Spotting
 Timeline
 Travel Tip
 Trip
 Race
 Social
 Greeting
 Poll
 Img
 PNR
 Pic
 Blog
 News
 Conf TL
 RF Club
 Convention
 Monitor
 Topic
 Bookmarks
 Rating
 Correct
 Wrong
 Stamp
 PNR Ref
 PNR Req
 Blank PNRs
 HJ
 Vote
 Pred
 @
 FM Alert
 FM Approval
 Pvt

FmT LIVE - Follow my Trip with me... LIVE

Regular people go to see Taj Mahal. RailFans go to see Ghaziabad Jn. - Praveen

Search News

News Posts by Adittyaa Sharma

Page#    Showing 1 to 5 of 30077 news entries  next>>
रांची रेल मंडल के मूरी स्टेशन पर नॉन इंटरलॉकिंग का काम होने के कारण कई ट्रेनों का परिचालन प्रभावित हुआ है. इस दौरान जहां कई पैसेंजर ट्रेनों को रद्द किया गया है, वहीं कई ट्रेनें रांची और हटिया रेलवे स्टेशन नहीं पहुंच पायेगी. यह व्यवस्था 26 अक्टूबर से आगामी एक नवंबर, 2021 तक जारी रहेगी.
IRCTC/Indian Railways News (रांची) : दक्षिण पूर्व रेलवे अंतर्गत रांची रेल मंडल के मूरी स्टेशन पर नॉन इंटरलॉंकिंग कार्य होने के कारण कई पैसेंजर ट्रेनें रांची और हटिया रेलवे स्टेशन नहीं पहुंच पायेगी. इसके अलावा टाटानगर और बोकारो रेलवे स्टेशन आने वाले कई पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया गया है. इन पैसेंजर ट्रेनों का परिचालन 26 अक्टूबर से एक नवंबर, 2021 तक प्रभावित रहेगा.
26
...
more...
अक्टूबर से एक नवंबर, 2021 तक कई ट्रेनें हुई शॉर्ट टर्मिनेट
ट्रेन संख्या (03598) आसनसोल- रांची पैसेंजर स्पेशल ट्रेन 26 अक्टूबर से आगामी एक नवंबर, 2021 तक रांची के स्थान पर पुरुलिया तक ही जायेगी. इस दौरान पुरुलिया एवं रांची के बीच रद्द रहेगी. वहीं, ट्रेन संख्या (08085) खड़गपुर - रांची पैसेंजर स्पेशल ट्रेन रांची के स्थान पर आद्रा तक ही जायेगी. इस दौरान आद्रा तथा रांची के बीच यह पैसेंजर ट्रेन रद्द रहेगी.
इसके अलावा ट्रेन संख्या (03597) रांची- आसनसोल पैसेंजर स्पेशल ट्रेन रांची के स्थान पर पुरुलिया से प्रस्थान करेगी. इस दौरान रांची तथा पुरुलिया के बीच यह ट्रेन रद्द रहेगी. वहीं, ट्रेन संख्या (08086) रांची- खड़गपुर पैसेंजर स्पेशल ट्रेन 26 अक्टूबर से आगामी एक नवंबर, 2021 तक रांची के स्थान पर आद्रा से प्रस्थान करेगी. यह ट्रेन भी रांची तथा आद्रा के बीच रद्द रहेगी.
ये ट्रेनें रहेंगी रद्द
ट्रेन संख्या (03595/03596) बोकारो स्टील सिटी-आसनसोल-बोकारो स्टील सिटी पैसेंजर स्पेशल ट्रेन 26 अक्टूबर से आगामी एक नवंबर, 2021 तक रद्द रहेगी. इसके अलावा ट्रेन संख्या (08196/08195) हटिया-टाटानगर-हटिया स्पेशल ट्रेन भी रद्द रहेगी. वहीं, ट्रेन संख्या (08641/08642) आद्रा-बरकाकाना-आद्रा पैसेंजर स्पेशल और ट्रेन संख्या (08602/08601) हटिया-टाटानगर-हटिया पैसेजर स्पेशल ट्रेन 26 अक्टूबर से आगामी एक नवंबर, 2021 तक रद्द रहेगी.
Today (10:43) Diwali 2021 से पहले UP आने वाले यात्रियों की बढ़ी मुश्किलें, रेलवे के इस रूट पर 12 ट्रेनें रद्द, लिस्ट (www.prabhatkhabar.com)
IR Affairs
NR/Northern
0 Followers
21 views

