Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

quiz & poll - Timepass for curious minds

For RailFans, seeing RAC-1/2/3 in Mumbai-UP Trains is more exciting than Election Results - rdb

Search News
Post PNR
Large Station Board;
Entry# 607871-0
Night Pic; Front Entrance - Outside; Large Station Board;
Entry# 4490758-0

FTS/Fatehpur Sikri (2 PFs)
فتح پور سیکری     फतेहपुर सीकरी

Track: Single Electric-Line

Show ALL Trains
Type of Station: Regular
Number of Platforms: 2
Number of Halting Trains: 16
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Agra
State: Uttar Pradesh
add/change address
Elevation: 179 m above sea level
Zone: NCR/North Central
Division: Agra
1 Travel Tips
No Recent News for FTS/Fatehpur Sikri
Nearby Stations in the News

Rating: 4.4/5 (8 votes)
cleanliness - excellent (1)
porters/escalators - excellent (1)
food - average (1)
transportation - good (1)
lodging - excellent (1)
railfanning - excellent (1)
sightseeing - excellent (1)
safety - good (1)

Show ALL Trains
Departures
Arrivals
Station Map
Forum
News
Gallery
Timeline
RF Club
Station Pics
Tips

Station News

Page#    Showing 1 to 5 of 5 News Items  
Mar 29 (13:58) आगरा में सेना भर्ती की तैयारी करते युवक को हत्यारों ने रेलवे ट्रैक पर बांधकर ऊपर से गुजार दी थी ट्रेन (www.jagran.com)
Crime/Accidents
NCR/North Central
0 Followers
2089 views

News Entry# 447297  Blog Entry# 4922814   
  Past Edits
Mar 29 2021 (13:58)
Station Tag: Fatehpur Sikri/FTS added by ANIKET/1490219

Mar 29 2021 (13:58)
Station Tag: Agra Cantt./AGC added by ANIKET/1490219
Stations:  Agra Cantt./AGC   Fatehpur Sikri/FTS  
आगरा, जागरण संवाददाता। फतेहपुर सीकरी में आगरा-बयाना रेलवे ट्रैक पर 13 मार्च की शाम को हत्यारों ने सेना भर्ती की तैयारी को दौड़ लगाने गए युवक के हाथ-पैर बांध करके उसके ऊपर से ट्रेन से गुजार दी थी। युवक की हत्या का 15 दिन बाद भी राजफाश नहीं हो सका है। हत्यारों का सुराग हासिल करने के लिए पुलिस अब तक 18 लोगों से पूछताछ कर चुकी है।मृतक के मोबाइल की काल डिटेल खंगाल चुकी है। मगर, हत्यारोपित के बारे में अभी तक उसे कोई ठोस साक्ष्य या सुराग नहीं मिल सका है।जिन लोगों पर पुलिस और युवक के स्वजन को शक था।उनसे भी लंबी पूछताछ की गई, लेकिन उनसे कोई जानकारी हासिल नहीं हो सकी।दो सप्ताह बाद भी हत्यारोपित का पता लगाने में नाकाम रही पुलिस अब अन्य पहलुओं पर भी छानबीन कर रही है।
ये
...
more...
थी घटना
फतेहपुर सीकरी के गांव मंगौली कला निवासी अर्चित पचौरी (18 वर्ष) पुत्र हरी बाबू सेना भर्ती की तैयारी कर रहा था। उसने इंटर करने के बाद आइटीआइ में प्रवेश लिया था। अर्चित 13 मार्च की शाम को छह बजे रोज की तरह सेना भर्ती की तैयारी के लिए दौड़ लगाने गया था। वह गांव के कुछ युवकों के साथ दो से तीन किलोमीटर दौड़ने जाता था।घर से निकलने के एक घंटे बाद उसका मोबाइल स्विच आफ हो गया। जब काफी देर तक नहीं लौटा तो उसकी तलाश शुरू कर दी। परिवार के लोग उसकी खोजबीन में जुटे थे। देर रात उन्हें अर्चित का शव रेलवे लाइन पर पड़ा होने की जानकारी मिली।

