Full Site Search  
Mon Jan 23, 2017 16:08:08 IST
PostPostPost Trn TipPost Trn TipPost Stn TipPost Stn TipAdvanced Search
×
Forum Super Search
Blog Entry#:
Words:

HashTag:
Member:
Posting Date From:
Posting Date To:
Train Type:
Train:
Station:
ONLY with Pic/Vid:
Sort by: Date:     Word Count:     Popularity:     
Public:    Pvt: Monitor:    RailFan Club:    

<<prev entry    next entry>>
Blog Entry# 1352319  
Posted: Jan 26 2015 (22:19)

7 Responses
Last Response: Apr 18 2015 (14:56)
  
★  Rail News
0 Followers
8778 views
New Facilities/TechnologySECR/South East Central  -  
Jan 26 2015 (20:18)   रेलवे ने 8 ट्रेनों में पेंट्रीकार की सुविधा देने का निर्णय लिया है
 

Vaibhav Agarwal*^   1403 news posts
Entry# 1352319   News Entry# 210445         Tags   Past Edits
एक्सप्रेस सुपरफास्ट ट्रेनों में सुविधा
सुपरफास्टट्रेनों में पेंट्रीकार का होना अनिवार्य माना जाता है। लेकिन दुर्ग बिलासपुर से छूटने वाली कई ट्रेनों में इसकी सुविधा नहीं है। ऐसे में इस बार रेलवे ने दुर्ग-भोपाल अमरकंटक एक्सप्रेस, बिलासपुर-एर्नाकुलम, बिलासपुर-पुणे, दुर्ग-कानपुर, दुर्ग-नवनतवा वाया फैजाबाद इलाहाबाद दोनों, दुर्ग-दानापुर साउथ बिहार एक्सप्रेस और दुर्ग-जम्मूतवी एक्सप्रेस में पेंट्रीकार जोड़ने का निर्णय लिया है। एक्सप्रेस मेल ट्रेनों में भी खानपान की सुविधा देने के लिए इस बार रेलवे गंभीर है।
24 घंटे से अधिक सफर वालों को राहत
रेलवे
...
more...
जोन ने वैसी ट्रेनों में खानपान की सुविधा देने का मन बनाया है, जो लंबी दूरी तय करती है। यह आठ ऐसी ट्रेनें हैं जिसमें यात्री 24 से लेकर 32 घंटे तक का सफर करते हैं। जम्मूतवी और एर्नाकुलम जाने में ट्रेनों को लगभग तीस घंटे का समय लगता है। इसी तरह दानापुर और पुणे जाने में भी चौबीस घंटे लगता है। ट्रेनों के देरी होने की स्थिति में यात्री भूखे-प्यासे परेशान हो जाते हैं। ऐसे में अब पेंट्रीकार की सुविधा होने से सफर के दौरान यात्रियों को खानपान की परेशानी से जूझना नहीं पड़ेगा।
आठ जोड़ी ट्रेनों में मिलेगी पेंट्रीकार की सुविधा
दुर्ग से छूटने वाली अधिकतर ट्रेनों में पेंट्रीकार नहीं होने से सफर के दौरान यात्रियों को काफी परेशानी होती थी। अब रेलवे ने आठ ट्रेनों में पेंट्रीकार की सुविधा देने की तैयारी शुरू कर दी है। बिलासपुर जोन ने दुर्ग से छह और बिलासपुर से छूटने वाली दो ट्रेनों में पेंट्रीकार लगाएगा। इस संबंध में जोन ने रेलवे बोर्ड से जल्द मांग की है। कुछ ही दिनों में बोर्ड से इसकी अनुमति मिलने की संभावना है।
इसके बाद सभी आठ ट्रेनों में पेंट्रीकार की सुविधा के लिए टेंडर जारी किया जाएगा। ऐसे में तीन से चार माह के अंदर ट्रेनों में खानपान की दिक्कतें दूर हो जाएंगी।

2 posts - Fri Jan 30, 2015

  
3090 views
Jan 30 2015 (19:03)
Guest: 7dfb73d4   show all posts
Re# 1352319-3            Tags   Past Edits
thats Bilaspur Pune,not Durg Pune

  
3290 views
Jan 30 2015 (19:05)
Guest: 7dfb73d4   show all posts
Re# 1352319-4            Tags   Past Edits
nice decision..should be implied on DURG AII and DURG JP Exp too

  
4543 views
Feb 03 2015 (15:19)
Miss You Dad*^~   1145 blog posts   90 correct pred (63% accurate)
Re# 1352319-5            Tags   Past Edits
Max trains are from Durg. Many JBP trains badly needs pantry.

  
3244 views
Apr 11 2015 (19:34)
Vaibhav Agarwal*^   6114 blog posts   2568 correct pred (94% accurate)
Re# 1352319-6            Tags   Past Edits
---9 ट्रेनों में पेंट्रीकार लगाने रेल मंत्रालय को भेजा प्रस्ताव --- click here
.
=> यात्रियों की मांग के चलते बिलासपुर जोन से चलने वाली 9 ट्रेनों मे पेंट्रीकार के लिए रेल मंत्रालय को भेजा गया है।
=> जैसे ही आदेश आएगा सभी ट्रेनों में यह सुविधा शुरू कर दी जाएगी। - आरके अग्रवाल, सीपीआरओ बिलासपुर जोन
.
...
more...

From Previous
.
Addition : 18233/34 Narmada Express , 18207/08 Durg-Ajmer , 18213/14 Durg-Jaipur
Deletion : 13287/88 South Bihar Express , 12853/54 Amarkantak Express

  
16799 views
Apr 18 2015 (14:56)
Vaibhav Agarwal*^   6114 blog posts   2568 correct pred (94% accurate)
Re# 1352319-7            Tags   Past Edits
बिलासपुर-पुणे एक्सप्रेस में जनरल कोच के यात्रियों का सर्वे रेलवे बोर्ड के निर्देश पर किया जा रहा है। इस ट्रेन में पेंट्रीकार लगाने के लिए जनरल कोच कम करने का विचार है।
- राजेंद्र अग्रवाल, डीजीएम-जी, बिलासपुर जोन click here
.
=> बिलासपुर-चेन्नई एक्सप्रेस की पेंट्री कार को इस ट्रेन से जोड़कर चलाने का फैसला
...
more...
हुआ है।
=> इस मार्ग के स्टेशनों के प्लेटफार्म इतने लंबे नहीं हैं कि ट्रेन की मौजूदा लंबाई में एक और अतिरिक्त कोच जोड़ा जा सके।
=> अभी अधिकांश स्टेशनों में इस ट्रेन की लगभग तीन बोगियां प्लेटफार्म से बाहर निकल जाती हैं। इसीलिए तय हुआ कि एक जनरल कोच हटाकर इसे लगाना चाहिए।
Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site