News Entry# 468551  Blog Entry# 5103595   
  Past Edits
Oct 26 2021 (10:43)
Station Tag: Kamakhya Junction/KYQ added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (10:43)
Station Tag: New Delhi/NDLS added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (10:43)
Station Tag: Moradabad Junction/MB added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (10:43)
Station Tag: Laksar Junction/LRJ added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (10:43)
Station Tag: Dehradun Terminal/DDN added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (10:43)
Station Tag: Moradabad Junction/MB added by Adittyaa Sharma/1421836

Oct 26 2021 (10:43)
Station Tag: Saharanpur Junction/SRE added by Adittyaa Sharma/1421836
रेलवे ने 26 अक्टूबर से 29 अक्टूबर तक मुरादाबाद-देहरादून रूट पर 12 ट्रेनों को रद्द करने का फैसला किया है. इन रूटों पर नॉन इंटरलॉकिंग का काम किया जा रहा है.
दिवाली 2021 से पहले यूपी आने वाले यात्रियों की मुश्किलें बढ़ गई हैं. दरअसल, सहारनपुर-मुरादाबाद और देहरादून-लक्सर के बीच नॉन इंटरलॉकिंग का काम हो रहा है, जिस वजह से रेलवे ने तीन दिन तक करीब 12 ट्रेनों को रद्द कर दिया है.
रेलवे की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक 26 अक्टूबर से 29 अक्टूबर तक बेगमपुरा एक्सप्रेस, उज्जैनी एक्सप्रेस, हेमकुंड
...
more...
सहित 12 ट्रेनों को रद्द किया गया है. हालांकि अधिकारियों का कहना है कि 29 तक काम पूरा हो जाएगा, जिसके बाद परिचालन सामान्य कर दी जाएगी.
बदले रूट से इन ट्रेनों का परिचालन- नॉर्थ ईस्टर्न रेलवे ने बताया कि 05011 लखनऊ-चंडीगढ़, 02355 पटना-जम्मूतवी, 03255 पाटलिपुत्र-चंडीगढ़, 02358 कोलकाता-अमृतसर सहित 13 ट्रेनों का परिचालन बदले हुए मार्ग से चलाया जाएगा.
इधर, पूर्वोत्तर रेलवे ने त्योहार में भीड़ को देखते हुए बिहार जाने वाली ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाने का निर्णय लिया है. बताया जा रहा है कि 10 दिसंबर तक ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाया जाएगा. वहीं रेलवे के अधिकारियों ने बताया कि कुल 14 ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाने का फैसला किया गया है.
वहीं रेलवे ने बताया है कि केंद्रीय रेल विद्युतीकरण प्रयागराज के प्रयास से नई दिल्ली से कामाख्या तक अब विद्युत लाइन पर ट्रेनें चलेंगी. इन रूटों पर बिजली का सेटअप किया जा चुका है. इस रूट पर करीब दो दर्जन ट्रेनों का परिचालन हो रहा है.
Rail Ticket रेलवे यात्रियों के लिए सुखद खबर आने वाली है। अब जनरल कोच में रिजर्वेशन की नीति लागू नहीं होगी। कोविड-19 के बढ़ते प्रभाव के दौरान जनरल कोच में भी आरक्षण की नीति लागू कर दी गई थी ताकि ट्रेन में भीड़ न हो...
