइ साढ़े तीन इंच का विज्ञापन प्रसारित किया जायेगा।
  
Today (02:45) सभी रेलखंडों पर 100 की स्पीड से चलेगी ट्रेन (www.livehindustan.com)
0 Followers
459 views

News Entry# 393424  Blog Entry# 4460727   
  Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.
समस्तीपुर मंडल के सभी रेलखंडों पर अगले साल मार्च तक 100 किमी प्रति घंटे की स्पीड से ट्रेनें चलने लगेंगी। ट्रेनों की रफ्तार बढ़ने से अभी से कम समय में यात्री गंतव्य स्टेशन को पहुंचेंगे।समस्तीपुर मंडल के डीआरएम अशोक माहेश्वरी ने कहा कि इस वित्तीय वर्ष में समस्तीपुर मंडल के सभी रेलखंडों पर ट्रेन की स्पीड बढाकर 100 कर दी जाएगी। मार्च 2020 तक ट्रेन की स्पीड बढ़ाकर सौ किए जाने के बाद 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से ट्रेनें चलाने के लिए ब्लास्ट ( गिट्टी) गिराने और मशीन से पैकिंग कराने का काम किया जाएगा। समस्तीपुर मंडल के सहरसा-मानसी रूट पर 80 तो अन्य रूट पर 50 से 100 तक की स्पीड से ट्रेनें चलती हैं। सभी रूट पर सौ की रफ्तार से ट्रेनें चलाने पर एक समान परिचालन व्यवस्था बहाल हो जाएगी।ईसीआर के प्रिंसिपल चीफ इंजीनियर के. डी. रल्ह के साथ डीआरएम स्पीड ट्रायल निरीक्षण कर बुधवार...
more...
को सहरसा वापस लौटे थे। उनके साथ सीनियर डीईएन को-ऑर्डिनेशन आरएन झा , सीनियर डीईएन थ्री मयंक अग्रवाल, पीए पप्पूजी, एडीईएन मनोज कुमार, एएमई दुर्गेश कुमार सिंह, डीसीआई राजेश रंजन श्रीवास्तव, डीएमओ डॉ. अनिल कुमार, एसएस नीरज चन्द्र, अरुण कुमार, एसएसई प्रभात कुमार, एसएसई रेलपथ सुनील कुमार, राकेश कुमार, एएसटीई संजीव कुमार, सीडब्लूएस शंभू कुमार, टेलीकॉम इंस्पेक्टर अमित कुमार सुमन सहित अन्य थे।सहरसा से मानसी के बीच 100 की रफ्तार से चलेगी ट्रेन: सहरसा से मानसी के बीच ट्रेन की स्पीड बढ़कर 100 किमी प्रति घंटे होगी। डीआरएम ने कहा कि 80 से स्पीड बढ़ाकर 100 करने के लिए तीन रैक ब्लास्ट गिराया जा चुका है। शेष एक रैक ब्लास्ट भी मिल गया है। ब्लास्ट गिराने के बाद मशीन से पैकिंग का काम होगा। प्रिंसिपल चीफ इंजीनियर स्पीड ट्रायल करते स्पीड बढ़ाने का आदेश देंगे। सूत्रों की माने तो अगले महीने इस रेलखंड पर स्पीड बढ़ाने के लिए प्रिंसिपल चीफ इंजीनियर का स्पीड ट्रायल निरीक्षण हो सकता है।26 अक्टूबर को सीआरएस निरीक्षण के लिए भेजा है प्रस्ताव : गढ़ बरुआरी से सुपौल के बीच सीआरएस निरीक्षण के लिए 26 अक्टूबर की तिथि निर्धारित करने के लिए मुख्यालय से प्रस्ताव भेजा गया है। सीआरएस द्वारा तिथि निर्धारित करने का इंतजार किया जा रहा है।सहरसा स्टेशन के प्लेटफार्म दो की चारदीवारी तोड़ हटाई जाएगी : प्लेटफार्म दो पर यात्रियों को हर तरफ से आवाजाही की सुविधा मिले इसके लिए चहारदीवारी तोड़कर हटाई जाएगी। सहरसा स्टेशन के निरीक्षण के दौरान डीआरएम को 30 नवंबर तक शौचालय निर्माण और 15 से 20 दिन में पार्किंग का काम पूरा होने की बात एडीईएन ने बताई। डीआरएम ने सहरसा स्टेाश्न पर बन रहे लिफ्ट का सभी काम तेजी से पूरा करने का निर्देश दिया। डीआरएम ने कहा कि टिकट काउंटरों को अपग्रेड करते बेहतर लुक दिया जाएगा।एक सप्ताह में सहरसा से पूर्णिया दौड़ने लगेंगी ट्रेनें: एक सप्ताह में सहरसा से पूर्णिया 100 की स्पीड से ट्रेनें दौड़ने लगेगी। पूर्व मध्य रेलवे के प्रिंसिपल चीफ इंजीनियर के. डी. रल्ह ने पूर्णिया से मधेपुरा तक 110 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से बुधवार को स्पीड ट्रायल किया। स्पीड ट्रायल करते प्रिंसिपल चीफ इंजीनियर ने पूर्णिया से मधेपुरा तक 100 की स्पीड में ट्रेन चलाने की स्वीकृति पत्र जारी कर दी। ईस्टर्न जोन के सीआरएस ने प्रिंसिपल चीफ इंजीनियर को ही स्पीड बढ़ाने के लिए अधिकृत किया था। उनके साथ स्पीड ट्रायल के दौरान मौजूद डीआरएम ने कहा कि प्रिंसिपल चीफ इंजीनियर से स्पीड बढ़ाकर 100 किए जाने का आदेश मिल गया है। एक सप्ताह में सहरसा से पूर्णिया ट्रेनें 100 की स्पीड से चलने लगेगी। सूत्रों की मानें तो स्पीड ट्रायल के दौरान बुधवार को पूर्णिया से मधेपुरा की दूरी 45 मिनट में तय की गई।
  
