Full Site Search  
Tue Jan 23, 2018 21:37:35 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Medium; Platform Pic; Large Station Board;


SHC/Saharsa Junction (3 PFs)
سہرسا جنکشن     सहरसा जंक्शन

Track: Construction - Single-Line Electrification

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 4
Number of Originating Trains: 23
Number of Terminating Trains: 23
Sabzi Mandi Road,Near Chandani Chowk,Saharsa, JOINT POINT OF TB, DMH,MNE
State: Bihar
add/change address
Elevation: 47 m above sea level
Zone: ECR/East Central
Division: Samastipur
 
 
1 Travel Tips
No Recent News for SHC/Saharsa Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 3.4/5 (83 votes)
cleanliness - good (11)
porters/escalators - good (11)
food - average (11)
transportation - good (10)
lodging - good (10)
railfanning - good (11)
sightseeing - average (9)
safety - good (10)

Nearby Stations

SHKY/Saharsa Kacheri Halt 2 km     KKNH/Karukhirharnagar Halt 4 km     PMYA/Parminiya Halt 5 km     SBM/Sonbarsa Kacheri 8 km     NDLH/Nandlalee Halt 8 km     BYP/Baijnathpur 8 km     PGC/Panchgachia 11 km     BRHD/Baba Raghuni Halt Dwarika 12 km     GEB/Garh Baruari 16 km     MEE/Methai 16 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 333 News Items  next>>
Jan 19 2018 (13:01)  बिहारीगंज कुरसेला रेल लाइन फंसा भूमि अधिग्रहण का पेच (www.jagran.com)
back to top
Other NewsECR/East Central  -  

News Entry# 327372     
   Past Edits
Jan 19 2018 (13:01)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 19 2018 (13:01)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 19 2018 (13:01)
Station Tag: Kursela/KUE added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 19 2018 (13:01)
Station Tag: Bihariganj/BHGJ added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 19 2018 (13:01)
Station Tag: Dauram Madhepura/DMH added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 19 2018 (13:01)
Station Tag: Samastipur Junction/SPJ added by Neeraj Thakur~/1683616
 
 
मधेपुरा। बिहारीगंज कुरसेला रेल लाइन भूमि अधिग्रहण नहीं हो पाने के कारण शुरू नहीं हो पाया है। इस परियोजना की स्वीकृति रेल मंत्रालय से वर्ष 2008-09 के बजट सत्र में दिया गया था। जानकारी के अनुसार रेल मंत्रालय से बिहारीगंज- रूपौली-कुरसेला के अलावे कोसी और सीमांचल के विकास के लिए कई रेल परियोजना का प्रस्ताव पारित किये थे। जिसमें बिहारीगंज-कुरसेला नई रेल लाइन को भी स्वीकृत किया गया था। इस परियोजना के अनुमानित लागत 192.56 करोड़ रुपये भी वर्ष 2008-09 स्वीकृत किए गए थे। इस रेल खंड की लंबाई करीब 57.35 किलोमीटर बताई जा रही है। इस रेल खंड के निर्माण को लेकर बिहारीगंज से कुरसेला तक के लिए प्रस्तावित रूप रेखा भी तैयार कसर ली गई थी। प्रस्तावित रूप रेखा के अनुसार 74 पुलों और 48 रेल सामापार फाटकों निर्माण होना था। यह रेलवे लाइन बिहारीगंज से धमदाहा, माधोपुर, सिरसा, कसमराह, दुर्गापुर, रूपौली, धूसर टीकापट्टी होकर कुरसेला तक पहुंचती ।...
more...