जमशेदपुर : कोविड 19 के दौर में रेलवे ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए सामान्य श्रेणी के डिब्बों में भी रिजर्वेशन नीति लागू कर दी थी। जिसके तहत सामान्य श्रेणी के डिब्बों में जितनी सीट होगी उसमें उतने ही यात्रियों को टिकट दिया जाएगा। लेकिन कोविड 19 का संक्रमण कम होने के साथ ही इसे लेकर विरोध होना शुरू हो गया है। ऐसे में माना जा रहा है कि रेलवे प्रबंधन अपने पूर्व के नियम
...
more...
में पहली नवंबर से संशोधन कर सकती है। जिसके तहत सामान्य श्रेणी के डिब्बों को पूर्व की तरह संचालित किया जा सकता है।
रेलवे की इस नीति का हो चुका है विरोध
कोविड 19 के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए भले ही रेलवे सफल रही लेकिन इसके कारण आम यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। उन्हें बिना आरक्षित टिकट के ट्रेन में सवार होने नहीं दिया जाता है। इसे लेकर पिछले दिनों पश्चिम रेलवे जोन में काफी हंगामा हुआ और यात्री पूर्व की व्यवस्था बहाल करने की मांग की। यात्रियों का तर्क था कि आपात स्थिति में जब स्लीपर या फर्स्ट क्लास एसी में उन्हें टिकट नहीं मिलता है तो उनके पास सामान्य श्रेणी में ही यात्रा करने का एकमात्र विकल्प बचता है लेकिन नई व्यवस्था से वे यात्रा नहीं कर पा रहे हैं।
रेलवे ने दिए हैं संकेत एक नवंबर से बदल सकता है नियम
पश्चिम रेलवे में हुए हंगामे के बाद रेलवे के अधिकारियों ने संकेत दिए हैं कि पहली नवंबर से नियमों में छूट मिल सकती है। हालांकि अधिकारी अब भी यह स्पष्ट नहीं कह रहे हैं कि पहली नवंबर से पुरानी व्यवस्था को बहाल किया जाएगा या कुछ और नियम बनेंगे। क्योंकि वर्तमान व्यवस्था के तहत सामान्य श्रेणी में भी यात्रा के लिए यात्रियों को पहले अपना टिकट आरक्षित कराना होगा। यात्रा से पहले उनके टिकट की जांच होगी, जिसके बाद ही उन्हें यात्रा करने की अनुमति मिलेगी।
टाटानगर स्टेशन से हर दिन गुजरते हैं 20 जोड़ी ट्रेन
दक्षिण पूर्व रेलवे के चक्रधरपुर मंडल में टाटानगर रेलवे स्टेशन महत्वपूर्ण स्टेशनों में से एक है। यहां से हर दिन 20 जोड़ी ट्रेनों का आवागमन होता है। इसमें 02810 मुंबई सीएसटीएम मेल स्पेशल ट्रेन, 02905 हावडा साप्ताहिक सुपरफास्ट विशेष ट्रेन, 02102 ज्ञानेश्वरी सुपरफास्ट विशेष किराया स्पेशल ट्रेन, 02279 आजाद हिंद सुपरफास्ट विशेष ट्रेन, 08615 क्रिया योग विशेष किराया स्पेशल ट्रेन, 02280 आजाद हिंद सुपरफास्ट विशेष ट्रेन, 02809 हावड़ा मेल स्पेशल ट्रेन 08190 एर्नाकुलम टाटानगर स्पेशल, 05022 शालीमार साप्ताहिक विशेष किराया स्पेशल ट्रेन, 08477 कलिंग उत्कल विशेष किराया स्पेशल ट्रेन और 02801 पुरुषोत्तम सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन शामिल है। इसमें सामान्य श्रेणी में यात्रा से पहले यात्रियों के पास आरक्षित टिकट होना अनिवार्य है।

