Full Site Search  
Thu Nov 23, 2017 05:17:01 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Close-up; Platform Pic; Large Station Board;
Large Station Board;


BZM/Bhimsen Junction (3 PFs)
بھیم سین جنکشن     भीमसेन जंक्शन

Track: Double Electric-Line

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 3
Number of Halting Trains: 21
Number of Originating Trains: 0
Number of Terminating Trains: 0
Jn Point Kanpur/Ait/Khairar
State: Uttar Pradesh
add/change address
Elevation: 133 m above sea level
Zone: NCR/North Central
Division: Jhansi
 
 
No Recent News for BZM/Bhimsen Junction
Nearby Stations in the News

Rating: /5 (0 votes)
cleanliness - n/a (0)
porters/escalators - n/a (0)
food - n/a (0)
transportation - n/a (0)
lodging - n/a (0)
railfanning - n/a (0)
sightseeing - n/a (0)
safety - n/a (0)

Nearby Stations

HLIN/Holding Line 2 km     BNAR/Binaur 6 km     SIRA/Sirhi Itara 7 km     GOY/Govindpuri Junction 10 km     RPGU/Rasulpurgogamau 11 km     CPA/Kanpur Anwarganj 12 km     COP/Kanpur MG 13 km     CPNL/Kanpur C Panel 13 km     KTRR/Kathara Road 13 km     CNB/Kanpur Central 14 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 16 of 16 News Items  
Sep 03 2017 (07:07)  आसान नहीं भीमसेन-कानपुर रेल फ्लाईओवर की राह (epaper.jagran.com)
back to top
IR AffairsNCR/North Central  -  

News Entry# 314438     
   Past Edits
Sep 03 2017 (07:07)
Station Tag: Bhimsen Junction/BZM added by कौन बनेगा करोड़पति☺^~/1421836

Sep 03 2017 (07:07)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by कौन बनेगा करोड़पति☺^~/1421836
 
 
कवायद
कानपुर : भीमसेन से कानपुर तक बनाए जाने वाले रेल फ्लाईओवर की राह आसान नहीं है। निर्माण में कई अड़चने मुंह बाए खड़ी हैं। सबसे बड़ी समस्या पुल को उतारने के लिए जगह की कमी है। हालांकि विकल्प के तौर पर झकरकटी के पास इसे उतारे जाने की संभावना बन रही है। 1रेलवे बोर्ड ने बजट में भीमसेन से कानपुर के बीच रेल फ्लाईओवर स्वीकृत किया है। लगभग 1700 करोड़ की लागत से बनने वाले पुल का सर्वे भी हुआ है। भीमसेन के बाद सात ऐसे ओवरब्रिज रास्ते में पड़ रहे हैं, जो इसकी राह की अड़चन हैं। सूत्र बताते हैं कि हाईवे क्रास करने के साथ दादानगर ओवरब्रिज, गोविंदपुरी में दो पुल, झकरकटी पुल, लखनऊ फाटक के पास ओवरब्रिज समस्या
...
more...
बना हुआ है। पुल के लिए कम से कम 17 मीटर ऊंचाई चाहिए। इतनी ऊंचाई से पुल को उतारने के लिए कम से कम साढ़े तीन किमी की जगह चाहिए जो नहीं मिल रही है। सूत्रों का कहना है कि गोविंदपुरी से झकरकटी के बीच पुल को उतारा जा सकता है, जहां 2600 मीटर जगह मिल रही है। हालांकि ज्यादा ढलान देने से यह मानक पूरा नहीं करती है। पहले सेंट्रल से आगे पुल उतारने की योजना तैयार की गई थी पर लखनऊ फाटक के पास ओवरब्रिज आड़े आ रहा है। सूत्र बताते हैं कि सर्वे के लिए टेंडर हो चुका है। कंपनी सर्वे कर आने वाली समस्याओं की रिपोर्ट देगी। पनकी के बाद इतनी जगह नहीं मिल रही है, जहां पुल को उतारा जा सके। आने वाले समय में मेट्रो भी प्रस्तावित है, जिसे ऊपर से ही जाना है। हालांकि भीमसेन से झकरकटी तक पुल की लंबाई 12 से 13 किमी पड़ रही है। 1’>>रेलवे बोर्ड ने किया है स्वीकृत, रास्ते में पड़ते कई ओवरब्रिज1’>>रेलवे के पास जगह की कमी झकरकटी के पास उतारना विकल्पभीमसेन से कानपुर के बीच रेल फ्लाईओवर का सर्वे चल रहा है। यह बजट में स्वीकृत है। सर्वे में हर तरह का आंकलन करने के बाद प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की जाएगी। 1डीके मिश्र, डिप्टी चीफ इंजीनियर कंस्ट्रक्शन विभाग
Aug 11 2017 (01:22)  High Capacity Parcel Vans in Indian Railways (wap.business-standard.com)
back to top
Other NewsWR/Western  -  

News Entry# 311346     
   Past Edits
Aug 11 2017 (01:22)
Station Tag: Daund Junction/DD added by Cheetah*^~/53414

Aug 11 2017 (01:22)
Station Tag: Bhimsen Junction/BZM added by Cheetah*^~/53414

Aug 11 2017 (01:22)
Station Tag: Baraut/BTU added by Cheetah*^~/53414

Aug 11 2017 (01:22)
Station Tag: Palanpur Junction/PNU added by Cheetah*^~/53414
 
 
To meet the demand of full vehicle load perishable traffic, Indian Railways has developed High Capacity Parcel Vans (VPs) with a capacity of 23 Tonnes which are attached to passenger carrying trains subject to availability of room in train and operational feasibility. To facilitate transportation of milk through Rail, specially designed High Capacity Milk Tankers having capacity of 44.66 KL are run as Special trains. At present 3 Milk tanker trains are being run of which 2 trains are run by Gujarat Corporative Milk Marketing Federation Ltd. (GCMMFL) from Palanpur to Bhim Sen and other by Mother Dairy from Daund to Baraut.
In addition to this, Indian Railways also run special parcel train consisting of High Capacity Parcel Vans for transportation of
...
more...
fruits in bulk like Mango, Banana, Orange etc. on demand, on a fixed path between specific origin-destination stations. Railways supply rakes for transportation of fruits on indent basis.
For transportation of horticulture produce in container, Container Corporation of India (CONCOR) has procured 98 Ventilated Isolated Containers specially designed for movement of fruits and vegetables.
Jul 19 2017 (09:12)  टेंडर पर अटक गया डबल ट्रैक का काम (www.amarujala.com)
back to top
Other News

News Entry# 308851   Blog Entry# 2357247     
   Past Edits
Jul 19 2017 (09:12)
Station Tag: Bhimsen Junction/BZM added by The Phenomenal One~/1469143

Jul 19 2017 (09:12)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by The Phenomenal One~/1469143

Jul 19 2017 (09:12)
Station Tag: Jhansi Junction/JHS added by The Phenomenal One~/1469143
 
 
झांसी।
रेल विकास निगत लिमिटेड झांसी- कानपुर डबल ट्रैक पर एक कंपनी का ठेका निरस्त होने के तीन महीने बाद भी नए सिरे से टेंडर के लिए प्रक्रिया शुरू नहीं कर सकी है। इससे काम की गति धीमी पड़ती जा रही है। काम अब दो से ढाई साल और विलंब से पूरा होने की संभावना है। अभी यह काम जून 2018 तक पूरा करने का लक्ष्य था। इसके अलावा शहर के और भी कई विकास कार्य ठप हैं। कहीं बजट आड़े आ रहा है तो कहीं बालू उपलब्ध नहीं है।
रेल
...
more...
बजट 2013-14 में झांसी-कानपुर डबल ट्रैैक के लिए 817 करोड़ रुपये स्वीकृत हुई हैं। इसमें झांसी-भीमसेन के बीच 206 किलोमीटर तक काम होना है। इसकी जिम्मेदारी रेल विकास निगम लिमिटेड (आरवीएनएल) को सौंपी गई है। इसने यह काम तीन कंपनियों को सौंपा है। झांसी से एरच रोड स्टेशन (66 किलोमीटर) तक 265 करोड़ का काम मुंबई की कंपनी जीएमआर, एरच रोड से ऊसरगांव (70 किलोमीटर) तक 288 करोड़ का काम बंगलूरू की कंपनी केईसी को और ऊसरगांव से भीमसेन (69 किलोमीटर) तक का 264 करोड़ का काम हैदराबाद की कंपनी एसईडब्लू को सौंपा गया है। डबल ट्रैक को पूरा करने का लक्ष्य जून-2018 तय किया गया है। मुंबई और बंगलूरू की कंपनियां अपने हिस्से का 70 फीसदी काम पूरा कर चुकी हैं। जबकि, हैदराबाद की कंपनी काम बेहद धीमा चल रहा था। यह कंपनी तीन साल में 70 में 20 किलोमीटर भी पटरी बिछाने का काम पूरा नहीं कर सकी है। इस कारण रेल विकास निगम लिमिटेड ने अप्रैल में हैदराबाद की कंपनी का टेंडर निरस्त कर दिया गया था। मगर, तीन माह बाद भी नए टेंडर की प्रक्रिया शुरू नहीं हो सकी है। इससे काम पिछड़ता जा रहा है।
‘भीमसेन और ऊसरगांव स्टेशन के बीच डबल ट्रैक का काम तय समय पर पूरा हो सके, इसके लिए जल्द ही नया टेंडर निकाला जाएगा।
मनोज कुमार सिंह, जनसंपर्क अधिकारी रेलवे।
पारीछा तक भी लाइन क्लीयर नहीं
उत्तर मध्य रेलवे के महाप्रबंधक मूलचंद्र चौहान ने झांसी-कानपुर डबल ट्रैक का 21 किलोमीटर हिस्सा (झांसी से पारीछा तक ट्रैक) जून महीने में चालू होने की बात कही थी, लेकिन अभी तक संचालन शुरू नहीं हो सका है। अभी इसमें दो- तीन महीने और लग सकते हैं। मालूम हो कि, झांसी होकर हर रोज पारीछा थर्मल पावर हाउस कोयले से भरी मालगाड़ियां जाती हैं। अभी सिंगल लाइन होने के कारण मालगाड़ियों को निकालते समय अन्य ट्रेनों को रास्ते के स्टेशनों पर खड़ा करना पड़ता है। पारीछा तक डबल ट्रैक शुरू होने पर अन्य ट्रेनों का संचालन तेज हो जाएगा।

1 posts - Wed Jul 19, 2017 - are hidden. Click to open.

1 posts - Thu Jul 20, 2017 - are hidden. Click to open.

1336 views
Jul 25 2017 (15:16)
Pankaj   17 blog posts
Re# 2357247-3            Tags   Past Edits
Right.....
But Abhi bhi ye work june 2018 tak complete ho sakta hai...agar...
Ye log kaam acche se kare hai to....
I hope ye work jaldi se jaldi complete ho jaye.....
Isse mumbai & south
...
more...
ki trains late nahi hongi...
Mar 11 2016 (09:41)  झांसी तक दोहरीकरण को मिले 400 करोड़ (epaper.jagran.com)
back to top
Rail BudgetNCR/North Central  -  

News Entry# 260847   Blog Entry# 1763571     
   Past Edits
Mar 11 2016 (9:41AM)
Station Tag: Bhimsen/BZM added by ansariFaiz**/403974

Mar 11 2016 (9:41AM)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by ansariFaiz**/403974

Mar 11 2016 (9:41AM)
Station Tag: Jhansi Junction/JHS added by ansariFaiz**/403974
 
