Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Followed
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

Follow my Trip Android app

Feeling bored in the Train - talk to a RailFan. You'll WISH the train gets late.

Search News
<<prev entry    next entry>>
News Entry# 415543
बीएमवाई चरोदा से निकलने वाली गुड्स ट्रेनों में अब फुली एसी युक्त व अन्य संसाधनों से लैस इंजन लगाए जााएंगे। यह इंजन 120 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार पर पटरी पर दौड़ेंगी। 12 हजार हॉर्स पावर वाले क्षमता इन इंजनों को चलाने के लिए ड्राइवरों को ट्रेनिंग दिया जा रहा। इस इंजन में लोको पायलट को गर्मी, अधिक धूल या अधिक नमी वाले स्थान पर भी ट्रेन को लेकर जाने में किसी तरह की दिक्कतें नहीं होगी। यह अधिक से अधिक ऊंचाई वाले स्थान पर भी 6 हजार टन आसानी से खींच सकेगा। अधिकतम 120 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से इसे चलाया जा सकेगा। इसे डब्ल्यू एजी -12 नाम दिया गया है। अभी मंडल में 9 इंजन आए हैं। इसे चलाने की ट्रेनिंग लोको पायलटों को दी गई है। ट्रेनिंग प्रक्रिया लगातार जारी है। ऑनलाइन ट्रेनिंग में इसकी थ्योरी बताई जा रही है। वीडियो जारी किया जाएगा। इसका प्रैक्टिकल भी कराया जाएगा।...
more...

मिले जानकारी इसलिए इंजन में लगाए गए कैमरे
इंजन में एसी लगा है। इसमें नीचे की ओर एक कैमरा भी लगा है। इससे व्हील में किसी भी तरह की फाल्ट आने पर फौरन जानकारी मिल जाएगी। इससे फॉल्ट को दूर करके ट्रेन को चलाई जा सकेगी। यह पूरी तरह मेड इन इंडिया है। इसे भारत के बिहार के मधेपुरा में बनाया गया है। इसमें रिजनरेटिव ब्रेकिंग की सुविधा है।
ऊर्जा और समय दोनों की होगी इस इंजन से बचतअफसरों के मुताबिक डब्ल्यू एजी -12 इलेक्ट्रिकल लोकोमोटिव यूनिट की गति इन दिनों चल रहे इंजन की तुलना में दो गुना है। इन दिनों चल रहा इंजन डब्ल्यूएजी- 9 लोकोमोटिव है। नए इंजन की क्षमता पुराने इंजन से दो गुनी है। इसकी गति भी अधिक है। ट्रेन में फॉल्ट आने पर दूसरी यूनिट से पूरी क्षमता से काम लिया जाएगा।
लांग हॉल की स्थिति में भी 1 हजार यूनिट प्रेशर बनाए
यह इंजन लांग हॉल की स्थिति में भी एक हजार यूनिट का प्रेशर बनाए रखेगा। इससे अधिक वजन को आसानी से खींचा जा सकेगा। इसके लिए इसमें एक हजार लीटर वाले रिजरवायर लगाए गए हैं। इससे यह एक अनुपात 150 की तीव्रता वाली ऊंचाइयों में भी आसानी से 6000 टन वजन खींच लेगा। भविष्य में 800 ऐसे लोकोमोटिव चलाए जाने की संभावना है। भविष्य में और अधिक रनिंग स्टॉफ मेंबर्स को इस लोको का प्रशिक्षण दिया जाएगा। इससे काम के निष्पादन में और अधिक निश्चितता आने की उम्मीद है। इस इंजन का उपयोग अगले 15 दिनों में शुरू किए जाने की तैयारी की गई है। इसके तहत ही ट्रेनिंग दी जा रही।
जानिए लाए गए इन नए इंजन की विशेषताएं
बीएमवाई चरोदा में दिया जा रहा है प्रशिक्षण
नए इंजन को मधेपुरा से लाने के बाद बीएमवाई में रखा गया है। यहां पर गुड्स ट्रेनों के लोको पायलटों को इसकी विस्तार से जानकारियां दी जा रही हैं। इसे ऑपरेट करने समेत इसके डिसप्ले बोर्ड समेत कैमरे, एसी कैब का सिचुवेशन आदि के बारे में बताया जा रहा है। कोविड -19 के कम्युनिटी स्प्रेड को देखते हुए पहले इसकी ऑनलाइन ट्रेनिंग दी जाएगी।

3 Public Posts - Sat Aug 01, 2020

11768 views
Aug 01 (20:49)
Saurabh®
Saurabhdubey_86^~   21413 blog posts
Re# 4679356-5            Tags   Past Edits
May be they have given it to BIA shed temporarily for training purpose of LPs

11621 views
Aug 01 (20:52)
Hypocrisy at its best 🤫🤫🤫🤫🤫
MR_INDIANRAILIN^~   11823 blog posts
Re# 4679356-6            Tags   Past Edits
ek paper me aisa aara thi ki kuch looby"s ke kuch staff ko wag 12 ki training dene ke liye g 12 ko jagah jagah ghumna rahe hai
that might be the case here

11654 views
Aug 01 (21:13)
Somanko
SOMANKO12814^~   33116 blog posts
Re# 4679356-7            Tags   Past Edits
For training LPs one loco is being given for few days.
9 Locos is a fake thing.

9298 views
Aug 02 (00:28)
kedarc68
Goawaychinaviru   754 blog posts
Re# 4679356-8            Tags   Past Edits
Could it be that first one has arrived and rest will come as and when available? SECR has been running anacondas, has good tracks and high demand for coal and iron ore. IMO this one will stay, just like AJNI received one.As training is given to LP/ALPs of other lobbies, more will follow.

9582 views
Aug 02 (00:37)
Somanko
SOMANKO12814^~   33116 blog posts
Re# 4679356-9            Tags   Past Edits
Totally wrong. No shed got WAG 12Bs except SRE.
Next shed will be AJNI.
Shed is under construction.
All primary maintenance will be carried out at SRE ELS which is specially made for WAG 12s.
For
...
more...
training purposes locos went to BPQ, JBP, TATA, CKP, HWH, BWN and many places but no one is getting them.
Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy