Full Site Search  
Mon Jan 22, 2018 19:56:32 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;


KTE/Katni Junction (6 PFs)
کٹنی جنکشن     कटनी जंक्शन

Track: Triple Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 6
Number of Halting Trains: 168
Number of Originating Trains: 5
Number of Terminating Trains: 4
Station Road, Infront of Samrat Hotel, Katni (M.P.) 483501
State: Madhya Pradesh
add/change address
Elevation: 387 m above sea level
Zone: WCR/West Central
Division: Jabalpur
 
 
9 Travel Tips
KTE/Katni Junction is in Recent News
Nearby Stations in the News

Rating: 3.6/5 (104 votes)
cleanliness - good (14)
porters/escalators - good (14)
food - good (14)
transportation - good (13)
lodging - good (11)
railfanning - good (13)
sightseeing - average (12)
safety - good (13)

Nearby Stations

KTES/Katni South 2 km     KMZ/Katni Murwara 2 km     NKJ/New Katni Junction 3 km     MDRR/Madhavnagar Road 5 km     MJGP/Majhagawan Phatak 8 km     PTWA/Patwara 9 km     JLW/Jhalwara 10 km     KTKD/Katangi Khurd 11 km     NWR/Niwar 13 km     JKE/Jukehi 17 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 117 News Items  next>>
Today (13:55)  Katni has 5 km long railway yard यहां है 5 किमी लंबा रेलवे यार्ड, 60 ट्रैक से होकर हरदिन गुजरती हैं 100 ट्रेनें (www.patrika.com)
back to top
IR AffairsWCR/West Central  -  

News Entry# 327617     
   Past Edits
Jan 22 2018 (13:55)
Station Tag: Katni Junction/KTE added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643
Stations:  Katni Junction/KTE  
 
 
कटनी. दो नदियों के बीच ५ किमी के क्षेत्रफल में बिछी रेलवे की ६० लाइनें और उनसे होकर गुजर रही १०० से अधिक ट्रेनें। यह नजारा होता है देश के दूसरे सबसे बड़े रेलवे यार्ड एनकेजे का। १९ जनवरी १९६१ में शुरू हुए इस रेलवे यार्ड ने शुक्रवार को ५७ वर्ष पूरे किये। इस अवसर पर एनकेजे एरिया मैनेजर कार्यालय में एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
एरिया मैनेजर एनके राजपूत ने बताया कि एनकेजे यार्ड विश्व के प्रमुख छह यार्डों में से एक यार्ड है। यहां प्रतिदिन १००० वैगन मौजूद रहते हैं। सतना का सीमेंट, सिंगरौली का कोल और कैमोर का लाइमस्टोन सहित अन्य खनिज व उत्पादों की लोडिंग व परिवहन के लिए यार्ड से ही होकर वैगन रवाना किये
...
more...
जाते हैं। यार्ड में ८ स्टेशन बने हुए हैं, जिनमें माध्यम से ट्रेनों का आवागमन कंट्रोल किया जाता है। यार्ड में इलेक्ट्रिक लोको शेड, डीजल लोको शेड व बॉक्स एंड डिपो स्थित है।
जल्द फ्लाईओवर से गुजरेंगी ट्रेनें
यार्ड से होकर गुजरनी वाली ट्रेनों के यातायात को कम करने रेलवे द्वारा यहां ग्रेड सेपरेटर (फ्लाईओवर) का निर्माण भी करवाया जा रहा है। रेलवे ने सर्वे पूरा कर दिया है, जल्द ही कार्य शुरू होगा। यह सेपरेटर यार्ड के ऊपर से होकर गुजरेगा।
यह रहेगा स्वरूप
जानकारी के अनुसार फ्लाई ओवर का निर्माण एनकेजे सी केबिन के पास से शुरू किया जाएगा जो यार्ड के ऊपर से होता हुआ मुड़वारा स्टेशन को क्रॉस करेगा और मझगवां फाटक के पहले समाप्त किया जाएगा। हालाकि अफसर अभी इसकी दूरी पर सर्वे कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि २१ किमी लंबे इस ब्रिज को बनाने में 582 करोड़ खर्च होंगे। ब्रिज से गुजरनी वाली एक लाइन 14 किमी लंबी होगी और दूसरी तकरीबन 7 किमी की। यह ब्रिज कटनी यार्ड के ऊपर से होते हुए बीना लाइन को जोड़ेगा। इसका फायदा पैसेंजर और गुड्स, दोनों ट्रेनों को मिलेगी।
यह होगी खासियत
– इस ब्रिज में दो लाइन गुजरेगी। अप लाइन तकरीबन 14 किमी तथा दूसरी लाइन तकरीबन 7 किमी की होगी।
– डिजिटल सिंग्नल होने के साथ इसके रखरखाव सभी ऑनलाइन होगा
– ब्रिज के खंभों पर ट्रेन का पडऩे वाला प्रेशर हर ट्रेन के गुजरने पर नापा जाएगा
– ब्रिज को कटनी न्यू जंक्शन के ऊपर से निकालते ही बायपास बनाया जाएगा
– ब्रिज के नीचे स्टेशन और दूसरी लाइन होगी, इसमें इसका कोई प्रभाव नहीं होगा
Today (13:49)  मड़वास में 3 घंटे तक पटरियों पर डटे रहे लोग, रुकी रही रेल (www.bhopalsamachar.com)
back to top
Commentary/Human InterestWCR/West Central  -  

News Entry# 327616     
   Past Edits
Jan 22 2018 (13:49)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 22 2018 (13:49)
Station Tag: Katni Junction/KTE added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 22 2018 (13:49)
Station Tag: Singrauli/SGRL added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 22 2018 (13:49)
Station Tag: Marwasgram/MWJ added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 22 2018 (13:49)
Train Tag: Singrauli - Hazrat Nizamuddin SF Express/22167 added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 22 2018 (13:49)
Train Tag: Hazrat Nizamuddin - Singrauli SF Express/22168 added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643
 
 
जिले के धौहनी विधान सभा से गुजर रही रेलों के स्टापेज की मांग को लेकर रेल रोको आंदोलन (RAIL ROKO ANDOLAN) समिति ने रविवार की दोपहर करीब 11 बजे से MADWAS RAILWAY STATION ग्राम रेलवे स्टेशन मे लगभग बीस से पच्चीस हजार की भीड़ पहुंचकर प्रदर्शन करना शुरू कर दिया इस दौरान सिंगरौली से दिल्ली निजामुद्दीन जा रही सुपरफास्ट रेल को स्टेशन के पूर्व रोक कर अपना गुस्सा जाहिर किया। लोग मड़वास में ट्रेन के स्टॉपेज की मांग कर रहे हैं। मौजूद रेल अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों को समझाने की कोशिश की परंतु वो अपनी मांगों पर अड़े रहे।
अंतत: रेलवे मण्डल ने दो माह मे मागों की पूर्ती करने का लिखित आश्वासन दिया तब कहीं जाकर लोग पटरियों से हटे और
...
more...
रेल यातायात सामान्य हो सका। बता दे कि अक्टूबर 2017 मे भी रेल महापंचायत आयोजित कर सीधी जिले के 5 रेलवे स्टेशनों मे किसी भी स्टेशन पर रेलों के स्टॉपेज की मांग की गई थी। तब भी दो माह मे मांगो को पूरा करने का आश्वासन मिला था। आन्दोलन का नेतृत्व कर रहे जिला पंचायत अध्यक्ष अभ्युदय सिंह ने कहा कि जिलेवासियों को जिले की सीमा से गुजर रही रेलों की सुविधाएं दिलाने के लिये यह आन्दोलन किया जा रहा है।
ट्रेन रोको आंदोलन को लेकर ग्रामीणों का जनसैलाब टूट पड़ा 20 हजार से अधिक प्रदर्शनकारी ट्रेन की पटरियों पर डटे हुए थे। 3 घंटे मड़वास स्टेशन पर निजामुददीन एक्सप्रेस रूकी रही जबलपुर डीसीएम मनोज कुमार सहित विभाग के जिम्मेदार अधिकारी मौके पर डटे रहे है। फिर भी प्रदर्शनकारी मांगों को मनवाने की मांग करते रहे है। बाद मे पूरी भीड़ पटरी पर उतर कर बैठ गई। सुरक्षा व्यवस्था को बनान के लिए रेल प्रवंधन व जिला प्रशसन ने 183 जीआरपी के जवान 134 आरपीएफ के जवान 500 आरक्षक जिले के सभी थानों के थाना प्रभारी उप पुलिस अधीक्षक सहित डिप्टी कलेक्टर आन्दोलन समाप्त होने तक डटे रहे है।
यह है मांगे
सिंगरौली.भोपाल व सिंगरौली.दिल्ली को जाने वाली ट्रेन का स्टॉपेज मड़वास में किया जाए।
स्टेशन पर पार्सल बुकिंग की सुविधा प्रारंभ की जाए।
स्टेशन पर कैंटीन प्रारंभ की जाए तथा वाटर कूलर चालू किया जाए।
दोनों तरफ सुविधाजनक प्लेट फार्म बनाने
अण्डरब्रिज मे पानी के भराव से बचाने
जबलपुर सिंगरौली इंटरसिंटी को शंकरपुर भदौरा व जोंवा स्टेशन मे रूकने की मांग रखी गई है।
समर्थन मे पहुंचे राजनैतिक दल के नेता
आन्दोलन का समर्थन भाजपा को छोड़कर सभी दल के नेता कर रहे थे। कांग्रेस से राजेन्द्र सिंह भदौरिया, श्यामवती सिंह, विनय सिंह परिहार सैकड़ों कार्यकताओं के साथ पहुंचे। वही रोको टोको ठोकों मोर्चा के संयोजक उमेश तिवारी, समाजवादी पाटी के जिला अध्यक्ष धर्मेन्द्र सिंह बाघेल, बसपा के जिला अध्यक्ष श्रीनिवास साकेत, जिला पंचायत के सदस्यों मे रघुराज सिंह शेषमणि पनिका शामिल रहे है।
LABELS: # JABALPUR # MADHYAPRADESH # POLITICAL # SIDHI
Jan 17 2018 (16:48)  2020 तक इलेक्ट्रिक इंजन से दौड़ेंगी 110 ट्रेन, सफर में बचेंगे 27 घंटे' (naidunia.jagran.com)
back to top
IR AffairsWCR/West Central  -  

News Entry# 327210   Blog Entry# 3013773     
   Past Edits
Jan 17 2018 (16:48)
Station Tag: Satna Junction/STA added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 17 2018 (16:48)
Station Tag: Rewa (Terminal)/REWA added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 17 2018 (16:48)
Station Tag: Itarsi Junction/ET added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 17 2018 (16:48)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 17 2018 (16:48)
Station Tag: Manikpur Junction/MKP added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 17 2018 (16:48)
Station Tag: Katni Junction/KTE added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 17 2018 (16:48)
Station Tag: Singrauli/SGRL added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643
 
 
जबलपुर। पैसेंजर ट्रेनों को डीजल की बजाय विद्युत इंजन से दौड़ाने रेलवे द्वारा तेजी से विद्युतीकरण का काम किया जा रहा है। इसका सीधा असर ट्रेन के सफर में लगने वाले समय पर होगा। विद्युत इंजन लगने के बाद ट्रेनों की स्पीड तो बढ़ेगी ही, इंजन बदलने का समय भी बचेगा। जबलपुर से 24 घंटे में तकरीबन 110 ट्रेनें गुजरती हैं। इन सभी ट्रेनों के इटारसी, कटनी और मानिकपुर में इंजन बदले जाते हैं।एक ट्रेन का इंजन बदलने में रेलवे को औसतन 15 मिनट का समय लगता है। विद्युत इंजन लगने के बाद इन ट्रेनों में इंजन बदलने का काम पूरी तरह से बंद हो जाएगा। 2020 तक जबलपुर मंडल के 1135 किमी रूट का विद्युतीकरण हो जाने पर ट्रेनों के सफर में तकरीबन 27 घंटे कम हो जाएंगे।603 किमी लंबे रेल रूट का विद्युतीकरण शुरूजबलपुर रेल मंडल में तकरीबन 1135 किमी का रूट है। अभी इटारसी-जबलपुर और कटनी-बीना रेल रूट...
more...
का ही विद्युतीकरण हो पाया है। कटनी-सिंगरौली, रीवा-सतना और जबलपुर-मनिकपुर रेल रूट के विद्युतीकरण का काम बाकी है। रेलवे के विद्युत विभाग ने इसका काम तेजी से शुरू कर दिया है और 2020 तक जबलपुर मंडल के पूरे रेल रूट का विद्युतीकरण कर विद्युत इंजन दौड़ना शुरू हो जाएंगे। हालांकि जबलपुर से कटनी रेल रूट का मार्च 2018 तक और कटनी से सतना रेल रूट का सितम्बर 2018 तक विद्युतीकरण कर लिया जाएगा।