 
कानपुर1झांसी रेलमार्ग पर ट्रैक दोहरीकरण कार्य में 400 करोड़ रुपये मिलने के बाद तेजी आ गई है। रेलमंत्री ने धन आवंटित कर ताकीद भी की है कि समय सीमा के अंदर दोहरीकरण पूरा हो जाना चाहिए।125 फरवरी को रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने संसद में रेल बजट पेश किया था लेकिन ये स्पष्ट नहीं था कि झांसी रेलमार्ग के दोहरीकरण को कितना धन आवंटित हुआ है लेकिन अब सारी तस्वीर साफ हो गई है। झांसी रेलमार्ग पर भीमसेन से झांसी तक कुल 206 किमी का दोहरीकरण होना है जिस पर कुल 1100 करोड़ रुपये खर्च आंका गया है। इस बार रेल बजट में सबसे अधिक धन दोहरीकरण को आवंटित हुआ है। बोर्ड ने इस दोहरीकरण के लिए मार्च 2018 की समयावधि निर्धारित की है। ये कार्य तीन चरणों में हो रहा है और तीन कंपनियां कार्य में जुटी हैं।1झांसी रेलमार्ग पर 150 प्रतिशत लोड : झांसी रेलमार्ग पर क्षमता से अधिक ट्रेनें...
more...
दौड़ रही हैं। राष्ट्रीय रेल सलाहकार कमेटी के सदस्य शेख मोहम्मद ने बताया कि सर्वे में पाया गया है कि ये ट्रैक क्षमता से अधिक उपयोग मे लाया जा रहा है यानी 150 प्रतिशत का लोड इस ट्रैक पर है। 1तीन घंटे में सेंट्रल से झांसी : भीमसेन से झांसी तक ट्रैक दोहरीकरण होने के बाद ट्रेनों को सेंट्रल स्टेशन से झांसी पहुंचने में मात्र तीन घंटे का समय लगेगा। अभी ट्रेनें 5 से 6 घंटे लेती हैं। दरअसल भीमसेन से झांसी तक सिंगल रूट है जिससे सामने से आने वाली या पीछे किसी सुपरफास्ट ट्रेन को आगे निकालने को किसी न किसी स्टेशन की लूप लाइन पर ट्रेन को रोकना पड़ता है। इस प्रक्रिया में करीब 2 घंटे का समय बर्बाद होता है।4>>206 किमी टैक दोहरीकरण पर कुल 1100 करोड़ खर्च होंगे 14>>640 करोड़ मिल चुका, तीन चरणों में चल रहा दोहरीकरण

5171 views
Mar 11 2016 (11:09)
Aditya Immortal ™ ©~   3335 blog posts   187 correct pred (54% accurate)
Re# 1763571-1            Tags   Past Edits
Wow That A great News
After A long Time Akhir KAr ye route Doubling pass hooo gya

Mar 11 2016 (14:53)
ansariFaiz*^~   3872 blog posts   5014 correct pred (71% accurate)
Re# 1763571-2            Tags   Past Edits
Work is going on. Earth work almost over between Orai & Jhansi. Track laying has started in few sections. Also 2nd bridge on Yamuna also being constructed in full swing.

4752 views
Mar 11 2016 (16:16)
Aditya Immortal ™ ©~   3335 blog posts   187 correct pred (54% accurate)
Re# 1763571-3            Tags   Past Edits
Thanks for Info Sir😃😃

4565 views
Mar 11 2016 (20:23)
GZB WAP5 WITH GD sf AT GORAKHPUR JN~   5440 blog posts   10 correct pred (50% accurate)
Re# 1763571-4            Tags   Past Edits
Dekhiye kab tak pora hoga.................
Mar 11 2016 (00:54)  भीमसेन से झांसी तक दोहरीकरण को मिले 400 करोड़ (www.jagran.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNCR/North Central  -  

News Entry# 260826   Blog Entry# 2257399     
   Past Edits
Mar 11 2016 (12:55AM)
Station Tag: Bhimsen/BZM added by Polythene banned in UP**/622971

Mar 11 2016 (12:55AM)
Station Tag: Jhansi Junction/JHS added by Polythene banned in UP**/622971

Mar 11 2016 (12:55AM)
Station Tag: Kanpur Central/CNB added by Polythene banned in UP**/622971
 
 
भीमसेन से झांसी तक दोहरीकरण को मिले 400 करोड़
Thu, 10 Mar 2016 06:47 PM (IST)
जमीर सिद्दीकी, कानपुर
झांसी रेलमार्ग पर ट्रैक दोहरीकरण कार्य में 400 करोड़ रुपये मिलने के बाद तेजी आ गई है। रेलमंत्री ने धन आवंटित कर ताकीद भी की है कि समय सीमा के अंदर दोहरीकरण पूरा हो जाना चाहिए।
बीते
...
more...
माह 25 फरवरी को रेलमंत्री सुरेश प्रभु ने संसद में रेल बजट पेश किया था लेकिन ये स्पष्ट नहीं था कि झांसी रेलमार्ग के दोहरीकरण को कितना धन आवंटित हुआ है लेकिन अब सारी तस्वीर साफ हो गई है। झांसी रेलमार्ग पर भीमसेन से झांसी तक कुल 206 किमी का दोहरीकरण होना है जिस पर कुल 1100 करोड़ रुपये खर्च आंका गया है। इस बार रेल बजट में सबसे अधिक धन दोहरीकरण के लिए आवंटित हुआ है। रेलवे बोर्ड ने इस दोहरीकरण के लिए मार्च 2018 की समयावधि निर्धारित की है। ये कार्य तीन चरणों में हो रहा है और तीन कंपनियां कार्य में जुटी हैं।
झांसी रेलमार्ग पर 150 प्रतिशत लोड
झांसी रेलमार्ग पर क्षमता से अधिक ट्रेनें दौड़ रही हैं। राष्ट्रीय रेल सलाहकार कमेटी के सदस्य शेख मोहम्मद ने बताया कि सर्वे में पाया गया है कि ये ट्रैक क्षमता से अधिक उपयोग मे लाया जा रहा है यानी 150 प्रतिशत का लोड इस ट्रैक पर है।
झांसी रेलमार्ग की स्थिति
ø सेंट्रल से झांसी की कुल दूरी- 216 किमी
ø सेंट्रल से भीमसेन तक डबल ट्रैक है
ø भीमसेन से झांसी तक 206 किमी है
ø प्रतिदिन ट्रेनें लगभग-120
ø वर्ष 2012 में दोहरीकरण स्वीकृत
ø वर्ष 2013 में 20 करोड़ मिले।
ø वर्ष 2014 में 20 करोड़ मिले।
ø वर्ष 2015 में 200 करोड़ मिले।
ø वर्ष 2016 में 400 करोड़ मिले।
ø दोहरीकरण पर खर्च 1100 करोड़।
ø अब तक मिल चुका 640 करोड़।
तीन घंटे में सेंट्रल से झांसी
भीमसेन से झांसी तक ट्रैक दोहरीकरण होने के बाद ट्रेनों को सेंट्रल स्टेशन से झांसी पहुंचने में मात्र तीन घंटे का समय लगेगा। अभी ट्रेनें 5 से 6 घंटे लेती हैं। दरअसल भीमसेन से झांसी तक सिंगल रूट है जिससे सामने से आने वाली या पीछे किसी सुपरफास्ट ट्रेन को आगे निकालने को किसी न किसी स्टेशन की लूप लाइन पर ट्रेन को रोकना पड़ता है। इस प्रक्रिया में करीब 2 घंटे का समय बर्बाद होता है।

1 posts - Sun Apr 30, 2017 - are hidden. Click to open.

1 posts - Mon May 01, 2017 - are hidden. Click to open.

1870 views
May 02 2017 (02:34)
Pankaj   17 blog posts
Re# 2257399-3            Tags   Past Edits
I think the work is slow.
The work is divided into three parts
1 JHS-ERC
2 ERC-Usargaon(in between CNH-KPI)
3 Usargaon - BZM
Lekin
...
more...
abhi tak ek part bhi complete nahi hua hai.
The Kalpi bridge construction is in full swing.
Page#    Showing 1 to 16 of 16 News Items  

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.