Yesterday (21:49) मेमू ट्रेन के अव्यवस्थित परिचालन पर यात्रियों का हंगामा (www.jagran.com)
0 Followers
1087 views

News Entry# 393413  Blog Entry# 4460551   
  Past Edits
Oct 16 2019 (22:01)
Station Tag: Varanasi City/BCY added by Prabhat Sharan ☆ Usha^~/1872250

Oct 16 2019 (22:01)
Station Tag: Chhapra Junction/CPR added by Prabhat Sharan ☆ Usha^~/1872250

Oct 16 2019 (22:01)
Station Tag: Ballia/BUI added by Prabhat Sharan ☆ Usha^~/1872250

Oct 16 2019 (22:01)
Train Tag: Chhapra - Varanasi City Fast MEMU/65105 added by Prabhat Sharan ☆ Usha^~/1872250

Oct 16 2019 (22:01)
Train Tag: Chhapra - Varanasi City MEMU/65103 added by Prabhat Sharan ☆ Usha^~/1872250
जागरण संवाददाता, बलिया : छपरा-बलिया-वाराणसी के लिए मेमू ट्रेन को इस रूट पर चालू हुए अभी तीन दिन ही हुए हैं कि उसके अव्यवस्थित परिचालन को लेकर यात्रियों ने बुधवार को जमकर बवाल काटा। इसके चलते घंटों मॉडल रेलवे स्टेशन पर अफरातफरी का माहौल रहा। इस दौरान यात्रियों के गुस्से के आगे रेल प्रशासन पूरी तरह बेबस नजर आया। स्थानीय रेलवे प्रशासन की लापरवाही से तिलमिलाये यात्री ट्रेन के आगे पटरी पर बैठकर प्रदर्शन करने लगे। यात्रियों का यह रुप देख कर अधिकारियों व कर्मचारियों के हाथ-पांव फूल गए। स्टेशन परिसर पर हंगामा होते देख पहुंचे आरपीएफ और जीआरपी के जवानों ने किसी तरह मामले का शांत कराया और यात्रियों को दूसरी ट्रेनों से वाराणसी रूट पर भेजने का आश्वासन दिया तो परिचालन शुरु हो सका।
...
more...
रेलवे समय सारणी के अनुसार वाराणसी सीटी -छपरा मेमू ट्रेन को सुबह 8.17 पर बलिया पहुंचना था लेकिन ट्रेन अपराह्न एक बजे स्टेशन पहुंची। एक तो गाड़ी लेट होने की वजह से यात्री पहले से ही परेशान थे तभी स्टेशन प्रबंधन द्वारा ट्रेन को वाराणसी वापस करने की घोषणा कर दी गई। यह सुन यात्री टिकट लेकर ट्रेन में सवार हो गए लेकिन कुछ देर बाद ही पुन: इस ट्रेन को छपरा रवाना करने की सूचना दी गई। यह घोषणा होते ही यात्री भड़क गए और रेलवे स्टेशन प्रबंधन से बातचीत की लेकिन अधिकारी अपनी जिद पर अड़े रहे। यह देख यात्री भी हो हंगामा करने लगे और बात न बनते देख ट्रेन के आगे पटरी पर बैठ गए। यात्रियों का यह रुख देख अधिकारियों के होश उड़ गया। काफी मान मनौव्वल व अन्य ट्रेनों से यात्रियों को वाराणसी रुट पर भेजने के आश्वासन के बाद मामला शांत हो सका। इस वजह से करीब दो घंटे बाद मेमू ट्रेन छपरा के लिए रवाना हो सकी।
कुप्रबंधन ने किया अक्रोशित
मॉडल स्टेशन पर मेमू ट्रेन को लेकर यात्री यूं ही आक्रोशित नहीं हुए। दरअसल डाउन मेमू पहले ही लगभग पांच घंटे विलंब थी। यात्री टिकट लेकर काफी देर से गाड़ी का इंतजार कर रहे थे। इस दरम्यान स्टेशन प्रबंधन के कुप्रबंध से यात्रियों का गुस्सा फूट पड़ा। प्रदर्शन कर रहे यात्रियों ने इस दौरान जमकर भड़ांस निकली। यात्रियों ने जनप्रतिनिधियों व रेलवे के अधिकारी पर छल करने का आरोप लगाया। कहा कि ट्रेन झंडी दिखाने के लिए नेताओं में होड़ मची थी लेकिन यात्रियों की दुर्दशा पर किसी का ध्यान नहीं है। तीन दिन में ही मेमू ट्रेन की ऐसी दशा होगी कोई सोचा भी नहीं था। यात्रियों ने कम से कम दो मेमू ट्रेन का संचालन किए जाने की मांग की। कहा कि पूर्व में संचालित हो रही दो जोड़ी ट्रेनों को बंद कर सिर्फ एक मेमू का परिचालन किया जा रहा है। इसकी वजह से यात्रियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है। वहीं विभागीय कुप्रबंधन से समस्या और जटिल होती जा रही है। कमोबेश यही स्थिति मऊ रुट का भी है।
Page#    46199 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy