Full Site Search  
Mon Aug 21, 2017 11:56:53 IST
PostPostPost Stn TipPost Stn TipUpload Stn PicUpload Stn PicAdvanced Search
Large Station Board;
Scenic; Medium; Front Entrance - Outside; Large Station Board;
Scenic; Front Entrance - Outside; Large Station Board;
Escalator;

JP/Jaipur Junction (6 PFs)
     जयपुर जंक्शन

Track: Construction - Double-Line Electrification

Type of Station: Junction
Number of Platforms: 6
Number of Halting Trains: 129
Number of Originating Trains: 39
Number of Terminating Trains: 39
Junction point BKI / AII (FL) / SWM / RGS ..Tel: 0141-2204536, Opp Police Run, Shantinagar, Hasanpura, Jaipur
State: Rajasthan
Elevation: 436 m above sea level
Zone: NWR/North Western
Division: Jaipur
 
 
20 Travel Tips
No Recent News for JP/Jaipur Junction
Nearby Stations in the News

Rating: 4.1/5 (264 votes)
cleanliness - good (35)
porters/escalators - good (33)
food - good (35)
transportation - good (32)
lodging - good (31)
railfanning - excellent (32)
sightseeing - excellent (33)
safety - good (33)

Nearby Stations

BSGD/Bais Godam 2 km     DKBJ/Dahar Ka Balaji 3 km     GADJ/Jaipur Gandhinagar 5 km     DPA/Durgapura 7 km     KKU/Kanakpura 9 km     GTJT/Getor Jagatpura 11 km     NDH/Nindhar Benar 11 km     SNGN/Sanganer 12 km     BDYK/Bindayaka 14 km     KWP/Khatipura 17 km    

Station News

Page#    Showing 1 to 20 of 408 News Items  next>>
Aug 13 2017 (20:43)  Rly pays tribute to martyrs of Indo-Pak war (epaperbeta.timesofindia.com)
back to top
Other NewsNWR/North Western  -  

News Entry# 311629     
   Tags   Past Edits
Aug 13 2017 (20:43)
Station Tag: Barmer/BME added by karthik iyer^~/248735

Aug 13 2017 (20:43)
Station Tag: Gadra Road/GDD added by karthik iyer^~/248735

Aug 13 2017 (20:43)
Station Tag: Jaipur Junction/JP added by karthik iyer^~/248735

Posted by: karthik iyer^~  618 news posts
 
 
The Indian Railways will pay tribute to its 17 unsung heroes who attained martyrdom in 1965 Indo-Pak war while transporting arms, ammunition, and ration to the armed forces along the border in Barmer district.
These fearless heroes, including three loco pilots and 14 railway constables, went to the war zone on September 10, 1965, in a six-wagon steam engine loaded with ammunition and ration for the battalion 13 Grenadier (GJ).
They were intercepted by the Pakistani air force at Gadraroad (3km away from the Gadraroad railway station) which indiscriminately bombed the train. The
...
more...
boiler of the engine exploded and all of them died on the spot. The explosion was so huge that the bodies of six employees were never traced, including that of chief loco pilot, Madho Singh Gehlot. The undocumented account also says that the train first collided with an engine of another train coming from the opposite direction on the same track. The collision left the train stranded on the tracks and was later intercepted by the Pakistani air force.
Sukhdev Singh Gehlot, nephew of martyr Madho Singh Gehlot, recalled that his uncle was married for on ly 18 days when he received a message to take a train to the war zone. “He was new in the job and the message was relayed to him after many other loco pilots refused to drive the train to the war zone. My uncle sought permission from his parents and wife who allowed him to serve the nation,“ said Sukhdev.
The railways had received information that the Indian armed forces were falling short of ration and arms. To transport the required goods, the train route was chosen due to the higher risk involved in taking the road. The air route in Barmer was not fully developed. Gehlot along with two other loco pilots and 14 railway constables took the toughest journey of their lives from the Barmer railway station.
Retired Col K H S Shekhawat says, “Pakistan army had temporary control over some areas near Gadraroad. That was the reason why they could bomb the train in the Indian territory . However, within days, the offensive by our armed forces pushed them back into their territory .“
Taking note of the supreme sacrifice made by its employees, the North Western Railway (NWR) had built a memorial at the spot where the train was bombed. Even now, trains passing by the spot would either slow down or stop to pay tributes to the martyrs.“The North Western Railway's contribution during the wars--World War 1 and II along with wars in 1965 and 1971--is unparalleled in the country . The contribution made by these fighters will remain in the memory of general public for years to come,“ said Tarun Jain, chief public relations officer. NWR.
Aug 13 2017 (09:52)  दिल्ली-रेवाड़ी रेल सेक्शन के इलेक्ट्रिफिकेशन का काम शुरू (www.bhaskar.com)
back to top
Rail BudgetNR/Northern  -  

News Entry# 311591     
   Tags   Past Edits
Aug 13 2017 (09:52)
Station Tag: Rewari Junction/RE added by LK Sharma/346804

Aug 13 2017 (09:52)
Station Tag: Gurgaon/GGN added by LK Sharma/346804

Aug 13 2017 (09:52)
Station Tag: Delhi Sarai Rohilla/DEE added by LK Sharma/346804

Aug 13 2017 (09:52)
Station Tag: Jaipur Junction/JP added by LK Sharma/346804

Posted by: LK Sharma  8 news posts
 
 
गुड़गांव। दिल्ली-रेवाड़ीरेल सेक्शन के इलेक्ट्रिफिकेशन की यात्रियों की वर्षों पुरानी मांग जल्द पूरी होने जा रही है। शनिवार को केंद्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 78 किलोमीटर के इस मार्ग के इलेक्ट्रिफिकेशन के काम की आधारशिला रखी। यह काम एक साल में पूरा हो जाएगा। साथ ही इस मार्ग पर लंबी दूरी की ट्रेनों के चलने की आशा बढ़ जाएगी। मंत्रालय ने इसका ठेका एलएनटी कंपनी को दिया है। इसे लेकर गुड़गांव रेलवे स्टेशन पर आधारशिला कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह मौजूद रहे। इस अवसर पर इंद्रजीत ने गुड़गांव रेलवे स्टेशन पर बनने वाले फुटओवर ब्रिज का भी शिलान्यास किया।
इलेक्ट्रिफिकेशन की लंबे अर्से से हो रही थी मांग
भले
...
more...
ही गुड़गांव ने मिलेनियम सिटी के तौर पर पहचान बना रखी हो, मगर रेलवे सेवाओं में गुड़गांववासी सालों से उपेक्षा के शिकार हो रहे हैं। गुड़गांव से जुड़ी एक मात्र रेलवे लाइन दिल्ली-रेवाड़ी लाइन का हरियाणा में आज तक विद्युतीकरण नहीं हो सका। यही कारण है कि इस मार्ग से दूर की ट्रेनें अपेक्षाकृत कम चल रही हैं। इसे लेकर काफी लंबे अर्से से लोग आवाज उठा रहे हैं। क्षेत्र के सांसद और विधायकों ने भी इसे गंभीरता से नहीं लिया। शुक्रवार को शिलान्यास अवसर पर गुड़गांव विधायक उमेश अग्रवाल ने कहा कि राव इंद्रजीत सिंह पिछले 25 साल से इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। वे क्षेत्र के विकास के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। अब इन्होंने रेलवे के माध्यम से गुड़गांव की व्यवस्था को सुधारने का बीड़ा उठाया है, जो निश्चित तौर पर पूरा होगा।
कार्यक्रमके दौरान ये रहे मौजूद
शनिवारको गुड़गांव रेलवे स्टेशन पर शिलान्यास कार्यक्रम में जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी राज्यमंत्री डॉ. बनवारी लाल, विधायक उमेश अग्रवाल, विधायक बिमला चौधरी, गुड़गांव के निवर्तमान मेयर बिमल यादव, उत्तर रेलवे के महाप्रबंधक आरके कुलश्रेष्ठ मौजूद रहे।
केंद्रीय मंत्री, बोले स्मार्ट सिटी के अनुरूप होगा गुड़गांव स्टेशन
शनिवार को केंद्रीय मंत्री इंद्रजीत ने कहा कि गुड़गांव एनसीआर क्षेत्र में सरकार को सबसे ज्यादा रेवेन्यू देता है और यहां के रेलवे स्टेशन को स्मार्ट सिटी के अनुरूप ही होना चाहिए। गुड़गांव का रेलवे स्टेशन वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन बनाया जाएगा, जहां यात्रियों को बेहतर इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ ही अच्छी सुविधाएं दी जाएंगी। उन्होंने यह काम महज दो साल में पूरा करने का दावा किया। उन्होंने कहा कि गुड़गांव रेलवे स्टेशन साल 2019 तक वर्ल्ड क्लास रेलवे स्टेशन बनाकर आम जनता को समर्पित किया जाएगा।
प्रदेश के मंत्री बोले, अंतरराष्ट्रीय स्तर का बनेगा धनकोट स्टेशन
इधर प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर सिंह गुड़गांव रेलवे स्टेशन से 3 किलोमीटर आगे धनकोट रेलवे स्टेशन को अंतरराष्ट्रीय बनाने का दावा कर रहे हैं। पिछले दिनों एक कार्यक्रम में उन्होंने कहा था कि गुरुग्राम जिला विश्वस्तर पर अपनी पहचान बना चुका है, लेकिन यहां रेलवे स्टेशन उतना भव्य नहीं है। जमीन के अभाव में रेलवे स्टेशन का विस्तार नहीं हो पाया। गुरुग्राम रेलवे स्टेशन का आधुनिकीकरण तो होगा ही, साथ ही धनकोट रेलवे स्टेशन को अपग्रेड कर उसे दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की तर्ज पर विकसित किया जाएगा।
इन दिनों गुड़गांव में विकास कार्यों से संबंधित दावों की होड़ लगी हुई है। केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत सिंह गुड़गांव स्टेशन को वर्ल्ड क्लास बनाने का दावा कर रहे हैं तो प्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री राव नरबीर सिंह धनकोट स्टेशन को इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की तर्ज पर बनाने का दावा कर रहे हैं।
फर्रुखनगर में रुकना शुरू हुई सुपरफास्ट चेतक
केंद्रीय मंत्री राव इंद्रजीत ने बताया कि लंबे समय से मांग उठ रही थी कि फर्रुखनगर में सुपरफास्ट ट्रेन का ठहराव किया जाए। दैनिक रेल यात्रियों की इस मांग के मद्देनजर इसे पूरा किया गया। इसके चलते एक जुलाई से सुपरफास्ट ट्रेन चेतक का ठहराव फर्रुखनगर में करा दिया गया है। अब यहां के लोग इसका भरपूर लाभ उठा रहे हैं। इस ट्रेन के चलते लोगों को आवागमन में काफी सुविधा हो गई है।
शनिवार को गुड़गांव रेलवे स्टेशन पर बनने वाले फुटओवर ब्रिज का भी शिलान्यास किया गया। यहां फुटओवर ब्रिज की लंबे समय से मांग थी। रेलवे रोड की तरफ से पैदल आने वाले लोगों को रेलवे लाइन की दूसरी तरफ राजेंद्रा पार्क क्षेत्र में जाने के लिए कोई विकल्प नहीं है। मजबूरन लोग रेलवे लाइन क्रॉस कर एक तरफ से दूसरी तरफ जाते हैं। इसमें दुर्घटना की आशंका रहती है। लोग रेलवे लाइन पार करने के लिए फुटओवर ब्रिज बनाने की मांग कर रहे थे।
click here
Aug 06 2017 (15:17)  तेज रफ्तार ट्रेन की चपेट में आने से 5 यात्रियाें की मौत, प्लेटफॉर्म पर रॉन्ग साइड पर उतरे थे (m.bhaskar.com)
back to top
Crime/AccidentsWCR/West Central  -  

News Entry# 310927     
   Tags   Past Edits
Aug 06 2017 (15:17)
Station Tag: Gangapur City/GGC added by 12952 नई दिल्ली मुंबई राजधानी द किंग~/1035494

Aug 06 2017 (15:17)
Station Tag: Jaipur Junction/JP added by 12952 नई दिल्ली मुंबई राजधानी द किंग~/1035494

Aug 06 2017 (15:17)
Station Tag: Sawai Madhopur Junction/SWM added by 12952 नई दिल्ली मुंबई राजधानी द किंग~/1035494

Aug 06 2017 (15:17)
Train Tag: Garbha SF Express/12937 added by 12952 नई दिल्ली मुंबई राजधानी द किंग~/1035494

Aug 06 2017 (15:17)
Train Tag: Jaipur - Bayana Fast Passenger/59805 added by 12952 नई दिल्ली मुंबई राजधानी द किंग~/1035494