Advertisement Advertisement Advertisement
स्टेशन मास्टर्स एसोसिएशन का महासम्मेलन हावड़ा में छह को
यह भी पढ़ें
-----------------
सात फरवरी 2009 को हुआ था शिलान्यास : बिहारीगंज से कुरसेला के लिए रेल लाइन को स्वीकृति मिलने के बाद सात फरवरी 2009 को तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने पूर्णिया जिले के रूपौली में इस परियोजना का शिलान्यास किया था। शिलान्यास होने के बाद इस इलाके के लोगों में विकास के आशा की किरण जगी थी। लेकिन भूमि अधिग्रहण में आ रहे पेंच के कारण यह परियोजना शिलान्यास के 9 वर्ष बाद भी अटका हुआ।
-------------------
रेलवे विद्युतीकरण कार्य में लगे कर्मियों को दी गई तकनीकी जानकारी
यह भी पढ़ें
भूमि अधिग्रहण के पेंच लटका निर्माण कार्य : समस्तीपुर रेल मंडल कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार भू-अर्जन कार्य में आ रही अड़चन के कारण नई रेल लाइन निर्माण अधर मे लटका है। इस बहुप्रतीक्षित परियोजना के लिए रेलवे ने वर्ष 2016-17 में 200 करोड़ की राशि मंजूरी दी थी। जिस कारण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कार्यकाल में बिहारीगंज-कुरसेला नई रेल लाइन चालू होने की लोगों में उम्मीद जगी है।
--------------------
ललित बाबू का सपना था यह परियोजना : बिहारीगंज-कुरसेला रेलवे परियोजना तत्कालीन रेल मंत्री ललित नारायण मिश्र सपना था। कोसी के इस इलाके में वह रेलवे लाइन का जाल बिछाने की रूप रेखा तैयार कर चुके थे। बीतें वर्ष 03 जनवरी 1975 में समस्तीपुर में मृत्यु होने के बाद उक्त रेल परियोजना की फाइल अधर में लटकी हुई थी।
------------------
बिहारीगंज-कुरसेला के बीच बड़ी रेल लाइन के निर्माण की स्वीकृति रेलवे बोर्ड से मिल गई है। भूमि अधिग्रहण में कई तरह की अड़चन सामने आने के कारण कार्य प्रारंभ नहीं हो पाया है। प्रारंभिक चरण में तीन रेलवे स्टेशन और चार हॉल्ट बनाये जाने की परियोजना तैयार है। भूमि अधिग्रहण के बाद रेलवे बोर्ड से राशि मिलने पर प्रारंभिक कार्य कराया जायेगा।
अमित कुमार, उप मुख्य अभियंता (निर्माण)
पूर्व मध्य रेलवे, समस्तीपुर
-------------------
कोसी और सीमांचल में रेलवे के विकास के लिए प्रयासरत हूं। बिहारीगंज- कुरसेला प्रस्तावित नई रेल लाइन निर्माण में तेजी लाने के लिए कई बार रेलमंत्री से मिल चुका हूं। सांसद सत्र के दौरान इस परियोजना को जल्द चालू कराये जाने का मुद्दा उठाया गया है। लेकिन बिहार सरकार के द्वारा भूमि अधिग्रहण नहीं कराये जाने की वजह से परियोजना चालू नहीं हो पा रहा है।
राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव,
सांसद सह अध्यक्ष, रेल यात्री परामर्शदात्री समिति
(पूर्व मध्य रेल) समस्तीपुर
Jan 18 2018 (14:40)  आमान परिवर्तन में विलंब से ठहरा है कोसी-मिथिला का मिलन (www.jagran.com)
back to top
Rail BudgetECR/East Central  -  

News Entry# 327299     
   Past Edits
Jan 18 2018 (14:40)
Station Tag: Madhubani/MBI added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 18 2018 (14:40)
Station Tag: Forbesganj Junction/FBG added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 18 2018 (14:40)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 18 2018 (14:40)
Station Tag: Laukaha Bazar/LKQ added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 18 2018 (14:40)
Station Tag: Nirmali/NMA added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 18 2018 (14:40)
Station Tag: Samastipur Junction/SPJ added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 18 2018 (14:40)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 18 2018 (14:40)
Station Tag: Sakri Junction/SKI added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 18 2018 (14:40)
Station Tag: Jhanjharpur Junction/JJP added by Neeraj Thakur~/1683616
 
 
सहरसा। करीब 13 साल पहले कोसी व मिथिला को रेल से जोड़ने की पहल हुई थी। इस हेतु कोसी नदी पर 499 करोड़ की लागत से रेल पुल भी बना दिया गया। परंतु आमान परिवर्तन में विलंब के कारण रेल मार्ग से दोनों इलाका नहीं जुड़ पाया है।
कहां अटका है रोड़ा
सकरी-लौकहाबाजार-निर्मली व सहरसा-फारबिसगंज के आमान परिवर्तन का कार्य काफी सुस्त गति से चल रहा है। 355 करोड़ रुपये की लागत से 206 किमी रेल पथ का अमान परिवर्तन किया जाना था। परंतु अबतक आधा कार्य भी पूरे नहीं हो पाया है।
...
more...
जबकि कोसी नदी पर पुल का कार्य समाप्त हो चुका है। रेल अधिकारियों की मानें तो पुल के दोनों ओर अमान परिवर्तन कार्य के बाद ही पुल पर परिचालन चालू हो पाएगा। इस वर्ष भी यह सपना पूरा नहीं हो पाया।
सहरसा-फारबिसंगज रेलखंड में अमान परिवर्तन का कार्य करीब 10 वर्षों से हो रहा है। परंतु इस वित्तीय वर्ष में भी सहरसा से गढ़बरूआरी तक ही कार्य हो पाएगा। सकरी-लौकहाबाजार-निर्मली रेलखंड में सकरी से झंझारपुर तक ही वर्तमान वित्तीय वर्ष में कार्य लक्षित है। जबकि सहरसा-फारबिसगंज के अमान परिवर्तन कार्य को जल्द पूरा करने की कोशिश की जा रही है।
कोट
कोसी नदी पर पुल बनकर तैयार हो गया है। अमान परिवर्तन का कार्य चल रहा है। इस वित्तीय वर्ष में लक्षित कार्य को पूरा किया जाएगा। जबकि शेष बचे कार्य को भी जल्द पूरा करा लिया जाएगा।
-आरके जैन, डीआरएम, समस्तीपुर रेल मंडल
Jan 17 2018 (14:38)  अगले साल से सरायगढ-निर्मली के बीच दौड़ेगी ट्रेन (www.jagran.com)
back to top
Rail BudgetECR/East Central  -  

News Entry# 327191     
   Past Edits
Jan 17 2018 (14:38)
Station Tag: Madhubani/MBI added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (14:38)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (14:38)
Station Tag: Darbhanga Junction/DBG added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (14:38)
Station Tag: Saraygarh/SRGR added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (14:38)
Station Tag: Nirmali/NMA added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (14:38)
Station Tag: Sakri Junction/SKI added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 17 2018 (14:38)
Station Tag: Jhanjharpur Junction/JJP added by Neeraj Thakur~/1683616
 
 
सहरसा। कोसी क्षेत्र में सबसे बडी रेल परियोजना कोसी रेल महासेतु का निर्माण कार्य चल रहा है। सरायगढ़-भपटियाही- निर्मली के बीच रेल निर्माण कार्य प्रगति पर है। कोसी क्षेत्र को दरभंगा मिथिलांचल से जोड़ने के लिए बनायी गयी कार्य योजना अब तक मूर्त रूप नहीं ले पाई है। कोसी नदी पर रेल महासेतु बनाकर दोनों ओर से एप्रोच पथ बनाकर उसे रेल मार्ग में परिवर्तित करना इस क्षेत्र के लोगों के लिए किसी सपने से कम नहीं है। लेकिन रेल महासेतु का निर्माण कार्य पूरा होने के बाद इसके एप्रोच पथ पर मिट्टी भराई कार्य देख अब लोगों को लगने लगा है कि रेल महासेतु पर ट्रेन निकट भविष्य में दौड़ेगी। कोसी नदी पर करीब दो किलोमीटर बने रेल महासेतु का निर्माण कार्य पूरा हो गया है। महासेतु पर रेल पटरी बिछा दी गयी है। ट्रैक लि¨कग का काम पूरा कर लिया गया है। रेल पुल को छोड़कर शेष भागों में...
more...
मिट्टी भराई का काम प्रगति पर है। इसके बाद रेल पटरी बिछायी जाएगी।
प्रधानमंत्री ने 6 जून 2003 को किया गया था शिलान्यास
तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने 6 जून 2003 को निर्मली कॉलेज मैदान से सरायगढ़- निर्मली रेल लाइन बनाने के लिए कोसी रेल महासेतु की आधारशिला रखी थी। इसके निर्माण कार्य पर 324 करोड़ रूपये खर्च करने का लक्ष्य था। इसका निर्माण कार्य को वर्ष 2009 में ही पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित था। लेकिन रेल प्रशासनिक उदासीनता के कारण कोसी क्षेत्र की यह महत्वपूर्ण रेल परियोजना अधर में ही लटक गयी। रेल अधिकारियों की मानें तो निधि के अभाव में यह परियोजना लटकी रही। लेकिन इन दिनों रेल निर्माण विभाग इस दिशा में कार्य कर रही है। रेल पुल बनकर तैयार हो गया। सरायगढ़- निर्मली के बीच 22 किमी की दूरी में रेल महासेतु छोड़कर 8 छोटे- बड़े पुल बनकर तैयार है। एप्रोच पथ में मिट्टी भराई हो रही है। इसके बाद रेल पटरी बिछाने का काम होगा। इसके लिए सरायगढ में रेल स्लीपर पहुंचा दी गयी है।
दो किमी लंबे महासेतु में है 44 पाया
सरायगढ़- निर्मली के बीच कोसी नदी पर बने रेल महासेतु में 44 पाया का निर्माण किया गया है। पुल की लंबाई करीब दो किमी है। रेल महासेतु के दोनों ओर लोहे के गार्डर लगाए गए हैं।
जमीन अधिग्रहण का भी लटका था मामला
सरायगढ- निर्मली के बीच जमीन अधिग्रहण का मामला लटका हुआ था। करीब दो एकड़ जमीन का मामला सुलझा लिया गया है। जमीन की मुआवजा राशि सुपौल जिलाधिकारी को रेलवे ने भेज दी है।
अगले वित्तीय वर्ष में दौड़ेगी ट्रेन
सरायगढ़- निर्मली के बीच कोसी नदी पर रेल महासेतु बनकर तैयार है। पुल पर रेल पटरी भी बिछा दी गयी है। एप्रोच रेल पथ में निर्माण कार्य प्रगति पर है। अगले वित्तीय वर्ष 2018-19 में ट्रेन परिचालन करने का लक्ष्य निर्धारित है।
एके राय, मुख्य अभियंता, रेल निर्माण विभाग
Jan 15 2018 (21:13)  गुड न्यूज, सहरसा समेत 12 रेलवे स्टेशन पर थाने को मिलेगा दोमंजिला भवन (m.livehindustan.com)
back to top
IR AffairsECR/East Central  -  

News Entry# 327045     
   Past Edits
Jan 15 2018 (21:13)
Station Tag: Mansi Junction/MNE added by amishkumar~/1702584

Jan 15 2018 (21:13)
Station Tag: Purnea Junction/PRNA added by amishkumar~/1702584

Jan 15 2018 (21:13)
Station Tag: Dauram Madhepura/DMH added by amishkumar~/1702584

Jan 15 2018 (21:13)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by amishkumar~/1702584
 
 
सहरसा, मधेपुरा, बनमनखी, पूर्णिया, मानसी सहित 12 रेल थाने को अपना दो मंजिला भवन मिलेगा। एक छत के नीचे थाना, रहने के लिए आवास, पुरुष-महिला हाजत, बैरक, पोर्टिको, प्रतीक्षालय रूम रहेगा।
हर थाना भवन निर्माण पर एक करोड़ तीन लाख रुपए खर्च किए जाएंगे। रेल एसपी कटिहार उमाशंकर प्रसाद ने कहा कि हर रेल थाना भवन के लिए 30/20 मीटर जमीन चिह्नित कर देने के लिए डीआरएम को पत्र लिखा गया है। रेल थाना भवन जी प्लस टू या जी प्लस थ्री बनेगा। इसमें 60 पुलिस पदाधिकारियों और जवानों के रहने के लिए जगह रहेगी।
खगड़िया
...
more...
और बरौनी में रेल थाना भवन निर्माण शुरू हो गया है। रेल एसपी ने बताया कि खगड़िया में बैरक के बगल में रेल थाना के लिए मिली जमीन पर भवन निर्माण शुरू कर दिया गया है।
किशनगंज, बरौनी, नवगछिया, बिहपुर और बेगूसराय रेल थाने का भी सुसज्जित भवन होगा। इसके लिए भी जमीन चिह्नित कर देने के लिए डीआरएम को पत्र लिखा गया है। रेल एसपी ने कहा कि जमीन मिलते ही कागजी प्रक्रिया पूरी करते हर जगह भवन निर्माण कार्य शुरू करा दिया जाएगा। कटिहार में रेल पुलिस भवन निर्माण भी होगा। इसके लिए बीएमपी सात में जमीन का चयन किया गया है।
रेल एसपी ने कहा कि डीआरएम से जमीन की स्वीकृति मिलने के बाद कटिहार रेल थाना का भवन जी प्लस थ्री वाला बनाने का निर्णय लिया गया है। अभी सहरसा सहित अन्य जगहों का रेल थाने और बैरक सुविधाओं की कमी से जूझ रहे है। कई जगह थाने में न तो शौचालय हैं न ही महिला हाजत। बैरक जर्जर होकर बारिश में चूते रहता है। थाने का सुसज्जित भवन बनने पर इन समस्याओं से जवानों और पुलिस पदाधिकारियों को राहत मिलेगी।
Jan 12 2018 (17:53)  मार्च तक हरहाल में चलेगी सहरसा-गढबरूआरी के बीच ट्रेनें (www.jagran.com)
back to top
Rail BudgetECR/East Central  -  

News Entry# 326819     
   Past Edits
Jan 12 2018 (17:53)
Station Tag: Forbesganj Junction/FBG added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 12 2018 (17:53)
Station Tag: Saraygarh/SRGR added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 12 2018 (17:53)
Station Tag: Sakri Junction/SKI added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 12 2018 (17:53)
Station Tag: Laukaha Bazar/LKQ added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 12 2018 (17:53)
Station Tag: Supaul/SOU added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 12 2018 (17:53)
Station Tag: Nirmali/NMA added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 12 2018 (17:53)
Station Tag: Jhanjharpur Junction/JJP added by Neeraj Thakur~/1683616

Jan 12 2018 (17:53)
Station Tag: Saharsa Junction/SHC added by Neeraj Thakur~/1683616
 
 
सहरसा। रेल निर्माण विभाग के चीफ इंजीनियर अशोक कुमार राय ने कहा कि मार्च 2018 तक हर हाल में सहरसा से गढबरूआरी के बीच बड़ी रेल लाईन पर ट्रेन का परिचालन शुरू हो जाएगा। उन्होंने गुरुवार को सहरसा रेल क्षेत्र में आमान परिवर्तन कार्य का निरीक्षण करते हुए प्रगति कार्य का जायजा लिया। चीफ इंजीनियर ने कहा कि केबल की कमी है जिस कारण सिग्नल का कार्य रूका हुआ है। लेकिन अन्य सभी कार्य इस रेल खंड में पूरा कर लिया गया है। केबल की आपूर्ति के लिए रेलवे बोर्ड से कहा गया है। शीघ्र ही केबल की आपूर्ति हो जाएगी। फुट ओवरब्रिज निर्माण कार्य भी पूरा किया जा रहा है।
रेल निर्माण विभाग रेल परिचालन निर्धारित लक्ष्य मुताबिक रेल सेवा शुरू
...
more...
करने के लिए कटिबद्ध है। आमान परिवर्तन कार्य में बालू की कमी के कारण भी समस्या आयी है लेकिन बंगाल से भी बालू की आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने कहा कि मेरी कोशिश यह है कि सुपौल तक रेल सेवा मार्च 18 तक बहाल हो जाए। इसके लिए गढबरूआरी-सुपौल के बीच 12 छोटे बडे़ पुल का निर्माण कार्य शुरू है। सरायगढ़ तक रेल सामग्री पहुंचा दी गयी है। पुल बनते ही रेल पटरी बिछाने का काम शुरू हो जाएगा। जिसके लिए रेल निर्माण विभाग पूरी तरह मुस्तैद है। सहरसा स्टेशन पर तीन नए प्लेटफार्म का निर्माण कार्य जारी है। 600 मीटर लंबे प्लेटफार्म का निर्माण कार्य किया जा रहा है। सहरसा से गढबरूआरी के बीच चल रहे आमान परिवर्तन कार्य पर करीब एक सौ करोड़ रूपये खर्च होंगे। सहरसा से गढबरूआरी तक मोटर ट्राली से निरीक्षण चीफ इंजीनियर ने किया। इसके बाद सडक मार्ग से सुपौल- सरायगढ़ तक रेल आमान परिवर्तन कार्य का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान चीफ इंजीनियर के साथ उप मुख्य अभियंता डीएस श्रीवास्तव, कार्यपालक अभियंता वाचस्पति उपाध्याय सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।
फारबिसगंज तक अगले वित्तीय वर्ष में चलेगी ट्रेन
सहरसा से गढबरूआरी के बीच ट्रेन सेवा बहाल हो जाने के बाद सुपौल- सरायगढ के बीच रेल सेवा का परिचालन किया जाएगा। वहीं फारबिसगंज तक सीधी रेल सेवा अगले वित्तीय वर्ष 2018-19 में शुरू हो जाएगा। फारबिसगंज- ललितग्राम के बीच कई जगहों पर आमान परिवर्तन कार्य चल रहा है।
ड्रोन से करायी जा रही फोटोग्राफी
रेल निर्माण विभाग सहरसा रेल खंड में चल रहे आमान परिवर्तन कार्यों की प्रगति की फोटोग्राफी के लिए ड्रोन से मदद ली जा रही है। सहरसा रेलखंड में ड्रोन से फोटोग्राफी करवायी गयी है। चीफ इंजीनियर एके राय ने कहा कि हरेक माह ड्रोन से आमान परिवर्तन कार्य की प्रगति की फोटोग्राफी करवायी जाएगी। जिससे यह पता चलेगा कि काम में क्या प्रगति हुई है।
रेल अस्पताल के पास बनेगा टिकट बु¨कग काउंटर
रेल यात्रियों की सुविधा के लिए पांच नंबर प्लेटफार्म की ओर से फुट ओवरब्रिज के पास ही टिकट बु¨कग काउंटर बनेगा। जिसके लिए जमीन चिन्हित कर ली गयी है। यात्रियों को प्लेटफार्म पर जाने से पहले ही पूरब हिस्सा में टिकट बु¨कग काउंटर बनाया जाएगा। ताकि यात्रियों को टिकट लेने में कोई परेशानी न हो।
कोसी इलाके में आमान परिवर्तन कार्यो की हुई समीक्षा
कोसी इलाके सहित आसपास चल रहे आमान परिवर्तन कार्य की प्रगति की समीक्षा की गयी। चीफ इंजीनियर एके राय ने आमान परिवर्तन कार्य की प्रगति की समीक्षा कर रेल निर्माण विभाग के अभियंताओं को कई निर्देश दिए। सकरी-निर्मली-भपटियाही, झंझारपुर- लोकहा बाजार, खगडिया-कुशेश्वर स्थान एवं हाजीपुर- वैशाली रेल खंड के बीच आमान परिवर्तन कार्य प्रगति पर है। भपटियाही-निर्मली रेल महासेतु का निर्माण कार्य भी चल रहा है। निर्मली-सरायगढ के बीच 2 एकड़ जमीन की समस्या थी। जिसे सलटाया जा रहा है। जमीन मामले में राशि सुपौल जिलाधिकारी को भेज दी गयी है।
Page#    Showing 1 to 20 of 333 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.