Full Site Search  
Fri Jan 19, 2018 05:09:43 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Large Station Board;

ROU/Rourkela Junction (5 PFs)
ରାଉରକେଲା ଜଙ୍କସନ     राउरकेला जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 5
Number of Halting Trains: 101
Number of Originating Trains: 8
Number of Terminating Trains: 8
Jn Pt TATA/JSG/HTE/BRMP ,Udit Nagar, Rourkela , Sundargarh-769012
State: Odisha
add/change address
Elevation: 198 m above sea level
Zone: SER/South Eastern
Division: Chakradharpur
 
 
No Recent News for ROU/Rourkela Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 4.2/5 (137 votes)
cleanliness - excellent (17)
porters/escalators - good (17)
food - good (17)
transportation - excellent (18)
lodging - good (17)
railfanning - good (17)
sightseeing - good (17)
safety - excellent (17)

Nearby Stations

PPO/Panposh 6 km     BNDM/Bondamunda 6 km     DMF/Dumerta 9 km     KLG/Kalunga 13 km     BZR/Bisra 14 km     KRMD/Kuarmunda 15 km     BGKA/Bangurkela 16 km     LTK/Lathikata 18 km     BUL/Bhalulata 20 km     KXN/Kanshbahal 20 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 103 News Items  next>>
Jan 17 2018 (22:20)  Odisha demands Rs 6,500 crore railway package for 2018-19 financial year (m.timesofindia.com)
back to top
IR AffairsECoR/East Coast  -  

News Entry# 327247     
   Past Edits
Jan 17 2018 (22:22)
Station Tag: Bolangir/BLGR added by Afraaz suhail 🚂🚄🚅^~/1124710

Jan 17 2018 (22:22)
Station Tag: Jajpur Keonjhar Road/JJKR added by Afraaz suhail 🚂🚄🚅^~/1124710

Jan 17 2018 (22:22)
Station Tag: Bhadrak/BHC added by Afraaz suhail 🚂🚄🚅^~/1124710

Jan 17 2018 (22:22)
Station Tag: Talcher/TLHR added by Afraaz suhail 🚂🚄🚅^~/1124710

Jan 17 2018 (22:22)
Station Tag: Sambalpur Junction/SBP added by Afraaz suhail 🚂🚄🚅^~/1124710

Jan 17 2018 (22:22)
Station Tag: Rourkela Junction/ROU added by Afraaz suhail 🚂🚄🚅^~/1124710

Jan 17 2018 (22:22)
Station Tag: Puri/PURI added by Afraaz suhail 🚂🚄🚅^~/1124710

Jan 17 2018 (22:22)
Station Tag: Bhubaneswar/BBS added by Afraaz suhail 🚂🚄🚅^~/1124710

Jan 17 2018 (22:22)
Station Tag: Cuttack Junction/CTC added by Afraaz suhail 🚂🚄🚅^~/1124710

Jan 17 2018 (22:22)
Station Tag: Rayagada/RGDA added by Afraaz suhail 🚂🚄🚅^~/1124710
 