हत्यारों ने वारदात को इस तरह से दिया था अंजाम
हत्यारों ने अर्चित को रेलवे ट्रैक पर लिटाने के बाद उसके दोनों हाथों और पैरों को रस्सी से पटरी से बांध दिया था। इससे कि वह किसी भी तरह से वहां से भाग नहीं सके। ट्रेन उसके ऊपर से गुजरने से उसकी मौत हो जाए। हत्यारों का मंसूबा पूरा हो चुका था। आगरा-बयाना रेलवे लाइन से गुजरने वाली मालगाड़ी के चालक ने 13 मार्च की रात को रेलवे ट्रैक पर युवक को बंधा पाया। हाथ-पैर कटने के चलते उसकी मौत हो चुकी थी। चालक ने इसकी सूचना फतेहपुर सीकरी रेलवे स्टेशन को दी।रेलवे पुलिस और थाने का फोर्स मौके पर पहुंच गया।अर्चित के दोनो हाथों को पटरी पर सीधा करके बांध दिया गया था। उसके दोनों पैर भी पटरियों से बंधे थे। इसके अलावा हत्यारों ने अर्चित के गले में रस्सी फंदा कस दिया था। पुलिस को घटनास्थल से अर्चित का मोबाइल मिला। जो कि स्विच आफ था।
मोबाइल से मिला स्वजन का पता
मौके पर पहुंची पुलिस ने मोबाइल को चालू करते ही उससे संपर्क करने का प्रयास करते स्वजन की मिस्ड काल मिलीं।पुलिस ने स्वजन को घटना की जानकारी दी तो वह मौके पर पहुंच गए। स्वजन ने पुलिस को उसके साथ दौड़ लगाने वाले गांव के युवकों के बारे में जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने पूछताछ का सिलसिला शुरू किया। वह अब तक 18 लोगों से पूछताछ कर चुकी हैद्ध

अर्चित काे ट्रैक पर बांधने के लिए मंदिर से लाए थे रस्सी
अर्चित को रेलवे ट्रैक पर बांधने के लिए हत्यारों ने पास के ही मंदिर से रस्सियों का इंतजाम किया था। मंदिर में इन दिनों मरम्मत का काम चल रहा है। मृतक के स्वजन और मौके पर जुटे ग्रामीणाें का कहना था कि रस्सी मंदिर से लेकर आए थे। 
Feb 01 (07:44) रेल बजट: यात्री सुविधाएं बढ़ाएं, नई गाड़ियों के साथ आगरा से फतेहपुरसीकरी तक चलाएं हेरिटेज ट्रेन (www.amarujala.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
4277 views

News Entry# 436153  Blog Entry# 4863214   
  Past Edits
Feb 01 2021 (07:45)
Station Tag: Fatehpur Sikri/FTS added by Anupam Enosh Sarkar/401739

