Full Site Search  
Sat Jul 29, 2017 00:20:09 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;

MBI/Madhubani (3 PFs)
مدھوبنی     मधुबनी

Track: Single Diesel-Line

Type of Station: Regular
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 36
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
SH 52, Madhubani
State: Bihar
Elevation: 61 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Samastipur
No Recent News for MBI/Madhubani
Nearby Stations in the News

Rating: 3.4/5 (40 votes)
cleanliness - average (5)
porters/escalators - average (5)
food - good (5)
transportation - good (5)
lodging - good (5)
railfanning - good (5)
sightseeing - good (5)
safety - good (5)

Nearby Stations

MGPI/Mangarpatti Halt 5 km     SPRN/Salempur Halt 6 km     PDW/Pandaul 9 km     RJA/Rajnagar 10 km     UGNA/Ugna Halt 13 km     LLPR/Lalit Lakshmipur 14 km     SKI/Sakri Junction 17 km     KJI/Khajauli 19 km     SSNS/Shaheed Suraj Narayan Singh Halt 21 km     TRS/Tarsarai 24 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 26 News Items  next>>
Jun 21 2017 (16:34)  रांची से मिथिला की ओर जानेवाली ट्रेनें बंद हैं, जनप्रतिनिधि क्यों हैं मौन? (www.prabhatkhabar.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 306064     
   Tags   Past Edits
This is a new feature showing past edits to this News Post.