 
BHUBANESWAR: The state government on Thursday sought a package of Rs 6,500 crore in the Union budget 2018-19 for growth of railway sector in Odisha.
In a letter to Union railways minister Piyush Goyal, chief minister Naveen Patnaik said the package includes detailed proposals for the ongoing projects, sanctioning of new lines, station modernization, introduction of new trains, extension of existing trains, improved passenger amenities at stations, on board services, establishment of rail based industries and multi modal logistics parks.
As large parts of Odisha have remained untouched by the railways, Naveen urged
...
more...
Goyal to sanction new railway lines which would traverse through unconnected and backward districts which are full of natural resources.
Berhampur-Phulbani-Sambalpur, Bargarh-Nuapada via Padampur, Bhadramchalam-Malkangiri, Talcher-Gopalpur, Gopalpur-Singapur Road new broad gauge line (via Padmapur, Ramanaguda, Bankili) and Lanjigarh-Talcher are the six new links the chief minister urged to sanction in the forthcoming budget.
"The new lines can bring prosperity along with connectivity to the needy areas. Apart from these, I have proposed to bear 50 per cent of construction and land cost for a line connecting Puri-Konark, the most important tourist section of the state and a popular international destination," Naveen noted adding the state government would extend all help to the railway ministry for expeditious implementation of railway projects in the state.
The chief minister also demanded four short links connecting industrial, mining areas and ports. These include Talcher- Angul (17 km), Paradip-Dhamra (80 km), Champua-Anandpur-Jajpur (138 km) and Barsuan-Banspal-Badbil (58 km).
Even as the railway ministry has decided to drop the proposed wagon manufacturing unit at Satalapali in Ganjam, Naveen urged to set up a coach manufacturing unit in that place for which the state government has already demarcated over 100 acres of land. Naveen also demanded a concrete sleeper plants at Kantabanji and Bandamunda and railway asset maintenance units in Koraput-Balangir-Kalahandi districts.
The chief minister also urged to initiate the East Coast dedicated freight corridor from Kharagpur to Viajaywada and East-West dedicated freight corridor from Jharsuguda to Bilaspur to ensure seamless movement of freight between the upcoming ports at Kirtania, Chudamani, Dhamra, Astarang and Gopalpur.
"Though both these freight corridors have been announced in the railway budget of 2016-17, no further action has been initiated," Naveen added.
Expressing concern over slow pace of implementation despite the state government has partnered with the railway minister, Naveen urged the railway minister to expedite some of the long pending projects including Khurda Road-Balangir, Talcher-Bimalagarh, Jeypore-Nabarangapur and Jeypore-Malkangiri.
Earlier, Odisha government has agreed to bear 50 per cent of the construction cost of Jeypore-Nabarangapur and 25 per cent of the construction and land cost of Jeypore-Malkangiri lines. It also announced to allocate all land in the Daspalla-Balangir stretch of Khurda-Balangir link free of cost and to share 50 per cent of construction cost.
A new train after noted freedom fighter Buxi Jagabadnhu, mass rapid transit system for Cuttack-Bhubaneswar, new train from Puri to Mumbai via Sambalpur, modernization of major stations and Titlagarh and new divisional headquarters at Rayagada, Jajpur-Keonjhar road and Rourkela are among other wish list.
Of the Rs 5100 crore sanctioned by the railway ministry for Odisha in 2017-18 annual budget, the railway authorities have so far spent around Rs 3100 crore
Jan 17 2018 (07:57)  अभी डाउन है राउरकेला-कोरापुट एक्सप्रेस का सिग्नल (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsSER/South Eastern  -  

News Entry# 327176     
   Past Edits
Jan 17 2018 (07:57)
Station Tag: Rourkela Junction/ROU added by PADMAN And PADMAAVAT On January 25^~/1421836
Stations:  Rourkela Junction/ROU  
 
 
विडंबना
टिटिलागढ़ में भारी बारिश से रेलवे पुल टूटने के बाद से बंद है ट्रेन का परिचालन, बार-बार आग्रह के बावजूद नाउम्मीदी
चार साल से बंद पड़े शहर के दो ट्रैफिक सिग्नल
Click here to enlarge image
जागरण
...
more...
संवाददाता, राउरकेला : राउरकेला को रेलवे डिवीजन बनाने की मांग हो या फिर राउरकेला से देश के प्रमुख शहरों तक सीधी ट्रेन सेवा की मांग। हर मामले में रेलवे अब तक राउरकेला की उपेक्षा ही करता रहा है। इसका उदाहरण है राउरकेला-कोरापुट एक्सप्रेस। टिटिलागढ़ रेल डिवीजन में गत दिनों हुई बारिश में रेल पुल टूटने के बाद से यह ट्रेन बंद हो गई थी। अब कोरापुट के लिए अन्य स्थानों से ट्रेन सेवा स्वाभाविक हो चुकी है, जबकि राउरकेला-कोरापुट एक्सप्रेस का सिग्नल अब तक डाउन ही है। 1शहरवासियों की लंबे समय की मांग के बाद राउरकेला से कोरापुट के लिए इस ट्रेन की शुरुआत हुई। यहां के लोगों को पश्चिम ओडिशा में विभिन्न स्थानों को जाने के लिए संलेश्वरी एक्सप्रेस के बाद एक और ट्रेन की सौगात मिली थी।1 खासकर यहां से काशीपुर, लुचेइपोदार, कुकुरीगुमा, कोरापुट, नालको दामनजोड़ी, एचएएल सुनाबेड़ा, ¨हडाल्को कोरापुट आदि स्थानों की यात्र सुविधाजनक हुई थी। लेकिन टिटिलागढ़ रेल डिवीजन के विषमकटक व मुनीगुडा रेलवे स्टेशन के बीच एक पुल टूट जाने से राउरकेला-कोरापुट एक्सप्रेस को बंद कर दिया गया। अब संबलपुर से कोरापुट तक ट्रेन चलने के बाद भी राउरकेला-कोरापुट एक्सप्रेस का अब तक चालू न होना सवालों के घेरे में है। इसे पुन: चालू करने की मांग को लेकर राजनीतिक दल समेत विभिन्न संगठन भी रेल अधिकारियों का ध्यान आकर्षित करा चुका है, लेकिन इसका नतीजा सिफर ही रहा। लोगों के मुताबिक, रेल प्रशासन यात्री सुविधाओं की व्यवस्था करने की बात तो करता है लेकिन वास्तविकता इससे इतर है। यात्रियों को घोषित सुविधाएं नहीं मिल रही हैं।जागरण संवाददाता, राउरकेला : स्मार्ट सिटी का सपना देख रही इस्पात नगरी राउरकेला में यातायात नियंत्रण के लिए कई दशक पूर्व रिंगरोड पर सेक्टर-21 के हिल क्रांसिंग के पास ट्रैफिक सिग्नल बनाया गया था। जिसे ट्रैफिक टावर के नाम से भी जाना जाता है। 1 तब से यह सिग्नल नियमित रूप से काम कर रहा है। लेकिन इसके बाद रिंगरोड के दुर्घटना प्रवण चौक के रूप में परिचित 7-17 चौक तथा छेंड चौक पर भी कुछ वर्ष पूर्व यातायात नियंत्रण के लिए ट्रैफिक सिग्नल लगाया गया। लेकिन इन दोनों ही स्थानों का ट्रैफिक सिग्नल विगत चार वर्ष से बंद ही पड़ा है। जिससे यहां पर कभी भी दुर्घटना की आशंका बनी रहती है। 1दोनों ही चौक पर जरूरी है ट्रैफिक सिग्नल : रिंगरोड के 7-17 चौक समेत छेंड कॉलोनी चौक पर ट्रैफिक सिग्नल जरूरी है। 1 इन दोनों ही चौक से विभिन्न स्थानों के लिए जाने का रास्ता होने से यहां जरा सी भी असावधानी वाहन चालकों पर भारी पड़ सकती है। 7-17 चौक से होकर सभी दिशाओं की ओर जाने का रास्ता है। उसी प्रकार छेंड चौक भी छेंड कॉलोनी, रिंगरोड से बासंती कॉलोनी डीएवी चौक जाने तथा बासंती कॉलोनी डीएवी चौक से होकर छेंड कालोनी समेत रिंगरोड से होकर सेक्टर जाने का रास्ता है। जिससे यहां बड़ी संख्या में वाहनों की आवाजाही होने से इन दोनों स्थानों पर ट्रैफिक सिग्नल बहुत जरुरी है।1 इसी बात को ध्यान में रखकर दोनों ही चौक पर ट्रैफिक सिग्नल लगाया गया था। लेकिन शुरू होने के बाद यह कभी चालू तो कभी बंद हो जाता है। वैसे यह गत चार वर्ष से बंद पड़ा है।1राउरकेला रेलवे स्टेशन।’>> इस्पात नगर राउरकेला में तीन ट्रैफिक सिग्नल पर एक ही कारगर 1’चार वर्ष से रिंगरोड के 7-17 चौक व छेंड चौक का सिग्नल बंदइन दोनों ट्रैफिक सिग्नलों की देखरेख का काम आरएसपी प्रबंधन का है। इनके चालू होने या बंद होने में यातायात विभाग की कोई भूमिका नहीं है। सिग्नल न चलने से यहां यातायात नियंत्रण को ट्रैफिक पुलिस कर्मचारी भी तैनात रहते हैं। 1आर पाढ़ी, ट्रैफिक इंस्पेक्टर, राउरकेला।रिंगरोड चौक में बंद पड़ा ट्रैफिक सिग्नल।यह ट्रेन अब तक शुरू नहीं हो पाई है। इस पर फैसला रेलवे बोर्ड की ओर से होना है। स्थानीय स्तर पर इसमें करने के लिए फिलहाल कुछ नहीं है। 1एके मिश्र, स्टेशन प्रबंधक, राउरकेला।
Jan 16 2018 (09:52)  Railway neglect of Sundargarh of Odisha decried (www.newindianexpress.com)
back to top
IR AffairsSER/South Eastern  -  

News Entry# 327080     
   Past Edits
Jan 16 2018 (09:52)
Station Tag: Talcher/TLHR added by karbang~/50057

Jan 16 2018 (09:52)
Station Tag: Rourkela Junction/ROU added by karbang~/50057

Jan 16 2018 (09:52)
Train Tag: Barbil - Puri Express/18415 added by karbang~/50057

Jan 16 2018 (09:52)
Train Tag: Puri - Barbil Express/18416 added by karbang~/50057

Jan 16 2018 (09:52)
Train Tag: Maurya Express/15028 added by karbang~/50057

Jan 16 2018 (09:52)
Train Tag: Maurya Express/15027 added by karbang~/50057

Jan 16 2018 (09:52)
Train Tag: New Delhi - Ranchi Garib Rath Express/12878 added by karbang~/50057

Jan 16 2018 (09:52)
Train Tag: Ranchi - New Delhi Garib Rath Express/12877 added by karbang~/50057
Posted by: karbang~  419 news posts
 
 
Ahead of Railway Budget, the Centre’s neglect of Sundargarh district in train services and railway infrastructure has been raised in several quarters.According to sources, despite being a major revenue generator for the South Eastern Railway (SER), the district is deprived of several key projects.
The Railways has been moving ahead with selective projects through Rourkela on the busy Howrah-Mumbai route ignoring key railway development proposals promising economic growth of the region.
According to general secretary of Railway Users’ Association (RUA) AC Baral, Sundargarh, Keonjhar and Jharsuguda districts contribute nearly 70 per cent of
...
more...
revenue earned from Chakradharpur division and about 40 per cent of SER. Sundargarh district’s share is apparently the largest among the three districts.
The sources said after establishment of Rourkela Steel Plant (RSP), it was provisioned to create a railway division at Rourkela. In 1962, the then Chief Minister Biju Patnaik proposed to set up a wagon factory, where steel sheets and plates of RSP would be used. More than 4,000 acres at Bondamunda were given to SER for both the projects.
“Railways has crossed all limits in recent years. Bondamunda houses country’s second largest marshalling yard and the second electric loco shed is also coming up there. But the Centre has ignored other important projects like creation of a Railway Division at Rourkela and setting up the wagon factory. Train passengers are denied of better amenities. Also, the upgradation of the Railway Hospital at Bondamunda is pending,” Sundargarh district working president of BJD and former minister Sarada Prasad Nayak said.
Amid such allegations, the State continues to lack adequate train services.
Fate of Koraput-Rourkela Inter-City Express hangs in balance after being cancelled in July last year. Commuters have been demanding introduction of a new train between Rourkela and Paradip through the congestion-free Chakradharpur-Keonjhar-Jajpur route, besides second Rourkela-Bhubaneswar Inter-City Express and extension of the Puri-Barbil Express till Rourkela. The Centre had earlier rejected the demands for extension of Gorakhpur-Hatia Maurya Express and Ranchi-Delhi Garib Rath Express till Rourkela.
Meanwhile, Union Tribal Affairs Minister Jual Oram refuted the allegations and said the Railways had been apprised of the demand for new Railway Division at Rourkela. Besides, adequate thrust has been given to development of the railway in Sundargarh, he added.
“The laying of third track and implementation of the proposed Dedicated Freight Corridor through Rourkela will immensely benefit Sundargarh. In the last 42 months, about `682 crore has been allotted for Bimlagarh-Talcher railway line project,” the Minister said.
Dec 29 2017 (07:32)  60 से 30 रुपये पर आया रेलवे फिर भी नहीं बनी बात (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsSER/South Eastern  -  

News Entry# 325604     
   Past Edits
Dec 29 2017 (07:33)
Station Tag: Rourkela Junction/ROU added by 2 Days Left For New Year 2018😊^~/1421836
Stations:  Rourkela Junction/ROU  
 
 
पार्किग शुल्क मामला
राउरकेला : रेलवे स्टेशन के दोनों प्रवेश द्वार के निकट ऑटो पार्किंग करने पर शुल्क वसूलने का टेंडर जारी होने के बाद नाराज ऑटो चालकों के साथ रेलवे व ठेकेदार की गुरुवार को दूसरे दिन की वार्ता भी विफल रही। ऑटो चालक 24 घंटे के लिए मात्र 10 रुपये शुल्क देने पर राजी थे जबकि संबंधित ठेकेदार ने न्यूनतम 30 रुपये शुल्क का प्रस्ताव रखा था। लेकिन रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में हुई बैठक में ऑटो चालकों 10 रुपये से अधिक पार्किंग शुल्क देने पर राजी नहीं हुए। फलस्वरूप दूसरे दिन की वार्ता भी बेनतीजा रही। ठेकेदार का कहना था कि 30 रुपये प्रति 24 घंटे से कम शुल्क पर उनका नुकसान होगा। जबकि ऑटो चालकों का
...
more...
कहना था कि उनकी कमाई इतनी नहीं होती कि वे रोजाना 30 रुपये पार्किंग शुल्क दे सकें।1राउरकेला स्टेशन के मैनेजर कार्यालय परिसर में हुई बैठक में रेलवे की ओर से राउरकेला स्टेशन मैनेजर एके मिश्र, चीफ कामर्शियल इंस्पेक्टर राकेश कुमार राय, डिप्टी एसएस कामर्शियल एसके पालित, आरपीएफ ओसी गणोश पांडे, जीआरपी प्रभारी जेम्स सामद समेत ठेकेदार नारायण महतो मौजूद थे।1बैठक में ऑटो चालकों ने रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों व ठेकेदार से टेंडर से संबंधित दस्तावेज की मांग की लेकिन अधिकारियों व ठेकेदार ने उक्त दस्तावेज की कापी देने से यह कहते हुए इन्कार कर दिया कि यह सरकारी दस्तावेज है, जिन्हें देखना है वे वहीं देखें और समङों। कॉपी ले जाने की अनुमति नहीं दी जा सकती। दोनों पक्षों में आम सहमति नहीं बन पाने पर चालक बैठक से उठकर चले गए। 1राउरकेला : रेलवे स्टेशन के दोनों प्रवेश द्वार के निकट ऑटो पार्किंग करने पर शुल्क वसूलने का टेंडर जारी होने के बाद नाराज ऑटो चालकों के साथ रेलवे व ठेकेदार की गुरुवार को दूसरे दिन की वार्ता भी विफल रही। ऑटो चालक 24 घंटे के लिए मात्र 10 रुपये शुल्क देने पर राजी थे जबकि संबंधित ठेकेदार ने न्यूनतम 30 रुपये शुल्क का प्रस्ताव रखा था। लेकिन रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में हुई बैठक में ऑटो चालकों 10 रुपये से अधिक पार्किंग शुल्क देने पर राजी नहीं हुए। फलस्वरूप दूसरे दिन की वार्ता भी बेनतीजा रही। ठेकेदार का कहना था कि 30 रुपये प्रति 24 घंटे से कम शुल्क पर उनका नुकसान होगा। जबकि ऑटो चालकों का कहना था कि उनकी कमाई इतनी नहीं होती कि वे रोजाना 30 रुपये पार्किंग शुल्क दे सकें।1राउरकेला स्टेशन के मैनेजर कार्यालय परिसर में हुई बैठक में रेलवे की ओर से राउरकेला स्टेशन मैनेजर एके मिश्र, चीफ कामर्शियल इंस्पेक्टर राकेश कुमार राय, डिप्टी एसएस कामर्शियल एसके पालित, आरपीएफ ओसी गणोश पांडे, जीआरपी प्रभारी जेम्स सामद समेत ठेकेदार नारायण महतो मौजूद थे।1बैठक में ऑटो चालकों ने रेलवे के वरिष्ठ अधिकारियों व ठेकेदार से टेंडर से संबंधित दस्तावेज की मांग की लेकिन अधिकारियों व ठेकेदार ने उक्त दस्तावेज की कापी देने से यह कहते हुए इन्कार कर दिया कि यह सरकारी दस्तावेज है, जिन्हें देखना है वे वहीं देखें और समङों। कॉपी ले जाने की अनुमति नहीं दी जा सकती। दोनों पक्षों में आम सहमति नहीं बन पाने पर चालक बैठक से उठकर चले गए। 1पहले पार्किंग फ्री थी तब अलग बात थी। अब टेंडर के जरिए ठेकेदार को शुल्क वसूली का अधिकार मिल गया है। ऑटो चालकों व ठेकेदार के बीच पैदा हुए गतिरोध के समाधान का प्रयास किया जा रहा है, लेकिन अब तक सहमति नहीं बन पाई है।1राकेश कुमार राय, चीफ कॉमर्शियल इंस्पेक्टर, रेलवे स्टेशन, राउरकेला
Dec 28 2017 (11:15)  ऑटो चालकों ने रेलवे से मांगी रियायत (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsSER/South Eastern  -  