Posted by: 12952 नई दिल्ली मुंबई राजधानी द किंग~  94 news posts
 
 
सवाई माधोपुर। सवाई माधोपुर रेलवे स्टेशन पर रविवार को दर्दनाक हादसे में पांच लोगों की ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। इनमें से चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई तथा एक ने अस्पताल में दम तोड़ दिया। जानिए और इस बारे में ...
- सवाई माधोपुर रेवल स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर एक ट्रेन से यात्री उतरे थे। वे रॉन्ग साइड पर उतरे और तभी वहां से गुजर रही ट्रेन की चपेट में आ गए। इससे चार लोगों की मौत हो गई।
- घायलों को
...
more...
अस्पताल पहुंचाया गया जहां इलाज के दौरान एक ने दम तोड़ दिया।

ऐसे हुआ हादसा

- सवाईमाधोपुर रेलवे स्टेशन प्लेटफॉर्म नंबर एक पर कोटा-बयाना ट्रेन आकर रुकी। वहीं प्लेटफॉर्म नंबर दो पर पहले एक ट्रेन खड़ी थी। दानों प्लेटफार्म के बीच एक फास्ट ट्रैक है। इस फास्ट ट्रैक से वे गाड़ियां निकाली जाती हैं जो इस स्टेशन पर रुकती नहीं हैं।
- राखी के त्योहार के कारण ट्रेनों में बड़ी संख्या में लोग यात्रा कर रहे हैं। इस कारण ट्रेन यात्रियों से खचाखच भरी थी।
- यात्री भीड़ होने के कारण रॉन्ग साइड पर उतर गए। तभी फास्ट ट्रैक से गरबा एक्सप्रेस गुजरी। गाड़ी की रफ्तार काफी तेज थी और जो यात्री रॉन्ग साइड पर उतरे वे गरबा एक्सप्रेस की चपेट में आ गए।
- इससे वहां चीख पुकार मच गई। मदद को पुलिस व रेलवे अधिकारी पहुंचे। चार शवों व घायलों को अस्पताल पहुंचाया गया जहां इलाज के दौरान एक पैसेंजर की मौत हो गई।
Aug 05 2017 (08:50)  L&T gets `758 crore contract for railway electrification in Rajasthan (www.dnaindia.com)
back to top
New Facilities/TechnologyNWR/North Western  -  

News Entry# 310805   Blog Entry# 2371526     
   Tags   Past Edits
Aug 05 2017 (08:50)
Station Tag: Jaipur Junction/JP added by ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐^~/1366147

Posted by: ⭐ ⭐ ⭐ Telangana Express Oops AP Express ⭐ ⭐ ⭐^~  507 news posts
 
 
A The Indian Railways has awarded the Engineering, Procurement and Construction (EPC) contracts for electrification of Delhi-Sarai Rohilla-Rewari and Alwar-Bandikui-Jaipur-Phulera-Ajmer 353km section to Larsen & Toubro (L&T). The contract is worth Rs594 crore. The Railways will undertake the electrification work of Ringas-Jaipur- Sawai Madhopur 188km stretch through its own undertaking Rail India Techno Economic Service (RITES) at a cost of Rs163.73 crore.
Thus Rs757.73 crore will be spent in electrification in North Western Railway in the coming years. The electrification of Delhi-Sarai Rohilla-Rewari and Alwar-Bandikui-Jaipur-Phulera and Ajmer and Ringas -Jaipur-Sawai Madhopur section once completed will improve the efficiency of movement with the faster electric locomotives replacing the diesel-driven engines.
In
...
more...
an event for “Exchanging of Agreement with Stakeholders as part of “Mission Electrification” and ‘First EPC’ contract of Indian Railways” which was held in Rail Bhawan on Friday in the presence of the Minister of state for railways and communications (independent charge) Manoj Sinha and high Railway Board officials Rajeev Jyoti ,CEO of L&T (Railways business) exchanged agreement with SP Tripathi, General Manager of CORE which is the nodal agency for the electrification of the Delhi-Sarai Rohilla-Rewari and Alwar-Bandikui-Jaipur-Phulera and Ajmer section. Similarly, the General Manager of the North Western Railway Girish Pillai exchanged the agreement with the CMD of RITES Rajeev Mehrotra for the Ringas-Jaipur-Sawai Madhopur section.
The Indian Railways has given higher thrust to infrastructure creation and electrification in the country. During the last four years years, total 103 railway electrification projects consisting of 16,815 route kilometre at estimated cost of Rs 17, 615 crore have been sanctioned. Out of this, 541km comes under the North Western Railway.
The cumulative saving due to electric traction bill will be about Rs 26,000 crore in a decade which will be in addition to saving of Rs 41,000 crore planned to be achieved due to reduction in cost of power to railways.

