Full Site Search  
Mon Jan 22, 2018 09:56:13 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;


RBL/Rae Bareli Junction (4 PFs)
رائے بریلی جنکشن     रायबरेली जंक्शन

Track: Construction - Doubling+Electrification

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 4
Number of Halting Trains: 71
Number of Originating Trains: 8
Number of Terminating Trains: 8
Junction Point: Railway Station Rd, Rae Bareli
State: Uttar Pradesh
add/change address
Zone: NR/Northern
Division: Lucknow Charbagh NR
 
 
2 Travel Tips
No Recent News for RBL/Rae Bareli Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 4.1/5 (32 votes)
cleanliness - good (4)
porters/escalators - good (4)
food - good (4)
transportation - excellent (4)
lodging - good (4)
railfanning - excellent (4)
sightseeing - good (4)
safety - good (4)

Nearby Stations

DYP/Daryapur Junction 6 km     GANG/GangaGanj 8 km     RUM/Rupamau 9 km     BBHL/Bela Bela 11 km     SRJK/Suraj Kunda 13 km     HCP/Harchandpur 15 km     UBN/Ubarni 17 km     FTG/FursatGanj 18 km     KVG/Kundanganj 21 km     LMN/Lachhmanpur 21 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 116 News Items  next>>
Jan 01 2018 (22:05)  टूटी रेल पटरी से निकल गयी दो ट्रेनें, हादसा टला (www.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 325875     
   Past Edits
Jan 01 2018 (22:05)
Station Tag: Rae Bareli Junction/RBL added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964
Stations:  Rae Bareli Junction/RBL  
 
 
कानपुर-ऊंचाहार रेल खण्ड पर रेल विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां टूटी रेल पटरी से दो ट्रेनें निकल गई। ग्रामीणों की सूचना पर रेल महकमे में हड़कम्प मच गया। आनन-फानन अधिकारी मौके पर पहुंचे और टूटी रेल पटरी की मरम्मत शुरू कराई। रेल अधिकारी इसे साधारण फै्रक्चर बता रहे हैं।
ऊंचाहार-कानपुर रेल खंड पर पचखरा गांव के पास किमी संख्या 78/5 व 78/6 के बीच रेल पटरी में फे्रक्चर होने से करीब करीब डेढ़ इंच का गैप हो गया था। इसके बावजूद रेल विभाग को इसकी खबर नहीं थी। इसका परिणाम यह हुआ कि टूटी रेल पटरी से कानपुर-ऊंचाहार -यबरेली पैसेंजर ट्रेन और कानपुर-इलाहाबाद इंटरसिटी ट्रेन निकल गई। रविवार को घना कोहरा होने के कारण इस ओर सुबह कोई
...
more...
की मैन भी नहीं आया। सुबह ग्रामीण शौच के लिए रेल लाइन की ओर गए तो टूटी हुई पटरी देख वह सन्न रह गए। ग्रामीणों को यह नहीं समझ आ रहा था कि मामले कि सूचना किसको दी जाए। इसी बीच इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन भी आ गई। इस ट्रेन के निकल जाने के बाद की-मैन मौके पर पहुंचा तो ग्रामीणों ने उसे सूचना दी। की-मैन ने अपने अधिकारियों को मामले की सूचना दी। इसके बाद मरम्मत का कार्य शुरू किया गया। रेल पथ निरीक्षक एके सिंह का कहना है अत्यधिक ठंड होने की वजह से पटरी में गैप आया था। यह एक सामान्य घटना है। इसे ठीक किया जा रहा है
Jan 01 2018 (22:03)  रायबरेली में टूटी पटरी से निकल गयीं दो ट्रेनें, मचा हड़कंप (www.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 325874     
   Past Edits
Jan 01 2018 (22:04)
Station Tag: Rae Bareli Junction/RBL added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964
Stations:  Rae Bareli Junction/RBL  
 
 
टूटी रेल पटरी से निकल गईं दो ट्रेनें, हादसा बचा
ऊंचाहार (रायबरेली)। हिन्दुस्तान संवाद
कानपुर-ऊंचाहार रेल खण्ड पर रेल विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां टूटी रेल पटरी से दो ट्रेनें निकल गई। ग्रामीणों की सूचना पर रेल महकमे में हड़कम्प मच गया। आनन-फानन अधिकारी मौके पर पहुंचे और टूटी रेल पटरी की मरम्मत शुरू कराई। रेल अधिकारी इसे सामान्य फ्रैक्चर बता रहे हैं।
ऊंचाहार-कानपुर
...
more...
रेल खंड पर पचखरा गांव के पास किमी संख्या 78/5 व 78/6 के बीच रेल पटरी में फ्रैक्चर होने से करीब करीब डेढ़ इंच का गैप हो गया था। इसके बावजूद रेल विभाग को इसकी खबर नहीं थी। इसका परिणाम यह हुआ कि टूटी रेल पटरी से कानपुर-ऊंचाहार -यबरेली पैसेंजर ट्रेन और कानपुर-इलाहाबाद इंटरसिटी ट्रेन निकल गई। रविवार को घना कोहरा होने के कारण इस ओर सुबह कोई की मैन भी नहीं आया था। सुबह ग्रामीण शौच के लिए रेल लाइन की ओर गए तो टूटी हुई पटरी देख वह सन्न रह गए। ग्रामीणों को यह नहीं समझ आ रहा था कि मामले कि सूचना किसको दी जाए। इसी बीच इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेन भी आ गई। इस ट्रेन के निकल जाने के बाद की-मैन मौके पर पहुंचा तो ग्रामीणों ने उसे सूचना दी।
जिसके बाद की-मैन ने अपने अधिकारियों को मामले की सूचना दी। इसके बाद मरम्मत का कार्य शुरू किया गया। रेल पथ निरीक्षक एके सिंह का कहना है अत्यधिक ठंड होने की वजह से पटरी में गैप आया था। यह ठंड की वजह से होने वाला एक सामान्य फैक्चर है। इसे ठीक किया जा रहा है।
Dec 30 2017 (12:10)  ट्रेन के इंजन और डिब्बों में फंसा बिजली लाइन का तार (www.livehindustan.com)
back to top
Major Accidents/DisruptionsNR/Northern  -  

News Entry# 325750     
   Past Edits
Dec 31 2017 (16:06)
Train Tag: Kanpur - Pratapgarh InterCity Express/14124 added by Electrification And Doubling of PBH Soon*^~/38492

Dec 30 2017 (12:10)
Station Tag: Rae Bareli Junction/RBL added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Dec 30 2017 (12:10)
Station Tag: Pratapgarh Junction/PBH added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964
 
 
आरबीएनएल के कर्मचारियों की लापरवाही से हरचन्दपुर और रायबरेली के बीच ट्रेन के इंजन और 5 डिब्बों में रेलवे इलेक्ट्रीफिशेन लाइन का तार फंस गया। ट्रेन करीब 2 घंटे 20 मिनट तक डिडौली पुल पर ही खड़ी रही। इससे लखनऊ-रायबरेली रूट बाधित हो गया और तीन ट्रेनों को आसपास के स्टेशनों पर काफी देर तक रुकना पड़ा।
उतरेटिया से रायबरेली तक आरबीएनएल की ओर से रेल लाइन का विद्युतीकरण कार्य कराया जा रहा है। बीती 27 दिसम्बर को डिडौली पुल पर कार्य हुआ था। गुरुवार रात करीब 08.34 बजे ट्रेन नंबर 22684 लखनऊ-यशवंतपुर सुपरफास्ट गंगागंज से पास घटना हुई। किलोमीटर संख्या 999/28 के पास डिडौली पुल पर अचानक तेज आवाज होने पर चालक ने ट्रेन रोक दी। उसने उतर कर देखा तो
...
more...
ट्रेन के इंजन और 5 डिब्बों में इलेक्ट्रीफिकेशन लाइन का तार बुरी तरह से फंस गया था। काफी प्रयास के बाद भी जब तार को हटाने में सफलता नहीं मिली तो गार्ड ने स्टेशन अधीक्षक और कन्ट्रोल रूम को सूचना दी। सूचना मिलते ही रेल महकमे में हड़कम्प मच गया।
आनन-फानन यातायात निरीक्षक डीआर मीणा, स्टेशन अधीक्षक राकेश कुमार, आरपीएफ इंस्पेक्टर प्रताप सिंह नेगी और आरबीएनएल का स्टाफ मौके पर पहुंच गया। काफी मशक्कत के बाद रात 11 बजे इंजन और डिब्बों पर फंसे तार को हटाया जा सका। तब कहीं जाकर ट्रेन रवाना हो सकी। 2 घंटे 20 मिनट तक लखनऊ-रायबरेली रेलमार्ग पूरी तरह से बाधित रहा। इस दौरान इलाहाबाद से सहारनपुर जा रही गाड़ी 14511 नौचंदी एक्सप्रेस को रायबरेली में 2 घंटे, वाराणसी से लखनऊ जा रही गाड़ी संख्या 14203 इंटरसिटी एक्सप्रेस को रूपामऊ में 50 मिनट और कानुपर से प्रतापगढ़ जा रही इंटरसिटी एक्सप्रेस को गंगागंज में 20 मिनट तक रोके रखा गया।
आवागमन बहाल होने के बाद अधिकारियों ने राहत की सांस ली। घटना की जांच के लिए रेलवे की ओर से ज्वाइंट कमेटी गठित की गई है। आरबीएनएल के अधिकारी घटना को लेकर तार चोरी करने का अंदेशा जता रहे हैं, जिससे तार खुल कर पोल से लटकने लगा है। फिलहाल जांच रिपोर्ट आने के बाद ही सही कारण का पता चल सकेगा।
Nov 04 2017 (16:37)  In Gandhi backyard, Centre plans largest coach ramp-up (indianexpress.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNR/Northern  -  

News Entry# 321835     
   Past Edits
Nov 04 2017 (16:38)
Station Tag: Perambur/PER added by I WANT UJJAIN TO BE MADE AS TERMINAL/1458461

Nov 04 2017 (16:38)
Station Tag: Perambur Carriage Works/PCW added by I WANT UJJAIN TO BE MADE AS TERMINAL/1458461

Nov 04 2017 (16:38)
Station Tag: Rae Bareli Junction/RBL added by I WANT UJJAIN TO BE MADE AS TERMINAL/1458461

Nov 04 2017 (16:38)
Train Tag: Kalinga Utkal Express/18477 added by I WANT UJJAIN TO BE MADE AS TERMINAL/1458461
 
 
The Modern Coach Factory of Railways in Rae Bareli has submitted a proposal to multiply its yearly production capacity by five times to 5,000 Linke Hoffman Busch (LHB) coaches every year from the current 1,000, Railway Minister Piyush Goyal said Friday.
On the plan to completely switch over from the conventional ICF design coaches to LHB, Goyal said production of ICF coaches across India would stop by the middle of 2018. This would be the biggest capacity ramp-up by a coach factory ever in India.
“Rae Bareli has already sent me a proposal
...
more...
to multiply their capability to produce 5,000 coaches of LHB every year. We are working to convert all ICF factories across the country so that by the middle of 2018, we will discontinue ICF coaches and only make LHB,” Goyal said at the Idea Exchange programme of The Indian Express. “In the next four-five years, new India will also mean ICF becomes history,” he said.
Goyal has already set a priority for the ICF factory in Chennai to double its production capacity of making LHB coaches to over 6,000 coaches a year.
The reason, he said, is safety.
“I did the math and a study of the past few accidents, and I found that in most of the LHB coaches there has never been a fatality. What happens is… the coupler technology is good, it doesn’t climb one on top of the other. Even if there is derailment or collision, it stays there. Lives are generally not lost,” he said.
Describing the antiquated ICF coaches as “before I was born”, Goyal said the LHB coaches were the best the Railways had at the moment. “While I am scouting for more modern technology, the best we have today is LHB, and the advantage is that chances of fatal accidents reduce very drastically in an LHB coach,” he said.
He pointed out that the Utkal Express, which derailed in August and killed 20 people and injured over 90, had ICF coaches.
Goyal’s predecessors have been unable to ramp up LHB coach production despite agreeing to the policy that ICF should be phased out. His predecessor, Suresh Prabhu, too wanted complete conversion to LHB stock but it did not take off.
Of the around 60,000 passenger coaches with Railways, only around 10 per cent is LHB.
On bringing in the Army to build three foot overbridges in Mumbai suburban stations, Goyal said it was concern for safety that made him bring in the Army, and that the bureaucratic process of tender and budgeting would have delayed work.
“It was important to get things going on mission mode. I located there is the only organisation… to which I could give out the job without a tender… which has workmen of their own, design engineers who are better than the best in the world, with equipment that no other government organisation has,” he said.
He said it was Ashish Shelar, chief of BJP’s Mumbai unit, who suggested the idea first on October 6 while meeting him and Defence Minister Nirmala Sitharaman. “Army has been deployed in Commonwealth Games also. Someone could have asked (if) Commonwealth Games was that important to bring in the Army. The Games would have served how many people? Not even a million? Here, I am serving 8 million passengers day in and day out. And their safety is my primary concern,” he said.
Nov 01 2017 (20:20)  महाप्रबंधक एनसीआर ने किया रेल डिब्बा कारखाने का निरीक्षण (www.livehindustan.com)
back to top
Other NewsNCR/North Central  -  

News Entry# 321515     
   Past Edits
Nov 01 2017 (20:20)
Station Tag: Rae Bareli Junction/RBL added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964

Nov 01 2017 (20:20)
Station Tag: Allahabad Junction/ALD added by ☆गोंडा इलेक्ट्रिक शेङ ■☆*^~/206964
 
 
उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक एमसी चौहान ने बुधवार को रायबरेली स्थित रेल डिब्बा कारखाने का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने संगठन के सभी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक भी की। महाप्रबंधक ने कोच उत्पादन से संबंधित गतिविधियों की जानकारी ली। साथ ही उन्होंने आरेडिका, रायबरेली में मनाए जा रहे सतर्कता जागरूकता सप्ताह के अवसर पर सतर्कता बुलेटिन भी जारी किया गया । इस मौके पर उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार की जीएसटी व सूचना तकनीकि संबंधी नई नीतियां समाज में भ्रष्टाचार को समाप्त कर रही है। इसके बाद महाप्रबंधक ने सभी वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कारखाना परिसर का भी निरीक्षण किया। उनके साथ दिलीप कुमार अग्रवाल, प्रधान मुख्य यांत्रिक अभियंता, एके श्रीवास्तव, मुख्य विद्युत इंजीनियर, एके पांडे, प्रधान मुख्य सामग्री प्रबंधक व अन्य अधिकारीगण मौजूद रहे।
Page#    Showing 1 to 20 of 116 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.