News Entry# 325530     
   Past Edits
Dec 28 2017 (11:15)
Station Tag: Rourkela Junction/ROU added by Railway Board Will Get New Coaching Director Soon^~/1421836
Stations:  Rourkela Junction/ROU  
 
 
स्टेशन में ऑटो पार्किंग में 60 रुपये के बजाय दस रुपये शुल्क रखने का अनुरोध
जागरण संवाददाता, राउरकेला : दक्षिण-पूर्व रेलवे के चक्रधरपुर रेल मंडल के अंतर्गत राउरकेला स्टेशन के दोनों प्रवेश द्वार पर ऑटो रिक्शा खड़ी करने पर अब चालकों को किराया देना पड़ेगा। रेलवे ने स्टेशन परिसर में पार्किंग शुल्क वसूलने के लिए ऑक्सन कर दिया गया है। इसके तहत ऑटो चालकों को गाड़ी यहां खड़ी करने के लिए प्रति छह घंटे के लिए 15 रुपये तथा पूरे दिन के लिए 60 रुपये देने पड़ेंगे। इसे लेकर ऑटो चालकों ने बुधवार को बैठक कर रेल प्रशासन से रियायत मांगी है लेकिन सहमति नहीं बन सकी। इस पर अंतिम फैसला गुरुवार को होगा। 1रेलवे की ओर से स्टेशन के दोनों ओर
...
more...
टू-व्हीलर, थ्री-व्हीलर व 4 व्हीलर की पार्किंग के लिए शुल्क वसूलने को लेकर ऑक्सन किया गया है। इसमें स्टेशन परिसर में खड़ी ऑटोरिक्शा से भी शुल्क वसूला जाएगा। इसकी जानकारी ऑटो चालकों को दी गई थी। इस पर चालकों ने 15 दिन का समय मांगा था। यह समय पूरा होने के बाद रेलवे की ओर से चालकों को पार्किंग शुल्क देने को कहा गया था। इसमें ऑटो चालकों ने रियायत मांगी थी। इसे लेकर बुधवार की सुबह स्टेशन में सहायक स्टेशन मैनेजर एके मिश्र, जीआरपी के आइआइसी जेम्स सामद, आरपीएफ के ओआइसी गणोश पांडे, चीफ कमर्शियल इंस्पेक्टर राकेश कुमार राय, डिप्टी स्टेशन अधीक्षक (कमर्शियल) कमलेश गागराई, एसके पालित, ठेकेदार नारायण महतो तथा स्टेशन के ऑटोरिक्शा चालकों की उपस्थिति में बैठक हुई। इसमें चालकों की ओर से 24 घंटे के लिए 60 रुपये के बजाय 10 रुपये प्रतिदिन करने का आग्रह करते हुए रियायत मांगी गई। इस पर रेलवे ने 40 रुपये प्रतिदिन करने का परामर्श दिया है, लेकिन इस पर सहमति नहीं बन पाई। इसके अलावा ऑटोरिक्शा चालकों ने स्टेशन में पुराने 110 ऑटो के अलावा बाद में आए अन्य 200 ऑटोरिक्शा को हटाने, बाहर से सवारी लेकर आने वाले ऑटो चालकों को यहां छोड़ने के बाद स्टेशन से यात्री न उठाने देने की मांग भी रखी। इस पर रेलवे अधिकारियों ने भरोसा दिलाया कि वे उनकी रोजी-रोटी के लिए बीच का रास्ता निकालने का प्रयास कर रहे हैं। इसमें पार्किंग शुल्क वसूलने के मामले का समाधान होने के बाद उनकी अन्य मांगों पर भी ध्यान दिया जाएगा। 1वहीं पार्किंग शुल्क के मुद्दे को लेकर ऑटोरिक्शा चालकों को गुरुवार को दोपहर के 12 बजे तक का समय दिया गया है, जिसके बाद इस पर अंतिम फैसला लिया जाएगा। इस बैठक में ऑटोरिक्शा चालकों की ओर से भास्कर पंडा, रामासिंह यादव, मो. कर, हलधर यादव, मो. शाहजहां, विनोद सिंह शामिल थे।जागरण संवाददाता, राउरकेला : दक्षिण-पूर्व रेलवे के चक्रधरपुर रेल मंडल के अंतर्गत राउरकेला स्टेशन के दोनों प्रवेश द्वार पर ऑटो रिक्शा खड़ी करने पर अब चालकों को किराया देना पड़ेगा। रेलवे ने स्टेशन परिसर में पार्किंग शुल्क वसूलने के लिए ऑक्सन कर दिया गया है। इसके तहत ऑटो चालकों को गाड़ी यहां खड़ी करने के लिए प्रति छह घंटे के लिए 15 रुपये तथा पूरे दिन के लिए 60 रुपये देने पड़ेंगे। इसे लेकर ऑटो चालकों ने बुधवार को बैठक कर रेल प्रशासन से रियायत मांगी है लेकिन सहमति नहीं बन सकी। इस पर अंतिम फैसला गुरुवार को होगा। 1रेलवे की ओर से स्टेशन के दोनों ओर टू-व्हीलर, थ्री-व्हीलर व 4 व्हीलर की पार्किंग के लिए शुल्क वसूलने को लेकर ऑक्सन किया गया है। इसमें स्टेशन परिसर में खड़ी ऑटोरिक्शा से भी शुल्क वसूला जाएगा। इसकी जानकारी ऑटो चालकों को दी गई थी। इस पर चालकों ने 15 दिन का समय मांगा था। यह समय पूरा होने के बाद रेलवे की ओर से चालकों को पार्किंग शुल्क देने को कहा गया था। इसमें ऑटो चालकों ने रियायत मांगी थी। इसे लेकर बुधवार की सुबह स्टेशन में सहायक स्टेशन मैनेजर एके मिश्र, जीआरपी के आइआइसी जेम्स सामद, आरपीएफ के ओआइसी गणोश पांडे, चीफ कमर्शियल इंस्पेक्टर राकेश कुमार राय, डिप्टी स्टेशन अधीक्षक (कमर्शियल) कमलेश गागराई, एसके पालित, ठेकेदार नारायण महतो तथा स्टेशन के ऑटोरिक्शा चालकों की उपस्थिति में बैठक हुई। इसमें चालकों की ओर से 24 घंटे के लिए 60 रुपये के बजाय 10 रुपये प्रतिदिन करने का आग्रह करते हुए रियायत मांगी गई। इस पर रेलवे ने 40 रुपये प्रतिदिन करने का परामर्श दिया है, लेकिन इस पर सहमति नहीं बन पाई। इसके अलावा ऑटोरिक्शा चालकों ने स्टेशन में पुराने 110 ऑटो के अलावा बाद में आए अन्य 200 ऑटोरिक्शा को हटाने, बाहर से सवारी लेकर आने वाले ऑटो चालकों को यहां छोड़ने के बाद स्टेशन से यात्री न उठाने देने की मांग भी रखी। इस पर रेलवे अधिकारियों ने भरोसा दिलाया कि वे उनकी रोजी-रोटी के लिए बीच का रास्ता निकालने का प्रयास कर रहे हैं। इसमें पार्किंग शुल्क वसूलने के मामले का समाधान होने के बाद उनकी अन्य मांगों पर भी ध्यान दिया जाएगा। 1वहीं पार्किंग शुल्क के मुद्दे को लेकर ऑटोरिक्शा चालकों को गुरुवार को दोपहर के 12 बजे तक का समय दिया गया है, जिसके बाद इस पर अंतिम फैसला लिया जाएगा। इस बैठक में ऑटोरिक्शा चालकों की ओर से भास्कर पंडा, रामासिंह यादव, मो. कर, हलधर यादव, मो. शाहजहां, विनोद सिंह शामिल थे।
Page#    Showing 1 to 20 of 103 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.