2 posts - Sat Aug 05, 2017 - are hidden. Click to open.

11 posts - Sun Aug 06, 2017 - are hidden. Click to open.

10-12 Km nahi easily 2-3 km extra me kam chal jaega.
Swm station se sidhe Airstrip and BSNL colony ke pas se pachivalya village hote hue sidhe CKB ya fir Devpura me pahucha sakte h.

639 views
Aug 06 2017 (15:01)
Electrified100~   103 blog posts
Re# 2371526-15            Tags   Past Edits
Yes, Sawai Madhopur to Jaipur is such that trains coming from east side (Agra) directly go to Jaipur, since Agra-Bharatpur-Bandikui was a metre gauge back then. Now, Railways should introduce a new station OR another connection towards Sawai Madhopur from North side. After Electrification, there is no need for reversal. But, Sawai Madhopur has been an important station on this route. So, bypassing SWM won't do good for SWM public.

647 views
Aug 06 2017 (15:06)
Electrified100~   103 blog posts
Re# 2371526-16            Tags   Past Edits
Well, Railways is considering doubling of JP-SWM and demand from local leaders is huge. As of now, Updating Survey is going on this route for doubling as the first unit of INR 2 lacs has been alloted in this budget (Total: 19.5 Lacs for the survey).

637 views
Aug 06 2017 (15:15)
Rajasthan must gt 15000 crore for Railwy developmn^~   84508 blog posts   5303 correct pred (78% accurate)
Re# 2371526-17            Tags   Past Edits
This is only a survey. Iam sure when they calculate ROR after survey it would be negative and they would have to shelve it..

673 views
Aug 06 2017 (15:33)
Baaz SGUJ WDP4~   1117 blog posts   43 correct pred (62% accurate)
Re# 2371526-18            Tags   Past Edits
No one is suggesting for shifting of all trains to a new bypass line. Some fast trains like Duronto can be tried. Just like it is followed at VSKP.

730 views
Aug 06 2017 (15:45)
12952 नई दिल्ली मुंबई राजधानी द किंग~   8039 blog posts   358 correct pred (78% accurate)
Re# 2371526-19            Tags   Past Edits
Bilkul SWM ka byepass hum kabhi nahi banne denge. Chahe iske liye hame kuchh bhi karna pade.

761 views
Aug 06 2017 (15:47)
12952 नई दिल्ली मुंबई राजधानी द किंग~   8039 blog posts   358 correct pred (78% accurate)
Re# 2371526-20            Tags   Past Edits
Nahi hoga kabhi .hamre leaders Dr Kirodi Lal , Namonarayan, Ramesh ji kabhi aisa nahi hone denge.
Aur hum sab agar kabhi SWM ke byepass ki mang uthi to uske khilaf aandolan karne ke liye taiyar h.

758 views
Aug 06 2017 (15:50)
Baaz SGUJ WDP4~   1117 blog posts   43 correct pred (62% accurate)
Re# 2371526-21            Tags   Past Edits
That is very unbecoming of you to say things like that. Just for the sake of your own area, you're suggesting train blockade against something that can help and provide comfort to others? Are you one of those who support your leaders for blocking train lines for reservation demands and completely justify it?

739 views
Aug 06 2017 (16:27)
12952 नई दिल्ली मुंबई राजधानी द किंग~   8039 blog posts   358 correct pred (78% accurate)
Re# 2371526-22            Tags   Past Edits
Yes i am from those who support our leaders for blocking train agar koi hamara haq chhin ne ki koshish karega.
SWM aaj all India se connected h lekin agar Byepass bana to ye connectes buri tarah toot jaega. North south ke alawa koi connectivity nahi bachegi hamare pas.
Agar aapke station se 1 train bhi hata do to socho aapko kitna bura lagega aur poore SWM se 30% train hat jaengi. Aur hum aisa to hone nahi denge .aur mujhe pata h ki hamare leader hamre sath h.
Mai
...
more...
reservation ke liye nahi apne haq ki ladai ke liye bol raha hu.

748 views
Aug 06 2017 (17:02)
Baaz SGUJ WDP4~   1117 blog posts   43 correct pred (62% accurate)
Re# 2371526-23            Tags   Past Edits
First of all, my opinions were based on diverting "some" fast trains like Duronto and not all. Just like it is done at VSKP or HWH.
Second, since you have your views, let me tell you mine. Any kind of disruption of public services thereby causing harm to substantially large number of people just for the demands (in the name of rights) of a section of people, is not at all ethical given the reasons and "haq" is fundamentally flawed. Since, you have clarified that you support your leaders like Mr Kirodilal Meena, who has played important role in the past for blocking Delhi-Mumbai route completely, it is sad to see youngsters justifying acts of such leaders whose provocations and actions in
...
more...
the name of agitation and railway line blockade caused such a huge loss to nation and affected so many commuters in the busy Delhi-Mumbai route. It is more sad to see assurance and faithfulness towards such leaders.
PS: If a train is removed from my station, I won't feel bad. Just like SWM, I have big stations with 1 hour ride away. I have well connected Howrah, that is one night journey away. There are many trains that skip my stations and frankly, passengers do break journeys by going to near by big stations.
Aug 03 2017 (20:43)  जमीन अवाप्ति की प्रक्रिया में िढलाई, देरी पर रुक सकता है अहमदाबाद आमान परिवर्तन का काम (m.bhaskar.com)
back to top
Rail BudgetNWR/North Western  -  

News Entry# 310596     
   Tags   Past Edits
Aug 03 2017 (20:43)
Station Tag: Himmatnagar Junction/HMT added by LK Sharma/346804

Aug 03 2017 (20:43)
Station Tag: Ahmedabad Junction/ADI added by LK Sharma/346804

Aug 03 2017 (20:43)
Station Tag: Dungarpur/DNRP added by LK Sharma/346804

Aug 03 2017 (20:43)
Station Tag: Chittaurgarh Junction/COR added by LK Sharma/346804

Aug 03 2017 (20:43)
Station Tag: Jaipur Junction/JP added by LK Sharma/346804

Aug 03 2017 (20:43)
Station Tag: Ajmer Junction/AII added by LK Sharma/346804

Aug 03 2017 (20:43)
Station Tag: Udaipur City/UDZ added by LK Sharma/346804

Posted by: LK Sharma  8 news posts
 
 
Hindi News 1
ट्रेंडिंग
देश
बॉलीवुड
जीवन मंत्र
स्पोर्ट्स
...
more...

क्विज़
विदेश
खबरें जरा हटके
गैजेट्स
मूवी रिव्यु
ऑटो
हेल्थ
खाना खज़ाना
CHANGE
+
x
Advertisement
जमीन अवाप्ति की प्रक्रिया में िढलाई, देरी पर रुक सकता है अहमदाबाद आमान परिवर्तन का काम
Aug 03,2017 08:30:03 AM IST
जावरा स्टेशन के मोचिया और बलारिया माइंस के बीच रूट बदलने का काम होगा
2018 तक ब्राॅडगेज करने का लक्ष्य घोषित किया है
उदयपुर-अहमदाबादरेल लाइन आमान परिवर्तन के काम जमीन के अभाव में अटक सकते हैं। जावर माइंस क्षेत्र में जमीन अवाप्ति के लिए रेलवे ने दो साल पहले प्रस्ताव बनाकर जिला प्रशासन को दिया था, लेकिन जिला प्रशासन ने इसमें गंभीरता नहीं दिखाई है। जमीन अवाप्ति की प्रक्रिया में देरी के कारण रेल लाइन का काम अटकने का अंदेशा जताया जा रहा है। उत्तर पश्चिम रेलवे ने उदयपुर-अहमदाबाद के बीच 300 किमी में मीटर गेज लाइन काे ब्रॉडगेज में बदलने का लक्ष्य दिसंबर 2018 तक घोषित किया है। किसी प्रकार की तकनीकी खामी आने पर मार्च 2019 तक आमान परिवर्तन का काम पूरा कर ट्रेनों का संचालन शुरू करने की उम्मीद जताई जा रही है। रेलवे आमान परिवर्तन के लक्ष्य की घोषणा पिंक बुक में कर चुका है। रेल मंत्रालय को उत्तर पश्चिम रेलवे ने लक्ष्य से अवगत करा दिया है। लक्ष्य घोषित करने के बाद रेल प्रबंधक भूमि अवाप्ति को लेकर उलझ गए हैं।
खारवास्टेशन के पास 800 मीटर लंबी सुरंग बनानी है : खारवास्टेशन के पास 800 मीटर लंबी सुरंग बनाने का काम जमीन अवाप्ति के अभाव में रुका हुआ है। यहां मीटर गेज लाइन की सुरंग को रेल अभियंताओं ने बड़ी लाइन की ट्रेनें चलाने के लिए उपयुक्त नहीं माना था। नई सुरंग बनाना प्रस्तावित है, लेकिन वहां अधिकांश जमीनें वन विभाग की हैं।
जावरस्टेशन के नए भवन के लिए चाहिए जमीन : ब्रॉडगेजलाइन के प्लान में जावर स्टेशन की जगह बदली जाएगी। वर्तमान वाले रेलवे स्टेशन से एक किमी दूर जावर माइंस की अशोकनगर कॉलोनी के पास नया स्टेशन बनेगा। स्टेशन बनाने के लिए जमीन माइंस प्रबंधन से अवाप्त की जाएगी।
जावर स्टेशन के पास स्थित मोचिया माइंस और बलारिया माइंस के बीच स्थित रेलवे ट्रैक को ब्राॅडगेज के लिए सर्वे में असुरक्षित माना गया था। मीटर गेज रेल लाइन के नीचे माइंस की खुदाई से जमीन खोखली हो चुकी है। ब्रॉडगेज की ट्रेनों की स्पीड और भार नहीं सह पाने के कारण ट्रेन का रूट बदलने का निर्णय लिया था। जावर माइंस स्टेशन के पास सात किमी लंबा नया रेलमार्ग बनाया जाएगा। नए रेल मार्ग की 60 फीसदी जमीनें वन विभाग और 40 फीसदी जमीनें निजी खातेदारों की हैं। निजी जमीनें अवाप्त हो चुकी हैं, लेकिन वन विभाग ने जमीनों का आबंटन नहीं किया है।
जमीनें शीघ्र मिलने की उम्मीद है : डीआरएम
अजमेरडीआरएम पुनीत चावला का कहना है कि उदयपुर-अहमदाबाद रेल लाइन आमान परिवर्तन केवल मेवाड़ के रेल यात्रियों के लिए फायदेमंद है, बल्कि दिल्ली से मुंबई जैसी लंबी दूरी की कई ट्रेनें इस रूट से होकर गुजरेंगी। मिनरल्स के परिवहन में भी यह रेलमार्ग महत्वपूर्ण साबित होगा। वन विभाग की जमीनों के अवाप्ति की औपचारिक कार्रवाई पूरी हो चुकी हैं। शीघ्र ही जमीनें रेलवे को मिलने की उम्मीद है। टारगेट अवधि में आमान परिवर्तन पूरा करना हमारा लक्ष्य है।
वन विभाग से भूमि अवाप्ति के प्रयास
रेलवेके निर्माण खंड के सीईआे अभियंता वन विभाग की जमीनें दिलाने के लिए कई बार संभागीय आयुक्त और कलेक्टर से आग्रह कर चुके हैं। पूर्व मंडल रेल प्रबंधक नरेश सालेचा ने भूमि अवाप्ति को लेकर संभागीय आयुक्त भवानी सिंह देथा और पूर्व कलेक्टर रोहित गुप्ता के साथ बैठकों में चर्चा की थी। वर्तमान मंडल प्रबंधक पुनीत चावला भी संभागीय आयुक्त और कलेक्टर अवाप्ति प्रक्रिया को शीघ्र पूरा करवाने की मांग कर चुके हैं।
click here
Page#    Showing 1 to 20 of 408 News Items  next>>

Scroll to Top
Scroll to Bottom


Go to Desktop site
Disclaimer: This website has NO affiliation with the Government-run site of Indian Railways. This site does NOT claim 100% accuracy of fast-changing Rail Information. YOU are responsible for independently confirming the validity of information through other sources.