Posted by: RV😎~  47 news posts
एक सप्ताह होने को आये. धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन पर ट्रेनों का परिचालन बंद हुए. इस रूट पर ट्रेनों का परिचालन बंद होने के कारण लोगों को हो रही समस्या का अंदाजा कोई और नहीं लगा सकता. कोई दर्द का एहसास तब तक नहीं कर सकता, जब तक वह खुद पीड़ित न हो. इसी तरह जिसने जयनगर, मधुबनी, दरभंगा, समस्तीपुर या बरौनी से रांची की यात्रा न की हो, वह इन जगहों की ओर जानेवाले यात्रियों के दर्द का एहसास नहीं कर सकता.
पहली बार एक युवा पत्रकार ने इस दर्द का एहसास किया है. विजय देव झा, जो दरभंगा के रहनेवाले हैं, ने ट्रेन बंद होने के कारण मिथिलावासियों को होनेवाली परेशानी को बयां किया है. उन्होंने जनप्रतिनिधियों की चुप्पी पर गुस्से
...
more...
का भी इजहार किया है.
विजय देव ने मिथिलांचल की बसों और ट्रेनों में यात्रा करनेवालों का दर्द बयां किया है. उन्होंने फेसबुक पर जो पोस्ट लिखा है, वह बताता है कि समस्या कितनी विकट है. झारखंड और उत्तर प्रदेश के सांसद ने अपने राज्य की ट्रेनों को बदले रूट से चलाने के लिए रेल मंत्रालय को मना लिया, लेकिन मिथिलांचल के सांसद, विधायक मौन हैं. मजबूर हैं. आप भी पढ़िये यह पोस्ट और उस दर्द को महसूस कीजिये, जो रांची में रह कर रोजी-रोटी चलानेवाले मिथिलांचल के लोग और उनके परिजन झेल रहे हैं...
92 वर्ष की एक बूढ़ी महिला को उसका पुत्र और पुत्रबधू रांची की बस में ऐसे ठूंस रहे थे, मानो वह वृद्धा कोई भेड़ या बकरी या कोई बोरी हो. वृद्धा के देह में मांस झुर्रियों में खो गया था. वह कलप रही थी. वह जानती थी कि अगले 12 घंटे की यात्रा उसके लिए खौफनाक होनेवाली थी. बेटा बार-बार समझा रहा था कि सरकार ने रांची जानेवाली सभी ट्रेनें बंद कर दी हैं. दरभंगा से रांची महज चंद बसें ही चलती हैं. उसमें भी टिकट मिलना मुश्किल है. मैं भी टिकट लेने गया था. नहीं ले पाया. लौटते समय कलक्टर कोठी से महज आधे किलोमीटर दूर सड़क में बने गड्ढे में गिर कर चोटिल हो बैठा.
मुझे नहीं पता कि उस वृद्धा ने लोकसभा या विधानसभा चुनाव में किस प्रत्याशी या पार्टी को वोट किया था. लेकिन, यह अनुभव हो रहा है कि मिथिलावासियों ने राजनीतिक दिव्यांगों को चुनना अपनी नियति बना ली है. मिथिला को झारखंड से जोड़नेवाली दो ट्रेनें जयनगर-रांची एक्सप्रेस और दरभंगा-सिकंदराबाद एक्सप्रेस उन ट्रेनों में शामिल हैं, जिसे रेल मंत्रालय ने धनबाद-चंद्रपुरा रेल सेक्शन में भूमिगत आग के आसन्न खतरे की वजह से अनिश्चितकाल के लिए रद्द कर दिया है.
जिस जनप्रतिनिधि की जैसी पहुंच और आत्मबल है, उस हिसाब से उसने अपने इलाके की ट्रेन को परिवर्तित रूट से चलवा लिया. जैसे निशिकांत दुबे और अनंत ओझा ने दम-खम दिखाया. इनके इलाके की ट्रेनें रूट बदल कर चल रही हैं. लेकिन, दरभंगा, मधुबनी और झंझारपुर के बेचारे सांसदों और विधायकों को पता भी नहीं है कि उनके क्षेत्र की ट्रेनें अनिश्चितकाल के लिए रद्द कर दी गयी हैं. अगर पता भी है, तो उनके मुंह से आवाज नहीं निकल रही. विधायकी और सांसदी की इनकी समझ एमपी एमएलए फंड से ऊपर गयी ही नहीं.
दरभंगा के नाॅन-रेजिडेंट सांसद उर्फ जामाता उर्फ दशम ग्रह उर्फ क्रिकेट सम्राट श्रीमान कीर्ति आजाद वित्त मंत्री अरुण जेटली से दिल्ली क्रिकेट क्लब की लड़ाई लड़ रहे हैं. कीर्ति चूंकि दरभंगा में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट बनवा चुके हैं, वहां से रोज 100 फ्लाइट देश-विदेश के लिए ‘उड़ान’ भरती हैं. ऐसे में वे रेल मंत्रालय से इन दोनों ट्रेनों को परिवर्तित रूट पर चलाने का मांग कर अपनी इज्जत का बट्टा क्यों लगायें. वह क्रिकेट के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं, क्योंकि मिथिला में विश्व स्तर के करीब 100 क्रिकेट स्टेडियम हैं और दरभंगा का हर युवा महेंद्रसिंह झा है. विराट आजाद और युवराज चौधरी है.
वैसे अजादजी की पत्नी पूनम आजाद से पूछा जाना चाहिए कि हर चुनाव में वह जनता के सामने खुद के दरभंगा की बेटी होने का हवाला देकर अपने पति के वोट बटोरने के लिए आंचल फैलाते वक्त कौन -कौन सा फरेब करती थीं.
मेरी अनुपस्थिति में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दरभंगा आये थे. कह कर गये कि वह बिहार को गोद लेंगे. योगीजी पहले आपकी पार्टी के सांसद विधायक क्षेत्र को गोद ले लें. बहरहाल, किसी ने मुझे दिल को छू लेनेवाला करुण वीडियो भेजा था, जिसमें दरभंगा के ऊर्जावान विधायक संजय सरावगीजी योगी के आगमन से एक दिन पहले तूफान में गिरे पंडाल की मरम्मत खुद ही कर रहे हैं. मैं इस विषय पर कुछ नहीं लिखूंगा कि दरभंगा रूपी नर्क का बेड़ा गर्क करने में जनप्रतिनिधियों का क्या योगदान रहा है. सरावगीजी की खासियत है कि वह आपके घर में छठी, मुंडन, जनेऊ, विवाह में भी हाजिर हो जाते हैं. लेकिन, सरावगीजी ने भी ट्रेन का मुद्दा उठाने की जहमत नहीं उठायी.
मेरे मां-बाबूजी को भी मेरे साथ रांची आना था, लेकिन मैं अपने माता-पिता को बस में कोंच कर उनके प्राण हरने का साहस नहीं कर सका. मुझे भी रोजी-रोटी के लिए रांची जाना है. मैं खुद को मानसिक और शारीरिक रूप से कष्टदायी यात्रा के लिए तैयार कर रहा हूं.
तकलीफ सहना, उपेक्षित रहना हम मैथिलों के जीन में है. न कोई आवाज, न कोई आंदोलन, न ही कोई घेराव. सिवाय रांची के एक संगठन को छोड़ कर. यह संभवतः दशकों की राजनीतिक उपेक्षा का परिणाम है. मैथिली में एक कहावत है, ‘हेहरा रे हेहरा, केना रहै छैं, लात जूता खाई छी, भने रहैत छी’. (अरे बेशर्म, क्या हाल है. लात जूता खाता हूं, मजे से रहता हूं). Hello shameless, how do you do, getting kick on my ass I enjoy.
मैथिल इस मुहावरे के उपयुक्त पात्र हैं. जो अगर मिथिलावासियों का नसीब फूटा है, तो इसके जिम्मेदार हम ही हैं. किसी को भी पवित्र पाग पहना कर मिथिला का उद्धारक घोषित कर दिया. और अगर अटल बिहारी वाजपेयी जैसे किसी ने मैथिलों का भला किया, तो मैथिलों ने बदले में वो किया कि नेताओं को समझ में आ गया कि ये लोग लतियाये जाने पर ही खुश रहत�
Apr 30 2017 (08:07)  रेलवे स्टेशन पर मिलेगा गार्डेन का आनंद (m.livehindustan.com)
back to top
Commentary/Human InterestECR/East Central  -  

News Entry# 301175     
   Tags   Past Edits
Apr 30 2017 (08:07)
Station Tag: Madhubani/MBI added by Proud CMSian~/1427404

Posted by: Tushar Shandilya~  708 news posts
रेल यात्रियों के लिए अच्छी खबर। अब मधुबनी रेलवे स्टेशन पर यात्री गार्डेन का आनंद ले सकेंगे। इसको लेकर रेलवे परिसर में करीब आघे दर्जन गार्डेन बनाये गये हैं। सबसे अधिक प्लेटफार्म नंबर दो पर गार्डेन बनाया गया है।
इसमें रंग-बिरंग के फूल व क्रोटन के पौधे लगाये गये हैं। गार्डेन में लगाये गये पौधों की सुरक्षा के लिए उसे ग्रिल से घेरा गया है। अब मधुबनी रेलवे स्टेशन पर रेल यात्री खुशनुमा माहौल में ट्रेनों का इंतजार कर सकेंगे। गर्मी बढ़ने के साथ ही उसमें नियमित रूप से पानी दिया जा रहा है ताकि गार्डेन के एक भी पौधे मुरझाये नहीं। रेलवे के इस पहल की रेल यात्री सराहना कर रहे हैं। खासकर प्लेटफार्म नंबर दो पर ट्रेन पकड़ने या फिर
...
more...
ट्रेन से कोई यात्री उतरते हैं तो रंग-बिरंगे फूल व क्रोटन को देखकर खुश हो जाते हैं। बता दे कि मधुबनी रेलवे स्टेशन पर प्रतिदिन चार हजार से अधिक यात्री टिकट कटाकर विभिन्न ट्रेनों में सफर करते हैं। बताया जाता है कि उससे भी अधिक यात्री प्रतिदिन यहां दूसरे स्टेशनों से आते हैं। स्टेशन अधीक्षक नागेन्द्र झा ने बताया कि रेलवे साफ-सफाई के साथ पर्यावरण पर भी ध्यान दे रही है। सीनियर सेक्सन इंजीनियर कार्य मधुबनी द्वारा पूरे परिसर को हराभरा करने की योजना है।
मिथिलाक्षर में लिखा है नाम
मधुबनी। रेलवे सटेशन पर मधुबनी हिन्दी, अंग्रेजी व उर्दू के साथ अब मिथिलाक्षर में लिखा गया है। इससे बाहर से आने वाले यात्रियों को सुविधा हो रही है। मिथिला पेंटिंग भी स्टेशन पर लगाये गये हैं। जो रेल यात्रियों को आकर्षित कर रहा है।
Feb 04 2017 (11:39)  समस्तीपुर-रक्सौल रेलखंड का होगा विद्युतीकरण (epaper.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyECR/East Central  -  

News Entry# 293056   Blog Entry# 2151377     
   Tags   Past Edits
Feb 04 2017 (11:39)
Station Tag: Samastipur Junction/SPJ added by I Ve Got To Break Free 👊🤘~/1056799

Feb 04 2017 (11:39)
Station Tag: Raxaul Junction/RXL added by I Ve Got To Break Free 👊🤘~/1056799

Feb 04 2017 (11:39)
Station Tag: Jaynagar/JYG added by I Ve Got To Break Free 👊🤘~/1056799

Feb 04 2017 (11:39)
Station Tag: Madhubani/MBI added by I Ve Got To Break Free 👊🤘~/1056799

Feb 04 2017 (11:39)
Station Tag: Sitamarhi Junction/SMI added by I Ve Got To Break Free 👊🤘~/1056799

Feb 04 2017 (11:39)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by I Ve Got To Break Free 👊🤘~/1056799

Posted by: RV😎~  47 news posts
जसं, दरभंगा : केंद्रीय बजट में दरभंगा सहित मिथिलांचल के रेल यात्रियों का भरपूर ख्याल रखा गया है। यहां के लोगों का वर्षों पुराना सपना भी साकार होने वाला है। बजट में दरभंगा समस्तीपुर-रक्सौल वाया दरभंगा, सीतामढ़ी व दरभंगा-जयनगर वाया सकरी रेलखंड को विद्युतीकरण करने की घोषणा की गई है। पूर्व मध्य रेल हाजीपुर के जीएम डीके गायने द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहआ गया है कि इस बजट में दोनों रेलखंड के विद्युतिकरण करने की घोषणा ही नहीं की गई है बल्कि राशि भी आवंटित कर दी गई है। समस्तीपुर-रक्सौल वाया दरभंगा, सीतामढ़ी के 231 किमी रेलखंड के विद्युतीकरण के लिए 305.05 करोड़ रुपए आवंटित करने की घोषणा की गई है। वहीं दरभंगा-जयनगर वाया सकरी के 69 किमी रेलखंड के लिए 81.35 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। जीएम ने बताया कि केन्द्रीय बजट में दरभंगा, मिथिलांचल सहित बिहार राज्य के रेलवे के विकास को लेकर इस वर्ष विशेष ख्याल...
more...
रखा गया है। वर्ष 2009-10 से लेकर 2013-14 के बीच रेलवे ने बजट में बिहार के लिए मात्र 1132.9 करोड़ रुपए ही आवंटित किए थे। वहीं वर्ष 2014-15 में यहां के रेलवे के विकास के लिए 2227.7 करोड़ रुपए आवंटित किए गए। जबकि, इस वर्ष बिहार के लिए 3696 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि निर्मली से सरायगढ़ बीस किमी तक नई रेल लाइन बनाने की योजना को बजट में शामिल की गई है। साथ ही सकरी-बिरौल रेलखंड को आठ किमी विस्तार कर हरिनगर तक इस वर्ष परिचालन शुरू करने की बात उन्होंने कही। इसके अलावा 51 किमी वाली सकरी-निर्मली रेलखंड के निर्माणाधीन आमान पर्वितन के कार्य को लेकर शेष राशि आवंटित कर दी गई है। इससे यह कार्य ससमय से पूरा कर लिया जाएगा। वहीं दरभंगा जंक्शन पर एस्केलेटर व लिफ्ट लगाने की घोषणा की गई है। जो जल्द पूरा कर लिया जाएगा। कैश लेस के दिशा में पर बजट में विशेष ध्यान देने की बात कही गई है। दरभंगा के तमाम टिकट काउंटर पर जल्द पीओएस मशीन लगाने की बात कही गई।जासं, दरभंगा : केंद्रीय बजट में दरभंगा सहित मिथिलांचल के रेल यात्रियों का भरपूर ख्याल रखा गया है। यहां के लोगों का वर्षों पुराना सपना भी साकार होने वाला है। बजट में दरभंगा समस्तीपुर-रक्सौल वाया दरभंगा, सीतामढ़ी व दरभंगा-जयनगर वाया सकरी रेलखंड को विद्युतीकरण करने की घोषणा की गई है। पूर्व मध्य रेल हाजीपुर के जीएम डीके गायने द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहआ गया है कि इस बजट में दोनों रेलखंड के विद्युतिकरण करने की घोषणा ही नहीं की गई है बल्कि राशि भी आवंटित कर दी गई है। समस्तीपुर-रक्सौल वाया दरभंगा, सीतामढ़ी के 231 किमी रेलखंड के विद्युतीकरण के लिए 305.05 करोड़ रुपए आवंटित करने की घोषणा की गई है। वहीं दरभंगा-जयनगर वाया सकरी के 69 किमी रेलखंड के लिए 81.35 करोड़ रुपए आवंटित किए गए हैं। जीएम ने बताया कि केन्द्रीय बजट में दरभंगा, मिथिलांचल सहित बिहार राज्य के रेलवे के विकास को लेकर इस वर्ष विशेष ख्याल रखा गया है। वर्ष 2009-10 से लेकर 2013-14 के बीच रेलवे ने बजट में बिहार के लिए मात्र 1132.9 करोड़ रुपए ही आवंटित किए थे। वहीं वर्ष 2014-15 में यहां के रेलवे के विकास के लिए 2227.7 करोड़ रुपए आवंटित किए गए। जबकि, इस वर्ष बिहार के लिए 3696 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। उन्होंने बताया कि निर्मली से सरायगढ़ बीस किमी तक नई रेल लाइन बनाने की योजना को बजट में शामिल की गई है। साथ ही सकरी-बिरौल रेलखंड को आठ किमी विस्तार कर हरिनगर तक इस वर्ष परिचालन शुरू करने की बात उन्होंने कही। इसके अलावा 51 किमी वाली सकरी-निर्मली रेलखंड के निर्माणाधीन आमान पर्वितन के कार्य को लेकर शेष राशि आवंटित कर दी गई है। इससे यह कार्य ससमय से पूरा कर लिया जाएगा। वहीं दरभंगा जंक्शन पर एस्केलेटर व लिफ्ट लगाने की घोषणा की गई है। जो जल्द पूरा कर लिया जाएगा। कैश लेस के दिशा में पर बजट में विशेष ध्यान देने की बात कही गई है। दरभंगा के तमाम टिकट काउंटर पर जल्द पीओएस मशीन लगाने की बात कही गई।

2 posts - Sat Feb 04, 2017 - are hidden. Click to open.

6169 views
Feb 05 2017 (07:33)
Manjay Kumar Thakur   7 blog posts
Re# 2151377-3            Tags   Past Edits
विदुतीकरण तो पिछले रेल बजट का है।

6012 views
Feb 05 2017 (21:11)
Saddam Tauqeer   10 blog posts
Re# 2151377-4            Tags   Past Edits
Us bajat me bidhut karan ka elaan hoa that paisa nhi mila tha
Jan 17 2017 (09:49)  पूर्व तट रेल के जीएम ने किया विकास कार्यों का निरीक्षण समस्तीपुर मंडल के चार स्टेशनों पर लगेगा नम्मा शौचालय (epaper.bhaskar.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 291395   Blog Entry# 2130754     
   Tags   Past Edits
Jan 17 2017 (09:49)
Station Tag: Madhubani/MBI added by Pp/36064