Feb 01 2021 (07:45)
Station Tag: Agra Cantt./AGC added by Anupam Enosh Sarkar/401739
Stations:  Agra Cantt./AGC   Fatehpur Sikri/FTS  
रेल बजट 2021 एक फरवरी को पेश किया जाएगा। जनप्रतिनिधियों ने छोटे स्टेशनों के विकास और नई ट्रेनों के ठहराव के प्रस्ताव दिए हैं। पर्यटन व्यवसायियों की मांग है कि आगरा से फतेहपुर सीकरी के लिए हेरिटेज ट्रेन चलाई जाए। विदेशी पर्यटकों का शताब्दी व गतिमान जैसी ट्रेनों में अलग कोटा हो। आगरा से काठगोदाम के बीच नई ट्रेनें चलाने और नये मालगोदाम की स्थापना और पूर्ण आरक्षण की जगह अब जनरल कोच वाली ट्रेनों के संचालन की भी मांग की गई है।  रेल परामर्शदात्री के सदस्य राजकुमार शर्मा ने कहा कि आगरा से मुंबई, वाराणसी और जम्मू के लिए सीधी ट्रेनें शुरू की जाएं। ईदगाह बांदीकुई पर रेलवे के दोहरीकरण का प्रस्ताव पास हो चुका है। यह कार्य शुरू किया जाएगा। आगरा जयपुर के बीच विद्युतीकरण होने के बाद भी ट्रेनें डीजल इंजन से चल रही हैं। 
आगरा
...
more...
से सीकरी तक चले हेरिटेज ट्रेन
आगरा से फतेहपुर सीकरी तक पर्यटकों के लिए हेरिटेज ट्रेन चलाई जाए। इसी तरह आगरा- जयपुर- दिल्ली के गोल्डन ट्राइंगल पर ट्रेन का संचालन होना चाहिए। विदेशी पर्यटकों के लिए अलग कोटा (आरक्षण) व्यवस्था होनी चाहिए।
- राजीव तिवारी, पर्यटन उद्यमी, पूर्व अध्यक्ष चैंबर .
रेल बजट: नई हेरिटेज ट्रेन की मांग करने वाले आगरावासी- फोटो : अमर उजाला विदेशी पर्यटकों को दें सुविधाएं
रेलवे स्टेशनों पर विदेशी पर्यटकों के लिए टिकट खिड़की अलग की जाएं। उनके लिए अलग से यात्री प्रतीक्षालय हो। इसके साथ ही आगरा के इतिहास और स्मारकों की पुस्तिका भी हर विदेशी पर्यटक को यूपी टूरिज्म की ओर से देनी चाहिए।
- अनिल शर्मा, अध्यक्ष, एलटीए 
रेलकर्मियों की सुविधाएं बढ़ाएंरेलवे का निजीकरण को बंद किया जाए। रेलवे कर्मचारियों को ओपीएस सिस्टम में लाया जाए। सेना की तरह रेलवे कर्मियों को भी कैंटीन की सुविधा दी जाए। आयकर की सीमा पांच लाख रुपये से बढ़ाई जाए। परिचालन से जुड़े रेलकर्मियों को ज्यादा सुविधाएं दी जाएं।
- हरिओम भारद्वाज, शाखा सचिव, एनसीआरईएस
रेल बजट: आगरा निवासी पूनम अग्रवाल और मनीष तिवारी- फोटो : अमर उजाला कीठम पर बनाएं नया मालगोदाम
रेलवे के यमुना ब्रिज मालगोदाम की क्षमता कम है। कुबेरपुर में बना मालगोदाम भी ज्यादा कारगर नहीं रहा। ऐसे में रेलवे को कीठम के पास नया मालगोदाम स्थापित करना चाहिए। यह दिल्ली, जयपुर व ग्वालियर हाईवे की रिंग रोड पर है।
-मनीष अग्रवाल, पूर्व अध्यक्ष, नेशनल चैंबर
महिलाओं को मिले कन्फर्म सीटट्रेनों में सबसे ज्यादा दिक्कत आरक्षण को लेकर आती है। रेलवे को महिलाओं को कन्फर्म टिकट की सुविधा दी जाए। जनरल कोचों की संख्या बढ़ाई जाए। खानपान की सुविधा भी बढ़ाई जानी चाहिए। प्रतियोगी परीक्षा को जाने वाले अभ्यर्थियों को भी खास वरीयता दी जाए।
-पूनम अग्रवाल, गृहिणी
स्टेशनों के विकास के लिए दिए प्रस्ताव सांसद प्रोफेसर एसपी सिंह बघेल ने जहां जलेसर स्टेशन के विकास और एत्मादपुर, कुबेरपुर, आगरा सिटी जैसे छोटे स्टेशनों पर विकास के प्रस्ताव दिए हैं, वहीं फतेहपुर सीकरी के सांसद राजकुमार चाहर ने किरावली, फतेहपुर सीकरी, अछनेरा स्टेशनों पर लंबी दूरी की ट्रेनों के ठहराव और स्टेशनों के विकास के प्रस्ताव दिए हैं। राज्यमंत्री डॉ. जीएस धर्मेश ने ईदगाह से अर्जुन के बीच रेलवे के पुल का प्रस्ताव दिया है। इसके लिए बजट की दरकार है।
Oct 01 2018 (15:11) The last train to Sikri - OTHERS - The Hindu (www.thehindu.com)
Commentary/Human Interest
NCR/North Central
0 Followers
8430 views

News Entry# 362087  Blog Entry# 3857476   
  Past Edits
Oct 01 2018 (15:11)
Station Tag: Fatehpur Sikri/FTS added by a2z~/1674352
Stations:  Fatehpur Sikri/FTS  
Soothing experience:Sheikh Salim Chisti’s tomb in Fatehpur Sikri
When Marion and Sally, two English teachers of St Thomas’ School, Mandir Marg, set out on a trip to Fatehpur Sikri in 1978, they boarded the last train from Delhi. “It sounds ominous, like the last plane from Da Nang, when South Vietnam was overrun by the Viet Minh,” remarked Sally, “Yes,” recalled Marion. “Many struggled to board the plane. Some were left behind but in the melee an enterprising Western reporter was not only able to capture the heart-wrenching scene, but also played the hero by helping a hysterical woman and her kid take his seat on the plane as he jumped down to shoot what later turned out to be award-winning pictures
...
more...
of the airport scramble.”
The last train from Old Delhi station did not cause any such frenzied commotion. Over 40 years ago it was the one that was supposed to leave just before midnight, but the departure was invariably delayed. From Delhi Main station it ran up to Agra Cantt, its destination, and took seven hours to do so, usually even more. The passenger train had a whole lot of policemen travelling in it. As a matter of fact, right from the ticket window they made their presence felt when they pulled suspicious-looking youths out of the queue and slapped and punched them before asking questions like, “Where are you going? Where did you get the money to buy the ticket? Are you drunk? Who else is travelling along with you? Where do you live?” before searching them with their shirts off and pants down,” the two teachers recalled.
When they caught the train they didn’t see those young men again. The train made three false starts, provoking someone to remark that the driver was shaking the compartments to fit in more passengers. Finally it started rolling, with several urchins rushing to catch it. By the time the train reached New Delhi station it was nearly 1 a.m. After that the Passenger stopped at every station big or small and as people got down, many were detained and searched by policemen on the platform. But the two girls reached Agra Cantt station safely. From there they were escorted by friends Sam, Lewis and this scribe by car to Sikri.
The shrine at Fatehpur Sikri is one of the most venerated places. Where wild animals once roamed a gem of a monument now greets the eye,” disclosed Sam. “It was here on a hill that Sheikh Salim Chisti dwelt and thither came Akbar the Great to seek his help for the birth of a son and heir apparent. He came on foot, leaving his camels, elephants and horses behind. The hermit sat with a rosary (tasbi) reciting the 99 names of Allah. The emperor’s prayers were heard and his Rajput queen bore a son, Salim, whom Akbar always called Sheikhu Baba, after the saint. Not only that, he built this magnificent city to commemorate the event and dwelt here with his Nine Jewels, like the Nine Worthies of the ancient world. “I have heard about the Nine Jewels,” said Marion, “but who were the Nine Worthies?” “Hector, Alexander the Great, JuliusCaesar, Joshua, David, Judas Maccabaeus, King Arthur, Charlemagne and Godfrey of Bouillon,” replied Sam without batting an eyelid.
Akbar’s legacy
Sam related his tale standing by Sally’s side. She listened, her doe eyes thoughtful. As they approached the trellis of the shrine where people who seek favours tie a thread, she tied one too, making Sam wonder what she had sought. They next went to the Buland Darwaza and saw the town of Sikri spread out before them. Nearby is the water works set up by Akbar and from above the ramparts a man dived 80 feet into the baoli or step-well. They looked aghast. “Just you wait and see,” said Sam as Lewis nodded in approval. Soon a dare-devil emerged and salaam-ed them. They tipped him and he walked away to prepare for another demonstration. “These divers have been continuing the tradition for several centuries. VIPs and common people alike tip them. Perhaps, it will continue so long as there is water in the baoli. But it is a paradox that Akbar, who built a new capital here, had to desert it because of water scarcity.” Sam informed the party. They went down the steps of Buland Darwaza, Sam pointing out the Hiran Minar from where the shikar was shot in Mughal times, though some think that Akbar’s famous elephant was buried there and perhaps that’s why it is also called Elephant Tower.
At Sikri town they had the fabulous 24-layer Mughalia parantha. “Why is this parantha so thick?” enquired Marion. “It could feed one whole family.” “Quite right,” said Sam. “Ask Sally, when we were last here she had to take half the parantha to Delhi where we had it for breakfast the next day and the remainder for lunch.”
“Did Akbar really play with women as chess pieces? “enquired Sally.” Off course he did,” replied Sam. “Don’t talk rubbish. Listening to you one would imagine the great Akbar had nothing else to do but seduce maids of honour”, admonished Lewis. From there the party went to the Taj Mahal and then caught the Taj Express back to Delhi after a memorable day. Marion and Sally are now back in England and Sam works in Bangalore, where Lewis keeps reminding him of the visit whenever he rings up from Kolkata.