Rail News
387 views
Today (10:37)
न्यूज अच्छी है चलो इसपर वीडियो बना देता हु
SmallTownTraveller^~   6941 blog posts
Re# 5103586-1            Tags   Past Edits
sab naatak he bhai.. railway ke muh khoon lag chuka he.. UR system sab trains me nahi karege shuru..
Today (09:28) Bilaspur Zonal Station News: तोड़ी गई पुरानी बिल्डिंग, चार से भी चौड़ा होगा एक नंबर का गेट (www.naidunia.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
1355 views

News Entry# 468545  Blog Entry# 5103558   
  Past Edits
Oct 26 2021 (09:28)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)।Bilaspur Zonal Station News: रेलवे स्टेशन का गेट क्रमांक एक आकार लेने लगा है। चौड़ाई बढ़ाने के लिए सामने की पुरानी बिल्डिंग तोड़ दी गई है। वर्तमान में मलबा हटाने का काम चल रहा है। यह जब पूरा हो जाएगा उसके बाद गेट का निर्माण किया जाएगा। यह चार नंबर से भी आकर्षक व चौड़ा होगा ताकि यात्रियों को किसी तरह की परेशानी न हो। वैसे भी स्टेशन का इस गेट से सबसे ज्यादा यात्री प्रवेश व बाहर निकलते हैं।
स्टेशन में चार गेट हैं। तीन नंबर के गेट का मुख्य द्वार कहा जाता है। इसकी वजह यहां उपलब्ध यूटीएस व आटोमेटिकट टिकट मशीन एवं पूछताछ केंद्र हैं। लेकिन यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखे तो गेट क्रमांक एक
...
more...
का उपयोग सबसे ज्यादा होता है। पहले यह छोटा था। जिसे बाद बढ़ाया गया। हालांकि इसके में रेलवे का फिजूलखर्च हुआ, क्योंकि सालभर बाद ही इसे गेट क्रमांक चार की तरह भव्य बनाने की योजना बनाई गई है।
यहां लिफ्ट, फुट ओवरब्रिज बनाने का निर्णय लिया गया। करीब दो साल से इसका निर्माण चल रहा है। वर्तमान में आधे से ज्यादा काम पूरा हो चुका है। चौड़ाई बढ़ाने के लिए सामने की बिल्डिंग भी तोड़ दी गई है। इसके बनते ही जब यात्रियों के लिए इसे खोला जाएगा कि यह द्वार सबसे सुविधाजनक होगी।
दरअसल इस द्वार से लगा हुआ रेलवे आरक्षण केंद्र है। जहां जनरल टिकट काउंटर की सुविधा भी है। यात्री यहां से टिकट लेकर आसानी से स्टेशन में प्रवेश कर लेते हैं। इसकी सबसे खास बात यह होगी यात्रियों की भीड़ नहीं लगेगी और परेशानी होगी। इसी के तहत ही इसे भव्य स्वरूप दिया जा रहा है।
Today (07:06) Wood Smuggling in Trains: ट्रेनों में लकड़ी तस्करी रोकने आरपीएफ ने बनाई टीम (www.naidunia.com)
IR Affairs
SECR/South East Central
0 Followers
3032 views

News Entry# 468543  Blog Entry# 5103484   
  Past Edits
Oct 26 2021 (07:07)
Station Tag: Bilaspur Junction/BSP added by Adittyaa Sharma/1421836
Stations:  Bilaspur Junction/BSP  
बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)।Wood Smuggling in Trains: जंगल से कटाई कर ट्रेनों से लकड़ियों का परिवहन किया जा रहा है। इसकी सूचना मिलने के बाद आरपीएफ ने चौकसी बढ़ा दी है। नियमित जांच के लिए एक टीम भी गठित की गई है। टीम को शहडोल-बिलासपुर मेमू में सफलता भी मिल चुकी है। यही वजह है कि टीम ज्यादातर जांच लोकल ट्रेनों में ही कर रही है। वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त ऋषि कुमार शुक्ला के निर्देश में यह टीम बनी है। इसकी मानिटरिंग आरपीएफ पोस्ट प्रभारी भास्कर सोनी कर रहे हैं। पैसेंजर ट्रेनों में हो रही लकड़ी की तस्करी की रोकथाम के लिए बनी यह टीम स्टेशन पहुंचने के बाद औचक जांच करती है।
इसके अलावा सेक्शन के अलग-अलग स्टेशनों में तैनात रहती
...
more...
है और जब ट्रेन पहुंचती है उसी समय दबिश देकर तस्करों को रंगे हाथों पकड़ने का प्रयास भी कर रही है। इसी जांच के चलते दो दिन पहले शहडोल-बिलासपूर मेमू ट्रेन में पांच महिलाओं पकड़ा गया। उनके कब्जे से वनोपज भी जब्त किए गए। पूछताछ में पता चला कि सभी बेलगहना की रहने वाली है।
उनके खिलाफ रेलवे अधिनियम के तहत कार्रवाई भी की गई। पर आरपीएफ को यकीन है कि तस्करी जारी है। टीम से जांच रिपोर्ट भी ली जाती है। मालूम हो कि कोरोना संक्रमण से पहले सागौन से लेकर अन्य वनोपज का ट्रेन से परिवहन किया जाता था। इन्हें पकड़ने के लिए वन विभाग द्वारा जांच भी कराई जाती थी। पर अब वन अमला न तो जांच करता है और दो साल से किसी तरह की कार्रवाई हुई है। इसी का फायदा तस्कर उठा रहे हैं।
Page#    30077 news entries  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom
Go to Desktop site
Important Note: This website NEVER solicits for Money or Donations. Please beware of anyone requesting/demanding money on behalf of IRI. Thanks.
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.
India Rail Info Privacy Policy