Full Site Search  
Wed Jan 24, 2018 17:09:59 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Medium; Platform Pic; Large Station Board;


MJ/Marwar Junction (4 PFs)
     मारवाड़ जंक्शन

Track: Construction - Doubling+Electrification

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 4
Number of Halting Trains: 92
Number of Originating Trains: 3
Number of Terminating Trains: 3
State Highway 61, Marwar Junction - 306001
State: Rajasthan
add/change address
Elevation: 267 m above sea level
Zone: NWR/North Western
Division: Ajmer
 
 
1 Travel Tips
No Recent News for MJ/Marwar Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 3.9/5 (46 votes)
cleanliness - excellent (6)
porters/escalators - good (5)
food - good (6)
transportation - good (6)
lodging - good (5)
railfanning - good (6)
sightseeing - good (6)
safety - good (6)

Nearby Stations

DRS/Dhareshwar 9 km     AUWA/Auwa 9 km     RKZ/Rajkiawas 10 km     MRWS/Marwar Ranawas 15 km     BFY/Bhesana 16 km     BGG/Banta Raghunathgarh 16 km     BOM/Bomadra 20 km     SOD/Sojat Road 21 km     BWA/Bhinwaliya 22 km     FLD/Phulad 25 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 22 News Items  next>>
Sep 28 2017 (10:19)  मीटरगेज का आखिरी रूट भी बंद की तैयारी में (www.dainiksandhyajyotidarpan.com)
back to top
Other NewsNWR/North Western  -  

News Entry# 318522   Blog Entry# 2457764     
   Past Edits
Sep 28 2017 (10:20)
Station Tag: Phulad/FLD added by mohammadsamir2424/1800508

Sep 28 2017 (10:20)
Station Tag: Kuwanthal/KUTL added by mohammadsamir2424/1800508

Sep 28 2017 (10:20)
Station Tag: Nathdwara/NDT added by mohammadsamir2424/1800508

Sep 28 2017 (10:19)
Station Tag: Marwar Junction/MJ added by mohammadsamir2424/1800508

Sep 28 2017 (10:19)
Station Tag: Mavli Junction/MVJ added by mohammadsamir2424/1800508

Sep 28 2017 (10:19)
Station Tag: Charbhuja Road/CBG added by mohammadsamir2424/1800508
 
 
जयपुर, 25 सितम्बर। वैसे तो भारतीय रेल के आधुनिकीकरण के साथ पूरा भारत ही मीटर गेज मुक्त होने जा रहा है लेकिन राजस्थान में आज भी एक ऐसी जगह है जहां छोटी लाइन यानि मीटर गेज की ट्रेन का सफर रोमांच और सौंदर्य से भरपूर है। ये रोमांचक सफर शुरु होता है लेकसिटी उदयपुर के मावली जंक्शन से जहां मारवाड़ जंक्शन तक का यह 151 किलोमीटर का रास्ता अरावली की पहाडि़य़ों से होकर गुजरता है। यात्रियों के लिए यह सफर काफी रोमांच से भरा होता है। मीटर गेज की इस लाइन पर ट्रेनें घने जंगलों, छोटे बड़े पहाड़ों से होकर गुजरती है। लेकिन राजस्थान में मीटर गेज ट्रेन का एक आखिरी रुट भी बंद होने जा रहा है। यहां अब मीटर गेज की जगह लाइन को परिवर्तित कर इसे बड़ी लाइन में तब्दील किया जाएगा। दरअसल उत्तर-पश्चिम रेलवे ने मावली से मारवाड़ जंक्शन के 157 किलोमीटर लंबे रुट पर आमान परिवर्तन...
more...
के कार्य को मंजूरी प्रदान कर दी है। ऐसे में बस अब कुछ ही दिनों बाद इस रुट पर मीटर गेज की ट्रेनों का आवागमन बंद हो जाएगा। मावली से मारवाड़ के बीच मीटर गेज की ट्रेनों के संचालन के बंद होने से यहां अरावली की गोद में बसे आदिवासी इलाकों में रहने वाले लोगों को काफी नुकसान होगा क्योंकि इस ट्रेन के जरिए ही सैंकड़ो लोग दुर्गम इलाकों से शहरों तक आने जाने के लिए साधन के रुप में इस्तेमाल करते हैं। उदयपुर संभाग में चलने वाली मीटर गेज की ट्रेनों को राजस्थान की टॉय ट्रेन भी कहा जाता है। यहां का नजारा बेहद ही खूबसूरत दिखाई पड़ता है। शाहरूख खान की चेन्नई एक्सप्रेस फिल्म में दिखाए गए मनोरम दूध सागर झरने जैसा ही उदयपुर का भील की बेरी झरना है। कर्नाटक और गोवा राज्यों की सीमा पर स्थित दूधसागर झरने जैसा दिखाई पड़ता है। जब छोटी लाइन की यह सवारी गाड़ी इस जगह से गुजरती है तो यात्रियों को ये मनमोहक नजारा देखने को मिलता है। यहां ट्यूरिस्ट को मावली-मारवाड़ जंक्शन के बीच में पडऩे वाले गोरमघाट में रेल सफारी का काफी शानदार अनुभव होता है।

7 posts - Thu Sep 28, 2017 - are hidden. Click to open.