7308 views
Oct 01 2018 (15:24)
Dexter
eXplorerDKG^~   87683 blog posts
Re# 3857476-1            Tags   Past Edits
Good right up
Nov 27 2017 (20:17) मोदी की रैली का ट्रेन भाड़ा मिला साढ़े तीन साल में (epaper.livehindustan.com)
IR Affairs
NCR/North Central

News Entry# 323418   
  Past Edits
Nov 27 2017 (20:17)
Station Tag: Fatehpur Sikri/FTS added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964
Stations:  Fatehpur Sikri/FTS  
मोदी की रैली का ट्रेन भाड़ा मिला साढ़े तीन साल में
राहत
’ ट्रेन प्रभारी को रेलवे से लगातार मिल रहे थे नोटिस
’ प्रदेश नेतृत्व ने रेलवे को जारी किया 12, 39, 300 रुपये का नोटिस
फतेहपुरसीकरी।
...
more...
वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव के दौरान लखनऊ में नरेंद्र मोदी की रैली के लिए सीकरी से गई ट्रेन के भाड़े का चेक साढ़े तीन साल बाद इसके प्रभारी को मिला है। इसके लिए लगातार प्रयास कर रहे ट्रेन प्रभारी ने राहत की सांस ली है। वह साढ़े तीन साल से रेलवे से मिल रहे नोटिसों को ङोल रहे थे। एक मार्च 2014 को लखनऊ में नरेंद्र मोदी की रैली थी। रैली को नरेंद्र मोदी ने बतौर प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर संबोधित किया था। चुनावी रैली के लिए फतेहपुरसीकरी से ट्रेन गयी थी। सीकरी के भाजपा नेता विनोद सामरिया को ट्रेन प्रभारी बनाया गया था। रेलवे को पार्टी द्वारा रेल भाड़े एवं सिक्योरिटी राशि के एवज में 18,39,300 रुपये जमा कराए गए थे। मगर रास्ते में ट्रेन के स्टॉपेज बढ़ जाने के चलते रेलवे द्वारा प्रभारी से 12,29,390 रुपये की अतिरिक्त मांग की गई। यह धनराशि अदा करने के लिए प्रभारी विनोद सामरिया द्वारा लगातार रेलमंत्री, सांसद, विधायक एवं पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से समय-समय पर सम्पर्क भी किया गया मगर बात आगे नहीं बढ़ सकी। इधर रेलवे द्वारा प्रभारी को कई नोटिस दर नोटिस जारी किए। रेल भाड़ा प्राप्त करने के लिए विनोद सामरिया ने प्रयास नहीं छोड़ा। आखिर उनकी सुनवाई हुई। प्रदेश भाजपा के संगठन महामंत्री सुनील बंसल एंव कोषाध्यक्ष राजेश अग्रवाल द्वारा हस्ताक्षरित रेलवे के नाम 12,29,390 राशि का चेक विनोद सामरिया को डाक से प्राप्त हुआ है। इससे उनके परिवार में हर्ष है। भाजपा नेता विनोद सामरिया ने बताया कि पार्टी पर पूरा भरोसा था। देर आए दुरस्त आए। अब वह इस चेक को रेलवे को जमा कराकर रेलवे की उधारी से मुक्ति पा सकेंगे।
Dec 13 2014 (21:59) भारतीय रेल का यात्रियों को एक और तोहफा! (hindi.news24online.com)
New Facilities/Technology

News Entry# 204641   
  Past Edits
Dec 13 2014 (9:59PM)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by NR The Pride of IR/815653

Dec 13 2014 (9:59PM)
Station Tag: Fatehpur Sikri/FTS added by NR The Pride of IR/815653

Dec 13 2014 (9:59PM)
Station Tag: Agra Fort/AF added by NR The Pride of IR/815653

Dec 13 2014 (9:59PM)
Train Tag: Taj Express/12279 added by NR The Pride of IR/815653
Trains:  Taj Express/12279  
नई दिल्ली:भारतीय रेलवे अपने यात्रियों को एक बड़ा तोहफा दे रहा है। अब जो लोग दुनिया के आठ अजूबों में शामिल ताजमहल का दीदार करना चाहते हैं वो दुनिया के किसी भी शहर से ताजमहल देखने के लिए टिकट ले सकते हैं।
जी हां, अब आपको आगरा जाकर ही टिकट लेने की जरूरत नहीं है। भारतीय रेल यह सुविधा 25 दिसंबर से ट्रायल के तौर पर शुरू कर रही है। आप टिकट आईआरसीटीसी से बुक करा सकते हैं। इस टिकट पर एक बार कोड भी रहेगा।
आईआरसीटीसी ट्रेन के जरिये दिल्‍ली से
...
more...
आगरा का सफर करने वाले सैलानियों को पहले से ही टूर पैकेज दे रही है। यह पैकेज ताज एक्‍सप्रेस से सफर करने वाले सैलानियों के लिए ही मान्‍य है। इसके तहत ताजमहल के अलावा आगरा फोर्ट और फतेहपुर सीकरी घूमने का मौका मिलता है।
Page#    Showing 1 to 5 of 5 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy