Full Site Search  
Thu Jan 18, 2018 19:18:09 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;


RXL/Raxaul Junction (5 PFs)
ركسول جنکشن     रक्सौल जंक्शन

Track: Construction - Single-Line Electrification

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 5
Number of Halting Trains: 2
Number of Originating Trains: 19
Number of Terminating Trains: 19
Ph - 06255-221226,Station Road, Raxaul, PIN -845305 , East Champaran
State: Bihar
add/change address
Elevation: 86 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Samastipur
 
 
1 Travel Tips
RXL/Raxaul Junction is in Recent News
Nearby Stations in the News

Rating: 3.4/5 (103 votes)
cleanliness - good (13)
porters/escalators - average (13)
food - good (13)
transportation - good (13)
lodging - good (13)
railfanning - good (13)
sightseeing - good (12)
safety - average (13)

Nearby Stations

NR-SISYA/Sirsiya ICD 5 km     NKU/Nakardei 6 km     NKV/Nakardei 6 km     BLV/Bhelwa 7 km     MSDH/Masnadih 8 km     KNLI/Kangali Halt 11 km     ADX/Adapur 12 km     RGH/Ramgarhwa 14 km     STF/Sikta 16 km     PPK/Pachpokharia 18 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 151 News Items  next>>
Yesterday (17:50)  अजब-गजब: बिहार का एक रेलवे स्‍टेशन, जिसकी ना कोई है इंट्री ना ही एग्जिट (www.jagran.com)
back to top
Other NewsECR/East Central  -  

News Entry# 327213     
   Past Edits
Jan 17 2018 (17:50)
Station Tag: Sitamarhi Junction/SMI added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (17:50)
Station Tag: Samastipur Junction/SPJ added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (17:50)
Station Tag: Jhanjharpur Junction/JJP added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (17:50)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (17:50)
Station Tag: Raxaul Junction/RXL added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (17:50)
Station Tag: Narkatiaganj Junction/NKE added by Neeraj Thakur~/1683616
 
 
बिहार में एक एेसा अनोखा रेलवे स्टेशन है जिसका ना इंट्री प्वाइंट है ना ही एक्जिट प्वाइंट है। यह जंक्शन बहुत पुराना है और चारों ओर से खुला हुआ है। ये एेसा क्यों है? पढिए...
पश्चिमी चंपारण [सतीश कुमार पाण्डेय]। समस्तीपुर मंडल के नरकटियागंज जंक्शन को मॉडल स्टेशन का दर्जा प्राप्त है, लेकिन यह जंक्शन अपने आप में मॉडल बन गया है। यहां तक कि अंग्रेज भी इस स्टेशन के निर्माण का खाका खींचने में धोखा खा गए।
आपको यह जानकर हैरानी होगी कि यह उत्तर बिहार का पहला जंक्शन है जहां प्रवेश
...
more...
व निकास द्वार नहीं है। इस जंक्शन से चारों दिशाओं के लिए ट्रेनें खुलती रही है। वर्तमान समय में नरकटियागंज-रक्सौल और नरकटियागंज-भिखनाठोरी रेलखंड पर आमान परिवर्तन के कारण रेल परिचालन बंद है।

इस जंक्शन की महत्ता इसलिए भी बढ़ जाती है कि पूरब, पश्चिम, उत्तर और दक्षिण दिशाओं में ट्रेन परिचालन का यह मुख्य केंद्र है, जो जल्दी कहीं और नहीं दिखती। चारो और से खुले इस जंक्शन पर पहुंचने और निकलने के लिए अनगिनत रास्ते हैं, लेकिन मुख्य प्रवेश और निकास द्वार का कही अता-पता नहीं है।

ऐसे में यह अंदाजा लगाया जा सकता है की आमलोगो और रेल माध्यम से यात्रा करनेवालों को क्या परेशानी होती होगी, खासकर उन्हें जो पहली बार इस जंक्शन पर अपना पांव रखते हैं।

1904 में स्थापित हुआ था रेल जंक्शन
नरकटियागंज जंक्शन की स्थापना 1904 में हुई। ब्रिटिश काल में स्थापित इस जंक्शन का निर्माण इस उद्देश्य से हुआ कि आमलोगों को परिवहन व्यवस्था में सहुलियत मिलेगी। ऐसा हुआ भी, लेकिन ब्रिटिश अधिकारी प्रवेश और निकास द्वार का खाका खींचने में चूक कर गए।

जंक्शन पर बहुत सारे बदलाव हुए और अब भी हो रहे हैं लेकिन 114 साल बाद भी यह जंक्शन प्रवेश और निकास द्वार को तरस रहा है। प्रवेश द्वार के अभाव में लोग संरक्षा नियमों के विपरीत रेलवे लाइन पार कर जंक्शन पर पहुंचने को विवश हो रहे हैं।

शहर को दो भागों में बांटता जंक्शन
उत्तर बिहार का सबसे चर्चित यह जंक्शन शहर को दो भागों में बांटता है। शहर की एक तिहाई आबादी जंक्शन से उत्तर और बाकी आबादी दक्षिण में बसती है। शहरीकरण का बढ़ता दायरा और लगातार बढ़ रही आबादी यह दर्शाती है कि इस जंक्शन को प्रवेश और निकास द्वार की अत्यंत आवश्यकता है।

उत्तर और दक्षिण दिशा में रहने वाले लोगों को कई बार इसका खामियाजा भी भुगतना पड़ा है। जंक्शन पर टिकट चेकिंग के दौरान उन्हें बिना कसूर जुर्माना भी भरना पड़ा है।

रेल यात्री और बेजुबानों में मिट जाता फर्क
यह पहला रेलवे जंक्शन है जहां रेल यात्रियों के साथ-साथ आवारा पशु भी कहीं से प्रवेश कर जाते हैं। जंक्शन के चारों तरफ से खुला होने की वजह से मवेशी यदा-कदा जंक्शन पर प्रवेश करते रहते हैं। दो तरफ से लाइन होने की वजह से कई बार मवेशी व आम आदमी भी आने-जानेवाली ट्रेनों का शिकार बनता रहा है।

कहा- स्टेशन अधीक्षक ने
जंक्शन चारों ओर से खुला है यह बात सही है। लेकिन, प्रवेश द्वार और निकास द्वार के बारे में हम कुछ नहीं बता सकते हैं। इस बारे में वरीय रेल अधिकारियों को भी पूरी जानकारी है।
लालबाबू राउत, स्टेशन अधीक्षक, नरकटियागंज
Jan 10 2018 (14:36)  दो स्पेशल ट्रेनों के परिचालन में किया गया विस्तार (www.prabhatkhabar.com)
back to top
SCR/South Central  -  

News Entry# 326670   Blog Entry# 2987632     
   Past Edits
Jan 10 2018 (14:36)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by amishkumar~/1702584

Jan 10 2018 (14:36)
Station Tag: Raxaul Junction/RXL added by amishkumar~/1702584
 
 
पटना : उत्तर बिहार से दक्षिण भारत आने और जाने वाले यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए पूर्व मध्य रेल ने दो स्पेशल ट्रेनों के परिचालन में विस्तार किया है. इसमें रक्सौल से हैदराबाद के बीच चलने वाली गाड़ी संख्या 07005/07006 शामिल है. यह ट्रेन पहले जुलाई से दिसंबर तक के लिए चलायी गयी थी. लेकिन यात्रियों के फिडबैक के बाद इस ट्रेन को एक फरवरी से 1 अप्रैल 2018 तक चलाने का निर्णय लिया गया है. यह ट्रेन गुरुवार को हैदराबाद से खुलेगी. जबकि रक्सौल से रविवार को खुलेगी. दरभंगा से सिकंदराबाद के बीच चलने वाली स्पेशल ट्रेन संख्या-07007,08 के परिचालन को भी 3 फरवरी से 3 अप्रैल, 2018 तक बढ़ा दिया गया है. यह ट्रेन सिकंदराबाद से शनिवार व मंगलवार को तथा दरभंगा से प्रत्येक मंगल और शुक्रवार को खुलेगी. - कब- कब कहां से खुलेगी ट्रेन: हैदराबाद-रक्सौल ट्रेन हैदराबाद से 21:30 बजे खुलेगी और...
more...
17:30 बजे रक्सौल पहुंचेगी. जबकि रक्सौल से 1:30 बजे खुलेगी और 23:15 बजे हैदराबाद पहुंचेगी. वहीं सिकंदराबाद-दरभंगा ट्रेन सिकंदराबाद से 22 बजे खुलेगी और जबकि 13:45 बजे दरभंगा पहुंचेगी. यही ट्रेन दरभंगा से 5 बजे खुलेगी. यह जानकारी मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने दी.

1924 views
Jan 10 2018 (14:49)
❤️SUPERMAN❤️^~   2633 blog posts   4008 correct pred (61% accurate)
Re# 2987632-1            Tags   Past Edits
Special special special 😂😂😂
Fix train lgta h nhi milegi hmhe

1784 views
Jan 10 2018 (15:13)
Neeraj Thakur~   109 blog posts
Re# 2987632-2            Tags   Past Edits
bilkul...... pichhale 1 saal se special hi chalaya ja raha hai........
abto isko fixed kar dena chahiye...

1777 views
Jan 10 2018 (15:14)
❤️SUPERMAN❤️^~   2633 blog posts   4008 correct pred (61% accurate)
Re# 2987632-3            Tags   Past Edits
Special ke name par fare laga kr paisa loot rhe h IR
Jan 10 2018 (08:03)  स्टेशन अधीक्षक कार्यालय बंद देख भड़के सांसद (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 326625     
   Past Edits
Jan 10 2018 (08:03)
Station Tag: Raxaul Junction/RXL added by NZM SRC Weekly SF Is My Dream Train😍😊^~/1421836
Stations:  Raxaul Junction/RXL  
 
 
रक्सौल, संवाद सहयोगी : रेलवे से संबंधित विभिन्न समस्याओं को लेकर पश्चिम चंपारण के सांसद डॉ. संजय जायसवाल मंगलवार को रक्सौल स्टेशन पहुंचे । स्टेशन अधीक्षक का कार्यालय बंद देख भड़क गए । सांसद ने डीआरएम को फोन से इसकी शिकायत की । लगभग चालीस मिनट के बाद एसएस कार्यालय पहुंचे । 1 उन्होंने सांसद से माफी मांगी । आग बबूला हुए सांसद ने कार्यशैली में सुधार करने की नसीहत दी । कहा कि अगली बार कार्यालय बंद देखा तो खैर नहीं । रेल गुमटी को अधिक देर बंद रहने का कारण पूछा । साथ ही एक सप्ताह पूर्व तीन दिनों तक स्टेशन पर पानी सप्लाई व शौचालय बंद रहने के विषय में विस्तृत रूप से जानकारी लिया। इस पर एसएस ने विभागीय कारणों को बताया। वहीं प्लेटफॉर्म पर साफ-सफाई में सुधार करने को कहा । स्टेशन पर संचालित पर्यटक सूचना केंद्र के बारे में भी जानकारी लिया । रेलवे की...
more...
जर्जर सड़क को लेकर सीनियर सेक्शन इंजीनियर तपस राय से इसे अविलंब निर्माण कराने को कहा। रक्सौल -नरकटियागंज रेलखंड के आमान परिवर्तन कार्य मे देरी के लिए अधिकारियों को कार्य में अनियमितता व शिथिलता बरतने का कारण बताया। मौके पर डॉ. अनिल कुमार सिन्हा, राजकिशोर राय उर्फ भगतजी, ई. जितेन्द्र कुमार, मनीष दूबे, मनोज शर्मा, समशुद्दीन आलम आदि मौजूद थे ।रक्सौल, संवाद सहयोगी : रेलवे से संबंधित विभिन्न समस्याओं को लेकर पश्चिम चंपारण के सांसद डॉ. संजय जायसवाल मंगलवार को रक्सौल स्टेशन पहुंचे । स्टेशन अधीक्षक का कार्यालय बंद देख भड़क गए । सांसद ने डीआरएम को फोन से इसकी शिकायत की । लगभग चालीस मिनट के बाद एसएस कार्यालय पहुंचे । 1 उन्होंने सांसद से माफी मांगी । आग बबूला हुए सांसद ने कार्यशैली में सुधार करने की नसीहत दी । कहा कि अगली बार कार्यालय बंद देखा तो खैर नहीं । रेल गुमटी को अधिक देर बंद रहने का कारण पूछा । साथ ही एक सप्ताह पूर्व तीन दिनों तक स्टेशन पर पानी सप्लाई व शौचालय बंद रहने के विषय में विस्तृत रूप से जानकारी लिया। इस पर एसएस ने विभागीय कारणों को बताया। वहीं प्लेटफॉर्म पर साफ-सफाई में सुधार करने को कहा । स्टेशन पर संचालित पर्यटक सूचना केंद्र के बारे में भी जानकारी लिया । रेलवे की जर्जर सड़क को लेकर सीनियर सेक्शन इंजीनियर तपस राय से इसे अविलंब निर्माण कराने को कहा। रक्सौल -नरकटियागंज रेलखंड के आमान परिवर्तन कार्य मे देरी के लिए अधिकारियों को कार्य में अनियमितता व शिथिलता बरतने का कारण बताया। मौके पर डॉ. अनिल कुमार सिन्हा, राजकिशोर राय उर्फ भगतजी, ई. जितेन्द्र कुमार, मनीष दूबे, मनोज शर्मा, समशुद्दीन आलम आदि मौजूद थे ।
Dec 28 2017 (17:01)  जानकी जन्मभूमि में यातायात साधनों का घोर अभाव, कई ट्रेनें सीतामढ़ी तक बढ़ाने व हवाई सेवा शुरू करने की मांग (jansattanews.com)
back to top
Rail BudgetECR/East Central  -  

News Entry# 325560   Blog Entry# 2945897     
   Past Edits
Dec 28 2017 (17:01)
Station Tag: Janakpur Road/JNR added by Neeraj Thakur~/1683616

Dec 28 2017 (17:01)
Station Tag: Muzaffarpur Junction/MFP added by Neeraj Thakur~/1683616

Dec 28 2017 (17:01)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Neeraj Thakur~/1683616

Dec 28 2017 (17:01)
Station Tag: Raxaul Junction/RXL added by Neeraj Thakur~/1683616

Dec 28 2017 (17:01)
Station Tag: Narkatiaganj Junction/NKE added by Neeraj Thakur~/1683616

Dec 28 2017 (17:01)
Station Tag: Sitamarhi Junction/SMI added by Neeraj Thakur~/1683616

Dec 28 2017 (17:01)
Train Tag: Pawan Express/11065 added by Neeraj Thakur~/1683616

Dec 28 2017 (17:01)
Train Tag: Bihar Sampark Kranti Express/12566 added by Neeraj Thakur~/1683616
 
 
सीतामढ़ी। जानकी जन्मभूमि का विकास भाजपा और केंद्र सरकार की प्राथमिकता में है। दिल्ली में हुए अखिल भारतीय मिथिला संघ के कार्यक्रम में नीतीश कुमार ने भी जानकी धाम के विकास को लेकर अपनी प्रतिबद्धता जता दी है। राम जन्मभूमि अयोध्या को जानकी जन्मभूमि सीतामढ़ी से जोड़ने के लिए राम-जानकी सर्किट पर भी काम शुरू हो गया है, मगर न ही सीतामढ़ी को हवाई मार्ग से जोड़ने की पहल हुई है और न ही रेल सेवाओं पर ध्यान ही दिया जा रहा है। ऐसे में आने वाले तीर्थयात्रियों के लिहाज से अभी भी सीतामढ़ी दुरूह बना हुआ है। विहिप के जिलाध्यक्ष आलोक कुमार ने केंद्र सरकार से इस विषय पर भी गंभीरता से विचार करने का आग्रह किया है।
अब मार्च तक
...
more...
बढ़ाई रूट चालू करने की डेट
लगभग 20 वर्ष पहले दरभंगा से सीतामढ़ी, रक्सौल, नरकटियागंज होते हुए गोरखपुर जाने वाले मीटरगेज रेल मार्ग को बडी लाइन में बदलने के लिए बंद किया गया था। मगर अभी तक पूरा मार्ग चालू नहीं हो पाया है। पिछले काफी समय से मार्ग को चालू करने की महज तिथियां घोषित होती रही हैं। जब इसी वर्ष सितंबर मेें रेल मार्ग चालू होना था तो अगस्त में आई बाढ़ ने रेल मार्ग को काफी क्षति पहुंचाई। लिहाजा मार्ग पर रेल परिवहन नहीं शुरू हो पाया। इसके बाद रेल प्रसाशन की ओर से कहा गया कि जनवरी 2018 में इस रूट पर आवागमन चालू कर दिया जाएगा लेकिन अब प्रशासन अपने बयान से पीछे हट गया है।
दरार को दुरुस्त करवा रहे हैं
वजह है रक्सौल-नरकटियागंज रेलखंड पर बेलवा-सिकटा (मोतिहारी) के पास 51 नंबर रेलवे पुल के दो फाउंडेशन में दरार आ गई है। पूर्व मध्य रेल के समस्तीपुर डिवीजन के डीआरएम आरके जैन अब कह रहे हैं कि हम पुलिया में आई दरार को दुरुस्त करवा रहे हैं। परिचालन की तारीख अभी तय नहीं है मगर मार्च से पहले परिचालन शुरू किए जाने की पूरी संभावना है। पूर्व में हमने परिचालन शुरू करने के लिए जनवरी का महीना तय किया था।
परियोजना में देरी से लागत भी बढ़ी
जानकारी के अनुसार 2012 के अप्रैल माह में रक्सौल-नरकटियागंज रेल खंड को लेकर मेगा ब्लाक लिया गया था। तब परियोजना 310 करोड़ की तथा दूरी 44 किलोमीटर थी। जाहिर है परियोजना में देरी से लागत भी बढ़ गई है। रूट पर भेलवा, सिकटा, मरजदवा तथा गोखला समेत कुल चार स्टेशन हैं। कभी बजट की तंगी तो कभी लालफीताशाही ने परियोजना में देरी की। लापरवाही और कई अन्य कारणों ने भी परियोजना को लटकाए रखा। रेल मंत्री पियूष गोयल यदि व्यक्तिगत रूप से रुचि लेंगे तभी परियोजना पूरी हो सकेगी। इस रूट का अनुभव यही कहता है।
रेल सेवाओं का हो विस्तार
सीतामढ़ी से एक भी सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेन नहीं है। दरभंगा से जनकपुर रोड, सीतामढ़ी से रक्सौल, नरकटियागंज होते हुए गोरखपुर के रास्ते दिल्ली और अन्य जगहों को जाने वाला रूट चालू न होने के साथ अन्य मामलों में भी सीतामढ़ी उपेक्षित है। यहां दरभंगा से जनकपुर रोड, सीतामढ़ी, मजफ्फरपुर होते हुए राजधानी पटना के लिए इंटरसिटी एक्सप्रेस की सख्त आवश्यक्ता है। पवन एक्सप्रेस, बिहार संपर्कक्रांति आदि अन्य एक्सप्रेस ट्रेनों का सीतामढ़ी तक विस्तार दिए जाने से ही मां जानकी के भक्तों तथा क्षेत्रवीसियों का भला हो सकेगा।
अभियंता के डिमोशन से भी हो सकती है परियोजना में देरी
इस बीच पूर्व मध्य रेल के 22 अभियंताओं का हाईकोर्ट के आदेश पर डिमोशन कर दिया गया है। जानकारी के अनुसार रेलवे ने जिन अभियंताओं का डिमोशन किया है, उनमें रक्सौल-नरकटियागंज आमान परिवर्तन की कमान थामने वाले उप मुख्य अभियंता प्रभात रंजन सिंह भी शामिल हैं। इसको लेकर रंजन में आक्रोश है। वे कहते हैं कि रेलवे की इन्हीं नीतियों के कारण अधिकांश परियोजनाएं लटकी पड़ी हैं। इस बीच डीआरएम ने कहा कि उनका डिमोशन निर्माण कार्यों को लेकर नहीं हुआ। भले डीआरएम ऐसा कह रहे हैं मगर उप मुख्य अभियंता निर्माण प्रभात सिंह के इरादे उनके इस बयान से जाहिर होते हैं जिसमें वे कहते हैं कि अब जो लोग आ रहे हैं। वहीं लोग बताएंगे कि परिचालन कब शुरू होगा। जाहिर है कि रूट पर ट्रेन जब तक चलने न लगे तब तक रेल प्रशासन कितनी ही तिथियां निकाले उन्हें अंतिम मानना शायद सही नहीं होगा।
हवाई सेवा से जोडा जाए सीतामढ़ी को
इस बीच क्षेत्र के लोगों ने एकमत से मांग की है कि सीतामढ़ी को भी भारत और बिहार के मानचित्र में शामिल किया जाए। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने हाल ही में मिथिलांचल के दरभंगा और पुर्णिया में हवाई अड्डा बनाने की घोषणा की थी, मगर इसमें सीतामढ़ी का नाम शामिल नहीं है। जबकि देश-विदेश के जानकी भक्तों के लिए जानकी जन्मभूमि सीतामढ़ी पहुंचने में आसानी हो सके इसके लिए हवाई अड्डे की आवश्यकता यहां शिद्दत से महसूस की जा रही है। पूर्व मंत्री सुनील कुमार पिंटू, वरिष्ठ भाजपा नेता ध्रुव शाह, कार्तिकेश झा, सुधांशु झा आदि ने आलोक कुमार और अन्य लोगों द्वारा सीतामढ़ी में हवाई अड्डा बनाने संबंधी मांग का समर्थन किया है। इसमें जेडीयू के प्रदेश उपाध्यक्ष नवल राय, देवेन्दर शाह समेत राष्ट्रीय जनता दल के भी नेता शामिल हैं

4 posts - Thu Dec 28, 2017 - are hidden. Click to open.

5 posts - Fri Dec 29, 2017 - are hidden. Click to open.

1893 views
Jan 02 2018 (15:22)
Neeraj Thakur~   109 blog posts
Re# 2945897-10            Tags   Past Edits
lekin is rail line par train ko chalane ke liye rxl, to nke, ko bg line karna parega...
aur jis tarah se yaah kaam chal raha hai.... use dekh kar lagta hai... 2018 ke anth tak ji ho sakega...

1857 views
Jan 02 2018 (15:25)
Neeraj Thakur~   109 blog posts
Re# 2945897-11            Tags   Past Edits
yahan se BSK ko karne se ushki chal mein kami aane lagegi....

1798 views
Jan 02 2018 (16:51)
K   175 blog posts   928 correct pred (69% accurate)
Re# 2945897-12            Tags   Past Edits
Maira bhrosa hi uth gya ECR walo pr se...?

1787 views
Jan 02 2018 (16:54)
K   175 blog posts   928 correct pred (69% accurate)
Re# 2945897-13            Tags   Past Edits
BSK 👌 hai apne route pr....
Dec 27 2017 (05:31)  रक्सौल से अमलेखगंज तक बनेगा रेलवे ट्रैक (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 325416     
   Past Edits
Dec 27 2017 (05:31)
Station Tag: Raxaul Junction/RXL added by Railway Board Will Get New Coaching Director Soon^~/1421836
Stations:  Raxaul Junction/RXL  
 
 
जेएनएन/रक्सौल : डर्टी कागों नेपाल जाएगा। इसके लिए नेपाल के उद्योगपतियों व सरकार स्तर पर विस्तार पूर्वक बातचीत हुई है। नेपाल हमारा पड़ोसी देश है। उसके आíथक विकास के बगैर हंिदूुस्तान विकसित राष्ट्र नहीं बन सकता है। नेपाल के कल -कारखानों को ससमय कच्च पदार्थ और दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले समान का ट्रांसपोर्टंिग खर्च कम लगे इसके लिए प्रमुख व्यापारिक संगठन उद्योग वाणिज्य संघ और नेपाल सरकार से विचार-विमर्श हो रहा है। उद्योगपति अशोक वैद्य से बातचीत हुई है। नेपाल की नई सरकार गठन के बाद आधुनिक नेपाल का निर्माण में यह पहल व्यापार को मजबूती देगा। उक्त बातें पश्चिमी चंपारण के सांसद डॉ. संजय जायसवाल, कॉनकोर के सीएमडी जी कल्याण रामा, पूमरे के सीएमओ सलिल झा ने संयुक्तरूप से पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। बताया कि आनेवाले दिनों में रक्सौल आíथक राजधानी के रूप में विकसित होगा। इसके लिए रेलवे ट्रैक की दोहरीकरण, विद्युतीकरण की कार्य प्रगति...
more...
पर है। आने वाले जनवरी माह में रक्सौल-सुगौली, दोहरीकरण के लिए टेंडर कर दिया जाएगा। इस रेलखंड की दूरी सत्रह किलोमीटर है । सांसद डॉ. जायसवाल ने रक्सौल स्थित भारतीय दूतावास में प्रेस वार्ता के दौरान कही । साथ ही बताया कि मुजफ्फरपुर- नरकटियागंज रेलखंड पर विद्युतीकरण का कार्य शुरू है । एक साथ दोनों रेलखंड के दोहरीकरण के लिए टेंडर किया जाएगा । दोहरीकरण के लिए रक्सौल- सुगौली के बीच रेलवे के पास पर्याप्त भूमि उपलब्ध है । भूमि अधिग्रहण का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता । इस रेलखंड के दोहरीकरण होने के बाद रक्सौल- समस्तीपुर रेलखंड के दोहरीकरण व विद्युतीकरण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी । रक्सौल से अमलेखगंज तक रेलवे ट्रैक बनाने की योजना है। जिससे नेपाल में रेलमार्ग विकसित की सकें। इसके उपरांत रेल के अधिकारियों ने पसार जिला नेपाल के स्थानीय होटल में बैठक किया। जिसमें रेल मार्ग से आने वाले समान को सहज ढंग से लोडिंग-अनलोडिंग नेपाल में करने की बात पर चर्चा हुई। 1रक्सौल और रामगढ़वा में नहीं उतरेगा ¨क्लकर : अब रक्सौल और रामगढ़वा में ¨क्लकर की लोडिंग-अनलोडिंग नहीं होगी। कहा कि ¨क्लकर अब सीधे नेपाल भेजा जाएगा । इससे उड़ते धूलकण को लेकर रक्सौल व रामगढ़वा में लोगों द्वारा धरना-प्रदर्शन व आंदोलन किया गया । रेल मंत्री ने इसे गंभीरता से लेते हुए विदेश मंत्री से बातचीत कर इसे सीधे नेपाल भेजने का निर्णय लिया । इसके मद्देनजर बीते 22 दिसंबर से ही ¨क्लकर की बुकिंग रक्सौल के लिए बंद कर दी गई है। नेपाल आने की खबर सुनकर वहां के लोगों द्वारा धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया गया है । इसे सांसद ने कहा कि यह नेपाल का मामला है । नेपाल सरकार जानेअ। किसी भी परिस्थिति में रक्सौल- रामगढ़वा में ¨क्लकर नहीं उतरेगा। इसकी बुकिंग अब सीधे नेपाल के लिए होगी ।1पेट्रोलियम व गैस भी सीधे भेजा जाएगा नेपाल : पेट्रोलियम व गैस पदार्थो को भी अब सीधे नेपाल भेजा जाएगा । इस प्रक्रिया को तीन भागों में बांटा गया है । कहा कि प्रथम प्रक्रिया में उक्त पदार्थो को अभी नेपाल भेजा जा रहा है । नो- मेंस लैंड के पास पर्याप्त मात्र में भूमि उपलब्ध है । वहां नेपाल और भारत सरकार से वार्ता कर हैंडलिंग प्वाइंट बनाएं ताकि नेपाल जाने वाले पदार्थो को गंतव्य स्थान जाने से पूर्व जांच किया जा सके । छह माह के अंदर इस क्षेत्र को विकसित किया जाएगा । साथ ही तीसरी प्रकिया में पेट्रोलियम पदार्थो को सीधे अमलेखगंज नेपाल भेजा जाएगा ।जेएनएन/रक्सौल : डर्टी कागों नेपाल जाएगा। इसके लिए नेपाल के उद्योगपतियों व सरकार स्तर पर विस्तार पूर्वक बातचीत हुई है। नेपाल हमारा पड़ोसी देश है। उसके आíथक विकास के बगैर हंिदूुस्तान विकसित राष्ट्र नहीं बन सकता है। नेपाल के कल -कारखानों को ससमय कच्च पदार्थ और दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले समान का ट्रांसपोर्टंिग खर्च कम लगे इसके लिए प्रमुख व्यापारिक संगठन उद्योग वाणिज्य संघ और नेपाल सरकार से विचार-विमर्श हो रहा है। उद्योगपति अशोक वैद्य से बातचीत हुई है। नेपाल की नई सरकार गठन के बाद आधुनिक नेपाल का निर्माण में यह पहल व्यापार को मजबूती देगा। उक्त बातें पश्चिमी चंपारण के सांसद डॉ. संजय जायसवाल, कॉनकोर के सीएमडी जी कल्याण रामा, पूमरे के सीएमओ सलिल झा ने संयुक्तरूप से पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। बताया कि आनेवाले दिनों में रक्सौल आíथक राजधानी के रूप में विकसित होगा। इसके लिए रेलवे ट्रैक की दोहरीकरण, विद्युतीकरण की कार्य प्रगति पर है। आने वाले जनवरी माह में रक्सौल-सुगौली, दोहरीकरण के लिए टेंडर कर दिया जाएगा। इस रेलखंड की दूरी सत्रह किलोमीटर है । सांसद डॉ. जायसवाल ने रक्सौल स्थित भारतीय दूतावास में प्रेस वार्ता के दौरान कही । साथ ही बताया कि मुजफ्फरपुर- नरकटियागंज रेलखंड पर विद्युतीकरण का कार्य शुरू है । एक साथ दोनों रेलखंड के दोहरीकरण के लिए टेंडर किया जाएगा । दोहरीकरण के लिए रक्सौल- सुगौली के बीच रेलवे के पास पर्याप्त भूमि उपलब्ध है । भूमि अधिग्रहण का कोई सवाल ही पैदा नहीं होता । इस रेलखंड के दोहरीकरण होने के बाद रक्सौल- समस्तीपुर रेलखंड के दोहरीकरण व विद्युतीकरण की प्रक्रिया शुरू की जाएगी । रक्सौल से अमलेखगंज तक रेलवे ट्रैक बनाने की योजना है। जिससे नेपाल में रेलमार्ग विकसित की सकें। इसके उपरांत रेल के अधिकारियों ने पसार जिला नेपाल के स्थानीय होटल में बैठक किया। जिसमें रेल मार्ग से आने वाले समान को सहज ढंग से लोडिंग-अनलोडिंग नेपाल में करने की बात पर चर्चा हुई। 1रक्सौल और रामगढ़वा में नहीं उतरेगा ¨क्लकर : अब रक्सौल और रामगढ़वा में ¨क्लकर की लोडिंग-अनलोडिंग नहीं होगी। कहा कि ¨क्लकर अब सीधे नेपाल भेजा जाएगा । इससे उड़ते धूलकण को लेकर रक्सौल व रामगढ़वा में लोगों द्वारा धरना-प्रदर्शन व आंदोलन किया गया । रेल मंत्री ने इसे गंभीरता से लेते हुए विदेश मंत्री से बातचीत कर इसे सीधे नेपाल भेजने का निर्णय लिया । इसके मद्देनजर बीते 22 दिसंबर से ही ¨क्लकर की बुकिंग रक्सौल के लिए बंद कर दी गई है। नेपाल आने की खबर सुनकर वहां के लोगों द्वारा धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया गया है । इसे सांसद ने कहा कि यह नेपाल का मामला है । नेपाल सरकार जानेअ। किसी भी परिस्थिति में रक्सौल- रामगढ़वा में ¨क्लकर नहीं उतरेगा। इसकी बुकिंग अब सीधे नेपाल के लिए होगी ।1पेट्रोलियम व गैस भी सीधे भेजा जाएगा नेपाल : पेट्रोलियम व गैस पदार्थो को भी अब सीधे नेपाल भेजा जाएगा । इस प्रक्रिया को तीन भागों में बांटा गया है । कहा कि प्रथम प्रक्रिया में उक्त पदार्थो को अभी नेपाल भेजा जा रहा है । नो- मेंस लैंड के पास पर्याप्त मात्र में भूमि उपलब्ध है । वहां नेपाल और भारत सरकार से वार्ता कर हैंडलिंग प्वाइंट बनाएं ताकि नेपाल जाने वाले पदार्थो को गंतव्य स्थान जाने से पूर्व जांच किया जा सके । छह माह के अंदर इस क्षेत्र को विकसित किया जाएगा । साथ ही तीसरी प्रकिया में पेट्रोलियम पदार्थो को सीधे अमलेखगंज नेपाल भेजा जाएगा ।
Page#    Showing 1 to 20 of 151 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.