1 posts - Sun Oct 08, 2017 - are hidden. Click to open.

640 views
Dec 24 2017 (17:05)
ritzraj   641 blog posts
Re# 2457764-9            Tags   Past Edits
Me too.Am also waiting for Ju Nagpur and onwards to AP and TN connectivity via mj mavli.
Jul 20 2017 (17:13)  मानसून अवधि में मावली-मारवाड़ जं-मावली सवारी गाडी के संचालन समय में परिवर्तन (www.nwr.indianrailways.gov.in)
back to top
NWR/North Western  -  IR Press Release  

News Entry# 308993     
   Past Edits
Jul 20 2017 (17:19)
Station Tag: Marwar Junction/MJ added by Tejas get New Locomative Engine/532278

Jul 20 2017 (17:19)
Station Tag: Mavli Junction/MVJ added by Tejas get New Locomative Engine/532278

Jul 20 2017 (17:19)
Train Tag: Marwar - Mavli MG Passenger/52075 added by Tejas get New Locomative Engine/532278

Jul 20 2017 (17:19)
Train Tag: Mavli Jn - Marwar Jn [MG] Passenger/52074 added by Tejas get New Locomative Engine/532278
 
 
मानसून अवधि में मावली-मारवाड़ जं-मावली सवारी गाडी के संचालन समय में परिवर्तन
Jun 01 2017 (12:03)  मार्च 2019 में मदार-पालनपुर के बीच भी दौड़ेंगी बिजली से ट्रेन (m.bhaskar.com)
back to top
Rail BudgetNWR/North Western  -  

News Entry# 304113     
   Past Edits
Jun 01 2017 (12:03)
Station Tag: Palanpur Junction/PNU added by lovekushs2012/346804

Jun 01 2017 (12:03)
Station Tag: Marwar Junction/MJ added by lovekushs2012/346804

Jun 01 2017 (12:03)
Station Tag: Ajmer Junction/AII added by lovekushs2012/346804

Jun 01 2017 (12:03)
Station Tag: Adipur Junction/AI added by lovekushs2012/346804
 