जबलपुर से मुम्बई जाने वाली ट्रेनें- जबलपुर से रवाना होने वाली ट्रेन में डीजल इंजन लगाकर इटारसी स्टेशन तक ले जाया जाता है।- यहां पर 20 से 25 मिनट तक ट्रेन को रोककर विद्युत इंजन लगाया जाता है।- इटारसी से मुम्बई के बीच, जिस रेल रूट का विद्युतीकरण नहीं है, वहां डीजल इंजन लगाते हैं।- जबलपुर से मुम्बई तक के सफर में 60 से 80 मिनट इंजन बदलने में चले जाते हैं।- विद्युतीकरण के बाद ट्रेन में इंजन बदलने की जरूरत नहीं होगी।- मुम्बई का समय 16 घंटे की बजाए 14 घंटे 40 मिनट तक हो जाएगा।जबलपुर से दिल्ली जाने वाली ट्रेनें- जबलपुर से डीजल इंजन से ट्रेन को कटनी तक ले जाया जाता है।- कटनी में डीजल की जगह विद्युत इंजन लगाकर बीना तक ले जाते हैं।- विद्युतीकरण के बाद जबलपुर से बिना इंजन बदले दिल्ली तक ट्रेन जाएगी।- इसमें लगने वाला समय 60 से 70 मिनट का बचेगा। यानी 14 घंटे की बजाए 12 घंटे 50 मिनट में सफर पूरा हो जाएगा।इन रेलवे रूट का होना है विद्युतीकरण- कटनी-सिंगरौली- 261 किमी- रीवा-सतना- 57 किमी- जबलपुर-मनिकपुर- 285 किमीइसे रेल रूट पर हो चुका विद्युतीकरणइटारसी- जबलपुर- 245 किमीकटनी-बीनाः 287 किमीपैसेंजर को फायदा-ट्रेन के सफर का समय कम होगा।-ट्रेन की रफ्तार 10 से 20 किमी तक बढ़ेगी।-इंजन फेल होने की घटनाएं 60 फीसदी कम होंगी।-डीजल से होने वाला प्रदूषण नहीं होगा।इन तीन जंक्शन में बदलते हैं 250 से ज्यादा इंजनइटारसी जंक्शन1- यहां से 24 घंटे में तकरीबन 130 ट्रेनों के इंजन बदलते हैं।2- यहां से ट्रेन भोपाल, मुम्बई, नागपुर और जबलपुर की ओर जाती हैं।3. महाराष्ट्र, दिल्ली, जम्म ूकश्मीर, पंजाब समेत 24 राज्यों को जाती हैं।कटनी जंक्शन1. यहां पर 24 घंटे में तकरीबन 125 ट्रेनों के इंजन बदलते हैं2. सिंगरौली, मानिकपुर, शहडोल और जबलपुर की ओर ट्रेन आती हैं3. जबलपुर मंडल का सबसे व्यस्त जंक्शन माना गया हैमनिकपुर जंक्शन1. यहां से 24 घंटे में तकरीबन 60 से 70 ट्रेन गुजरती हैं2. इनमें 40 सये 45 ट्रेन में इंजन बदले जाते हैें3. यहां से ट्रेन ग्वालियर, इलाहाबाद और पटना की ओर जाती हैं

Jaldi ho Jaye bas
Jan 09 2018 (11:56)  ड्रोन की निगरानी में रहेंगी रेलवे की ​परियेजनाएं (www.punjabkesari.in)
back to top
IR AffairsWCR/West Central  -  