Jan 17 2017 (09:49)
Station Tag: Jaynagar/JYG added by Pp/36064

Jan 17 2017 (09:49)
Station Tag: Sitamarhi Junction/SMI added by Pp/36064

Jan 17 2017 (09:49)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Pp/36064

Posted by: Pp*^~  5969 news posts
पूर्वतट रेलवे के जीएम उमेश सिंह ने शुक्रवार को खोरधा रोड मंडल के पलासा एवं खोरथा रोड स्टेशन के बीच चल रहे विकास कार्यों का निरीक्षण किया। निरीक्षण में खोरधा रोड मंडल के मंडल रेल प्रबंधक देबराज पाण्डा समेत कई अधिकारी उनके साथ थे। इस दौरान उन्होंने स्टेशनों, कॉलोनियों, पुलों, समपार फाटकों अन्य कार्यों का निरीक्षण किया। साथ ही पलासा, ब्रह्मपुर, सोमपेटा, रंभा, चिलिका, कालुपड़ाघाट एवं बालू घाट स्टेशनों पर चल रहे कार्यों की समीक्षा भी की।समस्तीपुरमंडल के चार स्टेशनों पर विशेष प्रकार का पर्यावरण अनुकूल नम्मा शौचालय बनेगा। पावर ग्रिड काॅरपोरेशन आॅफ इंडिया के सीएसआर इनीसिएटिव्स के तहत शौचालय बनेगा। इसके लिए समस्तीपुर मंडल एवं पावर ग्रिड काॅरपोरेशन आॅफ इंडिया लिमिटेड के बीच एक समझौता हुआ है। सीतामढ़ी में एक यूनिट, जयनगर में एक यूनिट, मधुबनी में एक यूनिट और दरभंगा में भी तीन यूनिट मिलाकर कुल चार स्टेशनों पर नम्मा टाॅयलेट बनाने का प्रस्ताव है। सीपीआरओ अरविंद कुमार रजक...
more...
ने बताया कि नम्मा शौचालय का डिजाइन इस प्रकार तैयार किया गया है कि यह आसानी से लगाया जा सके।

1 posts - Tue Jan 17, 2017 - are hidden. Click to open.

4212 views
Jan 18 2017 (07:57)
Pp*^~   4190 blog posts   124 correct pred (79% accurate)
Re# 2130754-2            Tags   Past Edits
दो खबर एक साथ.
Nov 17 2016 (12:15)  ट्रेन पर फांदने के क्रम में एक युवक की कटकर मौत (epaper.livehindustan.com)
back to top
Crime/AccidentsECR/East Central  -  

News Entry# 285813     
   Tags   Past Edits
Nov 17 2016 (12:15PM)
Station Tag: Amritsar Junction/ASR added by विश्व नाथ*^/31233

Nov 17 2016 (12:15PM)
Station Tag: Madhubani/MBI added by विश्व नाथ*^/31233

Nov 17 2016 (12:15PM)
Station Tag: Haiaghat/HYT added by विश्व नाथ*^/31233

Nov 17 2016 (12:15PM)
Train Tag: Shaheed Express/14674 added by विश्व नाथ*^/31233

Posted by: विश्व नाथ*  3552 news posts
हायाघाट रेलवे स्टेशन पर बुधवार की सुबह शहीद एक्सप्रेस ट्रेन पर फांदने के क्रम में एक युवक की कटकर मौत हो गयी। मृतक की पहचान मधुबनी जिले के खिरहर थाना क्षेत्र के घिसार गांव निवासी महेंद्र दास के पुत्र जय कुमार दास (35 वर्ष) के रूप में की गयी है।बताया जाता है कि वह इसी ट्रेन में सवार होकर अमृतसर से आ रहा था। हायाघाट स्टेशन पर ट्रेन रुकने पर वह गुटखा लेने गया। जबतक वह वापस आता ट्रेन खुल चुकी थी। चलती ट्रेन में ही उसने छलांग लगा दी। इस कारण वह फिसलकर ट्रैक पर गिड़ पड़ा और ट्रेन की चपेट में आ गया। जांच में उसके एक हाथ से गुटखा और दूसरे हाथ से नौ हजार रुपये बरामद किये गए हैं।
Page#    Showing 1 to 20 of 26 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.