 
ट्रांसपोर्ट रिपोर्टर | अजमेर
मार्च2019 में मदार से पालनपुर के बीच भी बिजली से ट्रेन चल सकेगी। अजमेर रेल मंडल में विद्युतीकरण जारी रही है। यह कार्य दो चरणों मदार से रानी तथा रानी से पालनपुर के बीच चल रहा है। यह कार्य दिल्ली से मुंबई तक होने वाले विद्युतीकरण का ही भाग है। अजमेर रेल मंडल में यह कार्य मदार से पालनपुर के बीच होना है।
मदार से पालनपुर के बीच कुल 364 किमी लाइन का विद्युतीकरण होना है। इसकी लागत करीब 512 करोड़ रुपए आएगी। मदार से रानी के
...
more...
बीच 211 और रानी से पालपुर के बीच 153 किमी लाइन का विद्युतीकरण किया जाएगा। मदार से रानी के 211 में से 90 किमी तक फाउंडेशन बनाने का कार्य पूरा कर लिया गया है। रानी से पालनपुर तक 153 किमी में से करीब 80 किमी में फाउंडेशन कार्य पूरा हो चुका है। यहां अब पोल एवं लाइन लगाने का कार्य शुरू हो रहा है। इस कार्य की शुरुआत अप्रैल 2016 से हुई थी।
{ विद्युतीकरण का कार्य दिल्ली से मुंबई तक होना है। इसमें अजमेर रेल मंडल मदार से पालनपुर के ट्रैक का विद्युतीकरण कर रहा है। दिल्ली से मुंबई तक विद्युतीकरण होने से इस मार्ग में सफर का समय कम हो जाएगा।
{ विद्युत से चलने वाली ट्रेनें और मालगाड़ी डीजल से चलने वाली गाड़ियों के मुकाबले कम खर्च वाली होंगी।
{ अजमेर से पालनपुर के सफर में आधे घंटे तक की कमी आएगी। अभी अजमेर से पालनपुर के बीच आवागमन में करीब 6 घंटे का समय लगता है।
{ अजमेर-पालपुर के बीच होने वाला विद्युतीकरण का कार्य इस प्रकार किया जा रहा है ताकि इस पर मालगाड़ी के डबल कंटेनर यानी एक के ऊपर एक कंटेनर भी ढोया जा सकेगा।
अजमेर रेल मंडल विद्युत लाइनों के लिए बिजली अजमेर डिस्कॉम सहित अन्य बिजली कंपनियों से लेगा। इसके लिए 6 ट्रेक्सन सब स्टेशन बनाए जाएंगे। यह स्टेशन मकरेड़ा, हरिपुर, मारवाड़, खिमेलख, सिरोही रोड अौर अमीरगढ़ में बनाए जाएंगे। इन स्टेशनों पर बिजली कंपनियों के ग्रिड से बिजली आएगी, यहां से रेल लाइनों में बिजली प्रवाहित होगी।
^अजमेर से पालनपुर के बीच विद्युतीकरण भी मार्च 2019 में पूरा होगा। इस रूट पर भी विद्युत लाइनों के जरिए रेलगाड़ियां चलेंगी। अजमेर रेल मंडल का प्रयास है कि इस प्रोजेक्ट को समय पर पूरा कर लिया जाए। -पुनीतचावला, डीआरएम, अजमेर रेल मंडल
मदार स्टेशन पर बिजली के खंभे लगाने के लिए खोदे गए गड्ढे।
भास्कर ख़ास
click here
Feb 24 2017 (08:09)  5 करोड़ की लागत की यात्री सुविधाओं का लोकार्पण (m.bhaskar.com)
News Entry# 294642   Blog Entry# 2176325     
   Past Edits
Feb 24 2017 (08:09)
Station Tag: Ajmer Junction/AII added by SGNR HS Inaugural 27 Feb^~/229469

Feb 24 2017 (08:09)
Station Tag: Marwar Junction/MJ added by SGNR HS Inaugural 27 Feb^~/229469
 
 
डबल डिस्टेंस सिग्नलिंग व्यवस्था मारवाड़ स्टेशन पर
फालना से अजमेर तक निरीक्षण के दौरान कई शिलान्यास
सिंघलने फालना स्टेशन का निरीक्षण किया तथा 50.50 लाख रुपए की लागत के 70 केडब्ल्यूपी क्षमता के सोलर पावर संयंत्र, एलईडी लाइटिंग नए आर पी एफ ऑफिस बैरक का उद्घाटन किया। रानी स्टेशन पर 14.40 लाख रुपए लागत 20 केडब्ल्यूपी क्षमता के सोलर पावर संयंत्र का उद्घाटन किया। मार्ग में ब्रिज संख्या 604 समपार फाटक संख्या 58 का निरीक्षण किया। मारवाड़ स्टेशन पर सिंघल ने नए इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग, डबल डिस्टेंस सिग्नल सिस्टम 86.57 लाख रुपए
...
more...
लागत के 120 केडब्ल्यूपी क्षमता के सोलर पावर संयंत्र एलईडी लाइटिंग का शुभारंभ किया। मारवाड़ स्टेशन नए टी टी रेस्ट हाउस का का निरीक्षण किया। सोजत रोड स्टेशन समपार फाटक संख्या 53 का निरीक्षण किया और रेल सुरक्षा पर मंचित नुक्कड़ नाटक देखा। यहां सिंघल ने सोजत रोड में डिजिटल अनाउंसमेंट सिस्टम का भी निरीक्षण किया।
मेयर गहलोत से कहा- आप करिए शिलान्यास
अजमेर रेलवे स्टेशन के एफओबी का शिलान्यास करने के लिए जीएम अनिल सिंघल ने मेयर धर्मेंद्र गहलोत से आग्रह किया कि वह कार्य तो वह ही करें। दरअसल इस एफओबी के निर्माण में नगर निगम का सहयोग रहा है। निरीक्षण में मेयर धर्मेंद्र गहलोत भी पूरे समय सिंघल और चावला के साथ रहे।
{ फालना रेलवे स्टेशन पर नेशनल ट्रेन इन्क्वायरी सिस्टम
{ सोजत स्टेशन पर डिजिटल एनाउंसमेंट की व्यवस्था
{ मारवाड़ स्टेशन पर डबल डिस्टेंट सिग्नलिंग व्यवस्था
{ रेलवे सुरक्षा बल, फालना के लिए नवनिर्मित कार्यालय भवन बैरक
{ मारवाड़ स्टेशन पर इलेक्ट्रॉनिक इंटरलॉकिंग
{ रानी, मारवाड़ फालना स्टेशन पर कैशलेस सुविधा।
{ फालना, रानी मारवाड़ स्टेशन पर नवीन तकनीक पर आधारित ऊर्जा दक्ष एलईडी फिटिंग
{ रानी मारवाड़ रेलवे स्टेशन पर उपलब्ध संयुक्त यात्री सूचना प्रणाली
{ अजमेर रेलवे स्टेशन पर करेंट बर्थ उपलब्धता प्रणाली
{ अजमेर रेलवे स्टेशन पर लिफ्ट
{अजमेर में प्लेटफार्म 4/5 का नवीकरण
{ अजमेर स्टेशन परिसर में एफओबी विस्तार
{ फालना, रानी मारवाड़ स्टेशन पर सोलर पावर संयंत्र
प्लेटफार्म 2-3 पर लिफ्ट का लोकार्पण
अजमेररेलवे स्टेशन पहुंचने पर जीएम सिंघल ने प्लेटफार्म संख्या 2/3 पर लिफ्ट तथा ऑफिसर्स रेस्ट हाउस सूट, प्लेटफार्म 4/5 का नवीकरण, करेंट बर्थ उपलब्धता प्रणाली का लोकार्पण किया। इसके बाद नवीनीकृत प्लेटफॉर्म 4/5, स्टेशन परिसर में एफओबी विस्तार, करेंट बर्थ रिजर्वेशन सॉफ्टवेयर का निरीक्षण किया।
ट्रांसपोर्ट रिपोर्टर | अजमेर
उपरेलवे के जीएम अनिल सिंघल ने अजमेर रेल मंडल के फालना-अजमेर खंड का गुरुवार को निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अजमेर, फालना और रानी रेलवे स्टेशनों पर करीब 5 करोड़ की लागत से कई यात्री और कर्मचारी सुविधाओं का लोकार्पण भी किया। सुबह 9 बजे से प्रारंभ हुआ सालाना निरीक्षण शाम को अजमेर में आकर समाप्त हुआ।
जीएम और उनकी टीम स्पेशल निरीक्षण टीम के साथ शाम को अजमेर पहुंचे। जीएम ने फालना-अजमेर खंड के रेलवे स्टेशनों रेल कॉलोनी की व्यवस्थाओं, स्टाफ यात्री सुविधाओं, रेल फाटकों, बड़े पुल आरयूबी का जायजा लिया तथा अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। साथ ही संबंधित क्षेत्र के जन प्रतिनिधियों आमजन से मुलाकात कर मांगों समस्याओं की जानकारी ली।
10घंटे निरीक्षण, 12 मिनट पहले पहुंचे अजमेर
उपरेलवे के जीएम अनिल सिंघल तथा अजमेर रेल मंडल के डीआरएम पुनीत चावला सहित अन्य अफसरों ने फालना-अजमेर के बीच करीब 10 घंटे तक सालाना निरीक्षण किया, मगर अजमेर अपने निर्धारित समय से 12 मिनट पहले स्पेशल ट्रेन से पहुंचे।
मारवाड़ जंक्शन सोजत रोड रेलवे स्टेशन के बीच बिछी 21 किमी की डबल लाइन व्यवस्था चालू करने के साथ गाड़ियों की गति में सुधार हुआ है। गाड़ियों की यह गति स्थिर बनी रहे, इसलिए डबल डिस्टेंट सिग्नलिंग व्यवस्था की गई है। इससे इस सेक्शन में गाड़ियों की रफ्तार 130 किमी प्रति घंटा की रफ्तार तक चल सकेगी। डबल डिस्टेंट सिग्नलिंग वह व्यवस्था है, जिसमें बाहरी सिगनल को डिस्टेंट सिगनल उसके एक किमी के अंतराल के बाद लगाए गए सिगनल को इनर डिस्टेंट कहा जाता है। डबल डिस्टेंट व्यवस्था 100 किमी/घंटे की गति से ऊपर और जहां माल गाड़ियों को चलाने में 1 किमी से अधिक ब्रेक लगाना दूरी की आवश्यकता के साथ मार्गों पर मानक है। प्रथम स्टॉप सिगनल से इनर डिस्टेंट सिगनल सामान्यतः 1000 मीटर आगे स्थित होगा तथा डिस्टेंट सिगनल 2000 मीटर आगे स्थित होगा। इस व्यवस्था के तहत चेतावनी (वार्निंग) सिगनल बोर्ड की आवश्यकता नहीं होती। उत्तर पश्चिम रेलवे में यह सिग्नलिंग व्यवस्था पहली बार लागू की जा रही है। जीएम अनिल सिंघल और डीआरएम ने इस व्यवस्था को भी जांचा और देखा।
प्लेटफार्म दो पर लिफ्ट का शुभारंभ करते हुए जीएम अनिल सिंघल एवं डीआरएम पुनीत चावला

27277 views
Feb 24 2017 (08:09)
Udaipur Mysore HumSafar superfast^~   88583 blog posts   5328 correct pred (78% accurate)
Re# 2176325-1            Tags   Past Edits
Now double distant signalling at Marwar Jn also
Jan 04 2017 (20:28)  सुरक्षा आयुक्त ने किया रेलवे लाइन दोहरीकरण का निरीक्षण (jagruktimes.co.in)
back to top
NWR/North Western  -  

News Entry# 290489   Blog Entry# 2116167     
   Past Edits
Jan 04 2017 (8:28PM)
Station Tag: Sojat Road/SOD added by LHB and WDP4 and Talgo Fan^~/229469

Jan 04 2017 (8:28PM)
Station Tag: Marwar Junction/MJ added by LHB and WDP4 and Talgo Fan^~/229469
Stations:  Marwar Junction/MJ   Sojat Road/SOD  
 
 
सोजत रोड। मारवाड़ जंक्शन से सोजत रोडतक रेल लाइन का दोहरीकरण कार्य पूरा होने पर मंगलवार को मारवाड़ जंक्शन से सीआरएस टीम नए ट्रेक पर ट्रोली में बैठकर सोजत रोड तक ट्रेक का निरीक्षण किया। रेलवे सुरक्षा आयुक्त सुशील चन्द्रा व मुख्य प्रशासनिक अधिकारी सीएओ ललित कपूर, सीपीडी एस.सी.एल, डिप्टी सीआरएस अनिल कुमार चोहेल, डिप्टी सीएसटीई दीपक वर्मा, सीनियर डीएसटीई अंकित दुग्गल ने ट्रेक का बारीकी से निरीक्षण किया व मारवाड़ जंक्शन से सोजत रोड के मध्य आने वाले रेलवे स्टेशन पर भी रुके व अवलोकन किया।
सोजत रोड की फुलाद रोड रेलवे फाटक पर रुके व इलेक्ट्रोनिक रेलवे फाटक के बारे में जानकारी लेने के बाद वे गेटमेन केदारदास से भी मिले। पुरानी रेलवे फाटक को बंद किए जाने वाले प्लेटफार्म
...
more...
व अभी नए बनाए गए इलेक्ट्रिक फाटक के प्लेटफार्म को लेकर अधिकारियों से सवाल जवाब किए। इस मौके पर डीआरएम पुनीत चावला, उप मुख्य अभियंता निर्माण रेलवे एस. आर. सांगवा, कार्यपालक अभियंता मनोहरसिंह, रेल पथ अभियंता निर्माण मनोज चतुर्वेदी, वरिष्ठ अनुभाग अभियंता फकीर चंद, वरिष्ठ अनुभाग अभियंता कर्मसिंह, ठेकेदार सतीश चंदानी सहित रेलवे कर्मी उपस्थित थे। दोहरीकरण के कार्य की जांच कर ली गई है, कार्य पूरा है। नई लाइन को पुराने यार्ड से जोडऩे का कार्य बाकी रहा है, जो जल्दी ही पूरा कर दिए जाने के बाद इस ट्रेक को क रीब बीस दिन में शुरू कर दिया जाएगा।
सुशील चन्द्रा, रेलवे सुरक्षा आयुक्त-जयपुर
दोहरीकरण रेल लाइन की जांच अधिकारियों ने कर दी है। करीब तीन सप्ताह में इस ट्रेक को शुरू कर दिया जाएगा। वहीं करीब एक वर्ष के भीतर इस रेलवे लाइन को फाटक रहित कर दिया जाएगा। अंडरब्रिज व ओवरब्रिज कुछ स्थानों पर बाकी रहे हैं, जिनका कार्य चल रहा है। जो जल्दी ही पूरा कर लिया जाएगा। पुनीत चावला, डीआरएम-अजमेर

8 posts - Wed Jan 04, 2017 - are hidden. Click to open.

3767 views
Jan 05 2017 (11:38)
pawankumarsingh~   227 blog posts   1 correct pred (50% accurate)
Re# 2116167-9            Tags   Past Edits
can any one tell us when doubling till palanpur/ahmedabad will complete.
Page#    Showing 1 to 20 of 22 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.