News Entry# 326545   Blog Entry# 2983795     
   Past Edits
Jan 09 2018 (11:56)
Station Tag: Singrauli/SGRL added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 09 2018 (11:56)
Station Tag: Katni Junction/KTE added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 09 2018 (11:56)
Station Tag: Bina Junction/BINA added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 09 2018 (11:56)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 09 2018 (11:56)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643
 
 
भारतीय रेलवे रेलमार्गों के रखरखाव तथा आधारभूत ढांचे के विकास के लिए चल रही विभिन्न परियोजनाओं की निगरानी के लिए चालक रहित विमान कैमरों (ड्रोन) की तैनाती करेगा। ड्रोन में लगे कैमरे की प्रणाली नेत्र प्रायोगिक रूप से पश्चिम मध्य रेलवे में शुरू की गई है जिसका मुख्यालय जबलपुर (मध्य प्रदेश) में है। इस मंडल के जबलपुर, भोपाल और कोटा डिविजन में ड्रोन कैमरों का पिछले सप्ताह परीक्षण किया गया।
पश्चिम मध्य रेलवे मंडल में रेल मार्गों पर चल रहे निर्माण कार्यों और पुलों के रखरखाव की निगरानी के लिए भी ड्रोन कैमरों के प्रयोग की योजना है। भारतीय रेलवे ने अपने सभी मंडलों को निर्देश दिया है कि वे ड्रोन कैमरों का उपयोग शुरू करें। ड्रोन कैमरों का प्रयोग रेलवे यार्डों
...
more...
पर निगरानी रखने के अलावा मेला और पर्व संबंधी एकत्रीकरण के दौरान भीड़ को नियंत्रित करने के लिए भी किया जा सकेगा।
रेल मंत्रालय ने सोमवार को एक विज्ञप्ति जारी कर कहा कि ड्रोन कैमरों के माध्यम से राहत और बचाव अभियानों की निगरानी करने में मदद मिलेगी| साथ ही महत्वपूर्ण कार्यों, पटरियों की स्थिति और निरीक्षण कार्यों पर नजर रखी जाएगी। इन कैमरों के जरिए नॉन इंटरलॉकिंग कार्यों के मूल्यांकन की तैयारियों, मेलों के दौरान भीड़ के प्रबंधन, स्टेशनों के हवाई सर्वेक्षण और किसी गड़बड़ी को तुरंत चिन्हित करने में मदद मिलेगी। रेलवे के ढांचे, सुरक्षा और पटरियों की मरम्मत से जुड़ी किसी भी सूचना को रियल टाइम यानि वास्तविक समय प्राप्त करने में यह कैमरे बेहद महत्वपूर्ण साबित होंगे।
पश्चिमी मध्य रेलवे ने पिछले सप्ताह इन कैमरों का अपने सभी तीन खंडों के निम्न स्थानों पर परीक्षण किया। जबलपुर खंड- भिटोनी के नजदीक नर्मदा पुल। भोपाल खंड- (1)- निशातपुरा पुल (2) एचबीजे और मिसरोद के मध्य तीसरी लाइन कार्य और कोटा खंड- (1) कोटा के नजदीक चंबल पुल (2)- कोटा के पास डकनिया तलाव यार्ड।
पश्चिमी मध्य रेलवे की भविष्य में बीना-कटनी तीसरी लाइन, कटनी-सिंगरौली लाइन के दोहरीकरण परियोजना की निगरानी के लिए ड्रोन को तैनात करने की योजना है। महत्वपूर्ण पुलों के निरीक्षण, भोपाल और जबलपुर घाट प्रखंडों में मॉनसून की तैयारियों से जुड़े कार्यों में भी ड्रोन की मदद ली जाएगी। इससे पहले जबलपुर यार्ड की विद्युतिकरण परियोजना की निगरानी के लिए ड्रोन कैमरों का प्रयोग किया गया था।

2441 views
Jan 09 2018 (12:40)
arydolly001~   1111 blog posts
Re# 2983795-1            Tags   Past Edits
_/\_ WCR
Jan 05 2018 (13:15)  रेल संरक्षा को बढाने पश्चिम मध्य रेल ने प्रारम्भ किया ड्रोन का प्रयोग (www.palpalindia.com)
back to top
IR AffairsWCR/West Central  -  

News Entry# 326210     
   Past Edits
Jan 05 2018 (13:15)
Station Tag: Bina Junction/BINA added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 05 2018 (13:15)
Station Tag: Singrauli/SGRL added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 05 2018 (13:15)
Station Tag: Katni Junction/KTE added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 05 2018 (13:15)
Station Tag: Kota Junction/KOTA added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 05 2018 (13:15)
Station Tag: Bhopal Junction/BPL added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643

Jan 05 2018 (13:15)
Station Tag: Jabalpur Junction/JBP added by धनबाद मंडल की सोच कोयले से भी काली*^~/100643
 
 
पश्चिम मध्य रेल प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता रेल संरक्षा रही है. रेल मंत्रालय के समग्र पहल के तहत ट्रेन के संचालन में सुरक्षा बढ़ाने के लिए ड्रोन कैमरों (UAV/NETRA) की खरीद करने वाला पश्चिम मध्य रेल भारतीय रेल पर पहला क्षेत्रीय रेलवे बन गया है. यह कदम महाप्रबंधक पश्चिम मध्य रेलवे के मार्गदर्शन में संरक्षा पर बढ़े हुए ध्यान को देखते हुए लिया गया है. पश्चिम मध्य रेल पर राहत एवं बचाव अभियान की निगरानी करने, महत्वपूर्ण कार्यों की प्रगति, ट्रैक और निरीक्षण संबंधी गतिविधियों आदि कार्यों के लिए ड्रोन कैमरे की तैनाती की जाएगी. नॉन- इन्टरलॉकिंग के कार्य की तैयारी, मेलों और मेला के दौरान भीड़ प्रबंधन, स्क्रैप की पहचान और स्टेशन यार्ड के हवाई सर्वेक्षण के लिए भी ड्रोन का इस्तेमाल किया जाएगा. ड्रोन कैमरा रेल की सुरक्षा और रख-रखाव और रेलवे के अन्य बुनियादी ढाँचे से संबंधित वास्तविक जानकारी प्राप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है. पश्चिम...
more...
मध्य रेलवे के मुख्य सुरक्षा अधिकारी द्वारा निम्नलिखित स्थानों पर ड्रोन कैमरों का परीक्षण आयोजित किया गया:-
1. जबलपुर मंडल-भिटौनी के निकट नर्मदा ब्रिज
2. भोपाल मंडल - (1) निशातपुरा यार्ड (2) हबीबगंज - मिसरोद के बीच तीसरी लाईन पर
3. कोटा मंडल - (1) कोटा के पास चंबल ब्रिज पर (2) कोटा के निकट डकानिया तलाब यार्ड पर.
पश्चिम मध्य रेल द्वारा बीना-कटनी के बीच थर्ड लाईन प्रोजेक्ट, कटनी-सिंगरौली का दोहरीकरण कार्य, महत्वपूर्ण पुलों का निरीक्षण और जबलपुर एवं भोपाल मंडल पर मानसून के दौरान घाट सेक्शनों पर मॉनिटरिंग हेतु ड्रोन कैमरे का उपयोग किया जायेगा. इसके अतिरिक्त आज दिनांक 04 जनवरी 218 को जबलपुर में ड्रोन कैमरे का प्रदर्शन किया गया जिसके अन्तर्गत जबलपुर यार्ड में चल रहे रेलवे विद्युतीकरण कार्य की प्रगति की मॉनिटरिंग की गयी. इस अवसर पर उपस्थित मुख्य संरक्षा अधिकारी के द्वारा उपस्थित मीडिया को बताया गया कि एक ड्रोन जबलपुर मंडल के लिए खरीदा जा चुका है, जल्द ही भोपाल एवं कोटा मंडल के लिए भी एक-एक ड्रोन खरीदे जायेंगे. ये उच्च क्षमता के ड्रोन है, जो अपनी सतह से 200 मीटर की उचाई तक एवं 4 किलोमीटर की परिधि में उड़ सकते है.
Page#    Showing 1 to 20 of 117 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.